#भारत की राजनीति

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:12
क्या मोदी जी ने किसान कानून व्यापारियों की ब्लैक मनी को वाइट बनाने के लिए उन्हें कानून के अच्छे ज्ञाता है आप को सब पता है कि व्यापारी जो है अपने ब्लैक मनी को व्हाइट करने में लग सकता है तो आप सही क्या वास्तविकता में आप इन तीनों कानूनों के बारे में बेहतर जानकारी जानते हैं या क्वेश्चन सकते हैं और यही क्वेश्चन समय में किसानों के बीच में लूट रहा है सरकार के प्रति भी उठ रहा है मैं यह नहीं कहता कि सरकार बहुत सही है कमियां है काश कानून में कई चीजों की कमी है लेकिन उसको सुधारा जा सकता है कुछ व्यापारियों के लिए इसमें फायदेमंद है खास करके जो एसएनसीडब्ल्यू टीटी का कानून है जो स्टोरेज करने का है एसएससी क्वालिटी का एमएसपी का कोई मुद्दा क्लियर नहीं है और भी कई ऐसी चीजें हैं स्टोरेज को किस तरह से कंपनियों का या गार्डन फार्मिंग में किस तरह का कंपनी अगर फट जाती है किसी के लिए कौनसी कानूनी कार्रवाई की जा सकती हो शायरी है आपको क्या मालूम कि अगर एग्रीकल्चर में कोई भी एग्रीकल्चरल फूड प्रोसेसिंग में कंपनी आती है क्या उसको टैक्स देना होगा जीएसटी रे नहीं देना होगा ऐसा तो है पैसा है ही नहीं तो फिर ऐसे कैसे हो सकता है यह तो आपके अपने दिमाग की एक खेल है आप कह सकते हो हकीकत में इन तीनों कानूनों को पढ़ाओ इन की कमियों को जब किसान आंदोलन कर ले रहे हैं हम उनके प्रति सहानुभूति रखते हैं लेकिन इसका मतलब यह गानों को खत्म कर दिया जाए भारत में कहा ऐसे कानूनों की जरूरत थी लेकिन उसमें जो कमियां है उसको सुधारा जाए इसका मतलब थोड़ा ही कानून बनाया जाए तो कानून बनेगा ही नहीं तो फिर बचेगा
Kya modee jee ne kisaan kaanoon vyaapaariyon kee blaik manee ko vait banaane ke lie unhen kaanoon ke achchhe gyaata hai aap ko sab pata hai ki vyaapaaree jo hai apane blaik manee ko vhait karane mein lag sakata hai to aap sahee kya vaastavikata mein aap in teenon kaanoonon ke baare mein behatar jaanakaaree jaanate hain ya kveshchan sakate hain aur yahee kveshchan samay mein kisaanon ke beech mein loot raha hai sarakaar ke prati bhee uth raha hai main yah nahin kahata ki sarakaar bahut sahee hai kamiyaan hai kaash kaanoon mein kaee cheejon kee kamee hai lekin usako sudhaara ja sakata hai kuchh vyaapaariyon ke lie isamen phaayademand hai khaas karake jo esenaseedablyoo teetee ka kaanoon hai jo storej karane ka hai esesasee kvaalitee ka emesapee ka koee mudda kliyar nahin hai aur bhee kaee aisee cheejen hain storej ko kis tarah se kampaniyon ka ya gaardan phaarming mein kis tarah ka kampanee agar phat jaatee hai kisee ke lie kaunasee kaanoonee kaarravaee kee ja sakatee ho shaayaree hai aapako kya maaloom ki agar egreekalchar mein koee bhee egreekalcharal phood prosesing mein kampanee aatee hai kya usako taiks dena hoga jeeesatee re nahin dena hoga aisa to hai paisa hai hee nahin to phir aise kaise ho sakata hai yah to aapake apane dimaag kee ek khel hai aap kah sakate ho hakeekat mein in teenon kaanoonon ko padhao in kee kamiyon ko jab kisaan aandolan kar le rahe hain ham unake prati sahaanubhooti rakhate hain lekin isaka matalab yah gaanon ko khatm kar diya jae bhaarat mein kaha aise kaanoonon kee jaroorat thee lekin usamen jo kamiyaan hai usako sudhaara jae isaka matalab thoda hee kaanoon banaaya jae to kaanoon banega hee nahin to phir bachega

और जवाब सुनें

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
