#जीवन शैली

bolkar speaker

आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?

Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:58
गुड इवनिंग सवाल यह है कि आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए देखिए सब के लिए एक आदर्श जीवन अलग अलग हो सकता है उस व्यक्ति की फितरत कैसी है वह किस तरह का व्यक्ति है और वह जीवन में क्या उसके लिए आदर्श हैं वह किस चीज को आदर्श ममता कोई खिलाड़ी कोई आदर्श मानता है कोई तेंदुलकर को आदर्श मानता है कोई माराडोना को आदर्श मानता है कोई रोनाल्डो को आदर्श मानता है तो कोई अमिताभ बच्चन को आदर्श मानता है कोई मोदी को आदर्श मानता है कोई विवेकानंद को आदर्श मानता है तो अलग-अलग सब के जीवन के आदर्श होते हैं और उसके अनुसार ही उसका लक्ष्य होना चाहिए मेरे ख्याल से आदर्श जीवन का लक्ष्य तो मानवता है मानव का मानव के प्रति प्रेम होना चाहिए एक दूसरे की मदद करने की भावना होनी चाहिए प्राणी मात्र के लिए दया और करुणा की भावना होनी चाहिए जब भी किसी को जरूरत हो तो उसे जरूरत में हमें अपना योगदान करने का लक्ष्य होना चाहिए कि हम कुछ ना कुछ योगदान जरूर कर सके जितना हो सके उतना कर सके यह मेरे लिए आदर्श जीवन होना होगा अगर मेरा कोई इलाज हो तो आदर्श जीवन का ही मेरा यह जीवन का लक्ष्य है कि मैं जो है बस लोगों की मदद कर सकूं जितना अधिक हो सके मुझसे लोगों का मदद हो सके किसी का मेरे से बुरा ना किसी व्यक्ति का अनजाने में भी बुरा जाता है और जब पता चलता है तो मुझे बड़ा दुख होता है तो ईश्वर ना करें मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूं कि वह हमेशा मुझे इतना सफल बना कर रखें कि मैं जरूर किसी न किसी के काम वाम किसी न किसी रूप में चाहे अंग दान देकर आ जाओ या रक्त दान देकर आ जाऊं या किसी को कुछ भी किसी को वस्त्र की आवश्यकता है तो मैं बस अब देख सकूं किसी को भोजन की आवश्यकता है तुम्हें भोजन दे सकूं किसी प्यासे को पानी की आवश्यकता है तुम्हें पानी पिला सकूं और पशु पक्षियों के प्रति भी दया की भावना रहनी चाहिए मेरे लिए यह मेरे ख्याल से मैं करता हूं फिर मैं जितना होता है उतना करता भी हूं तो यही मेरे लिए आदर्श जीवन का लक्ष थैंक यू
Gud ivaning savaal yah hai ki aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie dekhie sab ke lie ek aadarsh jeevan alag alag ho sakata hai us vyakti kee phitarat kaisee hai vah kis tarah ka vyakti hai aur vah jeevan mein kya usake lie aadarsh hain vah kis cheej ko aadarsh mamata koee khilaadee koee aadarsh maanata hai koee tendulakar ko aadarsh maanata hai koee maaraadona ko aadarsh maanata hai koee ronaaldo ko aadarsh maanata hai to koee amitaabh bachchan ko aadarsh maanata hai koee modee ko aadarsh maanata hai koee vivekaanand ko aadarsh maanata hai to alag-alag sab ke jeevan ke aadarsh hote hain aur usake anusaar hee usaka lakshy hona chaahie mere khyaal se aadarsh jeevan ka lakshy to maanavata hai maanav ka maanav ke prati prem hona chaahie ek doosare kee madad karane kee bhaavana honee chaahie praanee maatr ke lie daya aur karuna kee bhaavana honee chaahie jab bhee kisee ko jaroorat ho to use jaroorat mein hamen apana yogadaan karane ka lakshy hona chaahie ki ham kuchh na kuchh yogadaan jaroor kar sake jitana ho sake utana kar sake yah mere lie aadarsh jeevan hona hoga agar mera koee ilaaj ho to aadarsh jeevan ka hee mera yah jeevan ka lakshy hai ki main jo hai bas logon kee madad kar sakoon jitana adhik ho sake mujhase logon ka madad ho sake kisee ka mere se bura na kisee vyakti ka anajaane mein bhee bura jaata hai aur jab pata chalata hai to mujhe bada dukh hota hai to eeshvar na karen main eeshvar se yahee praarthana karata hoon ki vah hamesha mujhe itana saphal bana kar rakhen ki main jaroor kisee na kisee ke kaam vaam kisee na kisee roop mein chaahe ang daan dekar aa jao ya rakt daan dekar aa jaoon ya kisee ko kuchh bhee kisee ko vastr kee aavashyakata hai to main bas ab dekh sakoon kisee ko bhojan kee aavashyakata hai tumhen bhojan de sakoon kisee pyaase ko paanee kee aavashyakata hai tumhen paanee pila sakoon aur pashu pakshiyon ke prati bhee daya kee bhaavana rahanee chaahie mere lie yah mere khyaal se main karata hoon phir main jitana hota hai utana karata bhee hoon to yahee mere lie aadarsh jeevan ka laksh thaink yoo

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:27
आपका सवाल है कि आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए तो आदर्श जीवन का लक्ष्य कल्याण होता है और आदर्श जीवन में पालना और कर्तव्य के लिए दिया जाता है और अंत में जाना तो सभी को है इसके लिए जीवन में सम्मान और सम्मान के साथ दिया जाए धन्यवाद
Aapaka savaal hai ki aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie to aadarsh jeevan ka lakshy kalyaan hota hai aur aadarsh jeevan mein paalana aur kartavy ke lie diya jaata hai aur ant mein jaana to sabhee ko hai isake lie jeevan mein sammaan aur sammaan ke saath diya jae dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:01
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका पुलिस ने आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए तो फ्रेंड्स एक आदर्श जीवन का यह लक्ष्मणा चाहिए कि हम इज्जत सम्मान से अपनी रोजी रोटी कमा सकें और इस समाज में इज्जत से अपना जीवन यापन कर सकें और जो हमारे जीवन में कभी भी कोई बदनामी बेजती या अपमान ना हो हमारे जीवन का यह लक्षण है कि हमें अच्छे से अपनी पढ़ाई करनी चाहिए जो बच्चे होने पढ़ाई करनी चाहिए जो बड़े हैं उन्हें अपना काम धंधा व्यवसाय अपनी ईमानदारी से अलग से करना चाहिए और जो बड़े-बड़े उन्हें अपने बच्चों को आशीर्वाद देते रहना चाहिए और अच्छे कामों में उनकी मदद करनी चाहिए उनका मार्ग प्रशस्त करना चाहिए और घर में सबको मिलजुल कर अपने घर का काम करना चाहिए और मिलकर सहमति के साथ रहना चाहिए और जीवन में आगे बढ़ते हुए कुछ भगवान का भजन भी करना जरूरी होता है जीवन में बस जीवन का यह लक्ष्य की इज्जत से रोटी कमा कर खाना चाहिए
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka pulis ne aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie to phrends ek aadarsh jeevan ka yah lakshmana chaahie ki ham ijjat sammaan se apanee rojee rotee kama saken aur is samaaj mein ijjat se apana jeevan yaapan kar saken aur jo hamaare jeevan mein kabhee bhee koee badanaamee bejatee ya apamaan na ho hamaare jeevan ka yah lakshan hai ki hamen achchhe se apanee padhaee karanee chaahie jo bachche hone padhaee karanee chaahie jo bade hain unhen apana kaam dhandha vyavasaay apanee eemaanadaaree se alag se karana chaahie aur jo bade-bade unhen apane bachchon ko aasheervaad dete rahana chaahie aur achchhe kaamon mein unakee madad karanee chaahie unaka maarg prashast karana chaahie aur ghar mein sabako milajul kar apane ghar ka kaam karana chaahie aur milakar sahamati ke saath rahana chaahie aur jeevan mein aage badhate hue kuchh bhagavaan ka bhajan bhee karana jarooree hota hai jeevan mein bas jeevan ka yah lakshy kee ijjat se rotee kama kar khaana chaahie

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:24
क्या प्रोग्राम है आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए आंखें आदर्श जीवन का लक्ष्य कल्याण ही होना चाहिए अदर जीवन वह है जो आदर्शों के लिए मूल्यों आदर्शों के साथ ज्यादा जीवन का उद्देश्य अपने कर्तव्य का पालन करते हुए परमाणु के लिए जीना है जीवन का अंतिम लक्ष्य मोक्ष की प्राप्ति है
Kya prograam hai aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie aankhen aadarsh jeevan ka lakshy kalyaan hee hona chaahie adar jeevan vah hai jo aadarshon ke lie moolyon aadarshon ke saath jyaada jeevan ka uddeshy apane kartavy ka paalan karate hue paramaanu ke lie jeena hai jeevan ka antim lakshy moksh kee praapti hai

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
घनश्याम वन Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए घनश्याम जी का जवाब
मंदिर सेवा
0:48
आदर्श जीवन का लक्ष्य परमार्थ होना चाहिए आदर्श जीवन का लक्ष्य को पाना चाहिए आदर्श जीवन का लक्ष्य माता पिता गुरु के रूप में जीवन का लक्ष्य ऐसा कोई कार्य होना चाहिए जिसमें अपना भी तो समाज कभी तो उस देश का भी तो यही आदत ही उनका लक्ष्य है अगर जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि हम परमात्मा को परमात्मा का मूल रूप से जानकारी कॉमेडी
Aadarsh jeevan ka lakshy paramaarth hona chaahie aadarsh jeevan ka lakshy ko paana chaahie aadarsh jeevan ka lakshy maata pita guru ke roop mein jeevan ka lakshy aisa koee kaary hona chaahie jisamen apana bhee to samaaj kabhee to us desh ka bhee to yahee aadat hee unaka lakshy hai agar jeevan ka lakshy hona chaahie ki ham paramaatma ko paramaatma ka mool roop se jaanakaaree komedee

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:32

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
0:26
नमस्कार आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि आप जो भी काम करें किसी का गलत ना करे किसी की हानि ना करें और जितना हो सके दूसरों की मदद करें क्योंकि मरने के बाद आपके ना पैसे रहेंगे ना आप की प्रॉपर्टी रहेगी मरने के बाद आपके साथ आपके केवल कर्म रहेंगे तो अच्छे कर्म करना ही एक आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए
Namaskaar aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie ki aap jo bhee kaam karen kisee ka galat na kare kisee kee haani na karen aur jitana ho sake doosaron kee madad karen kyonki marane ke baad aapake na paise rahenge na aap kee propartee rahegee marane ke baad aapake saath aapake keval karm rahenge to achchhe karm karana hee ek aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:23
नमस्कार जैसा कि आपका क्वेश्चन है आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए अगर आपका इस ग्रुप में कोई भी स्टूडेंट है एक्सीडेंट की बात करते हैं तो वह यह सोचता कि मेरी गवर्नमेंट जॉब प्रिया एक मेरी अच्छी जॉब शॉप तो वहीं कुछ का लक्ष्य दर लक्ष्य बुक वही फोकस करता है ठीक है सोचता है कि अगर मैं हाउस वाइफ की बात तो नोटों को ही सोचते मुझे अपनी फैमिली को चढ़ा था आपके लक्ष्य आपकी गोल के कोडिंग अजीब होते हैं आप क्या सोचते हैं आपका नजरिया कैसा है यह सारी चीजें बहुत नाटक करती है आप किस परिस्थिति में किस कल्चर में रह रहे आपका इन्वायरमेंट कैसा है यह सारी चीज है इस पर डिपेंड बहुत करते हैं क्योंकि बात नहीं है होती है आदत लक्ष्य का मतलब यह है कि आप अपने जीवन में क्या चाहते हैं आप का फोकस कितना है जो मेन मंजू आदर्श लगते हैं स्टूडेंट हाउसवाइफ के अलग होते हैं एक सैलरीड बंद कर एंप्लोई वगैरह के लिए अलग होते हैं तो हर किसी के आदर्श अलग से टाइम के अकॉर्डिंग चेंज होते रहता है धन्यवाद
Namaskaar jaisa ki aapaka kveshchan hai aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie agar aapaka is grup mein koee bhee stoodent hai ekseedent kee baat karate hain to vah yah sochata ki meree gavarnament job priya ek meree achchhee job shop to vaheen kuchh ka lakshy dar lakshy buk vahee phokas karata hai theek hai sochata hai ki agar main haus vaiph kee baat to noton ko hee sochate mujhe apanee phaimilee ko chadha tha aapake lakshy aapakee gol ke koding ajeeb hote hain aap kya sochate hain aapaka najariya kaisa hai yah saaree cheejen bahut naatak karatee hai aap kis paristhiti mein kis kalchar mein rah rahe aapaka invaayarament kaisa hai yah saaree cheej hai is par dipend bahut karate hain kyonki baat nahin hai hotee hai aadat lakshy ka matalab yah hai ki aap apane jeevan mein kya chaahate hain aap ka phokas kitana hai jo men manjoo aadarsh lagate hain stoodent hausavaiph ke alag hote hain ek sailareed band kar emploee vagairah ke lie alag hote hain to har kisee ke aadarsh alag se taim ke akording chenj hote rahata hai dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:01
जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए आपका प्रश्न है कि देखिए आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि आप जिससे कार्य को कर रहे हैं उससे आप अपने मेहनत और लगन से और इस लगन से करें कि आप मुस्कान के अपने सफलता के मुकाम तक मैसेज करते हैं और जीवन में एक आदर्श जीवन के लिए हमें अपने लाइफ में अच्छे से अच्छे कार्य करना चाहिए जिसमें हमें लोगों की भी सम्मान में है और हमें लोग एक अच्छे सभी नागरिक मारे हम कह सकते हैं कि एक आदर्श जीवन का लक्ष होता है आप जिस लक्ष्य को पाना चाहते हैं उस लक्ष्य के प्रति ईमानदार बनकर के प्रति अपनी इच्छा के अनुरूप परीक्षण करें जिससे कि आप अपने मुकाम को जल्द से जल्द हासिल कर सकते हैं लाइट को स्ट्रगल लाइफ के रूप में डालें यह एक आदर्श जीवन होना चाहिए
Jeevan ka lakshy kya hona chaahie aapaka prashn hai ki dekhie aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie ki aap jisase kaary ko kar rahe hain usase aap apane mehanat aur lagan se aur is lagan se karen ki aap muskaan ke apane saphalata ke mukaam tak maisej karate hain aur jeevan mein ek aadarsh jeevan ke lie hamen apane laiph mein achchhe se achchhe kaary karana chaahie jisamen hamen logon kee bhee sammaan mein hai aur hamen log ek achchhe sabhee naagarik maare ham kah sakate hain ki ek aadarsh jeevan ka laksh hota hai aap jis lakshy ko paana chaahate hain us lakshy ke prati eemaanadaar banakar ke prati apanee ichchha ke anuroop pareekshan karen jisase ki aap apane mukaam ko jald se jald haasil kar sakate hain lait ko stragal laiph ke roop mein daalen yah ek aadarsh jeevan hona chaahie

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
🧖‍♀️life coach,Spiritual Advisor And Motivational speaker🙏
2:57
आदर जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए श्रीमान अब्दुल कलाम सर को आपने देखा भ्रम को उन्होंने कभी नहीं पकड़ा नाम क्या है घमंड अहंकार सभी चीजों में वह जमीन से ही जुड़े रहे उतना ही होने चाहिए जितना उन्हें आवश्यक है उन्होंने बहुत कुछ किया वह अपना जीवन जी रहे थे एक इंसान का मीन लक्ष्य होना चाहिए वह हर दिन ऐसे जियो जैसे कि कल ही हो अंत है ना जिंदगी जीना बहुत इंपॉर्टेंट होता है ऐसा नहीं है कि हम किसी को कुछ बुरा बोल रहे हैं बल्कि इस जिंदगी में हम अपने आप को कितना अच्छा बना रहे हैं कि हमारा मिलना चाहिए एक आदर्श जीवन यह नहीं होता कि बाहर की चीजों पर हम बहुत फोकस करें हम अंदर फोकस करेंगे तो बाहर की चीजें अपने आप क्लीन हो जाएगी क्योंकि कहते हैं ना कहते क्या यह रियालिटी आपके अंदर की दुनिया बाहर की दुनिया से फ्लर्ट करती है आपके अंदर की दुनिया ही बाहर आप को दिखेगी अंदर कितना अच्छा कर लीजिए आपकी बाहर की दुनिया आदर्श जीवन अपने आप ही दिखने लगे आप को अपना बेस्ट बनना है जिस दिन आप अपना बेस्ट बन गए उस दिन आपका जीवन भी बन गया ऐसा नहीं है पैसे बहुत कमा लेना ही जरूरी है नहीं पैसे होनी चाहिए पर उतने ही जितने जरूरी हैं इमोशनल होना चाहिए पर उतना ही जितना जरूरी है बात बात पर रोना बात आती किसी से अटैच हो ना यह सारी चीजें क्या होते हैं यह हमें भी करते हैं हम एक इंसान हैं बहुत सोच समझकर इस अर्थ में आए हैं बहुत कुछ सीखने आए हैं कि हर एक एनर्जी हर बॉडी में एक्सप्रेस ट्रेन आती है एक्सपीरियंस लेना जिंदगी कैसे जीते हैं अपने अंदर की सारी कमियों को क्लीन करना करना क्या है इन चीजों को समझना बहुत सारी ऐसी चीजें होती जो सूक्ष्म होती है जिसे समझना जरूरी होता है हम जो बोलते हैं वह भी करना होता है जो हम करते हैं वह भी करना हो तो जो हम सोचते हैं वह भी करना होता है और यह सारी चीजें हम हमें वापस भी मिलती है अगर अच्छे की है तो अच्छे तरीके से आप बुरे हैं तो बुरे तरीके से और हम सोचते हैं कि हमारे साथ बुरा क्यों होता है कारण यही है कि हमारे कुछ तो करना ही हमें रिप्लाई करता है हो सकता है 500 साल बर्बाद करें लेकिन हमारी 60 साल की हम तो चले परदेस बॉडी में गए हमें इतना याद रखना है कि हमारे 11 करना हमें भी व्यक्त कर रहा है और हमारे एक ही कर्मा किसी और को भी इफेक्ट करें मतलब कर्मावला क्या होता है कि सोसाइटी का भी लो काम करता हमारा खुद का भी काम करता है तो आदर्श जीवन जीना है तुम जिंदगी जीना सीखें धन्यवाद
Aadar jeevan ka lakshy kya hona chaahie shreemaan abdul kalaam sar ko aapane dekha bhram ko unhonne kabhee nahin pakada naam kya hai ghamand ahankaar sabhee cheejon mein vah jameen se hee jude rahe utana hee hone chaahie jitana unhen aavashyak hai unhonne bahut kuchh kiya vah apana jeevan jee rahe the ek insaan ka meen lakshy hona chaahie vah har din aise jiyo jaise ki kal hee ho ant hai na jindagee jeena bahut importent hota hai aisa nahin hai ki ham kisee ko kuchh bura bol rahe hain balki is jindagee mein ham apane aap ko kitana achchha bana rahe hain ki hamaara milana chaahie ek aadarsh jeevan yah nahin hota ki baahar kee cheejon par ham bahut phokas karen ham andar phokas karenge to baahar kee cheejen apane aap kleen ho jaegee kyonki kahate hain na kahate kya yah riyaalitee aapake andar kee duniya baahar kee duniya se phlart karatee hai aapake andar kee duniya hee baahar aap ko dikhegee andar kitana achchha kar leejie aapakee baahar kee duniya aadarsh jeevan apane aap hee dikhane lage aap ko apana best banana hai jis din aap apana best ban gae us din aapaka jeevan bhee ban gaya aisa nahin hai paise bahut kama lena hee jarooree hai nahin paise honee chaahie par utane hee jitane jarooree hain imoshanal hona chaahie par utana hee jitana jarooree hai baat baat par rona baat aatee kisee se ataich ho na yah saaree cheejen kya hote hain yah hamen bhee karate hain ham ek insaan hain bahut soch samajhakar is arth mein aae hain bahut kuchh seekhane aae hain ki har ek enarjee har bodee mein eksapres tren aatee hai eksapeeriyans lena jindagee kaise jeete hain apane andar kee saaree kamiyon ko kleen karana karana kya hai in cheejon ko samajhana bahut saaree aisee cheejen hotee jo sookshm hotee hai jise samajhana jarooree hota hai ham jo bolate hain vah bhee karana hota hai jo ham karate hain vah bhee karana ho to jo ham sochate hain vah bhee karana hota hai aur yah saaree cheejen ham hamen vaapas bhee milatee hai agar achchhe kee hai to achchhe tareeke se aap bure hain to bure tareeke se aur ham sochate hain ki hamaare saath bura kyon hota hai kaaran yahee hai ki hamaare kuchh to karana hee hamen riplaee karata hai ho sakata hai 500 saal barbaad karen lekin hamaaree 60 saal kee ham to chale parades bodee mein gae hamen itana yaad rakhana hai ki hamaare 11 karana hamen bhee vyakt kar raha hai aur hamaare ek hee karma kisee aur ko bhee iphekt karen matalab karmaavala kya hota hai ki sosaitee ka bhee lo kaam karata hamaara khud ka bhee kaam karata hai to aadarsh jeevan jeena hai tum jindagee jeena seekhen dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
3:20
सवाल ये है कि आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए आदर्श जीवन एक सब शांत स्वभाव होता है और जब सारी बातों के प्रतिकूल होती है या सभी निर्णय उसके विपक्ष में होते हैं तब क्रोधित नहीं होता मैं उत्साहित होता है जो मैं जो भी कुछ करता है उसे अपनी योग्यता के अनुसार उत्तम से उत्तम रूप में करता है सफलता का भाई उसे नहीं पता था अब है सत्य निष्ठा होता है सत्य बोलने में वह कभी भी नहीं करता उदारता वर्ष कटवा प्रिय सत्य भी नहीं कहता वेदरसील होता है वह अपने सत्कर्म में ढूंढता है अपने सब कर्मों का फल देखने के लिए भरे उसे लंबे समय तक की प्रतीक्षा करनी पड़े फिर भी वह धैर्य नहीं छोड़ता और उत्साहित नहीं होता अपने कर्म में डटा रहता है वह सहनशील होता है सहन करे वह संत इस कहावत के अनुसार वह सभी दुखों को सहन करता है परंतु कभी इस विषय में शिकायत नहीं करता ऐसा ही होता है अपने कार्य में कभी लापरवाही नहीं करता है इस कारण उसको का वह कार्य लंबे समय तक ही जारी करना पड़े तो वह पीछे नहीं हटता समुचित होता है वह सफलता और विफलता दोनों अवस्थाओं में समानता बनाए रखता है वह साहसी होता है सन्मार्ग में चलने में लोक कल्याण के कार्य करने में धर्म के अनुसार व पालन करने में माता पिता और गुरुजनों की सेवा करने में और आज्ञा मानने में कितनी विविध में बाधाएं क्यों ना आए जाए जरा सा भी हताश नहीं होता बल्कि जनता और साहस से आगे बढ़ता है आनंद होता है अनुकूल प्रतिकूल परिस्थितियों में भी प्रसन्न रहता है ना ही होता है मैं अपनी शारीरिक मानसिक स्थिरता एवं किसी प्रकार की उत्कृष्ट सफलता पर कभी गर्व नहीं करता और ना ही दूसरों को अपनी ही नहीं आ तो समझता है विद्या ददाति विनयम स्वाध्याय होता है हमसे वास्ता चार एवं ज्ञान प्रदान करने वाले उत्कृष्ट सद ग्रंथों तथा अपनी का की पाठ्य पुस्तकों का अध्ययन करने में ही रुचि रखता है और उसी में अपना उचित समय लगाता है ना कि व्यर्थ की पुस्तकों में जो कि इन सद्गुणों को हीन करने वाले हैं उधार होता है मैं दूसरों के गुण की प्रशंसा करता है गुणों को सफलता प्राप्त करने में यथाशक्ति सहायता देने के लिए बराबर तत्पर रहता है तथा उनकी सफलता में खुशियां मानता है न दूसरों की कमियों को नजरअंदाज करता है वही होता है वह मधुमक्खियों की टंकी वाला होता है जैसे मधुमक्खी विभिन्न प्रकार के फूलों के रस को लेकर अमृत्तुल्य शहद का निर्माण करती है वैसे ही आदर्श बालक श्रेष्ठ पुरुषों विशिष्ट गंज ग्रंथ हो हम अच्छे मित्र से उनके अच्छे गुणों का चुरा लेता है और उनके दोस्तों को छोड़ देता है ईमानदार और आज्ञाकारी होता है वह जानता है कि ईमानदारी सर्वोत्तम नीति है माता पिता और गुरु के स्वयंबर कल्याणकारी उपदेशों को वह मानता है वह जानता है कि अपनों को के आगे का पालन से आशीर्वाद मिलता है और आशीर्वाद से जीवन को बल मिलता है ध्यान रहे दूसरों के आवश्यक आवेश का आशीर्वाद और शुभकामनाएं सर सदैव हमारे साथ रहते हैं वह सच्चा मित्र होता है विश्वसनीय स्वार्थ रहित प्रेम देने वाला अपने मित्रों को सही रास्ता दिखाने वाला तथा मुश्किलों में भी मित्रों का पूरा साथ देने वाला होता है
Savaal ye hai ki aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie aadarsh jeevan ek sab shaant svabhaav hota hai aur jab saaree baaton ke pratikool hotee hai ya sabhee nirnay usake vipaksh mein hote hain tab krodhit nahin hota main utsaahit hota hai jo main jo bhee kuchh karata hai use apanee yogyata ke anusaar uttam se uttam roop mein karata hai saphalata ka bhaee use nahin pata tha ab hai saty nishtha hota hai saty bolane mein vah kabhee bhee nahin karata udaarata varsh katava priy saty bhee nahin kahata vedaraseel hota hai vah apane satkarm mein dhoondhata hai apane sab karmon ka phal dekhane ke lie bhare use lambe samay tak kee prateeksha karanee pade phir bhee vah dhairy nahin chhodata aur utsaahit nahin hota apane karm mein data rahata hai vah sahanasheel hota hai sahan kare vah sant is kahaavat ke anusaar vah sabhee dukhon ko sahan karata hai parantu kabhee is vishay mein shikaayat nahin karata aisa hee hota hai apane kaary mein kabhee laaparavaahee nahin karata hai is kaaran usako ka vah kaary lambe samay tak hee jaaree karana pade to vah peechhe nahin hatata samuchit hota hai vah saphalata aur viphalata donon avasthaon mein samaanata banae rakhata hai vah saahasee hota hai sanmaarg mein chalane mein lok kalyaan ke kaary karane mein dharm ke anusaar va paalan karane mein maata pita aur gurujanon kee seva karane mein aur aagya maanane mein kitanee vividh mein baadhaen kyon na aae jae jara sa bhee hataash nahin hota balki janata aur saahas se aage badhata hai aanand hota hai anukool pratikool paristhitiyon mein bhee prasann rahata hai na hee hota hai main apanee shaareerik maanasik sthirata evan kisee prakaar kee utkrsht saphalata par kabhee garv nahin karata aur na hee doosaron ko apanee hee nahin aa to samajhata hai vidya dadaati vinayam svaadhyaay hota hai hamase