#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?

Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:18
हेलो जीवन तो आज आप का सवाल है कि क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो देखिए अगर जैसे कितने साल से 1 साल हो गया होगा ऑलमोस्ट कॉलेज वगैरा बंद था भी मतलब सारी कॉलेज धीरे-धीरे खुल रहे हैं वह बहुत सारी जगह तो छोटे बच्चों की भी क्लास से शुरू हो चुके फिजिकल मोड में मतलब स्कूल कॉलेज जाना और यह बहुत ही अच्छा डिसीजन है क्योंकि पढ़ाई को इतने दिन तक बंद रखना ऑनलाइन करना ऑनलाइन क्लास में क्या होता है कि मतलब आधी से ज्यादा बच्चे मतलब सीरियस नहीं पड़ते हैं सीरियसली नहीं लेते हैं सो जाते हैं इधर उधर काम काज करके क्लासेस करते स्पीकिंग तो ऐसे ही होता है पर हम लोग भी हमारा भी जब क्लास होता है तो कभी कदार हमें भी अगर कोई लेक्चर बोरिंग लगता है या फिर अच्छा नहीं लगता है तो हम लोग भी जनरल इधर-उधर बातचीत करने से कर लेते लेकिन क्लास में क्या होता कि यह चीज आप नहीं कर सकते टीचर्स कैंडिडेट ने आपको देख रहे हो तो मेरे हिसाब से मुझे नहीं लगता है कि यह भविष्य होने वाला है क्योंकि अभी जैसे करो ना हमारी खत्म नहीं हुआ है पूरी तरह से फिर भी मॉडल क्लास शुरु कर दिया क्या आप लोग स्कूल कॉलेज जाएंगे तुझे इस महामारी में भी अब 1 साल के बाद क्लास स्टार्ट किया गया है तो यह भविष्य मुझे नहीं लगता है कि होने वाला है यह हम कह सकते कि टेक्नोलॉजी के माध्यम से प्रोजेक्टर और यह सब चीज में पड़ सकते हैं और जो बहुत ही अच्छा क्योंकि प्रैक्टिकल इन चीजों को देखेंगे समझेंगे तो और ज्यादा हमें नॉलेज होगा कि हम समझ पाएंगे लेकिन कहीं ना कहीं आपको पता है कि यह इफेक्टिव नहीं हो सकता बच्चे इतने जल्दी कैच नहीं कर सकते क्योंकि आप जो क्लास में पढ़ते टीचर उसे देखकर भी बहुत बार समझ जाते कि आप गलत सुन रहे हैं या नहीं या फिर समझ गया नहीं आप से डाउट पूछने लगते हैं अब बताओ यह चीज बताओ वह चीज बताओ हमको डाउट हो जाएगा आप से पूछने लगते हैं वह आपको डाउट होता है तो आप पूछने लगते वह हवा बच्चे के देख कर ही समझ जाते कि कौन बच्चा क्या कर रहा है कौन बच्चा समझ रहा है या नहीं तो मेरी साक्षी मुझे लगता है कि उनको पता है कि बच्चे का क्लास आएंगे तो ही पढ़ाई अच्छे से हो पाएगा सारे बच्चे समझ पाएंगे ऑनलाइन क्लास इतना इफेक्टिव अभी आओगे कि नहीं है क्योंकि ना ही हमारे लिए यह मतलब हम इस बहुत ही नया है और टीचर सपने में ही पड़ा कर चले जाते हैं और बच्चे कौन एक बच्चे को बोलना माइक ऑन करना कनेक्शन मोबाइल का इतनी सुविधा नहीं है मेरे साथ तो ऑनलाइन जो क्लास है वह भविष्य नहीं बन सकता
Helo jeevan to aaj aap ka savaal hai ki kya ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to dekhie agar jaise kitane saal se 1 saal ho gaya hoga olamost kolej vagaira band tha bhee matalab saaree kolej dheere-dheere khul rahe hain vah bahut saaree jagah to chhote bachchon kee bhee klaas se shuroo ho chuke phijikal mod mein matalab skool kolej jaana aur yah bahut hee achchha diseejan hai kyonki padhaee ko itane din tak band rakhana onalain karana onalain klaas mein kya hota hai ki matalab aadhee se jyaada bachche matalab seeriyas nahin padate hain seeriyasalee nahin lete hain so jaate hain idhar udhar kaam kaaj karake klaases karate speeking to aise hee hota hai par ham log bhee hamaara bhee jab klaas hota hai to kabhee kadaar hamen bhee agar koee lekchar boring lagata hai ya phir achchha nahin lagata hai to ham log bhee janaral idhar-udhar baatacheet karane se kar lete lekin klaas mein kya hota ki yah cheej aap nahin kar sakate teechars kaindidet ne aapako dekh rahe ho to mere hisaab se mujhe nahin lagata hai ki yah bhavishy hone vaala hai kyonki abhee jaise karo na hamaaree khatm nahin hua hai pooree tarah se phir bhee modal klaas shuru kar diya kya aap log skool kolej jaenge tujhe is mahaamaaree mein bhee ab 1 saal ke baad klaas staart kiya gaya hai to yah bhavishy mujhe nahin lagata hai ki hone vaala hai yah ham kah sakate ki teknolojee ke maadhyam se projektar aur yah sab cheej mein pad sakate hain aur jo bahut hee achchha kyonki praiktikal in cheejon ko dekhenge samajhenge to aur jyaada hamen nolej hoga ki ham samajh paenge lekin kaheen na kaheen aapako pata hai ki yah iphektiv nahin ho sakata bachche itane jaldee kaich nahin kar sakate kyonki aap jo klaas mein padhate teechar use dekhakar bhee bahut baar samajh jaate ki aap galat sun rahe hain ya nahin ya phir samajh gaya nahin aap se daut poochhane lagate hain ab batao yah cheej batao vah cheej batao hamako daut ho jaega aap se poochhane lagate hain vah aapako daut hota hai to aap poochhane lagate vah hava bachche ke dekh kar hee samajh jaate ki kaun bachcha kya kar raha hai kaun bachcha samajh raha hai ya nahin to meree saakshee mujhe lagata hai ki unako pata hai ki bachche ka klaas aaenge to hee padhaee achchhe se ho paega saare bachche samajh paenge onalain klaas itana iphektiv abhee aaoge ki nahin hai kyonki na hee hamaare lie yah matalab ham is bahut hee naya hai aur teechar sapane mein hee pada kar chale jaate hain aur bachche kaun ek bachche ko bolana maik on karana kanekshan mobail ka itanee suvidha nahin hai mere saath to onalain jo klaas hai vah bhavishy nahin ban sakata

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
2:18
उसका जैसा कि हमारा क्वेश्चन है क्या अब ऑनलाइन हो ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य आने वाला है अगर जैसा कहा जाए आपका क्वेश्चन है क्या मोना की पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला अच्छी है कोई भी चीज हमारी तो नहीं फैसिलिटी आती है वह अच्छी होती है मैं उस चीज का समर्थन देता हूं कोई भी आगे बढ़ता उसको भी और जो कोई अच्छा काम कर रहा है उसको लेकिन हर चीज की जिसने बेनिफिट अपने दोस्त ही होते हैं अगर हम पाया पॉजिटिव और नेगेटिव दोनों की बात करें तो मैं आपको ऑनलाइन पढ़ाई बहुत अच्छा है हमें फालतू में टाइम वेस्ट नहीं होगा फर्स्ट सेकंड हम अकेले बैठकर यह सिस्टम एडिट बैठ कर पढ़ सकता है सेकंड थर्ड कि आप ऑनलाइन पढ़ाई से आपको बहुत अच्छा नॉलेज मिलेगी क्यों नॉलेज सिमरिया प्रॉपर गाइडलाइन हम ले सकते हैं और आप कोई जॉब पर आउट फीस होती है वह भी कम लगेगी और ठीक है इंटरनेट हो गया राकेश विधायक टेक्नोलॉजी आपको उसकी भी ज्यादा नॉलेज बढ़ेगी टिकट ऑनलाइन ही नहीं करेंगे हम ऑनलाइन का नाम ही है कुछ चलाते तो व्हाट्सएप इंस्टाग्राम फेसबुक स्नैपचैट हो गया है क्योंकि ऑनलाइन में जैसे मैसेज कर दो आ गया तू ड्रॉप्स मैसेज को करके उसका रिप्लाई रिप्लाई करेंगे ना कि ऑनलाइन क्लास 12वीं सेकंड ऑनलाइन जो भी पढ़ाई करता है उनके अधिकतर अधूरी को अधिकतर ओके 52 60% चश्मा लग जाते हैं जो भी मोबाइल वगैरा और लैपटॉप वगैरह है कंप्यूटर हो गया लगता है ऑनलाइन पढ़ाई करने से आप दुकान में पढ़ते हैं और इसमें जमीन आसमान का फर्क है आप उसमें पढ़ लीजिए और वह पढ़ लीजिए आपको याद नहीं आएगा यह खुद मैंने प्रैक्टिकली देखने का फोर्थ इतनी भी हमारी टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है हमारे संस्कार हो तो नहीं छोड़ते जा रही कुछ ऐसा टॉमसन जो जितने अच्छे इतने भी बुरे हैं धन्यवाद
