#भारत की राजनीति

bolkar speaker

किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?

Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:22
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो देखिए हमारे देश में ऐसे बहुत सारे फंडामेंटल राइट्स है जैसे कि एक स्टेशन का समाचार फ्रीडम ऑफ स्पीच बोलने का हक है तो आप बोल सकते हैं हमारे देश में बोलने का हक है लेकिन एक गाइडलाइन किसी को आपको बोलने के लिए आप किसी को भी कुछ भी चीज बोल सकते आपको राइट है कि आप आवाज उठा सकते हैं लेकिन यह नहीं कि किसी को आप नहीं चला रहे हैं या फिर आप किसी को नीचा दिखा रे तू जब हम ऐसे कुछ वेट करते हैं जो या फिर ऐसा कुछ भी चीज बोलते जो देश के खिलाफ हो या फिर यह मैसेज या फिर हमारी कोई भी ऐसी बातों से मतलब जात पात को ठेस पहुंच रहा है अपने में वह लोग लड़ सकते हैं फिर जमिसे और भी ज्यादा प्रॉब्लम हो सकता है जैसे कि डोनाल्ड ट्रंप ट्वीट किए थे ट्वीट फोन बंद कर दिया गया यह देखकर की वजह से टूट कर रहा है उससे झगड़ा हो सकता है लोग अपने में लड़ सकते हैं जब हमें बोलने का हक दिया जाता है हम इस पर कुछ और मतलब बोलने लगते हैं गाइडलाइन को हम तोड़ देते तब ऐसे समय पर अगर कोई करता है तो वहां पर हम देशद्रोह का मुकदमा दायर मतलब है हम योगदान कर सकते हैं
Helo evareevan to aaj aap ka savaal hai ki kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to dekhie hamaare desh mein aise bahut saare phandaamental raits hai jaise ki ek steshan ka samaachaar phreedam oph speech bolane ka hak hai to aap bol sakate hain hamaare desh mein bolane ka hak hai lekin ek gaidalain kisee ko aapako bolane ke lie aap kisee ko bhee kuchh bhee cheej bol sakate aapako rait hai ki aap aavaaj utha sakate hain lekin yah nahin ki kisee ko aap nahin chala rahe hain ya phir aap kisee ko neecha dikha re too jab ham aise kuchh vet karate hain jo ya phir aisa kuchh bhee cheej bolate jo desh ke khilaaph ho ya phir yah maisej ya phir hamaaree koee bhee aisee baaton se matalab jaat paat ko thes pahunch raha hai apane mein vah log lad sakate hain phir jamise aur bhee jyaada problam ho sakata hai jaise ki donaald tramp tveet kie the tveet phon band kar diya gaya yah dekhakar kee vajah se toot kar raha hai usase jhagada ho sakata hai log apane mein lad sakate hain jab hamen bolane ka hak diya jaata hai ham is par kuchh aur matalab bolane lagate hain gaidalain ko ham tod dete tab aise samay par agar koee karata hai to vahaan par ham deshadroh ka mukadama daayar matalab hai ham yogadaan kar sakate hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:00
सवाल ये है कि किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है भारतीय कानून संगीता आईपीसी की धारा 124 ए में देशद्रोह की दी हुई परिभाषा के मुताबिक अगर कोई भी व्यक्ति सरकार विरोधी सामग्री लिखता या बोलता है या फिर ऐसी सामग्री का समर्थन करता है कि राष्ट्रीय चिन्हों का अपमान करने के साथ संविधान को नीचा दिखाने की कोशिश करता है तो उसे आजीवन कारावास या 3 साल की सजा हो सकती है देशद्रोह पर कोई भी कानून अट्ठारह सौ उनसठ तक नहीं था इस पर इसे 1807 में बनाया गया फिर अट्ठारह सौ सत्तर में इसे आईपीसी धारा आईपीसी में शामिल कर लिया गया अट्ठारह सौ सत्तर में बने इस कानून का इस्तेमाल ब्रिटिश सरकार ने महात्मा गांधी के खिलाफ वीकली जनरल में यंग इंडिया नाम से आर्टिकल लिखे जाने की वजह से किया था यह लेख ब्रिटिश सरकार के खिलाफ लिख आ गया था
Savaal ye hai ki kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai bhaarateey kaanoon sangeeta aaeepeesee kee dhaara 124 e mein deshadroh kee dee huee paribhaasha ke mutaabik agar koee bhee vyakti sarakaar virodhee saamagree likhata ya bolata hai ya phir aisee saamagree ka samarthan karata hai ki raashtreey chinhon ka apamaan karane ke saath sanvidhaan ko neecha dikhaane kee koshish karata hai to use aajeevan kaaraavaas ya 3 saal kee saja ho sakatee hai deshadroh par koee bhee kaanoon atthaarah sau unasath tak nahin tha is par ise 1807 mein banaaya gaya phir atthaarah sau sattar mein ise aaeepeesee dhaara aaeepeesee mein shaamil kar liya gaya atthaarah sau sattar mein bane is kaanoon ka istemaal british sarakaar ne mahaatma gaandhee ke khilaaph veekalee janaral mein yang indiya naam se aartikal likhe jaane kee vajah se kiya tha yah lekh british sarakaar ke khilaaph likh aa gaya tha

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
0:56
प्रश्न है कि किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो देश के खिलाफ है आप जो भी काम करें उसमें आपको देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है जैसे मान लेते हैं कि अगर आप दूसरे देशों के लिए जासूसी करते हैं या कुछ ऐसा काम करते हैं यह देश में देव से काफी नुकसान होने वाला है या हित होने वाला है उस स्थिति में आप और देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है यह भी हो सकता है कि आप सोशल मीडिया के माध्यम से या अन्य माध्यम से लोगों को हमारे देश के प्रति मानक आ रहे हैं या कुछ ऐसी चीजें कर रहे हैं कि देश के लिए काफी नुकसान होने वाला है या हुआ है उसी स्थिति में भी आपको देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है
Prashn hai ki kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to desh ke khilaaph hai aap jo bhee kaam karen usamen aapako deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai jaise maan lete hain ki agar aap doosare deshon ke lie jaasoosee karate hain ya kuchh aisa kaam karate hain yah desh mein dev se kaaphee nukasaan hone vaala hai ya hit hone vaala hai us sthiti mein aap aur deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai yah bhee ho sakata hai ki aap soshal meediya ke maadhyam se ya any maadhyam se logon ko hamaare desh ke prati maanak aa rahe hain ya kuchh aisee cheejen kar rahe hain ki desh ke lie kaaphee nukasaan hone vaala hai ya hua hai usee sthiti mein bhee aapako deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:04
प्रश्न है किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो फिर क्या होता है कि आईपीसी की धारा जो होती है 124 के 24a में देशद्रोह की परिभाषा परिभाषित की गई है और इसमें क्या होता है कि इसमें सजा का जो प्रावधान है 124 धारा में किया गया है जिसमें क्या होता है सरकार के खिलाफ भड़काऊ भाषण बोलता है या लिखता है जिसमें क्या होता है दंगे या विद्रोह जैसी स्थिति हो जाती है तो देशद्रोह की श्रेणी में आता है अगर कोई व्यक्ति सरकार के खिलाफ बोलने बोलने के साथ-साथ उसका नगर साथ देता है तो वह भी दोस्त देशद्रोही कहलाता है इसके अलावा अगर सर्वजनिक जो भी पब्लिक चीजें हैं अगर उसको भी अगर नुकसान पहुंचाता है तो वह भी एक देशद्रोही के लिस्ट में आता है और उसे 124a के तहत उसे दोषी करार दिया जाता है और देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाता है
Prashn hai kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to phir kya hota hai ki aaeepeesee kee dhaara jo hotee hai 124 ke 24a mein deshadroh kee paribhaasha paribhaashit kee gaee hai aur isamen kya hota hai ki isamen saja ka jo praavadhaan hai 124 dhaara mein kiya gaya hai jisamen kya hota hai sarakaar ke khilaaph bhadakaoo bhaashan bolata hai ya likhata hai jisamen kya hota hai dange ya vidroh jaisee sthiti ho jaatee hai to deshadroh kee shrenee mein aata hai agar koee vyakti sarakaar ke khilaaph bolane bolane ke saath-saath usaka nagar saath deta hai to vah bhee dost deshadrohee kahalaata hai isake alaava agar sarvajanik jo bhee pablik cheejen hain agar usako bhee agar nukasaan pahunchaata hai to vah bhee ek deshadrohee ke list mein aata hai aur use 124a ke tahat use doshee karaar diya jaata hai aur deshadroh ka mukadama chalaaya jaata hai

