#धर्म और ज्योतिषी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:41
पड़ा काफी लंबा था डायरेक्ट भर्ती के लिए देना उचित समझ रहा हूं लेकिन दोस्तों जो भी व्यक्ति 2014 में भी भूखे नंगे थे और आज भी हैं वे 2014 में चक्कर में प्रदर्शन लेते थे और आजकल आप को आत्मनिर्भर बनने की बात कर रहे हैं देखिए पूरी तरीके से वही लोग हैं जिनका ब्रेनवाश हो चुका है गवर्नमेंट का पक्ष रख रहे हैं और कुछ नहीं इन लोगों ने भक्ति का चश्मा पहन रखा है कि इन्हें बुरा ही चीज है जो है वह भी अच्छी लग रही है हिंदुओं के नाम पर गाय के नाम पर राम मंदिर के नाम पर कुछ भी करने के लिए उतारू हो सकते हैं परंतु इस देश की बेरोजगारी के ऊपर इस देश की महिलाओं के ऊपर इस देश के लोगों के ऊपर जो हो रहा है उसके ऊपर जो प्रतिक्रिया वह कुछ नहीं देने वाले
Pada kaaphee lamba tha daayarekt bhartee ke lie dena uchit samajh raha hoon lekin doston jo bhee vyakti 2014 mein bhee bhookhe nange the aur aaj bhee hain ve 2014 mein chakkar mein pradarshan lete the aur aajakal aap ko aatmanirbhar banane kee baat kar rahe hain dekhie pooree tareeke se vahee log hain jinaka brenavaash ho chuka hai gavarnament ka paksh rakh rahe hain aur kuchh nahin in logon ne bhakti ka chashma pahan rakha hai ki inhen bura hee cheej hai jo hai vah bhee achchhee lag rahee hai hinduon ke naam par gaay ke naam par raam mandir ke naam par kuchh bhee karane ke lie utaaroo ho sakate hain parantu is desh kee berojagaaree ke oopar is desh kee mahilaon ke oopar is desh ke logon ke oopar jo ho raha hai usake oopar jo pratikriya vah kuchh nahin dene vaale
  • सवाल पूछने के लिए ऐप डाउनलोड करें
  • सवाल पूछने के लिए ऎप डाउनलोड करें
  • Download App

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard