#भारत की राजनीति

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:00
का कुछ में एक्शन लेना चाहिए किंतु दुर्भाग्य इस बात का है कि यह सरकार इसमें एक्शन लेती नहीं है उसी का परिणाम है कि निर्दोष कि यह मूक प्राणी यह जो इंसान 32 रहित हैं ऐसे सीधे जानवरों का पद होता है ऐसी चीता हिरण सावर खरगोश किसी को कभी तंग नहीं करते हैं प्राकृतिक पर्यावरण को स्वच्छ रखने में सहायक होते हैं लेकिन सरकार की लापरवाही के कारण अधिकारी कर्मचारियों की मिलीभगत के कारण सब यह सब कुछ हो रहा है जो बहुत ही अनुचित हैं हमारे प्रकृति के चर्चा जीव हैं इनकी रक्षा करना किसान सम्मान करना भी हमारा नैतिक फर्ज है कि हम सब को कभी नुकसान नहीं पहुंचाते हुए आने नहीं पहुंचाते हैं अंश होते हैं
Ka kuchh mein ekshan lena chaahie kintu durbhaagy is baat ka hai ki yah sarakaar isamen ekshan letee nahin hai usee ka parinaam hai ki nirdosh ki yah mook praanee yah jo insaan 32 rahit hain aise seedhe jaanavaron ka pad hota hai aisee cheeta hiran saavar kharagosh kisee ko kabhee tang nahin karate hain praakrtik paryaavaran ko svachchh rakhane mein sahaayak hote hain lekin sarakaar kee laaparavaahee ke kaaran adhikaaree karmachaariyon kee mileebhagat ke kaaran sab yah sab kuchh ho raha hai jo bahut hee anuchit hain hamaare prakrti ke charcha jeev hain inakee raksha karana kisaan sammaan karana bhee hamaara naitik pharj hai ki ham sab ko kabhee nukasaan nahin pahunchaate hue aane nahin pahunchaate hain ansh hote hain

और जवाब सुनें

Vaishnavi Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Vaishnavi जी का जवाब
Student / Artist
1:54
नमस्कार आपका सवाल है कि कुछ मांस भक्षी लोगों ने आजकल जंगल में जाकर चिल्ड्रन सांभर आदि का शिकार करना शुरू कर दिया है ऐसे लोग अपने आप को क्या समझते हैं और हमारी बंद हमारे वन मंत्री इसके लिए क्या कर रहे हैं तो देखिए मेरा मानना यह है कि इसमें सारे ही मांस पक्षी लोग नहीं आते हैं हो सकता है कि कुछ लोग शिकार करने जाते हैं जहां तक मेरा मानना है तो मैं आपको बता दूं कि बिहार के आज भी बिहार में कई ऐसी जगह है जहां के लोग इतने पिछड़े हुए हैं और इतने गरीब हैं कि जब उनको भूख लगती है तुम को खाने के लिए कुछ नहीं मिलता तो ऐसी स्थिति में वह क्या करते हैं चूहे मार के खा लेते हैं तो हो सकता है कि आप जिन लोगों की बात कर रहे हैं वह इसी कैटेगरी में आते हो क्या वह इसी तरह के लोग विधाता का बात कर रहे हैं वन मंत्री की तो देखिए भारत सरकार ने 1972 में भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम पारित किया था और इसका जो मकसद था वह यह था कि वन्यजीवों के अवैध शिकार और खाल के व्यापार पर रोक लगाना था और 2003 में संशोधित भी किया गया था तब इसका नाम भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 2002 रख दिया गया था इसके तहत अगर आप किसी भी जीव को यानि जो 1 में रहते हैं चाहे वह चीतल हो हीरो साम्यवादी कुछ भी हो या कोई भी पक्षी हो अगर आप उसे मारते हैं तो आप को दंड भी होता है और जुर्माना भी लगाया जाता है धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kuchh maans bhakshee logon ne aajakal jangal mein jaakar childran saambhar aadi ka shikaar karana shuroo kar diya hai aise log apane aap ko kya samajhate hain aur hamaaree band hamaare van mantree isake lie kya kar rahe hain to dekhie mera maanana yah hai ki isamen saare hee maans pakshee log nahin aate hain ho sakata hai ki kuchh log shikaar karane jaate hain jahaan tak mera maanana hai to main aapako bata doon ki bihaar ke aaj bhee bihaar mein kaee aisee jagah hai jahaan ke log itane pichhade hue hain aur itane gareeb hain ki jab unako bhookh lagatee hai tum ko khaane ke lie kuchh nahin milata to aisee sthiti mein vah kya karate hain choohe maar ke kha lete hain to ho sakata hai ki aap jin logon kee baat kar rahe hain vah isee kaitegaree mein aate ho kya vah isee tarah ke log vidhaata ka baat kar rahe hain van mantree kee to dekhie bhaarat sarakaar ne 1972 mein bhaarateey vany jeev sanrakshan adhiniyam paarit kiya tha aur isaka jo makasad tha vah yah tha ki vanyajeevon ke avaidh shikaar aur khaal ke vyaapaar par rok lagaana tha aur 2003 mein sanshodhit bhee kiya gaya tha tab isaka naam bhaarateey vany jeev sanrakshan adhiniyam 2002 rakh diya gaya tha isake tahat agar aap kisee bhee jeev ko yaani jo 1 mein rahate hain chaahe vah cheetal ho heero saamyavaadee kuchh bhee ho ya koee bhee pakshee ho agar aap use maarate hain to aap ko dand bhee hota hai aur jurmaana bhee lagaaya jaata hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard