#भारत की राजनीति

bolkar speaker

लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?

Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
1:35
प्रश्न है लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ इसके बारे में आपकी क्या राय है देखिए किसान नेताओं ने अपना हर वादा तोड़ा किसान की जो रूट निर्धारित उसे छोड़कर लाल किले तक पहुंच गए वहां तिरंगे से ऊपर खालसा पंथ का झंडा यानी निशान साहिब लहरा दिया साथ ही तिरंगे के समानांतर कई और संगठनों के झंडे लहराते दिखे जो कहते थे कि जवान तो किसानों के परिवार से निकलते हैं उन्हें तथाकथित किसानों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की करीब 20 पुलिसकर्मी जो है घायल हुए बच्चे तक तोड़ी गई और काफी संपत्ति का नुकसान हुआ जो कि सरकारी थी पुलिस कर्मियों तक को पीटा और काफी उत्पात मचाया और हमारे देश की मर्यादाओं के साथ खिलवाड़ भी किया तो ऐसे में यह बेहद ही शर्मनाक घटना कह सकते हैं देखिए दे दान दाताओं के समर्थन में था आज भी है लेकिन ऐसे आंदोलन तो मध्यप्रदेश के यश को कम करने का काम कर रहे हैं हम उनके साथ कभी खड़े होने की हम सोच भी नहीं सकते कि 26 जनवरी की सुबह तक बड़े-बड़े जो है दावे कर रहे थे उनकी जमीन कितनी रेतीली है आज यह भी साफ हो गया और साथ ही इसके बारे में सच में सोच कर भी हैरानी होती है कि इतनी मेहनत करने के बाद इतनी सहानुभूति दिखाने के बाद इतना संयम रखने के बावजूद भी ऐसा हो गया यह बड़ी ही अपमानजनक और शर्मनाक बात हमारे देश के लिए हुई है धन्यवाद
Prashn hai laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua isake baare mein aapakee kya raay hai dekhie kisaan netaon ne apana har vaada toda kisaan kee jo root nirdhaarit use chhodakar laal kile tak pahunch gae vahaan tirange se oopar khaalasa panth ka jhanda yaanee nishaan saahib lahara diya saath hee tirange ke samaanaantar kaee aur sangathanon ke jhande laharaate dikhe jo kahate the ki javaan to kisaanon ke parivaar se nikalate hain unhen tathaakathit kisaanon ne pulisakarmiyon par pattharabaajee kee kareeb 20 pulisakarmee jo hai ghaayal hue bachche tak todee gaee aur kaaphee sampatti ka nukasaan hua jo ki sarakaaree thee pulis karmiyon tak ko peeta aur kaaphee utpaat machaaya aur hamaare desh kee maryaadaon ke saath khilavaad bhee kiya to aise mein yah behad hee sharmanaak ghatana kah sakate hain dekhie de daan daataon ke samarthan mein tha aaj bhee hai lekin aise aandolan to madhyapradesh ke yash ko kam karane ka kaam kar rahe hain ham unake saath kabhee khade hone kee ham soch bhee nahin sakate ki 26 janavaree kee subah tak bade-bade jo hai daave kar rahe the unakee jameen kitanee reteelee hai aaj yah bhee saaph ho gaya aur saath hee isake baare mein sach mein soch kar bhee hairaanee hotee hai ki itanee mehanat karane ke baad itanee sahaanubhooti dikhaane ke baad itana sanyam rakhane ke baavajood bhee aisa ho gaya yah badee hee apamaanajanak aur sharmanaak baat hamaare desh ke lie huee hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
1:46
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा की आप का प्रेस में लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय देखेंगे जितनी भी कहीं जाए वह भारतीय जो है अशोभनीय जो है टिप्पणी है कि गए हमारे राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर जो है ऐसा नहीं किया जाना चाहिए फ्रेंड्स हम मानते हैं कि किसान लोग ने किया है लेकिन इस कायदे का जो कानून है जो अपमानजनक जो है व्यवहार किया गया है वह हमें लगता है कि भारत के किसी भी किसान जो है अगर वास्तव में अपने अंदर थोड़ा सा भी भारतीयता रखते हैं तो इस प्रकार की शुद्धता का जो है साहस नहीं करेंगे लेकिन कुछ भी हो जाए लेकिन तिरंगा ही हमारी शान है और तिरंगा ही हमारी आन है तिरंगा हमारा महान है तिरंगा हमारा सम्मान है लेकिन आप लोग किसान पूरे होते हुए भी एमपी की मिट्टी से होते हुए भी एक मिट्टी की कद्र नहीं समझते तो मुझे लगता है कि इन सब को देखते हुए किसान का दर्जा देना वह सुखी नहीं देता है और भारत सरकार ने जो कुछ भी किया वह पहले तो गलत होता था लेकिन इसको देखते हुए भारत सरकार ने जो भी किया वो सही किया क्योंकि एक कहावत कहा गया है कि सत्यम शेट्टी समाचार एक दूसरे के साथ दुष्टता करनी चाहिए तो जैसा उन्होंने व्यवहार किया वैसा उनके सामने जो है परिणाम आप सबके सामने है और उसमें अपना भुगत रहे हैं आशा है कि आप सभी को है जो का पसंद आया होगा नमस्कार
Helo phrends namaskaar jaisa kee aap ka pres mein laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein aapakee raay dekhenge jitanee bhee kaheen jae vah bhaarateey jo hai ashobhaneey jo hai tippanee hai ki gae hamaare raashtreey dhvaj ke oopar jo hai aisa nahin kiya jaana chaahie phrends ham maanate hain ki kisaan log ne kiya hai lekin is kaayade ka jo kaanoon hai jo apamaanajanak jo hai vyavahaar kiya gaya hai vah hamen lagata hai ki bhaarat ke kisee bhee kisaan jo hai agar vaastav mein apane andar thoda sa bhee bhaarateeyata rakhate hain to is prakaar kee shuddhata ka jo hai saahas nahin karenge lekin kuchh bhee ho jae lekin tiranga hee hamaaree shaan hai aur tiranga hee hamaaree aan hai tiranga hamaara mahaan hai tiranga hamaara sammaan hai lekin aap log kisaan poore hote hue bhee emapee kee mittee se hote hue bhee ek mittee kee kadr nahin samajhate to mujhe lagata hai ki in sab ko dekhate hue kisaan ka darja dena vah sukhee nahin deta hai aur bhaarat sarakaar ne jo kuchh bhee kiya vah pahale to galat hota tha lekin isako dekhate hue bhaarat sarakaar ne jo bhee kiya vo sahee kiya kyonki ek kahaavat kaha gaya hai ki satyam shettee samaachaar ek doosare ke saath dushtata karanee chaahie to jaisa unhonne vyavahaar kiya vaisa unake saamane jo hai parinaam aap sabake saamane hai aur usamen apana bhugat rahe hain aasha hai ki aap sabhee ko hai jo ka pasand aaya hoga namaskaar

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:49
जय भारत एक धार्मिक देश हैं अगर कोई भी और उदल होता है तो वह अपने अपने धार्मिक झंडे लेकर लाल किले पर पहुंच जाएंगे और लगा देंगे जो भी यह किसानों द्वारा अपमान एक या दो खालसा झंडा ले रहे हैं वह वती निंदनीय है मेरे ख्याल से सरकार से मैं यह कहना चाहता हूं कि जो इस तरह घिनौना काम किया है उन्हें शत-शत सजा दी जाए और अगर इस तरह की हरकत करेंगे करेंगे तो हम पर अंतरराष्ट्रीय पर हमारे देश की भेजते हो गए अब कहीं न्यूज़ में देख रहे हैं पाकिस्तान सेटिंग ट्विटर आ रहे हैं इसमें लिखा हुआ है कि पाकिस्तान फतेह खाली स्थान बनेगा रेशे से काफी लिखा आ रहे हैं जो हमारी तरफ आंख उठाने की जरूरत नहीं कर रहा था वह आज हम पर ही सवाल उठा रहे हैं ख्याल से जो भी है कि सामान जल कर रहे हैं जो देश से बढ़कर कोई नहीं होता है अगर देसी नहीं रहेगा तो अब इस संदल का क्या करेंगे इसलिए पहले आप अपने तिरंगे की इज्जत करना सीखे एंजेल तो वैसे भी बहुत हुए हैं गांधी जी ने अहिंसा के साथ लेकर बोल से आंदोलन गुरुजी से मंगवाए भी हैं अगर आप हिंसा का सहारा लेकर आंदोलन कर रहे हैं तो मेरे ख्याल से आने वाले समय में कभी आना तो सफल नहीं हो पाएगा और जितने आगे का अपमान करते हैं मेरी नजरों किसान नहीं है वह आंतकवादी है
Jay bhaarat ek dhaarmik desh hain agar koee bhee aur udal hota hai to vah apane apane dhaarmik jhande lekar laal kile par pahunch jaenge aur laga denge jo bhee yah kisaanon dvaara apamaan ek ya do khaalasa jhanda le rahe hain vah vatee nindaneey hai mere khyaal se sarakaar se main yah kahana chaahata hoon ki jo is tarah ghinauna kaam kiya hai unhen shat-shat saja dee jae aur agar is tarah kee harakat karenge karenge to ham par antararaashtreey par hamaare desh kee bhejate ho gae ab kaheen nyooz mein dekh rahe hain paakistaan seting tvitar aa rahe hain isamen likha hua hai ki paakistaan phateh khaalee sthaan banega reshe se kaaphee likha aa rahe hain jo hamaaree taraph aankh uthaane kee jaroorat nahin kar raha tha vah aaj ham par hee savaal utha rahe hain khyaal se jo bhee hai ki saamaan jal kar rahe hain jo desh se badhakar koee nahin hota hai agar desee nahin rahega to ab is sandal ka kya karenge isalie pahale aap apane tirange kee ijjat karana seekhe enjel to vaise bhee bahut hue hain gaandhee jee ne ahinsa ke saath lekar bol se aandolan gurujee se mangavae bhee hain agar aap hinsa ka sahaara lekar aandolan kar rahe hain to mere khyaal se aane vaale samay mein kabhee aana to saphal nahin ho paega aur jitane aage ka apamaan karate hain meree najaron kisaan nahin hai vah aantakavaadee hai

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Berojgar
3:11
मेघ सिंह चौहान की तरफ से अनुरोध है प्रश्न है कि लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ इसके बारे में आपकी क्या राय है तो हर एक नागरिक के प्रति जो हमारे तिरंगे का अपमान होता है वह कहीं ना कहीं बहुत ही गलत होता है इसका कहा जाता है कि तिरंगे का अपमान करना एक दूसरी ही दो देशद्रोही के बराबर होता है और आपको बता दें कि किसानों के बीच और सरकार और पुलिस के बीच जो भी बातचीत हुई थी यह था कि जो रास्ता है उसी पर चलना है उसके अलावा आपको अपने दुख कानून है जो अपने अपने वादे किए हैं उसको नहीं तोड़ना है इस पर भी किसान यूनियन जो थे वह और किसान नेता ने बखूबी जानते थे कि हम जो भी कर रहे हैं और बड़ी ही शांति भाव से होगा हम और यह भी उनका कहना था कि हम दिल्ली जा रहे हैं हम दिल जीतेंगे लेकिन उनकी द्वारा आज कहां जा रहा है इतनी ज्यादा भयानक स्थिति होने के बाद इतनी ज्यादा मुठभेड़ होने के बाद कुछ किसान भी एक किसान तो आंदे इस्पात ही मर गया वह उसी भी बताया जा रहा है कि गोली के का शिकार हुआ या कैसे हुआ अभी तक इसका पूर्ण रूप से निष्कर्ष नहीं आया है लेकिन हम कुछ लोग बता रहे हैं कि हां कुछ अराजक किसान आ गए थे जो अराजक लोग थे जो किसानों की भीड़ में आकर और इस तरह की गलत तरीके से जो रोड क्रास किया सबसे बड़ी बात रहे और सबसे इस शर्मनाक बात है कि अगर हम जब जो वादे कर रहे हैं वह वादे के साथ ही रहना चाहिए और उन्होंने किसान लोगों ने जो गलत तरीके के रवैया दिखाया यह सब के लिए अपमानजनक रहा है और सबसे बड़ी बात है कि कुछ पुलिस वाले भी मुठभेड़ में मारे गेम तब्बू जख्मी हुए हैं तो उनके लिए भी एक को समझना सबके प्रति है क्योंकि हमारे ही वह देश के सिपाही हैं और जो भी किसान भाई लोग हैं वह हमारे ही देश के हैं हमें किसी से बैर नहीं लेकिन हां थोड़ा सा जो उन्होंने अपना नियम को तोड़ा वह कहीं ना कहीं एक अपमानजनक की बात ही रही और सबसे बड़ा अपमान है यह है कि वह दूसरा झंडा दिखा शपथ का जो झंडा लहराया और बहुत सारे ऐसे कुछ गलत तरीके से पथराव किए तो कहीं ना कहीं देश में शर्मनाक स्थिति बनी और देश में स्तर की और व्यवस्था रहती है इस तरह के लोग रहते हैं तो कहीं ना कहीं एक को गलत संदेश देश के प्रति मिलता है और यही संदेश है ऐसा करता है कि कहीं न कहीं लोगों में भड़काने का काम करता है जो 26 जनवरी को हुआ और मैं बस यही कहूंगा कि कर तिरंगे का जो भी अपमान करेगा वही देशद्रोही के रूप में जाना जाता है और जो भी अगर इस तरह की के किसान भाइयों की तरफ से हुआ तो कहीं ना कहीं एक गलत तरीका है और इसमें हम उन्हें भी देशद्रोही के रूप में मांग सकते हैं क्योंकि इतना गलत अपमान नहीं करना चाहिए अपने देश के तिरंगे का अपने देश के तिरंगे के हमेशा शांत ऊंची रखनी चाहिए
