#खेल कूद

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:03
जी आप का सवाल है कि भारतीय क्रिकेट टीम आस्ट्रेलिया में खेली टेस्ट सीरीज इतिहास रच दिया कि क्या वही वर्सेस इंग्लैंड से 227 रन से हार गई तो मेरे ख्याल से इस के पूरे पूरे जिम्मेदार कप्तान है स्थान के पास अच्छी रणनीति में हमने क्या कहा ना अभी चेन्नई में बड़ी टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच 227 रन से हार गई हैं और पहले गेंदबाज बने कुछ अच्छा नहीं किया और इसके बाद बल्लेबाजों ने भी अच्छा नहीं कर पाए इसलिए हार गई और मेरे ख्याल से आने वाले 2323 टेस्ट मैच में भारतीय टीम जीतेगी और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप जरूर कामयाब होगी धन्यवाद
Jee aap ka savaal hai ki bhaarateey kriket teem aastreliya mein khelee test seereej itihaas rach diya ki kya vahee varses inglaind se 227 ran se haar gaee to mere khyaal se is ke poore poore jimmedaar kaptaan hai sthaan ke paas achchhee rananeeti mein hamane kya kaha na abhee chennee mein badee teem ne inglaind ke khilaaph pahala test maich 227 ran se haar gaee hain aur pahale gendabaaj bane kuchh achchha nahin kiya aur isake baad ballebaajon ne bhee achchha nahin kar pae isalie haar gaee aur mere khyaal se aane vaale 2323 test maich mein bhaarateey teem jeetegee aur varld test chaimpiyanaship jaroor kaamayaab hogee dhanyavaad

और जवाब सुनें

Sanjay Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sanjay जी का जवाब
Unknown
5:20
हेलो दोस्तों प्रश्न किया गया है कि आस्ट्रेलिया में जिस तरह से इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया था और श्रीजीत करके इतिहास रचा था और लपक लपक वही टीम है जो खेली थी यहां पर इंडिया में अकेली है तो उस पर क्या अंतर है किया गया या स्क्वाड में क्या चीज नहीं होनी चाहिए थी बदलाव होने चाहिए लेकिन आस्ट्रेलिया में खेली गई थी लड़की बहुत ज्यादा हो गई थी लोगों को किशन शर्मा पहले ही आईपीएल से बाहर हो गए थे इसके बाद मोहम्मद शमी भी बाहर हो गए फिर उमेश यादव जी बाहर हो गए चीन वाली लाइन में तो बिल्कुल ही नहीं थी जो खिलाड़ी इतना शर्मा के यहां पर चुने गए थे मोहम्मद सिराज उन्होंने एक आखिरी दो टेस्ट मैच के लिए था उसमें उन्होंने एक तरह से जुड़ी वॉलीबॉल इंग्लैंड की लीडरशिप भी किसी खिलाड़ी को दिया गया उस सिटी में जगह नहीं थी आखिरी में इशांत की जहां पर होटल में आया और लीडर बन गया गेंदबाजी का तो काफी म्यूजिक संत और फिर भी जो वहां की टीम थी उसने काफी अच्छा प्रश्न किया और ऐसा नहीं है कि यह न्यूज़ नहीं किए गए ईशांत शर्मा वापस आए तो मुंह में श्री राजकुमार का नहीं मिल पाया जबकि बुमराह की आखिरी टेस्ट मैच खेले थे उनको भी मौका मिला उसके बाद बात करें तो नटराजन जिनको आखिरी टेस्ट में खेलने का मौका मिला था उनको मौका नहीं मिला उनको इस स्क्वायर में ही नहीं रखा गया वहां पर देखिए मौका नहीं मिला था कुलदीप यादव को कुलदीप यादव को यहां पर मौका मिल सकता था तीसरे स्पिनर के रूप में लेकिन समस्या यह हो गई कि जडेजा इंजर्ड हो गए और जडेजा एक आलराउंडर हैं जो कि लेफ्ट आर्म स्पिनर है तो नेट वाले के रूप में जो शाहबाज नदीम से उनको मौका मिला वह प्लेनेट वाटर के रूप में थे लेकिन उसके बाद में जब जडेजा पहले ही बाहर हो गए और अक्षर पटेल जिनको रखा गया था जडेजा किया पर इतरा से बॉलिंग आलराउंडर भी है और लेफ्ट आर्म स्पिनर भी है जिस तरह से लसिथ एंबुलदेनिया जो कि श्रीलंका के खिलाड़ी प्रसन्न