#undefined

bolkar speaker

कुछ लोग दूसरों का ज्यादा खाना क्यों पसंद करते हैं?

Kuch Log Dusro Ka Jyada Khana Kyun Pasand Karte Hain
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:46
प्रश्न है कि कुछ लोग दूसरों का ज्यादा खाने से संबंधित ही निर्भर करता है अपने अपने विचारों पर कुछ लोग दूसरों को खिलाना पसंद करते हैं तो कुछ लोग दूसरों का खाना पसंद करते हैं तो यह निर्भर करता है कि विचार कैसे हैं व्यक्ति का मन कैसा है वह क्या चाहता है वह जैसा सोचेंगे वैसा ही व्यवहार इसलिए जो लोग दूसरों के खाने के बारे में सोचते हैं तो वह ऐसा ही करते रहते हैं और जो दूसरों को चलाने के बारे में सोचते हैं वह लोगों को खिलाते रहते हैं इसलिए यह निर्भर करता है सोच पर मन पर लोगों की जिसकी सोच वैसी जैसी जिसकी भावना वैसा ही उसको फल मिलता है
Prashn hai ki kuchh log doosaron ka jyaada khaane se sambandhit hee nirbhar karata hai apane apane vichaaron par kuchh log doosaron ko khilaana pasand karate hain to kuchh log doosaron ka khaana pasand karate hain to yah nirbhar karata hai ki vichaar kaise hain vyakti ka man kaisa hai vah kya chaahata hai vah jaisa sochenge vaisa hee vyavahaar isalie jo log doosaron ke khaane ke baare mein sochate hain to vah aisa hee karate rahate hain aur jo doosaron ko chalaane ke baare mein sochate hain vah logon ko khilaate rahate hain isalie yah nirbhar karata hai soch par man par logon kee jisakee soch vaisee jaisee jisakee bhaavana vaisa hee usako phal milata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कुछ लोग दूसरों का ज्यादा खाना क्यों पसंद करते हैं
URL copied to clipboard