#भारत की राजनीति

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:04
हां आंदोलन के बाद भविष्य में भारत की राजनीति में किस तरह के परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं लेकिन किसान आंदोलन के बाद भविष्य में भारत की राजधानी में यानी कि राजनीति में आपको कई तरीके के परिवर्तन देखने को मिलेंगे जिनमें से एक तो यह होगा क्या जो किसान जो थक गया वह भारतीय जनता पार्टी को सपोर्ट करेगा या नहीं करेगा दूसरी बात की है कि जिस तरीके से किसानों का आंदोलन जारी है और की राजनीतिक दल और देश के अन्य दलों ने दलों के साथ-साथ बाकी यह कहेंगे कि अन्य आम जो जनता है उन्होंने भी किसानों को सहयोग किया क्या इस राजनीति में क्या नरेंद्र मोदी जी की दोबारा है क्या सरकार बन पाएगी भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आ पाएगी या नहीं आ पाएगी अपना एक अलग ही प्रचार करेंगे जिससे फायदा हो जाए आने वाले राजनीतिक किसानों को लेकर के होगी क्योंकि किसानों की गहरी बात करें तो किस्तान के 3:00 पर सिविल और एमएसपी पर अड़े हुए हैं गवर्नमेंट मानने को तैयार ही नहीं है तो क्या यह लोग और बनाएंगे तो किस तरीके से बनाएंगे यह देखने लायक है
Haan aandolan ke baad bhavishy mein bhaarat kee raajaneeti mein kis tarah ke parivartan dekhane ko mil sakate hain lekin kisaan aandolan ke baad bhavishy mein bhaarat kee raajadhaanee mein yaanee ki raajaneeti mein aapako kaee tareeke ke parivartan dekhane ko milenge jinamen se ek to yah hoga kya jo kisaan jo thak gaya vah bhaarateey janata paartee ko saport karega ya nahin karega doosaree baat kee hai ki jis tareeke se kisaanon ka aandolan jaaree hai aur kee raajaneetik dal aur desh ke any dalon ne dalon ke saath-saath baakee yah kahenge ki any aam jo janata hai unhonne bhee kisaanon ko sahayog kiya kya is raajaneeti mein kya narendr modee jee kee dobaara hai kya sarakaar ban paegee bhaarateey janata paartee satta mein aa paegee ya nahin aa paegee apana ek alag hee prachaar karenge jisase phaayada ho jae aane vaale raajaneetik kisaanon ko lekar ke hogee kyonki kisaanon kee gaharee baat karen to kistaan ke 3:00 par sivil aur emesapee par ade hue hain gavarnament maanane ko taiyaar hee nahin hai to kya yah log aur banaenge to kis tareeke se banaenge yah dekhane laayak hai

और जवाब सुनें

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:48
किसान आंदोलन के बाद भविष्य में भारत की राजनीति में किस तरह के परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं देखिए किसान बहुत परेशान हैं समय उसको वह भयभीत है कि हमारी खेती किसानी सब चली जाएगी लेकिन उन को समझाने वाला कोई नहीं सरकार ने अपने अड़ियल रुख अपना लिया है इसलिए हो सकता है कि किसानों के अंदर मन में परिवर्तन हो जा और भारतीय जनता पार्टी के प्रति उनका रुख थोड़ा सा आक्रामक हो जाए गलत हो जाए और उसमें वह चुनाव में उनको करारी हार भी दे सकते हैं ताकि उनके सरकार के आने से बहुत सारी जगह कॉम्प्लिकेशन पैदा हो गए हैं देश के अंदर बेरोजगारी खत्म हो गई है पूंजी पतियों की व्यवस्था ज्यादा हो गई हर चीज का निजीकरण हो गया है लेकिन गाड़ी बढ़ चुकी है इसके कारण हो सकता है ऐसी स्थिति पैदा हो जाए कि सरकार के खिलाफ फोड़ते हुए
Kisaan aandolan ke baad bhavishy mein bhaarat kee raajaneeti mein kis tarah ke parivartan dekhane ko mil sakate hain dekhie kisaan bahut pareshaan hain samay usako vah bhayabheet hai ki hamaaree khetee kisaanee sab chalee jaegee lekin un ko samajhaane vaala koee nahin sarakaar ne apane adiyal rukh apana liya hai isalie ho sakata hai ki kisaanon ke andar man mein parivartan ho ja aur bhaarateey janata paartee ke prati unaka rukh thoda sa aakraamak ho jae galat ho jae aur usamen vah chunaav mein unako karaaree haar bhee de sakate hain taaki unake sarakaar ke aane se bahut saaree jagah komplikeshan paida ho gae hain desh ke andar berojagaaree khatm ho gaee hai poonjee patiyon kee vyavastha jyaada ho gaee har cheej ka nijeekaran ho gaya hai lekin gaadee badh chukee hai isake kaaran ho sakata hai aisee sthiti paida ho jae ki sarakaar ke khilaaph phodate hue