क्या मोदी जी ने किसान कानून व्यापारियों की ब्लैक मैन ब्लैक मनी को व्हाइट करने के लिए बनाए गए हैं एक तो यह सरकार वहां नहीं बनाई व्यापारियों ने आए और इंडस्ट्रियलिस्ट को बनाने में उन्होंने एक टॉनिक वोटिंग मशीन का भी इस्तेमाल किया है यह भी बातें सामने आई है अगर शायद यह लोग करते हैं तब उसके पीछे एक बड़ा झंडा होता है रघु आज अंडा जो कैपिटल लिस्ट क्लास होता है उनका जल्द हो सकता है उनको कभी भी दौर क्लास के लोगों से प्यार नहीं होता है ज्ञान बुक करने के बाद ही पता चलेगा वह उनके हित के लिए कभी नहीं सोच सकते अरे गुजराती बनिया जो है मोदी और अमित शाह यह तो कभी भी गरीबों की सोच नहीं रख सकती गरीबों के लेकिन फिर भी लोगों को बहुत भक्ति हो गई है उनसे उसका कर लिया है उनके भाषण बस कुछ नहीं उनकी नियत होती तो बहुत कुछ किया जा सकता है लेकिन सब मालूम होते हुए जो इंटेलेक्चुअल से हो सरकार के पास वह बातें नहीं करते वह भी युवकों से आते हैं या जाता है अपना दिमाग बेस्ट है इसका एक अन्य व्यापारियों के ब्लैक मनी व्यवस्था निर्माण की जाएगी उसको वाइट किया जाएगा और यह अवस्था खेती करेगी या करवाएंगे और उसका मुआवजा किसानों को दी लेकिन यह व्यापार और व्यापारी वर्ग से आए हुए इंजीनियर से जिनको यूट्यूब पर वह हमको सखा सखा नाम से उत्तराखंड में विकास कम चलाते हैं और यूट्यूब पर वह बोलते हैं और वह सच बोलते हैं क्योंकि वह ओशो रजनीश के पीछे तूने कंजर्वेशन कहा कि मैं भी व्यापारी हुआ और व्यापारियों की लालसा होती है वह कभी कम नहीं होती यह वह जानती है इतना अमीर हो जाए उसका लालच कम नहीं होता है और व्यापारी का धन नहीं होता है उसका धर्म होता है तू जब यह किसी क्षेत्र में घुस जाएंगे तो उस पर आप पैसों से कम कब्जा करेंगे महाराष्ट्र के हर एक गांव में गुजरात से या राजस्थान से आए हुए बनी है एक या दो फैमिली आई थी पूरे गांव का व्यापार केंद्र वह बने उनकी बिल्डिंग की बढ़ती गई स्वरों में जाकर उन्होंने प्रॉपर्टी निर्माण के गांव गरीब गरीब गरीब होता गया किसान गरीब होता है कुछ अनुसूचित जाती जमाती के लोग बच्चे उनके उनके रिजर्वेशन था उसी के कारण बाहर गए मुंबई के श्रमिकों पर गांव में लौट आते हैं जाते हैं और उनको देखकर बाकी गांव वालों को बहुत भाई भी लगता है और आश्चर्य भी लगता है ज्यादा करके छुट्टी छुट्टी ओबीसी जाति आ जाए ऋषिकेश किस करने वाली कुमार लोहार हक्के बक्के रह जाता इधर लुधियाना उधर ध्यान दिया रिजर्वेशन का फायदा भी नहीं उठा पाते ओबीसी के लिए अभी अभी इलेक्शन ग्राम पंचायत इलेक्शन में जोधपुर से महीने के अंदर हमारे गांव में चला ओबीसी के एक व्यक्ति का साहस नहीं है कि वह खड़ा रहने की सोच ना सके वह अपना यह कम नहीं है सब बताता अर्जुन के दौरान जो दो ₹3000 मिलने वाले हैं वह कराने के लिए इसके लिए वह बहुत संभल के दूसरे लोगों के साथ रहता है ताकि किसी को ऐसा न लगे कि इसका आदमी है कि दूसरा वाला पैसा नहीं दिया ऐसी गुलाम मानसिकता है व्यापारियों के सब बातें मालूम हो कि अंग्रेजों को भी मालूम थी इसलिए उन्होंने भारत को रोता है बीबी बांग्ला
Kya modee jee ne kisaan kaanoon vyaapaariyon kee blaik main blaik manee ko vhait karane ke lie banae gae hain ek to yah sarakaar vahaan nahin banaee vyaapaariyon ne aae aur indastriyalist ko banaane mein unhonne ek tonik voting masheen ka bhee istemaal kiya hai yah bhee baaten saamane aaee hai agar shaayad yah log karate hain tab usake peechhe ek bada jhanda hota hai raghu aaj anda jo kaipital list klaas hota hai unaka jald ho sakata hai unako kabhee bhee daur klaas ke logon se pyaar nahin hota hai gyaan buk karane ke baad hee pata chalega vah unake hit ke lie kabhee nahin soch sakate are gujaraatee baniya jo hai modee aur amit shaah yah to kabhee bhee gareebon kee soch nahin rakh sakatee gareebon ke lekin phir bhee logon ko bahut bhakti ho gaee hai unase usaka kar liya hai unake bhaashan bas kuchh nahin unakee niyat hotee to bahut kuchh kiya ja sakata hai lekin sab maaloom hote hue jo intelekchual se ho sarakaar ke paas vah baaten nahin karate vah bhee yuvakon se aate hain ya jaata hai apana dimaag best hai isaka ek any vyaapaariyon ke blaik manee vyavastha nirmaan kee jaegee usako vait kiya jaega aur yah avastha khetee karegee