#पढ़ाई लिखाई

srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:35

और जवाब सुनें

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:40
अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होते हैं दोस्त वही होता है जो आपको देखने को मिलता है कि जब भी कोई व्यक्ति जो है और मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तो वह व्यक्ति जो है दोस्तों चुप रहता है जबकि मिलनसार व्यक्ति उसके तरीके पूरी तरीके से ख्याल रखते हैं और साथ ही साथ उसका ध्यान अपनी और आकर्षित करके उसको और भी ज्यादा वार्तालाप में यानी कि करना चाहेंगे कि और भी ज्यादा ही हमारे साथ वार्तालाप कर सकें परंतु अकेल्ला जो व्यक्ति रहते हैं वह ज्यादा बातें नहीं कर सकता गुमसुम उनके पास रहता है परंतु फिर भी जो मिलनसार व्यक्ति उसको भोला समझकर उसकी राष्ट्रपति जरूर करते हैं यह बात कंफर्म है
Akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai tab kya hote hain dost vahee hota hai jo aapako dekhane ko milata hai ki jab bhee koee vyakti jo hai aur milanasaar logon ke sampark mein aata hai to vah vyakti jo hai doston chup rahata hai jabaki milanasaar vyakti usake tareeke pooree tareeke se khyaal rakhate hain aur saath hee saath usaka dhyaan apanee aur aakarshit karake usako aur bhee jyaada vaartaalaap mein yaanee ki karana chaahenge ki aur bhee jyaada hee hamaare saath vaartaalaap kar saken parantu akella jo vyakti rahate hain vah jyaada baaten nahin kar sakata gumasum unake paas rahata hai parantu phir bhee jo milanasaar vyakti usako bhola samajhakar usakee raashtrapati jaroor karate hain yah baat kampharm hai

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:38
यह है कि अकेले रहने वाला व्यक्ति जो मिला था लोगों के संपर्क में आता है तो क्या होता है तो होता ही है कि वह शरीर में घुलने मिलने की बातें सुनकर बहुत करता है पर मैं कैसे नहीं कर पाता है उसी से करते रहना कोई दो कुछ उसके अच्छे दोस्त बनते कुछ खराब खराब दोस्त बनते हुए इस कारण बनते कि कुछ समझती है यह अच्छे इंसान है कि खराब है क्या है या फिर आपसे सिर्फ फायदा उठा रहे हैं तो ऐसा होने पर ही व्यक्ति बहुत गलत परिस्थितियों में पड़ जाता है कभी भी
Yah hai ki akele rahane vaala vyakti jo mila tha logon ke sampark mein aata hai to kya hota hai to hota hee hai ki vah shareer mein ghulane milane kee baaten sunakar bahut karata hai par main kaise nahin kar paata hai usee se karate rahana koee do kuchh usake achchhe dost banate kuchh kharaab kharaab dost banate hue is kaaran banate ki kuchh samajhatee hai yah achchhe insaan hai ki kharaab hai kya hai ya phir aapase sirph phaayada utha rahe hain to aisa hone par hee vyakti bahut galat paristhitiyon mein pad jaata hai kabhee bhee

