#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?

Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:28
सवाल है कि क्या अनुराधा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है क्या यह बात सही है तो जी हां यह बिल्कुल सही है मोबाइल में टेबलेट स्क्रीन से हद से ज्यादा चिपके रहने के कारण उनका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है वरिष्ठ मनोचिकित्सक डॉक्टर समीर पारेख की माने तो रात में बहुत देर तक मोबाइल फोन देखने से आंखों की रोशनी तक जा सकती है क्लिपिंग साइकल अव्यवस्थित होने से नींद ना आने की बीमारी हो सकती है
Savaal hai ki kya anuraadha mobail ka prayog karane se raat ko neend kam aatee hai kya yah baat sahee hai to jee haan yah bilkul sahee hai mobail mein tebalet skreen se had se jyaada chipake rahane ke kaaran unaka svaasthy prabhaavit ho sakata hai varishth manochikitsak doktar sameer paarekh kee maane to raat mein bahut der tak mobail phon dekhane se aankhon kee roshanee tak ja sakatee hai kliping saikal avyavasthit hone se neend na aane kee beemaaree ho sakatee hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है क्या यह बात सच है ऐसा करके सच में होता है कि मोबाइल में व्यक्ति है जो चीजें देखता है अगर वह उसके भावनाओं को विचलित कर सकती है करती हुई सोच सोच सोच कर बार-बार वह परेशान हो जाता है उसकी मनुस्कीची भी बढ़ जाती है मस्ती बिगड़ने के कारण उसको नींद नहीं आती नींद आने के लिए एक अच्छी मानसिक अवस्था अवश्य सोते समय और अगर कुछ उसके साथ दातारामगढ़ बढ़ाने वाला मामला जी क्या खबर है खबर है या कुछ असली की रोशनी देखें क्योंकि चुनाव कुछ नहीं होता है उसने उस मोबाइल से देखें क्या मोबाइल के कुछ कार्यक्रम होते हैं या किसी भी चीज के लिए उसको लो रुचि होती है पूरी करने को जी चाहता है और उसमें समय गुजरात और भी ज्यादा है हेलो मोबाइल स्विच ऑफ ही नहीं है इस कारण इसका न्यूज़ के नियम का चार्ट टाइम मिलता है निकल जाता है और बाद में जल्दी नींद नहीं आती उसकी आंखों में अगर तकलीफ होती है तो भी परेशानी हो सकती है कुछ अवश्य व्हिस्की ज्यादा ना होने के कारण शरीर स्थूल बनता है उसको मेरा नहीं मिलता है इसलिए जिस थकता ही नहीं रिश्ते तक जाने के बाद अच्छी नींद आती है लेकिन शरीर से शरीर अवस्था का ही नहीं नींद नहीं आती है कई लोगों को इसका एडिक्शन बन गया होता है मोबाइल का यह नया एक नशीले पदार्थों संसार साबित हो रहा है इसकी आदत तुमसे जिस किसी किसी नशा की लग जाती है तो मोबाइल को छोड़ता ही नहीं और मोबाइल ऐसी चीज है बातम्या एंड्रॉयड स्मार्टफोन जाते हैं उनसे बहुत सारी पिक्चर सोते हैं उसमें एंटरटेनमेंट की चीज होती है मैं किसी की स्टोरी की चीजें हो सकती है और उसमें उसको बच्ची बन जाती है तुम उसको ज्यादा समय तक मिस यूज करने की हर जाति करूंगी यह काम आती और बाद में डॉक्टरों के पास जाना पड़ता है ज्यादा करके आंखों के लिए पूर्णागिरी टनकपुर बताते हैं इसका कारण क्या है उसको मोबाइल का इस्तेमाल करने के लिए मर्यादा रखनी पड़ती है यार इसका एक मैनेजमेंट करके वह मैनेजमेंट की रोशनी सबसे मोबाइल के ऊपर अपना समय मुझे सकता है और बाकी समय अपने काम कर सकता है शारीरिक का नहीं तो यह बड़ी समस्या बन जाती है ऐसी सर्वे बहुत सारे आए हुए
