#धर्म और ज्योतिषी

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:19
दोस्तों प्रश्नों की एक महिला ने छोटे कपड़े पहने हैं तो यह उसके व्यक्तित्व के बारे में क्या बताता है तो देखो दोस्तों व्यक्तित्व के बारे में तो ज्यादा कुछ नहीं पता चल सकता है जो हमारी भारतीय संस्कृति है वहां पर छोटे कपड़े जो है रात्रि में पहने जाते हैं या अंगो का प्रदर्शन जो है टेक्स्ट के सबसे बड़े ज्ञाता वात्सायन जी ने बताया था कि जो अगर अवस्था कामखेड़ा के समय पहनी जाती है तो हमारी भारतीय संस्कृति जो है देखेंगे कि महिलाएं भी काफी ढकी रहती है पुलिस पुरुष भी काफी अपने आप को ढक के रखते हैं लेकिन आजकल जो है पाश्चात्य सभ्यता में लिप्त लड़कियां या उनसे प्रभावित होकर टीवी से प्रभावित होकर या मूवीस से प्रभावित होकर वह पहनने लग जाती हैं तो लोग उनको दूसरी दृष्टि से देखते हैं निश्चित रूप से एक ऑपोजिट जो है उसको दूसरी तरफ से देखता है उसके मन में भिन्न-भिन्न विचार आते हैं अलग अलग से उसकी शारीरिक संरचना के बारे में विचार करता है भले वह कहता होगा कि बहुत कुछ नहीं कह रहा हूं चाहे आप का ऑफिस का साथ ही हो चाहे आपका कोई दोस्त हो लेकिन उसके मन में जो प्राकृतिक विचार है वह ऐसे ही आते हैं चाहे वह कितना भी शरीफ बन जाए इसके अंदर क्योंकि यह भगवान ने ऐसा एक चुंबकीय शक्ति दे रखी है तो उसको भारत में तो फिर गलत माना जाता ही है धन्यवाद
Doston prashnon kee ek mahila ne chhote kapade pahane hain to yah usake vyaktitv ke baare mein kya bataata hai to dekho doston vyaktitv ke baare mein to jyaada kuchh nahin pata chal sakata hai jo hamaaree bhaarateey sanskrti hai vahaan par chhote kapade jo hai raatri mein pahane jaate hain ya ango ka pradarshan jo hai tekst ke sabase bade gyaata vaatsaayan jee ne bataaya tha ki jo agar avastha kaamakheda ke samay pahanee jaatee hai to hamaaree bhaarateey sanskrti jo hai dekhenge ki mahilaen bhee kaaphee dhakee rahatee hai pulis purush bhee kaaphee apane aap ko dhak ke rakhate hain lekin aajakal jo hai paashchaaty sabhyata mein lipt ladakiyaan ya unase prabhaavit hokar teevee se prabhaavit hokar ya moovees se prabhaavit hokar vah pahanane lag jaatee hain to log unako doosaree drshti se dekhate hain nishchit roop se ek opojit jo hai usako doosaree taraph se dekhata hai usake man mein bhinn-bhinn vichaar aate hain alag alag se usakee shaareerik sanrachana ke baare mein vichaar karata hai bhale vah kahata hoga ki bahut kuchh nahin kah raha hoon chaahe aap ka ophis ka saath hee ho chaahe aapaka koee dost ho lekin usake man mein jo praakrtik vichaar hai vah aise hee aate hain chaahe vah kitana bhee shareeph ban jae isake andar kyonki yah bhagavaan ne aisa ek chumbakeey shakti de rakhee hai to usako bhaarat mein to phir galat maana jaata hee hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:59
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा की आप का प्रेस ने यदि एक महिला ने छोटे कपड़े पहने हैं तो यह उसके व्यक्तित्व के बारे में क्या बताता है देख फ्रेंड आजकल की जो फैशन हो गई है वह छोटे कपड़ों की ही हो गई है लेकिन फ्रेंड इससे जो है हम बोले नहीं सिर्फ नग्नता फैलती है और फैशन के दौर में आजकल आपने देखा होगा कि आए दिन से पगारा बलात्कार वगैरा की कैसे जो है वह हमें सुनाएं देते हैं देखे भी जाते हैं फ्रेंड यह फ्रेंड क्यों होता है यह जब आप जो है छोटे छोटे कपड़े पहनेंगे तो यह लड़का और लड़की के जो बीच का संबंध होता है जो उनका जो है शारीरिक मिलन होता है जो एक उनकी उत्तेजना में शक्ति होती है वह जो है एक दूसरे के संपर्क में आने से या फिर कुछ ऐसे जो है अश्लील चीजें देखने से जो है वह हमारी क्षमता जो है कंट्रोल नहीं हो पाती तो इन सब चीजें जो है वह हो जाती हैं आप देखिए फ्रेंड की आपने कभी ऐसा नहीं सुना होगा कि कोई लड़की है लेडी है जो की पूरी मदद की जा रही है और उसका बलात्कार हो गया ऐसा कभी नहीं होगा क्योंकि फ्रेंड जब हम कोई भी उत्तेजना वाली चीजें या फिर उत्तेजना वाली हरकत नहीं करेंगे तो हमारे साथ किसी भी प्रकार की घटना घटित नहीं हो सकती हालांकि कभी-कभी ऐसे कंडीशन हो जाती हैं कि कोई निर्दोष भी उसे चक्कर में फंस जाता है वह अलग कैटेगरी