#undefined

bolkar speaker

भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं?

Bharat Mein Restaurent Ka Vyapar Kaise Kar Sakte Hain
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:55
हेलो आज आप का सवाल है कि भारत में रसायन का व्यापार कैसे कर सकते हैं तो देखिए यहां पर लोग खाने पीने की बहुत ज्यादा शौकीन है बाहर की दुकान के बारे में नहीं जानते भाई किसी देश के बारे में बस वही टीवी वगैरह में देखने के लिए मिलता है जहां पर जैसे कि स्कूल कॉलेज या फिर अगर कोई यूनिवर्सिटीज अगर ऐसा कोई जगह है जहां पर मतलब बहुत ही वह क्राउडेड एरिया भी निर्धारण होता है तो वहां पर आपको रिश्ता के लोग ज्यादा से ज्यादा आ सके क्योंकि स्कूल कॉलेज यूनिवर्सिटी की संख्या क्या होता है क्यों निकलते हैं तो मन करता है कि आप कुछ खा पी लेते हैं अच्छा इंग्लिश फिल्में आपके हैं और अच्छा खासा मतलब टाइम भी है इतना ज्यादा नहीं है तू कुछ लोग आएंगे और आप अच्छा देख रंडी रहे होंगे फोन तो लोग आएंगे तो यह सब प्ले हाथी साधा छोरा तू अगर आप इतना ज्यादा बजट नहीं है तो पहले आप थोड़ा रेस्ट बनाई है नॉर्मल शेयर या फिर अंब्रेला टाइप का जो होता है जिस तरह से जो उस तरह का जो एक ऊपर गिर कर और पैर रखकर जैसा करनी वैसा किसी और दो तीन चार बार लगा दीजिए भी बहुत ही अच्छा दिखने में भी बहुत सारी जगह देखा है कि ऐसे भी ऐसा करते फिर आपको जैसा आप डिजाइन करना चाहते हो उसके बाद ऐसा ही कीजिए आने आने अगर आप खोलते हैं तो कुछ प्राइस कम कर दीजिए और होता है कि 500 का ग्राफ खा रहे हैं तो यह चीज आपको मतलब फ्री स्पेशल जहां गांव वालों को मिलेगा तो यह सब चीजें थोड़ा छूट दीजिए इस तरह से क्या है कि लोग आएंगे भी और खाने-पीने के सब लोग बहुत शौकीन होते हैं तो ऐसा मेला में आप करेंगे तो आपको प्रॉब्लम भी बताना होगा
Helo aaj aap ka savaal hai ki bhaarat mein rasaayan ka vyaapaar kaise kar sakate hain to dekhie yahaan par log khaane peene kee bahut jyaada shaukeen hai baahar kee dukaan ke baare mein nahin jaanate bhaee kisee desh ke baare mein bas vahee teevee vagairah mein dekhane ke lie milata hai jahaan par jaise ki skool kolej ya phir agar koee yoonivarsiteej agar aisa koee jagah hai jahaan par matalab bahut hee vah krauded eriya bhee nirdhaaran hota hai to vahaan par aapako rishta ke log jyaada se jyaada aa sake kyonki skool kolej yoonivarsitee kee sankhya kya hota hai kyon nikalate hain to man karata hai ki aap kuchh kha pee lete hain achchha inglish philmen aapake hain aur achchha khaasa matalab taim bhee hai itana jyaada nahin hai too kuchh log aaenge aur aap achchha dekh randee rahe honge phon to log aaenge to yah sab ple haathee saadha chhora too agar aap itana jyaada bajat nahin hai to pahale aap thoda rest banaee hai normal sheyar ya phir ambrela taip ka jo hota hai jis tarah se jo us tarah ka jo ek oopar gir kar aur pair rakhakar jaisa karanee vaisa kisee aur do teen chaar baar laga deejie bhee bahut hee achchha dikhane mein bhee bahut saaree jagah dekha hai ki aise bhee aisa karate phir aapako jaisa aap dijain karana chaahate ho usake baad aisa hee keejie aane aane agar aap kholate hain to kuchh prais kam kar deejie aur hota hai ki 500 ka graaph kha rahe hain to yah cheej aapako matalab phree speshal jahaan gaanv vaalon ko milega to yah sab cheejen thoda chhoot deejie is tarah se kya hai ki log aaenge bhee aur khaane-peene ke sab log bahut shaukeen hote hain to aisa mela mein aap karenge to aapako problam bhee bataana hoga

