#undefined

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:17
नमस्कार आपका सवाल है लड़ाई और झगड़ा देखकर हृदय की गति बढ़ जाती है और साफ साफ दिल की धड़कन सुनाई देने लगती है क्या यह किसी बीमारी का लक्षण है दो साथियों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है लड़ाई झगड़ा देखकर हृदय की गति इसलिए तेज हो जाती है क्योंकि उनके दिमाग में टेंशन हो जाती है चिंता हो जाती है और वह घबरा जाते हैं इसलिए इनकी वजह से वह हृदय की गति है वह तेज हो जाती है और वह हक्का-बक्का रह जाता है कि क्या करें उनके समझ में नहीं आता की लड़ाई झगड़े से कैसे निपटा जाए इसलिए जो कुछ को कुछ सेंड कर लेते हैं और कुछ के दिमाग और टेंशन हो जाती है जो दिल की धड़कन तेज हो जाती है तो वह धड़कन तेज होने पर वह उनको भाई देने लग जाती है वह साथ सुनता हो जाता है वह का बका रह जाता है इसलिए लड़ाई झगड़ा अगर कहीं भी हो आप शांति से ही लड़ाई झगड़े को निपटाने की कोशिश करनी चाहिए धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaskaar aapaka savaal hai ladaee aur jhagada dekhakar hrday kee gati badh jaatee hai aur saaph saaph dil kee dhadakan sunaee dene lagatee hai kya yah kisee beemaaree ka lakshan hai do saathiyon aapake savaal ka uttar is prakaar hai ladaee jhagada dekhakar hrday kee gati isalie tej ho jaatee hai kyonki unake dimaag mein tenshan ho jaatee hai chinta ho jaatee hai aur vah ghabara jaate hain isalie inakee vajah se vah hrday kee gati hai vah tej ho jaatee hai aur vah hakka-bakka rah jaata hai ki kya karen unake samajh mein nahin aata kee ladaee jhagade se kaise nipata jae isalie jo kuchh ko kuchh send kar lete hain aur kuchh ke dimaag aur tenshan ho jaatee hai jo dil kee dhadakan tej ho jaatee hai to vah dhadakan tej hone par vah unako bhaee dene lag jaatee hai vah saath sunata ho jaata hai vah ka baka rah jaata hai isalie ladaee jhagada agar kaheen bhee ho aap shaanti se hee ladaee jhagade ko nipataane kee koshish karanee chaahie dhanyavaad saathiyon khush raho

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:39
हेलो हैप्पी बर्थडे स्वागत है आपका बोल कर एक प्रश्न किया है लड़ाई और झगड़ा देखकर रहते की गति बढ़ जाती है और साफ साफ दिल की धड़कन सुनाई देने लगती है क्या किसी बीमारी की आहट है किसी बीमारी का लक्षण है नहीं फ्रेंड से ऐसा नहीं है ना किसी को लड़ाई झगड़ा देखकर ह्रदय गति बढ़ जाती हो इसलिए बढ़ती है क्योंकि उसका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है इसलिए टीवी पड़ने लगती है उसे घबराहट होने लगती है और दिल की धड़कन सुनाई देने लगती है तो यह कोई बीमारी का लक्षण नहीं है यह आम बात है काम होता है तो सबके साथ भी हो सकता है कुछ बीपी बढ़ने के कारण होता है धन्यवाद
Helo haippee barthade svaagat hai aapaka bol kar ek prashn kiya hai ladaee aur jhagada dekhakar rahate kee gati badh jaatee hai aur saaph saaph dil kee dhadakan sunaee dene lagatee hai kya kisee beemaaree kee aahat hai kisee beemaaree ka lakshan hai nahin phrend se aisa nahin hai na kisee ko ladaee jhagada dekhakar hraday gati badh jaatee ho isalie badhatee hai kyonki usaka blad preshar badh jaata hai isalie teevee padane lagatee hai use ghabaraahat hone lagatee hai aur dil kee dhadakan sunaee dene lagatee hai to yah koee beemaaree ka lakshan nahin hai yah aam baat hai kaam hota hai to sabake saath bhee ho sakata hai kuchh beepee badhane ke kaaran hota hai dhanyavaad

Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
1:54
लड़ाई और झगड़ा देखकर हृदय की गति बढ़ जाती है और साफ साफ दिल की धड़कन सुनाई देती है क्या यह किसी बीमारी का लक्षण है जी किस बीमारी का लक्षण नहीं है जब भी कोई लड़ाई झगड़े में हम पढ़ते हैं या सुनते हैं तो उसमें मॉडिफाइड इन फ्लाइट रिस्पांस में आती है फाइट एंड फ्लाइट रिस्पांस बॉडी का डिफेंस मेकैनिज्म होता है जिसके अंदर हमारा ब्रेन हमारे पूरे बॉडी को यह निर्देश देता है कि हमें नेवर लेवल पर खड़े हो जाते हैं खुद का डिफेंस करना है उसके लिए जब डिफेंस उसका करना होता है तो हार्ड के रेट कार्ड की गति ज्यादा चाहिए ब्लड ज्यादा फ्लोर होना चाहिए क्योंकि एनर्जी बहुत ज्यादा लगेगी और अलर्ट नेशनल लेवल है और बढ़ा देगा तो इसी कारण में हम हमें अगर हम मान लो कि अगर हम गाड़ी से कहीं जा रहे हो और कोई बहुत बड़ा भी कल हमारे सामने आ गया और हम थोड़े से ही से बच गए कि हमारा क्लास क्लास नहीं हुआ तो उस समय भी हमारे आर्थिक गति बढ़ जाती है क्योंकि उस तुरंत उस समय में हमारे ब्रेन नहीं है भाग लिया डेंजर हॉरर डेंजर है तो उसके लिए हमारे बॉडी को उसने रेडी कर देखे अभी तुरंत क्या करना है तुरंत आग लग गई है कुछ ऐसी चीज होगी धोकादायक तो हमारे बॉडी को ब्रेन तुरंत तैयार कर देता और ऐसे ऐसे सिचुएशन में हमें हमेशा ही यह हार्ट रेट बढ़ा हुआ दिखेगा तो इसका बेहतरीन चीज है कि बॉडी तो यह रिस्पांस करेगी करेगी लेकिन आप यह सोचो कि अगर आपकी इसी टाइप के माहौल में जीते हो कि आप ऐसी टाइप की चीजें देखते हो आपके लाइफ में आजू-बाजू ऐसे लोग हैं आप भी ऐसे ही हो तो आपके आपका प्रेम हमेशा अलर्टनेस में अपने बॉडी कॉलसनेस में लगेगा और अगर कंसेशन आप के आस पास होता है तो यही धीरे-धीरे ब्लड प्रेशर का कारण बनेगा क्योंकि हार्ड का पंपलेट बड़ा रहेगा हमेशा ही वोट ज्यादा वॉइस अगर जोर से सुनते हम कभी भी हार ट्रेड बढ़ता है तो अगर ऐसा होगा तो हम अपने बीपी कि अगर इसे की शिकायतें होना शुरू हो जाता है
Ladaee aur jhagada dekhakar hrday kee gati badh jaatee hai aur saaph saaph dil kee dhadakan sunaee detee hai kya yah kisee beemaaree ka lakshan hai jee kis beemaaree ka lakshan nahin hai jab bhee koee ladaee jhagade mein ham padhate hain ya sunate hain to usamen modiphaid in phlait rispaans mein aatee hai phait end phlait rispaans bodee ka diphens mekainijm hota hai jisake andar hamaara bren hamaare poore bodee ko yah nirdesh deta hai ki hamen nevar leval par khade ho jaate hain khud ka diphens karana hai usake lie jab diphens usaka karana hota hai to haard ke ret kaard kee gati jyaada chaahie blad jyaada phlor hona chaahie kyonki enarjee bahut jyaada lagegee aur alart neshanal leval hai aur badha dega to isee kaaran mein ham hamen agar ham maan lo ki agar ham gaadee se kaheen ja rahe ho aur koee bahut bada bhee kal hamaare saamane aa gaya aur ham thode se hee se bach gae ki hamaara klaas klaas nahin hua to us samay bhee hamaare aarthik gati badh jaatee hai kyonki us turant us samay mein hamaare bren nahin hai bhaag liya denjar horar denjar hai to