#भारत की राजनीति

bolkar speaker

यदि किसान भी लाभदायक है तो किसान विरोध में क्यों है?

Yadi Kisan Bhe Laabhdayak Hai To Kisan Virodh Mein Kyun Hai
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Self development online classes abhi join kare instagram me
2:58
सवाल है यदि किसान भी लाभदायक है तो किसान विरोध में क्यों है तो मैं यहां आप लोग को बताना चाहती हूं कि हमारे देश में हंड्रेड परसेंट किसान हैं और जिस ने 60% बहुत ही गरीब किसानों और जितने भी एटी परसेंट गरीब किसान है आज अपने कामों में बिजी हैं अर्थात खेती कर रहे हैं और उन्हें इस बिल के थ्रू बहुत अच्छा यह मिला लाभ मिला है सब्जियों का सही मूल्य सब्जियां भाजी सेंड कर पा रहे हैं इन्हीं की सड़कों और जो किसान हैं उन लोगों के पास वह मेरे सामने उन लोगों के पास ट्रैक्टर है गरीब किसानों के पास ट्रैक्टर खरीदने के लिए पैसे नहीं होते इतनी हैवी अभी ट्रैक्टर लेकर जा रहे हैं यह कर रहे हैं वह घर है उसी के बीच मिली जुली सरकार है और उसी में क्या है कि कुछ आतंकवादी जो तलवार लेकर घूमो यहां से आप अंदाजा लगा सकते हैं अंदाजा के बिल्कुल दिख रहा है और इसकी बिजनेस में अगर अब डिस्कवर करेंगे तब आपको समझ में आएगा तो 20% किसान हैं और वह नहीं चाहते कि वह कितनी पर्सेंट का ग्रोथ हो क्योंकि वही अमीर बनना चाहते हैं वही बैटर रहे यह सोचते हैं वह अर्थात कितनी पर्सेंट को दबाकर रखना चाहते हैं जबकि इस बिल के पारित होने से क्या हुआ है कितनी पर्सेंट आजाद हुए एक गरीब किसान आजाद हुए और अपनी सब्जियों का सही मूल्य कैंसिल करवा रहे हैं लेकिन बिल पारित नहीं हुआ था उससे पहले यह 20% के साथ ऐसा ही काम करते थे चोरी चुपके ऐसा ही काम करते थे इस चीज को आप को देखना होगा तो यह सारी चीजें हो रही है और आप देख लेंगे कितना प्रदर्शन हो रहा है तो इसमें 20% किसान ही हैं और उसी की भी सरकारी है उसी के बीच आतंकवादी लेकिन इतनी परसेंट अपने घरों में जो समझदारी से कोरोनावायरस है अपने घरों में खेती कर रहे हैं ठीक है वह लोग सही काम कर रहे हैं इंडिया का ग्रोथ 80% किसान की ग्रोथ अगर रुक जाएगी तो इंडिया का ग्रोथ नहीं हुआ को समझना होगा और देखना होगा यह जो प्रदर्शन कर देना यह खुद कह रहे हैं कि कोरोनावायरस ए तो संभाल रहे हम सबको मारी खुद ही मारेंगे तो यह क्या हमारे एटी परसेंट गरीब किसान है सब बोलेंगे तो सबका भला ही जाएंगे ना खुद सुसाइड कर लेते हैं लेकिन दूसरों को हर्ट नहीं करते तो गरीब किसान यह होते हैं तो इनका भला कर रहे हैं मोदी सरकार इसमें कुछ गलत नहीं है इसमें दिख भी रहा है समझ में नहीं आया तो जो 20% किसान है वह चाह रहे हैं कि इंडिया का ग्रोथ रुक जाए इसलिए इतना प्रदर्शन हो रहा है ना क्या किसी फौजी को इतना परेशान करना सही है अपने देश के जितने भी लोग हम को परेशान करना सही है यह किसान तो बिल्कुल नहीं कर सकते ठीक है लेकिन
Savaal hai yadi kisaan bhee laabhadaayak hai to kisaan virodh mein kyon hai to main yahaan aap log ko bataana chaahatee hoon ki hamaare desh mein handred parasent kisaan hain aur jis ne 60% bahut hee gareeb kisaanon aur jitane bhee etee parasent gareeb kisaan hai aaj apane kaamon mein bijee hain arthaat khetee kar rahe hain aur unhen is bil ke throo bahut achchha yah mila laabh mila hai sabjiyon ka sahee mooly sabjiyaan bhaajee send kar pa rahe hain inheen kee sadakon aur jo kisaan hain un logon ke paas vah mere saamane un logon ke paas traiktar hai gareeb kisaanon ke paas traiktar khareedane ke lie paise nahin hote itanee haivee abhee traiktar lekar ja rahe hain yah kar rahe hain vah ghar hai usee ke beech milee julee sarakaar hai aur usee mein kya hai ki kuchh aatankavaadee jo talavaar lekar ghoomo yahaan se aap andaaja laga sakate hain andaaja ke bilkul dikh raha hai aur isakee bijanes mein agar ab diskavar karenge tab aapako samajh mein aaega to 20% kisaan hain aur vah nahin chaahate ki vah kitanee parsent ka groth ho kyonki vahee ameer banana chaahate hain vahee baitar rahe yah sochate hain vah arthaat kitanee parsent ko dabaakar rakhana chaahate hain jabaki is bil ke paarit hone se kya hua hai kitanee parsent aajaad hue ek gareeb kisaan aajaad hue aur apanee sabjiyon ka sahee mooly kainsil karava rahe hain lekin bil paarit nahin hua tha usase pahale yah 20% ke saath aisa hee kaam karate the choree chupake aisa hee kaam karate the is cheej ko aap ko dekhana hoga to yah saaree cheejen ho rahee hai aur aap dekh lenge kitana pradarshan ho raha hai to isamen 20% kisaan hee hain aur usee kee bhee sarakaaree hai usee ke beech aatankavaadee lekin itanee parasent apane gharon mein jo samajhadaaree se koronaavaayaras hai apane gharon mein khetee kar rahe hain theek hai vah log sahee kaam kar rahe hain indiya ka groth 80% kisaan kee groth agar ruk jaegee to indiya ka groth nahin hua ko samajhana hoga aur dekhana hoga yah jo pradarshan kar dena yah khud kah rahe hain ki koronaavaayaras e to sambhaal rahe ham sabako maaree khud hee maarenge to yah kya hamaare etee parasent gareeb kisaan hai sab bolenge to sabaka bhala hee jaenge na khud susaid kar lete hain lekin doosaron ko hart nahin karate to gareeb kisaan yah hote hain to inaka bhala kar rahe hain modee sarakaar isamen kuchh galat nahin hai isamen dikh bhee raha hai samajh mein nahin aaya to jo 20% kisaan hai vah chaah rahe hain ki indiya ka groth ruk jae isalie itana pradarshan ho raha hai na kya kisee phaujee ko itana pareshaan karana sahee hai apane desh ke jitane bhee log ham ko pareshaan karana sahee hai yah kisaan to bilkul nahin kar sakate theek hai lekin

