#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?

Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:34
आप सवाल है क्या भारत में अतिथि रहनी चाहिए या नहीं जी हां बिल्कुल रहनी चाहिए है इंग्लिश में कैसे कॉमन लैंग्वेज एजूथू आउट द वर्ल्ड हरी कहीं पर भी बोली जाती है समझी जाती है यदि आपको कभी भी कहीं देश के बाहर जाना पड़ता है या कभी किसी और व्यक्ति के साथ में संवाद स्थापित करना पड़ता है कम्युनिकेशन करना पड़ता है ऐसे में आपको अंग्रेजी का ज्ञान होना बेहद जरूरी है जैसे कि आप यह जान पाए समझ पाए कि सामने वाले व्यक्ति या थी क्या कह रहा है और साथ ही साथ आप अपने मन के विचारों को भी सामने वाले व्यक्ति के साथ में अच्छी तरीके से कम निकट कर सकें आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Aap savaal hai kya bhaarat mein atithi rahanee chaahie ya nahin jee haan bilkul rahanee chaahie hai inglish mein kaise koman laingvej ejoothoo aaut da varld haree kaheen par bhee bolee jaatee hai samajhee jaatee hai yadi aapako kabhee bhee kaheen desh ke baahar jaana padata hai ya kabhee kisee aur vyakti ke saath mein sanvaad sthaapit karana padata hai kamyunikeshan karana padata hai aise mein aapako angrejee ka gyaan hona behad jarooree hai jaise ki aap yah jaan pae samajh pae ki saamane vaale vyakti ya thee kya kah raha hai aur saath hee saath aap apane man ke vichaaron ko bhee saamane vaale vyakti ke saath mein achchhee tareeke se kam nikat kar saken aapaka din shubh rahe dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student 🇮🇳🇮🇳🇮🇳 mission Indian Army🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳
1:10
नमस्कार दोस्तों कैसे क्या भारत में अंग्रेजी गाना चाहिए या नहीं देखे बिल्कुल हमारे सबसे अंग्रेजी जाना चाहिए क्योंकि हम जितना अधिक अंक प्राप्त कर लेते आप जितनी अधिक भाषाओं का ज्ञान प्राप्त हो जाता है तो मतलब आपके लिए उतना ही अच्छा रहता है आप मान लीजिए कि आप इंडिया में कभी भी इंडिया से बाहर गए थे अमेरिका यूट्यूब पर किसी भी देश में तो निश्चित तौर पर ग्राहक अंग्रेजी आती है तो आप किसी भी लड़की से बात कर सकते हैं और आप लोग जो भी पर्यटन के लिहाज से गिर गए जहां भी घूम लेंगे तो किसी की मदद नहीं लेनी पड़ेगी और आप तो आप इधर-उधर घूम सकेंगे इसके मतलब अंग्रेजी अंग्रेजी ज्यादा पसंद करते हैं हिंदी प्रश्न करते हैं तो हमारे हिसाब से तो बिल्कुल रहना चाहिए अंग्रेजी भारत में क्योंकि इससे क्या होता है कि अंग्रेजी अंतर्राष्ट्रीय भाषा को दिखाएं देशों में अंग्रेजी बोलती हुई जब भी आप किसी भी देश में जाएंगे तो निश्चित तौर पर आप अंग्रेजी आती तो कोई भी वहां पर आपको प्रॉब्लम नहीं होगी तो मैं करता हूं सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद
Namaskaar doston kaise kya bhaarat mein angrejee gaana chaahie ya nahin dekhe bilkul hamaare sabase angrejee jaana chaahie kyonki ham jitana adhik ank praapt kar lete aap jitanee adhik bhaashaon ka gyaan praapt ho jaata hai to matalab aapake lie utana hee achchha rahata hai aap maan leejie ki aap indiya mein kabhee bhee indiya se baahar gae the amerika yootyoob par kisee bhee desh mein to nishchit taur par graahak angrejee aatee hai to aap kisee bhee ladakee se baat kar sakate hain aur aap log jo bhee paryatan ke lihaaj se gir gae jahaan bhee ghoom lenge to kisee kee madad nahin lenee padegee aur aap to aap idhar-udhar ghoom sakenge isake matalab angrejee angrejee jyaada pasand karate hain hindee prashn karate hain to hamaare hisaab se to bilkul rahana chaahie angrejee bhaarat mein kyonki isase kya hota hai ki angrejee antarraashtreey bhaasha ko dikhaen deshon mein angrejee bolatee huee jab bhee aap kisee bhee desh mein jaenge to nishchit taur par aap angrejee aatee to koee bhee vahaan par aapako problam nahin hogee to main karata hoon savaal ka javaab achchha laga hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:25