Kya jyaada mobail ka prayog karane se raat ko neend kam aatee hai kya yah baat sach hai aisa karake sach mein hota hai ki mobail mein vyakti hai jo cheejen dekhata hai agar vah usake bhaavanaon ko vichalit kar sakatee hai karatee huee soch soch soch kar baar-baar vah pareshaan ho jaata hai usakee manuskeechee bhee badh jaatee hai mastee bigadane ke kaaran usako neend nahin aatee neend aane ke lie ek achchhee maanasik avastha avashy sote samay aur agar kuchh usake saath daataaraamagadh badhaane vaala maamala jee kya khabar hai khabar hai ya kuchh asalee kee roshanee dekhen kyonki chunaav kuchh nahin hota hai usane us mobail se dekhen kya mobail ke kuchh kaaryakram hote hain ya kisee bhee cheej ke lie usako lo ruchi hotee hai pooree karane ko jee chaahata hai aur usamen samay gujaraat aur bhee jyaada hai helo mobail svich oph hee nahin hai is kaaran isaka nyooz ke niyam ka chaart taim milata hai nikal jaata hai aur baad mein jaldee neend nahin aatee usakee aankhon mein agar takaleeph hotee hai to bhee pareshaanee ho sakatee hai kuchh avashy vhiskee jyaada na hone ke kaaran shareer sthool banata hai usako mera nahin milata hai isalie jis thakata hee nahin rishte tak jaane ke baad achchhee neend aatee hai lekin shareer se shareer avastha ka hee nahin neend nahin aatee hai kaee logon ko isaka edikshan ban gaya hota hai mobail ka yah naya ek nasheele padaarthon sansaar saabit ho raha hai isakee aadat tumase jis kisee kisee nasha kee lag jaatee hai to mobail ko chhodata hee nahin aur mobail aisee cheej hai baatamya endroyad smaartaphon jaate hain unase bahut saaree pikchar sote hain usamen entaratenament kee cheej hotee hai main kisee kee storee kee cheejen ho sakatee hai aur usamen usako bachchee ban jaatee hai tum usako jyaada samay tak mis yooj karane kee har jaati karoongee yah kaam aatee aur baad mein doktaron ke paas jaana padata hai jyaada karake aankhon ke lie poornaagiree tanakapur bataate hain isaka kaaran kya hai usako mobail ka istemaal karane ke lie maryaada rakhanee padatee hai yaar isaka ek mainejament karake vah mainejament kee roshanee sabase mobail ke oopar apana samay mujhe sakata hai aur baakee samay apane kaam kar sakata hai shaareerik ka nahin to yah badee samasya ban jaatee hai aisee sarve bahut saare aae hue

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:40
कर दोस्तों आपका प्रश्न है क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है क्या यह बात सही है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर है अगर हम रात को मोबाइल का ज्यादा प्रयोग करेंगे तो हम डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं क्योंकि हमारी इससे नींद कम होती है क्योंकि हम समय अपने मोबाइल में ज्यादा यूज करते हैं इसलिए हम ज्यादा डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं जिनसे हमारा मानसिक दिमाग में कोई टेंशन होने की वजह से और हमारी नींद भी कम आती है जो हमारे लिए स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है धन्यवाद साथियों
Kar doston aapaka prashn hai kya jyaada mobail ka prayog karane se raat ko neend kam aatee hai kya yah baat sahee hai to doston aapake savaal ka uttar hai agar ham raat ko mobail ka jyaada prayog karenge to ham dipreshan ke shikaar ho sakate hain kyonki hamaaree isase neend kam hotee hai kyonki ham samay apane mobail mein jyaada yooj karate hain isalie ham jyaada dipreshan ke shikaar ho jaate hain jinase hamaara maanasik dimaag mein koee tenshan hone kee vajah se aur hamaaree neend bhee kam aatee hai jo hamaare lie svaasthy ke lie bahut haanikaarak hai dhanyavaad saathiyon