Megh sinh chauhaan kee taraph se anurodh hai prashn hai ki laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua isake baare mein aapakee kya raay hai to har ek naagarik ke prati jo hamaare tirange ka apamaan hota hai vah kaheen na kaheen bahut hee galat hota hai isaka kaha jaata hai ki tirange ka apamaan karana ek doosaree hee do deshadrohee ke baraabar hota hai aur aapako bata den ki kisaanon ke beech aur sarakaar aur pulis ke beech jo bhee baatacheet huee thee yah tha ki jo raasta hai usee par chalana hai usake alaava aapako apane dukh kaanoon hai jo apane apane vaade kie hain usako nahin todana hai is par bhee kisaan yooniyan jo the vah aur kisaan neta ne bakhoobee jaanate the ki ham jo bhee kar rahe hain aur badee hee shaanti bhaav se hoga ham aur yah bhee unaka kahana tha ki ham dillee ja rahe hain ham dil jeetenge lekin unakee dvaara aaj kahaan ja raha hai itanee jyaada bhayaanak sthiti hone ke baad itanee jyaada muthabhed hone ke baad kuchh kisaan bhee ek kisaan to aande ispaat hee mar gaya vah usee bhee bataaya ja raha hai ki golee ke ka shikaar hua ya kaise hua abhee tak isaka poorn roop se nishkarsh nahin aaya hai lekin ham kuchh log bata rahe hain ki haan kuchh araajak kisaan aa gae the jo araajak log the jo kisaanon kee bheed mein aakar aur is tarah kee galat tareeke se jo rod kraas kiya sabase badee baat rahe aur sabase is sharmanaak baat hai ki agar ham jab jo vaade kar rahe hain vah vaade ke saath hee rahana chaahie aur unhonne kisaan logon ne jo galat tareeke ke ravaiya dikhaaya yah sab ke lie apamaanajanak raha hai aur sabase badee baat hai ki kuchh pulis vaale bhee muthabhed mein maare gem tabboo jakhmee hue hain to unake lie bhee ek ko samajhana sabake prati hai kyonki hamaare hee vah desh ke sipaahee hain aur jo bhee kisaan bhaee log hain vah hamaare hee desh ke hain hamen kisee se bair nahin lekin haan thoda sa jo unhonne apana niyam ko toda vah kaheen na kaheen ek apamaanajanak kee baat hee rahee aur sabase bada apamaan hai yah hai ki vah doosara jhanda dikha shapath ka jo jhanda laharaaya aur bahut saare aise kuchh galat tareeke se patharaav kie to kaheen na kaheen desh mein sharmanaak sthiti banee aur desh mein star kee aur vyavastha rahatee hai is tarah ke log rahate hain to kaheen na kaheen ek ko galat sandesh desh ke prati milata hai aur yahee sandesh hai aisa karata hai ki kaheen na kaheen logon mein bhadakaane ka kaam karata hai jo 26 janavaree ko hua aur main bas yahee kahoonga ki kar tirange ka jo bhee apamaan karega vahee deshadrohee ke roop mein jaana jaata hai aur jo bhee agar is tarah kee ke kisaan bhaiyon kee taraph se hua to kaheen na kaheen ek galat tareeka hai aur isamen ham unhen bhee deshadrohee ke roop mein maang sakate hain kyonki itana galat apamaan nahin karana chaahie apane desh ke tirange ka apane desh ke tirange ke hamesha shaant oonchee rakhanee chaahie

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:46
गुड इवनिंग सवाल यह के लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय देखिए मुझे जहां तक जानकारी है उसने मुझे पता चला है कि लाल किले पर 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान नहीं हुआ तिरंगे को कहीं भी नुकसान नहीं पहुंचाया गया और जहां दिखाया जा रहा है इस तरह की बातें यह गलत बातें हैं इस तरह के मीडिया को भी सकारात्मक चीजें दिखानी चाहिए उसमें तिरंगे को हटाकर कहीं भी जहां तक सही जानकारी दें हुआ है कि इस तिरंगे को हटाकर और अपना झंडा नहीं कहीं खुला रहेगा वह अपने झंडे ला रहे हैं दूसरे जगह पर इसमें कहीं भी यह नहीं है कि दलाल तिरंगे को उन्होंने पड़ा है तिरंगे का अपमान किया है ऐसी बात कही नहीं आई है तो यह सब कहां से लोग दिखा देते हैं यह समझ में आता है यह पाकिस्तान मीडिया जो है वह को प्रचारित कर रहा है इस तरह से वह सही नहीं है यह हमारे देश की मीडिया को इस तरह की बातें अगर लोगों तक जारी है तो यह नहीं ऐसी होनी चाहिए यह बात दूर रहना चाहिए से लोगों में गलत संदेश नहीं पहुंचा नहीं चाहिए सही बातें हैं दिखानी चाहिए मुझे जानकारी यही प्राप्त हुई है मैं एक बहुत ही विश्वसनीय चैनल से जुड़ा हुआ हूं जो कि उसने बहुत ही सही बातें बताई जाती और उसमें पता चला है कि हमारे तिरंगे को कहीं ना कहीं से उतारा गया है ना पढ़ा गया है वह नष्ट किया गया है बस लोगों ने अपना झंडा जो भी है अपना अपनी मांगों को रखा है और 15 हुआ है इस बात की मैं बिल्कुल भर्त्सना करता हूं वह नहीं होना चाहिए वह किसान के रूप में वह पद रवि थे वह किसान नहीं होंगे मेरे ख्याल से किसान ऐसा नहीं कर सकते और अगर हैं तो उनको जरूर सजा मिलनी चाहिए और इस तरह का माहौल बिगाड़ने के लिए बिल्कुल भी उनको मैं किसान नहीं मानता हूं किसान नहीं हो सकते हैं थैंक यू