vaasta chaar evan gyaan pradaan karane vaale utkrsht sad granthon tatha apanee ka kee paathy pustakon ka adhyayan karane mein hee ruchi rakhata hai aur usee mein apana uchit samay lagaata hai na ki vyarth kee pustakon mein jo ki in sadgunon ko heen karane vaale hain udhaar hota hai main doosaron ke gun kee prashansa karata hai gunon ko saphalata praapt karane mein yathaashakti sahaayata dene ke lie baraabar tatpar rahata hai tatha unakee saphalata mein khushiyaan maanata hai na doosaron kee kamiyon ko najarandaaj karata hai vahee hota hai vah madhumakkhiyon kee tankee vaala hota hai jaise madhumakkhee vibhinn prakaar ke phoolon ke ras ko lekar amrttuly shahad ka nirmaan karatee hai vaise hee aadarsh baalak shreshth purushon vishisht ganj granth ho ham achchhe mitr se unake achchhe gunon ka chura leta hai aur unake doston ko chhod deta hai eemaanadaar aur aagyaakaaree hota hai vah jaanata hai ki eemaanadaaree sarvottam neeti hai maata pita aur guru ke svayambar kalyaanakaaree upadeshon ko vah maanata hai vah jaanata hai ki apanon ko ke aage ka paalan se aasheervaad milata hai aur aasheervaad se jeevan ko bal milata hai dhyaan rahe doosaron ke aavashyak aavesh ka aasheervaad aur shubhakaamanaen sar sadaiv hamaare saath rahate hain vah sachcha mitr hota hai vishvasaneey svaarth rahit prem dene vaala apane mitron ko sahee raasta dikhaane vaala tatha mushkilon mein bhee mitron ka poora saath dene vaala hota hai

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Chetan Chandrawanshi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Chetan जी का जवाब
Finding a part time job
0:41
नमस्कार आपका सवाल है कि आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए इस विषय पर मैं केवल इतना कहना चाहूंगा कि अगर आप एक आदर्श जीवन जीना चाहते हैं तो बस जहां से भी मिले खुशियां बांटते रहिए और हो सके तो दूसरों को भी खुशियां दीजिए बस जीवन में खुशियां भी रह जाती है मतलब तो खुश रहिए और दूसरों को खुश नहीं धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie is vishay par main keval itana kahana chaahoonga ki agar aap ek aadarsh jeevan jeena chaahate hain to bas jahaan se bhee mile khushiyaan baantate rahie aur ho sake to doosaron ko bhee khushiyaan deejie bas jeevan mein khushiyaan bhee rah jaatee hai matalab to khush rahie aur doosaron ko khush nahin dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए पहले यह बात मुश्किल नहीं थी इस प्रश्न का उत्तर मुश्किल था लेकिन आज इस प्रश्न का उत्तर भी मुश्किल बात बन गया है कि समाज के जीवन जीने के मूल्य बदलते कोई भी चीज शाश्वत नहीं है परिवर्तन है नहीं है तो मुरली बदलते हैं सामाजिक जीवन में हर तरह के जीवन में सबसे घटिया मुरली स्थापित होने लोकेशन 20 साल पहले भी मुल्ले इतने गिरे हुए नहीं थे आदर्शवाद का एक पहलू भी होता है यह लोग जानते थे कुछ लोग उस पर चलते थे घमंड सम्मान होता था लेकिन इसके बाद क्या-क्या है आज यादव से जो 29 को कहा जाता है उनकी शिक्षा और ज्यादा कमाई की नौकरी या शिक्षा नहीं है तो किसी भी नंबर से एक नंबर से हो या दो नंबर से अच्छे नंबर से कमल की कितनी भी संपत्ति हो वह अगर किसी के पास है तो वह आदर्श है और वह सम्मान योग्य है यह भी अच्छा आदर्श जीवन की है लोगों के बर्तन में भरने तो यह बात दिखाई देती है स्वागत करने वाला आदर्श होता है या क्या करने वाला दूसरों की सेवा करने वाला आदर्श होता है इसकी क्या व्याख्या आज के समाज की हत्या करने वाले को लोग पागल समझती है सर्च करके पैसा संपत्ति कब आने वाले के तलवे चाटते हैं लोग निश्चित करते हैं आदर्श जीवन की समकालीन में क्या क्या होती है एक समय ऐसा था कि चार आश्रम ब्रह्मचारी आश्रम सेवन प्रशासन पूरी करने के बाद एक आदर्श जीवन को जगाया ऐसा समझा जाता था उसमें एक बात एक बात तो है ब्रम्हचर्य का भी नाम एक भाग पूरे संसार की चीजों का त्याग करके वानप्रस्थाश्रम कभी जाकर रहने का सांसारिक महोत्सव जाने का व्यवस्था को रिटायरमेंट के बाद भी शेयर बाजार में क्या मछली और मार्केट में कुछ लालची बुढ़िया इधर-उधर करते हुए दिखाई देते स्पेशल 26 लेकिन मैं मानता हूं कि पैसा लगता नहीं होना चाहिए अगर हो जाता है तो आदर्श जीवन का लक्ष्य लक्ष्य नहीं हो सकता क्यों क्या दर्शन झूठ के लक्षण यह है कि वह जाने के बाद व्यक्ति को शांति समाधान आनंद सुख वैराग्य प्रेम ऐसी भावनाओं का विकास होना चाहिए
Aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie pahale yah baat mushkil nahin thee is prashn ka uttar mushkil tha lekin aaj is prashn ka uttar bhee mushkil baat ban gaya hai ki samaaj ke jeevan jeene ke mooly badalate koee bhee cheej shaashvat nahin hai parivartan hai nahin hai to muralee badalate hain saamaajik jeevan mein har tarah ke jeevan mein sabase ghatiya muralee sthaapit hone lokeshan 20 saal pahale bhee mulle itane gire hue nahin the aadarshavaad ka ek pahaloo bhee hota hai yah log jaanate the kuchh log us par chalate the ghamand sammaan hota tha lekin isake baad kya-kya hai aaj yaadav se jo 29 ko kaha jaata hai unakee shiksha aur jyaada kamaee kee naukaree ya shiksha nahin hai to kisee bhee nambar se ek nambar se ho ya do nambar se achchhe nambar se kamal kee kitanee bhee sampatti ho vah agar kisee ke paas hai to vah aadarsh hai aur vah sammaan yogy hai yah bhee achchha aadarsh jeevan kee hai logon ke bartan mein bharane to yah baat dikhaee detee hai svaagat karane vaala aadarsh hota hai ya kya karane vaala doosaron kee seva karane vaala aadarsh hota hai isakee kya vyaakhya aaj ke samaaj kee hatya karane vaale ko log paagal samajhatee hai sarch karake paisa sampatti kab aane vaale ke talave chaatate hain log nishchit karate hain aadarsh jeevan kee samakaaleen mein kya kya hotee hai ek samay aisa tha ki chaar aashram brahmachaaree aashram sevan prashaasan pooree karane ke baad ek aadarsh jeevan ko jagaaya aisa samajha jaata tha usamen ek baat ek baat to hai bramhachary ka bhee naam ek bhaag poore sansaar kee cheejon ka tyaag karake vaanaprasthaashram kabhee jaakar rahane ka saansaarik mahotsav jaane ka vyavastha ko ritaayarament ke baad bhee sheyar baajaar mein kya machhalee aur maarket mein kuchh laalachee budhiya idhar-udhar karate hue dikhaee dete speshal 26 lekin main maanata hoon ki paisa lagata nahin hona chaahie agar ho jaata hai to aadarsh jeevan ka lakshy lakshy nahin ho sakata kyon kya darshan jhooth ke lakshan yah hai ki vah jaane ke baad vyakti ko shaanti samaadhaan aanand sukh vairaagy prem aisee bhaavanaon ka vikaas hona chaahie