ya karavaenge aur usaka muaavaja kisaanon ko dee lekin yah vyaapaar aur vyaapaaree varg se aae hue injeeniyar se jinako yootyoob par vah hamako sakha sakha naam se uttaraakhand mein vikaas kam chalaate hain aur yootyoob par vah bolate hain aur vah sach bolate hain kyonki vah osho rajaneesh ke peechhe toone kanjarveshan kaha ki main bhee vyaapaaree hua aur vyaapaariyon kee laalasa hotee hai vah kabhee kam nahin hotee yah vah jaanatee hai itana ameer ho jae usaka laalach kam nahin hota hai aur vyaapaaree ka dhan nahin hota hai usaka dharm hota hai too jab yah kisee kshetr mein ghus jaenge to us par aap paison se kam kabja karenge mahaaraashtr ke har ek gaanv mein gujaraat se ya raajasthaan se aae hue banee hai ek ya do phaimilee aaee thee poore gaanv ka vyaapaar kendr vah bane unakee bilding kee badhatee gaee svaron mein jaakar unhonne propartee nirmaan ke gaanv gareeb gareeb gareeb hota gaya kisaan gareeb hota hai kuchh anusoochit jaatee jamaatee ke log bachche unake unake rijarveshan tha usee ke kaaran baahar gae mumbee ke shramikon par gaanv mein laut aate hain jaate hain aur unako dekhakar baakee gaanv vaalon ko bahut bhaee bhee lagata hai aur aashchary bhee lagata hai jyaada karake chhuttee chhuttee obeesee jaati aa jae rshikesh kis karane vaalee kumaar lohaar hakke bakke rah jaata idhar ludhiyaana udhar dhyaan diya rijarveshan ka phaayada bhee nahin utha paate obeesee ke lie abhee abhee ilekshan graam panchaayat ilekshan mein jodhapur se maheene ke andar hamaare gaanv mein chala obeesee ke ek vyakti ka saahas nahin hai ki vah khada rahane kee soch na sake vah apana yah kam nahin hai sab bataata arjun ke dauraan jo do ₹3000 milane vaale hain vah karaane ke lie isake lie vah bahut sambhal ke doosare logon ke saath rahata hai taaki kisee ko aisa na lage ki isaka aadamee hai ki doosara vaala paisa nahin diya aisee gulaam maanasikata hai vyaapaariyon ke sab baaten maaloom ho ki angrejon ko bhee maaloom thee isalie unhonne bhaarat ko rota hai beebee baangla

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:40
आरा का प्रश्न है क्या मोदी जी ने किसान कानूनों को व्यापारियों की ब्लैक मनी को वाइट बनाने के लिए बनाया है तो आपको बता दें कि नहीं ऐसा नहीं है हालांकि इस देश में कानून बनते साथ ही उसका तोड़ भी निकाले जाते हैं लेकिन यहां पर जो मोटिव रखा गया है वह यह है कि जो बिचौलियों जो सबसे ज्यादा मार्जिन कमाते हैं किसानों की फसलों का उनको कम से कम मत मिले उनको डिस्टर्ब किया जा सके और किसान डेट अपनी जो पसंद है वह सरकार को भेज सके या अपने मन मुताबिक जो अच्छे रेट दे रहा हो उसको भेज सके तो यह सोच कर के यहां पर यह कानून लाया गया है मैं शुभकामनाएं आपके साथ है धन्यवाद
Aara ka prashn hai kya modee jee ne kisaan kaanoonon ko vyaapaariyon kee blaik manee ko vait banaane ke lie banaaya hai to aapako bata den ki nahin aisa nahin hai haalaanki is desh mein kaanoon banate saath hee usaka tod bhee nikaale jaate hain lekin yahaan par jo motiv rakha gaya hai vah yah hai ki jo bichauliyon jo sabase jyaada maarjin kamaate hain kisaanon kee phasalon ka unako kam se kam mat mile unako distarb kiya ja sake aur kisaan det apanee jo pasand hai vah sarakaar ko bhej sake ya apane man mutaabik jo achchhe ret de raha ho usako bhej sake to yah soch kar ke yahaan par yah kaanoon laaya gaya hai main shubhakaamanaen aapake saath hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या मोदी जी ने किसान कानून व्यापारियो की ब्लैक मनी को वाइट बनाने के लिए बनाया है क्या मोदी जी ने ब्लैक मनी को वाइट बनाने के लिए बनाया है
URL copied to clipboard