#भारत की राजनीति

RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
0:52
प्ले 2021 में भारत की जीडीपी ग्रोथ करने के लिए सबसे ज्यादा ध्यान आपका ऑटो सेक्टर दिया गया है अभी आप देखना है कि पेट्रोल और डीजल की गाड़ियां चल रही है लेकिन आज कुछ समय बाद अब इलेक्ट्रिक बिल संगीतकार हो चाहे टू व्हीलर सोचा कुछ भी होता को कुछ दिन बाद में बैठा लेंगे क्योंकि पेट्रोल की खपत को कम करना है और हमारे पतंग दुकान पहुंच रहा है और सभी देशों के पास है कि जो गाड़ियां हैं वह इलेक्ट्रिक हो जाए वह बैटरी से चला तो बढ़िया है तो ऑटोमोबाइल सेक्टर हो गया इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर हो गया इस पर ज्यादा ध्यान दिया गया किसी हो गया किसी तो बहुत जरूरी है तो ध्यान देना हमेशा पड़ेगा क्योंकि भाई इससे यह भी है कृषि उसके बाद ही कुछ है तो किसी क्षेत्र हो गया हटूंगा क्षेत्र में इलेक्ट्रानिक्स हो गया बॉस 12 के इन सब चीजों पर ध्यान दिया क्या
Ple 2021 mein bhaarat kee jeedeepee groth karane ke lie sabase jyaada dhyaan aapaka oto sektar diya gaya hai abhee aap dekhana hai ki petrol aur deejal kee gaadiyaan chal rahee hai lekin aaj kuchh samay baad ab ilektrik bil sangeetakaar ho chaahe too vheelar socha kuchh bhee hota ko kuchh din baad mein baitha lenge kyonki petrol kee khapat ko kam karana hai aur hamaare patang dukaan pahunch raha hai aur sabhee deshon ke paas hai ki jo gaadiyaan hain vah ilektrik ho jae vah baitaree se chala to badhiya hai to otomobail sektar ho gaya ilektroniks sektar ho gaya is par jyaada dhyaan diya gaya kisee ho gaya kisee to bahut jarooree hai to dhyaan dena hamesha padega kyonki bhaee isase yah bhee hai krshi usake baad hee kuchh hai to kisee kshetr ho gaya hatoonga kshetr mein ilektraaniks ho gaya bos 12 ke in sab cheejon par dhyaan diya kya