और जवाब सुनें

bolkar speaker
भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं?Bharat Mein Restaurent Ka Vyapar Kaise Kar Sakte Hain
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
5:14
सवाल ये है कि भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं प्रेसिडेंट का बिजनेस आज के दौर में सबसे अच्छे सरल और व्यापक बिजनेस में से एक है इसलिए कि आपको पता होगा कि ग्राहक सस्ता और स्वादिष्ट खाना अच्छा लगता है इसके लिए मार्केट रिसर्च बहुत काम करती है व्यापक इसलिए है कि आज के दौर में आप अपने पास आसपास ही नहीं बल्कि डिजिटल माध्यम के जरिए भी लोगों तक अपनी अपनी सुविधा पहुंचा सकते हैं तमाम लोग रेस्टोरेंट का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं लेकिन उनके सामने कुछ बड़ी परेशानी होती कि रेस्टोरेंट का बिजनेस कैसे शुरू किया जाए तो देखते कैसे बनता है कर सकते हैं रेस्ट खोलते वक्त आपके पास धन मैं न्यू स्थान कांटेक्ट बाजार अनुसंधान और ऑपरेटिंग सिस्टम का ज्ञान होना चाहिए इस अकाउंट खोलने के लिए आप को योजनाबद्ध एवं आपके पास पर्याप्त धन होना चाहिए आज रेस्टोरेंट खोलने के कई विकल्प हैं वजह से स्थानीय व्यंजनों के अलावा अगर आपको लगता है कि लोग अंतरराष्ट्रीय मांसाहारी व्यंजनों का भी जायका रखना पसंद करते हैं तो आप इस तरह के भी रिस्ट्रॉन्ट खोल सकते हैं रेस्टोरेंट के संचालन में उसका स्थान भी एक अहम भूमिका निभाता है उदाहरण के लिए अगर आप मॉल मेरे फोन खोलते हैं तो फूड फास्ट फूड या पीलिया का का अर्थ चलने की संभावना अधिक है रेस्टोरेंट की व्यवसाय योजना की लागत एक लगाकर लागत एक सूची तैयार कर लें जिसमें आने वाले महीनों में रेस्टोरेंट के संचालन में लगने वाले खर्चों को भी जोड़ें सभी गणना सटीक होनी चाहिए तथा इसको आपको इस व्यवसाय से जुड़े विभिन्न वित्तीय पहलू को की जानकारी होनी चाहिए आरक्षण को खोलने में आने वाले खर्च कुछ इस तरह से है कि आप किस प्रकार का रेस्टोरेंट खोलना चाहते हैं उपकरण नहीं होंगे या फिर किराए पर लिए जाएंगे व्यापार को किस तरह से आगे बढ़ाएंगे सुविधा की प्रकृति इन सबके पर आने वाले खर्च आदेश बना सकते हैं प्रेस टॉर्च शुरू करने से कुछ जुड़े हुए कानून है रेस्टोरेंट खोलने से पहले आपको संबंधित स्थानीय संगठन से आवश्यक लाइसेंस एवं परमिट प्राप्त करना होगा स्वास्थ्य सेवा भोजन प्रतिष्ठान मरमेड प्रमाणीकरण को जारी करने वाला एक महत्वपूर्ण विभाग है इसके अलावा मालिकों को पर्याप्त बीमा कवरेज भी प्राप्त करना होगा इंटीरियर एवं मैन्यू मैन्यू की सूची स्थानीय लोगों की रुचि को ध्यान में रखकर बनाएं व्यंजनों की कीमत बाजार से के अनुसार ही रखें प्रस्थान का इंटीरियर उसकी आकर्षण का केंद्र है और रेस्टोरेंट खोलते वक्त आपको उसके इंटीरियर पर खास ध्यान देना होगा आजकल लोग कुछ तरह के इंटीरियर वाले रेस्टोरेंट भी काफी पसंद करते हैं फर्नीचर काफी खूबसूरत होना चाहिए फर्नीचर खरीदारी काफी रेस्टोरेंट का प्रचार करें विज्ञापन लोगों तक पहुंचाने की का एकमात्र जरिया है यदि आप रसपान की मौजूदगी को बताना आते हैं तो इसका आरंभ रेस्टोरेंट के शुरुआती दिनों में ही हो जाना चाहिए ब्लॉगिंग रेस्टोरेंट के बारे में जागरूकता पैदा करना एक अच्छा तरीका है आप सोशल मीडिया के जरिए समय-समय पर ब्लॉक लिखकर आप अपने लोगों को अपडेट कर सकते हैं इसके माध्यम से आप रेस्टोरेंट में परोसे जाने वाले ने 1 जनों के बारे में भी बता सकते हैं इंटरनेट के माध्यम से लोगों को बताएं आप चाहे तो ब्लॉग पर टिप्पणी या लिखने वाले लोगों के साथ भी चैट कर सकते हैं और रेस्टोरेंट की सजावट में स्टाइल एवं नए 1 जनों पर चर्चा