#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?

Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:00
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिष बातों का ध्यान रखना चाहिए तो फ्रेंडशिप नया घर बनाते समय आपको बहुत सारी ऐसी बातें हैं ज्योतिष के हिसाब से जिनका ध्यान रखना चाहिए जैसे आपकी खिड़कियां लड़के जो दरवाजे और खिड़कियां हैं वह बाहर की तरफ खुलना चाहिए खिड़कियों को अंदर की तरफ नहीं खोलना चाहिए और उत्तर दिशा में आपको लेट्रिन बाथरूम नहीं बनवाना है और घर में आपको एक छोटा सा मंदिर भी बनवाना है पूर्व दिशा में और आप लोग यह वादा घर बनवाना है आपको ज्योतिष के हिसाब से भी रोशनी जिसमें रोशनदान बनवाना है घर में रोशनी आ सके हवा आ सके और चिड़िया घर के बाहर नहीं बनवानी है अगर आपको घर में जीना बनवाना है तो आप अपने अंदर से बनवाई एक और आंगन से बनवाई है बिल्कुल बाहर आपको शिर्डी नहीं बनवाने है यह सब बातें हैं ज्योतिष के हिसाब से छोटी छोटी जो आपको घर में ध्यान रखनी चाहिए धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn naya ghar banaate samay kin kin jyotish baaton ka dhyaan rakhana chaahie to phrendaship naya ghar banaate samay aapako bahut saaree aisee baaten hain jyotish ke hisaab se jinaka dhyaan rakhana chaahie jaise aapakee khidakiyaan ladake jo daravaaje aur khidakiyaan hain vah baahar kee taraph khulana chaahie khidakiyon ko andar kee taraph nahin kholana chaahie aur uttar disha mein aapako letrin baatharoom nahin banavaana hai aur ghar mein aapako ek chhota sa mandir bhee banavaana hai poorv disha mein aur aap log yah vaada ghar banavaana hai aapako jyotish ke hisaab se bhee roshanee jisamen roshanadaan banavaana hai ghar mein roshanee aa sake hava aa sake aur chidiya ghar ke baahar nahin banavaanee hai agar aapako ghar mein jeena banavaana hai to aap apane andar se banavaee ek aur aangan se banavaee hai bilkul baahar aapako shirdee nahin banavaane hai yah sab baaten hain jyotish ke hisaab se chhotee chhotee jo aapako ghar mein dhyaan rakhanee chaahie dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:27
नमस्कार जय हो के प्रमोशन में है नया घर बनाते समय किन किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए ना गरबा देखने आपको हमारी बातें आपको मोटी मोटी मैम से बात होती है मामा को बताना आपका इंटरनेट डिजाइनिंग कैसे ज्योतिषी में यह भी इंटरव्यू होता है आप की दिशा किस साइड है प्रशिक्षण के बाद कलर वापस आ गए कि नहीं देते अगर आपको अच्छा लगता है उन से कंसल्ट करना तो मैं बताऊं आपको ऐसे आपका इंटरनेट के 36 वोट देंगे तो फर्स्ट ईयर सेकंड ईयर की लड़कियां भी निशा कैसी है उसको कोडिंग आपका घर पर जो मेन दरवाजा उससे थोड़ी ना करवाने की स्थापना होनी चाहिए यह इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए और मैन बाकी है आपके इस कल्चर में आप ही क्या कास्ट वगैरह बोर्ड फैमिली बैकग्राउंड के सारे इन चीजों में भी बहुत डिपेंड करता है ना घर प्रवेश कैसे करते हैं हम घर में प्रवेश करते हैं कौन सी पूजा रह पाते हैं इन सारी चीजों को भी बात करना चाहिए मैसेजेस धन्यवाद
Namaskaar jay ho ke pramoshan mein hai naya ghar banaate samay kin kin baaton ko dhyaan mein rakhana chaahie na garaba dekhane aapako hamaaree baaten aapako motee motee maim se baat hotee hai maama ko bataana aapaka intaranet dijaining kaise jyotishee mein yah bhee intaravyoo hota hai aap kee disha kis said hai prashikshan ke baad kalar vaapas aa gae ki nahin dete agar aapako achchha lagata hai un se kansalt karana to main bataoon aapako aise aapaka intaranet ke 36 vot denge to pharst eeyar sekand eeyar kee ladakiyaan bhee nisha kaisee hai usako koding aapaka ghar par jo men daravaaja usase thodee na karavaane kee sthaapana honee chaahie yah in chhotee-chhotee baaton ka dhyaan rakhana chaahie aur main baakee hai aapake is kalchar mein aap hee kya kaast vagairah bord phaimilee baikagraund ke saare in cheejon mein bhee bahut dipend karata hai na ghar pravesh kaise karate hain ham ghar mein pravesh karate hain kaun see pooja rah paate hain in saaree cheejon ko bhee baat karana chaahie maisejes dhanyavaad

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:36

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
2:44
साहब का सवाल है नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए तो नया घर बनाते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए हम जानते हैं तो विशाल भूखंड के मस्जिद छोटा संकरा भूखंड कभी भी उत्तम नहीं माना जाता अगर भूखंड खरीदते समय यह ध्यान रहे अवश्य दें कि भूखंड सूर्यभेदी क्या सुंदर फिल्म बेटी होना चाहिए तीसरा पॉइंट प्राथमिक रूप से भवन निर्माण के लिए वर्गाकार या आयताकार भूमि का चयन करें विकृत भूमि का चयन तथा पीने करें तथा पॉइंट भवन में भारी वस्तु हमेशा दक्षिणी या पश्चिमी दिशा में रखनी चाहिए पूर्व उत्तर में कदापि नहीं 500 पॉइंट भवन में सामने सामान किसी प्रकार के रोग जैसे किल्ला बड़ा वृक्ष बिजली का खंभा रिटर्न समाधि नहीं होना चाहिए छठा पॉइंट भवन में एक सीधे तो दरवाजे नहीं रखना चाहिए एक चीज में दो दरवाजे नहीं रखना चाहिए इससे सकारात्मक ऊर्जा घर में नहीं टिकती भूखंड के सामने कोई धार्मिक स्थल नहीं होना चाहिए और मंदिर की छाया पड़ने पर वे भवन देने योग्य नहीं होता है 800 पॉइंट आपका फोन किसी बंद रास्ते का आखिरी मकान का होना चाहिए और ने आने वाले रास्ते ठीक सामने होना चाहिए नेमा अध्ययनरत छात्र या फर्द आध्यात्मिक व्यक्ति उसको पूर्व दिशा की ओर सिर करके सोना चाहिए दसवां पॉइंट हेडपंप या समरसेबल घर के पूर्व और उत्तर दिशा में होना चाहिए 11 पॉइंट बोरनाली कभी भी उत्तर ईशान कोण में नहीं बनवाना चाहिए हमेशा आगरे कौन नहीं बोलूंगा लिए होना चाहिए 12 पॉइंट बिना दरवाजे के बिना छत के घरे प्रेस नहीं करना चाहिए ऐसे में आपका परिवार संकट में आ सकता है 13 पॉइंट गृह प्रवेश कभी भी रविवार मंगलवार शनिवार कदापि नहीं करेगी मुसीबत का पीछा नहीं छोड़ती सब दुआ पॉइंट घर उत्तर दिशा की दीवार पर चढ़ने का चित्र नहीं लगा चाहिए वरना धन की बर्बादी होती है 15 पॉइंट भवन की नाली उत्तर दिशा में होनी चाहिए या नहीं पानी का भाव उत्तर की ओर होना शुभ माना जाता है 16 पॉइंट भवन खरीदते या बनाते समय यह विचार जरूर चाहिए कि भवन शेर मुखिया गोमुखी या शेर मुखी मकान में पाई संसद अच्छा होता है किंतु गोमुखी निवास के लिए शुभ होता है धन्यवाद दोस्तों