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:57
क्वेश्चन है किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है लेकिन हमारे जो आईपीएस की धारा 124 ए के तहत जो कानून बनाया गया है जो उसने यही बताया गया है कि या तो आपको कोई राष्ट्रीय चुनने के साथ अपमान किया जा रहा है हमारे राष्ट्रीय तिरंगे की सड़क दूरी के जा रहा है हमारा राष्ट्रीय कोई भी चीज वचन हो किसी को भी लेकर कोई अपमान करता है और कोई भी व्यक्ति जो है वह सरकार के विरोधी कोई भी कार्य करता है या उस पर बोलता है या कोई लिख लिखावट उसके द्वारा अलग से की जाती है यह सब चीजें ग्रुप में आ जाती है और आपको एक चीज और बता दी जाए हमारे देश का जो संविधान है इसको केवल को नीचा दिखाने की कोशिश करता है तो उस पर देशद्रोह का मामला कायम हो जाता है और उन्हें 3 साल की सजा मिलती है या आजीवन कारावास भी हो सकता है जो आप पसंद है तो लाइक करें सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Kveshchan hai kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai lekin hamaare jo aaeepeees kee dhaara 124 e ke tahat jo kaanoon banaaya gaya hai jo usane yahee bataaya gaya hai ki ya to aapako koee raashtreey chunane ke saath apamaan kiya ja raha hai hamaare raashtreey tirange kee sadak dooree ke ja raha hai hamaara raashtreey koee bhee cheej vachan ho kisee ko bhee lekar koee apamaan karata hai aur koee bhee vyakti jo hai vah sarakaar ke virodhee koee bhee kaary karata hai ya us par bolata hai ya koee likh likhaavat usake dvaara alag se kee jaatee hai yah sab cheejen grup mein aa jaatee hai aur aapako ek cheej aur bata dee jae hamaare desh ka jo sanvidhaan hai isako keval ko neecha dikhaane kee koshish karata hai to us par deshadroh ka maamala kaayam ho jaata hai aur unhen 3 saal kee saja milatee hai ya aajeevan kaaraavaas bhee ho sakata hai jo aap pasand hai to laik karen sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
2:15
दोस्तों आपका सवाल है किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो इसके मुताबिक किसी भी तरह से लिखित या मौखिक शब्दों में चित्रों के जरिए प्रतीक्षा अप्रत्यक्ष तौर पर नफरत फैलाना यह संतोष जाहिर करने पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया जा सकता है आईपीसी की धारा 124 ए में असंतोष को विश्वकप और गणना में भी शामिल किया गया है यह धारा यह भी कहती है कि अगर किसी भी हाल में जरिए सरकार या सरकार के उठाए गए किसी भी कदम का विरोध होता है तो देशद्रोह के दायरे में नहीं जाएगा जब तक कि उसके बयान से किसी तरह की घटना या नफरत या असंतोष का बातों पर नहीं बनता है किसी भी प्रश्न साल प्रशासनिक कदम की विरोध भी देशद्रोह के दायरे तब तक नहीं आता जब तक कि खाना या सबसे ज्यादा मन नहीं फैलता देशद्रोह का कानून और सजा का प्रावधान किया है वह देखिए आजादी के बाद देशद्रोह कानून के अंतर्गत सजा पाने वाले मामले कम है मामले देशद्रोह का आरोप साबित ही नहीं हो पाया कि देशद्रोह का कानून सख्त कानून में किसी भी गिरफ्तार करने के लिए वारंट की जरूरत नहीं पड़ती से आरोपी पीड़ित पक्ष के साथ किसी तरीके से कर सकते हो देश तो काम हो गैल अपराध के दायरे में आता इस कानून के तहत देशद्रोह आरोप सिद्ध होने पर 3 साल की लेकर उम्रकैद तक की सजा भी सुनाई जा सकती है और यह कानून अंग्रेजो के भक्तों का बना में 1817 से पहले इंडियन पैनल कोर्ट ने था और अपन साथ में अंग्रेजी की उम्र में पहली बार लेकर मसौदा तैयार किया और 10 साल बाद यानी 5870 है भारतीय का ध्वज संहिता आईपीएस की धारा 124 ए की शक्ल में दे दी है पहली बार कब दर्ज वादे सरकारों का आईपीएस 124a पहला अधिकार में 10:00 22 अक्टूबर एक अखबार में बसी युवक का शव लेकर इस दर्ज किया था आरोप अखबार के एडिटर पर लगाया गया था और इसे देख लो कॉस्ट विल की आलोचना की थी दोस्तों धन्यवाद
Doston aapaka savaal hai kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to isake mutaabik kisee bhee tarah se likhit ya maukhik shabdon mein chitron ke jarie prateeksha apratyaksh taur par napharat phailaana yah santosh jaahir karane par deshadroh ka maamala darj kiya ja sakata hai aaeepeesee kee dhaara 124 e mein asantosh ko vishvakap aur ganana mein bhee shaamil kiya gaya hai yah dhaara yah bhee kahatee hai ki agar kisee bhee haal mein jarie sarakaar ya sarakaar ke uthae gae kisee bhee kadam ka virodh hota hai to deshadroh ke daayare mein nahin jaega jab tak ki usake bayaan se kisee tarah kee ghatana ya napharat ya asantosh ka baaton par nahin banata hai kisee bhee prashn saal prashaasanik kadam kee virodh bhee deshadroh ke daayare tab tak nahin aata jab tak ki khaana ya sabase jyaada man nahin phailata deshadroh ka kaanoon aur saja ka praavadhaan kiya hai vah dekhie aajaadee ke baad deshadroh kaanoon ke antargat saja paane vaale maamale kam hai maamale deshadroh ka aarop saabit hee nahin ho paaya ki deshadroh ka kaanoon sakht kaanoon mein kisee bhee giraphtaar karane ke lie vaarant kee jaroorat nahin padatee se aaropee peedit paksh ke saath kisee tareeke se kar sakate ho desh to kaam ho gail aparaadh ke daayare mein aata is kaanoon ke tahat deshadroh aarop siddh hone par 3 saal kee lekar umrakaid tak kee saja bhee sunaee ja sakatee hai aur yah kaanoon angrejo ke bhakton ka bana mein 1817 se pahale indiyan painal kort ne tha aur apan saath mein angrejee kee umr mein pahalee baar lekar masauda taiyaar kiya aur 10 saal baad yaanee 5870 hai bhaarateey ka dhvaj sanhita aaeepeees kee dhaara 124 e kee shakl mein de dee hai pahalee baar kab darj vaade sarakaaron ka aaeepeees 124a pahala adhikaar mein 10:00 22 aktoobar ek akhabaar mein basee yuvak ka shav lekar is darj kiya tha aarop akhabaar ke editar par lagaaya gaya tha aur ise dekh lo kost vil kee aalochana kee thee doston dhanyavaad

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:58
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा है कि हर टाइम अगर कोई व्यक्ति देश के संविधान के खिलाफ देश की सुरक्षा के प्रभाव देश की संस्कृति के खिलाफ गतिविधियों में लिप्त पाया जाता है तो देशद्रोह का मुकदमा किया जा सकता है हमारी वर्तमान सरकार उसके खिलाफ अगर कोई व्यक्ति बोलता है तो देश के प्रधानमंत्री देश की सरकार उस पर देशद्रोह का मुकदमा ट्रक लगा देती क्योंकि सरकार अपने खिलाफ कुछ भी सुनने के लिए तैयार नहीं है जो कि देशद्रोह के मुकदमे से या इस तरह के आरोप से इसका कोई भी तालुकात ने
Kis aadhaar par deshadroh ka mukadama hai ki har taim agar koee vyakti desh ke sanvidhaan ke khilaaph desh kee suraksha ke prabhaav desh kee sanskrti ke khilaaph gatividhiyon mein lipt paaya jaata hai to deshadroh ka mukadama kiya ja sakata hai hamaaree vartamaan sarakaar usake khilaaph agar koee vyakti bolata hai to desh ke pradhaanamantree desh kee sarakaar us par deshadroh ka mukadama trak laga detee kyonki sarakaar apane khilaaph kuchh bhee sunane ke lie taiyaar nahin hai jo ki deshadroh ke mukadame se ya is tarah ke aarop se isaka koee bhee taalukaat ne