Usaka jaisa ki hamaara kveshchan hai kya ab onalain ho onalain padhaee bhaarat ka bhavishy aane vaala hai agar jaisa kaha jae aapaka kveshchan hai kya mona kee padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala achchhee hai koee bhee cheej hamaaree to nahin phaisilitee aatee hai vah achchhee hotee hai main us cheej ka samarthan deta hoon koee bhee aage badhata usako bhee aur jo koee achchha kaam kar raha hai usako lekin har cheej kee jisane beniphit apane dost hee hote hain agar ham paaya pojitiv aur negetiv donon kee baat karen to main aapako onalain padhaee bahut achchha hai hamen phaalatoo mein taim vest nahin hoga pharst sekand ham akele baithakar yah sistam edit baith kar padh sakata hai sekand thard ki aap onalain padhaee se aapako bahut achchha nolej milegee kyon nolej simariya propar gaidalain ham le sakate hain aur aap koee job par aaut phees hotee hai vah bhee kam lagegee aur theek hai intaranet ho gaya raakesh vidhaayak teknolojee aapako usakee bhee jyaada nolej badhegee tikat onalain hee nahin karenge ham onalain ka naam hee hai kuchh chalaate to vhaatsep instaagraam phesabuk snaipachait ho gaya hai kyonki onalain mein jaise maisej kar do aa gaya too drops maisej ko karake usaka riplaee riplaee karenge na ki onalain klaas 12veen sekand onalain jo bhee padhaee karata hai unake adhikatar adhooree ko adhikatar oke 52 60% chashma lag jaate hain jo bhee mobail vagaira aur laipatop vagairah hai kampyootar ho gaya lagata hai onalain padhaee karane se aap dukaan mein padhate hain aur isamen jameen aasamaan ka phark hai aap usamen padh leejie aur vah padh leejie aapako yaad nahin aaega yah khud mainne praiktikalee dekhane ka phorth itanee bhee hamaaree teknolojee badhatee ja rahee hai hamaare sanskaar ho to nahin chhodate ja rahee kuchh aisa tomasan jo jitane achchhe itane bhee bure hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:48
आपका प्रश्न है क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है लिखित ऑनलाइन पढ़ाई जो है वह भारत का भविष्य जो है वह नहीं होने वाला है हां यह चीजें जरूर हो सकती है कि आने वाले समय में आपने देखा है कि जब से अभी कोविड-19 जो है लगा हुआ है lock-down लगी हुई थी इसकी ऑनलाइन स्टडी की जो है वह भरमार हो गई इस पर जो है पूरा जोर दिया गया है हमारे प्रधानमंत्री साहब ने भी इस पर जो है काफी जोर दिया है कि बच्चों की स्टडी जो है वह बेकार ना जाए उसने जो है अध्ययन करने के लिए मिलता रहे और उन्होंने टीवी पर भी कुछ प्रोग्राम जो है चैनल बनाए हैं जिन 23rd जो है बच्चों को पढ़ाया जाता है ऑनलाइन इसलिए आप देखते हैं कि होता है तो ऐसा नहीं है कि यह जो है हमारे भविष्य बन जाएगा हां यह जरूर बोल सकते हैं कि जो है मैं आने वाले समय में जो है इसकी महत्व जो है वह काफी बढ़ जाएगी क्योंकि आपने देखा है कि अभी तक हम लोग जानते ही नहीं थे कि ऑनलाइन स्टडी क्या है ऑनलाइन कैसे पढ़ाया जाता है लेकिन यह परिस्थितियां जो है वह बहुत कुछ करा सकती हैं फ्रेंड और हमारे सामने ऐसी परिस्थिति आप सभी के सामने आई कोविड-19 और हमें जो है एक नया मौका मिला जो है नई सीख मिली जो है कि स्टडी कैसे किया जाता है और कहीं-कहीं प्रकार का अच्छा माध्यम भी है भारत में यह जो है इसका भविष्य इसलिए नहीं हो सकता प्रिंट क्योंकि जब आप आमने-सामने होते हैं फेस टू फेस होते हैं उस वक्त जो है उस वक्त की पढ़ाई जो है उसकी बात ही अलग होती है फ्रेंड क्योंकि जो आदमी सामने बताया जाता है वह सूची अच्छे से समझ में आ जाता है ऑनलाइन सेटिंग इतनी अच्छी तरीके से समझ में नहीं आता चला कि ऑनलाइन फ्री में मिली होता है कि आप कमेंट करके पूछ सकते हैं लेकिन जब आप सामने रहते हैं तो वह पढ़ाई जो है वह दूसरी प्रकार से हो जाती है और ऑनलाइन भी जो है वह दूसरी हो जाती है हालांकि यह कह सकते हैं कि ऑनलाइन स्टडी का जो आने वाला कैरियर है वह बहुत ही ज्यादा विकसित होगा यानी कि आने वाले समय में ऑनलाइन स्टडी जो है वह पूरा जो है अपनी चरम सीमा पर हो जाएगा हर जगह जो है इसी का बोलबाला रहेगा हालांकि कोचिंग क्लासेज यह सब कटेंगे नहीं फ्रेंड यह सब चलता रहेगा क्योंकि यह सब न्यू है इस चीका और ऑनलाइन सीडीएक्स का जरिया है माध्यम है बस और कुछ नहीं तो आशा है कि आप सभी को यह जवाब पसंद आया होगा शुक्रिया
Aapaka prashn hai kya ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai likhit onalain padhaee jo hai vah bhaarat ka bhavishy jo hai vah nahin hone vaala hai haan yah cheejen jaroor ho sakatee hai ki aane vaale samay mein aapane dekha hai ki jab se abhee kovid-19 jo hai laga hua hai lochk-down lagee huee thee isakee onalain stadee kee jo hai vah bharamaar ho gaee is par jo hai poora jor diya gaya hai hamaare pradhaanamantree saahab ne bhee is par jo hai kaaphee jor diya hai ki bachchon kee stadee jo hai vah bekaar na jae usane jo hai adhyayan karane ke lie milata rahe aur unhonne teevee par bhee kuchh prograam jo hai chainal banae hain jin 23rd jo hai bachchon ko padhaaya jaata hai onalain isalie aap dekhate hain ki hota hai to aisa nahin hai ki yah jo hai hamaare bhavishy ban jaega haan yah jaroor bol sakate hain ki jo hai main aane vaale samay mein jo hai isakee mahatv jo hai vah kaaphee badh jaegee kyonki aapane dekha hai ki abhee tak ham log jaanate hee nahin the ki onalain stadee kya hai onalain kaise padhaaya jaata hai lekin yah paristhitiyaan jo hai vah bahut kuchh kara sakatee hain phrend aur hamaare saamane aisee paristhiti aap sabhee ke saamane aaee kovid-19 aur hamen jo hai ek naya mauka mila jo hai naee seekh milee jo hai ki stadee kaise kiya jaata hai aur kaheen-kaheen prakaar ka achchha maadhyam bhee hai bhaarat mein yah jo hai isaka bhavishy isalie nahin ho sakata print kyonki jab aap aamane-saamane hote hain phes too phes hote hain us vakt jo hai us vakt kee padhaee jo hai usakee baat hee alag hotee hai phrend kyonki jo aadamee saamane bataaya jaata hai vah soochee achchhe se samajh mein aa jaata hai onalain seting itanee achchhee tareeke se samajh mein nahin aata chala ki onalain phree mein milee hota hai ki aap kament karake poochh sakate hain lekin jab aap saamane rahate hain to vah padhaee jo hai vah doosaree prakaar se ho jaatee hai aur onalain bhee jo hai vah doosaree ho jaatee hai haalaanki yah kah sakate hain ki onalain stadee ka jo aane vaala kairiyar hai vah bahut hee jyaada vikasit hoga yaanee ki aane vaale samay mein onalain stadee jo hai vah poora jo hai apanee charam seema par ho jaega har jagah jo hai isee ka bolabaala rahega haalaanki koching klaasej yah sab katenge nahin phrend yah sab chalata rahega kyonki yah sab nyoo hai is cheeka aur onalain seedeeeks ka jariya hai maadhyam hai bas aur kuchh nahin to aasha hai ki aap sabhee ko yah javaab pasand aaya hoga shukriya

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:02