Saahab ka savaal hai naya ghar banaate samay kin kin jyotishee baaton ka dhyaan rakhana chaahie to naya ghar banaate samay nimn baaton ka dhyaan rakhana chaahie ham jaanate hain to vishaal bhookhand ke masjid chhota sankara bhookhand kabhee bhee uttam nahin maana jaata agar bhookhand khareedate samay yah dhyaan rahe avashy den ki bhookhand sooryabhedee kya sundar philm betee hona chaahie teesara point praathamik roop se bhavan nirmaan ke lie vargaakaar ya aayataakaar bhoomi ka chayan karen vikrt bhoomi ka chayan tatha peene karen tatha point bhavan mein bhaaree vastu hamesha dakshinee ya pashchimee disha mein rakhanee chaahie poorv uttar mein kadaapi nahin 500 point bhavan mein saamane saamaan kisee prakaar ke rog jaise killa bada vrksh bijalee ka khambha ritarn samaadhi nahin hona chaahie chhatha point bhavan mein ek seedhe to daravaaje nahin rakhana chaahie ek cheej mein do daravaaje nahin rakhana chaahie isase sakaaraatmak oorja ghar mein nahin tikatee bhookhand ke saamane koee dhaarmik sthal nahin hona chaahie aur mandir kee chhaaya padane par ve bhavan dene yogy nahin hota hai 800 point aapaka phon kisee band raaste ka aakhiree makaan ka hona chaahie aur ne aane vaale raaste theek saamane hona chaahie nema adhyayanarat chhaatr ya phard aadhyaatmik vyakti usako poorv disha kee or sir karake sona chaahie dasavaan point hedapamp ya samarasebal ghar ke poorv aur uttar disha mein hona chaahie 11 point boranaalee kabhee bhee uttar eeshaan kon mein nahin banavaana chaahie hamesha aagare kaun nahin boloonga lie hona chaahie 12 point bina daravaaje ke bina chhat ke ghare pres nahin karana chaahie aise mein aapaka parivaar sankat mein aa sakata hai 13 point grh pravesh kabhee bhee ravivaar mangalavaar shanivaar kadaapi nahin karegee museebat ka peechha nahin chhodatee sab dua point ghar uttar disha kee deevaar par chadhane ka chitr nahin laga chaahie varana dhan kee barbaadee hotee hai 15 point bhavan kee naalee uttar disha mein honee chaahie ya nahin paanee ka bhaav uttar kee or hona shubh maana jaata hai 16 point bhavan khareedate ya banaate samay yah vichaar jaroor chaahie ki bhavan sher mukhiya gomukhee ya sher mukhee makaan mein paee sansad achchha hota hai kintu gomukhee nivaas ke lie shubh hota hai dhanyavaad doston

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:58
देखे आपका प्रश्न है कि नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए लिखिए इसका उत्तर बहुत बड़ा है और इतना बड़ा है कि इस पर कई सारे गलत लिखे जा चुके हैं लेकिन संक्षिप्त में मैं बहुत मुख्य बातें यहां पर उसके बारे में जानकारी आपको देना चाहूंगा और यह शायद हजारों लाखों लोगों के लिए बहुत लाभकारी को घर बनाते समय हमको चार दिशाओं के बारे में स्पष्ट पता होना चाहिए पूर्व दिशा उत्तर दिशा पश्चिम दिशा दक्षिण दिशा में मुख्य द्वार बहुत महत्वपूर्ण है कि पूर्व और उत्तर दिशा की शादी होने सूर्योदय की दिशा होने की वजह से इस तरफ से हमेशा सकारात्मक ऊर्जा से भरी किरने हमारे घर में प्रवेश करती है इसलिए घर का मुख्य दरवाजा पूर्व या उत्तर दिशा में होना बहुत शुभ माना जाता है फिर हम आते हैं पूजा करते हैं तो जब आप घर बनाते हैं तब आपका पूजा कर हमेशा ईशान कोण में होना चाहिए शान फोन का मतलब पूर्व और उत्तर दिशा का कौन होता है उसको ईशान कोण कहते हैं और यह भगवान के मंदिर का स्थान है पूजा का स्थान है और ध्यान रहे यहां पर गलती से भी शौचालय या रसोईघर नहीं होना चाहिए उसके बाद है रसोई रसोई हमेशा आग्नेय कोण में होनी चाहिए मतलब दक्षिण पूर्व का कौन है इस दिशा में रसोईघर का होना परिवार के सदस्यों के लिए सेहत के लिए बहुत अच्छा है या अग्नि की दिशा है इसलिए