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:39
गुड इवनिंग सवाल ये है कि अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है देखिए अकेला रहने वाला व्यक्ति हमेशा ही उसे अकेलापन ही अच्छा लगता है कि वह काम ही होता है वह अकेले में चिंतन करता है कुछ भी उसे अकेला ही अच्छा लगता है ज्यादा लोगों के बीच में उसे अच्छा नहीं लगता मैं खुद भी हूं वैसा मैं बहुत देर तक लोगों के बीच में नहीं रहता कुछ देर के लिए तो ठीक है मैं दोस्तों मित्रों में बात कर लेता हूं हंस लेता हूं लेकिन बहुत देर तक मैं नहीं रह सकता लोगों के बीच मुझे अकेलापन चाहिए तो वही बात है इमरान सारे लोगों के संपर्क में जब अकेला रहने वाला व्यक्ति आता है उसे ज्यादा देर तक उसे है अच्छा नहीं लगता वह कुछ देर तक पवन है मतलब है उनके बीच में थोड़ा अलग महसूस कर सकता है हो सकता है वह भी झांसी बोल दे लेकिन फिर उसे फिर अकेलापन चाहिए क्योंकि अकेलापन ही है जो कि उसका सबसे प्रिय चीजें अकेलापन को अकेले में ही शांति महसूस करता है अकेले में ही उसे सुकून मिलता है और अकेले में ही वह अपना है जो भी करना चाहता है वह अकेले नहीं करना चाहता है तो यही है मिलनसार लोगों के बीच में अकेला रहने वाला व्यक्ति बहुत अधिक देर तक कंफर्टेबल नहीं रह सकता है थैंक यू
Gud ivaning savaal ye hai ki akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai tab kya hota hai dekhie akela rahane vaala vyakti hamesha hee use akelaapan hee achchha lagata hai ki vah kaam hee hota hai vah akele mein chintan karata hai kuchh bhee use akela hee achchha lagata hai jyaada logon ke beech mein use achchha nahin lagata main khud bhee hoon vaisa main bahut der tak logon ke beech mein nahin rahata kuchh der ke lie to theek hai main doston mitron mein baat kar leta hoon hans leta hoon lekin bahut der tak main nahin rah sakata logon ke beech mujhe akelaapan chaahie to vahee baat hai imaraan saare logon ke sampark mein jab akela rahane vaala vyakti aata hai use jyaada der tak use hai achchha nahin lagata vah kuchh der tak pavan hai matalab hai unake beech mein thoda alag mahasoos kar sakata hai ho sakata hai vah bhee jhaansee bol de lekin phir use phir akelaapan chaahie kyonki akelaapan hee hai jo ki usaka sabase priy cheejen akelaapan ko akele mein hee shaanti mahasoos karata hai akele mein hee use sukoon milata hai aur akele mein hee vah apana hai jo bhee karana chaahata hai vah akele nahin karana chaahata hai to yahee hai milanasaar logon ke beech mein akela rahane vaala vyakti bahut adhik der tak kamphartebal nahin rah sakata hai thaink yoo

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:13
दोस्तों पास ना कि अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है तो दोस्तों जैसे आप किसी फूल के साथ किसी चीज को रख देते हैं तो फूल में फूल से खुशबू उस पदार्थ में चली जाती है उसी प्रकार अगर किसी व्यक्ति को मिलनसार व्यक्तियों के साथ सानिध्य में आता है तो जो उसमें एक शर्मा हक है यार डब्बू पंजे से कह सकते हैं वह धीरे-धीरे समाप्त होने लग जाता है उसमें आत्मविश्वास बढ़ने लग जाता है वह बहुत सारी चीजों की पहल नहीं कर पाता तो मिलनसार व्यक्तियों के साथ रहकर बहुत सारी चीजें की पहल कर पाता है अपनी बातें रख पाता है यह काफी बदलाव आता है और हंसमुख हो जाता है क्योंकि स्वास्थ्य के लिए बहुत बड़ा फायदेमंद चीज है क्योंकि जो अकेला व्यक्ति है वह बहुत सारी चीजें अपनी समस्याओं को लेकर या बातों को लेकर मन ही मन सोचता रहता है जब मिलनसार व्यक्ति के बारे में से मिलता है तो मिलनसार व्यक्ति वह भले ना बताएं मिलनसार व्यक्ति की सारी चीजें पूछने की कोशिश कर लेता है तो काफी बदलाव आता है और हो सकता है कि वह भी मिलनसार बन जाए धन्यवाद
Doston paas na ki akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai tab kya hota hai to doston jaise aap kisee phool ke saath kisee cheej ko rakh dete hain to phool mein phool se khushaboo us padaarth mein chalee jaatee hai usee prakaar agar kisee vyakti ko milanasaar vyaktiyon ke saath saanidhy mein aata hai to jo usamen ek sharma hak hai yaar dabboo panje se kah sakate hain vah dheere-dheere samaapt hone lag jaata hai usamen aatmavishvaas badhane lag jaata hai vah bahut saaree cheejon kee pahal nahin kar paata to milanasaar vyaktiyon ke saath rahakar bahut saaree cheejen kee pahal kar paata hai apanee baaten rakh paata hai yah kaaphee badalaav aata hai aur hansamukh ho jaata hai kyonki svaasthy ke lie bahut bada phaayademand cheej hai kyonki jo akela vyakti hai vah bahut saaree cheejen apanee samasyaon ko lekar ya baaton ko lekar man hee man sochata rahata hai jab milanasaar vyakti ke baare mein se milata hai to milanasaar vyakti vah bhale na bataen milanasaar vyakti kee saaree cheejen poochhane kee koshish kar leta hai to kaaphee badalaav aata hai aur ho sakata hai ki vah bhee milanasaar ban jae dhanyavaad

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:24
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है तो फ्रेंड से जब अकेला रहने वाला व्यक्ति विलैंथा लोगों से मिलता है तो मैं भी मिलनसार बन जाता है धीरे-धीरे उसे भी लोगों से मिलने के लिए की आदत पड़ जाती है और उसे अच्छे लोगों से मिलने बंद करने में अच्छा लगता है और धीरे-धीरे वह भी मिलनसार बन जाता है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai tab kya hota hai to phrend se jab akela rahane vaala vyakti vilaintha logon se milata hai to main bhee milanasaar ban jaata hai dheere-dheere use bhee logon se milane ke lie kee aadat pad jaatee hai aur use achchhe logon se milane band karane mein achchha lagata hai aur dheere-dheere vah bhee milanasaar ban jaata hai dhanyavaad

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:03
विवाह 2000 का सवाल है कि अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है तो बहुत सारे लोगों की आदत होती है अकेले रहने की बातचीत ना ही ना मिलना जुलना गुना से नहीं पसंद हो तो मैं अकेली रहना अपने में ही रहना अच्छा लगता है तो बहुत सारे लोगों की आदत होती है लोगों के साथ मिलते जुलते हैं सदन मतलब ऐसा होता है तो बहुत बार क्यों इतना कुछ चीजों को समझने में आलू क्या बोल रहे हैं क्या नहीं करना है हर चीज आपके लिए बहुत ही ना होता है आपको उस तरह से मतलब मिलने में मैच करने में बहुत समय लगता लेकिन ऐसा नहीं है कि आप मेरी बातें कर रहे हो मतलब जो अकेले रहते हो मिलजुल कर उनके जैसे या फिर थोड़ा बहुत उनकी कुछ क्वालिटी जाती है बहुत सारे लोगों का आपने देखा होगा कि स्कूल टाइम में मतलब वह किसी से भी मिलते जुलते नहीं अपने अकेले में ही पढ़ाई लिखाई लेकिन जैसे ही कॉलेज याद है सबके साथ मिलते जुलते फिर उनका थोड़ा नीचे जो बहुत ही फ्रेंडली होता है फिर वह भी दोस्ती बना कनेक्शन बनाते हैं इस तरह से उन्हें भी परिवर्तन आता है
Vivaah 2000 ka savaal hai ki akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai tab kya hota hai to bahut saare logon kee aadat hotee hai akele rahane kee baatacheet na hee na milana julana guna se nahin pasand ho to main akelee rahana apane mein hee rahana achchha lagata hai to bahut saare logon kee aadat hotee hai logon ke saath milate julate hain sadan matalab aisa hota hai to bahut baar kyon itana kuchh cheejon ko samajhane mein aaloo kya bol rahe hain kya nahin karana hai har cheej aapake lie bahut hee na hota hai aapako us tarah se matalab milane mein maich karane mein bahut samay lagata lekin aisa nahin hai ki aap meree baaten kar rahe ho matalab jo akele rahate ho milajul kar unake jaise ya phir thoda bahut unakee kuchh kvaalitee jaatee hai bahut saare logon ka aapane dekha hoga ki skool taim mein matalab vah kisee se bhee milate julate nahin apane akele mein hee padhaee likhaee lekin jaise hee kolej yaad hai sabake saath milate julate phir unaka thoda neeche jo bahut hee phrendalee hota hai phir vah bhee dostee bana kanekshan banaate hain is tarah se unhen bhee parivartan aata hai

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:30
सवाल एक अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है तो जो व्यक्ति अकेला रहता है उसमें कम्युनिकेशन स्किल्स सादा नहीं होती वह सब अपने-अपने में रहता है और दूसरों से ज्यादा बात नहीं करना चाहता तो जब वह दूसरे लोगों के संपर्क में आता है दोस्त को पता नहीं होता कि उनसे कैसे कांटेक्ट करें उनके साथ कैसे बातचीत करें कैसे बात को आगे बढ़ाएं तो उस चीज में प्रॉब्लम आ सकती है वे लोगों के साथ जल्दी भूल नहीं पाता है
Savaal ek akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai tab kya hota hai to jo vyakti akela rahata hai usamen kamyunikeshan skils saada nahin hotee vah sab apane-apane mein rahata hai aur doosaron se jyaada baat nahin karana chaahata to jab vah doosare logon ke sampark mein aata hai dost ko pata nahin hota ki unase kaise kaantekt karen unake saath kaise baatacheet karen kaise baat ko aage badhaen to us cheej mein problam aa sakatee hai ve logon ke saath jaldee bhool nahin paata hai