T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:58
किसान आंदोलन के बाद भविष्य में भारत की राजनीति में किस तरह के परिवर्तन देखने को मिल सकता है तो स्पष्ट परिवर्तन देखने को मिल रहा है भविष्य में तो शायद मिलेंगे लेकिन आज वर्तमान में भी इस किसान आंदोलन के बाद जो मैं समाज में आपसी बातचीत में लोगों के साथ महसूस करता जिस तरीके से मैं अलग-अलग प्लेटफार्म पर लोगों की बातचीत समझ रहा हूं सुन रहा हूं उससे यह मुझे महसूस हो रहा है किस देश का एक पत्ता चाहे वह हिंदू है चाहे वह मुस्लिम है चाहे वह सिर्फ एएसआई अरे पार्टी है जैन है जो अपनी मिट्टी से प्यार करता है जो अपने राष्ट्र से प्यार करता है जो अपने देश के प्रति समर्पित जो अपने मिट्टी को मस्तक पर लगाकर गर्व महसूस करता है वह एक धारा की तरफ अपने मत को हॉट बूब से लेकर के एक तरफ जहां एक तरफ दूसरी गैंग है जो लोकतंत्र के नाम पर लोकतंत्र के नाम पर वह इस समाज में हर तरह का वह गणित कार्य कर रहे हैं समाज में कुछ बोल रहे हैं हमारे ही देश को पीछे ले जाने के लिए कार्य कर रहे हैं विदेशों से फंडिंग मिलने के कारण हमारे ही देश के खिलाफ साजिश रच रहे हैं एक क्षमता उस तरफ जा करके हालांकि कई बार बल्कि अधिक अधिकतम सीटें हमारे ही देश के कुछ राजनीतिक दल वह जातियों के नाम पर भूत समाज को विघटित करने में कुछ हद तक सफल हो पा रहा है और यही उनकी सबसे बड़ी राजनीति थी जिसकी वजह से उन्होंने 7 सालों का किस देश पर राज किया और इस देश को गर्त में ढकेल इस देश को पाताल में पहुंचा और आज भी वह फिर से उसी राजनीति की तरह पटना जा रहे हैं जहां पर बौद्ध धर्म उनको पता है कि वह एक धर्म को धर्म के कारण व्यक्ति को अलग नहीं कर पा रहा है तो उसको जातियों के नाम पर लड़के एक ही धर्म में विद्वेष फैलाने की कोशिश की जा रही है यही परिवर्तन मुझे देखता है और जोर पकड़ेगा
Kisaan aandolan ke baad bhavishy mein bhaarat kee raajaneeti mein kis tarah ke parivartan dekhane ko mil sakata hai to spasht parivartan dekhane ko mil raha hai bhavishy mein to shaayad milenge lekin aaj vartamaan mein bhee is kisaan aandolan ke baad jo main samaaj mein aapasee baatacheet mein logon ke saath mahasoos karata jis tareeke se main alag-alag pletaphaarm par logon kee baatacheet samajh raha hoon sun raha hoon usase yah mujhe mahasoos ho raha hai kis desh ka ek patta chaahe vah hindoo hai chaahe vah muslim hai chaahe vah sirph eesaee are paartee hai jain hai jo apanee mittee se pyaar karata hai jo apane raashtr se pyaar karata hai jo apane desh ke prati samarpit jo apane mittee ko mastak par lagaakar garv mahasoos karata hai vah ek dhaara kee taraph apane mat ko hot boob se lekar ke ek taraph jahaan ek taraph doosaree gaing hai jo lokatantr ke naam par lokatantr ke naam par vah is samaaj mein har tarah ka vah ganit kaary kar rahe hain samaaj mein kuchh bol rahe hain hamaare hee desh ko peechhe le jaane ke lie kaary kar rahe hain videshon se phanding milane ke kaaran hamaare hee desh ke khilaaph saajish rach rahe hain ek kshamata us taraph ja karake haalaanki kaee baar balki adhik adhikatam seeten hamaare hee desh ke kuchh raajaneetik dal vah jaatiyon ke naam par bhoot samaaj ko vighatit karane mein kuchh had tak saphal ho pa raha hai aur yahee unakee sabase badee raajaneeti thee jisakee vajah se unhonne 7 saalon ka kis desh par raaj kiya aur is desh ko gart mein dhakel is desh ko paataal mein pahuncha aur aaj bhee vah phir se usee raajaneeti kee tarah patana ja rahe hain jahaan par bauddh dharm unako pata hai ki vah ek dharm ko dharm ke kaaran vyakti ko alag nahin kar pa raha hai to usako jaatiyon ke naam par ladake ek hee dharm mein vidvesh phailaane kee koshish kee ja rahee hai yahee parivartan mujhe dekhata hai aur jor pakadega

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान आंदोलन के बाद भविष्य में भारत की राजनीति में किस तरह के परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं किसान आंदोलन के बाद राजनीति में किस तरह के परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं
URL copied to clipboard