किया था इस वजह से बॉलिंग ऑलराउंडर के बैटिंग ऑलराउंडर नहीं है उनकी जगह को पूरा करना था एंड अक्षर पटेल को चोट लग गई उनकी जगह पर को खिलाया गया तो अब कुलदीप यादव जो है वह किस पेड़ के नीचे तक स्पेशलिस्ट स्पिनर के रूप में जगह नहीं मिल पाई क्योंकि इधर नदीम को खिलाना पड़े थे ऑस्ट्रेलिया में खेले थे और आप अंदर खेले थे यहां पर उन्हें बताओ बोर्डिंग ऑलराउंडर खिलाया गया इस वजह से हाथ इंडिया पिक्चर में खेले और वाशिंगटन सुंदर को बैलेंस के लिए रखा गया तो वह भी खेले यह काम किया था कि एक छठे नंबर के बल्लेबाज को खिलाया जा सकता था क्योंकि सातवें नंबर छठे नंबर पर किया जा सकता था ऐसा नहीं है कि एडिलेड में खेला गया था उसके बाद वह बाहर हो गए थे फिर से पैटरनिटी लीव लेने की वजह से तुझे सारे रिजल्ट है इंडिया की जो सबसे बड़ी गलती हुई है इस टेस्ट मैच में पहली बार और चेन्नई जैसे खेल दिखाया और अगर हम इंडिया की बात करें तो इंडिया की 2 पोलिंग थी उसने पहली इनिंग में कुछ ऐसा बहुत ज्यादा फर्क नहीं नजर नहीं आया हालांकि मैराथन बोलिंग 90 और की बोलिंग की है इन लोगों ने उसे लगता है कि इंग्लैंड के बल्लेबाजों कितना और कितना समझते थे और आखिर में काफी कुछ रन भी बनाए हैं कुछ लोगों ने ओवरऑल देखा जाए तो पहले ही ज्यादा बढ़ गया दिल की गहराई से पड़ा उन्होंने के अंदर में शुरुआत में शादी की थी उसके अलावा अगर देखें तो पूरे जितना भी पोलिंग की है उससे ज्यादा दिखाई नहीं पड़े हैं और फिर दूसरी इनिंग सिवा कभी कुछ कभी कुछ करने की कोशिश कर रहे हैं तो उनका विकेट चलाई जा रहा है कभी जेंटरनौ जा रही है आखरी है मुझे समझ में आ गया था कि 420 रन का लक्ष्य है जो मिला है इंडिया को जितने भी खिलाड़ी थे पूर्व खिलाड़ी कमेंटेटर थे तभी कह रहे थे कि पॉजिटिव एटीट्यूड के साथ में खेलेंगे हारने के बारे में अदरा के बारे में सोच ही नहीं है तो हारे इनिंग में ऐसा होता नहीं है इस तरह की बातें की गई थी तो ऐसा हर इनिंग में नहीं होगा कि ऋषभ पंत आपको जीजी तो दिला देंगे एक बार आस्ट्रेलिया में जीत गए तो जरूरी है कि नहीं है मेरी जान इंडिया को बहुत समय के बाद में और काफी करारी हार मिली है आशा तो यही है कि अगली
Helo doston prashn kiya gaya hai ki aastreliya mein jis tarah se indiya ne achchha pradarshan kiya tha aur shreejeet karake itihaas racha tha aur lapak lapak vahee teem hai jo khelee thee yahaan par indiya mein akelee hai to us par kya antar hai kiya gaya ya skvaad mein kya cheej nahin honee chaahie thee badalaav hone chaahie lekin aastreliya mein khelee gaee thee ladakee bahut jyaada ho gaee thee logon ko kishan sharma pahale hee aaeepeeel se baahar ho gae the isake baad mohammad shamee bhee baahar ho gae phir umesh yaadav jee baahar ho gae cheen vaalee lain mein to bilkul hee nahin thee jo khilaadee itana sharma ke yahaan par chune gae the mohammad siraaj unhonne ek aakhiree do test maich ke lie tha usamen unhonne ek tarah se judee voleebol inglaind kee leedaraship bhee kisee khilaadee ko diya gaya us sitee mein jagah nahin thee aakhiree mein ishaant kee jahaan par hotal mein aaya aur leedar ban gaya gendabaajee ka to kaaphee myoojik sant aur phir bhee jo vahaan kee teem thee usane kaaphee achchha prashn kiya aur aisa nahin hai ki yah nyooz nahin kie gae eeshaant sharma vaapas aae to munh mein shree raajakumaar ka nahin mil paaya jabaki bumaraah kee aakhiree test maich khele