और जवाब सुनें

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:49
सवाल ये है कि 2021 बजट में भारत की जीडीपी की ग्रोथ करने के लिए क्रिकेट सेक्टर पर ज्यादा ध्यान दिया गया है इसके लिए कृषि सेक्टर रेलवे सेक्टर 18 सेक्टर स्वास्थ्य समिति कोरोनावायरस इन आत्मनिर्भर भारत जल जीवन मिशन जैसे सेक्टर पर ज्यादा ध्यान दिया गया है नए कानूनों नई कृषि कानूनों से नाराज किसानों को मनाने के लिए सरकार ने बजट में साफ कर दिया कि साल 2021 22 कृषि कृषि ऋण को और अधिक पढ़ाया जाएगा इस बार इसे बढ़ाकर 16.5 लाख करोड़ रुपए का लक्ष्य है जबकि पिछली बार ही है 15 लाख करोड़ रुपए था इसके अलावा सरकार ने सभी फसलों पर उत्पादन लागत को कम से कम डेढ़ गुना अधिक एमएसपी दे रही है वित्त मंत्री ने बताया कि किसानों के लिए किए जाने वाले भुगतान में तेजी आई है उन्होंने बताया कि गेहूं के लिए किसान को 75060 और दालों के लिए 10503 करोड रुपए का भुगतान सदन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने स्वास्थ्य सेक्टर को लेकर कई बातें कहीं हैं वित्त मंत्री ने कहा कि साल 2021 22 के लिए स्वास्थ्य सेक्टर को 2.38 लाख रुपए आवंटित किए जाएंगे जिसके बाद स्वास्थ्य बजट पिछले साल के मुकाबले 135 फ़ीसदी बढ़ गया है अब तो मंत्री सीतारमण ने आम बजट में 64180 करोड रुपए के परिवार के साथ आत्मनिर्भर स्वास्थ्य कारणों का कार्यक्रम शुरू करने का प्रस्ताव रखा है इसके तहत देश भर में 75000 हेल्थ सेंटर बनाए जाएंगे जिसमें 17 नए हेल्प यूनियन यूनिट शुरू किए जाएंगे स्वास्थ्य का बजट में 94000 करोड रुपए से बढ़ाकर 2.2 तीन लाख करोड़ रुपए कर दिया गया है कोरोनावायरस इन के लिए 35000 करोड रुपए का रखे गए हैं किसानों और स्वास्थ्य सेक्टर के अलावा मंत्री रेलवे पर भी मेहरबान दिखी रेलवे के लिए वित्त मंत्री ने 110000 करोड रुपए का बजट बनाया है बजट में सरकार ने कहा कि नए राष्ट्रीय रेल योजना बनाई जाएगी इसके अलावा सरकार ने राष्ट्रीय रेल योजना को भी 2030 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021 बजट में सड़क परिवहन और राजमार्ग ओ को ध्यान में रखते हुए बड़ी घोषणा ही है बजट भाषण में सड़क निर्माण पर विशेष ध्यान दिया गया है ताकि यातायात को सुगम बनाया जा सके भारतमाला परियोजना के तहत मार्च 2022 तक सरकार ने 8:30 हजार किलोमीटर और नेशनल हाईवे कॉरिडोर के तहत 11000 किलोमीटर तक सड़क बनाने की बात कही है
Savaal ye hai ki 2021 bajat mein bhaarat kee jeedeepee kee groth karane ke lie kriket sektar par jyaada dhyaan diya gaya hai isake lie krshi sektar relave sektar 18 sektar svaasthy samiti koronaavaayaras in aatmanirbhar bhaarat jal jeevan mishan jaise sektar par jyaada dhyaan diya gaya hai nae kaanoonon naee krshi kaanoonon se naaraaj kisaanon ko manaane ke lie sarakaar ne bajat mein saaph kar diya ki saal 2021 22 krshi krshi rn ko aur adhik padhaaya jaega is baar ise badhaakar 16.5 laakh karod rupe ka lakshy hai jabaki pichhalee baar hee hai 15 laakh karod rupe tha isake alaava sarakaar ne sabhee phasalon par utpaadan laagat ko kam se kam dedh guna adhik emesapee de rahee hai vitt mantree ne bataaya ki kisaanon ke lie kie jaane vaale bhugataan mein tejee aaee hai unhonne bataaya ki gehoon ke lie kisaan ko 75060 aur daalon ke lie 10503 karod rupe ka bhugataan sadan mein vitt mantree nirmala seetaaraman ne svaasthy sektar ko lekar kaee baaten kaheen hain vitt mantree ne kaha ki saal 2021 22 ke lie svaasthy sektar ko 2.38 laakh rupe aavantit kie jaenge jisake baad svaasthy bajat pichhale saal ke mukaabale 135 feesadee badh gaya hai ab to mantree seetaaraman ne aam bajat mein 64180 karod rupe ke parivaar ke saath aatmanirbhar svaasthy kaaranon ka kaaryakram shuroo karane ka prastaav rakha hai isake tahat desh bhar mein 75000 helth sentar banae jaenge jisamen 17 nae help yooniyan yoonit shuroo kie jaenge svaasthy ka bajat mein 94000 karod rupe se badhaakar 2.2 teen laakh karod rupe kar diya gaya hai koronaavaayaras in ke lie 35000 karod rupe ka rakhe gae hain kisaanon aur svaasthy sektar ke alaava mantree relave par bhee meharabaan dikhee relave ke lie vitt mantree ne 110000 karod rupe ka bajat banaaya hai bajat mein sarakaar ne kaha ki nae raashtreey rel yojana banaee jaegee isake alaava sarakaar ne raashtreey rel yojana ko bhee 2030 tak poora karane ka lakshy rakha hai kendreey vitt mantree nirmala seetaaraman ne 2021 bajat mein sadak parivahan aur raajamaarg o ko dhyaan mein rakhate hue badee ghoshana hee hai bajat bhaashan mein sadak nirmaan par vishesh dhyaan diya gaya hai taaki yaataayaat ko sugam banaaya ja sake bhaaratamaala pariyojana ke tahat maarch 2022 tak sarakaar ne 8:30 hajaar kilomeetar aur neshanal haeeve koridor ke tahat 11000 kilomeetar tak sadak banaane kee baat kahee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • 2021 बजट में भारत की जीडीपी को ग्रोथ करने के लिए किन-किन सेक्टर पर ज्यादा ध्यान दिया जीडीपी को ग्रोथ करने के लिए किन-किन सेक्टर पर ज्यादा ध्यान दिया
URL copied to clipboard