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका प्रश्न है क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य आने वाला है तो फ्रेंड्स अभी तो ऐसा कुछ नहीं है अभी तो कोरोनावायरस था इसीलिए ऑनलाइन पढ़ाई चालू हो गई थी लेकिन अभी जैसे धीरे-धीरे कोरोनावायरस ठीक हो रहा है तो बच्चों की क्लासिक खुलना चालू भी हो गई है 9:00 से 24:00 तक के बच्चों की क्लासेस लग रही है और जो एट क्लास के बच्चे हैं 7856 मतलब 5 से ऊपर के जो बच्चे हैं 61f के बच्चों की 10 तारीख से स्कूल खुलने वाले हैं 10 फरवरी से और छोटे बच्चों की स्कूल भी 1 मार्च स्कूल जाएंगे तो स्कूल में ही पढ़ाई होगी अभी तो ऐसा कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है कि ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है लेकिन हां भविष्य अगर ऐसी महामारी या आती है या कोई परेशानी जब उत्पन्न हो जाती ऑनलाइन पढ़ाई एक अच्छा विकल्प है और ऑनलाइन बच्चे पढ़ते रहेंगे जिससे उनके पढ़ाई में कोई भी रुकावट ना हो लेकिन अभी तो स्कूल में ही बच्चे पढ़ेंगे प्रेजेंट में अभी तो ऐसा कोई भी धन्यवाद
Helo evareevan svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kya ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy aane vaala hai to phrends abhee to aisa kuchh nahin hai abhee to koronaavaayaras tha iseelie onalain padhaee chaaloo ho gaee thee lekin abhee jaise dheere-dheere koronaavaayaras theek ho raha hai to bachchon kee klaasik khulana chaaloo bhee ho gaee hai 9:00 se 24:00 tak ke bachchon kee klaases lag rahee hai aur jo et klaas ke bachche hain 7856 matalab 5 se oopar ke jo bachche hain 61f ke bachchon kee 10 taareekh se skool khulane vaale hain 10 pharavaree se aur chhote bachchon kee skool bhee 1 maarch skool jaenge to skool mein hee padhaee hogee abhee to aisa kuchh bhee samajh mein nahin aa raha hai ki onalain padhaee ho rahee hai lekin haan bhavishy agar aisee mahaamaaree ya aatee hai ya koee pareshaanee jab utpann ho jaatee onalain padhaee ek achchha vikalp hai aur onalain bachche padhate rahenge jisase unake padhaee mein koee bhee rukaavat na ho lekin abhee to skool mein hee bachche padhenge prejent mein abhee to aisa koee bhee dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
1:10

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:03
जी आप का सवाल है कि क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य आने वाला है तो आपको सबसे पहले यह बता दूं भारत में अभी तक बहुत से ऐसे राजे हैं राजू भाई गांव हैं जहां पर इंटरनेट की सुविधा नहीं है और अगर भविष्य की बात की जाए तो धीरे-धीरे अमित 2023 तक अगर jio5g के द्वारा गांव गांव या घर घर पर इंटरनेट की सुविधा पहुंचाई जाए तो इसके बारे में सोचा जा सकता है और दो अभी वर्तमान में देखा जाए तो ऐसा कुछ नहीं है क्योंकि गांव में अधिकतर लोगों के पास स्मार्टफोन नहीं है और न ही अच्छे नेटवर्किंग हैं तो अभी तो नहीं आने वाली 2025 के बाद तो ऑनलाइन में लोग ज्यादा रुचि दिखाएंगे ग्रामीण ज्यादा घर ज्यादातर ग्रामीण इलाकों में धन्यवाद
Jee aap ka savaal hai ki kya ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy aane vaala hai to aapako sabase pahale yah bata doon bhaarat mein abhee tak bahut se aise raaje hain raajoo bhaee gaanv hain jahaan par intaranet kee suvidha nahin hai aur agar bhavishy kee baat kee jae to dheere-dheere amit 2023 tak agar jio5g ke dvaara gaanv gaanv ya ghar ghar par intaranet kee suvidha pahunchaee jae to isake baare mein socha ja sakata hai aur do abhee vartamaan mein dekha jae to aisa kuchh nahin hai kyonki gaanv mein adhikatar logon ke paas smaartaphon nahin hai aur na hee achchhe netavarking hain to abhee to nahin aane vaalee 2025 ke baad to onalain mein log jyaada ruchi dikhaenge graameen jyaada ghar jyaadaatar graameen ilaakon mein dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
 Neeraj Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए जी का जवाब
Unknown
1:27
हेलो दोस्तों मैंने यह सवाल है क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो जरूर आएगा जो भवेश है तो ऑनलाइन ही होगा इसमें सबसे ज्यादा जो है वह स्टूडेंट को भी है और टीचर को भी है तो अगर कोई टीचर किसी स्टूडेंट को पढ़ाता है तो वह से पैसे लेता है लेकिन अगर वो ऑनलाइन यूट्यूब से प्रातः टीचर को यूट्यूब पैसा देता है उसके न्यूज़ पर और स्टैंड होता है उसको फ्री में ही वही नॉलेज मिल जाते हैं जो वह पैसा देकर मिलती है तो देश में दोनों को ही फायदा होता है अगर वह टीचर यूट्यूब चैनल पर आता है तो उसके स्टूडेंट भी एक साथ ऑप्शन पर आएगा तो वह 10 से 20 स्टैंड को पढ़ पा सकता है हो सकता है अच्छी स्टूडियो 200 स्टंट को पढ़ा सकता है लेकिन वह ऑनलाइन स्टूडेंट को कम से कम अनलिमिटेड कोई की लिमिट नहीं होती एक लाख दो लाख 1000000 लाख एक करो तब स्टैंडअप को ऑनलाइन बुक पढ़ा सकता है और उससे भी अच्छे खासे पैसे भी कमा सकता है और जो स्टूडेंट है उसको अच्छी खासी नॉलेज भी मिल सकती है जो वह अच्छी खासी फीस नहीं दे सकता 17601 किसी कोष का होता है वह वह फ्री में उसको नॉलेज मिल जाएगी तो दुश्मन दोनों को ही फायदा हो रहा है ऑनलाइन प्राइस से इसलिए अलंपराई भारत का भविष्य आने वाले समय में
Helo doston mainne yah savaal hai kya ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to jaroor aaega jo bhavesh hai to onalain hee hoga isamen sabase jyaada jo hai vah stoodent ko bhee hai aur teechar ko bhee hai to agar koee teechar kisee stoodent ko padhaata hai to vah se paise leta hai lekin agar vo onalain yootyoob se praatah teechar ko yootyoob paisa deta hai usake nyooz par aur staind hota hai usako phree mein hee vahee nolej mil jaate hain jo vah paisa dekar milatee hai to desh mein donon ko hee phaayada hota hai agar vah teechar yootyoob chainal par aata hai to usake stoodent bhee ek saath opshan par aaega to vah 10 se 20 staind ko padh pa sakata hai ho sakata hai achchhee stoodiyo 200 stant ko padha sakata hai lekin vah onalain stoodent ko kam se kam analimited koee kee limit nahin hotee ek laakh do laakh 1000000 laakh ek karo tab staindap ko onalain buk padha sakata hai aur usase bhee achchhe khaase paise bhee kama sakata hai aur jo stoodent hai usako achchhee khaasee nolej bhee mil sakatee hai jo vah achchhee khaasee phees nahin de sakata 17601 kisee kosh ka hota hai vah vah phree mein usako nolej mil jaegee to dushman donon ko hee phaayada ho raha hai onalain prais se isalie alamparaee bhaarat ka bhavishy aane vaale samay mein

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:46