और जवाब सुनें

bolkar speaker
यदि किसान भी लाभदायक है तो किसान विरोध में क्यों है?Yadi Kisan Bhe Laabhdayak Hai To Kisan Virodh Mein Kyun Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:31
दोस्तों प्रार्थना कि यदि किसान भी लाभदायक है तो किसान विरोध में क्यों है तो वह मैं बताना चाहता हूं कि इस समय जो अश्लील किसान है वह अपने खेतों पर है इसमें मोबाइल कटाई में लगा रहता है वह उसके पास इतना समय नहीं है कि वह 25 से 30 दिन घर पर से बाहर रहे और विरोध करता रहे और करेगा भी आंदोलन तो अपने घर के पास करने में सहूलियत रहेगी यह वह किसान है जो किताबों में किसान है जो किसी का नीचे शोषण करके या किसी से कार्य करा कर यह बड़े किसानों की खेती कभी नहीं करते कभी हो सकता है कभी जमाने में उन्होंने हल चलाया और कुछ लाया और ट्रैक्टर चलाओ अब वह किसी से करवाते हैं इसके अंदर और और बड़े दुख की बात है कि भारत में जितनी भी किसी जो है आए हैं वह सारी टैक्स फ्री होती है इससे लोग इसका दुरुपयोग करते हैं सरकार को ऐसा कानून बनाना चाहिए कि जो 10 लाख से ऊपर जो किसान की जो है आए हैं वह टैक्सेबल होनी चाहिए क्योंकि आजकल अमिताभ बच्चन जैसे लोग या बहुत बड़े-बड़े लोग भी किताबों में किसान हैं लोग काफी दो नंबर का पैसा इधर का उधर किसानों की आएगी जो एग्रीकल्चर इनकम है उसको मैं आए की छूट की वजह से घूम आते रहते हैं तो यह जितने भी आपको किसान आंदोलन में दिखाई दे रहे हो सकता है कुछ इसमें खानी होगी तो सब को नहीं पता किसी कानून हमें भी नहीं पता किसी कानून लेकिन निश्चित रूप से किसानों के फायदेमंद के लिए यह तो इस में दिक्कत आ रही है दलालों को जो ऊपर क्रीम खाते थे उनको ऐसा लग रहा है आप देखेंगे कि जिंदगी में कभी किसी ने भेजा नहीं खाया होगा वहां पर पिज्जा सप्लाई किया जा रहा है वहां पर आदमी सुविधाएं हैं फाइव स्टार की तरह जहां आंदोलन चल रहा है जो कि एक बड़े दुख की बात है इसके अंदर की किसानों को बदनाम किया जा रहा है किसान उसके तो बदनाम भी हो रहा है नहीं तो किसान अपना कार्य करता रहता है किसान के खेत नहीं है जरूरी नहीं है कि यह सारी चीजें उसके नुकसान में और वैसे भी अभी सुप्रीम कोर्ट ने बोल्ड कर दिया है सरकार ने भी बोल्ड कर दिया है लेकिन लोगों को ऐसा लगता है कि हमारी आमदनी चली जाएगी मैं जानता हूं कैसे क्लाइंट से जो कि मात्र एक दलाल है बस ट्रक आने जाने का ट्रक की बॉडी का करते हैं और करोड़ों रुपए कमा रखा है कोठियां हैं दिल्ली में कई कोठिया बनाते जा रहे हैं एकमात्र बड़े दुख की बात है कि एक केवल जहां मैन्युफैक्चरिंग यूनिट है जो कि सबसे अमीर बना जाते कोई भी आप कम मिले तो कोई सामान बनाता है निर्माण करता है वह कैसे गरीब हो सकता है यहां पर निर्माण करता गरीब है और जो उसके डिस्ट्रीब्यूटर है वह अमीर है उसके रिटेलर अमीर है क्योंकि यह एक तंत्र ऐसा बनाया हुआ है जिसकी वजह से किसानों का शोषण हो रहा है धन्यवाद
Doston praarthana ki yadi kisaan bhee laabhadaayak hai to kisaan virodh mein kyon hai to vah main bataana chaahata hoon ki is samay jo ashleel kisaan hai vah apane kheton par hai isamen mobail kataee mein laga rahata hai vah usake paas itana samay nahin hai ki vah 25 se 30 din ghar par se baahar rahe aur virodh karata rahe aur karega bhee aandolan to apane ghar ke paas karane mein sahooliyat rahegee yah vah kisaan hai jo kitaabon mein kisaan hai jo kisee ka neeche shoshan karake ya kisee se kaary kara kar yah bade kisaanon kee khetee kabhee nahin karate kabhee ho sakata hai kabhee jamaane mein unhonne hal chalaaya aur kuchh laaya aur traiktar chalao ab vah kisee se karavaate hain isake andar aur aur bade dukh kee baat hai ki bhaarat mein jitanee bhee kisee jo hai aae hain vah saaree taiks phree hotee hai isase log isaka durupayog karate hain sarakaar ko aisa kaanoon banaana chaahie ki jo 10 laakh se oopar jo kisaan kee jo hai aae hain vah taiksebal honee chaahie kyonki aajakal amitaabh bachchan jaise log ya bahut bade-bade log bhee kitaabon mein kisaan hain log kaaphee do nambar ka paisa idhar ka udhar kisaanon kee aaegee jo egreekalchar inakam hai usako main aae kee chhoot kee vajah se ghoom aate rahate hain to yah jitane bhee aapako kisaan aandolan mein dikhaee de rahe ho sakata hai kuchh isamen khaanee hogee to sab ko nahin pata kisee kaanoon hamen bhee nahin pata kisee kaanoon lekin nishchit roop se kisaanon ke phaayademand ke lie yah to is mein dikkat aa rahee hai dalaalon ko jo oopar kreem khaate the unako aisa lag raha hai aap dekhenge ki jindagee mein kabhee kisee ne bheja nahin khaaya hoga vahaan par pijja saplaee kiya ja raha hai vahaan par aadamee suvidhaen hain phaiv staar kee tarah jahaan aandolan chal raha hai jo ki ek bade dukh kee baat hai isake andar kee kisaanon ko badanaam kiya ja raha hai kisaan usake to badanaam bhee ho raha hai nahin to kisaan apana kaary karata rahata hai kisaan ke khet nahin hai jarooree nahin hai ki yah saaree cheejen usake nukasaan mein aur vaise bhee abhee supreem kort ne bold kar diya hai sarakaar ne bhee bold kar diya hai lekin logon ko aisa lagata hai ki hamaaree aamadanee chalee jaegee main jaanata hoon kaise klaint se jo ki maatr ek dalaal hai bas trak aane jaane ka trak kee bodee ka karate hain aur karodon rupe kama rakha hai kothiyaan hain dillee mein kaee kothiya banaate ja rahe hain ekamaatr bade dukh kee baat hai ki ek keval jahaan mainyuphaikcharing yoonit hai jo ki sabase ameer bana jaate koee bhee aap kam mile to koee saamaan banaata hai nirmaan karata hai vah kaise gareeb ho sakata hai yahaan par nirmaan karata gareeb hai aur jo usake distreebyootar hai vah ameer hai usake ritelar ameer hai kyonki yah ek tantr aisa banaaya hua hai jisakee vajah se kisaanon ka shoshan ho raha hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • यदि किसान भी लाभदायक है तो किसान विरोध में क्यों है किसान विरोध में क्यों है
URL copied to clipboard