#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

एक श्रेष्ठ पुरुष के क्या-क्या गुण होने चाहिए?

Ek Shresth Purush Ke Kya Kya Gun Hone Chahie
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:32
प्रश्न 11 सुरेश प्रसाद क्या-क्या गुण होने चाहिए उत्कृष्ट कॉलेज के लिए तो दोस्तों आपको कभी झूठ नहीं बोलना चाहिए तो शास्त्री जी के साथ के साथ जाने के लिए महान कार्य करनी चाहिए गरीबों को मदद करनी चाहिए सत्य बोलने का मौका नहीं देना चाहिए समझना चाहिए चमक अपना काम पूरा करना चाहिए लड़ाई झगड़ा नहीं करना चाहिए सारे सिस्ट होने की बहुत सारे गुण होते हैं दोस्त
Prashn 11 suresh prasaad kya-kya gun hone chaahie utkrsht kolej ke lie to doston aapako kabhee jhooth nahin bolana chaahie to shaastree jee ke saath ke saath jaane ke lie mahaan kaary karanee chaahie gareebon ko madad karanee chaahie saty bolane ka mauka nahin dena chaahie samajhana chaahie chamak apana kaam poora karana chaahie ladaee jhagada nahin karana chaahie saare sist hone kee bahut saare gun hote hain dost

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक श्रेष्ठ पुरुष के क्या-क्या गुण होने चाहिए?Ek Shresth Purush Ke Kya Kya Gun Hone Chahie
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Self development online classes abhi join kare instagram me
2:48
प्रश्न है एक श्रेष्ठ पुरुष के क्या-क्या गुण होते हैं जी हां दोस्तों मैं एक हील पुरुष की बात करूंगी जो एक्चुअली में हमारी डिवाइन प्योर होते हैं उसी तरीके से प्योर पुरुष होते हैं तो हिल वाले पुरुष होते हैं वह कैसे होते हैं वह उनके अंदर ऐसा नहीं होता उनके अंदर ईगो नहीं होता उनके अंदर जैसी नहीं होती उनके अंदर प्रैक्टिकल थिंकिंग होती है उनके अंदर थोड़े बहुत इमोशन भी होते हैं उनके अंदर अगर वह कोई काम कर रहे हैं तो सबसे पहले वह प्लान करेंगे पहले उसकी कमी भी देखेंगे उसके लाभ भी देखेंगे तो ऐसे होते हैं एक श्रेष्ठ पुरुष अपनी रिलेशनशिप को भी अच्छे से निभाएंगे सब कुछ सही सही टाइम देंगे ऐसा नहीं कि 24 घंटे की को दे रहे होते हैं कि नहीं होते हैं मिनिमम तरीके से देंगे सबको देंगे यह नहीं पटी कूलर एक घंटा एक घंटा किसी एक को दे दिया नहीं वह वहां भी टाइम देंगे जहां जरूरत है वह अपनी क्रिएटिविटी साइड में भी फोकस देंगे वह अपने करियर में भी फोकस रहेंगे जहां जहां उनकी जरूरत है वहां वहां अवेलेबल होंगे ठीक है एक श्रेष्ठ पुरुष यह भी होते हैं कि वह हमेशा दूसरों को मोटिवेट करेंगे अगर कोई भी तकलीफ में है तो उसे हिल करने की कोशिश करेंगे अगर किसी को समझ में नहीं आ रहा है वह बहुत परेशान है तो उसे मोटिवेट करेंगे कि तुम आगे बढ़ो हार मत मानो वह कभी भी ऐसी थिंकिंग मिलाएंगे कि सब कुछ खत्म हो गया किसी एक की वजह से पूरी दुनिया खत्म हो गई ऐसे नहीं होंगे वह वह हर एक चीज को समझेंगे कि जो हुआ अच्छे के लिए हुआ और वह हुआ तो हमें क्या सिखाया इतना समय मैंने कुछ सीखा लेकिन उससे मुझे प्रॉफिट नहीं हुआ लेकिन उससे मैंने कुछ सीखा तो यह सारी चीजों को एक श्रेष्ठ पुरुष समझते हैं और वह हमेशा यह देखने की मेरी वजह से सामने वाले को मैं वह दे सकूं जो वह चाहता है अब ऐसा नहीं कि सबकी एक्सपेक्टेशन ही पूरी कर एक्सपेक्टेशन हुजूर आते-आते के लिए करो मिली वह करो उसके बाद उनकी फैमिली से भी उनके रिलेशनशिप अच्छे से बोल रहे हैं वह खुद को लंबी करते हैं उससे उपलब्धि करते हैं और वही लाइट भी करते हैं तो श्रेष्ठ पुरुष ऐसे होते हैं यह बहुत ज्यादा है लेकिन सच में ऐसे ही होते हैं लेकिन अगर आप ऐसे लोगों से मिलना चाहते हैं तो बहुत कम लोग होते हैं पर होते जरूर हैं थैंक यू सो मच
Prashn hai ek shreshth purush ke kya-kya gun hote hain jee haan doston main ek heel purush kee baat karoongee jo ekchualee mein hamaaree divain pyor hote hain usee tareeke se pyor purush hote hain to hil vaale purush hote hain vah kaise hote hain vah unake andar aisa nahin hota unake andar eego nahin hota unake andar jaisee nahin hotee unake andar praiktikal thinking hotee hai unake andar thode bahut imoshan bhee hote hain unake andar agar vah koee kaam kar rahe hain to sabase pahale vah plaan karenge pahale usakee kamee bhee dekhenge usake laabh bhee dekhenge to aise hote hain ek shreshth purush apanee rileshanaship ko bhee achchhe se nibhaenge sab kuchh sahee sahee taim denge aisa nahin ki 24 ghante kee ko de rahe hote hain ki nahin hote hain minimam tareeke se denge sabako denge yah nahin patee koolar ek ghanta ek ghanta kisee ek ko de diya nahin vah vahaan bhee taim denge jahaan jaroorat hai vah apanee krietivitee said mein bhee phokas denge vah apane kariyar mein bhee phokas rahenge jahaan jahaan unakee jaroorat hai vahaan vahaan avelebal honge theek hai ek shreshth purush yah bhee hote hain ki vah hamesha doosaron ko motivet karenge agar koee bhee takaleeph mein hai to use hil karane kee koshish karenge agar kisee ko samajh mein nahin aa raha hai vah bahut pareshaan hai to use motivet karenge ki tum aage badho haar mat maano vah kabhee bhee aisee thinking milaenge ki sab kuchh khatm ho gaya kisee ek kee vajah se pooree duniya khatm ho gaee aise nahin honge vah vah har ek cheej ko samajhenge ki jo hua achchhe ke lie hua aur vah hua to hamen kya sikhaaya itana samay mainne kuchh seekha lekin usase mujhe prophit nahin hua lekin usase mainne kuchh seekha to yah saaree cheejon ko ek shreshth purush samajhate hain aur vah hamesha yah dekhane kee meree vajah se saamane vaale ko main vah de sakoon jo vah chaahata hai ab aisa nahin ki sabakee eksapekteshan hee pooree kar eksapekteshan hujoor aate-aate ke lie karo milee vah karo usake baad unakee phaimilee se bhee unake rileshanaship achchhe se bol rahe hain vah khud ko lambee karate hain usase upalabdhi karate hain aur vahee lait bhee karate hain to shreshth purush aise hote hain yah bahut jyaada hai lekin sach mein aise hee hote hain lekin agar aap aise logon se milana chaahate hain to bahut kam log hote hain par hote jaroor hain thaink yoo so mach

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • श्रेष्ठ पुरुष, श्रेष्ठ पुरुष के गुण
URL copied to clipboard