#भारत की राजनीति

Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
🧖‍♀️life coach,Spiritual Advisor And Motivational speaker🙏
1:56
आपका प्रश्न है और मैं आपके प्रश्न का आंसर दूंगी कि अगर बेहतर होगा कि हम सरकार और सरकार के बनाएं चीजों पर ज्यादा फोकस ना करके स्वयं पर फोकस करेंगे तो कहीं ना कहीं हम अपने नजरों के सामने बहुत बदलाव देख पाएंगे क्योंकि जरूरी नहीं होता कि हर एक चीज हमारे ही अकॉर्डिंग हो जो चीज हमारे अकॉर्डिंग हो सकती है वह खुद हम हैं जो हम अपने आप को प्योर बना सकते हैं कहते हैं हमारा नजरिया अगर अच्छा होगा तो हम सब जगह अच्छा देखेंगे लेकिन नजरिया ही बुरा होगा तो हम अच्छे में भी बुराई देखेंगे जैसे अंध भक्तों का ज्ञान बहुत बोलते हैं सारे लोग अंध भक्तों का ज्ञान लेकिन आपका नजरिया अच्छा होगा ना तो आप उसमें भी पॉजिटिविटी देखेंगे उसमें नेगेटिव नजर नहीं आएगा पहले मैं भी ऐसे सोचती थी जिस तरीके से आपने क्वेश्चन किया हमारी रिलेशनशिप में भी कोई खास बात नहीं होती हम एक दम ठीक रहते हैं हम कोई भी चीज करते हैं तो हमारी वाइब्रेशन इतनी लो रहती हम अच्छे से इनकम जनरेट नहीं कर सकते हम अच्छे से मुस्कुरा नहीं सकते क्योंकि हमारे अंदर नेगेटिव चीजें कचरा भरा रहता है और क्या करते हमें गुस्सा आता है जो हमें पसंद नहीं है उसे हम हॉट करने वाले शब्दों का इस्तेमाल करते हैं जो चीज अच्छी लगती है उसमें भी गंदगी नजर आती है तो मैं आपको सिर्फ इतना ही कहूंगी जो सरकार है ना इन्हें अपना काम करने दीजिए राम रामदेव जी है ना अपना काम करने दीजिए और जो अंधभक्त हैं ना उन्हें भी अपना काम करने दीजिए अगर आप अपने ऊपर ध्यान देंगे तो यकीनन इन सब में आपको बहुत अच्छाई नजर आएगी क्योंकि आप में वह चाय आ गई है तो आप भी अच्छा देखेंगे थैंक यू सो मच
Aapaka prashn hai aur main aapake prashn ka aansar doongee ki agar behatar hoga ki ham sarakaar aur sarakaar ke banaen cheejon par jyaada phokas na karake svayan par phokas karenge to kaheen na kaheen ham apane najaron ke saamane bahut badalaav dekh paenge kyonki jarooree nahin hota ki har ek cheej hamaare hee akording ho jo cheej hamaare akording ho sakatee hai vah khud ham hain jo ham apane aap ko pyor bana sakate hain kahate hain hamaara najariya agar achchha hoga to ham sab jagah achchha dekhenge lekin najariya hee bura hoga to ham achchhe mein bhee buraee dekhenge jaise andh bhakton ka gyaan bahut bolate hain saare log andh bhakton ka gyaan lekin aapaka najariya achchha hoga na to aap usamen bhee pojitivitee dekhenge usamen negetiv najar nahin aaega pahale main bhee aise sochatee thee jis tareeke se aapane kveshchan kiya hamaaree rileshanaship mein bhee koee khaas baat nahin hotee ham ek dam theek rahate hain ham koee bhee cheej karate hain to hamaaree vaibreshan itanee lo rahatee ham achchhe se inakam janaret nahin kar sakate ham achchhe se muskura nahin sakate kyonki hamaare andar negetiv cheejen kachara bhara rahata hai aur kya karate hamen gussa aata hai jo hamen pasand nahin hai use ham hot karane vaale shabdon ka istemaal karate hain jo cheej achchhee lagatee hai usamen bhee gandagee najar aatee hai to main aapako sirph itana hee kahoongee jo sarakaar hai na inhen apana kaam karane deejie raam raamadev jee hai na apana kaam karane deejie aur jo andhabhakt hain na unhen bhee apana kaam karane deejie agar aap apane oopar dhyaan denge to yakeenan in sab mein aapako bahut achchhaee najar aaegee kyonki aap mein vah chaay aa gaee hai to aap bhee achchha dekhenge thaink yoo so mach

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जिंदगी में अच्छे विचार.. जिंदगी में आमिर बनने के लिए क्या करे
URL copied to clipboard