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तो क्या होता है एक बार तो खिलाने वाला व्यक्ति कोई गुनाह नहीं कर रहा होता है का सौभाग्य बेतिया उतनी प्रवृतियां होती है तो अंतर्मुखी होते कुछ लोग मेहनत करते हैं इंट्रोवर्ट एक्सप्रेस अकेले रहने वाले व्यक्ति के बारे में भी जो लीक हुआ है तो वह भी हमसे बहुत ज्यादा लोग कोई विशेष बात कुछ नहीं है इनके पास भावना ही नहीं होती है ऐसा नहीं लेकिन देवल पायल किस डे के लिए ज्यादा प्रेरित होते हैं और उस पर कॉल संकेत करते हैं और इनके कारण को कम समय मिलता है अभी नहीं चाहती ज्यादा लोगों को अपना भेजो उसके बारे में सोचना और उसके बारे में प्रयास करना अच्छा लगता है उनका आनंद भी बन बन गया हुआ था लेकिन दिनेश लोहार के लक्षण है उनमें से एक लक्ष्य यह भी माना कि जीनियस लोकेश ज्यादा करके इंट्रो रहते हैं और अकेले रहना पसंद होते दूसरे लोगों से मिलने वाले उनके उनसे कोई भी विशिष्ट कार्य जो क्रिएटिव है ब्रायन संस्कृत साहित्य ऐसा काम नहीं नहीं होता है क्योंकि वह व्यस्त भी एलबम समय के माथे दौड़ते अनेक सभी लोगों से मिलने पे आउट पे आउट तो कुछ भी नहीं निकाला था मैंने कभी किसी को अच्छा का है दोस्तों को हिंदी दिल को कभी मरने के बाद कहां है यह बात उनको समझ में नहीं आती अकेले रहने वाला व्यक्ति समाज की गहराई कितनी है कहां तक पहुंचा है इस बात पर डिपेंड करता है कि वह समूह में जाकर किस तरह से ध्यान रखूंगा खुशबू कैसे भूल पाए जाते हैं कि समूह में जान लिक्विड के साथ पॉजिटिव कम्युनिकेशन बढ़ाते तो कुत्तों तरह-तरह के सुबह के व्यक्तियों के साथ अपने आपको सूटेबल नहीं बना सकती है इसके कारण उनके बारे में जांच शुरू की गलतफहमी हो जाती है दूसरे लेकिन यह मनुष्य स्वामी यानी कि उच्च शिक्षा किसी भी व्यक्ति के लिए जल्दी जल्दी उसके बाद ही यह सब बातें समझ में आ जाएगी क्या होता है क्या होता है इंटरनेट पर क्या छोटी छोरी बदनाम करती के बारे में ऐसी बहुत सारी बातें अच्छी कम्युनिकेशन स्किल नॉलेज सद्भावना खिलाड़ी में आदर्श मिश्रा जी अच्छी जगह बड़ी चीज है जो है उसके लिए उच्च शिक्षा की बिजासन माता धन्यवाद
Akela rahane vaala vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai to kya hota hai ek baar to khilaane vaala vyakti koee gunaah nahin kar raha hota hai ka saubhaagy betiya utanee pravrtiyaan hotee hai to antarmukhee hote kuchh log mehanat karate hain introvart eksapres akele rahane vaale vyakti ke baare mein bhee jo leek hua hai to vah bhee hamase bahut jyaada log koee vishesh baat kuchh nahin hai inake paas bhaavana hee nahin hotee hai aisa nahin lekin deval paayal kis de ke lie jyaada prerit hote hain aur us par kol sanket karate hain aur inake kaaran ko kam samay milata hai abhee nahin chaahatee jyaada logon ko apana bhejo usake baare mein sochana aur usake baare mein prayaas karana achchha lagata hai unaka aanand bhee ban ban gaya hua tha lekin dinesh lohaar ke lakshan hai unamen se ek lakshy yah bhee maana ki jeeniyas lokesh jyaada karake intro rahate hain aur akele rahana pasand hote doosare logon se milane vaale unake unase koee bhee vishisht kaary jo krietiv hai braayan sanskrt saahity aisa kaam nahin nahin hota hai kyonki vah vyast bhee elabam samay ke maathe daudate anek sabhee logon se milane pe aaut pe aaut to kuchh bhee nahin nikaala tha mainne kabhee kisee ko achchha ka hai doston ko hindee dil ko kabhee marane ke baad kahaan hai yah baat unako samajh mein nahin aatee akele rahane vaala vyakti samaaj kee gaharaee kitanee hai kahaan tak pahuncha hai is baat par dipend karata hai ki vah samooh mein jaakar kis tarah se dhyaan rakhoonga khushaboo kaise bhool pae jaate hain ki samooh mein jaan likvid ke saath pojitiv kamyunikeshan badhaate to kutton tarah-tarah ke subah ke vyaktiyon ke saath apane aapako sootebal nahin bana sakatee hai isake kaaran unake baare mein jaanch shuroo kee galataphahamee ho jaatee hai doosare lekin yah manushy svaamee yaanee ki uchch shiksha kisee bhee vyakti ke lie jaldee jaldee usake baad hee yah sab baaten samajh mein aa jaegee kya hota hai kya hota hai intaranet par kya chhotee chhoree badanaam karatee ke baare mein aisee bahut saaree baaten achchhee kamyunikeshan skil nolej sadbhaavana khilaadee mein aadarsh mishra jee achchhee jagah badee cheej hai jo hai usake lie uchch shiksha kee bijaasan maata dhanyavaad

