#भारत की राजनीति

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:56
आपको करना है कि हमारे प्रधानमंत्री की मानसिक स्थिति खराब हो जाती है तो ऐसे में फिर सरकार कौन चला है कि आप ऐसा क्यों सोचते हैं कि हमारे देश के प्रधानमंत्री के मानसिक स्थिति खराब हो जाए मानसिक स्थिति खराब प्रधानमंत्री नहीं चलाते तो सरकार का मंत्रिमंडल चलाता है ना सब प्रधानमंत्री तक प्रस्ताव रखता है तो क्या चीज जनता के लिए अच्छी है और कौन सी चीज बुरी है आप ही देखते हैं कि अगर प्रधानमंत्री नहीं रहता तो आश्वस्त हो जाते हैं तो उसके जगह पर कोई दूसरा व्यक्ति चार्ज ले लेता है तो राष्ट्र का एक नियम है जब कावेरी प्रधानमंत्री मर जाता है तो दूसरे प्रधानमंत्री को उसी समय कोई न कोई चार्ज दिला दिया जाता रात को खाली नहीं रखा जाता ना राष्ट्रपति को ने प्रधानमंत्री के पद को खाली नहीं रखा जाता है उसके बदले में कोई न कोई कार्य करने के लिए हमेशा उसका प्रतिष्ठान ही रहता है इसलिए आप ऐसा क्यों सोचते हमारे देश के प्रधानमंत्री बुद्धि के बहुत तेज है और एक व्यापारी नेता है वह इसलिए उनका दिमाग जल्दी नहीं खराब हो सकता है
Aapako karana hai ki hamaare pradhaanamantree kee maanasik sthiti kharaab ho jaatee hai to aise mein phir sarakaar kaun chala hai ki aap aisa kyon sochate hain ki hamaare desh ke pradhaanamantree ke maanasik sthiti kharaab ho jae maanasik sthiti kharaab pradhaanamantree nahin chalaate to sarakaar ka mantrimandal chalaata hai na sab pradhaanamantree tak prastaav rakhata hai to kya cheej janata ke lie achchhee hai aur kaun see cheej buree hai aap hee dekhate hain ki agar pradhaanamantree nahin rahata to aashvast ho jaate hain to usake jagah par koee doosara vyakti chaarj le leta hai to raashtr ka ek niyam hai jab kaaveree pradhaanamantree mar jaata hai to doosare pradhaanamantree ko usee samay koee na koee chaarj dila diya jaata raat ko khaalee nahin rakha jaata na raashtrapati ko ne pradhaanamantree ke pad ko khaalee nahin rakha jaata hai usake badale mein koee na koee kaary karane ke lie hamesha usaka pratishthaan hee rahata hai isalie aap aisa kyon sochate hamaare desh ke pradhaanamantree buddhi ke bahut tej hai aur ek vyaapaaree neta hai vah isalie unaka dimaag jaldee nahin kharaab ho sakata hai

और जवाब सुनें

Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College Student
0:32
नमस्कार श्रोताओं यदि हमारे प्रधानमंत्री की मानसिक स्थिति खराब हो जाती है तो ऐसे में सरकार कौन चलाएगा तो जो भी रूलिंग पार्टी होती है वहां पर से वहां पर वोटिंग होगी कि आप इस को लीडर बनाने वह टेंपरेरी लीडर बनाया जाएगा उसे ऐसा नहीं है कि बिल्कुल प्रधानमंत्री के पद से हटा दिया जाएगा करंट प्रधानमंत्री को उसकी जगह जैसे बीजेपी की अगर पार्टी है तो बीजेपी वाले अपने वापस से कोई नेता चुनेंगे टेंपरेरी कि जब तक को सही नहीं होते अपने प्रधानमंत्री कब तक कोई दूसरा संभालेगा
Namaskaar shrotaon yadi hamaare pradhaanamantree kee maanasik sthiti kharaab ho jaatee hai to aise mein sarakaar kaun chalaega to jo bhee rooling paartee hotee hai vahaan par se vahaan par voting hogee ki aap is ko leedar banaane vah tempareree leedar banaaya jaega use aisa nahin hai ki bilkul pradhaanamantree ke pad se hata diya jaega karant pradhaanamantree ko usakee jagah jaise beejepee kee agar paartee hai to beejepee vaale apane vaapas se koee neta chunenge tempareree ki jab tak ko sahee nahin hote apane pradhaanamantree kab tak koee doosara sambhaalega

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:50
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है यदि हमारे प्रधानमंत्री की मानसिक स्थिति खराब हो जाती है तो ऐसे में फिर सरकार कौन चलाएगा तो साथियों आपके प्रश्न का उत्तर या है अगर हमारे देश के प्रधानमंत्री की मानसिक स्थिति खराब हो जाती है तो उसे मनोचिकित्सक डॉक्टरों की सलाह लेनी चाहिए और उनको अस्पताल के माध्यम से इलाज करवाना चाहिए अगर इलाज में भी काम नहीं चले तो विपक्ष की जिम्मेवारी होती है कि दूसरा प्रधानमंत्री का चुनाव करवाए और उसके बाद ही दूसरा प्रधानमंत्री बन सकता है और नई सरकार आ सकती है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaskaar doston aapaka prashn hai yadi hamaare pradhaanamantree kee maanasik sthiti kharaab ho jaatee hai to aise mein phir sarakaar kaun chalaega to saathiyon aapake prashn ka uttar ya hai agar hamaare desh ke pradhaanamantree kee maanasik sthiti kharaab ho jaatee hai to use manochikitsak doktaron kee salaah lenee chaahie aur unako aspataal ke maadhyam se ilaaj karavaana chaahie agar ilaaj mein bhee kaam nahin chale to vipaksh kee jimmevaaree hotee hai ki doosara pradhaanamantree ka chunaav karavae aur usake baad hee doosara pradhaanamantree ban sakata hai aur naee sarakaar aa sakatee hai dhanyavaad saathiyon khush raho

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:05
नमस्कार दोस्तों कसने की यदि हमारे प्रधानमंत्री की मानसिक स्थिति खराब हो जाती है तो ऐसे में फिर सरकार कौन चलाएगा तो दोस्तों सब चीज के प्रावधान होते हैं और प्रधानमंत्री का मतलब है कि जो चुने हुए सरकार है उसमें कोई एक प्रधान व्यक्ति है जो वहां के एमपी चुनते हैं तो अगर जो है मानसिक स्थिति खराब हो जाया बीमार हो जाए या मृत्यु हो जाए दशा में दोबारा किसी को प्रधानमंत्री चुन लिया जाता है एमपी द्वारा प्रधानमंत्री बन जाता है तो उसमें कोई समस्या वाली बात नहीं है और कई बार आपने देखा होगा कि प्रधानमंत्री नहीं रहता है तो उसके बदले ऐसा नहीं होता कि देश चल नहीं रहा होता है कोई ना कोई उसके बिहा पे काम करना होता है वैसी कोई दिक्कत वाली बात नहीं है प्रधानमंत्री बदले भी जा सकते हैं किसी और को भी बढ़ाया जा सकता है 5 साल के बाद में देखते हैं कई बार कई ऐसे मौके आए कि प्रधान किसका सपोर्ट जिसमें हो जाता है तो बदला आसानी से जा सकता है धन्यवाद
Namaskaar doston kasane kee yadi hamaare pradhaanamantree kee maanasik sthiti kharaab ho jaatee hai to aise mein phir sarakaar kaun chalaega to doston sab cheej ke praavadhaan hote hain aur pradhaanamantree ka matalab hai ki jo chune hue sarakaar hai usamen koee ek pradhaan vyakti hai jo vahaan ke emapee chunate hain to agar jo hai maanasik sthiti kharaab ho jaaya beemaar ho jae ya mrtyu ho jae dasha mein dobaara kisee ko pradhaanamantree chun liya jaata hai emapee dvaara pradhaanamantree ban jaata hai to usamen koee samasya vaalee baat nahin hai aur kaee baar aapane dekha hoga ki pradhaanamantree nahin rahata hai to usake badale aisa nahin hota ki desh chal nahin raha hota hai koee na koee usake biha pe kaam karana hota hai vaisee koee dikkat vaalee baat nahin hai pradhaanamantree badale bhee ja sakate hain kisee aur ko bhee badhaaya ja sakata hai 5 saal ke baad mein dekhate hain kaee baar kaee aise mauke aae ki pradhaan kisaka saport jisamen ho jaata hai to badala aasaanee se ja sakata hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • यदि हमारे प्रधानमंत्री की मानसिक स्थिति खराब हो जाती है तो ऐसे में फिर सरकार कौन चलाएगा
URL copied to clipboard