Gud ivaning savaal yah ke laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein aapakee raay dekhie mujhe jahaan tak jaanakaaree hai usane mujhe pata chala hai ki laal kile par 26 janavaree ko tirange ka apamaan nahin hua tirange ko kaheen bhee nukasaan nahin pahunchaaya gaya aur jahaan dikhaaya ja raha hai is tarah kee baaten yah galat baaten hain is tarah ke meediya ko bhee sakaaraatmak cheejen dikhaanee chaahie usamen tirange ko hataakar kaheen bhee jahaan tak sahee jaanakaaree den hua hai ki is tirange ko hataakar aur apana jhanda nahin kaheen khula rahega vah apane jhande la rahe hain doosare jagah par isamen kaheen bhee yah nahin hai ki dalaal tirange ko unhonne pada hai tirange ka apamaan kiya hai aisee baat kahee nahin aaee hai to yah sab kahaan se log dikha dete hain yah samajh mein aata hai yah paakistaan meediya jo hai vah ko prachaarit kar raha hai is tarah se vah sahee nahin hai yah hamaare desh kee meediya ko is tarah kee baaten agar logon tak jaaree hai to yah nahin aisee honee chaahie yah baat door rahana chaahie se logon mein galat sandesh nahin pahuncha nahin chaahie sahee baaten hain dikhaanee chaahie mujhe jaanakaaree yahee praapt huee hai main ek bahut hee vishvasaneey chainal se juda hua hoon jo ki usane bahut hee sahee baaten bataee jaatee aur usamen pata chala hai ki hamaare tirange ko kaheen na kaheen se utaara gaya hai na padha gaya hai vah nasht kiya gaya hai bas logon ne apana jhanda jo bhee hai apana apanee maangon ko rakha hai aur 15 hua hai is baat kee main bilkul bhartsana karata hoon vah nahin hona chaahie vah kisaan ke roop mein vah pad ravi the vah kisaan nahin honge mere khyaal se kisaan aisa nahin kar sakate aur agar hain to unako jaroor saja milanee chaahie aur is tarah ka maahaul bigaadane ke lie bilkul bhee unako main kisaan nahin maanata hoon kisaan nahin ho sakate hain thaink yoo

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:32
आपका सवाल है दोस्तों लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है उसके बारे में आपकी राय क्या है तो मैं यही कहना चाहूंगा कि लाल किले पर जो 26 जनवरी को जो हमारे तीन का अपमान हुआ है वह बहुत ही गलत हुआ है ऐसा नहीं करना चाहिए किसान भाइयों को मैं कहना जाऊंगा यह बहुत गलत है और ना इसकी अनुमति थी आपको और हमारे तिरंगे का अपमान नहीं करना चाहिए यह बहुत गलत काम किया
Aapaka savaal hai doston laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai usake baare mein aapakee raay kya hai to main yahee kahana chaahoonga ki laal kile par jo 26 janavaree ko jo hamaare teen ka apamaan hua hai vah bahut hee galat hua hai aisa nahin karana chaahie kisaan bhaiyon ko main kahana jaoonga yah bahut galat hai aur na isakee anumati thee aapako aur hamaare tirange ka apamaan nahin karana chaahie yah bahut galat kaam kiya

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:49
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय तो दोस्तों आपके प्रश्न का उत्तर यह है लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारी तिरंगा का अपमान हुआ है वह बहुत ही निंदनीय का पात्र है क्योंकि हमारे देश का मान सम्मान कम हुआ है क्योंकि तिरंगा झंडा हमारे देश की शान है इसलिए लाल किले पर 26 जनवरी को जो तिरंगे का अपमान हुआ बहुत ही गलत हुआ है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaskaar doston aapaka prashn hai laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein aapakee raay to doston aapake prashn ka uttar yah hai laal kile par 26 janavaree ko jo hamaaree tiranga ka apamaan hua hai vah bahut hee nindaneey ka paatr hai kyonki hamaare desh ka maan sammaan kam hua hai kyonki tiranga jhanda hamaare desh kee shaan hai isalie laal kile par 26 janavaree ko jo tirange ka apamaan hua bahut hee galat hua hai dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्थापक एवं अध्यक्ष, संस्कृतं जनभाषा भवेत् संस्था
3:28
अपने प्रश्न किया है लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय मित्र 26 जनवरी 2021 को जो इस साल हमारे भारत देश का जो राष्ट्रीय ध्वज है तिरंगा उसका जो अपमान किया गया है यह बिल्कुल ही बेहद संतोषजनक है किसान भारत के नागरिक है और भारत में रहते हुए भारत के राष्ट्रीय ध्वज का जो अपमान उन्होंने किया है यह उन्हें बिल्कुल भी ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए था यह बिल्कुल निंदनीय कार्य है क्योंकि हम यहां के नागरिक होते हो गए मतलब वह यहां के नागरिक होते हुए एक मजबूत पक्ष भी है भारत देश में अगर किसान नहीं होंगे तो हम लोग अन्य ग्रहण नहीं कर सकते क्योंकि वही है जिनके कारण आज देश की तरक्की भी कर रहा है फिर भी वह लोग इतना अपमान कर रहे हैं इस देश का और मैं अगर सच कहूं तुम मेरी नजरों में किसानों के लिए प्रति जो पहले भावनाएं थी वह अब कुछ कुछ ही किसानों के कारण बदल गई है पहले मन की इज्जत भी करता था अब ऐसा लग रहा है कि यह जो किया है इन्होंने तिरंगे का अपमान यह बिल्कुल भी अच्छा नहीं किया इसके बाद से मेरे मन में किसानों के प्रति भावनाएं भी अव्यक्त हो गई है क्योंकि इतनी सर्दी में 2 महीने तक की है धरना प्रदर्शन कर रहे हैं जिस चीज को ले एमएसपी का विरोध कर रहे हैं ठीक है मान लिया एमएसपी आपको लगता है गलत है तो आप सरकार से बात तो करिए इस बात को लेकर के क्या फायदे हैं क्या नुकसान है वह तो हमें पता चले आपको कोई भी आगे कुछ भी कह देता है और आप उसे लेकर धरने पर बैठ जाते हैं फिर भी सरकार ने अभी तक टीवी शुक्र है कि किसानों के साथ कोई बुरा बर्ताव नहीं किया जान को वहां से खदेड़ा नहीं बैठे हैं ठीक है आप लोग धरना प्रदर्शन करिए जो चीज सही है और वह आपके पास में है तो रहेगी पर अब मेरा तो यह जो अपमान इन्होंने किया है तिरंगे का उसको लेकर की यही मन में आ रहा है कि पुलिस वालों ने इनको थोड़ा ही क्यों जो अपवाद है इन किसानों के बीच में उन अपराधों को तो पकड़ पकड़ के 11 मारना था पर चलिए जो भी पुलिस वालों से बना उन्होंने किया क्योंकि इन्होंने पुलिस वालों को भी नहीं छोड़ा मीडिया को भी नहीं छोड़ा तो ऐसे किसान ऐसे कुछ अपवाद जो है वह यहां पर रहने लायक नहीं है यह जो भी उन्होंने किया है 26 जनवरी को लाल किले पर जाकर वह बिल्कुल ही निंदनीय कार्य है मेरे विचार में धन्यवाद
