#18+

bolkar speaker

क्या इस नई दुनिया में मानव सेक्स इच्छाएं धीरे-धीरे कम होती जा रही हो क्यों?

Kya Is Nayi Duniya Mein Manav Sex Ichchhaen Dheere Dheere Kam Hoti Ja Rahi Ho Kyun
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:30
नमस्कार मित्रों प्रश्न है बहुत ही अच्छा क्या इस नई दुनिया मानव शक्ति 6 धीरे-धीरे कम होती जा रही हैं और क्यों तो दोस्तों इसका सबसे बड़ा प्रमाण आप देख सकते हो कि आई हैव सेंटर शहरों में हर 24 किलोमीटर में दिखाई देने लग गए हैं इसलिए पता चल रहा है कि तकनीक शायद हम हो रही है और संतान उत्पत्ति की जो पावर है शक्ति है वह भी लगभग नष्ट होती जा रही है इसके पीछे दोस्तों कई कारण हैं एक तो बहुत लोग विकास की दर में पैसे के लिए भागते भागते आजकल अपने लिए समय ही नहीं छोड़ते परिवार के लिए समय ही नहीं छोड़ते और खास तौर से शहरों में देखा है कि स्त्रियां भी नौकरी करती है वह भी थक जाती है तो लोगों को समय नहीं मिल पाता मैं कई ऐसे दोस्तों को जानता हूं जहां पर पति और पत्नी का बेडरूम भी अलग है क्योंकि उनकी नौकरी ऐसी है नौकरी में दिन में पति जाता है रात में महिला को काम करना पड़ता है इसका प्रमाण आप देख सकते हैं कोरना काल में बहुत सारे ऐसे व्यक्तियों को जो है संतान सुख की प्राप्ति हुई जो आज सेंटर में भ्रमण कर रहे थे क्योंकि करो ना कॉल में लॉकडाउन नेम काफी समय दिया हमें बिताने के लिए अपने परिवार वालों के साथ अपनी जीवनसंगिनी के साथ जीवन साथी के साथ और धीरे-धीरे हम पैसे की दुनिया में आप पर जा रहे हैं भागते जा रहे हैं और समय को छोड़कर जा रहे हैं और बस मात्र एक बच्चे पर संकुचित होते जा रहे हैं और आगे ऐसा ही रहा तो निश्चित रूप से यह प्रश्न का उत्तर सकते हो जाएगा धन्यवाद
Namaskaar mitron prashn hai bahut hee achchha kya is naee duniya maanav shakti 6 dheere-dheere kam hotee ja rahee hain aur kyon to doston isaka sabase bada pramaan aap dekh sakate ho ki aaee haiv sentar shaharon mein har 24 kilomeetar mein dikhaee dene lag gae hain isalie pata chal raha hai ki takaneek shaayad ham ho rahee hai aur santaan utpatti kee jo paavar hai shakti hai vah bhee lagabhag nasht hotee ja rahee hai isake peechhe doston kaee kaaran hain ek to bahut log vikaas kee dar mein paise ke lie bhaagate bhaagate aajakal apane lie samay hee nahin chhodate parivaar ke lie samay hee nahin chhodate aur khaas taur se shaharon mein dekha hai ki striyaan bhee naukaree karatee hai vah bhee thak jaatee hai to logon ko samay nahin mil paata main kaee aise doston ko jaanata hoon jahaan par pati aur patnee ka bedaroom bhee alag hai kyonki unakee naukaree aisee hai naukaree mein din mein pati jaata hai raat mein mahila ko kaam karana padata hai isaka pramaan aap dekh sakate hain korana kaal mein bahut saare aise vyaktiyon ko jo hai santaan sukh kee praapti huee jo aaj sentar mein bhraman kar rahe the kyonki karo na kol mein lokadaun nem kaaphee samay diya hamen bitaane ke lie apane parivaar vaalon ke saath apanee jeevanasanginee ke saath jeevan saathee ke saath aur dheere-dheere ham paise kee duniya mein aap par ja rahe hain bhaagate ja rahe hain aur samay ko chhodakar ja rahe hain aur bas maatr ek bachche par sankuchit hote ja rahe hain aur aage aisa hee raha to nishchit roop se yah prashn ka uttar sakate ho jaega dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या इस नई दुनिया में मानव सेक्स इच्छाएं धीरे-धीरे कम होती जा रही हो क्यों?Kya Is Nayi Duniya Mein Manav Sex Ichchhaen Dheere Dheere Kam Hoti Ja Rahi Ho Kyun
Dr Vipul Bulandi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dr जी का जवाब
Ayurvedic doctor
0:47

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या इस नई दुनिया में मानव सेक्स इच्छाएं धीरे-धीरे कम होती जा रही हो क्यों, क्या मानव सेक्स इच्छाएं कम होती जा रही हो , मानव सेक्स इच्छाएं
URL copied to clipboard