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
Abhishek Shukla ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Abhishek जी का जवाब
Motivational speaker
1:24
नमस्कार दोस्तों आपका एक प्रश्न आया है कि क्या ज्यादा मोबाइल चलाने से जो है तो रात को नींद कम आती है क्या यह बात सही है तो देखे हां क्योंकि आज के समय में युवा पीढ़ी मार लीजिए चाहे किसी भी उम्र दराज के लोगों को देख लेंगे आप तो यह पाया गया है कि स्त्रोत में कि आज के समय में लोग जो है तो इस मोबाइल का प्रयोग काफी अधिक कर चुके हैं क्योंकि आज जमाना है वह डिजिटलाइजेशन का जमाना है तो इसके तहत जो है तो लोग जो है तो अधिक से अधिक जो है तो सोशल साइट से जुड़ रहे हैं काफी सारे स्टूडेंट जो है तो ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं इसके बाद में उसे देखकर बहुत ज्यादा ही उपयोगी इसलिए भी बन चुका है क्योंकि आज के समय में जो है तो अधिकतम काम जो है तो मोबाइल पर ही किए जा रहे हैं जिसकी वजह से लोगों को ना चाहते हुए भी इसका प्रयोग करना पड़ रहा है लेकिन देखे इसके प्रभाव जो है तो काफी हद तक हमारे मस्तिष्क पर पड़ते हैं जिसकी वजह से जो है तो नींद की कमी होना और देर रात तक जागना यह सभी समस्याएं उजागर होती हैं तो प्रयास करें कि कम से कम इसका इस्तेमाल कर सके पढ़ाई के लिए केवल और फालतू कामों के लिए भी करते हैं तो इससे समस्या है आपको ही होंगी इसलिए जो है तो कम अधिक कर देख कर के आप अपने हिसाब से इसका उपयोग करें मैं आपके लिए सही होगा धन्यवाद
Namaskaar doston aapaka ek prashn aaya hai ki kya jyaada mobail chalaane se jo hai to raat ko neend kam aatee hai kya yah baat sahee hai to dekhe haan kyonki aaj ke samay mein yuva peedhee maar leejie chaahe kisee bhee umr daraaj ke logon ko dekh lenge aap to yah paaya gaya hai ki strot mein ki aaj ke samay mein log jo hai to is mobail ka prayog kaaphee adhik kar chuke hain kyonki aaj jamaana hai vah dijitalaijeshan ka jamaana hai to isake tahat jo hai to log jo hai to adhik se adhik jo hai to soshal sait se jud rahe hain kaaphee saare stoodent jo hai to onalain padhaee kar rahe hain isake baad mein use dekhakar bahut jyaada hee upayogee isalie bhee ban chuka hai kyonki aaj ke samay mein jo hai to adhikatam kaam jo hai to mobail par hee kie ja rahe hain jisakee vajah se logon ko na chaahate hue bhee isaka prayog karana pad raha hai lekin dekhe isake prabhaav jo hai to kaaphee had tak hamaare mastishk par padate hain jisakee vajah se jo hai to neend kee kamee hona aur der raat tak jaagana yah sabhee samasyaen ujaagar hotee hain to prayaas karen ki kam se kam isaka istemaal kar sake padhaee ke lie keval aur phaalatoo kaamon ke lie bhee karate hain to isase samasya hai aapako hee hongee isalie jo hai to kam adhik kar dekh kar ke aap apane hisaab se isaka upayog karen main aapake lie sahee hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
Naayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Naayank जी का जवाब
College
1:24
नमस्कार होता हो तो यह बात सच है कि आप अगर आप उनको ज्यादा इस्तेमाल करते हैं रात को वह भी तो आपको नींद नहीं आएगी क्योंकि एक तो रीजन है कि जो चीज निकलती है उसमें से जो चीज होती है वह आपके आपकी अच्छी नहीं होती है तो और जब आप फोन का इस्तेमाल करते हैं ऐसे अगर आप इंस्टा चला रहे हैं तो आपको नींद नहीं आएगी क्योंकि उसका सिस्टम होता है इंस्टा कहो यानी जब आप नीचे स्क्रोल करते रहते हैं तो आपके मन में एक सरप्राइज की भावना रहती है कि अब कौन सी वीडियो है कि आप कौन सा महीना आएगा क्या यह बेहतर होगा पिछले वाले में तो यह भावना होती है ही जो सरप्राइज या कुछ नया खोजने की पानी की भावना होती है इसके चलते आप इंस्टाग्राम पर 10 मिनट की जगह 1 घंटा आपको पता भी नहीं चलता और इसी के कारण अगर आप रात को लेकर बैठे हैं तो आपको नींद भी नहीं आती आपको जब सो जाएंगे आंख बंद करके आंख बंद करेंगे तो आपके दिमाग में वही चीज चलती रहती है इसलिए कहा जाता है कि सोने से एक घंटा पहले सभी स्क्रीन्स को ऑफ कर दें और शांति से बैठे बातें करें इससे भी लेकिन स्क्रीन का इस्तेमाल ना करें
Namaskaar hota ho to yah baat sach hai ki aap agar aap unako jyaada istemaal karate hain raat ko vah bhee to aapako neend nahin aaegee kyonki ek to reejan hai ki jo cheej nikalatee hai usamen se jo cheej hotee hai vah aapake aapakee achchhee nahin hotee hai to aur jab aap phon ka istemaal karate hain aise agar aap insta chala rahe hain to aapako neend nahin aaegee kyonki usaka sistam hota hai insta kaho yaanee jab aap neeche skrol karate rahate hain to aapake man mein ek sarapraij kee bhaavana rahatee hai ki ab kaun see veediyo hai ki aap kaun sa maheena aaega kya yah behatar hoga pichhale vaale mein to yah bhaavana hotee hai hee jo sarapraij ya kuchh naya khojane kee paanee kee bhaavana hotee hai isake chalate aap instaagraam par 10 minat kee jagah 1 ghanta aapako pata bhee nahin chalata aur isee ke kaaran agar aap raat ko lekar baithe hain to aapako neend bhee nahin aatee aapako jab so jaenge aankh band karake aankh band karenge to aapake dimaag mein vahee cheej chalatee rahatee hai isalie kaha jaata hai ki sone se ek ghanta pahale sabhee skreens ko oph kar den aur shaanti se baithe baaten karen isase bhee lekin skreen ka istemaal na karen

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
er. ramphal bind Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए er. जी का जवाब
Private job
0:39
प्रश्न आपका है क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है जी बिल्कुल ऐसा नहीं होता क्योंकि जब आप मोबाइल यूज़ करते हैं तो आपको नींद आती है लेकिन आप बार-बार नित को इग्नोर करते हैं इससे क्या होता है आपको जब लेट आप लेट आप सोते हैं तो आप लेट शो करते हैं नहीं अच्छे स्वास्थ होने के लिए आपको 6 से 7 घंटे नींद बहुत आवश्यक है इससे बुरा भी इफेक्ट पड़ता है स्वास्थ्य पर तो मेरे कहने का मतलब यह है मोबाइल आप अधिक ज्यादा टाइम तक यूज़ करते हैं तो आपके स्वास्थ्य पर ज्यादा इफेक्ट पड़ता है
Prashn aapaka hai kya jyaada mobail ka prayog karane se raat ko neend kam aatee hai jee bilkul aisa nahin hota kyonki jab aap mobail yooz karate hain to aapako neend aatee hai lekin aap baar-baar nit ko ignor karate hain isase kya hota hai aapako jab let aap let aap sote hain to aap let sho karate hain nahin achchhe svaasth hone ke lie aapako 6 se 7 ghante neend bahut aavashyak hai isase bura bhee iphekt padata hai svaasthy par to mere kahane ka matalab yah hai mobail aap adhik jyaada taim tak yooz karate hain to aapake svaasthy par jyaada iphekt padata hai

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:23
सवाल है कि कैसा था मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है क्या यह बात सही है जी हां यह बात बिल्कुल सही है मोबाइल का अत्यधिक प्रयोग करने से आपके दिमाग में स्ट्रेस पड़ता है जो कि तरंगे हैं ज्योति वेश्या की वजह से आप परेशान रहते हैं आपकी नींद जो आने का समय है वह डिस्टर्ब होता है और नींद भी कम आने लग जाती है आपका दिन शुभ रहे थे निवास
Savaal hai ki kaisa tha mobail ka prayog karane se raat ko neend kam aatee hai kya yah baat sahee hai jee haan yah baat bilkul sahee hai mobail ka atyadhik prayog karane se aapake dimaag mein stres padata hai jo ki tarange hain jyoti veshya kee vajah se aap pareshaan rahate hain aapakee neend jo aane ka samay hai vah distarb hota hai aur neend bhee kam aane lag jaatee hai aapaka din shubh rahe the nivaas

bolkar speaker
क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है?Kya Jyada Mobile Ka Prayog Karne Se Raat Ko Neend Kam Aati Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:15
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि क्या ज्यादा मोबाइल का प्रयोग करने से रात को नींद कम आती है क्या बात सही है बिल्कुल दोस्तों बिल्कुल सत्य है वह रात को अब ज्यादा देर प्रोन फोन का प्रयोग करते हैं तो निश्चित रूप से एक तमंचा कड़ापन होता है और अंदर से कुछ ऐसी भावना आती है कि नींद नहीं आती है उसके अंदर कभी आप कैंटीन हूं आप बात कर लेना एक-दो घंटे तो काम गर्म हो जाता है कि आप ईयर फोन भी लेते हैं तो आप ऐसा लगता है कि भूख लगी है या छिछोरापन मन में आता है तो नींद से चली जाती है और आपको टीजर रिलीज डेट आती है तो आप ज्यादा देर तक सुबह तक कोई नहीं अगर आप जल्दी उठ जाते हैं किसी दर्शाए बीच में काफी समस्या आएगी मन में चिड़चिड़ापन आएगा आप लोगों से लड़ने लगोगे कई बार ऐसा समस्या आती है तो कोशिश करें कि हम मोबाइल ही नहीं है हम हो सकता कंप्यूटर का भी प्रयोग कर सकते हैं या टीवी बहुत देर से देख रहे हैं तो ऐसा हो सकता है मोबाइल देखने से ज्यादा होता है कि हमारे आंखों के सामने होता है फजूल कि हम ज्ञान प्राप्त करने होते हैं जो कि हमें जरूरत ही नहीं होती है मैं कई बार देखता हूं मेट्रो मैं बस में 10 में से आठ से 9 लोग मोबाइल पर लगे रहते पता नहीं क्या ज्ञान प्राप्त करते हैं बल्कि ज्ञान दे दे बोलकर आपने तो ज्यादा अच्छा है कम से कम आगे लोगों को ज्ञान मिल जाए लेकिन वह ज्ञान में ही रहते हैं तो यह नुकसानदायक हो कई लोगों को आदत है कि वह रात को सोते समय अपने सिरहाने के नीचे मोबाइल रखते हैं उसे रीजन निकलती हैं और वास्तु शास्त्र के हिसाब से भी गलत है तो उसको एक तो दूर रखे हो नेट बंद कर दें और कोशिश करेगी सुबह जब उठे तो आप जो प्राणायाम व्यायाम करें या कोई खेलकूद करते हैं वह करें और आंखों की एक्सरसाइज भी गया में प्राणायाम में इसमें लोग मैं तो निश्चित रूप से पियो कोशिश करेंगी फोन पर ज्यादा ना हो किसी दोस्त से बात करने की लंबी चैटिंग कीजिए डायरेक्ट फोन मिला लीजिए उससे बात कर लीजिए लेकिन हम चैटिंग करते रहते हैं पता नहीं हमें बहुत अच्छा लगने लग जाता है और एक यह गलत भी बन जाती है उसके बिना जो है अधूरे महसूस करने लग जाते हैं मेरे हिसाब से तो सरकार को कम से कम 1 दिन नेट बंद ही रखना नहीं तो छुट्टी रखनी चाहिए जैसे कल दिल्ली में हुआ हमारे यहां दिन रात 2:00 बजे के बाद आराम से खुला कोई टेंशन नहीं लोग मस्ती अपने फैमिली के साथ इंजॉय कर रहे थे फोन निर्जीव एक्टर प्रकाश हो रखा था बातचीत हुई थी फोन से पैसा भी सरकार को आगे अपने नागरिकों को प्राप्त कर सकते हैं धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki kya jyaada mobail ka prayog karane se raat ko neend kam aatee hai kya baat sahee hai bilkul doston bilkul saty hai vah raat ko ab jyaada der pron phon ka prayog karate hain to nishchit roop se ek tamancha kadaapan hota hai aur andar se kuchh aisee bhaavana aatee hai ki neend nahin aatee hai usake andar kabhee aap kainteen hoon aap baat kar lena ek-do ghante to kaam garm ho jaata hai ki aap eeyar phon bhee lete hain to aap aisa lagata hai ki bhookh lagee hai ya chhichhoraapan man mein aata hai to neend se chalee jaatee hai aur aapako teejar rileej det aatee hai to aap jyaada der tak subah tak koee nahin agar aap jaldee uth jaate hain kisee darshae beech mein kaaphee samasya aaegee man mein chidachidaapan aaega aap logon se ladane lagoge kaee baar aisa samasya aatee hai to koshish karen ki ham mobail hee nahin hai ham ho sakata kampyootar ka bhee prayog kar sakate hain ya teevee bahut der se dekh rahe hain to aisa ho sakata hai mobail dekhane se jyaada hota hai ki hamaare aankhon ke saamane hota hai phajool ki ham gyaan praapt karane hote hain jo ki hamen jaroorat hee nahin hotee hai main kaee baar dekhata hoon metro main bas mein 10 mein se aath se 9 log mobail par lage rahate pata nahin kya gyaan praapt karate hain balki gyaan de de bolakar aapane to jyaada achchha hai kam se kam aage logon ko gyaan mil jae lekin vah gyaan mein hee rahate hain to yah nukasaanadaayak ho kaee logon ko aadat hai ki vah raat ko sote samay apane sirahaane ke neeche mobail rakhate hain use reejan nikalatee hain aur vaastu shaastr ke hisaab se bhee galat hai to usako ek to door rakhe ho net band kar den aur koshish karegee subah jab uthe to aap jo praanaayaam vyaayaam karen ya koee khelakood karate hain vah karen aur aankhon kee eksarasaij bhee gaya mein praanaayaam mein isamen log main to nishchit roop se piyo koshish karengee phon par jyaada na ho kisee dost se baat karane kee lambee chaiting keejie daayarekt phon mila leejie usase baat kar leejie lekin ham chaiting karate rahate hain pata nahin hamen bahut achchha lagane lag jaata hai aur ek yah galat bhee ban jaatee hai usake bina jo hai adhoore mahasoos karane lag jaate hain mere hisaab se to sarakaar ko kam se kam 1 din net band hee rakhana nahin to chhuttee rakhanee chaahie jaise kal dillee mein hua hamaare yahaan din raat 2:00 baje ke baad aaraam se khula koee tenshan nahin log mastee apane phaimilee ke saath injoy kar rahe the phon nirjeev ektar prakaash ho rakha tha baatacheet huee thee phon se paisa bhee sarakaar ko aage apane naagarikon ko praapt kar sakate hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ज्यादा मोबाइल चलाने से क्या होता है, रात में मोबाइल चलाने से क्या होता है, स्मार्ट फोन के नुकसान
URL copied to clipboard