#undefined

bolkar speaker

जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?

Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
1:31
दोस्तों आपका सवाल है चेक के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे लगाया जा सकता है तो जीत के द्वारा हम स्वास्थ्य का पता लगा सकते हैं जीव के पोषक तत्व में नमी की कमी संकेत देती है जब एक पत्नी जी शरीर में जल निगम के कांड संख्या देती है यदि जी पतली को सफेद पड़ता है जिससे उसको सामान्य माना जाता है हालांकि यदि कोई बात नहीं होती है तो निर्जल करण संकेत देती है अगर जी पी ली और सूखी है तो जीभ में गर्मी का इशारा करती है जीव का गहरा रंग है तो शरीर गर्म वस्त्र को बारे में बताती यह संक्रमण या जीवाणु के निर्माण के शरीर संतुलन की ओर संकेत करती है जीव का रंग गोरा और काला रंग सरी कटहरा ओर इशारा करती है यह सारा शरीर में उर्जा रक्त तरल पदार्थ की प्रमुख के बारे में हो सकता है 1GB से रूकावट या सूजन या दरार है यह स्वास्थ्य तनाव के संबंधित परेशानी का इशारा करती है उदाहरण के लिए जीव के नोट पर शूज प्रिया संकरण संभावित एलर्जी संकेत हो सकता है जीतेंद्र की पड़ी दरारें इशारा करती है कि रोगी के पास सम सम सम से ग्रस्त जीभ में घाव किसी भी कमीशन के करता है पेंट वाली 350 से भौगोलिक जीव का जाता है इसे पेट की गर्मी का इशारा करती है एसिड निकलने निकलने के रूप में प्रकट हो जाती है एक अंगूर दारजी बारी में किनारे पर बैठी हुई विवेक रोकने की सारा करती है धन्यवाद दोस्तों
Doston aapaka savaal hai chek ke dvaara svaasthy ka pata kaise lagaaya ja sakata hai to jeet ke dvaara ham svaasthy ka pata laga sakate hain jeev ke poshak tatv mein namee kee kamee sanket detee hai jab ek patnee jee shareer mein jal nigam ke kaand sankhya detee hai yadi jee patalee ko saphed padata hai jisase usako saamaany maana jaata hai haalaanki yadi koee baat nahin hotee hai to nirjal karan sanket detee hai agar jee pee lee aur sookhee hai to jeebh mein garmee ka ishaara karatee hai jeev ka gahara rang hai to shareer garm vastr ko baare mein bataatee yah sankraman ya jeevaanu ke nirmaan ke shareer santulan kee or sanket karatee hai jeev ka rang gora aur kaala rang saree katahara or ishaara karatee hai yah saara shareer mein urja rakt taral padaarth kee pramukh ke baare mein ho sakata hai 1gb se rookaavat ya soojan ya daraar hai yah svaasthy tanaav ke sambandhit pareshaanee ka ishaara karatee hai udaaharan ke lie jeev ke not par shooj priya sankaran sambhaavit elarjee sanket ho sakata hai jeetendr kee padee daraaren ishaara karatee hai ki rogee ke paas sam sam sam se grast jeebh mein ghaav kisee bhee kameeshan ke karata hai pent vaalee 350 se bhaugolik jeev ka jaata hai ise pet kee garmee ka ishaara karatee hai esid nikalane nikalane ke roop mein prakat ho jaatee hai ek angoor daarajee baaree mein kinaare par baithee huee vivek rokane kee saara karatee hai dhanyavaad doston

और जवाब सुनें

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
4:01
10 नजीब के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है तो देखी हमारी जी स्वाद के अलावा हमारे स्वास्थ्य को भी बताती है कि हां आप की क्या कमी है इसके कलर पर डिपेंड करता है क्योंकि जो जिबोती हमारी कई कलर के होती है जैसे होता है जब रंग इसका फीका लगने लगे जीप का तो आप को समझना चाहिए कि हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी हो रही है जो हीमोग्लोबिन की कमी हो रही है तो आप समझ सकते हैं कि इसे व चिकित्सा की बातें तो फेफड़े की समस्या होने लगती है अगर अधिक लाल रंग की हो सकती है जब हो जाए