में होता है फ्रेंड उनकी जो है दरिंदगी ही होती है लोगों की कि उनकी प्यास नहीं जाती है लेकिन कहीं न कहीं समाज में यह छोटे टुकड़े हैं इनका भी बहुत बड़ा योगदान है इन सब के कार्डों के बीच और आज कुछ ज्यादा जो है योगदान तो हमारे फिल्म जगत का भी है यहां पर छोटे-छोटे कपड़े पहनते हैं दिखाई जाते हैं आजकल बच्चों को आप देखते हैं कि बचपन से जवानी तक उन्हें अश्लीलता ही दिखाई जाती है चाहे वह मूवी में हो चाहे वह गाना हो जाए हमारे समाज में लोग फैशन के दौर में फ्रेंड अंधे हो गए हैं मैं अंधे शब्द का इस्तेमाल कर रहा हूं उसके लिए माफी चाहता हूं लेकिन यह सच्चाई है एक बच्चा जब उसकी परवरिश होता है अगर आप उसे अच्छे माहौल में करें तो मेरा ही विश्वास है कि वह गलत ट्रैक पर कभी नहीं जाएगा लेकिन जब उसके समाज में वैसे ही कुरीतियां फैली हुई है वैसे ही उसे देखने को मिलेंगी तो जाहिर सी बात है कहीं ना कहीं उसके दिलो-दिमाग पर उसकी एक अलग छाप छूटेगी छूटेगी फ्रेंड और उसे कोई नहीं रोक सकता तू मेरा यह सजेस्ट आएगा मेरा यह रिक्वेस्ट है बाकी जो मैंने है मेरी ऑडियो सुन रहे हैं कि अगर वह छोटे कपड़े पहन के जा रही है बाजार में तो ना जाए छोटे कपड़े अगर उन्हें पढ़ने का शौक है तो अपने घर पर पहने बाहर ना
Helo phrends namaskaar jaisa kee aap ka pres ne yadi ek mahila ne chhote kapade pahane hain to yah usake vyaktitv ke baare mein kya bataata hai dekh phrend aajakal kee jo phaishan ho gaee hai vah chhote kapadon kee hee ho gaee hai lekin phrend isase jo hai ham bole nahin sirph nagnata phailatee hai aur phaishan ke daur mein aajakal aapane dekha hoga ki aae din se pagaara balaatkaar vagaira kee kaise jo hai vah hamen sunaen dete hain dekhe bhee jaate hain phrend yah phrend kyon hota hai yah jab aap jo hai chhote chhote kapade pahanenge to yah ladaka aur ladakee ke jo beech ka sambandh hota hai jo unaka jo hai shaareerik milan hota hai jo ek unakee uttejana mein shakti hotee hai vah jo hai ek doosare ke sampark mein aane se ya phir kuchh aise jo hai ashleel cheejen dekhane se jo hai vah hamaaree kshamata jo hai kantrol nahin ho paatee to in sab cheejen jo hai vah ho jaatee hain aap dekhie phrend kee aapane kabhee aisa nahin suna hoga ki koee ladakee hai ledee hai jo kee pooree madad kee ja rahee hai aur usaka balaatkaar ho gaya aisa kabhee nahin hoga kyonki phrend jab ham koee bhee uttejana vaalee cheejen ya phir uttejana vaalee harakat nahin karenge to hamaare saath kisee bhee prakaar kee ghatana ghatit nahin ho sakatee haalaanki kabhee-kabhee aise kandeeshan ho jaatee hain ki koee nirdosh bhee use chakkar mein phans jaata hai vah alag kaitegaree mein hota hai phrend unakee jo hai darindagee hee hotee hai logon kee ki unakee pyaas nahin jaatee hai lekin kaheen na kaheen samaaj mein yah chhote tukade hain inaka bhee bahut bada yogadaan hai in sab ke kaardon ke beech aur aaj kuchh jyaada jo hai yogadaan to hamaare philm jagat ka bhee hai yahaan par chhote-chhote kapade pahanate hain dikhaee jaate hain aajakal bachchon ko aap dekhate hain ki bachapan se javaanee tak unhen ashleelata hee dikhaee jaatee hai chaahe vah moovee mein ho chaahe vah gaana ho jae hamaare samaaj mein log phaishan ke daur mein phrend andhe ho gae hain main andhe shabd ka istemaal kar raha hoon usake lie maaphee chaahata hoon lekin yah sachchaee hai ek bachcha jab usakee paravarish hota hai agar aap use achchhe maahaul mein karen to mera hee vishvaas hai ki vah galat traik par kabhee nahin jaega lekin jab usake samaaj mein vaise hee kureetiyaan phailee huee hai vaise hee use dekhane ko milengee to jaahir see baat hai kaheen na kaheen usake dilo-dimaag par usakee ek alag chhaap chhootegee chhootegee phrend aur use koee nahin rok sakata too mera yah sajest aaega mera yah rikvest hai baakee jo mainne hai meree odiyo sun rahe hain ki agar vah chhote kapade pahan ke ja rahee hai baajaar mein to na jae chhote kapade agar unhen padhane ka shauk hai to apane ghar par pahane baahar na