Sanjay Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sanjay जी का जवाब
𝔖𝔱𝔲𝔡𝔢𝔫𝔱 | 𝔈𝔡𝔲𝔠𝔞𝔱𝔦𝔬𝔫𝔦𝔰𝔱
0:47
अकेले रहने वाला व्यक्ति अगर मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तो क्या होता है तो अकेला रहने वाले व्यक्ति होता है वह उसी खासियत यह होती है कि वह अकेला रह लेगा कि कोई ऐसा व्यक्ति जो काफी लोगों के बीच में नहीं आ रहा है अकेले रहने में तो काफी समस्या होगी तो ऐसे भी देखो कोई समस्या नहीं होगा जब मिलनसार व्यक्तियों के संपर्क में आएगा तो उसे अच्छा ही लगेगा हालांकि बिल्कुल से अकेला व्यक्ति हो जो कभी किसी सभ्य तक नहीं ना हो उसके सामने दिक्कत आ सकती है लेकिन अकेले रहने वाले व्यक्ति जो सोता है वह समाज में जरूर रहता है अधिकतर अपने अपने आप को अकेले कॉन्फिडेंट महसूस करता है रहता है कि जब आप के संपर्क में है तो उसे अच्छा भी लगे हो सकता है उसे थोड़ा अजीब लगे शुरुआत में भी अच्छा लगे लगे हो सकता है उसका कॉन्फिडेंस पल दूर हो जाए और उसे लगता है उसे अजीत साल लगेंगे सकता है यह दोनों तरीके की बातें होती हैं
Akele rahane vaala vyakti agar milanasaar logon ke sampark mein aata hai to kya hota hai to akela rahane vaale vyakti hota hai vah usee khaasiyat yah hotee hai ki vah akela rah lega ki koee aisa vyakti jo kaaphee logon ke beech mein nahin aa raha hai akele rahane mein to kaaphee samasya hogee to aise bhee dekho koee samasya nahin hoga jab milanasaar vyaktiyon ke sampark mein aaega to use achchha hee lagega haalaanki bilkul se akela vyakti ho jo kabhee kisee sabhy tak nahin na ho usake saamane dikkat aa sakatee hai lekin akele rahane vaale vyakti jo sota hai vah samaaj mein jaroor rahata hai adhikatar apane apane aap ko akele konphident mahasoos karata hai rahata hai ki jab aap ke sampark mein hai to use achchha bhee lage ho sakata hai use thoda ajeeb lage shuruaat mein bhee achchha lage lage ho sakata hai usaka konphidens pal door ho jae aur use lagata hai use ajeet saal lagenge sakata hai yah donon tareeke kee baaten hotee hain

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:22
सवाल एक अकेले रहने वाले व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तो क्या होता है तो देखिए स्टार्टिंग में तो बिल्कुल निश्चित तौर पर थोड़ा सा वह इंट्रोवर्ट कारण तो होगा बंद है तो उसे हिचकिचाहट महसूस होगी लोगों से बातचीत करने में इंटरेस्ट करने में लेकिन अगर लंबे समय तक ऐसे व्यक्ति के लोगों के संपर्क में हो रहा व्यक्ति के तौर पर वह भी मिलकर हो जाएगा आपका दिन शुभ रहे थे निकाल
Savaal ek akele rahane vaale vyakti jo milanasaar logon ke sampark mein aata hai to kya hota hai to dekhie staarting mein to bilkul nishchit taur par thoda sa vah introvart kaaran to hoga band hai to use hichakichaahat mahasoos hogee logon se baatacheet karane mein intarest karane mein lekin agar lambe samay tak aise vyakti ke logon ke sampark mein ho raha vyakti ke taur par vah bhee milakar ho jaega aapaka din shubh rahe the nikaal

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अकेला रहने वाला व्यक्ति जो मिलनसार लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है अकेला रहने वाला व्यक्ति लोगों के संपर्क में आता है तब क्या होता है
URL copied to clipboard