#भारत की राजनीति

bolkar speaker

क्या टिकेत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाली है?

Kya Tiket Sahab Ke Aansu Bharat Sarkar Ke Lie Musibat Banne Vali Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:31
दोस्तों प्लस नहीं क्या टिकट साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बन ने वाली है तो दोस्तों आंसुओं का महत्व बहुत अलग अलग होता है और वह आंसू किस समय निकले हैं क्या उसकी टाइमिंग है उसके पर भी निर्भर करता है तो दोस्तों जो एक घटना हुई 26 जनवरी की जो लाल किले पर तोड़फोड़ की गई दूसरा झंडा फहराया गया वह लगता है ठीक है साहब जी के आंसू उसने बह जाएंगे उसका प्रभाव ज्यादा नहीं आने वाला भारत सरकार पर क्योंकि जनता के अंदर किसानों के प्रति एक छवि जो बनी हुई थी वह धीरे-धीरे धूमिल हो गई है चाहे युवा पीढ़ी के लिए हो तो मेरे को नहीं लगता कि ऐसा किसी के लिए मुसीबत बनने वाली है और सबसे ज्यादा जो कमजोरी उस घटना से हुई है 26 जनवरी के अगर ट्रैक्टर का एक अच्छी छाप छोड़ती अच्छा परेड व्यवस्थित किया जाता तो हो सकता है कि स्थिति अलग होती हो सकता है कि टिकट साहब की कोई गलती ना हो किसान की गलती ना हो कुछ उसमें असामाजिक तत्वों घुस गए हो लेकिन उस आयोजन को सफल बनाने में वह सफल रहे इसलिए कहीं ना कहीं दाग उनके आंचल पर भी लगा है तो ऐसी अभी कोई समस्या नजर नहीं आ रही है धन्यवाद
Doston plas nahin kya tikat saahab ke aansoo bhaarat sarakaar ke lie museebat ban ne vaalee hai to doston aansuon ka mahatv bahut alag alag hota hai aur vah aansoo kis samay nikale hain kya usakee taiming hai usake par bhee nirbhar karata hai to doston jo ek ghatana huee 26 janavaree kee jo laal kile par todaphod kee gaee doosara jhanda phaharaaya gaya vah lagata hai theek hai saahab jee ke aansoo usane bah jaenge usaka prabhaav jyaada nahin aane vaala bhaarat sarakaar par kyonki janata ke andar kisaanon ke prati ek chhavi jo banee huee thee vah dheere-dheere dhoomil ho gaee hai chaahe yuva peedhee ke lie ho to mere ko nahin lagata ki aisa kisee ke lie museebat banane vaalee hai aur sabase jyaada jo kamajoree us ghatana se huee hai 26 janavaree ke agar traiktar ka ek achchhee chhaap chhodatee achchha pared vyavasthit kiya jaata to ho sakata hai ki sthiti alag hotee ho sakata hai ki tikat saahab kee koee galatee na ho kisaan kee galatee na ho kuchh usamen asaamaajik tatvon ghus gae ho lekin us aayojan ko saphal banaane mein vah saphal rahe isalie kaheen na kaheen daag unake aanchal par bhee laga hai to aisee abhee koee samasya najar nahin aa rahee hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या टिकेत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाली है?Kya Tiket Sahab Ke Aansu Bharat Sarkar Ke Lie Musibat Banne Vali Hai
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:58
आपका प्रश्न है कि क्या टिकट साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाले हैं कि आप किस क्रिकेट साहब की बात कर रहे हैं अगर राकेश टिकैत के पिता की बात अगर आप करते हैं तो हम उसको टिकट साहब कह सकते हैं लेकिन आप जिस राकेश टिकैत की बात कर रहे हैं उसको साहब तो कतई नहीं माना जा सकता क्योंकि जिस तरीके से हमारे गणतंत्र दिवस पर हमारे राष्ट्र को गौरवान्वित करने वाले उस दिन पर इस व्यक्ति ने हिंसा के माध्यम से पूरे संस्कार के सामने हम भारतीयों को चित्र शर्मसार किया है इसके बाद इस व्यक्ति को साहब की श्रेणी में नहीं रखा जाता जिस व्यक्ति के लिए ग्रेटा थनबर्ग मियां खलीफा जैसी जो सार्वजनिक कैमरे पर वेश्यावृत्ति का धंधा फैलाती है और समाज में उत्तम संस्कृति को नष्ट करने का प्रयास करती है और भी कुछ नचनिया है जो इसके साथ खड़ी जो लोग हमारे देश को बदनाम करने के लिए लगे हो एचडी व्यक्ति को कम और यह भारत सरकार उसके आंसुओं को जूते की नोक पर क्योंकि जिस व्यक्ति का राष्ट्र के प्रति प्रेम नहीं है देश के प्रति प्रेम नहीं है जिसके वतन की मिट्टी के प्रति प्रेम नहीं है तू सिर्फ अपनी राजनीति चमकाने के लिए दिल्ली के लाखों करोड़ों लोगों को बंधक बनाए बैठे हुए हैं आस पड़ोस के रहने वाली महिलाओं को छेड़ते हैं वहां के लोग जो जो उस आंदोलन के नाम पर वहां पर कुछ गुंडे घटना के आसपास के लोगों का जिस तरह से मैंने टीवी पर उनके बयान सुने हैं उन महिलाओं का जीना दूभर हो गया है जब बच्चों बच्चों को तलवारों से धमकाया जा रहा है हम भला ऐसे व्यक्ति का समर्थन करेंगे भाड़ में जाए ऐसा ठेके भाड़ में जाए उसकी राजनीति जूते की नोक पर
Aapaka prashn hai ki kya tikat saahab ke aansoo bhaarat sarakaar ke lie museebat banane vaale hain ki aap kis kriket saahab kee baat kar rahe hain agar raakesh tikait ke pita kee baat agar aap karate hain to ham usako tikat saahab kah sakate hain lekin aap jis raakesh tikait kee baat kar rahe hain usako saahab to katee nahin maana ja sakata kyonki jis tareeke se hamaare ganatantr divas par hamaare raashtr ko gauravaanvit karane vaale us din par is vyakti ne hinsa ke maadhyam se poore sanskaar ke saamane ham bhaarateeyon ko chitr sharmasaar kiya hai isake baad is vyakti ko saahab kee shrenee mein nahin rakha jaata jis vyakti ke lie greta thanabarg miyaan khaleepha jaisee jo saarvajanik kaimare par veshyaavrtti ka dhandha phailaatee hai aur samaaj mein uttam sanskrti ko nasht karane ka prayaas karatee hai aur bhee kuchh nachaniya hai jo isake saath khadee jo log hamaare desh ko badanaam karane ke lie lage ho echadee vyakti ko kam aur yah bhaarat sarakaar usake aansuon ko joote kee nok par kyonki jis vyakti ka raashtr ke prati prem nahin hai desh ke prati prem nahin hai jisake vatan kee mittee ke prati prem nahin hai too sirph apanee raajaneeti chamakaane ke lie dillee ke laakhon karodon logon ko bandhak banae baithe hue hain aas pados ke rahane vaalee mahilaon ko chhedate hain vahaan ke log jo jo us aandolan ke naam par vahaan par kuchh gunde ghatana ke aasapaas ke logon ka jis tarah se mainne teevee par unake bayaan sune hain un mahilaon ka jeena doobhar ho gaya hai jab bachchon bachchon ko talavaaron se dhamakaaya ja raha hai ham bhala aise vyakti ka samarthan karenge bhaad mein jae aisa theke bhaad mein jae usakee raajaneeti joote kee nok par

bolkar speaker
क्या टिकेत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाली है?Kya Tiket Sahab Ke Aansu Bharat Sarkar Ke Lie Musibat Banne Vali Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:33
सवाल ये है कि क्या टिकैत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बन ने वाली है तू गुरुवार रात को गाजीपुर बॉर्डर ने उनके भावुक वीडियो से ना सिर्फ पश्चिमी उत्तर प्रदेश बल्कि हरियाणा पंजाब और राजस्थान के किसानों में भी आंदोलन के कई नए ऊर्जा देखने को मिली है सोशल मीडिया पर इन इलाकों से के सैकड़ों लोग हैं जिन्होंने लिखा है कि उनके यहां कल रात खाना भी नहीं बना वह अपने बेटे की पुकार पर गाजीपुर बॉर्डर पहुंच रहे हैं 26 जनवरी के दिन लाल किले पर हुई घटना के बाद किसान संगठन जिस नैतिक दबाव का सामना कर रहे थे उसके असर को गाजीपुर की घटना ने कम कर दिया है और किसान नेता राकेश टिकैत ने कद को बढ़ा दिया है नवंबर 2020 में जब इस किसान आंदोलन की शुरुआत हुई तब के साथ टिकैत ने की भूमिका बहुत सीमित बताई जा रही थी लोगों ने बिकाऊ कह रहे थे और कुछ लोगों का मानना था कि उनके होने से किसान आंदोलन को नुकसान होगा 52 वर्षीय राकेश टीका गुरुवार को ऐलान किया कि देश का किसान सीने पर गोली खाएगा पर पीछे नहीं हटे गा उन्होंने यह धमकी भी दी कि तीनों कृषि कानून अगर वापस नहीं लिए तो वह आत्महत्या कर लेंगे लेकिन धरना स्थल नहीं करे खाली नहीं करेंगे उनके इस तेवर ने लोगों को नामी किसान नेता महेंद्र सिंह टिकैत की याद दिलाई जिन्होंने जिन्हें पश्चिमी उत्तर प्रदेश का एक बड़ा इलाका सम्मान से बाबा ठीक है जी अब आप महात्मा टिकैत कहता है तो उनका सपोर्ट देखकर लगता है कि भारत सरकार के लिए मुसीबत बन सकता है
Savaal ye hai ki kya tikait saahab ke aansoo bhaarat sarakaar ke lie museebat ban ne vaalee hai too guruvaar raat ko gaajeepur bordar ne unake bhaavuk veediyo se na sirph pashchimee uttar pradesh balki hariyaana panjaab aur raajasthaan ke kisaanon mein bhee aandolan ke kaee nae oorja dekhane ko milee hai soshal meediya par in ilaakon se ke saikadon log hain jinhonne likha hai ki unake yahaan kal raat khaana bhee nahin bana vah apane bete kee pukaar par gaajeepur bordar pahunch rahe hain 26 janavaree ke din laal kile par huee ghatana ke baad kisaan sangathan jis naitik dabaav ka saamana kar rahe the usake asar ko gaajeepur kee ghatana ne kam kar diya hai aur kisaan neta raakesh tikait ne kad ko badha diya hai navambar 2020 mein jab is kisaan aandolan kee shuruaat huee tab ke saath tikait ne kee bhoomika bahut seemit bataee ja rahee thee logon ne bikaoo kah rahe the aur kuchh logon ka maanana tha ki unake hone se kisaan aandolan ko nukasaan hoga 52 varsheey raakesh teeka guruvaar ko ailaan kiya ki desh ka kisaan seene par golee khaega par peechhe nahin hate ga unhonne yah dhamakee bhee dee ki teenon krshi kaanoon agar vaapas nahin lie to vah aatmahatya kar lenge lekin dharana sthal nahin kare khaalee nahin karenge unake is tevar ne logon ko naamee kisaan neta mahendr sinh tikait kee yaad dilaee jinhonne jinhen pashchimee uttar pradesh ka ek bada ilaaka sammaan se baaba theek hai jee ab aap mahaatma tikait kahata hai to unaka saport dekhakar lagata hai ki bhaarat sarakaar ke lie museebat ban sakata hai

bolkar speaker
क्या टिकेत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाली है?Kya Tiket Sahab Ke Aansu Bharat Sarkar Ke Lie Musibat Banne Vali Hai
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:32
नमस्कार जैसा की आप का क्वेश्चन है क्या टिकट साहब के आंसू भारत और सरकार के लिए मुसीबत बनने वाला है वालिए ऐसा कुछ भी नहीं हुआ वह गलत है सरकार के लिए कहा जाए तो अच्छे और बुरे नहीं थे इसलिए ऑफिस जाने के परेशान होते होते हैं यह खूबसूरत होती है जो अपोजिशन पार्टी खुश होती है लॉजिक की बात करें और एक साइंस की बात करें एक समझने की बात करें तो टिकट दूसरे कमरे में हमारी इमानदारी हमारी 1st की बात करें तो कोई इतना आंसू बहा रहा है और हमारे जनता के लिए जो काम कर रहे हो उसके लिए शर्म करना बहुत बुरा लगता है कि इस बात का हमें कभी भी नाम किसी का विरोध नहीं करना चाहिए विरोध का मतलब है हमें जो हमारे सही है हमें वही गणेश जी किसी की आस्था को चैटिंग करना चाहिए जैसे कि काफी उनकी वीडियो वगैरा अभी आ रहे हैं उन्होंने पंडितों के बारे में एक बार खुशी के बारे में कुछ का वास्ता के बारे में किसी की और किसी कास्ट के बारे में कहना वह बुरी बातें यह उनकी गलत बात है और वह हमारी सरकार के लिए नुकसानदायक करेंगे यह तो आने वाला शिवचरण हमारा सरकार डिसाइड करेगी वह हमारे लिए क्या करते हैं फिर भी मैं यही वह मजा तुम उनकी जो भी मांगे उनकी नहीं हमारी तो किसान भाइयों की मांगे उनको पूरा करना चाहिए जिससे कि वह सही है माही सजेस्ट धन्यवाद