तुझे समझना चाहिए कि मैंने हमारे शरीर में विटामिन बी और आयरन की कमी हो रही है तो में आयरन वाली चीजें और विटामिन बी वाली चीजें खाना अति आवश्यक हो जाता है उसके अलावा अगर जीभ का रंग अगर पीना गाना जैसा हो जाए मैं तो हल्का बैगनी कलर का दिखने लगे तो हमें क्लॉक समझना चाहिए कि कोलेस्ट्रोल की कमी हो गई है और चिकित्सा की अगर मानें तो अरिजीत का रंग अगर हल्का बैगनी टाइप का हो गया है तो हमारे शरीर में जो रक्त का संचार है सुचारु रुप से नहीं चलता है जो हमें समझ लेना चाहिए उसके बाद ज्यादा लाभ एक तो लाल होता है कि ज्यादा लाल हो जाए तो उस समय भी विटामिन बी और आयरन की कमी होने लगती है इसके अलावा अगर बात करें तो जीव जब हर की पैड़ी मत पी रे दिखने लगे आपको ऐसा लगे कि हां लगभग पीला जैसे दिख रहा है तो बुखार है सर्दी जुखाम जैसे लक्षण है सांस लेने में समस्या है और कुछ लोगों के अत्यधिक धूम्रपान करने से भी यह समस्या आ सकती है इसके अलावा देखा जाए तो अपनों की सही तरीके से सफाई नहीं करते हैं तो इसे भी समस्या कर दिखाता है कि आपका जो जी बहुत थोड़ा सा पीला रंग का दिखाई देता है फेडरेशन का भी शिकार होते हैं लोग तो उसे भी पीला रंग दिखाई देने लगता है इसके अलावा आपके जी पर सफेद परत जैसी बन जाए तो उसमें क्या होता है कि सफेद जब परत जमने लगती है या तो फिर चिकनी गुलाबी जैसे दिखने लगे तो क्या इसमें आपकी पाचन तंत्र का जो है हमारे पेट की समस्या हो सकती है और हमें इसका इलाज करवाना चाहिए इसके अलावा करीब में नमी की कमी जब होती है तो क्या होता है ना कि उसमें सलाइवा ग्लैंड में सूजन हो सकती है यह सूजन क्या होता है जिससे कि रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है तू क्या होती है कि आपके जिम में कमी अब के शरीर में भी थोड़ा सा अजीब सा फील होने तक होने लगता है आप हर चीज क्या थे नजरअंदाज करने लगते हैं इसे भी आपको देख लीजिए कभी-कभी होता है कि जिम में सूजन हो जाती है सूजन होने से क्या होता है बीमारियों में जीभ का कैंसर एक्टिव थायराइड यूपी मियां एनीमिया जैसे रूप के आगे होने की संभावना हो जाती है तो सूजन हो रही है तो इसे भी आप चेक कर सकते हैं उसके अलावा लाल रंग के घर चक्की आपके जी में हो रहे हैं टीवी के होती है विटामिन सी की कमी हो जाने दो होने लगती है अगर बात करें तो एक्जिमा और दमा जैसे रोगों के लक्षण हो सकते हैं तो मैं भी यह सब चीजें संभावना व्यक्त की जा सकती है और अगर ऐसा लगे आपको तो आप बखूबी आप डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं क्योंकि इस जीव जो हमारे स्वाद के साथ-साथ हमारी स्वास्थ स्वास्थ को ही बताती है इसे हमारे शरीर में क्या होता है नॉर्मल है जब फीवर हो जाता है तो क्या होती कुछ चीजें हम खाते हैं ना तो बड़ी फीके फीके लगने से अजीब सा लगता है खाने का मन ही नहीं करता बस खाने भूख तो लगेगी लेकिन यह बता कि खाना खाए तुम अच्छा नहीं लगता है तू ही है जी के द्वारा हम अपने स्वास्थ्य अपने शरीर को भी पता कर सकते हैं कि हां मेरे शरीर कैसी हो रही है मुझे क्या चीज करना क्या खाना चाहिए धन्यवाद
10 najeeb ke dvaara svaasthy ka pata kaise chalata hai to dekhee hamaaree jee svaad ke alaava hamaare svaasthy ko bhee bataatee hai ki haan aap kee kya kamee hai isake kalar par dipend karata hai kyonki jo jibotee hamaaree kaee kalar ke hotee hai jaise hota hai jab rang isaka pheeka lagane lage jeep ka to aap ko samajhana chaahie ki hamaare shareer mein heemoglobin kee kamee ho rahee hai jo heemoglobin kee kamee ho rahee hai to aap samajh sakate hain ki ise va chikitsa kee baaten to phephade kee samasya hone lagatee hai agar adhik laal rang kee ho sakatee hai jab ho jae tujhe samajhana chaahie ki mainne hamaare shareer mein vitaamin bee aur aayaran kee kamee ho rahee hai to mein aayaran vaalee cheejen aur vitaamin bee vaalee cheejen khaana ati aavashyak ho jaata hai usake alaava agar jeebh ka rang agar peena gaana jaisa ho jae main to halka baiganee kalar ka dikhane lage to hamen klok samajhana chaahie ki kolestrol kee kamee ho gaee hai aur chikitsa kee agar maanen to arijeet ka rang agar halka baiganee taip ka ho gaya hai to hamaare shareer mein jo rakt ka sanchaar hai suchaaru rup se nahin chalata hai jo hamen samajh lena chaahie usake baad jyaada laabh ek to laal hota hai ki jyaada laal ho jae to us samay bhee vitaamin bee aur aayaran kee kamee hone lagatee hai isake alaava agar baat karen to jeev jab har kee paidee mat pee re dikhane lage aapako aisa lage ki haan lagabhag peela jaise dikh raha hai to bukhaar hai sardee jukhaam jaise lakshan hai saans lene mein samasya hai aur kuchh logon ke atyadhik dhoomrapaan karane se bhee yah samasya aa sakatee hai isake alaava dekha jae to apanon kee sahee tareeke se saphaee nahin karate hain to ise bhee samasya kar dikhaata hai ki aapaka jo jee bahut thoda sa peela rang ka dikhaee deta hai phedareshan ka bhee shikaar hote hain log to use bhee peela rang dikhaee dene lagata hai isake alaava aapake jee par saphed parat jaisee ban jae to usamen kya hota hai ki saphed jab parat jamane lagatee hai ya to phir chikanee gulaabee jaise dikhane lage to kya isamen aapakee paachan tantr ka jo hai hamaare pet kee samasya ho sakatee hai aur hamen isaka ilaaj karavaana chaahie isake alaava kareeb mein namee kee kamee jab hotee hai to kya hota hai na ki usamen salaiva glaind mein soojan ho sakatee hai yah soojan kya hota hai jisase ki rakt mein sharkara kee maatra badh jaatee hai too kya hotee hai ki aapake jim mein kamee ab ke shareer mein bhee thoda sa ajeeb sa pheel hone tak hone lagata hai aap har cheej kya the najarandaaj karane lagate hain ise bhee aapako dekh leejie kabhee-kabhee hota hai ki jim mein soojan ho jaatee hai soojan hone se kya hota hai beemaariyon mein jeebh ka kainsar ektiv thaayaraid yoopee miyaan eneemiya jaise roop ke aage hone kee sambhaavana ho jaatee hai to soojan ho rahee hai to ise bhee aap chek kar sakate hain usake alaava laal rang ke ghar chakkee aapake jee mein ho rahe hain teevee ke hotee hai vitaamin see kee kamee ho jaane do hone lagatee hai agar baat karen to ekjima aur dama jaise rogon ke lakshan ho sakate hain to main bhee yah sab cheejen sambhaavana vyakt kee ja sakatee hai aur agar aisa lage aapako to aap bakhoobee aap doktar kee salaah le sakate hain kyonki is jeev jo hamaare svaad ke saath-saath hamaaree svaasth svaasth ko hee bataatee hai ise hamaare shareer mein kya hota hai normal hai jab pheevar ho jaata hai to kya hotee kuchh cheejen ham khaate hain na to badee pheeke pheeke lagane se ajeeb sa lagata hai khaane ka man hee nahin karata bas khaane bhookh to lagegee lekin yah bata ki khaana khae tum achchha nahin lagata hai too hee hai jee ke dvaara ham apane svaasthy apane shareer ko bhee pata kar sakate hain ki haan mere shareer kaisee ho rahee hai mujhe kya cheej karana kya khaana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:35
हमेशा सच का पता लगाने का काम करती है 2G पुणे से नोटिस कर के रखी थी किस तरह की है उसमें कुछ दाग धब्बे तो नहीं लग रहे हैं तो आपको समझ में आ जाएगा कि यह कैसी है अभी बताया ना कुछ खाते हैं बुझी को करवा चौथ लगता है बता को फीवर है हम देखें आप को फीवर हो गया जी प्लीज चेंज हो जाए तो किसी न किसी पार्टी से रिलेटेड होता है क्या आपको यह देखते रहना चाहिए क्योंकि किस तरीके से आपके लिए शास्त्र बताकर आपको किसी डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए बाबू के लिए बता देना
Hamesha sach ka pata lagaane ka kaam karatee hai 2g pune se notis kar ke rakhee thee kis tarah kee hai usamen kuchh daag dhabbe to nahin lag rahe hain to aapako samajh mein aa jaega ki yah kaisee hai abhee bataaya na kuchh khaate hain bujhee ko karava chauth lagata hai bata ko pheevar hai ham dekhen aap ko pheevar ho gaya jee pleej chenj ho jae to kisee na kisee paartee se rileted hota hai kya aapako yah dekhate rahana chaahie kyonki kis tareeke se aapake lie shaastr bataakar aapako kisee doktar se kansalt karana chaahie baaboo ke lie bata dena

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
3:27
सवाल ये है कि जीव के द्वारा स्वास्थ्य का कैसे पता लगता है तो जी भर पीले रंग की गाड़ी परत का होना अगर आप की जीत पर पीले रंग की गाड़ी पर आता तो इसका मतलब है कि आप को अपने मुंह की ज्यादा देखभाल करने की जरूरत है राजीव को सही तरीके से साफ करने की आदत डालें ओवरईटिंग या फिर बैक्टीरिया की वजह से आपकी जीत के ऊपर इस तरह की गाड़ी परत जमी हो सकती है इससे पता चलता है कि मुंह में बैक्टीरिया ज्यादा हो रहे हैं बैक्टीरिया मुंह में बढ़ने की वजह से बुखार बदबूदार सांस की परेशानी हो सकती है गहरी लाल रंग की जीत जीत पर लाल रंग के धब्बे धीरे-धीरे आपकी पूरी जीव को लाल कर देते हैं जीव का लाल होना एनीमिया का प्रारंभिक लक्षण है कावासाकी रोग या फिर लाल बुखार की वजह से जीभ लाल हो सकती है शरीर में विटामिन B12 की कमी की वजह से भी आपकी जीत लाल हो सकती है ऐसी स्थिति में आपका शरीर लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करने लगता है भारत में चार करोड़ लोग हैं इस बीमारी से प्रभावित हो जाती है लीवर को नुकसान लाल या सफेद थक्के होना कभी-कभी जीव के किनारे छोटे लाल या सफेद के थक्के बन जाते हैं यह दर्द रहित थक्के जीप के ज्यादा इस्तेमाल करने से आकर खाना खाना खाने की वजह से हो जाते हैं यह तक के जीत पर इस वजह से होते क्योंकि तला भुना खाने का फैट बढ़ने वाले खाद्य पदार्थों से ज्यादा सेवन की वजह से शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है यूं तो साधारण से 2 हफ्ते के भीतर ही खत्म हो जाते हैं लेकिन अगर यह 2 हफ्ते में भी ख़त्म ना हो तो डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए क्योंकि यह मुंह के कैंसर का भी कारण बन सकती जीप का गाना चिकना होना हमारे शरीर का एक छोटा सा वह रिश्ता है जो हल्का खुरदुरा होना चाहिए इन कभी-कभी कुछ ज्यादा चिकनी होती है ऐसे में इसके पीछे पीछे के कारण को जानना बेहद जरूरी है और अब ट्रैक्टर के बिना दादा चिकनी जीवन असामान्य नहीं है यह परिस्थिति में सोसाइटी कहलाती है जो कि शरीर में पोषक तत्वों की कमी की वजह से होती है इस तरह की जीभ होने की स्थिति में उसे उस में दर्द भी हो सकता है अगर ऑफ रेगुलर स्मोकर या चेंज को स्मोकर है तो आपको इस लक्षण पर ध्यान देने की बहुत जरूरत है वरना यह आपने आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है जी पर अल्सर या छाले मुंह के छाले को मुंह में मुंह के अवसर के रूप में भी जाना जाता है यह छोटे और दर्द देने वाले होते हैं यह ज्यादातर आपके गालों के अंदरूनी भाग पर होते हैं लेकिन ही आपकी जीत पर भी हो सकते हैं ज्यादा कभी कभी ज्यादा धोखा किया तीखा खाने की वजह से चालू की समस्या हो जाती है कभी-कभी गलती से दांत से जीभ कट जाने पर भी हो जाते हैं कुछ हफ्तों से ज्यादा वक्त तक रहने वाले अक्सर आपकी परेशानी की वजह बन सकते हैं यह अक्सर