इसे में अग्नि दिशा कहते हैं फिर हम बात करते हैं शयनकक्ष जैन कक्ष के लिए हमेशा दक्षिण पश्चिम का जो स्थान होता है वह उत्तम है या कुछ हद तक उत्तर पश्चिम भी ठीक कहा जा सकता है लेकिन दक्षिण पश्चिम श्रेष्ठ यहां पर जो घर का मुखिया है उसका कमरा यहीं पर होना चाहिए और बिस्तर पर सोते समय कभी भी पेड़ दक्षिण और पूर्व दिशा में नहीं हम बात करते हैं अतिथि कक्ष की उत्तर पूर्व या उत्तर पश्चिम की जितनी चाहे वह मेहमानों के लिए उत्तम मानी अतिथि कक्ष को कभी भी दक्षिण पश्चिम दिशा में नहीं बनाना चाहिए शौचालय मेरी तैयारी पश्चिम दक्षिण कौन में या फिर नृत्य कोण विपक्ष
Dekhe aapaka prashn hai ki naya ghar banaate samay kin kin jyotishee baaton ka dhyaan rakhana chaahie likhie isaka uttar bahut bada hai aur itana bada hai ki is par kaee saare galat likhe ja chuke hain lekin sankshipt mein main bahut mukhy baaten yahaan par usake baare mein jaanakaaree aapako dena chaahoonga aur yah shaayad hajaaron laakhon logon ke lie bahut laabhakaaree ko ghar banaate samay hamako chaar dishaon ke baare mein spasht pata hona chaahie poorv disha uttar disha pashchim disha dakshin disha mein mukhy dvaar bahut mahatvapoorn hai ki poorv aur uttar disha kee shaadee hone sooryoday kee disha hone kee vajah se is taraph se hamesha sakaaraatmak oorja se bharee kirane hamaare ghar mein pravesh karatee hai isalie ghar ka mukhy daravaaja poorv ya uttar disha mein hona bahut shubh maana jaata hai phir ham aate hain pooja karate hain to jab aap ghar banaate hain tab aapaka pooja kar hamesha eeshaan kon mein hona chaahie shaan phon ka matalab poorv aur uttar disha ka kaun hota hai usako eeshaan kon kahate hain aur yah bhagavaan ke mandir ka sthaan hai pooja ka sthaan hai aur dhyaan rahe yahaan par galatee se bhee shauchaalay ya rasoeeghar nahin hona chaahie usake baad hai rasoee rasoee hamesha aagney kon mein honee chaahie matalab dakshin poorv ka kaun hai is disha mein rasoeeghar ka hona parivaar ke sadasyon ke lie sehat ke lie bahut achchha hai ya agni kee disha hai isalie ise mein agni disha kahate hain phir ham baat karate hain shayanakaksh jain kaksh ke lie hamesha dakshin pashchim ka jo sthaan hota hai vah uttam hai ya kuchh had tak uttar pashchim bhee theek kaha ja sakata hai lekin dakshin pashchim shreshth yahaan par jo ghar ka mukhiya hai usaka kamara yaheen par hona chaahie aur bistar par sote samay kabhee bhee ped dakshin aur poorv disha mein nahin ham baat karate hain atithi kaksh kee uttar poorv ya uttar pashchim kee jitanee chaahe vah mehamaanon ke lie uttam maanee atithi kaksh ko kabhee bhee dakshin pashchim disha mein nahin banaana chaahie shauchaalay meree taiyaaree pashchim dakshin kaun mein ya phir nrty kon vipaksh

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:30