the unako bhee mauka mila usake baad baat karen to nataraajan jinako aakhiree test mein khelane ka mauka mila tha unako mauka nahin mila unako is skvaayar mein hee nahin rakha gaya vahaan par dekhie mauka nahin mila tha kuladeep yaadav ko kuladeep yaadav ko yahaan par mauka mil sakata tha teesare spinar ke roop mein lekin samasya yah ho gaee ki jadeja injard ho gae aur jadeja ek aalaraundar hain jo ki lepht aarm spinar hai to net vaale ke roop mein jo shaahabaaj nadeem se unako mauka mila vah plenet vaatar ke roop mein the lekin usake baad mein jab jadeja pahale hee baahar ho gae aur akshar patel jinako rakha gaya tha jadeja kiya par itara se boling aalaraundar bhee hai aur lepht aarm spinar bhee hai jis tarah se lasith embuladeniya jo ki shreelanka ke khilaadee prasann kiya tha is vajah se boling olaraundar ke baiting olaraundar nahin hai unakee jagah ko poora karana tha end akshar patel ko chot lag gaee unakee jagah par ko khilaaya gaya to ab kuladeep yaadav jo hai vah kis ped ke neeche tak speshalist spinar ke roop mein jagah nahin mil paee kyonki idhar nadeem ko khilaana pade the ostreliya mein khele the aur aap andar khele the yahaan par unhen batao bording olaraundar khilaaya gaya is vajah se haath indiya pikchar mein khele aur vaashingatan sundar ko bailens ke lie rakha gaya to vah bhee khele yah kaam kiya tha ki ek chhathe nambar ke ballebaaj ko khilaaya ja sakata tha kyonki saataven nambar chhathe nambar par kiya ja sakata tha aisa nahin hai ki ediled mein khela gaya tha usake baad vah baahar ho gae the phir se paitaranitee leev lene kee vajah se tujhe saare rijalt hai indiya kee jo sabase badee galatee huee hai is test maich mein pahalee baar aur chennee jaise khel dikhaaya aur agar ham indiya kee baat karen to indiya kee 2 poling thee usane pahalee ining mein kuchh aisa bahut jyaada phark nahin najar nahin aaya haalaanki mairaathan boling 90 aur kee boling kee hai in logon ne use lagata hai ki inglaind ke ballebaajon kitana aur kitana samajhate the aur aakhir mein kaaphee kuchh ran bhee banae hain kuchh logon ne ovarol dekha jae to pahale hee jyaada badh gaya dil kee gaharaee se pada unhonne ke andar mein shuruaat mein shaadee kee thee usake alaava agar dekhen to poore jitana bhee poling kee hai usase jyaada dikhaee nahin pade hain aur phir doosaree ining siva kabhee kuchh kabhee kuchh karane kee koshish kar rahe hain to unaka viket chalaee ja raha hai kabhee jentaranau ja rahee hai aakharee hai mujhe samajh mein aa gaya tha ki 420 ran ka lakshy hai jo mila hai indiya ko jitane bhee khilaadee the poorv khilaadee kamentetar the tabhee kah rahe the ki pojitiv eteetyood ke saath mein khelenge haarane ke baare mein adara ke baare mein soch hee nahin hai to haare ining mein aisa hota nahin hai is tarah kee baaten kee gaee thee to aisa har ining mein nahin hoga ki rshabh pant aapako jeejee to dila denge ek baar aastreliya mein jeet gae to jarooree hai ki nahin hai meree jaan indiya ko bahut samay ke baad mein aur kaaphee karaaree haar milee hai aasha to yahee hai ki agalee

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:37
नमस्कार दोस्तों यू सर ने जो अपना क्वेश्चन पूछा है कि भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज जीत के छात्र थे वहीं भारतीय टीम भारत इंग्लैंड टेस्ट में जाकर सीने में चला गया तो उसे स्थाई संपत्ति देर होगी और हार्दिक है उसमें कप्तान की जो जो ग्यारह में क्वेश्चन पूछा है तो बताना चाहूंगा आप को देखिए हमारी भारतीय टीम ने जनवरी में जिले के साथ खेले गए मैच में बहुत ही उम्दा प्रदर्शन किया जो कि हमारी एक भारतीय क्रिकेट में युवा टीम थी इसमें सबसे बड़ी इसमें परेशानी वाली बात यह थी कि उस टाइम भी हमारे बहुत मैन बॉलर और बहुत मेल बैट्समैन जो थे चोटिल थे और जो नहीं खेल पाए थे लेकिन हमारी युवा टीम ने कमान संभाली और उसमें बहुत अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन आपको शायद याद होगा उसमें भी काफी बार उनको बहुत जोहर लगी है और शर्ट हुई थी और इतने लंबे मैच को खेलने के लिए काफी नजदीक हो जिसमें वह चोटिल भी होते हैं तो तोतली एक्सेस होने के कारण जो है नेक्स्ट हमारा यह मैच इंग्लैंड के साथ तो उसमें हम भारतीय कप्तान हैं उनकी रणनीति को भी हम जिम्मेवार ठहरा सकते हैं क्योंकि उनकी रणनीति शायद सही नहीं थी लेकिन एक तरफ से ग्राम दूसरी बात करें तो रणनीति के साथ साथ सभी प्लेयर को जो हम फिट होना बहुत जरूरी था और सभी प्लेयर का आराम भी देना बहुत जरूरी था तो उसमें भी कहीं ना कहीं इस चीज की चूक हुई है बट हम आशा करते हैं कि नेक्स्ट जो हमारे भी मैच होंगे उन्हें हमारे भारतीय टीम बहुत अच्छा करें और अच्छी कोई भी समस्या का सामना ना करना पड़े तो बदलाव के कारण जो यहां साथ हो सकता पर फिट नहीं थे उसकी वजह से उन्होंने बदलाव किए हैं वह उनकी उनका खुद का फैसला है और उनको फैसले में सक्षम है बाकी हार जीत तो चलती रहती है हम सिर्फ एक तरफ से अंदाजा लगा सकते हैं एक तरफ संत चीजों के बारे में सोच सकते हैं और उनके बारे में बोल सकता है लेकिन जो रेल टाइम में वह फेस करते हैं लेकिन को हर तरह का प्रेशर रहता है जिसमें तू इंसान जो है गलतियां करता है क्योंकि हो सकता है पहले मैसेज कर दो लाइट के लिए लेने की वजह से भी वह हो सकता है मैं ज्यादा इंपोर्टेंस नदी उसकी वजह से भी हो सकता है मैच है रूपा की रणनीति की बात करे कप्तान की तो शायद हो सकता उसमें भी कहीं ना कहीं चूक हुई है और जाए यह हो सकता है कि उनके जो बॉलर जो बैठे थे जो भर्ती में बदलाव किया गया था वह फिट नहीं थे और फॉर्मेट में खेलने के लिए अब वह प्रदर्शित नहीं दिखेगी पुराने जितने भी हमारे खिलाड़ी थे भारतीय युवा खिलाड़ी थे उनको मुस्लिम बाहर रखा गया क्योंकि वहां पर काफी चोटिल भी हुए हैं और इंजॉय थे तुमको रिकवरी के लिए भी समय चाहिए तो हो सकता है उस रिकवरी के चलते उनको पहला मैच ना खेले दिया गया और सूची लिस्ट किए गए हैं तो यही एक कुछ रीजन हो सकते हैं आशा करता हूं आप आपको सवाल का जवाब मिल गया होगा लाइक को सब्सक्राइब करें धन्यवाद और आपका तरफ से क्वेश्चन जो आपने भेजा उसका विरोध करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद और भी अगर आप फर्स्ट क्वेश्चन है अबे जिसे कुछ अनुरोध कर सकते हैं आशा करता हूं कि आपको पसंद आए तो लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Namaskaar doston yoo sar ne jo apana kveshchan poochha hai ki bhaarateey kriket teem ostreliya test seereej jeet ke chhaatr the vaheen bhaarateey teem bhaarat inglaind test mein jaakar seene mein chala gaya to use sthaee sampatti der hogee aur haardik hai usamen kaptaan