जी आप का सवाल है कि भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं तो सबसे पहले तो हमारी मातृभाषा जो भी आप बोलते हैं वह रहनी चाहिए इसके बाद अगर आप अंग्रेजी बोलने आप का शौक है तो इसको आप जरूर बोला करना चाहिए क्योंकि वे जी आजकल तक देश में बोली जाती है इसलिए थोड़ा बहुत अंग्रेजी का ज्ञान भी होना जरूरी है
Jee aap ka savaal hai ki bhaarat mein angrejee rahana chaahie ya nahin to sabase pahale to hamaaree maatrbhaasha jo bhee aap bolate hain vah rahanee chaahie isake baad agar aap angrejee bolane aap ka shauk hai to isako aap jaroor bola karana chaahie kyonki ve jee aajakal tak desh mein bolee jaatee hai isalie thoda bahut angrejee ka gyaan bhee hona jarooree hai

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
G Dewasi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए G जी का जवाब
Unknown
1:34
देखिए कहना बहुत आसान होता है कि इंग्लिश लैंग्वेज हमारे देश के अंदर रहनी चाहिए या नहीं रहनी चाहिए लेकिन अगर हम यह देखेगी इंग्लिश लैंग्वेज की इंपोर्टेंस कितनी है तो तब जाकर में पता चलेगा कि इंग्लिश लैंग्वेज क्यों रहनी चाहिए हमारे देश के अंदर पूरे वर्ल्ड में आज के समय सभी लोग इंग्लिश लैंग्वेज सीख रहे हैं इसका रीजन क्या है कि टेक्नोलॉजी जितने भी अभी तक डेवलप हुई है उन सभी के अंदर एक तरीके से जो इंग्लिश लैंग्वेज है उसका इन्वायरमेंट बन चुका है अगर मैं आपको एग्जांपल के थ्रू समझाओ तो जो कंप्यूटर होता है जो स्मार्टफोन स्मार्टफोन होते हैं इनके अंदर इंग्लिश लैंग्वेज का ही यूज किया जाता है और आपको पता होगा जो कोडिंग की जाती है एप डेवलपमेंट के अंदर उसके अंदर भी इंग्लिश लैंग्वेज का बहुत ज्यादा यूज किया जाता है जिस वजह से सभी लोगों को इंग्लिश लैंग्वेज सीखनी ही पड़ती है देखिए गरम चाहते हैं कि हमारे देश के अंदर जो हिंदी भाषा है वह फिर से डोमिनेंस करने लग जाए पूरे वर्ल्ड में इंग्लिश जो लैंग्वेज है उसकी जो डोमिनेंस है वह कम हो जाए तो उसका सिर्फ एक उपाय है वह है कि जो टेक्नोलॉजी है इसके अंदर हमारे देश को काफी ज्यादा इंप्रूव करना पड़ेगा हमारे देश के अंदर सभी लोगों को टेक्नोलॉजी के अंदर काफी ज्यादा अविष्कार करने पड़ेंगे और उस टेक्नोलॉजी के अंदर जो हिंदी लैंग्वेज है उसका इन्वायरमेंट क्रिएट करना पड़ेगा उस से क्या होगा जितने भी देश के लोग हैं अगर वह हमारी उस टेक्नोलॉजी को सीखना चाहेंगे तू ने सबसे पहले हिंदी लैंग्वेज को सीखना पड़ेगा यानी कि जो हिंदी लैंग्वेज है उसकी इंपॉर्टेंस बढ़ जाएगी और जो इंग्लिश लैंग्वेज है उसकी कम हो जाएगी सिर्फ एकमात्र मेरे अकॉर्डिंग ही उपाय है धन्यवाद
Dekhie kahana bahut aasaan hota hai ki inglish laingvej hamaare desh ke andar rahanee chaahie ya nahin rahanee chaahie lekin agar ham yah dekhegee inglish laingvej kee importens kitanee hai to tab jaakar mein pata chalega ki inglish laingvej kyon rahanee chaahie hamaare desh ke andar poore varld mein aaj ke samay sabhee log inglish laingvej seekh rahe hain isaka reejan kya hai ki teknolojee jitane bhee abhee tak devalap huee hai un sabhee ke andar ek tareeke se jo inglish laingvej hai usaka invaayarament ban chuka hai agar main aapako egjaampal ke throo samajhao to jo kampyootar hota hai jo smaartaphon smaartaphon hote hain inake andar inglish laingvej ka hee yooj kiya jaata hai aur aapako pata hoga jo koding kee jaatee hai ep devalapament ke andar usake andar bhee inglish laingvej ka bahut jyaada yooj kiya jaata hai jis vajah se sabhee logon ko inglish laingvej seekhanee hee padatee hai dekhie garam chaahate hain ki hamaare desh ke andar jo hindee bhaasha hai vah phir se dominens karane lag jae poore varld mein inglish jo laingvej hai usakee jo dominens hai vah kam ho jae to usaka sirph ek upaay hai vah hai ki jo teknolojee hai isake andar hamaare desh ko kaaphee jyaada improov karana padega hamaare desh ke andar sabhee logon ko teknolojee ke andar kaaphee jyaada avishkaar karane padenge aur us teknolojee ke andar jo hindee laingvej hai usaka invaayarament kriet karana padega us se kya hoga jitane bhee desh ke log hain agar vah hamaaree us teknolojee ko seekhana chaahenge too ne sabase pahale hindee laingvej ko seekhana padega yaanee ki jo hindee laingvej hai usakee importens badh jaegee aur jo inglish laingvej hai usakee kam ho jaegee sirph ekamaatr mere akording hee upaay hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:07
भारत में अंग्रेजी भाषा जो है जो माध्यम से ये परीक्षाएं ली जाती हैं यह कतई नहीं रहना चाहिए मैं इसका विरोध करता हूं और मैं हिंदी हिंदी राष्ट्रभाषा आंदोलन में चला दे रहा हूं उसके लिए लेकिन हिंदी जिस प्रकार से एक इतिहास है वह बोल है संस्कृत है विषय के रूप में उसी प्रकार के हिंदी एक विषय के रूप में लोग पढ़ाई करो विदेश जाएं तो उससे वह अपने आपको अलग न समझें और लेकिन हिंदी में रिपोर्ट भेजो जजमेंट हैं वह हिंदी में आनी चाहिए संघ लोक सेवा आयोग के लोक सेवा के लिए परीक्षाएं हैं वह सब हिंदी में आना चाहिए लेकिन एक विषय के रूप में जो आदमी अंग्रेजी पढ़ना चाहिए अंग्रेजी पढ़ सकता है और जो क्षेत्र की जो भाषाएं होती है जैसे तमिल तेलुगू गुजराती है मलयादी मलयालम है या अपने क्षेत्र में ही भाषा इस्तेमाल करें लेकिन यहां पर सरकारी कामकाज के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकारों में है उसमें हिंदी का ही प्रयोग किया जाना चाहिए तभी हिंदी को राष्ट्रभाषा कब मान्यता दी जा सकती है और इसके लिए एक आंदोलन चलाया जा रहा है भारत में अंग्रेजी जो है माध्यम का प्रयोग न किया जाए उस जगह हिंदी माध्यम का ही प्रयोग करें मैं अंग्रेजी भाषा का विरोध
Bhaarat mein angrejee bhaasha jo hai jo maadhyam se ye pareekshaen lee jaatee hain yah katee nahin rahana chaahie main isaka virodh karata hoon aur main hindee hindee raashtrabhaasha aandolan mein chala de raha hoon usake lie lekin hindee jis prakaar se ek itihaas hai vah bol hai sanskrt hai vishay ke roop mein usee prakaar ke hindee ek vishay ke roop mein log padhaee karo videsh jaen to usase vah apane aapako alag na samajhen aur lekin hindee mein riport bhejo jajament hain vah hindee mein aanee chaahie sangh lok seva aayog ke lok seva ke lie pareekshaen hain vah sab hindee mein aana chaahie lekin ek vishay ke roop mein jo aadamee angrejee padhana chaahie angrejee padh sakata hai aur jo kshetr kee jo bhaashaen hotee hai jaise tamil telugoo gujaraatee hai malayaadee malayaalam hai ya apane kshetr mein hee bhaasha istemaal karen lekin yahaan par sarakaaree kaamakaaj ke lie kendr sarakaar raajy sarakaaron mein hai usamen hindee ka hee prayog kiya jaana chaahie tabhee hindee ko raashtrabhaasha kab maanyata dee ja sakatee hai aur isake lie ek aandolan chalaaya ja raha hai bhaarat mein angrejee jo hai maadhyam ka prayog na kiya jae us jagah hindee maadhyam ka hee prayog karen main angrejee bhaasha ka virodh

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
0:59
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं यह तो हम नहीं कह सकते किसी भाषा को कि वह हमारे देश में रहनी चाहिए या नहीं लोगों को उपयुक्तता महत्वपूर्ण होती है उपयुक्त बड़ा या उपयोगिता अगर लोगों को बोलने में इसका उपयोग होता है तो भाषा जरूर है और किसी भाषा को हम ऐसे नहीं कर सकते तो गुस्से भी देश वैसा करेंगे व्यक्तिगत शिक्षा के अनुसार इस सद्भावना चाहिए धन्यवाद