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:14
चारा काटने आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए तो आपको बताना चाहेंगे आदर्श जीवन का लक्ष्य भाषा का जमाना चाहिए वह सादा जीवन उच्च विचार पर आधारित होना चाहिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Chaara kaatane aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie to aapako bataana chaahenge aadarsh jeevan ka lakshy bhaasha ka jamaana chaahie vah saada jeevan uchch vichaar par aadhaarit hona chaahie main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:40
आपका सवाल है आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए 100 साथियों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से आदर्श जीवन का हमारा लक्ष्य कल्याणकारी होना चाहिए जो आदर्श जीवन वह होता है जो आदर्श के लिए मूल्य आदर्शों के साथ दिया जाए जीवन का उद्देश्य अपनी कृतियों का पालन करते हुए परमार्थ के लिए जीना जीवन का अंतिम लक्ष्य मोक्ष की प्राप्ति होना जरूरी है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Aapaka savaal hai aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie 100 saathiyon aapake savaal ka uttar is prakaar se aadarsh jeevan ka hamaara lakshy kalyaanakaaree hona chaahie jo aadarsh jeevan vah hota hai jo aadarsh ke lie mooly aadarshon ke saath diya jae jeevan ka uddeshy apanee krtiyon ka paalan karate hue paramaarth ke lie jeena jeevan ka antim lakshy moksh kee praapti hona jarooree hai dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
3:03
नमस्कार दोस्तों का प्रेशर आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए दोस्तों आदर्श जीवन से आपका मतलब है कि ऐसा जीवन देना जिससे कि दूसरों को भी सीख मिले और दूसरों को आगे बढ़ने का आपके द्वारा निर्देशन प्राप्त हो आपके द्वारा गया आपके द्वारा बताया गया मार्ग ऐसा हो कि जिससे लोग उनसे गुजरे और उनका रोशन करें ताकि उनके जीवन में भी रंग बताएं संती आए तो जो आदर्श जीवन है यानी कि सबसे अच्छा जीवन है उनका लक्ष्य ही होना चाहिए दूसरों की बुराई करी भावना को हित की भावना होनी चाहिए आजकल सभी जीते हैं अपना जीवन यापन करते हैं कहीं अधिक पता नहीं मिलता है कि मैं अपने स्वार्थ के लिए जीते हैं बल्कि दूसरों के लिए भलाई के लिए उनका कोई लेना देना नहीं होता है पूरे बाजार में जब हम गई इसके उदाहरण देखने को निकलते हैं तो मैं यही देखने को मिलता है कि सब लोग अपनी दो पैसों की कमाई के लिए और जो दूसरे लोग हैं ग्राहक है तो उसके साथ कैसा व्यवहार करते हैं और किस प्रकार की चीजें जोड़ी नहीं देनी चाहिए थी वह दे देते हैं और और पड़ोस में भी यह सब होता है आगे बढ़ने की भावना जलन इच्छा होने लगा तो छोटी मोटी कमियां है दूर होनी चाहिए और यही लक्ष्य होना चाहिए कि इससे भी कुछ भी किसी भी समय कहीं पर भी हमें अपने स्वार्थ भावना त्याग करके और दूसरों की भलाई के लिए अच्छे कर्म करते हुए और हमें आदर्श जीवन जीना चाहिए ताकि दूसरों को भी अच्छी प्रेरणा मिले तो उनके लिए तो सभी जीते हैं क्योंकि हमें जबलपुर चीजें हैं बताइए इसलिए कुछ काम है वह तो करना ही पड़ता है लेकिन इससे ज्यादा तो हम कई बार स्वार्थ भावना कर लेते हैं अपने हक के लिए जीते हैं अपने अपनों के लिए तो जीना शुरु कर देते और दूसरों को नजरअंदाज कर देते हैं क्योंकि हमारी कभी भी काम नहीं आ सकते तो दोस्तों इस दुनिया में जो भी चीजें हैं जो भी दीप सजीव निर्जीव वस्तुएं कभी भी हमारे काम आ सकती है किसी भी काम आ सकती है तो मैं सभी से पता करें तो ऐसा ही करें जैसा कि हम किसी दूसरों से अपने प्रति चाहते हैं तो हमारे आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए भलाई और निस्वार्थ प्रेम भाव धन्यवाद
Namaskaar doston ka preshar aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie doston aadarsh jeevan se aapaka matalab hai ki aisa jeevan dena jisase ki doosaron ko bhee seekh mile aur doosaron ko aage badhane ka aapake dvaara nirdeshan praapt ho aapake dvaara gaya aapake dvaara bataaya gaya maarg aisa ho ki jisase log unase gujare aur unaka roshan karen taaki unake jeevan mein bhee rang bataen santee aae to jo aadarsh jeevan hai yaanee ki sabase achchha jeevan hai unaka lakshy hee hona chaahie doosaron kee buraee karee bhaavana ko hit kee bhaavana honee chaahie aajakal sabhee jeete hain apana jeevan yaapan karate hain kaheen adhik pata nahin milata hai ki main apane svaarth ke lie jeete hain balki doosaron ke lie bhalaee ke lie unaka koee lena dena nahin hota hai poore baajaar mein jab ham gaee isake udaaharan dekhane ko nikalate hain to main yahee dekhane ko milata hai ki sab log apanee do paison kee kamaee ke lie aur jo doosare log hain graahak hai to usake saath kaisa vyavahaar karate hain aur kis prakaar kee cheejen jodee nahin denee chaahie thee vah de dete hain aur aur pados mein bhee yah sab hota hai aage badhane kee bhaavana jalan ichchha hone laga to chhotee motee kamiyaan hai door honee chaahie aur yahee lakshy hona chaahie ki isase bhee kuchh bhee kisee bhee samay kaheen par bhee hamen apane svaarth bhaavana tyaag karake aur doosaron kee bhalaee ke lie achchhe karm karate hue aur hamen aadarsh jeevan jeena chaahie taaki doosaron ko bhee achchhee prerana mile to unake lie to sabhee jeete hain kyonki hamen jabalapur cheejen hain bataie isalie kuchh kaam hai vah to karana hee padata hai lekin isase jyaada to ham kaee baar svaarth bhaavana kar lete hain apane hak ke lie jeete hain apane apanon ke lie to jeena shuru kar dete aur doosaron ko najarandaaj kar dete hain kyonki hamaaree kabhee bhee kaam nahin aa sakate to doston is duniya mein jo bhee cheejen hain jo bhee deep sajeev nirjeev vastuen kabhee bhee hamaare kaam aa sakatee hai kisee bhee kaam aa sakatee hai to main sabhee se pata karen to aisa hee karen jaisa ki ham kisee doosaron se apane prati chaahate hain to hamaare aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie bhalaee aur nisvaarth prem bhaav dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:17
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए 200 लाइक कीजिएगा सफेद कीजिएगा आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि मैं सबसे पहले मेरा माइंड फोन मेरी बॉडी हेल्दी रहे क्योंकि इसी के साथ हमें जीना है या नहीं है तो आप जीवन ही नहीं हो सकता माइंड और बॉडी हेल्दी रहेगी आपकी उसके बाद आपका प्रोफेशनल क्योंकि यहां पर आए हो आप आपका प्रोफेशनल करियर और आपका जो एजुकेशनल कैरियर है यह अच्छा होना चाहिए क्योंकि यही चीजों से हम इंफॉर्मेशन ले तेरे से कुछ चीजें बनती है आप आसपास दूर-दूर तक कहीं पर भी देखिए किसी भी चीज बनी होगी आपके आसपास में यह टेलीफोन बना हुआ है यह इंटरनेट बना हुआ है जो भी चीज बनी हुई है यह इंसानों की बनाई हुई है और उसको बनाने के लिए उन्होंने सीखी है चीजें और कैरियर बनाया हुआ है प्रोफेशन बने हुए पैसे बहुत सारी चीजें यह होना चाहिए और इन्हीं चीजों का लोग इस्तेमाल करते हमने किसी चीज को इसको बनाने से उससे पैसे बनते हैं तो आपके पास इतना पैसा होना चाहिए इंसान एक सोशल इन सोशल एनिमल है उसके वजह से उसके पास उसके घर के रिलेशन उसके वाइफ बेटे ने अपने दोस्तों के रिलेशन रिलेशनशिप बहुत अच्छी होनी चाहिए जो कि आपको कंसिस्टेंटली इंसेंटिवाइज करती है और यह सच के अलावा इंसान एडवेंचरस भी है साथ में लाइफ में एडवेंचर बिल्कुल करनी चाहिए नई दुनिया को देख बिल्कुल देखना चाहिए नहीं जगह घूमना चाहिए नए लोगों से मिलना चाहिए नए नए एडवेंचर्स करने चाहिए स्कूबा डाइविंग करनी चाहिए गाय टाइपिंग करनी चाहिए क्योंकि यह चीज एक्जिस्ट करती है जो कि इंसान कर रहा है कुछ दिनों में मेरे ख्याल से यह नासा का टूरिज्म भी शुरू हो जाएगा चांद के ऊपर यह करनी चाहिए क्योंकि आपके लाइफ को एक अलग पर एक तू देती है तो यह आदर्श और यह सब करते समय अगर हमें सही रास्ते पर चलना है तो सही रास्ता दिखाएगा कौन है कच्छा गुरु अच्छा मेंटोस या फिर अच्छी किताबें यह सब चीजे हमारे जीवन में होनी चाहिए अगर आप इसको मेरे इस जवाब को आप दो-चार बार पढ़ोगे तो उसी को सुनोगे तो आप कुछ चीजें नोट डाउन कर पाओगे वही कॉमेंट्स इसे अब कहीं पर भी पढ़ लो यही कॉमर्स आपको मिलेगी आदर्श जीवन को बनाने के लिए
Aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie 200 laik keejiega saphed keejiega aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie ki main sabase pahale mera maind phon meree bodee heldee rahe kyonki isee ke saath hamen jeena hai ya nahin hai to aap jeevan hee nahin ho sakata maind aur bodee heldee rahegee aapakee usake baad aapaka propheshanal kyonki yahaan par aae ho aap aapaka propheshanal kariyar aur aapaka jo ejukeshanal kairiyar hai yah achchha hona chaahie kyonki yahee cheejon se ham imphormeshan le tere se kuchh cheejen banatee hai aap aasapaas door-door tak kaheen par bhee dekhie kisee bhee cheej banee hogee aapake aasapaas mein yah teleephon bana hua hai yah intaranet bana hua hai jo bhee cheej banee huee hai yah insaanon kee banaee huee hai aur usako banaane ke lie unhonne seekhee hai cheejen aur kairiyar banaaya hua hai propheshan bane hue paise bahut saaree cheejen yah hona chaahie aur inheen cheejon ka log istemaal karate hamane kisee cheej ko isako banaane se usase paise banate hain to aapake paas itana paisa hona chaahie insaan ek soshal in soshal enimal hai usake vajah se usake paas usake ghar ke rileshan usake vaiph bete ne apane doston ke rileshan rileshanaship bahut achchhee honee chaahie jo ki aapako kansistentalee insentivaij karatee hai aur yah sach ke alaava insaan edavencharas bhee hai saath mein laiph mein edavenchar bilkul karanee chaahie naee duniya ko dekh bilkul dekhana chaahie nahin jagah ghoomana chaahie nae logon se milana chaahie nae nae edavenchars karane chaahie skooba daiving karanee chaahie gaay taiping karanee chaahie kyonki yah cheej ekjist karatee hai jo ki insaan kar raha hai kuchh dinon mein mere khyaal se yah naasa ka toorijm bhee shuroo ho jaega chaand ke oopar yah karanee chaahie kyonki aapake laiph ko ek alag par ek too detee hai to yah aadarsh aur yah sab karate samay agar hamen sahee raaste par chalana hai to sahee raasta dikhaega kaun hai kachchha guru achchha mentos ya phir achchhee kitaaben yah sab cheeje hamaare jeevan mein honee chaahie agar aap isako mere is javaab ko aap do-chaar baar padhoge to usee ko sunoge to aap kuchh cheejen not daun kar paoge vahee koments ise ab kaheen par bhee padh lo yahee komars aapako milegee aadarsh jeevan ko banaane ke lie

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
Abhishek Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abhishek जी का जवाब
Student
1:10
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए मेरे अनुसार किसी व्यक्ति के जीवन में जो चीजें यहां कोई भी घटना है उसको जो सता रही है उससे छुटकारा पा लेना ही उसका लक्ष्य होता है जब बहुत गहरा दुख होता है उस पर कहते हैं कि कभी नहीं जान दिलाओ तो उसे आगे की बात मत करो कि क्या दुख है दुख तो मैं सताता है उसके जीवन का लक्ष्य है और कोई इलाज नहीं है जीवन का दुखों से मुक्त हो जाओ तो जीवन का लक्ष्य प्राप्त हो जाएगा उसके बाद किसी और एलेक्स की बात करने की जरूरत ही नहीं बल्कि तुम लक्सीन बनना चाहते हो कसारा से यह जीवन का अंतिम लक्ष्य लक्ष्य हीनता को प्राप्त करना मैंने भी तुम्हारा कोई लक्की आगे ना हो तुम अपने जीवन में सब कुछ प्राप्त कर लो तुम्हारा कोई लक्ष्य ना हो धन्यवाद
Aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie mere anusaar kisee vyakti ke jeevan mein jo cheejen yahaan koee bhee ghatana hai usako jo sata rahee hai usase chhutakaara pa lena hee usaka lakshy hota hai jab bahut gahara dukh hota hai us par kahate hain ki kabhee nahin jaan dilao to use aage kee baat mat karo ki kya dukh hai dukh to main sataata hai usake jeevan ka lakshy hai aur koee ilaaj nahin hai jeevan ka dukhon se mukt ho jao to jeevan ka lakshy praapt ho jaega usake baad kisee aur eleks kee baat karane kee jaroorat hee nahin balki tum lakseen banana chaahate ho kasaara se yah jeevan ka antim lakshy lakshy heenata ko praapt karana mainne bhee tumhaara koee lakkee aage na ho tum apane jeevan mein sab kuchh praapt kar lo tumhaara koee lakshy na ho dhanyavaad

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
1:16
पूछा क्या आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए कि आदर्श जीवन का लक्ष्य मैं आपको बताऊं तो दूसरे के हाथ में अगर खुशी के आंसू हो तो आपकी वजह से लिखिए आदर्श जीवन वही हो सकता है जिसमें संतुलन हो अर्थात हमें ना अधिक उपभोक्तावादी बनना चाहिए और ना ही अधिक धार्मिक ही उन्होंने की चाहिए तो आदर्श जीवन देखी मेरी नजर में वह है जिसमें मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो जाऊं तो मुझे करना है वह मैं करता हूं कसम से देखिए आत्मा को संतुष्टि तभी मिलेगी कि जो मैंने सपना देखा है अपने लिए वह पूरा करो नहीं तो दिखे मरने के बाद भी आत्मा भटकती रहेगी कि अपने जीवन एक आदर्श जीवन नहीं बना पाया मेरी नजरों में दिखी भले ही दूसरों की नजरों में मैं एक आधा जीवन की जी रहा हूं मैं यह मेरी दिखे व्यक्तिगत सोचे आप सभी को दिखा दे जीवन का नजरिया दिखे अलग हो सकता है सबके देखिए नजरिया अलग ही होते हैं कहने का मतलब मेरा यही कि आदर्श जीवन का लक्ष्य के सबका अलग होता है मनीष के अंतिम पड़ाव एक ही महादेव जय हिंद जय भारत
Poochha kya aadarsh jeevan ka lakshy kya hona chaahie ki aadarsh jeevan ka lakshy main aapako bataoon to doosare ke haath mein agar khushee ke aansoo ho to aapakee vajah se likhie aadarsh jeevan vahee ho sakata hai jisamen santulan ho arthaat hamen na adhik upabhoktaavaadee banana chaahie aur na hee adhik dhaarmik hee unhonne kee chaahie to aadarsh jeevan dekhee meree najar mein vah hai jisamen main pooree tarah se santusht ho jaoon to mujhe karana hai vah main karata hoon kasam se dekhie aatma ko santushti tabhee milegee ki jo mainne sapana dekha hai apane lie vah poora karo nahin to dikhe marane ke baad bhee aatma bhatakatee rahegee ki apane jeevan ek aadarsh jeevan nahin bana paaya meree najaron mein dikhee bhale hee doosaron kee najaron mein main ek aadha jeevan kee jee raha hoon main yah meree dikhe vyaktigat soche aap sabhee ko dikha de jeevan ka najariya dikhe alag ho sakata hai sabake dekhie najariya alag hee hote hain kahane ka matalab mera yahee ki aadarsh jeevan ka lakshy ke sabaka alag hota hai maneesh ke antim padaav ek hee mahaadev jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:20
ख्वाजा का सवाल है कि आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए एक आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि एक चीज बहुत ही समय पर अधिकारी और बहुत ही एक कायदे कानून के साथ हूं करें मुझे कुछ काम दिया करो मेरे अंदर कोई भी टाइम को लेकर किसी भी चीज को लेकर कुछ भी क्वालिटी नहीं है मैं कभी भी कोई भी काम कर रही हूं और अगर मैं सही से कोई भी काम कर रही हूं तो मेरा जो लक्ष्य है जो मैं जिस पर जो अपना फ्यूचर बनाना चाहते हो तो मेरा खून और अच्छा ही होगा तुझे कोई भी इंसान शुरू से किसी चीज के लिए मेहनत करता है प्रैक्टिस करता है आदमी को भूल जो है जो फिर से रिमूव करना उसका लक्ष्य है वह भी अच्छा होता है आदर्श जीवन के लिए आपको ऐसा होना चाहिए जिसमें आप टेबल हो सके आप अपनी जरूरत को पूरा कर सके अपनी फैमिली के घर क्या करता क्या आप ऑफिस में कभी मिलेंगे कुछ मांगना ना पड़े ज्यादा हो सके तो पूरा हो जॉब कर रहे हो या फिर कोई दूसरी तरफ जो भी काम कर रहे इसमें किसी का कुछ बोलना नहीं हो रही है लेकिन कोई भी काम नहीं होगा तो यह कदम जीवन का लक्ष्य कहलाता है
Khvaaja ka savaal hai ki aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie ek aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie ki ek cheej bahut hee samay par adhikaaree aur bahut hee ek kaayade kaanoon ke saath hoon karen mujhe kuchh kaam diya karo mere andar koee bhee taim ko lekar kisee bhee cheej ko lekar kuchh bhee kvaalitee nahin hai main kabhee bhee koee bhee kaam kar rahee hoon aur agar main sahee se koee bhee kaam kar rahee hoon to mera jo lakshy hai jo main jis par jo apana phyoochar banaana chaahate ho to mera khoon aur achchha hee hoga tujhe koee bhee insaan shuroo se kisee cheej ke lie mehanat karata hai praiktis karata hai aadamee ko bhool jo hai jo phir se rimoov karana usaka lakshy hai vah bhee achchha hota hai aadarsh jeevan ke lie aapako aisa hona chaahie jisamen aap tebal ho sake aap apanee jaroorat ko poora kar sake apanee phaimilee ke ghar kya karata kya aap ophis mein kabhee milenge kuchh maangana na pade jyaada ho sake to poora ho job kar rahe ho ya phir koee doosaree taraph jo bhee kaam kar rahe isamen kisee ka kuchh bolana nahin ho rahee hai lekin koee bhee kaam nahin hoga to yah kadam jeevan ka lakshy kahalaata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए आदर्श जीवन का लक्ष्य
URL copied to clipboard