#undefined

bolkar speaker

क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए?

Kya Tambe Ke Paatr Ka Pani 3 Mahine Se Adhik Lgatar Nahin Peena Chaiye
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:49
सवाल के तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से लगातार नहीं पीना चाहिए तो देखिए तांबे के पात्र में जो पानी MP3 व स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है तुम ही तुम ही से जल बहुत ज्यादा साफ हो जाता है और उस में बहुत अधिक समय तक रखने पर जल एकदम सिद्ध हो जाता है इस प्रश्न पूछा जाए कि 3 महीने तक लगातार नहीं पीना चाहिए क्या तो ऐसा नहीं है आप तांबे के पात्र में पानी लगातार पी सकता है परंतु चेंज होने पर अगर रितु बदल जाती है सीजन बदल जाता है तो आप भी थोड़ा जहर दे सकते हैं उसमें
Savaal ke taambe ke paatr ka paanee 3 maheene se lagaataar nahin peena chaahie to dekhie taambe ke paatr mein jo paanee mp3 va svaasthy ke lie bahut laabhadaayak hota hai tum hee tum hee se jal bahut jyaada saaph ho jaata hai aur us mein bahut adhik samay tak rakhane par jal ekadam siddh ho jaata hai is prashn poochha jae ki 3 maheene tak lagaataar nahin peena chaahie kya to aisa nahin hai aap taambe ke paatr mein paanee lagaataar pee sakata hai parantu chenj hone par agar ritu badal jaatee hai seejan badal jaata hai to aap bhee thoda jahar de sakate hain usamen

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए?Kya Tambe Ke Paatr Ka Pani 3 Mahine Se Adhik Lgatar Nahin Peena Chaiye
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:57
प्रश्न पूछा जा रहा है कि क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए तो देखिए ऐसा नहीं है तांबे के पात्र में पानी पीना खा जाएगी गुणों की खान है इसमें बहुत सारे फायदे होते हैं जो आपको बहुत आराम से और सहज तरीके से यूज करना चाहिए जिससे यह माना जाता है कि और वेद भी इसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि वह मानता है कि तांबे के बर्तन में एकत्र जल त्रिदोष नाशक होता है और आपके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद और सुरक्षित भी रहता है इसके अलावा काम भी कुछ जीवाणु रोधक प्रकार के कारण भी जाना जाता है और तांबे के बर्तन में एकत्र किया हुआ पानी संक्रमण से फैलने वाले रोगों से बचा सकता है इसके अलावा जो अब तांबे के पात्र में पर एकत्रित किया हुआ पानी पीते हैं तो थायरोक्सिन हार्मोन के स्तर कि नियंत्रण को भी यह मददगार करता है उसके अलावा आपके क्या होता है कि एक कैंसर से भी आपको रहा देता है क्योंकि तांबे के पात्र का जो पानी होता है जो कैंसर की प्रारंभिक अवस्था को अवस्था में काफी मददगार रहता है इसके अलावा देखा जाए तो इसमें पानी पीना मस्तिष्क की कार्य कुशलता को भी बढ़ाता है साथ ही साथ सूजन रोधी प्रभाव के कारण जोड़ों के दर्द में भी लाभदायक होता है तो इस तरीके से देखा जाए तो यह बहुत ज्यादा ही फायदा होता है तांबे के पात्र में अगर पानी पीते हैं तो एकत्रित किया गया पानी हमारे लिए जो रक्तचाप है जो हमारा ब्लड का सरकुलेशन वह बहुत अच्छा रहता है इसके अलावा एनीमिया जैसी स्थिति भी में भी काफी लाभदायक होता है जो औरतों के निमिया पूजा दा होता है इसके अलावा देखा जाए तो अल्प रमेश संपन्न होने वाली जूती क्रियाएं हैं उसके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है इसके अलावा हमें तांबे के बर्तन में पानी पीने से सावधानियां बरतनी चाहिए जैसे क्या है क्या में खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए बैठ के पानी पीना चाहिए पानी पी इसमें मनीष पात्र का पानी पीने के बाद हमें कुछ चाल अकादमी करना चाहिए इसके बाद ही कुछ हमें खाना या पीना चाहिए मैं तुम पानी पी लिया तो कुछ समय हमें वेट करना चाहिए तांबे के बर्तन का जो हम पानी पीते हैं तो इसके लिए सावधानियां बरतनी चाहिए और तत्काल बाद हम जिसे पानी पीते हैं इसमें का तो तत्काल बाद हम दूध या कुछ ऐसा चीज न खाएं या चाहे ना पिए हमें कुछ समय के बाद ही करना चाहिए
Prashn poochha ja raha hai ki kya taambe ke paatr ka paanee 3 maheene se adhik lagaataar nahin peena chaahie to dekhie aisa nahin hai taambe ke paatr mein paanee peena kha jaegee gunon kee khaan hai isamen bahut saare phaayade hote hain jo aapako bahut aaraam se aur sahaj tareeke se yooj karana chaahie jisase yah maana jaata hai ki aur ved bhee isaka sabase bada udaaharan hai ki vah maanata hai ki taambe ke bartan mein ekatr jal tridosh naashak hota hai aur aapake lie bahut jyaada phaayademand aur surakshit bhee rahata hai isake alaava kaam bhee kuchh jeevaanu rodhak prakaar ke kaaran bhee jaana jaata hai aur taambe ke bartan mein ekatr kiya hua paanee sankraman se phailane vaale rogon se bacha sakata hai isake alaava jo ab taambe ke paatr mein par ekatrit kiya hua paanee peete hain to thaayaroksin haarmon ke star ki niyantran ko bhee yah madadagaar karata hai usake alaava aapake kya hota hai ki ek kainsar se bhee aapako raha deta hai kyonki taambe ke paatr ka jo paanee hota hai jo kainsar kee praarambhik avastha ko avastha mein kaaphee madadagaar rahata hai isake alaava dekha jae to isamen paanee peena mastishk kee kaary kushalata ko bhee badhaata hai saath hee saath soojan rodhee prabhaav ke kaaran jodon ke dard mein bhee laabhadaayak hota hai to is tareeke se dekha jae to yah bahut jyaada hee phaayada hota hai taambe ke paatr mein agar paanee peete hain to ekatrit kiya gaya paanee hamaare lie jo raktachaap hai jo hamaara blad ka sarakuleshan vah bahut achchha rahata hai isake alaava eneemiya jaisee sthiti bhee mein bhee kaaphee laabhadaayak hota hai jo auraton ke nimiya pooja da hota hai isake alaava dekha jae to alp ramesh sampann hone vaalee jootee kriyaen hain usake lie bahut jyaada phaayademand hota hai isake alaava hamen taambe ke bartan mein paanee peene se saavadhaaniyaan baratanee chaahie jaise kya hai kya mein khade hokar paanee nahin peena chaahie baith ke paanee peena chaahie paanee pee isamen maneesh paatr ka paanee peene ke baad hamen kuchh chaal akaadamee karana chaahie isake baad hee kuchh hamen khaana ya peena chaahie main tum paanee pee liya to kuchh samay hamen vet karana chaahie taambe ke bartan ka jo ham paanee peete hain to isake lie saavadhaaniyaan baratanee chaahie aur tatkaal baad ham jise paanee peete hain isamen ka to tatkaal baad ham doodh ya kuchh aisa cheej na khaen ya chaahe na pie hamen kuchh samay ke baad hee karana chaahie

bolkar speaker
क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए?Kya Tambe Ke Paatr Ka Pani 3 Mahine Se Adhik Lgatar Nahin Peena Chaiye
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
1:30
चौकस वाले क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए तो तांबे के बर्तन कम से कम 8 घंटे तक रखा हुआ पानी लाभकारी होता है सेहत के लिए पानी पीना फायदेमंद माना जाता पात्र तांबे के बर्तन का जल पीना अधिक स्वास्थ्य पर माना जाता है तो उस देने के लिए इंसान को दिन भर में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पीना बहुत ही जरूरी होता है और नहीं आई मैं सुबह समय तांबे के पात्र का पानी पीना विशेष रूप से लाभदायक होता है इसीलिए हम आपको तांबे के बर्तन का पानी पीने के फायदे बताएंगे 10 साल तांबा एक शुद्ध और स्वास्तिक धातु में इतनी इसके पानी को पीने से शरीर में कई रोग ठीक हो जाते हैं साथ ही इसे पानी से शरीर के देवता से बाहर निकल जाते हैं और रात को ऐसे तरीके तांबे के बर्तन में संगीत पानी अमर चंद के नाम से जाना जाता है तांबे के बर्तन कल से 8 घंटे तक रखा पानी निकासी और लाभकारी होता है शायरी में भाई नहीं बन सकता है क्या फायदे मिलते हैं हमेशा देखते हैं किंतु तो जल्दी बनाई जाती है दिल की बीमारी को दूर रखता है खून की कमी कभी नहीं होती है कैंसर कभी नहीं होता छुटकारा मिले क्या शुरू कर दो वरना करने में बहुत ही मददगार होता है पाचन क्रिया एकदम स्वस्थ रहेगी जिससे पेट की समस्या के लिए तांबे के बर्तन में पानी बहुत लाभकारी है आयुर्वेद के अनुसार सही के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए तांबे तांबे तांबे में प्रथम कौन से 8 घंटे रखा हुआ जल पिए पाचन की समस्या सही हो जाएगी धन्यवाद
Chaukas vaale kya taambe ke paatr ka paanee 3 maheene se adhik lagaataar nahin peena chaahie to taambe ke bartan kam se kam 8 ghante tak rakha hua paanee laabhakaaree hota hai sehat ke lie paanee peena phaayademand maana jaata paatr taambe ke bartan ka jal peena adhik svaasthy par maana jaata hai to us dene ke lie insaan ko din bhar mein kam se kam 8 se 10 gilaas paanee peena bahut hee jarooree hota hai aur nahin aaee main subah samay taambe ke paatr ka paanee peena vishesh roop se laabhadaayak hota hai iseelie ham aapako taambe ke bartan ka paanee peene ke phaayade bataenge 10 saal taamba ek shuddh aur svaastik dhaatu mein itanee isake paanee ko peene se shareer mein kaee rog theek ho jaate hain saath hee ise paanee se shareer ke devata se baahar nikal jaate hain aur raat ko aise tareeke taambe ke bartan mein sangeet paanee amar chand ke naam se jaana jaata hai taambe ke bartan kal se 8 ghante tak rakha paanee nikaasee aur laabhakaaree hota hai shaayaree mein bhaee nahin ban sakata hai kya phaayade milate hain hamesha dekhate hain kintu to jaldee banaee jaatee hai dil kee beemaaree ko door rakhata hai khoon kee kamee kabhee nahin hotee hai kainsar kabhee nahin hota chhutakaara mile kya shuroo kar do varana karane mein bahut hee madadagaar hota hai paachan kriya ekadam svasth rahegee jisase pet kee samasya ke lie taambe ke bartan mein paanee bahut laabhakaaree hai aayurved ke anusaar sahee ke vishaakt padaarthon ko baahar nikaalane ke lie taambe taambe taambe mein pratham kaun se 8 ghante rakha hua jal pie paachan kee samasya sahee ho jaegee dhanyavaad

bolkar speaker
क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए?Kya Tambe Ke Paatr Ka Pani 3 Mahine Se Adhik Lgatar Nahin Peena Chaiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:05