सवाल किए हैं कि नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए दो विशाल भूखंड के मध्य छोटा संख्या भूखंड कभी भी उत्तम नहीं माना गया है गूगल खरीदते समय यह ध्यान अवश्य दें कि भूखंड सूर्य विधियां चंद्रभेदी है प्राथमिक रूप से भवन निर्माण के लिए वर्ग कार्य आयत का भूमि का ही चयन करना चाहिए विक्रम भूमि का चयन कदापि ना करें भवन में भारी वस्तु ए हमेशा दक्षिणी पश्चिमी दिशा में ही रखनी चाहिए पूर्व व उत्तर में कदापि नहीं भवन के सामने किसी प्रकार का अवरोध जैसे टीला बड़ा वृक्ष बिजली का खंबा ट्रांसफार्मर आदि नहीं होना चाहिए भवन में एक सीधे से दो दरवाजे नहीं रखनी चाहिए इसे सकारात्मक ऊर्जा घर में नहीं टिकती है भूखंड के सामने कोई धार्मिक स्थल नहीं होना चाहिए मंदिर की छाया पड़ने पर मैं भवन रहने की योग्य नहीं रहता है आपका भवन किसी बंद रास्ते की आखिरी मकान नहीं होना चाहिए और ना आने वाले रास्ते के ठीक सामने अध्ययनरत छात्र व्रत और आध्यात्मिक व्यक्तियों को पूर्व दिशा की ओर सिर रखकर सोना चाहिए हैंडपंप या समरसेबल घर के पूर्व या उत्तर दिशा में होना चाहिए भोजनालय कभी भी उत्तर या ईशान कोण में नहीं बनवाना चाहिए हमेशा अंग्रेज फोन में ही भोजनालय होना चाहिए
Savaal kie hain ki naya ghar banaate samay kin kin jyotishee baaton ka dhyaan rakhana chaahie do vishaal bhookhand ke madhy chhota sankhya bhookhand kabhee bhee uttam nahin maana gaya hai googal khareedate samay yah dhyaan avashy den ki bhookhand soory vidhiyaan chandrabhedee hai praathamik roop se bhavan nirmaan ke lie varg kaary aayat ka bhoomi ka hee chayan karana chaahie vikram bhoomi ka chayan kadaapi na karen bhavan mein bhaaree vastu e hamesha dakshinee pashchimee disha mein hee rakhanee chaahie poorv va uttar mein kadaapi nahin bhavan ke saamane kisee prakaar ka avarodh jaise teela bada vrksh bijalee ka khamba traansaphaarmar aadi nahin hona chaahie bhavan mein ek seedhe se do daravaaje nahin rakhanee chaahie ise sakaaraatmak oorja ghar mein nahin tikatee hai bhookhand ke saamane koee dhaarmik sthal nahin hona chaahie mandir kee chhaaya padane par main bhavan rahane kee yogy nahin rahata hai aapaka bhavan kisee band raaste kee aakhiree makaan nahin hona chaahie aur na aane vaale raaste ke theek saamane adhyayanarat chhaatr vrat aur aadhyaatmik vyaktiyon ko poorv disha kee or sir rakhakar sona chaahie haindapamp ya samarasebal ghar ke poorv ya uttar disha mein hona chaahie bhojanaalay kabhee bhee uttar ya eeshaan kon mein nahin banavaana chaahie hamesha angrej phon mein hee bhojanaalay hona chaahie

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:46
प्रणाम दादी को आप का सवाल है नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए तो साथियों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है अगर आपको भवन खरीदना है या बनवाना है तो कुछ बातें होती है उनका विशेष ध्यान रखना चाहिए जो दो विशाल भूखंड के मध्य छोटा लिंग रामागुंडम कभी उत्तम नहीं माना गया है भूखंड खरीदते समय यह ध्यान रखना चाहिए वह करण शुरू कर दिया चंद्रभेदी है रात से भवन निर्माण के लिए वर्गाकार या आयताकार भूमि का ही चयन करना चाहिए धन्यवाद साथियों खुश रहो
Pranaam daadee ko aap ka savaal hai naya ghar banaate samay kin kin jyotishee baaton ka dhyaan rakhana chaahie to saathiyon aapake savaal ka uttar is prakaar hai agar aapako bhavan khareedana hai ya banavaana hai to kuchh baaten hotee hai unaka vishesh dhyaan rakhana chaahie jo do vishaal bhookhand ke madhy chhota ling raamaagundam kabhee uttam nahin maana gaya hai bhookhand khareedate samay yah dhyaan rakhana chaahie vah karan shuroo kar diya chandrabhedee hai raat se bhavan nirmaan ke lie vargaakaar ya aayataakaar bhoomi ka hee chayan karana chaahie dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए?Naya Ghar Banate Samay Kin Kin Jyotishi Baaton Ka Dhyan Rakhna Chahiye
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक, संस्कृतभारती जयपुरमहानगर प्रचारप्रमुख और सन्देशप्रमुख
2:00
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है नया घर बनाते समय किन किन ज्योतिषी बातों का ध्यान रखना चाहिए मित्र यदि आप नया घर बनाने जा रहे हैं तो उसके अंदर ज्योतिषीय बातों में देखिए सबसे महत्वपूर्ण है कि आपको नया घर जो है वास्तु शास्त्र के हिसाब से ही बनवाना चाहिए जैसे कि किचन जो है वह पूर्व दिशा के अंदर हो और वह भी कहां पर पूर्व और दक्षिण के कौन में हनी के जो आग में कौन ऐसा आदमी कौन जो होता है वहां पर यह वह आग ने कौन में हो और पानी जो है आप पानी का होना जो है वह है पूरब दिशा और उत्तर दिशा के बीच जो कहना है यानी कि वायव्य कौन हां सॉरी ईशान कोण ईशान कोण के अंदर जो है आप जल की व्यवस्था कर सकते हैं मतलब जल का स्थान वहां पर दे सकते हैं और एक चीज और है कि आपका जो नृत्य कौन है यानी कि दक्षिण दिशा का और पश्चिम दिशा का जो कहना है उसे हिस्से को आप थोड़ा भारी रखना होगा मतलब वहां पर कुछ ऐसा क्या के स्टोर रूम के तरफ कुछ बनवा सकते हैं या फिर एक यह है कि उसे कौन है पर जो दीवार है उसको थोड़ा सा जो दीवार होगी ऊपर से थोड़ा सा और निकलवा कर के रख सकते हैं कि यह कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं ऐसे के किए कि आपका जो शौचालय होगा वह किचन के सामने बिल्कुल भी ना हो मतलब उसका मुख जो है किचन के सामने खुलताबाद नहीं होना चाहिए यह सब बातों का ध्यान रखिए और बिल्कुल एक अच्छा घर आप बनवा सकते हैं धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai naya ghar banaate samay kin kin jyotishee baaton ka dhyaan rakhana chaahie mitr yadi aap naya ghar banaane ja rahe hain to usake andar jyotisheey baaton mein dekhie sabase mahatvapoorn hai ki aapako naya ghar jo hai vaastu shaastr ke hisaab se hee banavaana chaahie jaise ki kichan jo hai vah poorv disha ke andar ho aur vah bhee kahaan par poorv aur dakshin ke kaun mein hanee ke jo aag mein kaun aisa aadamee kaun jo hota hai vahaan par yah vah aag ne kaun mein ho aur paanee jo hai aap paanee ka hona jo hai vah hai poorab disha aur uttar disha ke beech jo kahana hai yaanee ki vaayavy kaun haan soree eeshaan kon eeshaan kon ke andar jo hai aap jal kee vyavastha kar sakate hain matalab jal ka sthaan vahaan par de sakate hain aur ek cheej aur hai ki aapaka jo nrty kaun hai yaanee ki dakshin disha ka aur pashchim disha ka jo kahana hai use hisse ko aap thoda bhaaree rakhana hoga matalab vahaan par kuchh aisa kya ke stor room ke taraph kuchh banava sakate hain ya phir ek yah hai ki use kaun hai par jo deevaar hai usako thoda sa jo deevaar hogee oopar se thoda sa aur nikalava kar ke rakh sakate hain ki yah kuchh mahatvapoorn baaten hain aise ke kie ki aapaka jo shauchaalay hoga vah kichan ke saamane bilkul bhee na ho matalab usaka mukh jo hai kichan ke saamane khulataabaad nahin hona chaahie yah sab baaton ka dhyaan rakhie aur bilkul ek achchha ghar aap banava sakate hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • घर किस महीने में बनाना चाहिए, मकान की नींव में क्या रखना चाहिए, घर बनाने से पहले क्या करना चाहिए
URL copied to clipboard