usake lie hamaare bodee ko usane redee kar dekhe abhee turant kya karana hai turant aag lag gaee hai kuchh aisee cheej hogee dhokaadaayak to hamaare bodee ko bren turant taiyaar kar deta aur aise aise sichueshan mein hamen hamesha hee yah haart ret badha hua dikhega to isaka behatareen cheej hai ki bodee to yah rispaans karegee karegee lekin aap yah socho ki agar aapakee isee taip ke maahaul mein jeete ho ki aap aisee taip kee cheejen dekhate ho aapake laiph mein aajoo-baajoo aise log hain aap bhee aise hee ho to aapake aapaka prem hamesha alartanes mein apane bodee kolasanes mein lagega aur agar kanseshan aap ke aas paas hota hai to yahee dheere-dheere blad preshar ka kaaran banega kyonki haard ka pampalet bada rahega hamesha hee vot jyaada vois agar jor se sunate ham kabhee bhee haar tred badhata hai to agar aisa hoga to ham apane beepee ki agar ise kee shikaayaten hona shuroo ho jaata hai

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:02
लड़ाई झगड़ा होता है तो मन की सोच है जो है बहुत तेज चलने लगती है यह सामान्य सी प्रक्रिया है क्योंकि भाई आक्रमण क्रोध इन सब चीजों को जब एक ही ज्यादा समाधान हो जाता है और वह सम्मान जो है वह आपकी भावनाओं के माध्यम से एक ही कुछ स्वास्थ्य जब प्रकाशित होता है वह क्रोध के साथ शामिल होकर भी जब बाहर आता है भावना भाई और सामंजस्य अपने आप की सुरक्षा इन सब चीजों के साथ जब एक ही स्वर से जम्मू आते हैं तो सारी रतियां एक साथ जब मिलती हैं तो आपके की धड़कन तेज हो जाती है और वह धड़कन किसी बीमारी की स्थिति और धीरे-धीरे होकर को ठीक हो जाती है जब आप अपने क्रोध को कंट्रोल में कर सकते हैं और यह क्रोध के साथ ही विचारों का उदय होता है जब आपके स्वास्थ्य को तेज चलने लगती है और ऐसा मालूम होता कि जैसे हम हमारे साथ जो है हमारे हृदय में सामान ही रहिएगा थी बहुत तेज हो जाती है इसलिए अपने आप को कंट्रोल में करके ही परिस्थितियों का निर्धारण करना चाहिए
Ladaee jhagada hota hai to man kee soch hai jo hai bahut tej chalane lagatee hai yah saamaany see prakriya hai kyonki bhaee aakraman krodh in sab cheejon ko jab ek hee jyaada samaadhaan ho jaata hai aur vah sammaan jo hai vah aapakee bhaavanaon ke maadhyam se ek hee kuchh svaasthy jab prakaashit hota hai vah krodh ke saath shaamil hokar bhee jab baahar aata hai bhaavana bhaee aur saamanjasy apane aap kee suraksha in sab cheejon ke saath jab ek hee svar se jammoo aate hain to saaree ratiyaan ek saath jab milatee hain to aapake kee dhadakan tej ho jaatee hai aur vah dhadakan kisee beemaaree kee sthiti aur dheere-dheere hokar ko theek ho jaatee hai jab aap apane krodh ko kantrol mein kar sakate hain aur yah krodh ke saath hee vichaaron ka uday hota hai jab aapake svaasthy ko tej chalane lagatee hai aur aisa maaloom hota ki jaise ham hamaare saath jo hai hamaare hrday mein saamaan hee rahiega thee bahut tej ho jaatee hai isalie apane aap ko kantrol mein karake hee paristhitiyon ka nirdhaaran karana chaahie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या लड़ाई करने से कोई बीमारी होती है, लड़ाई करने के नुकसान, लड़ाई करने के नकरात्मक प्रभाव
URL copied to clipboard