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका कृष्ण क्या तांबे के पात्र का पानी पी महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए तो फ्रेश तांबे के पात्र में पानी पीने के स्वास्थ्य के बहुत लाभ होते हैं यह तो सबको पता है पर यह 3 महीने से ज्यादा नहीं पीना चाहिए अपने फोन का है तो आपको अगर ऐसा लग रहा है कुछ तो आप थोड़ी देर इसको बंद कर सकते हैं फिर दोबारा पी सकते हैं लेकिन तांबे का पानी पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है इससे पेट की पाचन क्रिया बढ़ती है तांबा एक बहुत अच्छे धातु होता है जो हमारे शरीर को बहुत ही ऊर्जा प्रदान करता है और मुझे भी छोटी मोटी बीमारियां होती है यह तांबे के बर्तन में रखे हुए पानी को पीने से वैसे ही गायब हो जाती है और जिसको थायराइड वगैरा की समस्या होती है वह भी तांबे के बर्तन में पानी पिए तो ठीक हो जाता है तांबे के बर्तन में पानी पीने से मदद पाचन क्रिया दुरूस्त हो जाती है तो आप इस में रखा पानी पी सकते हैं इसका कोई भी ऐसा नहीं है कि यह नुकसान करें आपको आप इसको बिल्कुल भी पी सकते हैं अगर आपको लग रहा है कि ज्यादा नहीं पीना थोड़ी देर का ब्रेक कर सकते हैं दोबारा से पी सकते हैं धन्यवाद
Helo evareevan svaagat hai aapaka aapaka krshn kya taambe ke paatr ka paanee pee maheene se adhik lagaataar nahin peena chaahie to phresh taambe ke paatr mein paanee peene ke svaasthy ke bahut laabh hote hain yah to sabako pata hai par yah 3 maheene se jyaada nahin peena chaahie apane phon ka hai to aapako agar aisa lag raha hai kuchh to aap thodee der isako band kar sakate hain phir dobaara pee sakate hain lekin taambe ka paanee peena svaasthy ke lie bahut hee achchha hota hai isase pet kee paachan kriya badhatee hai taamba ek bahut achchhe dhaatu hota hai jo hamaare shareer ko bahut hee oorja pradaan karata hai aur mujhe bhee chhotee motee beemaariyaan hotee hai yah taambe ke bartan mein rakhe hue paanee ko peene se vaise hee gaayab ho jaatee hai aur jisako thaayaraid vagaira kee samasya hotee hai vah bhee taambe ke bartan mein paanee pie to theek ho jaata hai taambe ke bartan mein paanee peene se madad paachan kriya duroost ho jaatee hai to aap is mein rakha paanee pee sakate hain isaka koee bhee aisa nahin hai ki yah nukasaan karen aapako aap isako bilkul bhee pee sakate hain agar aapako lag raha hai ki jyaada nahin peena thodee der ka brek kar sakate hain dobaara se pee sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए?Kya Tambe Ke Paatr Ka Pani 3 Mahine Se Adhik Lgatar Nahin Peena Chaiye
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:57
अंबे के पानी का टंकी तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए दोस्तों यदि बात करें तांबे के पात्र को लेकर पानी पीने को तो देखे काफी अच्छा है और आपके शरीर को अधिक फायदेमंद होता है इसके अंदर काफी सारे गुण बन जाते हैं पानी के अंदर और चुके आयुर्वेद की सलाह देता है दो-तीन महीने में कोई होगा और इतना और है कि पहले के समय में जो लोग गंगा स्नान के तैयारी को लेकर जाते थे तो वहां पर भी काम भी तो सिक्के डाली जाती थी क्योंकि इससे जो जो पानी
Ambe ke paanee ka tankee taambe ke paatr ka paanee 3 maheene se adhik lagaataar nahin peena chaahie doston yadi baat karen taambe ke paatr ko lekar paanee peene ko to dekhe kaaphee achchha hai aur aapake shareer ko adhik phaayademand hota hai isake andar kaaphee saare gun ban jaate hain paanee ke andar aur chuke aayurved kee salaah deta hai do-teen maheene mein koee hoga aur itana aur hai ki pahale ke samay mein jo log ganga snaan ke taiyaaree ko lekar jaate the to vahaan par bhee kaam bhee to sikke daalee jaatee thee kyonki isase jo jo paanee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या तांबे के पात्र का पानी 3 महीने से अधिक लगातार नहीं पीना चाहिए
URL copied to clipboard