हम साथ में आप का सवाल है क्या आप ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो साथियों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है क्योंकि भारत में गोल्ड के आने के बाद भारत में ज्यादातर पढ़ाई ऑनलाइन की जाने लगी है जिससे आमजन को इनसे फायदा हुआ है और ऑनलाइन पढ़ाई से एक खर्चा भी कमाता है और बच्चे घर पर बैठकर अच्छी तैयारी कर सकते हैं ऑनलाइन के माध्यम से इसलिए ऑनलाइन का पढ़ाई का बहुत ही महत्व है जो भारत का आने वाला समय ऑनलाइन का ही होने वाला है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Ham saath mein aap ka savaal hai kya aap onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to saathiyon aapake savaal ka uttar is prakaar hai kyonki bhaarat mein gold ke aane ke baad bhaarat mein jyaadaatar padhaee onalain kee jaane lagee hai jisase aamajan ko inase phaayada hua hai aur onalain padhaee se ek kharcha bhee kamaata hai aur bachche ghar par baithakar achchhee taiyaaree kar sakate hain onalain ke maadhyam se isalie onalain ka padhaee ka bahut hee mahatv hai jo bhaarat ka aane vaala samay onalain ka hee hone vaala hai dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:54
सवाल ये है कि क्या ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाली है तो केपीएमजी के मुताबिक भारत में इंटरनेट की पेटी का 10% है जिसका अर्थ है देश में 40 करोड से कुछ अधिक लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं 2021 तक यह संख्या 73 करोड़ से अधिक हो जाएगी इसी तरह देश में देश में इस समय 29 करोड स्मार्टफोन यूजर है 2021 तक 18 करोड नहीं उधर जाएंगे दूरस्थ शिक्षा के लिए भी ऑनलाइन माध्यम सबसे कारगर माना गया है इस बीच सरकार ने स्वयं ही बताओ डिजिटल इंडिया जैसे अभियान शुरू कर दिए हैं लेकिन आंकड़े जितने आकर्षक हो वास्तविकता उतनी ही जटिल होती है क्योंकि अभी यह सारी प्रक्रिया बिखरी हुई थी है उसमें कोई तारतम्य योजना नहीं है कुछ भी विधिवत नहीं है स्मार्ट क्लासरूम डिजिटल संपन्न होने के दम पर भरते हुए ऑनलाइन कक्षाएं चलाने के लिए स्कूल और यूनिवर्सिटी प्रशासन कितने तत्पर है यह कहना कठिन है लेकिन उनसे जुड़ी व्यवहारिक कठिनाई जल्दी देखने को भी मिल लगी कहीं इंटरनेट कनेक्शन का संकट तू कहीं स्पीड कहीं बिजली का तो कहीं दूसरे तक नहीं तकनीकी और घरेलू झंझट ऑनलाइन क्लास की तकनीकी स्रोतों और समय समय निर्धारण के अलावा एक सवाल टीचर और विद्यार्थियों के बीच और सहपाठियों के पारस्परिक सामंजस्य और सामाजिक जुड़ाव का भी है क्लास रूम में टीचर संवाद और संसार के अन्य मानवीय और भौतिक टूल का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन मैं ऐसा कर पाना संभव नहीं है सबसे एकता बनाए रख पाना वर्चुअल क्लासरूम में सबसे बड़ी कमी है ऐसे में अगर स्कूल और यूनिवर्सिटी जब ऑनलाइन क्लासेज करवाते हैं तो उन्हें ऑनलाइन एग्जाम लेने की सुविधा भी बच्चों को देनी चाहिए लेकिन हमारे भारतवर्ष में ऐसा नहीं है पर हमारा एजुकेशन सिस्टम इतना अच्छा है ऐसा है कि जब ऑनलाइन एजुकेशन की बारी आई तब तो पूछने नहीं आया आएगी हमारे पास इंटरनेट सुविधा है या नहीं गांव के बच्चों के पास इंटरनेट सुविधा है या नहीं और ना ही हमें इंटरनेट की सुविधा मुहैया कराई गई और अब व्यवस्था तो देखो अब जब एग्जाम की बारी आई है तो ऑनलाइन एग्जाम कराने की जगह ऑफलाइन एग्जाम करवाए जा रहे हैं और जब बच्चे ऑनलाइन एग्जाम की मांग कर रहे हैं तो यह कह कर टाल दिया जा रहा है कि देश के 90% बच्चों के पास इंटरनेट कनेक्शन नहीं है तो वे ऑनलाइन एग्जाम देने में असमर्थ रहेंगे इसलिए ऑनलाइन एग्जाम कराना फिजिकल नहीं है तो इन लोगों से यह क्यों नहीं पूछा जाता जब 90% लोगों के पास इंटरनेट कनेक्शन ही नहीं है तो उन्होंने पूरे साल पढ़ाई किस तरह करी होगी तो अगर आप ऑनलाइन पढ़ा सकते हैं तो ऑनलाइन एग्जाम क्यों नहीं ले सकते तो अभी के लिए तो मुझे नहीं लगता कि ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है क्योंकि ऑनलाइन पढ़ाई पूरी तरह से बिल्कुल भी सफल नहीं हुई है
Savaal ye hai ki kya onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaalee hai to kepeeemajee ke mutaabik bhaarat mein intaranet kee petee ka 10% hai jisaka arth hai desh mein 40 karod se kuchh adhik log intaranet ka istemaal karate hain 2021 tak yah sankhya 73 karod se adhik ho jaegee isee tarah desh mein desh mein is samay 29 karod smaartaphon yoojar hai 2021 tak 18 karod nahin udhar jaenge doorasth shiksha ke lie bhee onalain maadhyam sabase kaaragar maana gaya hai is beech sarakaar ne svayan hee batao dijital indiya jaise abhiyaan shuroo kar die hain lekin aankade jitane aakarshak ho vaastavikata utanee hee jatil hotee hai kyonki abhee yah saaree prakriya bikharee huee thee hai usamen koee taaratamy yojana nahin hai kuchh bhee vidhivat nahin hai smaart klaasaroom dijital sampann hone ke dam par bharate hue onalain kakshaen chalaane ke lie skool aur yoonivarsitee prashaasan kitane tatpar hai yah kahana kathin hai lekin unase judee vyavahaarik kathinaee jaldee dekhane ko bhee mil lagee kaheen intaranet kanekshan ka sankat too kaheen speed kaheen bijalee ka to kaheen doosare tak nahin takaneekee aur ghareloo jhanjhat onalain klaas kee takaneekee sroton aur samay samay nirdhaaran ke alaava ek savaal teechar aur vidyaarthiyon ke beech aur sahapaathiyon ke paarasparik saamanjasy aur saamaajik judaav ka bhee hai klaas room mein teechar sanvaad aur sansaar ke any maanaveey aur bhautik tool ka istemaal kar sakate hain lekin main aisa kar paana sambhav nahin hai sabase ekata banae rakh paana varchual klaasaroom mein sabase badee kamee hai aise mein agar skool aur yoonivarsitee jab onalain klaasej karavaate hain to unhen onalain egjaam lene kee suvidha bhee bachchon ko denee chaahie lekin hamaare bhaaratavarsh mein aisa nahin hai par hamaara ejukeshan sistam itana achchha hai aisa hai ki jab onalain ejukeshan kee baaree aaee tab to poochhane nahin aaya aaegee hamaare paas intaranet suvidha hai ya nahin gaanv ke bachchon ke paas intaranet suvidha hai ya nahin aur na hee hamen intaranet kee suvidha muhaiya karaee gaee aur ab vyavastha to dekho ab jab egjaam kee baaree aaee hai to onalain egjaam karaane kee jagah ophalain egjaam karavae ja rahe hain aur jab bachche onalain egjaam kee maang kar rahe hain to yah kah kar taal diya ja raha hai ki desh ke 90% bachchon ke paas intaranet kanekshan nahin hai to ve onalain egjaam dene mein asamarth rahenge isalie onalain egjaam karaana phijikal nahin hai to in logon se yah kyon nahin poochha jaata jab 90% logon ke paas intaranet kanekshan hee nahin hai to unhonne poore saal padhaee kis tarah karee hogee to agar aap onalain padha sakate hain to onalain egjaam kyon nahin le sakate to abhee ke lie to mujhe nahin lagata ki onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai kyonki onalain padhaee pooree tarah se bilkul bhee saphal nahin huee hai

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
2:20