कर सकते हैं झूठ द्वारा आपने लोगों को अपने रेस्टोरेंट की ओर खींच सकते हैं यह काफी अच्छा तरीका है तथा उनकी सफलता में मददगार साबित हो सकता है कर्मचारियों की भर्ती की प्रक्रिया डिस्काउंट में काम करने वाले प्रत्येक क्रम कर्मचारी को अपनी जिम्मेदारियां बखूबी पता होनी चाहिए जरूरत के अनुसार कर्मचारियों की फेरबदल करना सही नहीं होगा कर्मचारी को रिस्टोर तेजस विभाग को संभालने की जिम्मेदारी दी गई है उसी विभाग को संभाला जाना चाहिए आप काम पर लगाने से पहले सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षित जरूर करें प्रशिक्षण द्वारा वह अपनी जिम्मेदारियों को अच्छे से समझ में निभा पाएंगे अप्रशिक्षित व कर्मचारियों से केवल आपके फोन का नुकसान ही होगा पर्याप्त कर्मचारी रखे रेस्टोरेंट को सफल बनाने के लिए आपके पास पर्याप्त कर्मचारी होने चाहिए यदि आपका कर्मचारी अधिक छुट्टी ले या काम ढंग से ना करें तो आप ऑफिस भुज भुज की स्थिति में संभालना होगा मालिक को कर्मचारी को अपने काम करने के लिए प्रेरित करना चाहिए कर्मचारी प्रतिधारण प्रोग्राम की समझ ऐसी स्थिति में आपके लिए सहायक साबित होगी फीडबैक अपने असत्य सेवाओं के कारण मैकडॉनल्ड्स डोमिनोस पिज़्ज़ा हट इन सबवे जैसे अंतरराष्ट्रीय ब्रांड भारतीय बाजार में खुद को स्थापित कर चुके हैं यह केवल ग्राहक को स्वादिष्ट भोजन ही नहीं बल्कि उनके बताए समय का मूल्य 1 बताते हैं इस दिशा में पिज़्ज़ा हट एक नए कांसेप्ट को लेकर आया है इसमें भी संतुष्ट ग्राहकों घंटी बजाने का मौका देते हैं इस तरह से आप भी अपने ग्राहकों को खाने को लेकर फीडबैक ले सकते हैं
Savaal ye hai ki bhaarat mein restorent ka vyaapaar kaise kar sakate hain president ka bijanes aaj ke daur mein sabase achchhe saral aur vyaapak bijanes mein se ek hai isalie ki aapako pata hoga ki graahak sasta aur svaadisht khaana achchha lagata hai isake lie maarket risarch bahut kaam karatee hai vyaapak isalie hai ki aaj ke daur mein aap apane paas aasapaas hee nahin balki dijital maadhyam ke jarie bhee logon tak apanee apanee suvidha pahuncha sakate hain tamaam log restorent ka bijanes shuroo karana chaahate hain lekin unake saamane kuchh badee pareshaanee hotee ki restorent ka bijanes kaise shuroo kiya jae to dekhate kaise banata hai kar sakate hain rest kholate vakt aapake paas dhan main nyoo sthaan kaantekt baajaar anusandhaan aur opareting sistam ka gyaan hona chaahie is akaunt kholane ke lie aap ko yojanaabaddh evan aapake paas paryaapt dhan hona chaahie aaj restorent kholane ke kaee vikalp hain vajah se sthaaneey vyanjanon ke alaava agar aapako lagata hai ki log antararaashtreey maansaahaaree vyanjanon ka bhee jaayaka rakhana pasand karate hain to aap is tarah ke bhee ristront khol sakate hain restorent ke sanchaalan mein usaka sthaan bhee ek aham bhoomika nibhaata hai udaaharan ke lie agar aap mol mere phon kholate hain to phood phaast phood ya peeliya ka ka arth chalane kee sambhaavana adhik hai restorent kee vyavasaay yojana kee laagat ek lagaakar laagat ek soochee taiyaar kar len jisamen aane vaale maheenon mein restorent ke sanchaalan mein lagane vaale kharchon ko bhee joden sabhee ganana sateek honee chaahie tatha isako aapako is vyavasaay se jude vibhinn vitteey pahaloo ko kee jaanakaaree honee chaahie aarakshan ko kholane mein aane vaale kharch kuchh is tarah se hai ki aap kis prakaar ka restorent kholana chaahate hain upakaran nahin honge ya phir kirae par lie jaenge vyaapaar ko kis tarah se aage badhaenge suvidha kee prakrti in sabake par aane vaale kharch aadesh bana sakate hain pres torch shuroo karane se kuchh jude hue kaanoon hai restorent kholane se pahale aapako sambandhit sthaaneey sangathan se aavashyak laisens evan paramit praapt karana hoga svaasthy seva bhojan pratishthaan maramed pramaaneekaran ko jaaree karane vaala ek mahatvapoorn vibhaag hai isake alaava maalikon ko paryaapt beema kavarej bhee praapt karana hoga inteeriyar evan mainyoo mainyoo kee soochee sthaaneey logon kee ruchi ko dhyaan mein rakhakar banaen vyanjanon kee keemat baajaar se ke anusaar hee rakhen prasthaan ka inteeriyar usakee aakarshan ka kendr hai aur restorent kholate vakt aapako usake inteeriyar par khaas dhyaan dena hoga aajakal log kuchh tarah ke inteeriyar vaale restorent bhee kaaphee pasand karate hain pharneechar kaaphee khoobasoorat hona chaahie pharneechar khareedaaree kaaphee restorent ka prachaar karen vigyaapan logon tak pahunchaane kee ka ekamaatr jariya hai yadi aap rasapaan kee maujoodagee ko bataana aate hain to isaka aarambh restorent ke shuruaatee dinon mein hee ho jaana chaahie bloging restorent ke baare mein jaagarookata paida karana ek achchha tareeka hai aap soshal meediya ke jarie samay-samay par blok likhakar aap apane logon ko apadet kar sakate hain isake maadhyam se aap restorent mein parose jaane vaale ne 1 janon ke baare mein bhee bata sakate hain intaranet ke maadhyam se logon ko bataen aap chaahe to blog par tippanee ya likhane vaale logon ke saath bhee chait kar sakate hain aur restorent kee sajaavat mein stail evan nae 1 janon par charcha kar sakate hain jhooth dvaara aapane logon ko apane restorent kee or kheench sakate hain yah kaaphee achchha tareeka hai tatha unakee saphalata mein madadagaar saabit ho sakata hai karmachaariyon kee bhartee kee prakriya diskaunt mein kaam karane vaale pratyek kram karmachaaree ko apanee jimmedaariyaan bakhoobee pata honee chaahie jaroorat ke anusaar karmachaariyon kee pherabadal karana sahee nahin hoga karmachaaree ko ristor tejas vibhaag ko sambhaalane kee jimmedaaree dee gaee hai usee vibhaag ko sambhaala jaana chaahie aap kaam par lagaane se pahale sabhee karmachaariyon ko prashikshit jaroor karen prashikshan dvaara vah apanee jimmedaariyon ko achchhe se samajh mein nibha paenge aprashikshit va karmachaariyon se keval aapake phon ka nukasaan hee hoga paryaapt karmachaaree rakhe restorent ko saphal banaane ke lie aapake paas paryaapt karmachaaree hone chaahie yadi aapaka karmachaaree adhik chhuttee le ya kaam dhang se na karen to aap ophis bhuj bhuj kee sthiti mein sambhaalana hoga maalik ko karmachaaree ko apane kaam karane ke lie prerit karana chaahie karmachaaree pratidhaaran prograam kee samajh aisee sthiti mein aapake lie sahaayak saabit hogee pheedabaik apane asaty sevaon ke kaaran maikadonalds dominos pizza hat in sabave jaise antararaashtreey braand bhaarateey baajaar mein khud ko sthaapit kar chuke hain yah keval graahak ko svaadisht bhojan hee nahin balki unake batae samay ka mooly 1 bataate hain is disha mein pizza hat ek nae kaansept ko lekar aaya hai isamen bhee santusht graahakon ghantee bajaane ka mauka dete hain is tarah se aap bhee apane graahakon ko khaane ko lekar pheedabaik le sakate hain

bolkar speaker
भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं?Bharat Mein Restaurent Ka Vyapar Kaise Kar Sakte Hain
Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:45
हां सर जैसा कि आप आपस में भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कह सकते हैं भारत में आप रेस्टोरेंट बिल्कुल खोल सकते हैं और अच्छा भी है और भाई उनको सेटलमेंट नहीं कर पाते डिमांड बढ़ती है वैसे-वैसे क्वालिटी की मात्रा कम बढ़ती जाती है आप डिमांड बढ़ रही है और आपका 20 और 23 को भी ध्यान रखें बैलेंस बनाकर चलिए सबसे पहली बात तो ए सेकंड ईयर आवाज क्वालिटी बहुत मैटर करती है अब काफी जाने बोलेंगे डस नोट मैटर क्वालिटी लेकिन क्वालिटी बहुत मैटर करती है क्वालिटी हर एक चीज में आप खाने की वस्तु में रेस्टोरेंट में लोग क्यों आते हैं काफी जाने दिया तो इसमें प्राइस कम इस वजह से हैं लेकिन 100 में से 28% जा सकता है 60% लोग ऐसे आते किस रेस्टोरेंट में खाना कितना अच्छा है क्वालिटी का कितना अच्छा है स्वाद कितना अच्छा कितना अच्छा है मगर मैं यह बात को तो अगर आप करते हैं तो उसे क्वालिटी बहुत अच्छी होती है अगर काफी रेस्टोरेन आपने जैसे कहा कि भारत में रेस्टोरेंट पर कैसे कर सकते हैं आप क्वालिटी का ध्यान रखिए प्राइस का ध्यान रखिए टिकट रेस्टोरेंट खोलने के लिए लोन वगैरह कोई स्पॉन्सर वगैरह ढूंढ सकते हैं उसका आप किस स्टेट में रहते हैं उसके कोडिंग हाईवे कितना टच में क्या है इस सब बातों का ध्यान रखते हुए आप चला सकते हैं मैसेजेस धन्यवाद
Haan sar jaisa ki aap aapas mein bhaarat mein restorent ka vyaapaar kaise kah sakate hain bhaarat mein aap restorent bilkul khol sakate hain aur achchha bhee hai aur bhaee unako setalament nahin kar paate dimaand badhatee hai vaise-vaise kvaalitee kee maatra kam badhatee jaatee hai aap dimaand badh rahee hai aur aapaka 20 aur 23 ko bhee dhyaan rakhen bailens banaakar chalie sabase pahalee baat to e sekand eeyar aavaaj kvaalitee bahut maitar karatee hai ab kaaphee jaane bolenge das not maitar kvaalitee lekin kvaalitee bahut maitar karatee hai kvaalitee har ek cheej mein aap khaane kee vastu mein restorent mein log kyon aate hain kaaphee jaane diya to isamen prais kam is vajah se hain lekin 100 mein se 28% ja sakata hai 60% log aise aate kis restorent mein khaana kitana achchha hai kvaalitee ka kitana achchha hai svaad kitana achchha kitana achchha hai magar main yah baat ko to agar aap karate hain to use kvaalitee bahut achchhee hotee hai agar kaaphee restoren aapane jaise kaha ki bhaarat mein restorent par kaise kar sakate hain aap kvaalitee ka dhyaan rakhie prais ka dhyaan rakhie tikat restorent kholane ke lie lon vagairah koee sponsar vagairah dhoondh sakate hain usaka aap kis stet mein rahate hain usake koding haeeve kitana tach mein kya hai is sab baaton ka dhyaan rakhate hue aap chala sakate hain maisejes dhanyavaad

bolkar speaker
भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं?Bharat Mein Restaurent Ka Vyapar Kaise Kar Sakte Hain
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
0:57
मकर दोस्त कैसा सवाल है भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं लेकिन निश्चित तौर पर भारत के बाद भी कहीं पर भी मदद रेस्टोरेंट की बात की जाए तो निश्चित तौर पर आपके पास सबसे पहले देखा था कि आपकी आर्थिक स्थिति कैसी थी वहां की आरती कि ठीक है लेकिन घर की आर्थिक स्थिति खोल सकते हैं नहीं तो आप थोड़ा काम चलो यानी कि बंदा रेस्टोरेंट्स में ज्यादा किसी से कर्जा लेना जितना बड़ा रेस्टोरेंट खोज सकते मुझे रेस्टोरेंट की बात की है कि मुझे ऑफिस से अगर खोल लेते तो इसमें काफी अच्छा खासा प्रॉफिट मिलता क्योंकि आजकल दिखा देना मुझे तो लगता है कि रेस्टोरेंट्स जो व्यक्ति जो स्टूडेंट खोल बिजनेसमैन भी नहीं खा पाते क्योंकि इसमें इतना पैसा इतना पैसा कुछ कहने को नहीं था कि आप लोगों की अलग अलग रह सकती हूं और जॉब अच्छा लगा धन्यवाद
Makar dost kaisa savaal hai bhaarat mein restorent ka vyaapaar kaise kar sakate hain lekin nishchit taur par bhaarat ke baad bhee kaheen par bhee madad restorent kee baat kee jae to nishchit taur par aapake paas sabase pahale dekha tha ki aapakee aarthik sthiti kaisee thee vahaan kee aaratee ki theek hai lekin ghar kee aarthik sthiti khol sakate hain nahin to aap thoda kaam chalo yaanee ki banda restorents mein jyaada kisee se karja lena jitana bada restorent khoj sakate mujhe restorent kee baat kee hai ki mujhe ophis se agar khol lete to isamen kaaphee achchha khaasa prophit milata kyonki aajakal dikha dena mujhe to lagata hai ki restorents jo vyakti jo stoodent khol bijanesamain bhee nahin kha paate kyonki isamen itana paisa itana paisa kuchh kahane ko nahin tha ki aap logon kee alag alag rah sakatee hoon aur job achchha laga dhanyavaad

bolkar speaker
भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं?Bharat Mein Restaurent Ka Vyapar Kaise Kar Sakte Hain
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:56
व्रत में भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं देखें रेस्टोरेंट खोलते वक्त आपके पास धान में नई स्थान और कौन से बाजार अनुसंधान तथा ऑपरेटिंग सिस्टम का ज्ञान होना चाहिए रेस्टोरेंट खोलने के लिए आपको योजना बाद हम आपके पास जफरयाब दान होना चाहिए आप रेस्टोरेंट खोलने के लिए कई सारे विकल्प मौजूद है स्थानीय वैष्णो के अलावा अगर आपको लगता है कि लोग अंतरराष्ट्रीय मांसाहारी व्यंजनों का जायका भी साथ में पसंद करते हैं तो आप इस तरह के भी रेस्टोरेंट ऑफ खोल सकते हैं रेस्टोरेंट के संचालन में उसका स्थान भी एक अहम भूमिका निभाता है उदाहरण के लिए अगर आप मॉल में रह तुरंत खोलते हैं तो फास्ट फूड यह पिज़्ज़ारिया के चलने की संभावना अधिक है
Vrat mein bhaarat mein restorent ka vyaapaar kaise kar sakate hain dekhen restorent kholate vakt aapake paas dhaan mein naee sthaan aur kaun se baajaar anusandhaan tatha opareting sistam ka gyaan hona chaahie restorent kholane ke lie aapako yojana baad ham aapake paas japharayaab daan hona chaahie aap restorent kholane ke lie kaee saare vikalp maujood hai sthaaneey vaishno ke alaava agar aapako lagata hai ki log antararaashtreey maansaahaaree vyanjanon ka jaayaka bhee saath mein pasand karate hain to aap is tarah ke bhee restorent oph khol sakate hain restorent ke sanchaalan mein usaka sthaan bhee ek aham bhoomika nibhaata hai udaaharan ke lie agar aap mol mein rah turant kholate hain to phaast phood yah pizzaariya ke chalane kee sambhaavana adhik hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार कैसे कर सकते हैं भारत में रेस्टोरेंट का व्यापार
URL copied to clipboard