Apane prashn kiya hai laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein aapakee raay mitr 26 janavaree 2021 ko jo is saal hamaare bhaarat desh ka jo raashtreey dhvaj hai tiranga usaka jo apamaan kiya gaya hai yah bilkul hee behad santoshajanak hai kisaan bhaarat ke naagarik hai aur bhaarat mein rahate hue bhaarat ke raashtreey dhvaj ka jo apamaan unhonne kiya hai yah unhen bilkul bhee aisa kaary nahin karana chaahie tha yah bilkul nindaneey kaary hai kyonki ham yahaan ke naagarik hote ho gae matalab vah yahaan ke naagarik hote hue ek majaboot paksh bhee hai bhaarat desh mein agar kisaan nahin honge to ham log any grahan nahin kar sakate kyonki vahee hai jinake kaaran aaj desh kee tarakkee bhee kar raha hai phir bhee vah log itana apamaan kar rahe hain is desh ka aur main agar sach kahoon tum meree najaron mein kisaanon ke lie prati jo pahale bhaavanaen thee vah ab kuchh kuchh hee kisaanon ke kaaran badal gaee hai pahale man kee ijjat bhee karata tha ab aisa lag raha hai ki yah jo kiya hai inhonne tirange ka apamaan yah bilkul bhee achchha nahin kiya isake baad se mere man mein kisaanon ke prati bhaavanaen bhee avyakt ho gaee hai kyonki itanee sardee mein 2 maheene tak kee hai dharana pradarshan kar rahe hain jis cheej ko le emesapee ka virodh kar rahe hain theek hai maan liya emesapee aapako lagata hai galat hai to aap sarakaar se baat to karie is baat ko lekar ke kya phaayade hain kya nukasaan hai vah to hamen pata chale aapako koee bhee aage kuchh bhee kah deta hai aur aap use lekar dharane par baith jaate hain phir bhee sarakaar ne abhee tak teevee shukr hai ki kisaanon ke saath koee bura bartaav nahin kiya jaan ko vahaan se khadeda nahin baithe hain theek hai aap log dharana pradarshan karie jo cheej sahee hai aur vah aapake paas mein hai to rahegee par ab mera to yah jo apamaan inhonne kiya hai tirange ka usako lekar kee yahee man mein aa raha hai ki pulis vaalon ne inako thoda hee kyon jo apavaad hai in kisaanon ke beech mein un aparaadhon ko to pakad pakad ke 11 maarana tha par chalie jo bhee pulis vaalon se bana unhonne kiya kyonki inhonne pulis vaalon ko bhee nahin chhoda meediya ko bhee nahin chhoda to aise kisaan aise kuchh apavaad jo hai vah yahaan par rahane laayak nahin hai yah jo bhee unhonne kiya hai 26 janavaree ko laal kile par jaakar vah bilkul hee nindaneey kaary hai mere vichaar mein dhanyavaad

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आप क्या कहना चाहेंगे पहले तो यह कहना चाहूंगा कि यह कथित और आज ही आम आदमी पार्टी के प्रेस कॉन्फ्रेंस में जो झंडा फहराने वाला था उसका एक प्रधानमंत्री मोदी जी के साथ फोटो आया इस आंदोलन में घुसकर इस आंदोलन को नष्ट करने के हर प्रयास किया जा रहा है यह इश्क है इसके इससे सिद्ध होता है अभी भी सिद्ध होता है जैसे इस आंदोलन में कुछ जो मूसा कर उसमें क्रिस्तान किनारे उनसे लगवा कर उसे इस किसान आंदोलन को बहुत बड़ा है उसको एक छोटा आंदोलन बनाने के लिए सिर्फ सीख उनका आंदोलन बनाने के लिए खाली स्थान का शब्द का प्रयोग करते थे करते इसलिए धोखा भी हो तो होता हो सकता है कि मुझे इंटेलेक्चुअल इंटेलिजेंस इस आंदोलन में घुसकर पहले से जो 1 वर्ग रहा है खास करके पंजाब में सिखों में पाकिस्तान का कुछ साल पहले एक समर्थन किया करते थे होते या फिर उनके प्रति उनके प्रति शानू जी रखता था तो ऐसी मानसिकता जानबूझकर तैयार करने के प्रयास विदेशी इंटेलिजेंस के द्वारा किए जा सकते हैं की बातें भी ध्यान में रखना चाहिए दूसरी महत्वपूर्ण बातें ध्यान में रखना चाहिए कि जिस तरीके से अलग-अलग बहाने बनाकर मेन का मुद्दा है तीन बिलों का उसको किनारे करने के प्रयास सरकार अगर कर रही है इसका मतलब यह है कि केवल सरकार के किसी आरती किया राजकीय स्वार्थ हेतु यह सरकार करो या नहीं है भारतीय जनता पार्टी और संघ कभी रोया नहीं इनके ऊपर जाती इंडिया देसी वर्ल्ड बैंक बैंकिंग प्रणाली सीआई टुडे शो अब दुनिया की सबसे खतरनाक खतरनाक जाए लेकिन इंडस्ट्री कभी दबाओ इसमें हो सकता है वैसे मोदी जी की शक्ति जितना वह भारत के अंदर बताते हैं वीडियोकॉन डिश मैनेज करके प्रभु गोंडा किया है लिमिट नियम की ताकत नहीं है ना भारत में है ना विदेश में लेकिन इनको बीजेपी के लोग हैं उनको परंपरागत रूप से खानदानी रूप से उनको यह कला है इस देश के भोजन समाज को कैसे फसाया जाए किसानों को कैसे फसाया जाए इस कला में यह माहिर है गांव से लेकर दिल्ली तक तू ही प्रभु यह एक मुद्दा है और उसमें 26 जनवरी के की घटना जो है उसे साबित नहीं होता हो सकता कि कोई खाली स्थान वाली लोग आंदोलन कर रहे हैं कोई anti-national एलिमेंट्स इसमें भारत के अंदर के या भारतीय समाज के इसमें कुछ उज्जवल करें ऐसा नहीं लगता है लेकिन सर अब सरकार जय हो पूरी कोशिश कर रही है और अब यह मामला किसी को गंभीर हो सकता है इसमें जान-माल की नुकसान हो सकती है तो यह षड्यंत्र का भाग है तिरंगे का तथाकथित अपना
Laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein aap kya kahana chaahenge pahale to yah kahana chaahoonga ki yah kathit aur aaj hee aam aadamee paartee ke pres konphrens mein jo jhanda phaharaane vaala tha usaka ek pradhaanamantree modee jee ke saath photo aaya is aandolan mein ghusakar is aandolan ko nasht karane ke har prayaas kiya ja raha hai yah ishk hai isake isase siddh hota hai abhee bhee siddh hota hai jaise is aandolan mein kuchh jo moosa kar usamen kristaan kinaare unase lagava kar use is kisaan aandolan ko bahut bada hai usako ek chhota aandolan banaane ke lie sirph seekh unaka aandolan banaane ke lie khaalee sthaan ka shabd ka prayog karate the karate isalie dhokha bhee ho to hota ho sakata hai ki mujhe intelekchual intelijens is aandolan mein ghusakar pahale se jo 1 varg raha hai khaas karake panjaab mein sikhon mein paakistaan ka kuchh saal pahale ek samarthan kiya karate the hote ya phir unake prati unake prati shaanoo jee rakhata tha to aisee maanasikata jaanaboojhakar taiyaar karane ke prayaas videshee intelijens ke dvaara kie ja sakate hain kee baaten bhee dhyaan mein rakhana chaahie doosaree mahatvapoorn baaten dhyaan mein rakhana chaahie ki jis tareeke se alag-alag bahaane banaakar men ka mudda hai teen bilon ka usako kinaare karane ke prayaas sarakaar agar kar rahee hai isaka matalab yah hai ki keval sarakaar ke kisee aaratee kiya raajakeey svaarth hetu yah sarakaar karo ya nahin hai bhaarateey janata paartee aur sangh kabhee roya nahin inake oopar jaatee indiya desee varld baink bainking pranaalee seeaee tude sho ab duniya kee sabase khataranaak khataranaak jae lekin indastree kabhee dabao isamen ho sakata hai vaise modee jee kee shakti jitana vah bhaarat ke andar bataate hain veediyokon dish mainej karake prabhu gonda kiya hai limit niyam kee taakat nahin hai na bhaarat mein hai na videsh mein lekin inako beejepee ke log hain unako paramparaagat roop se khaanadaanee roop se unako yah kala hai is desh ke bhojan samaaj ko kaise phasaaya jae kisaanon ko kaise phasaaya jae is kala mein yah maahir hai gaanv se lekar dillee tak too hee prabhu yah ek mudda hai aur usamen 26 janavaree ke kee ghatana jo hai use saabit nahin hota ho sakata ki koee khaalee sthaan vaalee log aandolan kar rahe hain koee anti-national eliments isamen bhaarat ke andar ke ya bhaarateey samaaj ke isamen kuchh ujjaval karen aisa nahin lagata hai lekin sar ab sarakaar jay ho pooree koshish kar rahee hai aur ab yah maamala kisee ko gambheer ho sakata hai isamen jaan-maal kee nukasaan ho sakatee hai to yah shadyantr ka bhaag hai tirange ka tathaakathit apana

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Abdul_Ahad  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abdul_Ahad जी का जवाब
Unknown
1:53
देखिए आपने जो सवाल करा है यह बिल्कुल ही अनुचित सवाल है यह कि लाल किले पर 26 जनवरी को हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में क्या राय है तो मुझे तो नहीं लगता है कि हमारे तिरंगे का अपमान लाल किले पर हुआ हो क्योंकि जो लोग वहां पर आए थे उन्होंने जून का कोई धार्मिक झंडा है उसको ऐसा विरोध प्रदर्शन क्योंकि कोई इंसान कोई सरकार आपकी आवाज जबान से नहीं सुन रही है फिर से नहीं सुन रही है तो उन्होंने जब लोग अपने किलो के अंदर मौजूद है लाल किले के अंदर मौजूद हैं तो अपना किला दिखा कर के हम भी बाहर खड़े हैं यह दिखाने के लिए उन्होंने अपने झंडे को ऊंचा करा दो और पूरी दुनिया ने आज उनके झंडे को देखा लेकिन लोग उसको गलत तरीके से ले रहे हैं और वह बोल रहे हैं कि लाल किले का अपमान हुआ तो मैं इस चीज के बिलकुल खिलाफ है यह चीज में अपमान के अंतर्गत नहीं आई क्योंकि तिरंगा अपनी जगह पर सही सलामत था दूसरी टीम का जो झंडा था वह झंडा भी तिरंगे झंडे से नीचे लगा था उससे ऊंचा नहीं था तो फिर जो है झंडे का अपमान नहीं हुआ और उस लोकेशन से जहां तिरंगा झंडा लगा था उससे दूसरी जगह पर इन्होंने अपना धार्मिक झंडा लगाया था ठीक है तो यह सिर्फ अपनी आवाज को उठाने के लिए एक तरीका था कि इतने लोगों की आवाज नहीं सुन रहे हो तो कम से कम इस झंडे की आवाज सुनाई सुनो और आज और चंडी की आवास हर एक कान में हर एक आंख में दिखाई पड़ रही है तो मिस करते हैं आपको मेरी राय अच्छी लगी होगी या नहीं बिना की हो लेकिन यह मेरी राय है तो प्लीज अगर अच्छी लगे तो शेयर कर दीजिएगा थैंक यू
Dekhie aapane jo savaal kara hai yah bilkul hee anuchit savaal hai yah ki laal kile par 26 janavaree ko hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein kya raay hai to mujhe to nahin lagata hai ki hamaare tirange ka apamaan laal kile par hua ho kyonki jo log vahaan par aae the unhonne joon ka koee dhaarmik jhanda hai usako aisa virodh pradarshan kyonki koee insaan koee sarakaar aapakee aavaaj jabaan se nahin sun rahee hai phir se nahin sun rahee hai to unhonne jab log apane kilo ke andar maujood hai laal kile ke andar maujood hain to apana kila dikha kar ke ham bhee baahar khade hain yah dikhaane ke lie unhonne apane jhande ko ooncha kara do aur pooree duniya ne aaj unake jhande ko dekha lekin log usako galat tareeke se le rahe hain aur vah bol rahe hain ki laal kile ka apamaan hua to main is cheej ke bilakul khilaaph hai yah cheej mein apamaan ke antargat nahin aaee kyonki tiranga apanee jagah par sahee salaamat tha doosaree teem ka jo jhanda tha vah jhanda bhee tirange jhande se neeche laga tha usase ooncha nahin tha to phir jo hai jhande ka apamaan nahin hua aur us lokeshan se jahaan tiranga jhanda laga tha usase doosaree jagah par inhonne apana dhaarmik jhanda lagaaya tha theek hai to yah sirph apanee aavaaj ko uthaane ke lie ek tareeka tha ki itane logon kee aavaaj nahin sun rahe ho to kam se kam is jhande kee aavaaj sunaee suno aur aaj aur chandee kee aavaas har ek kaan mein har ek aankh mein dikhaee pad rahee hai to mis karate hain aapako meree raay achchhee lagee hogee ya nahin bina kee ho lekin yah meree raay hai to pleej agar achchhee lage to sheyar kar deejiega thaink yoo

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
3:03
20 जनवरी सन 2021 का दिन भारत इतिहास के लिए एक बहुत ही काल में पूर्ण दिन माना जाएगा जिस दिन किसानों ने किसान किसानों के लीडरों ने तो दिल्ली में अराजकता का माहौल पैदा किया तो दिल्ली में मारधाड़ की दिल्ली में तोड़फोड़ की पुलिस वालों के साथ उन्होंने हाथापाई की लाठी डंडे तलवारों से प्रहार किया उस दिन से प्रत्येक देशवासी इन किसानों के प्रति एक सम्मानित नजरिया नहीं रखता है उस दिन उन्होंने जो राष्ट्र ध्वज के साथ मिसबिहेव क्या राष्ट्र ध्वज को अपमानित करने का प्रयास किया राष्ट्र की गरिमा को दबाने का प्रयास किया उसके कारण से शायद कोई भी भारत देश का वासी इनको सम्मान नहीं देगा आप इतने दिन से नफरत करेगा ऐसी घटना करेगा और इनको राजद्रोही राष्ट्र विरोधी मानता हुआ देश के विभाजन चाहने वाला मानता हुआ इनके प्रति संगीत से संगीत के लगाने के लिए सरकार से रिक्वेस्ट करेगा प्रार्थना करेगा कि 35 लीटर स्वर जिन्होंने माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश को भी नहीं माना अपितु देश को विभाजित करने का प्रयास किया देश के विरोधी कार्य किए देश को तोड़ने का कार्य किया अराजकता का माहौल पैदा किया उपद्रव पैदा किया इनको समस्त जिम्मेदारियों मानते हुए उनकी निजी संपत्तियों से भेज करके उस दिन के तोड़फोड़ का अर्जुन के पूरे नुकसान का उस दिन के दिल्ली की जो कुछ हानि पहुंचाई है उन्होंने राष्ट्रीय संत लुकसान पहुंचाए रात की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है उसकी भरपाई के लिए प्रार्थना करेगा क्योंकि इनकी जब यदि इस प्रकार के दुस्साहस किए जाएंगे इस प्रकार की अराजकता का माहौल पैदा किया जाएगा तो निश्चित रूप से वह देश के लिए बहुत घातक है देश के संविधान के लिए घातक है देशवासियों के लिए घातक है क्योंकि कल प्रत्येक व्यक्ति अपनी मांग मनवाने के लिए इस प्रकार के अराजकता का माहौल पैदा करेगा उपद्रव करेगा और देश के संविधान की धज्जियां उड़ जाएगी इसलिए इन्होंने जो तिरंगे के साथ में अपमानित पूर्ण व्यवहार किया है उसके लिए तो उनको कदापि माफ़ नहीं किया जाना चाहिए इन 37 लीडर्स को जो किसानों के 37 लीटर से इनके साथ में सख्त से सख्त कार्रवाई उनको मिलनी चाहिए सख्त से सख्त पनिशमेंट इन को मिलना चाहिए जिससे भविष्य में कभी कोई राष्ट्रध्वज के साथ इतना अपमान पूर्ण
20 janavaree san 2021 ka din bhaarat itihaas ke lie ek bahut hee kaal mein poorn din maana jaega jis din kisaanon ne kisaan kisaanon ke leedaron ne to dillee mein araajakata ka maahaul paida kiya to dillee mein maaradhaad kee dillee mein todaphod kee pulis vaalon ke saath unhonne haathaapaee kee laathee dande talavaaron se prahaar kiya us din se pratyek deshavaasee in kisaanon ke prati ek sammaanit najariya nahin rakhata hai us din unhonne jo raashtr dhvaj ke saath misabihev kya raashtr dhvaj ko apamaanit karane ka prayaas kiya raashtr kee garima ko dabaane ka prayaas kiya usake kaaran se shaayad koee bhee bhaarat desh ka vaasee inako sammaan nahin dega aap itane din se napharat karega aisee ghatana karega aur inako raajadrohee raashtr virodhee maanata hua desh ke vibhaajan chaahane vaala maanata hua inake prati sangeet se sangeet ke lagaane ke lie sarakaar se rikvest karega praarthana karega ki 35 leetar svar jinhonne maananeey supreem kort ke aadesh ko bhee nahin maana apitu desh ko vibhaajit karane ka prayaas kiya desh ke virodhee kaary kie desh ko todane ka kaary kiya araajakata ka maahaul paida kiya upadrav paida kiya inako samast jimmedaariyon maanate hue unakee nijee sampattiyon se bhej karake us din ke todaphod ka arjun ke poore nukasaan ka us din ke dillee kee jo kuchh haani pahunchaee hai unhonne raashtreey sant lukasaan pahunchae raat kee sampatti ko nukasaan pahuncha hai usakee bharapaee ke lie praarthana karega kyonki inakee jab yadi is prakaar ke dussaahas kie jaenge is prakaar kee araajakata ka maahaul paida kiya jaega to nishchit roop se vah desh ke lie bahut ghaatak hai desh ke sanvidhaan ke lie ghaatak hai deshavaasiyon ke lie ghaatak hai kyonki kal pratyek vyakti apanee maang manavaane ke lie is prakaar ke araajakata ka maahaul paida karega upadrav karega aur desh ke sanvidhaan kee dhajjiyaan ud jaegee isalie inhonne jo tirange ke saath mein apamaanit poorn vyavahaar kiya hai usake lie to unako kadaapi maaf nahin kiya jaana chaahie in 37 leedars ko jo kisaanon ke 37 leetar se inake saath mein sakht se sakht kaarravaee unako milanee chaahie sakht se sakht panishament in ko milana chaahie jisase bhavishy mein kabhee koee raashtradhvaj ke saath itana apamaan poorn

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Life coach
2:56
आपका प्रश्न है लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी क्या राय है तो इसे साफ साफ नजर में आता है कि जय जवान जय किसान किसान अपने देश को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे और जवान अपनी देश भाषा में पहुंचेंगे तभी तो वह बॉर्डर में रहते हैं तभी तो किसान खेतों में रहते हैं ताकि हमारे भारत देश में लोगों को खाने की कमी ना हमारा भारत देश विकास करता है और वही किसान आज अपने खेतों में और ज्योति रंगों का अपमान कर रहे हैं सत्ताधारी भारत माता की भारत माता की शान तिरंगे का अपमान कर रहे किसानों के बीच में कुछ गलत लोग हैं जो कि सारी कैसे करते हैं यह वह लोग हैं जो गुरु ने काल में जो पुलिस वालों ने हमारी हेल्प बिना यह सोचे कि उन्हें भी करो ना हो सकता है बहुत हो तो करो ना हो भी चुका था लेकिन फिर भी अपनी भारत माता की रक्षा के लिए उनकी लोगों का अर्थात भारत में कितने लोग रहते हैं उनकी रक्षा के लिए वह अपनी ड्यूटी में लगे रहे उन पर जानलेवा हमला किया कि उन्हें नुकसान पहुंचाया गया तो यह देख रहा है कि साक्षात ऐसे लोग हैं जो भारत की ग्रोथ को रोकना चाहती है भी इन्हीं 120 में छुपे होते किसान के भेष में छुपे हुए हैं ऐसे आतंकवादी लोग हैं जो भारत को नुकसान पहुंचाना चाहते क्योंकि हमारे देश में कोई भी तिरंगे का अपमान नहीं करता क्योंकि वह इस देश का रहने वाला है और भारत माता को पूरा सम्मान देता है किसान तो बिल्कुल नहीं कर सकते किसानों के बीच में कुछ ऐसे लोग छुपे हुए हैं जिनका पकड़ना बहुत ज्यादा पकड़ पकड़ लिया गया तो शायद हम अपनी किसानों को बचा सकते हैं जो किसानों के बीच में किसानों को ही बदनाम करने में तुले हुए हैं तो मेरी राय यह है कि यह वीर जो रहना इससे किसानों के बीच में कुछ ऐसे लोग आ गए हैं जो भारत को आगे बढ़ने नहीं देना चाहती हूं क्योंकि आगे बढ़ना भारत जन तो बहुत लोगों को होगी तकलीफ तो बहुत लोगों को बुरे उसी में बीच में कुछ ऐसे लोग किसान के नाम पर है क्योंकि एचडी में किसान नहीं है पर इतने सारे यंग लोग वहां थे जो कि हर भी चलाना नहीं जानते वह लोग किसान खुद को किसान समझ कर इतना सारा हंगामा कर रहे थे यही है कि भारत माता को जो नुकसान पहुंचाता है वह किसान होता ही नहीं है तो जय जवान जय किसान किसान जो है वो क्षेत्रों में वहां नहीं जो ईसाई किसे कर रहे हो मैं सिर्फ इतना ही कहूंगी कि यह जो विरोध हो रहा है गलत है कम से कम यह विरोध खत्म हो जाए क्योंकि यह कानून बच्चे के लिए लोग उनकी हमारे भारत की ग्रोथ को रोकने के लिए है तूने सजा मिलनी चाहिए थैंक यू सो मच
Aapaka prashn hai laal kile par 26 janavaree ko jo hamaare tirange ka apamaan hua hai isake baare mein aapakee kya raay hai to ise saaph saaph najar mein aata hai ki jay javaan jay kisaan kisaan apane desh ko nukasaan nahin pahunchaenge aur javaan apanee desh bhaasha mein pahunchenge tabhee to vah bordar mein rahate hain tabhee to kisaan kheton mein rahate hain taaki hamaare bhaarat desh mein logon ko khaane kee kamee na hamaara bhaarat desh vikaas karata hai aur vahee kisaan aaj apane kheton mein aur jyoti rangon ka apamaan kar rahe hain sattaadhaaree bhaarat maata kee bhaarat maata kee shaan tirange ka apamaan kar rahe kisaanon ke beech mein kuchh galat log hain jo ki saaree kaise karate hain yah vah log hain jo guru ne kaal mein jo pulis vaalon ne hamaaree help bina yah soche ki unhen bhee karo na ho sakata hai bahut ho to karo na ho bhee chuka tha lekin phir bhee apanee bhaarat maata kee raksha ke lie unakee logon ka arthaat bhaarat mein kitane log rahate hain unakee raksha ke lie vah apanee dyootee mein lage rahe un par jaanaleva hamala kiya ki unhen nukasaan pahunchaaya gaya to yah dekh raha hai ki saakshaat aise log hain jo bhaarat kee groth ko rokana chaahatee hai bhee inheen 120 mein chhupe hote kisaan ke bhesh mein chhupe hue hain aise aatankavaadee log hain jo bhaarat ko nukasaan pahunchaana chaahate kyonki hamaare desh mein koee bhee tirange ka apamaan nahin karata kyonki vah is desh ka rahane vaala hai aur bhaarat maata ko poora sammaan deta hai kisaan to bilkul nahin kar sakate kisaanon ke beech mein kuchh aise log chhupe hue hain jinaka pakadana bahut jyaada pakad pakad liya gaya to shaayad ham apanee kisaanon ko bacha sakate hain jo kisaanon ke beech mein kisaanon ko hee badanaam karane mein tule hue hain to meree raay yah hai ki yah veer jo rahana isase kisaanon ke beech mein kuchh aise log aa gae hain jo bhaarat ko aage badhane nahin dena chaahatee hoon kyonki aage badhana bhaarat jan to bahut logon ko hogee takaleeph to bahut logon ko bure usee mein beech mein kuchh aise log kisaan ke naam par hai kyonki echadee mein kisaan nahin hai par itane saare yang log vahaan the jo ki har bhee chalaana nahin jaanate vah log kisaan khud ko kisaan samajh kar itana saara hangaama kar rahe the yahee hai ki bhaarat maata ko jo nukasaan pahunchaata hai vah kisaan hota hee nahin hai to jay javaan jay kisaan kisaan jo hai vo kshetron mein vahaan nahin jo eesaee kise kar rahe ho main sirph itana hee kahoongee ki yah jo virodh ho raha hai galat hai kam se kam yah virodh khatm ho jae kyonki yah kaanoon bachche ke lie log unakee hamaare bhaarat kee groth ko rokane ke lie hai toone saja milanee chaahie thaink yoo so mach

bolkar speaker
लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय?Laal Kile Par 26 January Ko Jo Hamare Tirange Ka Apman Hua Hai Iske Baare Mein Apki Raay
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:38
26 जनवरी को लाल किले पर तिरंगा का जो अपमान हुआ है वह संविधान लोकतंत्र का सबसे काला दिन है इसके लिए हमारी पुलिस इंटेलिजेंस क्या कर रही थी उसके कौन से पोषक तत्व जो है एंटी सोशल एलिमेंट्स कैसे पहुंच गए क्योंकि किसान सब ऐसा नहीं कर सकते हैं इसलिए इसका जल्द पता लगा करके उनको दंडित किया जाना चाहिए क्योंकि यह लोकतंत्र के इतिहास में जो कुछ हुआ बहुत बुरा हुआ उसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता
26 janavaree ko laal kile par tiranga ka jo apamaan hua hai vah sanvidhaan lokatantr ka sabase kaala din hai isake lie hamaaree pulis intelijens kya kar rahee thee usake kaun se poshak tatv jo hai entee soshal eliments kaise pahunch gae kyonki kisaan sab aisa nahin kar sakate hain isalie isaka jald pata laga karake unako dandit kiya jaana chaahie kyonki yah lokatantr ke itihaas mein jo kuchh hua bahut bura hua use bardaasht nahin kiya ja sakata

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • लाल किले पर 26 जनवरी को जो हमारे तिरंगे का अपमान हुआ है इसके बारे में आपकी राय 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान
URL copied to clipboard