दोस्तो आप का सवाल है क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत की भविष्य होने वाली है तो भारत में स्कूल और कॉलेज समेत तमाम शिक्षण संस्थान अपने सेक्सी 70 पूरे कर पाते हैं इससे पहले ही कुरान से कैसे चलते 10 मार्च से बंद कर दिया गया और लोग डाउन अवधि के कार्ड ऑनलाइन शिक्षण शतक पूरा करने की कोशिश की गई कि शिक्षा संस्थान में कक्षा धारी की इम्तिहान लंबित थे और मॉडल सेकेंडरी कक्षा ऑनलाइन कराने में जो जैसे विवादास्पद प्लेटफार्म का सहारा लिया गया कि गूगल तो किसका एप्स के जरिए कक्षाएं हुई यूट्यूब पर ऑनलाइन सामग्री तैयार की गई और लेक्चर कक्षा वीडियो पी 4 ऑनलाइन डाले गए व्हाट्सएप के माध्यम से विद्यार्थियों का समूह में भेजा गया लेकिन अधिकांश स्थान ऑनलाइन परीक्षा के लिए तैयार नहीं है जानकार लोगों का मानना है कि आई डी जैसे संस्थान अंतिम वर्ष के छात्रों को परीक्षा ऑनलाइन करा सकते हैं वास्तविक दुनिया में कोर्ट की देश को बचाओ के जहां में हलचल की बीच वर्चुअल संसार में खामोश और गम आगामी मची हुई है घर को देखते हुए कारण कौन टाइम ही नहीं बल्कि ऑनलाइन कामकाज ऑनलाइन पढ़ाई के ठिकाने बन गई यह सिलसिला करीब डेट में पिछले 1 साल से जोर शोर से चला आ रहा है इधर बहुत ही शैक्षणिक संस्थान गर्मियों की छुट्टियां घोषित हो चुकी है और कई संस्था में चंद अपेक्षित कर रहे हैं वर्चुअल कोचिंग सेंटर बनाना की होड़ भी लगी वेद जैसे राजस्थान की कोटा जैसे नदियों में कोचिंग में फिलहाल में सुना है समांतर कोचिंग अड्डे मौजूद है और फिलहाल में उत्कर्ष एक डिजिटल क्लासरूम ऑनलाइन पाठ्यक्रम के लिए नया आई मार्केट खुल चुका है जो बहुत ही अच्छा है और निर्मल सर उसके अंदर बहुत सारे स्टूडेंट के लिए अलग-अलग तरह के आकर्षक ऑफर लेकर आते हैं तो बहुत ही अच्छा फैकल्टीज के साथ वहां पढ़ाई होती है और अच्छे से पढ़ाई होती है तो आने वाली ट्रेन में और आज के जो वर्तमान में ऑनलाइन पढ़ाई कब है तो बहुत ज्यादा हो गया धन्यवाद दोस्तों
Dosto aap ka savaal hai kya ab onalain padhaee bhaarat kee bhavishy hone vaalee hai to bhaarat mein skool aur kolej samet tamaam shikshan sansthaan apane seksee 70 poore kar paate hain isase pahale hee kuraan se kaise chalate 10 maarch se band kar diya gaya aur log daun avadhi ke kaard onalain shikshan shatak poora karane kee koshish kee gaee ki shiksha sansthaan mein kaksha dhaaree kee imtihaan lambit the aur modal sekendaree kaksha onalain karaane mein jo jaise vivaadaaspad pletaphaarm ka sahaara liya gaya ki googal to kisaka eps ke jarie kakshaen huee yootyoob par onalain saamagree taiyaar kee gaee aur lekchar kaksha veediyo pee 4 onalain daale gae vhaatsep ke maadhyam se vidyaarthiyon ka samooh mein bheja gaya lekin adhikaansh sthaan onalain pareeksha ke lie taiyaar nahin hai jaanakaar logon ka maanana hai ki aaee dee jaise sansthaan antim varsh ke chhaatron ko pareeksha onalain kara sakate hain vaastavik duniya mein kort kee desh ko bachao ke jahaan mein halachal kee beech varchual sansaar mein khaamosh aur gam aagaamee machee huee hai ghar ko dekhate hue kaaran kaun taim hee nahin balki onalain kaamakaaj onalain padhaee ke thikaane ban gaee yah silasila kareeb det mein pichhale 1 saal se jor shor se chala aa raha hai idhar bahut hee shaikshanik sansthaan garmiyon kee chhuttiyaan ghoshit ho chukee hai aur kaee sanstha mein chand apekshit kar rahe hain varchual koching sentar banaana kee hod bhee lagee ved jaise raajasthaan kee kota jaise nadiyon mein koching mein philahaal mein suna hai samaantar koching adde maujood hai aur philahaal mein utkarsh ek dijital klaasaroom onalain paathyakram ke lie naya aaee maarket khul chuka hai jo bahut hee achchha hai aur nirmal sar usake andar bahut saare stoodent ke lie alag-alag tarah ke aakarshak ophar lekar aate hain to bahut hee achchha phaikalteej ke saath vahaan padhaee hotee hai aur achchhe se padhaee hotee hai to aane vaalee tren mein aur aaj ke jo vartamaan mein onalain padhaee kab hai to bahut jyaada ho gaya dhanyavaad doston

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
3:01
नमस्कार साथियों सवाल है क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो साथियों जो ऑनलाइन पढ़ाई है इस पर तो काफी लोग कहते हैं कि यह नहीं सही है वैसे ही अच्छा होता है लेकिन हमारे ख्याल से अगर कहा जाए तो ऑनलाइन पढ़ाई बहुत ही अच्छा है बेटा बेहतर है आपको यूट्यूब पर पढ़ सकते हो सबसे अच्छा हमें लगता है कि जैसे हम मैथ पढ़ना शुरू किए ठीक है और हमें इन टीचर का अच्छा नहीं लग रहा है पहने का स्टाइल नहीं सही लग रहा है तो हम तुरंत दूसरे जो पसंदीदा होंगे उनको हम देखेंगे जो अच्छा जिससे हमें समझ में आए हम उससे पढ़ सकते हैं हमें कोई ज्यादा फीस ऐसा नहीं है कि यह बढ़िया पढ़ाते हैं तो इनसे ज्यादा फीस लेंगे ऐसी कोई बात नहीं होगी उसमें और हम जिसको एक पसंदीदा बनाते हैं उन्हीं का सारी वीडियो देखने पर हमारा सहारी चीज क्लियर हो जाता है तो सबसे अच्छा यह है और जब हम ऑफलाइन पढ़ते हैं कोचिंग में जाते हैं जयपुर फीस निर्धारित हो जाती है और सबसे बड़ी बात कि हम अगर हमें नहीं अच्छा लग रहा है तब भी हमें पढ़ना पड़ता है और एक चीज अलग की बात है कि हमें कोचिंग में जैसे हमें घंटे के लिए बैठे हैं तो बैठकर पढ़ते हैं और मोबाइल में ऑनलाइन में क्या है कि हम जैसे पढ़ाई करते हैं घर पर तो छोड़कर बीच में वीडियो को चले जाते हैं तो ऐसा नहीं है अगर हमारे पढ़ने का जुनून है ना तो फिर चाहे हम कोचिंग में हो चाहे रूम पर हम पढ़ लेंगे साथियों और ऐसा कालेजों में भी होना चाहिए हर एक कालेज में कि वहां पर सिस्टम लगे और सिस्टमैटिक ढंग से प्रैक्टिकली चीजों को वीडियो हर एक चीज पर वीडियो बनी हुई है तो कालेजों में वीडियो हर एक चीज का वीडियो दिखाओ और क्लियर क्लीयरली प्रैक्टिकली दिखाओ लड़कों को इतना माइंड में भर दो ना कि लड़के रखना बंद कर दें और इतना ही सबसे बड़ी कमजोरी हो जाती है लड़कों की क्योंकि रख लेते हैं पेपर देते हैं पास हो जाते हैं और भूल जाते हैं उन्हें भी दिखाया जाए तू दिमाग यार बहुत बड़ा होता है उसने बहुत कुछ समाहित हो सकता है लेकिन रेट के लिए कुछ दिखाया ही नहीं जाता है आयोग की आपको समझ में कुछ आया होगा साथियों हमारा यूट्यूब चैनल है जिसका नाम है टेक्विटी विजय आप सर्च कर लीजिएगा सर्च बारे में यूट्यूब पर जा करके या तो फिर हमारे प्रोफाइल में लिंक दिया हुआ है आप वहां से हमारे चैनल पर विजिट कर सकते हो और आपको तनिक भी अच्छा लगे ना तो एक बार सब्सक्राइब कर दीजिए तब तक के लिए जय हिंद वंदे मातरम
Namaskaar saathiyon savaal hai kya ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to saathiyon jo onalain padhaee hai is par to kaaphee log kahate hain ki yah nahin sahee hai vaise hee achchha hota hai lekin hamaare khyaal se agar kaha jae to onalain padhaee bahut hee achchha hai beta behatar hai aapako yootyoob par padh sakate ho sabase achchha hamen lagata hai ki jaise ham maith padhana shuroo kie theek hai aur hamen in teechar ka achchha nahin lag raha hai pahane ka stail nahin sahee lag raha hai to ham turant doosare jo pasandeeda honge unako ham dekhenge jo achchha jisase hamen samajh mein aae ham usase padh sakate hain hamen koee jyaada phees aisa nahin hai ki yah badhiya padhaate hain to inase jyaada phees lenge aisee koee baat nahin hogee usamen aur ham jisako ek pasandeeda banaate hain unheen ka saaree veediyo dekhane par hamaara sahaaree cheej kliyar ho jaata hai to sabase achchha yah hai aur jab ham ophalain padhate hain koching mein jaate hain jayapur phees nirdhaarit ho jaatee hai aur sabase badee baat ki ham agar hamen nahin achchha lag raha hai tab bhee hamen padhana padata hai aur ek cheej alag kee baat hai ki hamen koching mein jaise hamen ghante ke lie baithe hain to baithakar padhate hain aur mobail mein onalain mein kya hai ki ham jaise padhaee karate hain ghar par to chhodakar beech mein veediyo ko chale jaate hain to aisa nahin hai agar hamaare padhane ka junoon hai na to phir chaahe ham koching mein ho chaahe room par ham padh lenge saathiyon aur aisa kaalejon mein bhee hona chaahie har ek kaalej mein ki vahaan par sistam lage aur sistamaitik dhang se praiktikalee cheejon ko veediyo har ek cheej par veediyo banee huee hai to kaalejon mein veediyo har ek cheej ka veediyo dikhao aur kliyar kleeyaralee praiktikalee dikhao ladakon ko itana maind mein bhar do na ki ladake rakhana band kar den aur itana hee sabase badee kamajoree ho jaatee hai ladakon kee kyonki rakh lete hain pepar dete hain paas ho jaate hain aur bhool jaate hain unhen bhee dikhaaya jae too dimaag yaar bahut bada hota hai usane bahut kuchh samaahit ho sakata hai lekin ret ke lie kuchh dikhaaya hee nahin jaata hai aayog kee aapako samajh mein kuchh aaya hoga saathiyon hamaara yootyoob chainal hai jisaka naam hai tekvitee vijay aap sarch kar leejiega sarch baare mein yootyoob par ja karake ya to phir hamaare prophail mein link diya hua hai aap vahaan se hamaare chainal par vijit kar sakate ho aur aapako tanik bhee achchha lage na to ek baar sabsakraib kar deejie tab tak ke lie jay hind vande maataram

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:41
आशा दोस्तों प्रश्न है कि अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो दोस्तों ऐसा अभी हम कह नहीं सकते हैं क्योंकि अभी भारत में ऐसी ज्यादा सुविधाएं नहीं है इंटरनेट की सुविधा नहीं है गांव गांव तक इंटरनेट पहुंचा नहीं है और इंटरनेट की बात तो दूर बहुत सारे गांव में अभी बिजली भी पूर्ण समय पर उपलब्ध नहीं रहती है कई जगह 5 घंटे 8 घंटे और कई जगह तो बिजली ही पहुंच नहीं पाई है लेकिन यह कथन गलत नहीं होगा कि ऑनलाइन जो क्लासेस ने जो भ्रांतियां थी लोगों के दिमाग में माता-पिता के किस्से आंखें खराब होती है इससे यह हो जाता है उसने इंटरनेट में ऑनलाइन क्लास में करो ना काल में कहीं ना कहीं अपनी एक जगह बना ली है स्थित जगह बना ली है वह हो सकता है पर तीस परसेंट ही हो 30 परसेंट ही हो पचास परसेंट ही हो वह तो वक्त बताएगा लेकिन बिल्कुल पूर्ण रूप से ऑनलाइन पढ़ाई ऐसा संभव नहीं है भारत में किताबें जीवित है स्कूल जीवित रहेगी हां लेकिन जो प्रोफेशनल क्लासेस हैं उनके लिए एक दायरा बढ़ गया है आज जैसे कि हम दिल्ली तक ही सीमित है पढ़ाने के लिए टेली अगर हम कहीं और कहां चाहते हैं तो ऑनलाइन के माध्यम से इतने सारे आजकल प्लेटफार्म उपलब्ध हो गए हैं कि आसानी से हम किसी लोगों को जोड़ सकते हैं और जो जोड़ने वाला विद्यार्थी है उसके मन में शांति होती थी कि ऑनलाइन से कैसे पढ़ाई की जा सकती है उसने मजबूरी नहीं की है तो वह भी इस टेक्नोलॉजी को ऑनलाइन वाले को स्वीकार कर लेगा और आसानी से जो है ज्ञान की गंगा पूरे देश में विश्व में फैल सकती है खासतौर से प्रोफेशनल्स के लिए धन्यवाद
Aasha doston prashn hai ki ab onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to doston aisa abhee ham kah nahin sakate hain kyonki abhee bhaarat mein aisee jyaada suvidhaen nahin hai intaranet kee suvidha nahin hai gaanv gaanv tak intaranet pahuncha nahin hai aur intaranet kee baat to door bahut saare gaanv mein abhee bijalee bhee poorn samay par upalabdh nahin rahatee hai kaee jagah 5 ghante 8 ghante aur kaee jagah to bijalee hee pahunch nahin paee hai lekin yah kathan galat nahin hoga ki onalain jo klaases ne jo bhraantiyaan thee logon ke dimaag mein maata-pita ke kisse aankhen kharaab hotee hai isase yah ho jaata hai usane intaranet mein onalain klaas mein karo na kaal mein kaheen na kaheen apanee ek jagah bana lee hai sthit jagah bana lee hai vah ho sakata hai par tees parasent hee ho 30 parasent hee ho pachaas parasent hee ho vah to vakt bataega lekin bilkul poorn roop se onalain padhaee aisa sambhav nahin hai bhaarat mein kitaaben jeevit hai skool jeevit rahegee haan lekin jo propheshanal klaases hain unake lie ek daayara badh gaya hai aaj jaise ki ham dillee tak hee seemit hai padhaane ke lie telee agar ham kaheen aur kahaan chaahate hain to onalain ke maadhyam se itane saare aajakal pletaphaarm upalabdh ho gae hain ki aasaanee se ham kisee logon ko jod sakate hain aur jo jodane vaala vidyaarthee hai usake man mein shaanti hotee thee ki onalain se kaise padhaee kee ja sakatee hai usane majabooree nahin kee hai to vah bhee is teknolojee ko onalain vaale ko sveekaar kar lega aur aasaanee se jo hai gyaan kee ganga poore desh mein vishv mein phail sakatee hai khaasataur se propheshanals ke lie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:35
वाले क्या ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो देखिए भारत का भविष्य में आ रहा हूं ऑनलाइन पढ़ाई की बात करें तो मुझे नहीं लगता है 65% रूप से ऑनलाइन पढ़ाई भारत में हो जाएगी लेकिन ऐसा है लॉक डाउन की वजह से भारत में ऑनलाइन जो पढ़ाई है वह कभी काफी हद तक ज्यादा अपेक्षा तक हो रहे हैं लेकिन नहीं अगला सत्र जो होगा उसमें ऑफलाइन पढ़ाई दर्जा दिया जाएगा तो भविष्य में ऑनलाइन पढ़ाई होगी लेकिन इतना नहीं कि जितना पहले ऑफलाइन होती थी उस की अपेक्षा में ज्यादा हो
Vaale kya onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to dekhie bhaarat ka bhavishy mein aa raha hoon onalain padhaee kee baat karen to mujhe nahin lagata hai 65% roop se onalain padhaee bhaarat mein ho jaegee lekin aisa hai lok daun kee vajah se bhaarat mein onalain jo padhaee hai vah kabhee kaaphee had tak jyaada apeksha tak ho rahe hain lekin nahin agala satr jo hoga usamen ophalain padhaee darja diya jaega to bhavishy mein onalain padhaee hogee lekin itana nahin ki jitana pahale ophalain hotee thee us kee apeksha mein jyaada ho

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
shekhar vishwakarma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shekhar जी का जवाब
Academic Content developer at ConnectEd
2:24
अगर हम बात करें तो हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने भारत को एक डिजिटल इंडिया बनाने के लिए बहुत सारे प्लान तैयार किए हैं बहुत सारी योजनाएं चलाई है इसके अंतर्गत हम कोई भी एप्लीकेशन कोई भी फॉर्म जमा कर सकते हैं हम ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं हम ऑनलाइन टिकट बुकिंग कर सकते हैं यहां तक कि हम उन्हें खाना भी मंगा सकते हैं तो यह सारी चीजें दो-तीन साल से बहुत ज्यादा ट्रेंडिंग में थी लेकिन जब से लॉकडाउन लगा लॉकडाउन में सारी व्यवस्था ठप हो गई ना दुकानें खुल रही थी ना स्कूल खुल रहे थे ना कॉलेज खुल जाए तू पढ़ाई को जारी रखने के लिए यह कदम उठाया गया तो था ऑनलाइन पढ़ाई ऑनलाइन पढ़ाई के लिए ऑनलाइन क्लास उसको चलाने के लिए दो-तीन ऐप भी बहुत ज्यादा फ्रेंड में आए जैसे रूम हो गया गूगल मीट हो गया प्लीज मिनट हो गया यह सारे ऐप्स अभी भी बहुत अच्छा कर रहे हैं हालांकि अभी भी स्कूल कॉलेज इसको मिले नहीं है इसलिए क्लासेस भी ऑनलाइन ही चल रही है तो मुझे ऐसा लगता है कि अब जो आने वाला वक्त में आने वाले 10 पंजाबी 25 साल हैं वह ऑनलाइन पढ़ाई पर ही निर्भर हो जाएंगे कहीं ना कहीं भी जब हम ऑनलाइन टीचिंग करते हैं ऑनलाइन पर आ सकते हैं तो हमारा खर्चा बहुत कम है खर्चा इस वजह से भी कम हो जाता है क्योंकि अकोमोडेशन जो होता है बैठने की व्यवस्था लाइटबेंड यह सारी चीजें टीचर को प्रोवाइड नहीं करनी होती है उस संस्थान को प्रोवाइड नहीं करनी है जब जब ऑफिस में भी कमी कर लेता है इसीलिए उचित दामों पर हम पढ़ाई भी कर सकते हैं सारी चीजें कर सकते हैं धन्यवाद
Agar ham baat karen to hamaare pradhaanamantree modee jee ne bhaarat ko ek dijital indiya banaane ke lie bahut saare plaan taiyaar kie hain bahut saaree yojanaen chalaee hai isake antargat ham koee bhee epleekeshan koee bhee phorm jama kar sakate hain ham onalain pement kar sakate hain ham onalain tikat buking kar sakate hain yahaan tak ki ham unhen khaana bhee manga sakate hain to yah saaree cheejen do-teen saal se bahut jyaada trending mein thee lekin jab se lokadaun laga lokadaun mein saaree vyavastha thap ho gaee na dukaanen khul rahee thee na skool khul rahe the na kolej khul jae too padhaee ko jaaree rakhane ke lie yah kadam uthaaya gaya to tha onalain padhaee onalain padhaee ke lie onalain klaas usako chalaane ke lie do-teen aip bhee bahut jyaada phrend mein aae jaise room ho gaya googal meet ho gaya pleej minat ho gaya yah saare aips abhee bhee bahut achchha kar rahe hain haalaanki abhee bhee skool kolej isako mile nahin hai isalie klaases bhee onalain hee chal rahee hai to mujhe aisa lagata hai ki ab jo aane vaala vakt mein aane vaale 10 panjaabee 25 saal hain vah onalain padhaee par hee nirbhar ho jaenge kaheen na kaheen bhee jab ham onalain teeching karate hain onalain par aa sakate hain to hamaara kharcha bahut kam hai kharcha is vajah se bhee kam ho jaata hai kyonki akomodeshan jo hota hai baithane kee vyavastha laitabend yah saaree cheejen teechar ko provaid nahin karanee hotee hai us sansthaan ko provaid nahin karanee hai jab jab ophis mein bhee kamee kar leta hai iseelie uchit daamon par ham padhaee bhee kar sakate hain saaree cheejen kar sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Hitesh jain Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Hitesh जी का जवाब
Blogger- Content Writer
2:46
क्या आप ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो मुझे नहीं लगता कि वह ऑनलाइन पड़ेगी दवाई भारत का भविष्य आने वाला है क्योंकि जो ऑफलाइन में बहुत सारे मतलब कारण है मान लीजिए जो हो सर बच्चे जो ऑफलाइन में भी नहीं पढ़ते हो ऑनलाइन में क्या पड़ेंगे और ऑनलाइन में भारत में हर राज्य में अच्छे से इंटरनेट स्पीड भी नहीं मिलती है तो काफी रीजन से अगर इंटरनेट स्पीड नहीं है तो वह ऑनलाइन अच्छे से नहीं पढ़ पाएंगे और अच्छे उनके पास डिवाइस इस नहीं है तो तो भी उनको ऑनलाइन पढ़ने में दिक्कत आएगी हां अगर आपके पास शब्द अच्छा डेजर्ट से अच्छी वाईफाई स्पीड 12 आप ऑनलाइन क्लासेस को अच्छे से अटेंड कर सकते हैं टाइम पर और दूसरी बात यह है कि ऑनलाइन सक्सेसफुल नहीं है और ना कभी होगा मेरे हिसाब से ऑफलाइन पढ़ाई ही बेस्ट पढ़ाई है क्योंकि उसमें आप जो भी आपके वेयर इज होती है वह आप फेस टू फेस क्लियर कर सकते लिख ऑनलाइन में आप अपना क्लियर नहीं कर पाते कितनी बार ऐसा होता है कि वाई-फाई की स्पीड आती जाती रहती है तो उसके हिसाब से कनेक्शन कट होता है तो हमें क्लियर सुनाई नहीं देता है जो हमारे टीचर से जो हमें पढ़ाते हैं अच्छे से तो हमें कई बार उनके और चीजों को ऑनलाइन नहीं समझ पाते जब उतना नहीं समझ पाते जितना कि फेस टू फेस हम नहीं समझ पाते हैं तो ऑनलाइन जो पढ़ाई है वो सक्सेसफुल नहीं है मेरे सबसे वरना शायद कभी होगी तो ऑफलाइन पढ़ाई ही अच्छी है और सब कुछ ऑनलाइन कर देना यह सही बात भी नहीं है क्योंकि इससे आपकी आंखों पर जोर भी पड़ता है आप कितना मतलब ऑनलाइन पड़ेंगे फिर आपको ऑनलाइन पढ़ने के बाद जो भी ऑनलाइन ही करनी है अगर किसी क्षेत्र में लैपटॉप में तो इससे आपके आंखों पर भी काफी प्रभाव पड़ता है दिमाग पर भी प्रभाव पड़ता है आप जितना ऑफलाइन पड़ेंगे जितना अच्छे से किताबों को के साथ पड़ेंगे किताबों को मित्र बनाते हैं पड़ेंगे किताबों के साथ पढ़ेंगे उतना आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा और आपका जो पढ़ाई का तरीका है वह भी ऐसा ही बना रहेगा जैसे आप पढ़ पाएंगे तो मेरे हिसाब से तो ऑनलाइन पढ़ाई सक्सेसफुल नहीं है और ना शायद कभी होगी क्योंकि बिकॉज जाओ तो बहुत सारी रीज़न मैंने बताए तो इंटरनेट की स्पीड है एक डिवाइस है और एक भारत में हर जगह इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध हर क्षेत्र में उपलब्ध होगा अच्छे अच्छे नहीं है गांव गांव में इंटरनेट अभी तक नहीं पहुंचा है तो ऑनलाइन होना बहुत ही मुश्किल है तो जो ऑफलाइन है वही अच्छा है और जो किताबों से हम पढ़ते आएंगे वही सबसे बेस्ट तरीका है तो थैंक यू धन्यवाद आई होप यू लाइक प्लीज कमेंट करें लाइक शेयर सब्सक्राइब करें
Kya aap onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to mujhe nahin lagata ki vah onalain padegee davaee bhaarat ka bhavishy aane vaala hai kyonki jo ophalain mein bahut saare matalab kaaran hai maan leejie jo ho sar bachche jo ophalain mein bhee nahin padhate ho onalain mein kya padenge aur onalain mein bhaarat mein har raajy mein achchhe se intaranet speed bhee nahin milatee hai to kaaphee reejan se agar intaranet speed nahin hai to vah onalain achchhe se nahin padh paenge aur achchhe unake paas divais is nahin hai to to bhee unako onalain padhane mein dikkat aaegee haan agar aapake paas shabd achchha dejart se achchhee vaeephaee speed 12 aap onalain klaases ko achchhe se atend kar sakate hain taim par aur doosaree baat yah hai ki onalain saksesaphul nahin hai aur na kabhee hoga mere hisaab se ophalain padhaee hee best padhaee hai kyonki usamen aap jo bhee aapake veyar ij hotee hai vah aap phes too phes kliyar kar sakate likh onalain mein aap apana kliyar nahin kar paate kitanee baar aisa hota hai ki vaee-phaee kee speed aatee jaatee rahatee hai to usake hisaab se kanekshan kat hota hai to hamen kliyar sunaee nahin deta hai jo hamaare teechar se jo hamen padhaate hain achchhe se to hamen kaee baar unake aur cheejon ko onalain nahin samajh paate jab utana nahin samajh paate jitana ki phes too phes ham nahin samajh paate hain to onalain jo padhaee hai vo saksesaphul nahin hai mere sabase varana shaayad kabhee hogee to ophalain padhaee hee achchhee hai aur sab kuchh onalain kar dena yah sahee baat bhee nahin hai kyonki isase aapakee aankhon par jor bhee padata hai aap kitana matalab onalain padenge phir aapako onalain padhane ke baad jo bhee onalain hee karanee hai agar kisee kshetr mein laipatop mein to isase aapake aankhon par bhee kaaphee prabhaav padata hai dimaag par bhee prabhaav padata hai aap jitana ophalain padenge jitana achchhe se kitaabon ko ke saath padenge kitaabon ko mitr banaate hain padenge kitaabon ke saath padhenge utana aapaka svaasthy bhee achchha rahega aur aapaka jo padhaee ka tareeka hai vah bhee aisa hee bana rahega jaise aap padh paenge to mere hisaab se to onalain padhaee saksesaphul nahin hai aur na shaayad kabhee hogee kyonki bikoj jao to bahut saaree reezan mainne batae to intaranet kee speed hai ek divais hai aur ek bhaarat mein har jagah intaranet kee suvidha upalabdh har kshetr mein upalabdh hoga achchhe achchhe nahin hai gaanv gaanv mein intaranet abhee tak nahin pahuncha hai to onalain hona bahut hee mushkil hai to jo ophalain hai vahee achchha hai aur jo kitaabon se ham padhate aaenge vahee sabase best tareeka hai to thaink yoo dhanyavaad aaee hop yoo laik pleej kament karen laik sheyar sabsakraib karen

bolkar speaker
क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है?Kya Ab Online Padhai Bharat Ka Bhavishya Hone Vala Hai
Hitesh jain Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Hitesh जी का जवाब
Non
2:46
क्या आप ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला है तो मुझे नहीं लगता कि वह ऑनलाइन पड़ेगी दवाई भारत का भविष्य आने वाला है क्योंकि जो ऑफलाइन में बहुत सारे मतलब कारण है मान लीजिए जो हो सर बच्चे जो ऑफलाइन में भी नहीं पढ़ते हो ऑनलाइन में क्या पड़ेंगे और ऑनलाइन में भारत में हर राज्य में अच्छे से इंटरनेट स्पीड भी नहीं मिलती है तो काफी रीजन से अगर इंटरनेट स्पीड नहीं है तो वह ऑनलाइन अच्छे से नहीं पढ़ पाएंगे और अच्छे उनके पास डिवाइस इस नहीं है तो तो भी उनको ऑनलाइन पढ़ने में दिक्कत आएगी हां अगर आपके पास शब्द अच्छा डेजर्ट से अच्छी वाईफाई स्पीड 12 आप ऑनलाइन क्लासेस को अच्छे से अटेंड कर सकते हैं टाइम पर और दूसरी बात यह है कि ऑनलाइन सक्सेसफुल नहीं है और ना कभी होगा मेरे हिसाब से ऑफलाइन पढ़ाई ही बेस्ट पढ़ाई है क्योंकि उसमें आप जो भी आपके वेयर इज होती है वह आप फेस टू फेस क्लियर कर सकते लिख ऑनलाइन में आप अपना क्लियर नहीं कर पाते कितनी बार ऐसा होता है कि वाई-फाई की स्पीड आती जाती रहती है तो उसके हिसाब से कनेक्शन कट होता है तो हमें क्लियर सुनाई नहीं देता है जो हमारे टीचर से जो हमें पढ़ाते हैं अच्छे से तो हमें कई बार उनके और चीजों को ऑनलाइन नहीं समझ पाते जब उतना नहीं समझ पाते जितना कि फेस टू फेस हम नहीं समझ पाते हैं तो ऑनलाइन जो पढ़ाई है वो सक्सेसफुल नहीं है मेरे सबसे वरना शायद कभी होगी तो ऑफलाइन पढ़ाई ही अच्छी है और सब कुछ ऑनलाइन कर देना यह सही बात भी नहीं है क्योंकि इससे आपकी आंखों पर जोर भी पड़ता है आप कितना मतलब ऑनलाइन पड़ेंगे फिर आपको ऑनलाइन पढ़ने के बाद जो भी ऑनलाइन ही करनी है अगर किसी क्षेत्र में लैपटॉप में तो इससे आपके आंखों पर भी काफी प्रभाव पड़ता है दिमाग पर भी प्रभाव पड़ता है आप जितना ऑफलाइन पड़ेंगे जितना अच्छे से किताबों को के साथ पड़ेंगे किताबों को मित्र बनाते हैं पड़ेंगे किताबों के साथ पढ़ेंगे उतना आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा और आपका जो पढ़ाई का तरीका है वह भी ऐसा ही बना रहेगा जैसे आप पढ़ पाएंगे तो मेरे हिसाब से तो ऑनलाइन पढ़ाई सक्सेसफुल नहीं है और ना शायद कभी होगी क्योंकि बिकॉज जाओ तो बहुत सारी रीज़न मैंने बताए तो इंटरनेट की स्पीड है एक डिवाइस है और एक भारत में हर जगह इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध हर क्षेत्र में उपलब्ध होगा अच्छे अच्छे नहीं है गांव गांव में इंटरनेट अभी तक नहीं पहुंचा है तो ऑनलाइन होना बहुत ही मुश्किल है तो जो ऑफलाइन है वही अच्छा है और जो किताबों से हम पढ़ते आएंगे वही सबसे बेस्ट तरीका है तो थैंक यू धन्यवाद आई होप यू लाइक प्लीज कमेंट करें लाइक शेयर सब्सक्राइब करें
Kya aap onalain padhaee bhaarat ka bhavishy hone vaala hai to mujhe nahin lagata ki vah onalain padegee davaee bhaarat ka bhavishy aane vaala hai kyonki jo ophalain mein bahut saare matalab kaaran hai maan leejie jo ho sar bachche jo ophalain mein bhee nahin padhate ho onalain mein kya padenge aur onalain mein bhaarat mein har raajy mein achchhe se intaranet speed bhee nahin milatee hai to kaaphee reejan se agar intaranet speed nahin hai to vah onalain achchhe se nahin padh paenge aur achchhe unake paas divais is nahin hai to to bhee unako onalain padhane mein dikkat aaegee haan agar aapake paas shabd achchha dejart se achchhee vaeephaee speed 12 aap onalain klaases ko achchhe se atend kar sakate hain taim par aur doosaree baat yah hai ki onalain saksesaphul nahin hai aur na kabhee hoga mere hisaab se ophalain padhaee hee best padhaee hai kyonki usamen aap jo bhee aapake veyar ij hotee hai vah aap phes too phes kliyar kar sakate likh onalain mein aap apana kliyar nahin kar paate kitanee baar aisa hota hai ki vaee-phaee kee speed aatee jaatee rahatee hai to usake hisaab se kanekshan kat hota hai to hamen kliyar sunaee nahin deta hai jo hamaare teechar se jo hamen padhaate hain achchhe se to hamen kaee baar unake aur cheejon ko onalain nahin samajh paate jab utana nahin samajh paate jitana ki phes too phes ham nahin samajh paate hain to onalain jo padhaee hai vo saksesaphul nahin hai mere sabase varana shaayad kabhee hogee to ophalain padhaee hee achchhee hai aur sab kuchh onalain kar dena yah sahee baat bhee nahin hai kyonki isase aapakee aankhon par jor bhee padata hai aap kitana matalab onalain padenge phir aapako onalain padhane ke baad jo bhee onalain hee karanee hai agar kisee kshetr mein laipatop mein to isase aapake aankhon par bhee kaaphee prabhaav padata hai dimaag par bhee prabhaav padata hai aap jitana ophalain padenge jitana achchhe se kitaabon ko ke saath padenge kitaabon ko mitr banaate hain padenge kitaabon ke saath padhenge utana aapaka svaasthy bhee achchha rahega aur aapaka jo padhaee ka tareeka hai vah bhee aisa hee bana rahega jaise aap padh paenge to mere hisaab se to onalain padhaee saksesaphul nahin hai aur na shaayad kabhee hogee kyonki bikoj jao to bahut saaree reezan mainne batae to intaranet kee speed hai ek divais hai aur ek bhaarat mein har jagah intaranet kee suvidha upalabdh har kshetr mein upalabdh hoga achchhe achchhe nahin hai gaanv gaanv mein intaranet abhee tak nahin pahuncha hai to onalain hona bahut hee mushkil hai to jo ophalain hai vahee achchha hai aur jo kitaabon se ham padhate aaenge vahee sabase best tareeka hai to thaink yoo dhanyavaad aaee hop yoo laik pleej kament karen laik sheyar sabsakraib karen

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या अब ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य होने वाला ऑनलाइन पढ़ाई भारत का भविष्य
URL copied to clipboard