आपके हार्मोनल इंबैलेंस की वजह से होते हैं सफेद रंग के चकत्ते होना जिस चीज की तरह सफेद रंग की जीत पर चकत्ते बन जाते हैं बन जाना भी स्वास्थ्य के लिहाज से नुकसानदायक हो सकता है यह खमीर संक्रमण ओरल स्टैंडर्ड ऑफिस की वजह से हो सकता है बच्चों बुजुर्गों और उन लोगों में जो प्रतिरोधक क्षमता में कमी आने पर ज्यादा ध्यान नहीं देते यह संक्रमण ज्यादा देखने को मिलता है यह आमतौर पर बर्थ कंट्रोल पिल के इस्तेमाल एंटीबायोटिक दवाओं कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली शुगर की दवा की वजह से हो सकते हैं ओरल कैंडीडायसिस शरीर में गंभीर बीमारी की तरफ इशारा करते हैं जिसमें एचआईवी और यूके अमिया शामिल होते हैं
Savaal ye hai ki jeev ke dvaara svaasthy ka kaise pata lagata hai to jee bhar peele rang kee gaadee parat ka hona agar aap kee jeet par peele rang kee gaadee par aata to isaka matalab hai ki aap ko apane munh kee jyaada dekhabhaal karane kee jaroorat hai raajeev ko sahee tareeke se saaph karane kee aadat daalen ovareeting ya phir baikteeriya kee vajah se aapakee jeet ke oopar is tarah kee gaadee parat jamee ho sakatee hai isase pata chalata hai ki munh mein baikteeriya jyaada ho rahe hain baikteeriya munh mein badhane kee vajah se bukhaar badaboodaar saans kee pareshaanee ho sakatee hai gaharee laal rang kee jeet jeet par laal rang ke dhabbe dheere-dheere aapakee pooree jeev ko laal kar dete hain jeev ka laal hona eneemiya ka praarambhik lakshan hai kaavaasaakee rog ya phir laal bukhaar kee vajah se jeebh laal ho sakatee hai shareer mein vitaamin b12 kee kamee kee vajah se bhee aapakee jeet laal ho sakatee hai aisee sthiti mein aapaka shareer laal rakt koshikaon ka nirmaan karane lagata hai bhaarat mein chaar karod log hain is beemaaree se prabhaavit ho jaatee hai leevar ko nukasaan laal ya saphed thakke hona kabhee-kabhee jeev ke kinaare chhote laal ya saphed ke thakke ban jaate hain yah dard rahit thakke jeep ke jyaada istemaal karane se aakar khaana khaana khaane kee vajah se ho jaate hain yah tak ke jeet par is vajah se hote kyonki tala bhuna khaane ka phait badhane vaale khaady padaarthon se jyaada sevan kee vajah se shareer mein esid kee maatra badhane lagatee hai yoon to saadhaaran se 2 haphte ke bheetar hee khatm ho jaate hain lekin agar yah 2 haphte mein bhee khatm na ho to doktar kee salaah lenee chaahie kyonki yah munh ke kainsar ka bhee kaaran ban sakatee jeep ka gaana chikana hona hamaare shareer ka ek chhota sa vah rishta hai jo halka khuradura hona chaahie in kabhee-kabhee kuchh jyaada chikanee hotee hai aise mein isake peechhe peechhe ke kaaran ko jaanana behad jarooree hai aur ab traiktar ke bina daada chikanee jeevan asaamaany nahin hai yah paristhiti mein sosaitee kahalaatee hai jo ki shareer mein poshak tatvon kee kamee kee vajah se hotee hai is tarah kee jeebh hone kee sthiti mein use us mein dard bhee ho sakata hai agar oph regular smokar ya chenj ko smokar hai to aapako is lakshan par dhyaan dene kee bahut jaroorat hai varana yah aapane aapake svaasthy ko nukasaan pahuncha sakatee hai jee par alsar ya chhaale munh ke chhaale ko munh mein munh ke avasar ke roop mein bhee jaana jaata hai yah chhote aur dard dene vaale hote hain yah jyaadaatar aapake gaalon ke andaroonee bhaag par hote hain lekin hee aapakee jeet par bhee ho sakate hain jyaada kabhee kabhee jyaada dhokha kiya teekha khaane kee vajah se chaaloo kee