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:31
एक महिला छोटे कपड़े पहनते हैं तो क्या उस उसके व्यक्तित्व के बारे में क्या बताता है यह बताता है कि वह महिला खुले विचारों की है उस महिला को कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोग क्या सोचेंगे उसको सही लगता है कि मेरे लिए यह बसते हैं और मुझे बनने में इसमें कोई दिक्कत नहीं है तो वह पहन रही है तो इसका मतलब यह वाक्य महिला बिल्कुल खुले विचारों के और यह फर्क नहीं पड़ता कि दुनिया क्या सोचेगी वह अपने जीवन को अपने तरीके से जीना चाहते हैं धन्यवाद
Ek mahila chhote kapade pahanate hain to kya us usake vyaktitv ke baare mein kya bataata hai yah bataata hai ki vah mahila khule vichaaron kee hai us mahila ko koee phark nahin padata ki log kya sochenge usako sahee lagata hai ki mere lie yah basate hain aur mujhe banane mein isamen koee dikkat nahin hai to vah pahan rahee hai to isaka matalab yah vaaky mahila bilkul khule vichaaron ke aur yah phark nahin padata ki duniya kya sochegee vah apane jeevan ko apane tareeke se jeena chaahate hain dhanyavaad

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:47
आपका सवाल है यदि एक महिला ने छोटे कपड़े पहने हैं तो यह उसके व्यक्तित्व के बारे में क्या बताता है तो साथियों ऑफिस वालों को इस प्रकार से है अगर एक महिला ने तो छोटे कपड़े पहने हैं तो वह अच्छी बात नहीं है क्योंकि अभी हमारे संस्कृति के खिलाफ है क्योंकि महिलाओं को अपने पूरा अपना ख्याल रखना चाहिए और अपनी संस्कृति को बनाए रखने में मदद करना चाहिए हमारी संस्कृति के अनुसार पूरे कपड़े पहने चाहिए जिससे हमारा तन रख सके इसलिए छोटे कपड़े नहीं पहनना चाहिए धन्यवाद साथियों खुश रहो
Aapaka savaal hai yadi ek mahila ne chhote kapade pahane hain to yah usake vyaktitv ke baare mein kya bataata hai to saathiyon ophis vaalon ko is prakaar se hai agar ek mahila ne to chhote kapade pahane hain to vah achchhee baat nahin hai kyonki abhee hamaare sanskrti ke khilaaph hai kyonki mahilaon ko apane poora apana khyaal rakhana chaahie aur apanee sanskrti ko banae rakhane mein madad karana chaahie hamaaree sanskrti ke anusaar poore kapade pahane chaahie jisase hamaara tan rakh sake isalie chhote kapade nahin pahanana chaahie dhanyavaad saathiyon khush raho

Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:18
जो प्रश्न पूछा है जो कि मैं समझता हूं आज के समय में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम है कि यदि एक महिला ने छोटे कपड़े पहने हैं तो उसके व्यक्तित्व के बारे में क्या पता है क्लियर कर दूं कि यदि एक महिला के कपड़े पहने हुए कपड़ों से किसी के व्यक्तित्व के बारे में कोई बात नहीं कर सकता जो मैं आपको बता दूं कि किसी महिला को टिकट देना या साड़ी पहनी दूसरा व्यक्ति दूसरी महिला खुद कमेंट पास करें ग्रुप में गुजर रही है सामने खड़े दो लड़के हैं या लड़कियां उसके पास करते हैं कि छोटे हैं तो आदमी किया उसकी पोस्टिंग कपड़ो की लड़की के दिमाग को जांच कर रहे हैं जो कि ऐसा नहीं होना चाहिए ऐसे भी कपड़े पहने कपड़े पहने के कामों से उसका बोलने के तरीके
Jo prashn poochha hai jo ki main samajhata hoon aaj ke samay mein bahut jyaada problam hai ki yadi ek mahila ne chhote kapade pahane hain to usake vyaktitv ke baare mein kya pata hai kliyar kar doon ki yadi ek mahila ke kapade pahane hue kapadon se kisee ke vyaktitv ke baare mein koee baat nahin kar sakata jo main aapako bata doon ki kisee mahila ko tikat dena ya sari pahanee doosara vyakti doosaree mahila khud kament paas karen grup mein gujar rahee hai saamane khade do ladake hain ya ladakiyaan usake paas karate hain ki chhote hain to aadamee kiya usakee posting kapado kee ladakee ke dimaag ko jaanch kar rahe hain jo ki aisa nahin hona chaahie aise bhee kapade pahane kapade pahane ke kaamon se usaka bolane ke tareeke

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महिला के छोटे कपड़े, महिला का व्यक्तित्व, भारत में महिला के छोटे कपड़े
URL copied to clipboard