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:44
जब किसी लोकतंत्र में राष्ट्र विरोधी तत्वों के द्वारा राष्ट्र की अस्मिता पर बयान दिए जाते हैं भड़काऊ बयान दिए जाते हैं लोगों को आपस में लड़ाने के बयान दिए जाते हैं देश की भाईचारे की एकता को खंडित किया जाता है राष्ट्रीय एकता को तोड़ने की कोशिश की जाती है तो वहां पर मुकदमा दायर होता है और राष्ट्र के खिलाफ उन्होंने अपनी बयानबाजी किया भड़काने की कोशिश की थी वहां पर इसका मुकदमा कायम किया जाता है
Jab kisee lokatantr mein raashtr virodhee tatvon ke dvaara raashtr kee asmita par bayaan die jaate hain bhadakaoo bayaan die jaate hain logon ko aapas mein ladaane ke bayaan die jaate hain desh kee bhaeechaare kee ekata ko khandit kiya jaata hai raashtreey ekata ko todane kee koshish kee jaatee hai to vahaan par mukadama daayar hota hai aur raashtr ke khilaaph unhonne apanee bayaanabaajee kiya bhadakaane kee koshish kee thee vahaan par isaka mukadama kaayam kiya jaata hai

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:34
आरा का प्रश्न कैसा धार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो आपको बता दें कि अगर कोई व्यक्ति कोई नागरिक जो है वह देश विरोधी गतिविधियों में पकड़ा जाता है या फिर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का उल्लंघन करते हुए पकड़ा जाता है या फिर वह भारत की संपत्ति को नुकसान पहुंचाते हुए या जो भारतीय ध्वज है उस को नुकसान पहुंचाते हुए इस तरह के कृत्य में रंग ले पाया जाता है तो फिर उस पर देशद्रोह का मुकदमा लगाया जाता है मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Aara ka prashn kaisa dhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to aapako bata den ki agar koee vyakti koee naagarik jo hai vah desh virodhee gatividhiyon mein pakada jaata hai ya phir raashtreey suraksha kaanoon ka ullanghan karate hue pakada jaata hai ya phir vah bhaarat kee sampatti ko nukasaan pahunchaate hue ya jo bhaarateey dhvaj hai us ko nukasaan pahunchaate hue is tarah ke krty mein rang le paaya jaata hai to phir us par deshadroh ka mukadama lagaaya jaata hai main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:49
प्रणाम दोस्तों आप का सवाल है किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है देशद्रोह में जो हमारे कानून के था मैकाले ने धारा 113 के तहत बनाया था जो हमारी भारत की आईपीसी की धारा 124 ए में देशद्रोह को परिभाषित किया गया था इनकी एक सजा का प्रावधान धारा 124 ए में किया गया था जो हमारे सरकार के खिलाफ कुछ भड़काऊ बोलना और या लिखना जिसमें दंगे और विद्रोह हो जाए वह देशद्रोह की श्रेणी में आता है धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Pranaam doston aap ka savaal hai kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai deshadroh mein jo hamaare kaanoon ke tha maikaale ne dhaara 113 ke tahat banaaya tha jo hamaaree bhaarat kee aaeepeesee kee dhaara 124 e mein deshadroh ko paribhaashit kiya gaya tha inakee ek saja ka praavadhaan dhaara 124 e mein kiya gaya tha jo hamaare sarakaar ke khilaaph kuchh bhadakaoo bolana aur ya likhana jisamen dange aur vidroh ho jae vah deshadroh kee shrenee mein aata hai dhanyavaad doston khush raho

