#भारत की राजनीति

Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:13
जब सो लो किसी एक काम के भी बैठ जाते हैं और अपनी मांगों पर अटके बढ़ जाएगा अच्छे अच्छे लोगों को उनकी बात नहीं करते यह तो फिर भी एक सरकार है नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रोहित और आप सुनाइए ऑडियो बोलकर प्रश्न बहुत अच्छा है कि अगर सरकार किसानों की बात नहीं मानती तो तब के समय पास टाइम रहता है लेकिन अपनी हार नहीं मानेंगे अपनी बात रखेंगे तो क्यों ऐसा कर रहे हैं और अपने बातों के लिए तक पढ़े होंगे तो सरकार को निश्चित रूप से ही इनकी बात माननी पड़ेगी अभी हालांकि कुछ किसानों के रूप में कुछ ढ़ंग है ऐसा कुछ काम करा था इसके चलते किसान जो है यह बदनाम हो जाए लेकिन वह भी कहते हैं ना कि झूठ के पांव में होते तो वह सच निकली थी वह ज्यादा समय तक नहीं चला हालांकि अभी इस में कुछ बातें सिंचाई विभाग के नियम कितने लोग जानते हैं कितने लोग उसमें होंगी थे बाकी मैं आपको बता दूं कि जब तक किसानों की बात नहीं मानी जाएगी मेरे को ऐसा लगता कि अब तक के साथ देंगे नहीं मेरे साथ से अपना आंदोलन बढ़ाने के अलावा और आंदोलन करने के अलावा और कोई ऐसा रास्ता नहीं निकलता तो कि सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि यह अभी इस मामला किसानों सरकार के बीच में अभी हम दिखा नहीं देंगे
Jab so lo kisee ek kaam ke bhee baith jaate hain aur apanee maangon par atake badh jaega achchhe achchhe logon ko unakee baat nahin karate yah to phir bhee ek sarakaar hai namaskaar doston mera naam rohit aur aap sunaie odiyo bolakar prashn bahut achchha hai ki agar sarakaar kisaanon kee baat nahin maanatee to tab ke samay paas taim rahata hai lekin apanee haar nahin maanenge apanee baat rakhenge to kyon aisa kar rahe hain aur apane baaton ke lie tak padhe honge to sarakaar ko nishchit roop se hee inakee baat maananee padegee abhee haalaanki kuchh kisaanon ke roop mein kuchh dhang hai aisa kuchh kaam kara tha isake chalate kisaan jo hai yah badanaam ho jae lekin vah bhee kahate hain na ki jhooth ke paanv mein hote to vah sach nikalee thee vah jyaada samay tak nahin chala haalaanki abhee is mein kuchh baaten sinchaee vibhaag ke niyam kitane log jaanate hain kitane log usamen hongee the baakee main aapako bata doon ki jab tak kisaanon kee baat nahin maanee jaegee mere ko aisa lagata ki ab tak ke saath denge nahin mere saath se apana aandolan badhaane ke alaava aur aandolan karane ke alaava aur koee aisa raasta nahin nikalata to ki supreem kort ne bhee kaha hai ki yah abhee is maamala kisaanon sarakaar ke beech mein abhee ham dikha nahin denge

और जवाब सुनें

Mohitrajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohitrajput जी का जवाब
Unknown
0:35
अगर सरकार किसानों की बात नहीं मानती तो सरकार के पास क्या विकल्प रह जाता है जो वह करते हैं आंदोलन कर सकते हैं देखो अब लड़ाई तो नहीं कर सकते तो लड़ाई नहीं कर सकते वह आंदोलन करेंगे जब तक सरकार को और उनकी बात माननी पड़ेगी ठीक है कि सरकार यह जो पूरी दुनिया को इतनी यह कहा जाता है कि अगर किसान नहीं होंगे ना तो हमारे पास खाना भी नहीं होगा खाने के लिए तो सरकार को उनकी बातें सब माननी पड़ेगी
Agar sarakaar kisaanon kee baat nahin maanatee to sarakaar ke paas kya vikalp rah jaata hai jo vah karate hain aandolan kar sakate hain dekho ab ladaee to nahin kar sakate to ladaee nahin kar sakate vah aandolan karenge jab tak sarakaar ko aur unakee baat maananee padegee theek hai ki sarakaar yah jo pooree duniya ko itanee yah kaha jaata hai ki agar kisaan nahin honge na to hamaare paas khaana bhee nahin hoga khaane ke lie to sarakaar ko unakee baaten sab maananee padegee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard