#undefined

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:55
क्लिपर तिरंगे के अलावा और कोई झंडा लगाने क्या साबित करता है वह भी गणतंत्र दिवस के दिन दोस्तों लाल किले पर तिरंगे के अलावा जो भी झंडा लगाया गया है इसलिए लगाया गया है कि इस देश के अंदर आज गणतंत्र दिवस है लोगों के अधिकार मिले यह भी झंडा लगा देंगे लेकिन इस देश के अंदर किस तरीके से किसानों के साथ किसानों के साथ अत्याचार हो रहा है यह हक की लड़ाई के लिए वहां पर अपना हक जमाने के लिए उन्होंने जाने की जगह लगाया अपना इसलिए लगाया है झंडा कि हम भी हमारे अकेले खड़े हुए हैं दिखाना चाहते हैं कि जब पूरा देश इस तिरंगे को देखेगा तो कम से कम हमारे इस झंडे की तरफ भी तो उसकी कुछ नजर जाएगी कि इन लोगों के साथ क्या हो रहा है थोड़ा बहुत उनके बारे में तो गौर करें कि देश की जनता कुछ प्रतिक्रिया देंगे लिखेंगे समझाएंगे सरकार का विरोध करेगी और किसानों के साथ खड़ा होगी
Klipar tirange ke alaava aur koee jhanda lagaane kya saabit karata hai vah bhee ganatantr divas ke din doston laal kile par tirange ke alaava jo bhee jhanda lagaaya gaya hai isalie lagaaya gaya hai ki is desh ke andar aaj ganatantr divas hai logon ke adhikaar mile yah bhee jhanda laga denge lekin is desh ke andar kis tareeke se kisaanon ke saath kisaanon ke saath atyaachaar ho raha hai yah hak kee ladaee ke lie vahaan par apana hak jamaane ke lie unhonne jaane kee jagah lagaaya apana isalie lagaaya hai jhanda ki ham bhee hamaare akele khade hue hain dikhaana chaahate hain ki jab poora desh is tirange ko dekhega to kam se kam hamaare is jhande kee taraph bhee to usakee kuchh najar jaegee ki in logon ke saath kya ho raha hai thoda bahut unake baare mein to gaur karen ki desh kee janata kuchh pratikriya denge likhenge samajhaenge sarakaar ka virodh karegee aur kisaanon ke saath khada hogee

और जवाब सुनें

Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
2:28
30 से पहले मैं आपको बता दूं हमारा देश कृषि प्रधान देश है हमेशा किनारे में इस्तेमाल करते हैं जय जवान जय किसान नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रोहित है मेरा ऑडियो कर अभी हाल ही में 26 जनवरी के दिन लाल किले पर मैं क्या करता हूं लाल किले की प्राचीर पर ऐसा घटना हम लोगों को देखने को मिली जिसमें भारत को ही नहीं बाकी बाकी देशों में भारत को शर्मसार कर दिया है वह हमारे हिंदुस्तान का झंडा झंडा जो अपनी मांगों को लेकर बैठे हैं दिल्ली के बॉर्डर पर हर कोई व्यक्ति वहां नहीं पहुंच पा रहा फिर हम कहीं न कहीं अपने मोबाइल से अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से ग्रुप खड़ा है उन लोगों के जो वह कहना चाह रहे हैं कि सरकार ने यहां पर नरेश वाले मैं आपको समझा देना बंद करें यदि आपको जानना है झंडा साहिब गुरु साहिब का झंडा सर्च करें तो आपको मालूम पड़ जाएगा कि वो झंडा कौन जीता और यदि आपने नरेंद्र मोदी जी को कभी पहले बहुत से ग्रुप वाले मिनट लिखा हुआ तो वह झंडे के निशान को झंडा लगाया था झंडे के निशान को उच्चतम भी हमारे मुस्लिम मुस्लिम लोग हैं वहां के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा उसको लगा उसको लगे रहने दें यदि कोई व्यक्ति किसी पटोला तिरंगा झंडा बनता है तो शायद ही कोई व्यक्ति उनके उनका साथ दिन का क्योंकि वह फिर देश के लिए नहीं होगा वह धर्म धमकी धमकी धमकी खिला करता है कोई कफ़न नहीं होता है फिर कब हुआ किसानों के लिए हम खड़े लेकिन अगर किसान ऐसी जो किसान थे कौन थे अभी तक इस बारे में पूरी तरह बात हुई नहीं है कोई उन्हें उग्रवादी नहीं कह रहा है कोई नहीं कहना कोई परेशानी है हालांकि दिल्ली पुलिस मामले में जांच कर रही है आप लोग उसका पूरा विज्ञान बता दूंगा कि कैसे भी चल रही थी
30 se pahale main aapako bata doon hamaara desh krshi pradhaan desh hai hamesha kinaare mein istemaal karate hain jay javaan jay kisaan namaskaar doston mera naam rohit hai mera odiyo kar abhee haal hee mein 26 janavaree ke din laal kile par main kya karata hoon laal kile kee praacheer par aisa ghatana ham logon ko dekhane ko milee jisamen bhaarat ko hee nahin baakee baakee deshon mein bhaarat ko sharmasaar kar diya hai vah hamaare hindustaan ka jhanda jhanda jo apanee maangon ko lekar baithe hain dillee ke bordar par har koee vyakti vahaan nahin pahunch pa raha phir ham kaheen na kaheen apane mobail se apane onalain pletaphorm se grup khada hai un logon ke jo vah kahana chaah rahe hain ki sarakaar ne yahaan par naresh vaale main aapako samajha dena band karen yadi aapako jaanana hai jhanda saahib guru saahib ka jhanda sarch karen to aapako maaloom pad jaega ki vo jhanda kaun jeeta aur yadi aapane narendr modee jee ko kabhee pahale bahut se grup vaale minat likha hua to vah jhande ke nishaan ko jhanda lagaaya tha jhande ke nishaan ko uchchatam bhee hamaare muslim muslim log hain vahaan ke raashtreey dhvaj tiranga usako laga usako lage rahane den yadi koee vyakti kisee patola tiranga jhanda banata hai to shaayad hee koee vyakti unake unaka saath din ka kyonki vah phir desh ke lie nahin hoga vah dharm dhamakee dhamakee dhamakee khila karata hai koee kafan nahin hota hai phir kab hua kisaanon ke lie ham khade lekin agar kisaan aisee jo kisaan the kaun the abhee tak is baare mein pooree tarah baat huee nahin hai koee unhen ugravaadee nahin kah raha hai koee nahin kahana koee pareshaanee hai haalaanki dillee pulis maamale mein jaanch kar rahee hai aap log usaka poora vigyaan bata doonga ki kaise bhee chal rahee thee

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:01
ग्वालियर की लाल किले पर तिरंगे के अलावा और कोई झंडा लगाना क्या साबित करता है और वह भी वह भी गणतंत्र दिवस के दिन तो यह बहुत ही अपमानजनक बात होगी देश के लिए अगर गणतंत्र दिवस के दिन ही तिरंगे के अलावा कोई और झंडा फहराया जाए क्योंकि हमारा तिरंगा किसी भी धर्म से परे होकर एकता का प्रतीक माना जाता है जिन्होंने आजादी के लिए बलिदान दिया उनके सम्मान में यह तिरंगा फहराया जाता पढ़ाया जाता है ऐसा करने से और देशों के सामने भारत की छवि भी गलत बनती है राष्ट्रीय ध्वज फहराने को लेकर फ्लैग कोड ऑफ इंडिया में बहुत तहसील से नियम बनाए जाते हैं उनमें से कुछ नियम है जैसे कि यदि खुले में झंडा फैला रहा है तो हमेशा सूरज उगने पर ही फहराया जाना चाहिए और सूरज ढलने से पहले उसे उतार देना चाहिए झंडा कभी भी झुका हुआ नहीं होना चाहिए झंडे का रंग रूप नहीं बदला जा सकता ना ही उसे उल्टा लगाया जा सकता है या फहराया जा सकता है झंडे पर कुछ भी लिखा नहीं जा सकता बताया गया है कि से लंबे रूप में लटकाया नहीं जा सकता झंडे को 90 डिग्री में घुमाया भी नहीं जा सकता झंडे को बुरी और गंदी स्थिति में नहीं फहराया जा सकता यही नियम झंडे के खंबे और राशियों पर भी लागू होता है जानबूझकर झंडे को जमीन में छूने देना या पानी में सराबोर होने देना भी दंडनीय अपराध माना जाता है या गणतंत्र दिवस के दिन तिरंगे को तिरंगे के अलावा कोई और झंडा फहराना भी हम राज है प्रिंस ऑफ इंटरनेशनल ऑनर एक्ट 1971 के तहत राष्ट्रीय झंडे और संविधान का अपमान करना दंडनीय अपराध है ऐसा करने वाले को 3 साल तक की जेल या फिर जुर्माना या फिर दोनों हो सकती है
Gvaaliyar kee laal kile par tirange ke alaava aur koee jhanda lagaana kya saabit karata hai aur vah bhee vah bhee ganatantr divas ke din to yah bahut hee apamaanajanak baat hogee desh ke lie agar ganatantr divas ke din hee tirange ke alaava koee aur jhanda phaharaaya jae kyonki hamaara tiranga kisee bhee dharm se pare hokar ekata ka prateek maana jaata hai jinhonne aajaadee ke lie balidaan diya unake sammaan mein yah tiranga phaharaaya jaata padhaaya jaata hai aisa karane se aur deshon ke saamane bhaarat kee chhavi bhee galat banatee hai raashtreey dhvaj phaharaane ko lekar phlaig kod oph indiya mein bahut tahaseel se niyam banae jaate hain unamen se kuchh niyam hai jaise ki yadi khule mein jhanda phaila raha hai to hamesha sooraj ugane par hee phaharaaya jaana chaahie aur sooraj dhalane se pahale use utaar dena chaahie jhanda kabhee bhee jhuka hua nahin hona chaahie jhande ka rang roop nahin badala ja sakata na hee use ulta lagaaya ja sakata hai ya phaharaaya ja sakata hai jhande par kuchh bhee likha nahin ja sakata bataaya gaya hai ki se lambe roop mein latakaaya nahin ja sakata jhande ko 90 digree mein ghumaaya bhee nahin ja sakata jhande ko buree aur gandee sthiti mein nahin phaharaaya ja sakata yahee niyam jhande ke khambe aur raashiyon par bhee laagoo hota hai jaanaboojhakar jhande ko jameen mein chhoone dena ya paanee mein saraabor hone dena bhee dandaneey aparaadh maana jaata hai ya ganatantr divas ke din tirange ko tirange ke alaava koee aur jhanda phaharaana bhee ham raaj hai prins oph intaraneshanal onar ekt 1971 ke tahat raashtreey jhande aur sanvidhaan ka apamaan karana dandaneey aparaadh hai aisa karane vaale ko 3 saal tak kee jel ya phir jurmaana ya phir donon ho sakatee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • लाल किले पर तिरंगे के अलावा और कोई झंडा लगाना क्या साबित करता है वह भी गणतंत्र दिवस के दिन लाल किले पर तिरंगे के अलावा और कोई झंडा लगाना क्या साबित करता है
URL copied to clipboard