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक:
1:37
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है मित्र अगर कोई व्यक्ति है और उसके ऊपर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है तो यह किस कारण से हुआ है या आपको बताता हूं देखिए जिसे अभी हमने इस समय सुन रहे हैं कि उस व्यक्ति पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो गया उस पर दर्ज हो गया उस पर दर्ज हो गया यह होता क्या है देशद्रोह का मतलब है कि देश में रहते हुए देश की जो सरकारी संपत्ति है उसको नुकसान पहुंचाना और दूसरा देश की गतिविधियों की जानकारी दुश्मन को देना देश की जो नीति पूर्ण जो गतिविधि है और जो यहां की सुरक्षा नीतियां है सुरक्षा व खुफिया एजेंसी है उसकी जानकारी सारी उम्र अब ऐसी जो जानकारी जो हमें किसी को भी नहीं बतानी चाहिए वह सब कुछ जानकारी अगर कोई व्यक्ति हमारे भारत देश के दुश्मन को अगर वह देता है यह तरीके से देशद्रोह के लाता है और इसीलिए उस व्यक्ति पर देशद्रोह का जो है केस दर्ज किया जाता है मतलब देश में रहते हुए देशों को ही अंदर से खोखला करना यहां की सारी खुफिया जानकारी पड़ोसी देश या दुश्मन देश को देना और देश में रहते हुए सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाना यह सब देशद्रोह दायर में मुकदमे में इसके अंदर आता है धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai mitr agar koee vyakti hai aur usake oopar deshadroh ka mukadama darj kiya gaya hai to yah kis kaaran se hua hai ya aapako bataata hoon dekhie jise abhee hamane is samay sun rahe hain ki us vyakti par deshadroh ka mukadama darj ho gaya us par darj ho gaya us par darj ho gaya yah hota kya hai deshadroh ka matalab hai ki desh mein rahate hue desh kee jo sarakaaree sampatti hai usako nukasaan pahunchaana aur doosara desh kee gatividhiyon kee jaanakaaree dushman ko dena desh kee jo neeti poorn jo gatividhi hai aur jo yahaan kee suraksha neetiyaan hai suraksha va khuphiya ejensee hai usakee jaanakaaree saaree umr ab aisee jo jaanakaaree jo hamen kisee ko bhee nahin bataanee chaahie vah sab kuchh jaanakaaree agar koee vyakti hamaare bhaarat desh ke dushman ko agar vah deta hai yah tareeke se deshadroh ke laata hai aur iseelie us vyakti par deshadroh ka jo hai kes darj kiya jaata hai matalab desh mein rahate hue deshon ko hee andar se khokhala karana yahaan kee saaree khuphiya jaanakaaree padosee desh ya dushman desh ko dena aur desh mein rahate hue sarakaaree sampattiyon ko nukasaan pahunchaana yah sab deshadroh daayar mein mukadame mein isake andar aata hai dhanyavaad

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
munendra singh tomar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए munendra जी का जवाब
Student
0:43
का सवाल है कि किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है तो हमारा मानना है कि अगर आप किसी भी झंडे का अपमान कीजिए भारतीय नेता में जो फ्रेंड है झंडे का घोर अपमान कीजिए आप तो आपको आई पी एस सी धारा 124 124 के तहत आपको देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता आई पी एस सी का फुल फॉर्म होता है इंडियन पेनल कोड इंडियन इंडियन पेनल कोड 24 दिक्कत है आपको देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है
Ka savaal hai ki kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai to hamaara maanana hai ki agar aap kisee bhee jhande ka apamaan keejie bhaarateey neta mein jo phrend hai jhande ka ghor apamaan keejie aap to aapako aaee pee es see dhaara 124 124 ke tahat aapako deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata aaee pee es see ka phul phorm hota hai indiyan penal kod indiyan indiyan penal kod 24 dikkat hai aapako deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Rahul chaudhary Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:21
आपका सवाल है कि किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है देखी आज के परिपेक्ष में देखेंगे तो कोई आधार नहीं है पहले होता था कि आप देश विरोधी गतिविधि करेंगे झंडे का अपमान करेंगे उस समय आप या तो आतंकवादी से मिलेंगे उस समय देशद्रोह का मुकदमा लगता था लेकिन आज के समय में क्या होता है कि अगर आप सरकार के खिलाफ भी बोलेंगे तो आप पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाएगा जो एक-एक चलन की शुरुआत कर रही हैं बीजेपी गवर्नमेंट यह आगे जाकर देश के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है ऐसे तो आप किसी को भी मन में आएंगे उसको उठाकर देशद्रोह का मुकदमा लगा देंगे तो मुझे नहीं लगता कि जो जो आज के समय में सरकार द्वारा जो हर किसी को जो सरकार की आलोचना करता है लगभग लगभग देशद्रोह का मुकदमा लगा दिया जाता है देशद्रोह का मुकदमा जो आतंकवादी गतिविधियों में हो झंडे का अपमान करें देश की एकता अखंडता को तोड़ने का काम अगर आप सरकार की लोकतंत्र यही तो है जहां पर अपनी बात रख सकते हैं सरकार की आलोचना कर सकते हैं लेकिन आप उसको भी दब आएंगे तो ऐसे कैसे काम चलेगा तो मेरी गुजारिश है कि सरकार इस ओर ध्यान दें ऐसे चरण ना बढ़ाएं कि आने वाले समय में लोगों की जो निजता का अधिकार है जो सन बोलने का अधिकार है वह चुना जाए धन्यवाद
Aapaka savaal hai ki kis aadhaar par deshadroh ka mukadama daayar kiya ja sakata hai dekhee aaj ke paripeksh mein dekhenge to koee aadhaar nahin hai pahale hota tha ki aap desh virodhee gatividhi karenge jhande ka apamaan karenge us samay aap ya to aatankavaadee se milenge us samay deshadroh ka mukadama lagata tha lekin aaj ke samay mein kya hota hai ki agar aap sarakaar ke khilaaph bhee bolenge to aap par deshadroh ka mukadama darj kiya jaega jo ek-ek chalan kee shuruaat kar rahee hain beejepee gavarnament yah aage jaakar desh ke lie bahut khataranaak saabit ho sakata hai aise to aap kisee ko bhee man mein aaenge usako uthaakar deshadroh ka mukadama laga denge to mujhe nahin lagata ki jo jo aaj ke samay mein sarakaar dvaara jo har kisee ko jo sarakaar kee aalochana karata hai lagabhag lagabhag deshadroh ka mukadama laga diya jaata hai deshadroh ka mukadama jo aatankavaadee gatividhiyon mein ho jhande ka apamaan karen desh kee ekata akhandata ko todane ka kaam agar aap sarakaar kee lokatantr yahee to hai jahaan par apanee baat rakh sakate hain sarakaar kee aalochana kar sakate hain lekin aap usako bhee dab aaenge to aise kaise kaam chalega to meree gujaarish hai ki sarakaar is or dhyaan den aise charan na badhaen ki aane vaale samay mein logon kee jo nijata ka adhikaar hai jo san bolane ka adhikaar hai vah chuna jae dhanyavaad

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Satyendra Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Satyendra जी का जवाब
Student
0:27

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
2:05

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है देशद्रोह का मुकदमा
URL copied to clipboard