Namaskaar jaisa kee aap ka kveshchan hai kya tikat saahab ke aansoo bhaarat aur sarakaar ke lie museebat banane vaala hai vaalie aisa kuchh bhee nahin hua vah galat hai sarakaar ke lie kaha jae to achchhe aur bure nahin the isalie ophis jaane ke pareshaan hote hote hain yah khoobasoorat hotee hai jo apojishan paartee khush hotee hai lojik kee baat karen aur ek sains kee baat karen ek samajhane kee baat karen to tikat doosare kamare mein hamaaree imaanadaaree hamaaree 1st kee baat karen to koee itana aansoo baha raha hai aur hamaare janata ke lie jo kaam kar rahe ho usake lie sharm karana bahut bura lagata hai ki is baat ka hamen kabhee bhee naam kisee ka virodh nahin karana chaahie virodh ka matalab hai hamen jo hamaare sahee hai hamen vahee ganesh jee kisee kee aastha ko chaiting karana chaahie jaise ki kaaphee unakee veediyo vagaira abhee aa rahe hain unhonne panditon ke baare mein ek baar khushee ke baare mein kuchh ka vaasta ke baare mein kisee kee aur kisee kaast ke baare mein kahana vah buree baaten yah unakee galat baat hai aur vah hamaaree sarakaar ke lie nukasaanadaayak karenge yah to aane vaala shivacharan hamaara sarakaar disaid karegee vah hamaare lie kya karate hain phir bhee main yahee vah maja tum unakee jo bhee maange unakee nahin hamaaree to kisaan bhaiyon kee maange unako poora karana chaahie jisase ki vah sahee hai maahee sajest dhanyavaad

bolkar speaker
क्या टिकेत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाली है?Kya Tiket Sahab Ke Aansu Bharat Sarkar Ke Lie Musibat Banne Vali Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:49
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है क्या टिकट साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाले हैं फ्रेंड से सब कुछ नहीं है टिकट में इंटरव्यू देते देते हैं उनकी आंखों से आंसू आ गए थे राकेश टिकैत राकेश टिकैत जी क्योंकि किसान आंदोलन चल रहा है जो उसके नेता हैं तो अभी इंटरव्यू दे रहे थे तो एक भावुक हो गए थे और बात करते-करते उनके आंसू आ गए थे इसमें सरकार की कोई भी मुसीबत नहीं बनने वाली है अभी एक किसान आंदोलन में बड़े नेता के रूप में एक नया चेहरा यह शरारती कैदी का सामने आया है तो वह लोग अपनी बात रख रहे हैं किसान आंदोलन कर रहे हैं और सरकार भी अपने तरफ से प्रयास कर रही है किसानों को मनाने का तुम्हें कोई भी मुसीबत बनने वाले नहीं है सिर्फ अपनी बात रख रहे हैं धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kya tikat saahab ke aansoo bhaarat sarakaar ke lie museebat banane vaale hain phrend se sab kuchh nahin hai tikat mein intaravyoo dete dete hain unakee aankhon se aansoo aa gae the raakesh tikait raakesh tikait jee kyonki kisaan aandolan chal raha hai jo usake neta hain to abhee intaravyoo de rahe the to ek bhaavuk ho gae the aur baat karate-karate unake aansoo aa gae the isamen sarakaar kee koee bhee museebat nahin banane vaalee hai abhee ek kisaan aandolan mein bade neta ke roop mein ek naya chehara yah sharaaratee kaidee ka saamane aaya hai to vah log apanee baat rakh rahe hain kisaan aandolan kar rahe hain aur sarakaar bhee apane taraph se prayaas kar rahee hai kisaanon ko manaane ka tumhen koee bhee museebat banane vaale nahin hai sirph apanee baat rakh rahe hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या टिकेत साहब के आंसू भारत सरकार के लिए मुसीबत बनने वाली है टिकेत साहब के आंसू
URL copied to clipboard