Kya bhaarat mein angrejee rahana chaahie ya nahin yah to ham nahin kah sakate kisee bhaasha ko ki vah hamaare desh mein rahanee chaahie ya nahin logon ko upayuktata mahatvapoorn hotee hai upayukt bada ya upayogita agar logon ko bolane mein isaka upayog hota hai to bhaasha jaroor hai aur kisee bhaasha ko ham aise nahin kar sakate to gusse bhee desh vaisa karenge vyaktigat shiksha ke anusaar is sadbhaavana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:47
नमस्ते दोस्तों आपका प्रसन्न है क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं तो दोस्तों आपके प्रश्न का उत्तर यह है भारत में अंग्रेजी का का भी उतना ही महत्व है जितना हमारी राष्ट्रभाषा हिंदी का क्योंकि अंग्रेजी भाषा एक अंतरराष्ट्रीय लेवल की भाषा है जो सभी को जानना जरूरी है क्योंकि अंग्रेजी भाषा का भी उतना ही महत्व है जितना हमारी भाषा का क्योंकि हमें सभी भाषाओं को जानना जरूरी है तभी हम एक दूसरे के साथ विचारों का आदान प्रदान कर सकते हैं धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaste doston aapaka prasann hai kya bhaarat mein angrejee rahana chaahie ya nahin to doston aapake prashn ka uttar yah hai bhaarat mein angrejee ka ka bhee utana hee mahatv hai jitana hamaaree raashtrabhaasha hindee ka kyonki angrejee bhaasha ek antararaashtreey leval kee bhaasha hai jo sabhee ko jaanana jarooree hai kyonki angrejee bhaasha ka bhee utana hee mahatv hai jitana hamaaree bhaasha ka kyonki hamen sabhee bhaashaon ko jaanana jarooree hai tabhee ham ek doosare ke saath vichaaron ka aadaan pradaan kar sakate hain dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:46
काराकस में क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं तो आंख बताने बिल्कुल भारत में अंग्रेजी जानी चाहिए अंग्रेजी आज के समय में एक ग्लोबल लैंग्वेज के तौर पर उभरी है और ऐसे में अगर आप एक दूसरे से वार्तालाप करना चाहते हैं सिर्फ हम अपने ही कंट्री की बात नहीं कर रहे हम देश के बाहर भी मानेंगे आप यूरोप जाते हैं अमेरिका जाते हैं उधर जाकर किसी से बात करना चाहते हैं तो अंग्रेजी माध्यम से आप काफी हद तक अपनी बात समझा सकते हैं सामने वाले को या आपकी बात समझ सकते हैं तो काफी बड़े पैमाने पर व्यापक रूप से ग्लोबल लैंग्वेज के रूप में अंग्रेजी उभरी है तो अंग्रेजी भाषा का ज्ञान कम सम बेसिक ज्ञान तो सभी व्यक्तियों को होना ही चाहिए इसमें शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Kaaraakas mein kya bhaarat mein angrejee rahana chaahie ya nahin to aankh bataane bilkul bhaarat mein angrejee jaanee chaahie angrejee aaj ke samay mein ek global laingvej ke taur par ubharee hai aur aise mein agar aap ek doosare se vaartaalaap karana chaahate hain sirph ham apane hee kantree kee baat nahin kar rahe ham desh ke baahar bhee maanenge aap yoorop jaate hain amerika jaate hain udhar jaakar kisee se baat karana chaahate hain to angrejee maadhyam se aap kaaphee had tak apanee baat samajha sakate hain saamane vaale ko ya aapakee baat samajh sakate hain to kaaphee bade paimaane par vyaapak roop se global laingvej ke roop mein angrejee ubharee hai to angrejee bhaasha ka gyaan kam sam besik gyaan to sabhee vyaktiyon ko hona hee chaahie isamen shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं?Kya Bharat Mein Angreji Rehna Chaiye Ya Nahi
Om Prakash Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Om जी का जवाब
Now in home
0:38
नमस्कार आपका क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं अंग्रेजी भी एक भाषा है और रहेगी ठीक रहेगा जिन लोगों नहीं आती है वह लोग महंगे होते हैं तो प्लीज एक लाइक एंड ऑलवेज जिंदगी बा
Namaskaar aapaka kya bhaarat mein angrejee rahana chaahie ya nahin angrejee bhee ek bhaasha hai aur rahegee theek rahega jin logon nahin aatee hai vah log mahange hote hain to pleej ek laik end olavej jindagee ba

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या भारत में अंग्रेजी रहना चाहिए या नहीं
URL copied to clipboard