#रिश्ते और संबंध

Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
1:44
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप कॉलेज चौक पनि है कमाओ नजदीक सिक्का बात करें तो एक असहनीय पीड़ा का एहसास होता है कभी-कभी ऐसा होता है कि या फिर जो लड़कियों के मुझे संगत में पड़कर कि मैं बिगड़ जाते हैं ऐसे बोलते हैं कि मैं मेरे बस की बात नहीं आपको कमाने खिलाने कि आप निश्चित अपनी व्यवस्था कर लीजिए मैं आपके साथ नहीं रहूंगा मैं आपसे अब मतलब परिवार से अलग रहूंगा तो नीचे पुत्र कहते थे कि निश्चित तौर पर वहां पर मिलो जिसका सुनाना भविष्य देखने के लिए 24:00 कड़ी मेहनत करते हैं मन अपना शरीर नहीं देते धन कमाने के लिए मिले उसका भविष्य बनाने के लिए अच्छा अच्छी पढ़ाई देने के लिए हर चीज में उसकी हालत अब बेहतर भविष्य के लिए करते हैं लेकिन बाद में क्या होता है कि जब उसकी शादी हो जाती है और अब वह निश्चित कमाने खाने की योग्य हो जाता है तो निश्चित अच्छी बातें बोलने लगता है कि आप मुझे अपना ही कम हो मेरे बस की बात नहीं मैं आपको नहीं खिलाऊंगा तुम्हें तो उसे समझाने की बात क्या है कि आप से ही समझा कर देखे निश्चित तौर पर यह बात गलत कर रहे हो जब तुम छोटे थे तुम्हें किसने की लाइफ में इतना बड़ा किसने किया मैंने तो किया तो मतलब तुम्हें इतना बड़ा हमने कर दिया तुम्हें बताओ तुम हमें नहीं खिलाओगे मैं तो बड़ा हो गया हूं धीरे-धीरे तो बेटा मैं कहां पर काम आऊंगा और कहां पर जाऊंगा इस दुनिया में ऐसी बातों से कहें तो निश्चित तौर पर करो समझदार होगा तो आपकी बातें निश्चित तौर पर समझेगा तो आपका नंबर सीतापुर आपके साथ रहेगा तो आपको कमाकर खिलाएगा तो मिस करता हूं सवाल का जवाब अच्छा लगा धन्यवाद
Namaskaar doston kaise hain aap kolej chauk pani hai kamao najadeek sikka baat karen to ek asahaneey peeda ka ehasaas hota hai kabhee-kabhee aisa hota hai ki ya phir jo ladakiyon ke mujhe sangat mein padakar ki main bigad jaate hain aise bolate hain ki main mere bas kee baat nahin aapako kamaane khilaane ki aap nishchit apanee vyavastha kar leejie main aapake saath nahin rahoonga main aapase ab matalab parivaar se alag rahoonga to neeche putr kahate the ki nishchit taur par vahaan par milo jisaka sunaana bhavishy dekhane ke lie 24:00 kadee mehanat karate hain man apana shareer nahin dete dhan kamaane ke lie mile usaka bhavishy banaane ke lie achchha achchhee padhaee dene ke lie har cheej mein usakee haalat ab behatar bhavishy ke lie karate hain lekin baad mein kya hota hai ki jab usakee shaadee ho jaatee hai aur ab vah nishchit kamaane khaane kee yogy ho jaata hai to nishchit achchhee baaten bolane lagata hai ki aap mujhe apana hee kam ho mere bas kee baat nahin main aapako nahin khilaoonga tumhen to use samajhaane kee baat kya hai ki aap se hee samajha kar dekhe nishchit taur par yah baat galat kar rahe ho jab tum chhote the tumhen kisane kee laiph mein itana bada kisane kiya mainne to kiya to matalab tumhen itana bada hamane kar diya tumhen batao tum hamen nahin khilaoge main to bada ho gaya hoon dheere-dheere to beta main kahaan par kaam aaoonga aur kahaan par jaoonga is duniya mein aisee baaton se kahen to nishchit taur par karo samajhadaar hoga to aapakee baaten nishchit taur par samajhega to aapaka nambar seetaapur aapake saath rahega to aapako kamaakar khilaega to mis karata hoon savaal ka javaab achchha laga dhanyavaad

और जवाब सुनें

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:51
आरा का प्रश्न जब अपने ही कमाओ ऑनलाइन चेक चेक कर बातें करें और एक ऐसा नहीं है पीड़ा का एहसास होता है यह बात वाला को कैसे समझाएं तो देखे यहां पर कहीं ना कहीं एक पर्सन में गलती आप लोगों की भी मान लूंगा कि कुछ ना कुछ आपके संस्कार देने में कमी रह गई क्यों इस तरह की चीजें आपके साथ हो रही हैं हालांकि आप अब क्या कर सकते हैं क्यों अपनी औलाद को समझाइए अगर वह नहीं समझते हैं तो ऐसे लोगों से बात करके जिनका उनके ऊपर काफी ज्यादा प्रभाव है वह लोग जो बोलेंगे तो उनकी बातों से आप लोग रात में फर्क जरुर पड़ेगा और फिर आप के बीच में जो दूरियां है जो कमी की शिकायत है वह भी दूर हो गया मैं शुभकामनाएं आपके साथ है धन्यवाद
Aara ka prashn jab apane hee kamao onalain chek chek kar baaten karen aur ek aisa nahin hai peeda ka ehasaas hota hai yah baat vaala ko kaise samajhaen to dekhe yahaan par kaheen na kaheen ek parsan mein galatee aap logon kee bhee maan loonga ki kuchh na kuchh aapake sanskaar dene mein kamee rah gaee kyon is tarah kee cheejen aapake saath ho rahee hain haalaanki aap ab kya kar sakate hain kyon apanee aulaad ko samajhaie agar vah nahin samajhate hain to aise logon se baat karake jinaka unake oopar kaaphee jyaada prabhaav hai vah log jo bolenge to unakee baaton se aap log raat mein phark jarur padega aur phir aap ke beech mein jo dooriyaan hai jo kamee kee shikaayat hai vah bhee door ho gaya main shubhakaamanaen aapake saath hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जब अपने हि धोखा दे तो क्या क्या करे ? अपने ही पिठ में खंजर घोपने का क्या मतलब होता है ?
URL copied to clipboard