samasya ho jaatee hai kabhee-kabhee galatee se daant se jeebh kat jaane par bhee ho jaate hain kuchh haphton se jyaada vakt tak rahane vaale aksar aapakee pareshaanee kee vajah ban sakate hain yah aksar aapake haarmonal imbailens kee vajah se hote hain saphed rang ke chakatte hona jis cheej kee tarah saphed rang kee jeet par chakatte ban jaate hain ban jaana bhee svaasthy ke lihaaj se nukasaanadaayak ho sakata hai yah khameer sankraman oral staindard ophis kee vajah se ho sakata hai bachchon bujurgon aur un logon mein jo pratirodhak kshamata mein kamee aane par jyaada dhyaan nahin dete yah sankraman jyaada dekhane ko milata hai yah aamataur par barth kantrol pil ke istemaal enteebaayotik davaon kamajor pratiraksha pranaalee shugar kee dava kee vajah se ho sakate hain oral kaindeedaayasis shareer mein gambheer beemaaree kee taraph ishaara karate hain jisamen echaeevee aur yooke amiya shaamil hote hain

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:03
नमस्कार जैसा की आप व कौशल जी के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है अभी भी काफी डॉक्टर है तो दीप को जीव को देखकर पता चलना चाहिए जिससे हमारे अगर हमें फीवर हो गया था आपने कोई ऐसी मेडिसिन खाली है या कुछ और है हमारे किस जीव का कलर रिकॉर्डिंग चेंज होता रहता है या उसमें दाने-दाने आते रहते हैं तो उसके कोडिंग क्या डॉक्टर को फील हो जाता है कि यह क्या हुआ इनको अगर आप गांव में किसी वेद वगैरह हो या पुरुष थे इनमें हो या आप हमारे डॉक्टरों से भी सजेस्ट लेते हैं तो काफी जो है वह टीवी देखकर बताते हैं कि हमें क्या हुआ मैंने क्या खाया या और काफी जगह क्या क्रिटिकल सिचुएशन है क्या चेंज होती रहती है मैसेज धन्यवाद
Namaskaar jaisa kee aap va kaushal jee ke dvaara svaasthy ka pata kaise chalata hai abhee bhee kaaphee doktar hai to deep ko jeev ko dekhakar pata chalana chaahie jisase hamaare agar hamen pheevar ho gaya tha aapane koee aisee medisin khaalee hai ya kuchh aur hai hamaare kis jeev ka kalar rikording chenj hota rahata hai ya usamen daane-daane aate rahate hain to usake koding kya doktar ko pheel ho jaata hai ki yah kya hua inako agar aap gaanv mein kisee ved vagairah ho ya purush the inamen ho ya aap hamaare doktaron se bhee sajest lete hain to kaaphee jo hai vah teevee dekhakar bataate hain ki hamen kya hua mainne kya khaaya ya aur kaaphee jagah kya kritikal sichueshan hai kya chenj hotee rahatee hai maisej dhanyavaad

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:33
जी आपका सुना नहीं कि जी के द्वारा सस्ते का पता कैसे चलता है तो जीव को पढ़कर शरीर की पाचन समस्याओं को लेकर संक्रमण के बारे में पता लगाया जा सकता है जब आपके स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में कभी कुछ कहते हैं संभावना है कि आप आम तौर पर अपनी जीभ की करने से ज्यादा समय में लगाते हैं लेकिन जी एक सरसरी नजर और आपके स्वास्थ्य की के बारे में अधिक जानकारी दे सकती हैं
Jee aapaka suna nahin ki jee ke dvaara saste ka pata kaise chalata hai to jeev ko padhakar shareer kee paachan samasyaon ko lekar sankraman ke baare mein pata lagaaya ja sakata hai jab aapake svaasthy kee sthiti ke baare mein kabhee kuchh kahate hain sambhaavana hai ki aap aam taur par apanee jeebh kee karane se jyaada samay mein lagaate hain lekin jee ek sarasaree najar aur aapake svaasthy kee ke baare mein adhik jaanakaaree de sakatee hain

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:57
जीव के द्वारा स्वास्थ का पता कैसे चलता है आपने देखा होगा कि डॉक्टर के पास जाइए तो पहले आप का दर्द देखेगा बस तक सोएगा इसके बाद भी कहेगा आंखें देखेगा आगे भी कभी जीत दिखाई अब जीव में क्या होता है जीवन में यदि अगर किसी प्रकार की कोई बीमारी है तो वह आपको बता देगा पेट की पाचन शक्ति कैसे हो जी के सफेदी बता देंगे यदि अगर आप को फीवर है तो फीवर से जीभ पर सफेद परत जम जाती है उसको भी डॉक्टर देख करके अंदाजा लगा लेता है तो तीन-चार स्रोतों से उसको देखता है कि जिम में सफेदी तो नहीं है आंखों में पीलापन तो नहीं है शरीर में मतलब कोई गर्मी तो नहीं है ना तेज तो नहीं है इन सब सारी चीजों से उसका एक बेसिक स्टैंडर्ड का पता चलता है कि वर्कआउट तब आप डाल कर उसके बताओ तब आप जाकर होती है बेसिक जाते हैं जो मैंने आपको बताया इसलिए वो तो सबके सफेद ही देख कर के डॉक्टर अपने मार्च का पता लगा लेता है
Jeev ke dvaara svaasth ka pata kaise chalata hai aapane dekha hoga ki doktar ke paas jaie to pahale aap ka dard dekhega bas tak soega isake baad bhee kahega aankhen dekhega aage bhee kabhee jeet dikhaee ab jeev mein kya hota hai jeevan mein yadi agar kisee prakaar kee koee beemaaree hai to vah aapako bata dega pet kee paachan shakti kaise ho jee ke saphedee bata denge yadi agar aap ko pheevar hai to pheevar se jeebh par saphed parat jam jaatee hai usako bhee doktar dekh karake andaaja laga leta hai to teen-chaar sroton se usako dekhata hai ki jim mein saphedee to nahin hai aankhon mein peelaapan to nahin hai shareer mein matalab koee garmee to nahin hai na tej to nahin hai in sab saaree cheejon se usaka ek besik staindard ka pata chalata hai ki varkaut tab aap daal kar usake batao tab aap jaakar hotee hai besik jaate hain jo mainne aapako bataaya isalie vo to sabake saphed hee dekh kar ke doktar apane maarch ka pata laga leta hai

bolkar speaker
जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है?Jeebh Ke Dvara Svasthya Ka Pata Kaise Chalta Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:42
तुम तो जीप के रंग से हमें पता चल जाता है कि हमारी बॉडी एक कंडीशन क्या है और हमारा स्वास्थ्य ठीक है या नहीं है जिसके कलर्स दोस्तों हमारी बॉडी की डिहाइड्रेशन और पानी की मात्रा के बारे में पता चल जाता है और कर से यही पता चल जाता है कि हमारे शरीर में कुछ खराबी तो नहीं है और जीप में अगर छाले हैं तो पेट में या फिर किसी कहीं पर आपके दिक्कत हो सकती है तो डॉक्टर जी में यही देखते हैं कि आपकी जीएफ का कलर क्या है और आपकी जीत की कंडीशन कैसी है और उसी हिसाब से वह अपना राय आपको बताते हैं और टेस्ट करने को भी बोलते हैं तो दोस्तों अगर आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज जरूर लाइक कीजिए
Tum to jeep ke rang se hamen pata chal jaata hai ki hamaaree bodee ek kandeeshan kya hai aur hamaara svaasthy theek hai ya nahin hai jisake kalars doston hamaaree bodee kee dihaidreshan aur paanee kee maatra ke baare mein pata chal jaata hai aur kar se yahee pata chal jaata hai ki hamaare shareer mein kuchh kharaabee to nahin hai aur jeep mein agar chhaale hain to pet mein ya phir kisee kaheen par aapake dikkat ho sakatee hai to doktar jee mein yahee dekhate hain ki aapakee jeeeph ka kalar kya hai aur aapakee jeet kee kandeeshan kaisee hai aur usee hisaab se vah apana raay aapako bataate hain aur test karane ko bhee bolate hain to doston agar aapako jaanakaaree achchhee lagee ho to pleej jaroor laik keejie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता कैसे चलता है जीभ के द्वारा स्वास्थ्य का पता
URL copied to clipboard