kee jo jo gyaarah mein kveshchan poochha hai to bataana chaahoonga aap ko dekhie hamaaree bhaarateey teem ne janavaree mein jile ke saath khele gae maich mein bahut hee umda pradarshan kiya jo ki hamaaree ek bhaarateey kriket mein yuva teem thee isamen sabase badee isamen pareshaanee vaalee baat yah thee ki us taim bhee hamaare bahut main bolar aur bahut mel baitsamain jo the chotil the aur jo nahin khel pae the lekin hamaaree yuva teem ne kamaan sambhaalee aur usamen bahut achchha pradarshan kiya lekin aapako shaayad yaad hoga usamen bhee kaaphee baar unako bahut johar lagee hai aur shart huee thee aur itane lambe maich ko khelane ke lie kaaphee najadeek ho jisamen vah chotil bhee hote hain to totalee ekses hone ke kaaran jo hai nekst hamaara yah maich inglaind ke saath to usamen ham bhaarateey kaptaan hain unakee rananeeti ko bhee ham jimmevaar thahara sakate hain kyonki unakee rananeeti shaayad sahee nahin thee lekin ek taraph se graam doosaree baat karen to rananeeti ke saath saath sabhee pleyar ko jo ham phit hona bahut jarooree tha aur sabhee pleyar ka aaraam bhee dena bahut jarooree tha to usamen bhee kaheen na kaheen is cheej kee chook huee hai bat ham aasha karate hain ki nekst jo hamaare bhee maich honge unhen hamaare bhaarateey teem bahut achchha karen aur achchhee koee bhee samasya ka saamana na karana pade to badalaav ke kaaran jo yahaan saath ho sakata par phit nahin the usakee vajah se unhonne badalaav kie hain vah unakee unaka khud ka phaisala hai aur unako phaisale mein saksham hai baakee haar jeet to chalatee rahatee hai ham sirph ek taraph se andaaja laga sakate hain ek taraph sant cheejon ke baare mein soch sakate hain aur unake baare mein bol sakata hai lekin jo rel taim mein vah phes karate hain lekin ko har tarah ka preshar rahata hai jisamen too insaan jo hai galatiyaan karata hai kyonki ho sakata hai pahale maisej kar do lait ke lie lene kee vajah se bhee vah ho sakata hai main jyaada importens nadee usakee vajah se bhee ho sakata hai maich hai roopa kee rananeeti kee baat kare kaptaan kee to shaayad ho sakata usamen bhee kaheen na kaheen chook huee hai aur jae yah ho sakata hai ki unake jo bolar jo baithe the jo bhartee mein badalaav kiya gaya tha vah phit nahin the aur phormet mein khelane ke lie ab vah pradarshit nahin dikhegee puraane jitane bhee hamaare khilaadee the bhaarateey yuva khilaadee the unako muslim baahar rakha gaya kyonki vahaan par kaaphee chotil bhee hue hain aur injoy the tumako rikavaree ke lie bhee samay chaahie to ho sakata hai us rikavaree ke chalate unako pahala maich na khele diya gaya aur soochee list kie gae hain to yahee ek kuchh reejan ho sakate hain aasha karata hoon aap aapako savaal ka javaab mil gaya hoga laik ko sabsakraib karen dhanyavaad aur aapaka taraph se kveshchan jo aapane bheja usaka virodh karane ke lie bahut-bahut dhanyavaad aur bhee agar aap pharst kveshchan hai abe jise kuchh anurodh kar sakate hain aasha karata hoon ki aapako pasand aae to laik aur sabsakraib karen dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard