#पढ़ाई लिखाई

Vicky Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vicky जी का जवाब
अभी हम पढ़ाई करते हैं
0:50
एक सफल विद्यार्थी मेडिकल बीमा सुनिश्चित करना चाहिए कि जब कोई पढ़ाई कर रहा हूं अभी कुछ काम करना है उसके बारे में नहीं सोचना कि बच्चों का मशीन करना है उसे काम पर जाना चाहिए बाकी लोगों को पोस्ट करें कि जो कंपनियां पूरी करे कोई सोचने की मूवी जाना है
Ek saphal vidyaarthee medikal beema sunishchit karana chaahie ki jab koee padhaee kar raha hoon abhee kuchh kaam karana hai usake baare mein nahin sochana ki bachchon ka masheen karana hai use kaam par jaana chaahie baakee logon ko post karen ki jo kampaniyaan pooree kare koee sochane kee moovee jaana hai

और जवाब सुनें

Ramlal Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ramlal जी का जवाब
Students
0:53

srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:33
वेलकम फ्रेंड्स प्रश्न है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थी को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए मैं आपको बताना चाहता हूं एक सफल विद्यार्थी बनने के लिए जीवन में विद्यार्थी को सबसे पहले शिष्टाचार का पालन करना चाहिए तभी वह सफल विद्यार्थी पर रहेगा अन्यथा वह सफल विद्यार्थी नहीं कहलाएगा धन्यवाद
Velakam phrends prashn hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthee ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie main aapako bataana chaahata hoon ek saphal vidyaarthee banane ke lie jeevan mein vidyaarthee ko sabase pahale shishtaachaar ka paalan karana chaahie tabhee vah saphal vidyaarthee par rahega anyatha vah saphal vidyaarthee nahin kahalaega dhanyavaad

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
1:47
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए दिखे फ्रेंड अगर आप विद्यार्थी हैं स्टूडेंट लाइफ में हैं तो सबसे पहले तो आपको इन सब बातों में ध्यान ही नहीं देना है कि आप सफल इंसान बने या ना बने किस प्रकार से पढ़ें क्योंकि स्टूडेंट लाइफ होती है तो आपका एम जो रहता है आप का उद्देश रहता है कि होना चाहिए कि बस आपको पढ़ना है पढ़ने के बाद जो है आपको डिसाइड करना होता है कि आप क्या करते हैं या किस तरफ जाते हैं या फिर पहले आप डिसाइड कर लीजिए कि मुझे यह बनना है तो उसी टाइम पर आप चलिए वही पढ़ाई करिए थोड़ा सा देकर फ्रेंड अपने स्वभाव को अपनी चाल चलन को थोड़ा सा चेंज करना पड़ता है और वही अपने ऊपर लागू करते रहेंगे हमेशा तो आप जो है हमेशा सक्सेसफुल रहेंगे पहली बात है फ्रेंड सरल स्वभाव रखना किसी से ईर्ष्या द्वेष ना रखना हमेशा लड़ाई झगड़ा ना करना अपने कार्य से कार्यरत ना बे फालतू का किसी के साथ कोई तालमेल ना बैठा ना अपने में ही रहना हर किसी में ताकत है कि ना करना चुगली शिकायत ना करना ठीक है तो कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिन्हें हम अपने जो है जीवन में उतार कर के एक अच्छी लाइफ चीज है प्राप्ति कर सकते हैं एक अच्छे इंसान का जो पद है वह सकते हैं आशा है कि आप सभी को है जवाब पसंद आया हुआ नमस्कार
Helo phrends namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie dikhe phrend agar aap vidyaarthee hain stoodent laiph mein hain to sabase pahale to aapako in sab baaton mein dhyaan hee nahin dena hai ki aap saphal insaan bane ya na bane kis prakaar se padhen kyonki stoodent laiph hotee hai to aapaka em jo rahata hai aap ka uddesh rahata hai ki hona chaahie ki bas aapako padhana hai padhane ke baad jo hai aapako disaid karana hota hai ki aap kya karate hain ya kis taraph jaate hain ya phir pahale aap disaid kar leejie ki mujhe yah banana hai to usee taim par aap chalie vahee padhaee karie thoda sa dekar phrend apane svabhaav ko apanee chaal chalan ko thoda sa chenj karana padata hai aur vahee apane oopar laagoo karate rahenge hamesha to aap jo hai hamesha saksesaphul rahenge pahalee baat hai phrend saral svabhaav rakhana kisee se eershya dvesh na rakhana hamesha ladaee jhagada na karana apane kaary se kaaryarat na be phaalatoo ka kisee ke saath koee taalamel na baitha na apane mein hee rahana har kisee mein taakat hai ki na karana chugalee shikaayat na karana theek hai to kuchh aisee cheejen hotee hain jinhen ham apane jo hai jeevan mein utaar kar ke ek achchhee laiph cheej hai praapti kar sakate hain ek achchhe insaan ka jo pad hai vah sakate hain aasha hai ki aap sabhee ko hai javaab pasand aaya hua namaskaar

Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
1:08

घनश्याम वन Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए घनश्याम जी का जवाब
मंदिर सेवा
1:03
सबसे पहले तो विद्यार्थी को कभी भी आलस्य कर नहीं करना चाहिए समय से होता चाहिए अनुशासन का पालन करना चाहिए पढ़ाई करते समय दिमाग में सिर्फ पढ़ाई के विषय में भी सोचना चाहिए कोई भी इधर उधर की बात नहीं करनी चाहिए अशोक अनुशासन सबसे पहले हैं कभी भी पढ़ाई करते समय है इधर-उधर ध्यान नहीं देना चाहता हूं सिर्फ पढ़ाई करते रहना चाहिए और जो जब कार्य है उसका भोजपुरी
Sabase pahale to vidyaarthee ko kabhee bhee aalasy kar nahin karana chaahie samay se hota chaahie anushaasan ka paalan karana chaahie padhaee karate samay dimaag mein sirph padhaee ke vishay mein bhee sochana chaahie koee bhee idhar udhar kee baat nahin karanee chaahie ashok anushaasan sabase pahale hain kabhee bhee padhaee karate samay hai idhar-udhar dhyaan nahin dena chaahata hoon sirph padhaee karate rahana chaahie aur jo jab kaary hai usaka bhojapuree

Ankit Singh Rajput Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Student
0:56
हेलो एवरीवन क्वेश्चन है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए ऐसा है कि विद्यार्थी मतलब क्या होता है विद्यार्थी को सबसे पहला एक खून अपनाना चाहिए वह होता अनुशासन विद्यार्थी को अनुशासन में रहना चाहिए और अपने लक्ष्य को पहले निर्धारित होता है उसे करना क्या है और क्या पाना है अपने लक्ष्य के हिसाब से उसे आगे की ओर अग्रसर होना है और एक बात ध्यान रखने योग्य बातें यह है कि आपको कोई भी कार्य ऐसा ना करना हो जिससे लक्ष्य को पानी में आपको 12 विद्यार्थी का जीवन सबसे कठिन परिस्थितियों से गुजर जाता है क्योंकि उसे उस समय के लिए स्ट्रगल करना पड़ता है जो अभी ही करना पड़ता है क्योंकि कुछ पाने के लिए अभी ही मेहनत करना पड़ता है
Helo evareevan kveshchan hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie aisa hai ki vidyaarthee matalab kya hota hai vidyaarthee ko sabase pahala ek khoon apanaana chaahie vah hota anushaasan vidyaarthee ko anushaasan mein rahana chaahie aur apane lakshy ko pahale nirdhaarit hota hai use karana kya hai aur kya paana hai apane lakshy ke hisaab se use aage kee or agrasar hona hai aur ek baat dhyaan rakhane yogy baaten yah hai ki aapako koee bhee kaary aisa na karana ho jisase lakshy ko paanee mein aapako 12 vidyaarthee ka jeevan sabase kathin paristhitiyon se gujar jaata hai kyonki use us samay ke lie stragal karana padata hai jo abhee hee karana padata hai kyonki kuchh paane ke lie abhee hee mehanat karana padata hai

Rajan Meena Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rajan जी का जवाब
Unknown
0:42
सफल बनने के लिए विद्यार्थी को अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए दोस्तों उसे अपने माता पिता के सपने पूरा करने के लिए उसे वर्तमान में जीना होगा और उसी पढ़ाई को शिक्षा को एजुकेशन को प्राथमिक स्तर देना होगा तभी वह जिंदगी में सक्सेस पाएगा और एक सफल व्यक्ति बनकर देख लाएगा और अपने माता-पिता और स्वयं का दुनिया में नाम कमाए गा और देश को नई तरक्की और नहीं हो जाए तो कर ले जाए धन्यवाद

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
3:07
एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं होगा विद्यार्थी जीवन में अपनी प्रतिभा को विकास करना होगा और अपनी प्रतिभा को एक दिशा देनी है एक अच्छे एडमिनिस्ट्रेटर बनना चाहते हैं बच्चे बिजनेसमैन देना चाहिए और इसमें बन मन के अंदर स्थिरता जुनून और जज्बा होना बहुत जरूरी है हम देखेंगे पेटीएम का जो मालिक है लड़का ही था छोटा सा वॉलेट बनाया था डेढ़ परसेंट मोबाइल को रिचार्ज करने वाला घर कई बार और असफल हुआ कई कंपनियों में काम किया उसी दिन में पढ़ रहा था और अंत में पेटीएम जबरदस्त कंपनी के विद्यार्थियों को एक सही दिशा की जरूरत है सही दिशा के साथ-साथ अपनी प्रतिभा को उनकी प्रतिभा होती है उन पर होना चाहिए और अधिक प्रतिभाशाली बच्चों को भी जरूरी है उसे हटा करके बहुत सारी उम्र में डिग्री कॉलेजों में इनोवेशन का सही रिसर्च का और सारी चीजें कर दिया जाए तो मैं समझता हूं बच्चे 72 कर सकते हैं और बच्चों को जैसे आप करना क्या चीज नहीं क्या नहीं करना नहीं करने का मतलब है कि बच्चों को विद्यार्थी जीवन से हमेशा अनुशासन करने के साथ-साथ जो सामाजिक का है उसमें तो भागीदारी होनी चाहिए लेकिन जो पॉलिटिकल है गैरकानूनी है और कुछ भ्रष्ट हो जाती हैं कुछ नशा मुक्ति के चित्र कहां जाते हैं या और कई चीजों में ऐड हो जाते हैं कुछ चीजें ग्लैब्रस की तरफ छोड़ जाते हैं वह चीजें नहीं करनी चाहिए और विद्यार्थी में अनुशासन होगा और निश्चित तौर पर कुछ बेहतर करने का होगा और जैसे-जैसे वह बढ़ता है जाता है इसके संग लेकर के रिसर्च करता है औरत बंधुओं को पैरों को साफ तौर पर बेहतर कर सकता है और नागरिक बन सकता है सफल बिजनेसमैन बन सकता है ऐसा हो सकता है सपन एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर संबंध टीचर बन सकता है बनना चाहे फिर उसके हाथ में होता है लेकिन उसकी जो बेसिक जरूरत है उनको ध्यान में रखें उनके अंदर हो जोधा रुपनगढ़ निश्चयवाद विश्वास ही सब देना बहुत जरूरी है
Ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin hoga vidyaarthee jeevan mein apanee pratibha ko vikaas karana hoga aur apanee pratibha ko ek disha denee hai ek achchhe edaministretar banana chaahate hain bachche bijanesamain dena chaahie aur isamen ban man ke andar sthirata junoon aur jajba hona bahut jarooree hai ham dekhenge peteeem ka jo maalik hai ladaka hee tha chhota sa volet banaaya tha dedh parasent mobail ko richaarj karane vaala ghar kaee baar aur asaphal hua kaee kampaniyon mein kaam kiya usee din mein padh raha tha aur ant mein peteeem jabaradast kampanee ke vidyaarthiyon ko ek sahee disha kee jaroorat hai sahee disha ke saath-saath apanee pratibha ko unakee pratibha hotee hai un par hona chaahie aur adhik pratibhaashaalee bachchon ko bhee jarooree hai use hata karake bahut saaree umr mein digree kolejon mein inoveshan ka sahee risarch ka aur saaree cheejen kar diya jae to main samajhata hoon bachche 72 kar sakate hain aur bachchon ko jaise aap karana kya cheej nahin kya nahin karana nahin karane ka matalab hai ki bachchon ko vidyaarthee jeevan se hamesha anushaasan karane ke saath-saath jo saamaajik ka hai usamen to bhaageedaaree honee chaahie lekin jo politikal hai gairakaanoonee hai aur kuchh bhrasht ho jaatee hain kuchh nasha mukti ke chitr kahaan jaate hain ya aur kaee cheejon mein aid ho jaate hain kuchh cheejen glaibras kee taraph chhod jaate hain vah cheejen nahin karanee chaahie aur vidyaarthee mein anushaasan hoga aur nishchit taur par kuchh behatar karane ka hoga aur jaise-jaise vah badhata hai jaata hai isake sang lekar ke risarch karata hai aurat bandhuon ko pairon ko saaph taur par behatar kar sakata hai aur naagarik ban sakata hai saphal bijanesamain ban sakata hai aisa ho sakata hai sapan edaministretiv ophisar sambandh teechar ban sakata hai banana chaahe phir usake haath mein hota hai lekin usakee jo besik jaroorat hai unako dhyaan mein rakhen unake andar ho jodha rupanagadh nishchayavaad vishvaas hee sab dena bahut jarooree hai

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:38
नमस्ते मेरे प्रिय विद्यार्थियों आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि आप हमेशा सकारात्मक सोच को रखें और काम के प्रति लगन रुचि को बनाए रखें और खानपान का और स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहिए समय का सदुपयोग करें सुबह जल्दी उठने का काम करें और आत्मविश्वास को बनाए रखें जो आपको सफल व्यक्ति बनने का मदद का काम करेगा और आप नकारात्मक बातें पर ध्यान ना दें गलत अफवाह को नजरअंदाज करें धन्यवाद मित्रों खुश रहो
Namaste mere priy vidyaarthiyon aapake prashn ka uttar yah hai ki aap hamesha sakaaraatmak soch ko rakhen aur kaam ke prati lagan ruchi ko banae rakhen aur khaanapaan ka aur svaasthy ke prati jaagarook rahie samay ka sadupayog karen subah jaldee uthane ka kaam karen aur aatmavishvaas ko banae rakhen jo aapako saphal vyakti banane ka madad ka kaam karega aur aap nakaaraatmak baaten par dhyaan na den galat aphavaah ko najarandaaj karen dhanyavaad mitron khush raho

Md Mahmud Alam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Md जी का जवाब
स्टूडेंट विद्यार्थी
0:49
आज का सवाल है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थी को क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए सवाल तो जबरदस्त बहुत अच्छा है कल होनी चाहिए ज्ञान का भंडार होने से मैंने आपके अंदर पढ़ने एजुकेशन होना बहुत जरूरी है ठीक है उसके साथ-साथ आपका आपका जो संस्कृति आप कभी भी अच्छा होना चाहिए आपके साथ-साथ पीडीए पड़ोस नतीजे प्राप्त किया कपड़ा पहने का बोलने का तरीका अच्छा होना चाहिए इसके साथ-साथ आपको कड़ी मेहनत करना चाहिए जो हमेशा भविष्य के बारे में सोचना चाहिए था ऐसी स्थिति में क्या होता है आप अच्छे व्यक्ति बन सकते और उसके साथ साथ पढ़ाई के साथ-साथ आप एक गोल लेकर चलना होगा कि आपको भविष्य में यह बनना है तो आप हमेशा जरूर बनेगा गोल को पकड़कर चलना पड़ेगा
Aaj ka savaal hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthee ko kya karana chaahie kya nahin karana chaahie savaal to jabaradast bahut achchha hai kal honee chaahie gyaan ka bhandaar hone se mainne aapake andar padhane ejukeshan hona bahut jarooree hai theek hai usake saath-saath aapaka aapaka jo sanskrti aap kabhee bhee achchha hona chaahie aapake saath-saath peedeee pados nateeje praapt kiya kapada pahane ka bolane ka tareeka achchha hona chaahie isake saath-saath aapako kadee mehanat karana chaahie jo hamesha bhavishy ke baare mein sochana chaahie tha aisee sthiti mein kya hota hai aap achchhe vyakti ban sakate aur usake saath saath padhaee ke saath-saath aap ek gol lekar chalana hoga ki aapako bhavishy mein yah banana hai to aap hamesha jaroor banega gol ko pakadakar chalana padega

Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:58
एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए अगर आप विद्यार्थी हो तो आपके लिए बेहतर और देश समय है कि आप अगर इस सवाल का जवाब सुन रहे हो तो सबसे पहले अपनी दिलीप से सिम जो है वह फॉर्म बना लीजिए कि मैं अपने लाइफ के साथ सब कुछ अच्छा कर सकता हूं और मेरी पूरी लाइफ मेरे हाथ में है यह बिलीफ सिस्टम बनाई है चाहे वैसा है या नहीं है उससे फर्क नहीं पड़ता लेकिन फिलिप्स स्टीम बनाइए बिलीफ सिस्टम बनाएंगी प्रॉपर इससे उसको बार-बार दोहराने से अब सबको किस अपने लाइफ में सब को क्या चाहिए जॉय फुल लाइफ पीसफुल और एंजॉयबल लाइफ चाहिए और वह लाइफ आपको चाहिए उसके लिए एक महत्व का घटक होता है आपकी हेल्प की बॉडी की हेल्प मेंटल हेल्थ और पैसा यह दो चीज आपको चाहिए चाहिए हा पर जीने के लिए और उसके अलावा आपका एक बिल्डिंग मेंटेन होना चाहिए अब हर चीज का बंधन तो यह लाइफ चाहिए अगर यह लाइफ देखना आपकी कोई भी अगर सक्सेसफुल इंसान है चाहे वह शाहरुख खान हो जाए कोई पॉलिटिक्स पॉलिटिशन हो जाए या सचिन तेंदुलकर हो जाए या बराक ओबामा हो जाए इन लोगों ने अपने-अपने अलग-अलग जरिए झूठ चुने हैं वहां पर पहुंचने के लिए तो आप अपना जरिया चुन सकते हो चाहे वह सिंपल एक एग्जाम ट्रैक्टर के एक अच्छी नौकरी पाना भी हो सकता है या कुछ भी हो सकता है आपने और चूस कर लिया बिलीफ सिस्टम बना ली बिलीफ सिस्टम आपको लांचर है वह आपको बनाए रखेगा अब क्या होता है कि यह सब चीजें करने के लिए फॉर एग्जांपल मुझे एथलेटिक बॉडी बनानी है तुम मुझे रोज कुछ ना कुछ एक्सरसाइज करनी पड़ेगी अब यह पहली पहला स्टेप होता है तो मैं क्या करूंगा अगर मान लो कि आज मैं रनिंग कर लिया रनिंग करने से क्या होता है कि मेरी एक वोटिंग चली जाती है उस टाइप के गोल को अटेंड करने में अगर मान लो कल मैं कुछ नहीं कर पाया खाने मेरे पास तो जीत होने की जरूरत नहीं है अगर मैं थोड़ा सा पुशअप्स कर लिया कहीं चेंज कर ले लेकिन मैंने महाबरथम मुझे बहुत एथलेटिक बॉडी बनानी और मैंने थोड़ा बहुत कुछ तो भी क्या कभी टाइम नहीं था मेरे पास में तो यह भी एक वोटिंग पड़ती है तुझे जो वोटिंग आप कर रहे हो उस टाइप के गोल पर पहुंचने के लिए यह गरबा अब आराम करते रहते हो और ऐसे हर चीजों में होता है ऐसे मुझे पैसा रन करना या मुझे को एग्जाम निकालनी है तो मुझे रोज उससे बोल तक पहुंचने के लिए रोज कुछ ना कुछ करना तो जरूरी है तो वह चीज में अगर रोज थोड़ा थोड़ा कुछ भी करता हूं तो अपना वोटिंग होती है और वह चीज अपने बिलीफ सिस्टम को अपने गोल के अचीवमेंट के तरफ लेकर जाते हो और बहुत पी लिया पहुंचते हो अब यह जब एक बार करना शुरू कीजिए इस पर दिमाग मत लगाइए अपने आप आपके प्लानिंग बनना शुरू हो जाएंगे स्पेसिफिक वस्किल्स में घुसना शुरू शुरू करोगे कि मैं इसके लिए क्या पढ़ो मैं इसके लिए आपका इंचेज बनाने के लिए मैं अलग तरीके से क्या कर सकता हूं लेकिन पहला पेपर स्टार्टेड आपको सबको पता है कि जस्ट वॉक करने से भी आपको आप हेल्दी रह सकते आपको सबको पता है कि राज में एक पेज भी पढ़ लूंगा तो मैं नॉलेज गई इन करूंगा अगर विद्यार्थी हो तो यह कीजिए और कंसिस्टेंसी रखिए इनकंसिस्टेंसी बिल्कुल नहीं रखनी है विद्यार्थियों ने विद्यार्थी ने किसी ने भी अगर इंसान से स्थान हो तो आप बोलते नहीं पहुंचा ओगे
Ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie agar aap vidyaarthee ho to aapake lie behatar aur desh samay hai ki aap agar is savaal ka javaab sun rahe ho to sabase pahale apanee dileep se sim jo hai vah phorm bana leejie ki main apane laiph ke saath sab kuchh achchha kar sakata hoon aur meree pooree laiph mere haath mein hai yah bileeph sistam banaee hai chaahe vaisa hai ya nahin hai usase phark nahin padata lekin philips steem banaie bileeph sistam banaengee propar isase usako baar-baar doharaane se ab sabako kis apane laiph mein sab ko kya chaahie joy phul laiph peesaphul aur enjoyabal laiph chaahie aur vah laiph aapako chaahie usake lie ek mahatv ka ghatak hota hai aapakee help kee bodee kee help mental helth aur paisa yah do cheej aapako chaahie chaahie ha par jeene ke lie aur usake alaava aapaka ek bilding menten hona chaahie ab har cheej ka bandhan to yah laiph chaahie agar yah laiph dekhana aapakee koee bhee agar saksesaphul insaan hai chaahe vah shaaharukh khaan ho jae koee politiks politishan ho jae ya sachin tendulakar ho jae ya baraak obaama ho jae in logon ne apane-apane alag-alag jarie jhooth chune hain vahaan par pahunchane ke lie to aap apana jariya chun sakate ho chaahe vah simpal ek egjaam traiktar ke ek achchhee naukaree paana bhee ho sakata hai ya kuchh bhee ho sakata hai aapane aur choos kar liya bileeph sistam bana lee bileeph sistam aapako laanchar hai vah aapako banae rakhega ab kya hota hai ki yah sab cheejen karane ke lie phor egjaampal mujhe ethaletik bodee banaanee hai tum mujhe roj kuchh na kuchh eksarasaij karanee padegee ab yah pahalee pahala step hota hai to main kya karoonga agar maan lo ki aaj main raning kar liya raning karane se kya hota hai ki meree ek voting chalee jaatee hai us taip ke gol ko atend karane mein agar maan lo kal main kuchh nahin kar paaya khaane mere paas to jeet hone kee jaroorat nahin hai agar main thoda sa pushaps kar liya kaheen chenj kar le lekin mainne mahaabaratham mujhe bahut ethaletik bodee banaanee aur mainne thoda bahut kuchh to bhee kya kabhee taim nahin tha mere paas mein to yah bhee ek voting padatee hai tujhe jo voting aap kar rahe ho us taip ke gol par pahunchane ke lie yah garaba ab aaraam karate rahate ho aur aise har cheejon mein hota hai aise mujhe paisa ran karana ya mujhe ko egjaam nikaalanee hai to mujhe roj usase bol tak pahunchane ke lie roj kuchh na kuchh karana to jarooree hai to vah cheej mein agar roj thoda thoda kuchh bhee karata hoon to apana voting hotee hai aur vah cheej apane bileeph sistam ko apane gol ke acheevament ke taraph lekar jaate ho aur bahut pee liya pahunchate ho ab yah jab ek baar karana shuroo keejie is par dimaag mat lagaie apane aap aapake plaaning banana shuroo ho jaenge spesiphik vaskils mein ghusana shuroo shuroo karoge ki main isake lie kya padho main isake lie aapaka inchej banaane ke lie main alag tareeke se kya kar sakata hoon lekin pahala pepar staarted aapako sabako pata hai ki jast vok karane se bhee aapako aap heldee rah sakate aapako sabako pata hai ki raaj mein ek pej bhee padh loonga to main nolej gaee in karoonga agar vidyaarthee ho to yah keejie aur kansistensee rakhie inakansistensee bilkul nahin rakhanee hai vidyaarthiyon ne vidyaarthee ne kisee ne bhee agar insaan se sthaan ho to aap bolate nahin pahuncha oge

Gulab Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gulab जी का जवाब
Student
1:02

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Berojgar
2:17
प्रश्न है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या-क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए था लेकिन हर एक विद्यार्थी हैं उन्हें अपने विद्यार्थी जीवन बहुत भली भांति मानना चाहिए और जो अपनी लाइफ में त्याग जितना करेंगे और जितना परिश्रम करेंगे उतना ही आप आगे जाएंगे 30 सबसे बड़ी बात होती है कि आप अपने प्रति अपनी निष्ठा भाव को बनाए रखेंगे तभी आप अपने विद्यार्थी जीवन को एक सफल व्यक्ति के रूप में पा सकते हैं तो आपको बहुत ज्यादा मेहनत एस्ट्रगल करना पड़ेगा और क्या नहीं करना चाहिए जी की हर एक विद्यार्थी जीवन को धोखा नहीं देना चाहिए अपने पति या गार्जियन के प्रति आप पढ़ने जा रहे हैं तो अब कितना पढ़ रहे हैं वह चीज आप खुद अपने ऊपर लगा कर देखें अपने ऊपर खुद सोच कर देखिए कि हां जितना हम पढ़ रहे हैं और कितना हमें पढ़ना चाहिए हमारी क्या क्वालिटी है यह सब देख कर ही तब बातें करना चाहिए किसी को भ्रम में नहीं रखना चाहिए अपने आप को धोखा नहीं देना चाहिए अपने परिवार वालों को धोखा नहीं देना चाहिए आप क्या पढ़ रहे हैं क्या नहीं पढ़ रहे आप खुद समझना चाहिए आपको जो भूखे मिली है उसको आप दिखावा के रूप में 99 किया करिए कभी-कभी यह एक विद्यार्थी लोग क्या करते हो कि बस स्कूल जाते हैं और उनको जाने आने से मतलब होता है तो ऐसा दिखावा मत करिए इससे आपका एक सफल व्यक्ति नहीं बन सकते हैं तो विद्यार्थी जीवन के लिए आपको निष्ठा भाव से आपको पूरी लगन के साथ परिश्रम के साथ आपको अपने जो भी पढ़ रहे हैं उसे पढ़ना चाहिए तभी आप आगे बढ़ सकते हैं उसके साथ-साथ आपको खुद ना हो जाएगा कि हम किस फील्ड में जाएंगे और हमारा फिल्ड कौनसा बेटर होगा और धीरे-धीरे लोग आपकी सपोर्ट भी हो जाते हैं कि आप किस क्षेत्र में जाना चाहते हैं आपकी क्या क्वालिटी है टीचर भी आपको मोटिवेट करता है तो यही होता है कि एक सफल व्यक्ति को बनने का समय और आप वही चीजें अगर एक्सेप्ट करेंगे तो कहीं न कहीं अपने जीवन में सफल होंगे
Prashn hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya-kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie tha lekin har ek vidyaarthee hain unhen apane vidyaarthee jeevan bahut bhalee bhaanti maanana chaahie aur jo apanee laiph mein tyaag jitana karenge aur jitana parishram karenge utana hee aap aage jaenge 30 sabase badee baat hotee hai ki aap apane prati apanee nishtha bhaav ko banae rakhenge tabhee aap apane vidyaarthee jeevan ko ek saphal vyakti ke roop mein pa sakate hain to aapako bahut jyaada mehanat estragal karana padega aur kya nahin karana chaahie jee kee har ek vidyaarthee jeevan ko dhokha nahin dena chaahie apane pati ya gaarjiyan ke prati aap padhane ja rahe hain to ab kitana padh rahe hain vah cheej aap khud apane oopar laga kar dekhen apane oopar khud soch kar dekhie ki haan jitana ham padh rahe hain aur kitana hamen padhana chaahie hamaaree kya kvaalitee hai yah sab dekh kar hee tab baaten karana chaahie kisee ko bhram mein nahin rakhana chaahie apane aap ko dhokha nahin dena chaahie apane parivaar vaalon ko dhokha nahin dena chaahie aap kya padh rahe hain kya nahin padh rahe aap khud samajhana chaahie aapako jo bhookhe milee hai usako aap dikhaava ke roop mein 99 kiya karie kabhee-kabhee yah ek vidyaarthee log kya karate ho ki bas skool jaate hain aur unako jaane aane se matalab hota hai to aisa dikhaava mat karie isase aapaka ek saphal vyakti nahin ban sakate hain to vidyaarthee jeevan ke lie aapako nishtha bhaav se aapako pooree lagan ke saath parishram ke saath aapako apane jo bhee padh rahe hain use padhana chaahie tabhee aap aage badh sakate hain usake saath-saath aapako khud na ho jaega ki ham kis pheeld mein jaenge aur hamaara phild kaunasa betar hoga aur dheere-dheere log aapakee saport bhee ho jaate hain ki aap kis kshetr mein jaana chaahate hain aapakee kya kvaalitee hai teechar bhee aapako motivet karata hai to yahee hota hai ki ek saphal vyakti ko banane ka samay aur aap vahee cheejen agar eksept karenge to kaheen na kaheen apane jeevan mein saphal honge

 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:26
देखिए एक सफल व्यक्ति के लिए मानसिक ऊर्जा बार आए क्या आपके पास और समिति सहनशक्ति या मानसिक ऊर्जा नहीं है जानकारी को बारात रहे सही खानपान और नियमित व्यायाम जरूरी करें अच्छा व्यवहार जरूरी जीवन का मकसद जाने और सवाल पूछने ना इसका है और काम और परिवार को अलग अलग रखें सही दिशा में काम करें
Dekhie ek saphal vyakti ke lie maanasik oorja baar aae kya aapake paas aur samiti sahanashakti ya maanasik oorja nahin hai jaanakaaree ko baaraat rahe sahee khaanapaan aur niyamit vyaayaam jarooree karen achchha vyavahaar jarooree jeevan ka makasad jaane aur savaal poochhane na isaka hai aur kaam aur parivaar ko alag alag rakhen sahee disha mein kaam karen

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:54
आरा कटनी का कलेक्टर बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए तो आप बता दें देखिए विद्यार्थी जीवन में आप को सबसे पहली चीज कि आप जो भी कार्य करें जो भी पढ़ाई कर रहे हो उसमें अपना उद्देश्य लेकर के चले कोई ना कोई एम लेकर के जवाब आगे बढ़ेंगे अपने जीवन में कभी आपको तरक्की मिलेगी अगर आप बिना एमबी के बिना कोई गोल बनाएं अपने जीवन में पढ़ाई करेंगे तो वह पढ़ाई दूर हो जाएगी लेकिन वह सार्थक कभी हो पाएगी जब उसमें आप कोई अपना नाम जोड़कर के आगे बढ़ेंगे तो हमेशा अपना एम बनाएं अपना गोल बनाया क्या आप अचीव करना चाहते हैं मैं जीवन में पहले से आपको पता होना चाहिए तभी उसी तरह से में आप कार्य करें तत्पश्चात ही आपको वहां पर सफलता मिलेगी मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Aara katanee ka kalektar banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie to aap bata den dekhie vidyaarthee jeevan mein aap ko sabase pahalee cheej ki aap jo bhee kaary karen jo bhee padhaee kar rahe ho usamen apana uddeshy lekar ke chale koee na koee em lekar ke javaab aage badhenge apane jeevan mein kabhee aapako tarakkee milegee agar aap bina emabee ke bina koee gol banaen apane jeevan mein padhaee karenge to vah padhaee door ho jaegee lekin vah saarthak kabhee ho paegee jab usamen aap koee apana naam jodakar ke aage badhenge to hamesha apana em banaen apana gol banaaya kya aap acheev karana chaahate hain main jeevan mein pahale se aapako pata hona chaahie tabhee usee tarah se mein aap kaary karen tatpashchaat hee aapako vahaan par saphalata milegee meree shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
1:34
प्रश्न है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए देखी जो स्टूडेंट होते हैं उसका उनका बहुत सारा एवं होता है जब हम स्कूल में पढ़ते थे तो हमको जब पूछते थे तुम बड़े होकर क्या बनोगे तो हमारा बहुत सारे होता था कौन कह रहा था कि मैं डॉक्टर बनूंगा कोई कह रहा था कि मैं इंजीनियर बन का कोई कह रहा था कि मैं पॉलिटिशन बनूंगा कोई कहता था कि मैं फार्मर बनूंगा सबका सबका होता था जब हम बड़े होते गए तो हमारा एमबी चेंज होता गया इसीलिए जो और स्टूडेंट होते हैं उनका आगे ब्राइट फ्यूचर होता है तो हमको बहुत ही कठिन परिश्रम करना पड़ता है आगे बढ़ने के लिए हमारे माता-पिता का ड्रीम्स पूरा करने के लिए हमको बहुत परिश्रम करना चाहिए हम जो भी लाइन शूज करेंगे क्या हमारे साथ प्ले कि आप माता-पिता चाहते हैं कि मेरा बेटा यह बने वह बने तो उनकी पूरा करने के लिए हमको पढ़ाई में कम सेट करना है अगर आप ध्यान से पढ़ाई में देंगे और आप आपके सपने के और आपकी ड्रीम के और आगे बढ़ते जाएंगे तो देखिए आप जरूर आपके तक पहुंच जाएंगे बस भगवान का आशीर्वाद हो और माता-पिता का आशीर्वाद हो तो तुम जरुर सफल बन जाओगे
Prashn hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie dekhee jo stoodent hote hain usaka unaka bahut saara evan hota hai jab ham skool mein padhate the to hamako jab poochhate the tum bade hokar kya banoge to hamaara bahut saare hota tha kaun kah raha tha ki main doktar banoonga koee kah raha tha ki main injeeniyar ban ka koee kah raha tha ki main politishan banoonga koee kahata tha ki main phaarmar banoonga sabaka sabaka hota tha jab ham bade hote gae to hamaara emabee chenj hota gaya iseelie jo aur stoodent hote hain unaka aage brait phyoochar hota hai to hamako bahut hee kathin parishram karana padata hai aage badhane ke lie hamaare maata-pita ka dreems poora karane ke lie hamako bahut parishram karana chaahie ham jo bhee lain shooj karenge kya hamaare saath ple ki aap maata-pita chaahate hain ki mera beta yah bane vah bane to unakee poora karane ke lie hamako padhaee mein kam set karana hai agar aap dhyaan se padhaee mein denge aur aap aapake sapane ke aur aapakee dreem ke aur aage badhate jaenge to dekhie aap jaroor aapake tak pahunch jaenge bas bhagavaan ka aasheervaad ho aur maata-pita ka aasheervaad ho to tum jarur saphal ban jaoge

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
4:07
समिति बनने के लिए विद्यार्थियों को कुछ बातें जरूर इंप्रूव करनी चाहिए उनको शुरू से ही ध्यान देना चाहिए नंबर एक तो अब्राहिम लिंकन ने कहा उस बात को ध्यान रखें कि टाइम इज वैरी प्रेशियस फॉरेन समय मानव के लिए सबसे बेशकीमती चीज होता है इसलिए समय का सदुपयोग करना सीखें एक-एक मिनट का सदुपयोग करें मन लगाकर के अध्ययन करें वेस्ट पार्टीशन उचित करें बेस्टएलिटी प्राप्त करें गुड कैरियर बनाएं और टीचर का निर्माण नंबर दो आपको कभी भी पक्ष से नहीं जी चुराना है परिश्रम जितना आप करेंगे जितना अपने सीखने की ललक होगी उतना आप आगे बढ़ेंगे जितना आप अपने आप पर पूर्ण मान लेंगे कि मैं सरपंच हो गया हो गया हूं उतना ही आप पीछे रह जाएंगे उतने ही आप कमजोर रह जाएंगे तो नंबर तीन नंबर तीन होना चाहिए आज विद्यार्थियों को हमेशा अच्छी संगति रखनी चाहिए बेड संगति के कारण कुतुब लगती है गंदी आदतें लगती है जैसे जर्दा शराब ड्रग्स गंदी फिल्मों का देखना यह सब बंदे जो कुकर्म है वह बर्बादी की ओर ले जाते हैं जो आज चटा दी यह सब गलत संगत ओं के कारण जाते हैं इसलिए विद्यार्थियों को ब्रेड कंपनी त्याग नहीं है गंदी फिल्म वादी के चक्कर में ना पड़ें ना आप मोबाइल आधी से ज्यादा चूसते रहें क्योंकि यह सब आप को बर्बादी की ओर ले जाएंगे बदली जितनी हो सके अच्छी संगत करें क्या कम दोस्तों को लेकर अच्छे दोस्तों नंबर 4 जो भी साहित्य पढ़े हैं आप वह अच्छा बड़े अच्छे लिखो को कपड़े प्रसिद्ध लिखो को कपड़े और जितनी अच्छी बुक से आप पढ़ेंगे जितनी अच्छी तैयारी करेंगे जितनी महापुरुषों की जीवनी पड़ेंगे जितनी राष्ट्र की जीवनी पड़ेंगे जितना सफल लोगों की जिंदगियों पड़ेंगे जैसे आपको पढ़ना चाहिए डॉक्टर कलाम साहब की जीवनी पढ़नी चाहिए मदर टेरेसा की जीवनी पढ़नी चाहिए लाल बहादुर शास्त्री पढ़नी चाहिए आपको मदन मोहन मालवीय की जीवनी अपने आप ऐसे महान भक्तों की जन से का राजा सुभाष चंद्र बोस राजगुरु सुखदेव राम प्रसाद बिस्मिल बिस्मिल सरदार भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद ऐसे लोगों की जीवनी अपने आप यह आपको कुछ करने के लिए प्रेरित करेंगी महान बनाएंगे टाटा बिरला जैसे महान लोगों की भी जीवनी अपने क्योंकि इन्होंने पर को कभी छोटा नहीं समझा उन्होंने बॉटम से कितना संघर्ष किया जब संघर्ष करके यह बटन से टॉप पर पहुंचे हैं कितना परिश्रम किया है कितना पसीना बहा है वह सब हमको पढ़ना चाहिए समझना चाहिए हर आदमी ब्रिटिश एक साथ में टॉप पर पैदा नहीं पहुंच सकता है आप सोचोगे हर आदमी तो संसार में इतना भाग्यवान नहीं है जैसे राहुल गांधी जी हैं वह सोने की चम्मच लेकर के पैदा हुए हैं और जन्म के साथ नहीं यार अब पति हैं और अब भी हर पति हैं तो हर आदमी इतना नहीं है हर आदमी को आम आदमी को जीवन जीने के लिए बहुत संघर्ष करना होता है तो बेटी इसलिए सफल लोगों की जीवनी अपने महान लोगों की विचारों को जाने और तो मैं सोच रहा हूं शायद आप निश्चित रूप से जीवन में सफलता प्राप्त करेंगे प्रति हमेशा पॉजिटिव विचार रखना दूसरों की सेवा संहिता का विश्वास रखना दूसरों की सेवा सहायता करना ज्यादा संबंधित ना बन सके दूसरों की जितनी आप सेवा करेंगे अच्छा उसके अच्छे फल मिलेंगे क्योंकि कर भला तो हो भला और कर भला तो हो भला यदि आप नेगेटिव विचार रखेंगे दूसरों को बर्बाद करने की इस बारे में सोचेंगे दूसरों की बुराइयां करेंगे तो आप गंदगी मौलस तो चले जाएंगे विद्यार्थियों को इन सब से दूर रहना चाहिए
Samiti banane ke lie vidyaarthiyon ko kuchh baaten jaroor improov karanee chaahie unako shuroo se hee dhyaan dena chaahie nambar ek to abraahim linkan ne kaha us baat ko dhyaan rakhen ki taim ij vairee preshiyas phoren samay maanav ke lie sabase beshakeematee cheej hota hai isalie samay ka sadupayog karana seekhen ek-ek minat ka sadupayog karen man lagaakar ke adhyayan karen vest paarteeshan uchit karen bestelitee praapt karen gud kairiyar banaen aur teechar ka nirmaan nambar do aapako kabhee bhee paksh se nahin jee churaana hai parishram jitana aap karenge jitana apane seekhane kee lalak hogee utana aap aage badhenge jitana aap apane aap par poorn maan lenge ki main sarapanch ho gaya ho gaya hoon utana hee aap peechhe rah jaenge utane hee aap kamajor rah jaenge to nambar teen nambar teen hona chaahie aaj vidyaarthiyon ko hamesha achchhee sangati rakhanee chaahie bed sangati ke kaaran kutub lagatee hai gandee aadaten lagatee hai jaise jarda sharaab drags gandee philmon ka dekhana yah sab bande jo kukarm hai vah barbaadee kee or le jaate hain jo aaj chata dee yah sab galat sangat on ke kaaran jaate hain isalie vidyaarthiyon ko bred kampanee tyaag nahin hai gandee philm vaadee ke chakkar mein na paden na aap mobail aadhee se jyaada choosate rahen kyonki yah sab aap ko barbaadee kee or le jaenge badalee jitanee ho sake achchhee sangat karen kya kam doston ko lekar achchhe doston nambar 4 jo bhee saahity padhe hain aap vah achchha bade achchhe likho ko kapade prasiddh likho ko kapade aur jitanee achchhee buk se aap padhenge jitanee achchhee taiyaaree karenge jitanee mahaapurushon kee jeevanee padenge jitanee raashtr kee jeevanee padenge jitana saphal logon kee jindagiyon padenge jaise aapako padhana chaahie doktar kalaam saahab kee jeevanee padhanee chaahie madar teresa kee jeevanee padhanee chaahie laal bahaadur shaastree padhanee chaahie aapako madan mohan maalaveey kee jeevanee apane aap aise mahaan bhakton kee jan se ka raaja subhaash chandr bos raajaguru sukhadev raam prasaad bismil bismil saradaar bhagat sinh chandrashekhar aajaad aise logon kee jeevanee apane aap yah aapako kuchh karane ke lie prerit karengee mahaan banaenge taata birala jaise mahaan logon kee bhee jeevanee apane kyonki inhonne par ko kabhee chhota nahin samajha unhonne botam se kitana sangharsh kiya jab sangharsh karake yah batan se top par pahunche hain kitana parishram kiya hai kitana paseena baha hai vah sab hamako padhana chaahie samajhana chaahie har aadamee british ek saath mein top par paida nahin pahunch sakata hai aap sochoge har aadamee to sansaar mein itana bhaagyavaan nahin hai jaise raahul gaandhee jee hain vah sone kee chammach lekar ke paida hue hain aur janm ke saath nahin yaar ab pati hain aur ab bhee har pati hain to har aadamee itana nahin hai har aadamee ko aam aadamee ko jeevan jeene ke lie bahut sangharsh karana hota hai to betee isalie saphal logon kee jeevanee apane mahaan logon kee vichaaron ko jaane aur to main soch raha hoon shaayad aap nishchit roop se jeevan mein saphalata praapt karenge prati hamesha pojitiv vichaar rakhana doosaron kee seva sanhita ka vishvaas rakhana doosaron kee seva sahaayata karana jyaada sambandhit na ban sake doosaron kee jitanee aap seva karenge achchha usake achchhe phal milenge kyonki kar bhala to ho bhala aur kar bhala to ho bhala yadi aap negetiv vichaar rakhenge doosaron ko barbaad karane kee is baare mein sochenge doosaron kee buraiyaan karenge to aap gandagee maulas to chale jaenge vidyaarthiyon ko in sab se door rahana chaahie

Dinesh Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Ji
2:27
सवाल पूछा गया है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थी को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए तो सवाल करता कुछ जवाब देने से पहले बता दें कि सफल होना इसमें भी दो नजरी होते हैं एक तो सफल वह होता है जो की बहुत ही अच्छी कमाई कर रहा हो टनाटन वाली अरे दूसरा सफल इंसान वह होता है जो सबके दिल भी जीते रहो और एक नॉर्मल लाइफ जी रहा हो तो मैं फिलहाल पैसों के ऊपर ध्यान ना दे कर एक अच्छे कैरियर वाले चीजों को ना ध्यान देकर वह आपके विषय है आपके आपको किस चीज में इंटरेस्ट है आपका कैरियर उसी दिन में बन जाएगा परंतु जो दूसरी कैटेगरी है मैं उसके लिए मैं दो-तीन टिप्स बता देता हूं आपको कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए तू झुक कर क्या चीज है कि बाकी लोग तो यही बोलेंगे कि चलो पढ़ाई में ध्यान दो परंतु सबसे मेन इंपॉर्टेंट बात की है कि आप अपने बड़ों से अपने जो पूर्वज हमने जो मां-बाप हैं आपने जो बड़े भाई बहन हैं घर में परिवार में चाचा चाची और जो भी हैं दादा-दादी उन सब के आशीर्वाद देना शुरू कर दें आप खुद न मांगे तो आगे बढ़ते जाएंगे क्योंकि जो आगे बढ़ता है वह हमेशा झुका हुआ होता है नमा हुआ होता है इसलिए आप उन सब के आशीर्वाद लेना शुरू कर दीजिए उनकी दुआएं लेना शुरू कर दीजिए उनकी मदद करना शुरू कर दीजिए यहां तक की सड़क पर अगर आपकी इच्छा अनुसार आपकी शक्ति अनुसार सड़क पर गाय कुत्ते या कोई भी गरीब मिले तो अपनी शक्ति अनुसार उनकी मदद कीजिए और उनका साथ दीजिए दूसरी बात जो नहीं करनी है अपनी वाणी को विश्राम दें और अपनी वाणी से किसी का भी दुख ना हो इंसान हो यह जरूर ध्यान रखें हमारे शब्द से किसी का भी दिल ना दुखे खास करके मां-बाप का उम्मीद करता हूं पसंद आया होगा मेरा ही जवाब धन्यवाद
Savaal poochha gaya hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthee ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie to savaal karata kuchh javaab dene se pahale bata den ki saphal hona isamen bhee do najaree hote hain ek to saphal vah hota hai jo kee bahut hee achchhee kamaee kar raha ho tanaatan vaalee are doosara saphal insaan vah hota hai jo sabake dil bhee jeete raho aur ek normal laiph jee raha ho to main philahaal paison ke oopar dhyaan na de kar ek achchhe kairiyar vaale cheejon ko na dhyaan dekar vah aapake vishay hai aapake aapako kis cheej mein intarest hai aapaka kairiyar usee din mein ban jaega parantu jo doosaree kaitegaree hai main usake lie main do-teen tips bata deta hoon aapako ki kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie too jhuk kar kya cheej hai ki baakee log to yahee bolenge ki chalo padhaee mein dhyaan do parantu sabase men importent baat kee hai ki aap apane badon se apane jo poorvaj hamane jo maan-baap hain aapane jo bade bhaee bahan hain ghar mein parivaar mein chaacha chaachee aur jo bhee hain daada-daadee un sab ke aasheervaad dena shuroo kar den aap khud na maange to aage badhate jaenge kyonki jo aage badhata hai vah hamesha jhuka hua hota hai nama hua hota hai isalie aap un sab ke aasheervaad lena shuroo kar deejie unakee duaen lena shuroo kar deejie unakee madad karana shuroo kar deejie yahaan tak kee sadak par agar aapakee ichchha anusaar aapakee shakti anusaar sadak par gaay kutte ya koee bhee gareeb mile to apanee shakti anusaar unakee madad keejie aur unaka saath deejie doosaree baat jo nahin karanee hai apanee vaanee ko vishraam den aur apanee vaanee se kisee ka bhee dukh na ho insaan ho yah jaroor dhyaan rakhen hamaare shabd se kisee ka bhee dil na dukhe khaas karake maan-baap ka ummeed karata hoon pasand aaya hoga mera hee javaab dhanyavaad

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:21
वाले की सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए एक सफल व्यक्ति बनने के लिए हर हमेशा आपको अपनी चीजों को प्रॉपर्ली प्री प्लान करना चाहिए और उसी तरीके से अपने प्लांट को एकदम क्यूट करना चाहिए जिससे कि सभी कार्य आपके समय पर सुचारू रूप से पूर्ण हो पाए कभी भी आज का काम कर पर नहीं छोड़ना चाहिए आपका दिन शुभ रहे थे नेपाल
Vaale kee saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie ek saphal vyakti banane ke lie har hamesha aapako apanee cheejon ko proparlee pree plaan karana chaahie aur usee tareeke se apane plaant ko ekadam kyoot karana chaahie jisase ki sabhee kaary aapake samay par suchaaroo roop se poorn ho pae kabhee bhee aaj ka kaam kar par nahin chhodana chaahie aapaka din shubh rahe the nepaal

Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
5:42
लेकिन सफलता कल आती है आगे आती है बाद में मिलते हैं उससे पहले हमें सफलता के लिए काम करना होता है जवाब अपने आप को एक विद्यार्थी बोलते हो तो विद्यार्थी का जीवन में होता है जहां पर उसका ध्यान पूरा पढ़ाई पर केंद्रित होना चाहिए स्टूडेंट लाइफ जिसे हम कहते हैं क्योंकि अगर उसने उस समय किसी और चीज पर ध्यान दिया या पढ़ाई पर ध्यान नहीं दिया तो फिर कहानी कुछ और हो सकती है जाने को इस दिशा में वह बच्चा किसी और दिशा में या फिर दिशाहीन हो सकता है तो सफलता कहां से मिलेगी जब हम विद्यार्थी जीवन की बात करते हैं तो उसमें और भी कई सारी चीजें आती है सिर्फ पढ़ाई नहीं होती अगर किसी विद्यार्थी में देखे विद्यार्थी जीवन का मतलब यह कि बुश अवस्था में है जहां पर पढ़ाई लिखाई कंकर नहीं होती अब हम 40 साल के व्यक्ति को विद्यार्थी तो नहीं बोलेंगे ना तो वही विद्यार्थी जीवन बहुत है जब एक बच्चा स्कूल जाने लगता है कॉलेज में होता यह वाला समय होता है टाइम वह जीवन होता है जब उस स्कूल में होता है यह समय वह भी होता है जब बच्चों को अपनी रुचि का पता पता लगता है एहसास होता है कि मेरे अंदर यह टैलेंट है या यह खूबी है या फिर मैं इस प्रोफेशन का एसएसटी में जाना चाहता हूं इस का चुनाव करना चाहता हूं यह मुझे करना बड़ा अच्छा लगता है इसी को मैं अपना प्रोफेशन बनाना चाहता हूं यह सारी भी बातें वहां पर हो ठीक है कल डेवलपमेंट की भी बात होती है अपनी कॉन्फिडेंस इसको अपने टैलेंट को एनहांस करने की बात होती है तो बहुत सारी बातें होती है तो विद्यार्थी जीवन तो वह दिन बंद होता है जहां पर एक एक विद्यार्थी को या उस उस बच्चे को अपने ऊपर काम करना होता है देश या कोई भी हो अगर उसने यह चयन कर लिया कि नहीं मेरे को एक क्रिकेटर बनना है मेरे को एक्सपोज पर्सन बनना है या फिर मेरे को एक डॉक्टर इंजीनियर आर्किटेक्ट कुछ भी बनना है या इमो सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन रहा है जब बनना है या फिर उसको पता लगता है कि मेरी रुचि हीरो एक्टिंग की तरफ ज्यादा है डांस की तरफ ज्यादा है मुझे उस पर ध्यान देना है तो यह उनके ऊपर है कि वह उस पर कैसे आया तब से ध्यान देते हैं कितना ध्यान देते हैं कितना कमिटमेंट के साथ लगे रहते हैं तभी जाकर सफलता मिलती है तो यह जीवन वह भी होता है या यह समय वह भी होता है जिससे मैं आपको आभास अगर हो जाए यहां आपने अगर थोड़ा सा ध्यान दिया और आपको पता लग जाए कि नहीं मुझे यह करना है यहां जाना है थोड़ा सा फोकस जानेंगे और कमिटमेंट के साथ लगे रहेंगे तो डेफिनेटली चांसेस हैं कि आप बहुत अच्छा कर जाएं उस फिल्म में उस तलाई का उत्सव लाइन में तो जब हम विद्यार्थियों के सफल व्यक्ति बनने की बात करें तो भी बड़ी सिंपल सी बात आगे भविष्य में कुछ नहीं करना होता आज हम कुछ करेंगे तब जाकर आगे हमें कुछ मिलेगा लेकिन आज अगर हम किसी और डायरेक्शन में कुछ करेंगे और चाहेंगे रिजल्ट किसी और डायरेक्शन में आए तो अभी नहीं होता है जो हमने आज निर्धारित किया अगर उसी को पकड़ कर बैठ जाए उसी को पकड़कर अपना प्रयत्न करते रहे हैं उसी में झोंक दे अपने आप को तो सफलता जरूर मिलती है तो सबसे पहली बात यह आती है विद्यार्थी जीवन में कि वह क्लेरिटी होनी चाहिए कि मैं करना क्या चाहता हूं यह मेरा जीवन है बहुत बहुमूल्य जीवन है समय है अभी अभियान चुनाव कर सकते हैं तो आप चेक कीजिए कि आप क्या कहना चाहते हैं कहां जाना चाहते हैं क्या बनना चाहते हैं क्या उपलब्धि हासिल करना चाहते हैं आपको अगर निर्धारित कर लेते हैं तो निश्चित कर लेते हैं तो आप तो काफी हद तक पता लग जाता है कि वह मेरा गोल यह धागे चाहिए क्योंकि अधिकतर लोग का दिक्कत यही होता है कि पता ही नहीं चलता कि करें क्या कोई कुछ बोलता है तो कह ध्यान उधर जाते हैं 2 दिन सुबह ध्यान यहां रहता है शाम को कुछ और होता है या फिर ध्यान होता ही नहीं है वगैरा-वगैरा बहुत सारी बातें तो सबसे पहले क्लेरिटी होना बहुत जरूरी है जब क्लेरिटी जाती है तो मतलब बोलते हो गया ताकि सुनिश्चित कर लिया आपने उसके बाद काम करना होता है अपने ऊपर की भाई अब उसको पाने के लिए मुझे क्या-क्या करने की जरूरत है मुझे क्या सीखना है क्या पढ़ना है कितना समय लगाना है कहां से क्या रिसोर्ट की मदद लेनी है किताब लेनी है ऑडियो देखना है वीडियो देखना है लेक्चर सुनना है ट्यूशन करना है जो करना है वो सब कुछ करना होगा दिन प्रतिदिन करना होगा हमेशा करते रहना होगा तब तक जब तक आपको आपकी मंजिल नहीं मिल जाते आपने देखा होगा ओलंपिक 4 साल में आते हैं और पूरे 4 साल तक एक ओलंपिक के उस 2 मीटर रेस के लिए बहुत प्रयास करते हैं पता नहीं कितने हजार किलोमीटर बहुत दौड़ गया होता है एक्सरसाइज करता है डाइट पर ध्यान देता है बहुत सारी चीजें करता है ताकि जब ओलंपिक की रेस में वह खड़ा हो तो वह बिजाई हो इसी तरह जैसे हम जानते हैं कि मैं जब बोर्ड एग्जाम आता है तो बच्चे तैयारी कर बोर्ड एग्जाम की तैयारी बोर्ड एग्जाम से 1 महीने पहले तो होती नहीं है वह तो पहले से होती है किसी को आयटीआय में जाना है तो भाई ऐसा तो होता नहीं कि भाई चलो 12th पास करके हमने 2 घंटे 2 महीने जब घर पर रहेंगे तब हम प्रैक्टिस कर लेंगे जी नहीं ऐसा नहीं होता उनकी तैयारी तो क्लास 8:00 से 7:00 से शुरू हो जाती है तभी तो जाकर वह पूरा कर पाते हैं तो क्या पता होता है ना कि किस लाइन में जाने क्या करना है तो इस तरीके का अगर आप हिसाब किताब बिठा लेते हैं और लगे रहते हैं तो सफलता जरूर मिलेगी और सफलता मिलने के चांसेस बढ़ जाते हैं बढ़ते रहते हैं आपके प्रयास से अभ्यास से
Lekin saphalata kal aatee hai aage aatee hai baad mein milate hain usase pahale hamen saphalata ke lie kaam karana hota hai javaab apane aap ko ek vidyaarthee bolate ho to vidyaarthee ka jeevan mein hota hai jahaan par usaka dhyaan poora padhaee par kendrit hona chaahie stoodent laiph jise ham kahate hain kyonki agar usane us samay kisee aur cheej par dhyaan diya ya padhaee par dhyaan nahin diya to phir kahaanee kuchh aur ho sakatee hai jaane ko is disha mein vah bachcha kisee aur disha mein ya phir dishaaheen ho sakata hai to saphalata kahaan se milegee jab ham vidyaarthee jeevan kee baat karate hain to usamen aur bhee kaee saaree cheejen aatee hai sirph padhaee nahin hotee agar kisee vidyaarthee mein dekhe vidyaarthee jeevan ka matalab yah ki bush avastha mein hai jahaan par padhaee likhaee kankar nahin hotee ab ham 40 saal ke vyakti ko vidyaarthee to nahin bolenge na to vahee vidyaarthee jeevan bahut hai jab ek bachcha skool jaane lagata hai kolej mein hota yah vaala samay hota hai taim vah jeevan hota hai jab us skool mein hota hai yah samay vah bhee hota hai jab bachchon ko apanee ruchi ka pata pata lagata hai ehasaas hota hai ki mere andar yah tailent hai ya yah khoobee hai ya phir main is propheshan ka esesatee mein jaana chaahata hoon is ka chunaav karana chaahata hoon yah mujhe karana bada achchha lagata hai isee ko main apana propheshan banaana chaahata hoon yah saaree bhee baaten vahaan par ho theek hai kal devalapament kee bhee baat hotee hai apanee konphidens isako apane tailent ko enahaans karane kee baat hotee hai to bahut saaree baaten hotee hai to vidyaarthee jeevan to vah din band hota hai jahaan par ek ek vidyaarthee ko ya us us bachche ko apane oopar kaam karana hota hai desh ya koee bhee ho agar usane yah chayan kar liya ki nahin mere ko ek kriketar banana hai mere ko eksapoj parsan banana hai ya phir mere ko ek doktar injeeniyar aarkitekt kuchh bhee banana hai ya imo sophtaveyar injeeniyar ban raha hai jab banana hai ya phir usako pata lagata hai ki meree ruchi heero ekting kee taraph jyaada hai daans kee taraph jyaada hai mujhe us par dhyaan dena hai to yah unake oopar hai ki vah us par kaise aaya tab se dhyaan dete hain kitana dhyaan dete hain kitana kamitament ke saath lage rahate hain tabhee jaakar saphalata milatee hai to yah jeevan vah bhee hota hai ya yah samay vah bhee hota hai jisase main aapako aabhaas agar ho jae yahaan aapane agar thoda sa dhyaan diya aur aapako pata lag jae ki nahin mujhe yah karana hai yahaan jaana hai thoda sa phokas jaanenge aur kamitament ke saath lage rahenge to dephinetalee chaanses hain ki aap bahut achchha kar jaen us philm mein us talaee ka utsav lain mein to jab ham vidyaarthiyon ke saphal vyakti banane kee baat karen to bhee badee simpal see baat aage bhavishy mein kuchh nahin karana hota aaj ham kuchh karenge tab jaakar aage hamen kuchh milega lekin aaj agar ham kisee aur daayarekshan mein kuchh karenge aur chaahenge rijalt kisee aur daayarekshan mein aae to abhee nahin hota hai jo hamane aaj nirdhaarit kiya agar usee ko pakad kar baith jae usee ko pakadakar apana prayatn karate rahe hain usee mein jhonk de apane aap ko to saphalata jaroor milatee hai to sabase pahalee baat yah aatee hai vidyaarthee jeevan mein ki vah kleritee honee chaahie ki main karana kya chaahata hoon yah mera jeevan hai bahut bahumooly jeevan hai samay hai abhee abhiyaan chunaav kar sakate hain to aap chek keejie ki aap kya kahana chaahate hain kahaan jaana chaahate hain kya banana chaahate hain kya upalabdhi haasil karana chaahate hain aapako agar nirdhaarit kar lete hain to nishchit kar lete hain to aap to kaaphee had tak pata lag jaata hai ki vah mera gol yah dhaage chaahie kyonki adhikatar log ka dikkat yahee hota hai ki pata hee nahin chalata ki karen kya koee kuchh bolata hai to kah dhyaan udhar jaate hain 2 din subah dhyaan yahaan rahata hai shaam ko kuchh aur hota hai ya phir dhyaan hota hee nahin hai vagaira-vagaira bahut saaree baaten to sabase pahale kleritee hona bahut jarooree hai jab kleritee jaatee hai to matalab bolate ho gaya taaki sunishchit kar liya aapane usake baad kaam karana hota hai apane oopar kee bhaee ab usako paane ke lie mujhe kya-kya karane kee jaroorat hai mujhe kya seekhana hai kya padhana hai kitana samay lagaana hai kahaan se kya risort kee madad lenee hai kitaab lenee hai odiyo dekhana hai veediyo dekhana hai lekchar sunana hai tyooshan karana hai jo karana hai vo sab kuchh karana hoga din pratidin karana hoga hamesha karate rahana hoga tab tak jab tak aapako aapakee manjil nahin mil jaate aapane dekha hoga olampik 4 saal mein aate hain aur poore 4 saal tak ek olampik ke us 2 meetar res ke lie bahut prayaas karate hain pata nahin kitane hajaar kilomeetar bahut daud gaya hota hai eksarasaij karata hai dait par dhyaan deta hai bahut saaree cheejen karata hai taaki jab olampik kee res mein vah khada ho to vah bijaee ho isee tarah jaise ham jaanate hain ki main jab bord egjaam aata hai to bachche taiyaaree kar bord egjaam kee taiyaaree bord egjaam se 1 maheene pahale to hotee nahin hai vah to pahale se hotee hai kisee ko aayateeaay mein jaana hai to bhaee aisa to hota nahin ki bhaee chalo 12th paas karake hamane 2 ghante 2 maheene jab ghar par rahenge tab ham praiktis kar lenge jee nahin aisa nahin hota unakee taiyaaree to klaas 8:00 se 7:00 se shuroo ho jaatee hai tabhee to jaakar vah poora kar paate hain to kya pata hota hai na ki kis lain mein jaane kya karana hai to is tareeke ka agar aap hisaab kitaab bitha lete hain aur lage rahate hain to saphalata jaroor milegee aur saphalata milane ke chaanses badh jaate hain badhate rahate hain aapake prayaas se abhyaas se

vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:39
चलिए पहले इनका प्रश्न देखते हैं उसके बाद विस्तारपूर्वक उत्तर देने की कोशिश करेंगे चलिए प्रश्न है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या-क्या करना चाहिए और क्या नहीं रिमिक्स अपनी वाली तो मेहनत करनी पड़ेगी बहुत अच्छे मेहनत करेगा दिल्ली अपना काम करेगा दिल्ली मदारिस पढ़ाई करेगा अगर करेगा तो सफल होगा और उसे कोई नहीं होता मैंने कहा ना मैं स्टडी करती रहना
Chalie pahale inaka prashn dekhate hain usake baad vistaarapoorvak uttar dene kee koshish karenge chalie prashn hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya-kya karana chaahie aur kya nahin rimiks apanee vaalee to mehanat karanee padegee bahut achchhe mehanat karega dillee apana kaam karega dillee madaaris padhaee karega agar karega to saphal hoga aur use koee nahin hota mainne kaha na main stadee karatee rahana

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
3:08
नमस्कार दोस्तों प्रश्न एक एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए तो दोस्तों यह प्रश्न यह है कि विद्यार्थी किस आयु का वर्क का है क्योंकि ऐसा प्रश्न का उत्तर देना उस विद्यार्थी के लिए काफी जल्दी होती है कि बहुत सारी जीवन में उतार चढ़ाव भी आते रहते हैं लेकिन इसमें एक मूल बात यह है कि विद्यार्थी को एक तो कुछ चीजों से दूर रहना चाहिए क्योंकि उम्र के हिसाब से वह आकर्षित भी होता है उससे और उसमें क्योंकि काफी हारमोंस बदलाव आते रहते हैं उसमें वह कई बार गलत कदम भी उठा लेता है गलत दिशा की तरफ भी चला जाता है जैसे कि मादक पदार्थों का सेवन करना बहुत सारे जैसे बच्चे हैं उनमें जिज्ञासा रहती है उनको इसके बारे में ज्यादा नहीं पता रहता है दोस्ती राय सिगरेट दोस्त कोई शराब पी रहा है वह कश्मीर में क्योंकि वह यंगब्लड होते हैं उन्हें जो उसकी जरूरत होती है तो उन्हें गलत सही नहीं पता होता और इसके शुरु शुरु में तो कैसे पीते हैं फिर उसके आदी हो जाते हैं फिर दूसरा एक यह है कि कई लोग जो है जिसकी तरफ बच्चे बन जाते हार्मोन चेंज हो जाते हैं चाहे लड़का हो लड़की हो वह इसमें एक क्या निकाला परिपक्वता नहीं होती है हो सकता है स्वाद में बहुत अच्छा लगे यह चीजें लेकिन आगे नुकसानदायक करती है दही किस से दूर रहना चाहिए जब उम्र आ जाए एक परिपक्वता आ जाए तब क्या कदम उठाने चाहिए और उसको नई-नई विधियों के बारे में टेक्नॉलॉजी के बारे में अपडेट रहना चाहिए और सफलता असफलता बस दोस्तों पढ़ाई के ऊपर निर्भर नहीं करती है पढ़ाई मैंने देखा है बहुत सारे धुरंधर पढ़ाई वाले बच्चे बाद में असफल हुए हैं और जो कम पढ़े लिखे बंदे हैं वह सफल हुए हैं और सफलता के पीछे कई चीजें भी मायने रखती है कईयों के पिता काफी पूंजीपति होते पूंजी लगा देते हैं बच्चों को सफल करा देते हैं जो कम पढ़ा लिखा भी होता है कई बार ऐसा होता है बच्चा संघर्ष कर रहा होता है आजकल के आरक्षण की दुनिया में उसके पास पीछे बैकअप नहीं होता है वह नहीं जो पाता है फॉर एग्जांपल के तौर पर मैं आपको बताना चाहता हूं कि एक डॉक्टर है वीडियोस करके आया है उसके पिताजी ने एक करोड़ पर का क्लीनिक खुलवा दिया टेक्नोलॉजी हाई-फाई करा दी तो बच्चा डॉक्टर सफल हो जाता है और थोड़ा सा उसका हाथ साफ है तो दूसरा बहुत ही अच्छा है लेकिन उसके पास फोन ही नहीं है इतनी व संघर्ष करके आया तो किसी हॉस्पिटल में नौकरी करता है किसी अंडर में करता हो सकता है कि हम उसे सफलता माने अपना क्लीनिक खोले हो सकता है किसी समय 10 से 20 साल लग जाएं ऐसे बहुत सारे व्यवसाय हैं बहुत सारे ऐसे पैसे हैं जिसमें कि कई बार बहुत सी चीजों का योगदान होना जरूरी होता है चाहे वह कोई नौकरी हो चाय व्यवसाय हो कई बार नौकरी जान पहचान से अच्छे पद पर लग जाता है तो हम उसे सफल मारने लग जाते हैं ऐसा नहीं है दोस्तों कई बार संघर्ष जो जितने कुछ नहीं है वह संघर्ष करके आया उसे सफल माना जाता है लेकिन जो टीवी पर दिखता है या अप्रत्यक्ष जो है लोगों द्वारा बोला जाता है या बताया जाता है हम उसे सफलता मान लेते हैं लेकिन असली में उसे पता होता है कि मैं सफल हूं या नहीं तो कई चीजें मायने रखती है सफलता असफलता में लेकिन बहुत सारी चीजों को ध्यान रखना चाहिए जैसा मैंने बताया आपको धन्यवाद
Namaskaar doston prashn ek ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie to doston yah prashn yah hai ki vidyaarthee kis aayu ka vark ka hai kyonki aisa prashn ka uttar dena us vidyaarthee ke lie kaaphee jaldee hotee hai ki bahut saaree jeevan mein utaar chadhaav bhee aate rahate hain lekin isamen ek mool baat yah hai ki vidyaarthee ko ek to kuchh cheejon se door rahana chaahie kyonki umr ke hisaab se vah aakarshit bhee hota hai usase aur usamen kyonki kaaphee haaramons badalaav aate rahate hain usamen vah kaee baar galat kadam bhee utha leta hai galat disha kee taraph bhee chala jaata hai jaise ki maadak padaarthon ka sevan karana bahut saare jaise bachche hain unamen jigyaasa rahatee hai unako isake baare mein jyaada nahin pata rahata hai dostee raay sigaret dost koee sharaab pee raha hai vah kashmeer mein kyonki vah yangablad hote hain unhen jo usakee jaroorat hotee hai to unhen galat sahee nahin pata hota aur isake shuru shuru mein to kaise peete hain phir usake aadee ho jaate hain phir doosara ek yah hai ki kaee log jo hai jisakee taraph bachche ban jaate haarmon chenj ho jaate hain chaahe ladaka ho ladakee ho vah isamen ek kya nikaala paripakvata nahin hotee hai ho sakata hai svaad mein bahut achchha lage yah cheejen lekin aage nukasaanadaayak karatee hai dahee kis se door rahana chaahie jab umr aa jae ek paripakvata aa jae tab kya kadam uthaane chaahie aur usako naee-naee vidhiyon ke baare mein teknolojee ke baare mein apadet rahana chaahie aur saphalata asaphalata bas doston padhaee ke oopar nirbhar nahin karatee hai padhaee mainne dekha hai bahut saare dhurandhar padhaee vaale bachche baad mein asaphal hue hain aur jo kam padhe likhe bande hain vah saphal hue hain aur saphalata ke peechhe kaee cheejen bhee maayane rakhatee hai kaeeyon ke pita kaaphee poonjeepati hote poonjee laga dete hain bachchon ko saphal kara dete hain jo kam padha likha bhee hota hai kaee baar aisa hota hai bachcha sangharsh kar raha hota hai aajakal ke aarakshan kee duniya mein usake paas peechhe baikap nahin hota hai vah nahin jo paata hai phor egjaampal ke taur par main aapako bataana chaahata hoon ki ek doktar hai veediyos karake aaya hai usake pitaajee ne ek karod par ka kleenik khulava diya teknolojee haee-phaee kara dee to bachcha doktar saphal ho jaata hai aur thoda sa usaka haath saaph hai to doosara bahut hee achchha hai lekin usake paas phon hee nahin hai itanee va sangharsh karake aaya to kisee hospital mein naukaree karata hai kisee andar mein karata ho sakata hai ki ham use saphalata maane apana kleenik khole ho sakata hai kisee samay 10 se 20 saal lag jaen aise bahut saare vyavasaay hain bahut saare aise paise hain jisamen ki kaee baar bahut see cheejon ka yogadaan hona jarooree hota hai chaahe vah koee naukaree ho chaay vyavasaay ho kaee baar naukaree jaan pahachaan se achchhe pad par lag jaata hai to ham use saphal maarane lag jaate hain aisa nahin hai doston kaee baar sangharsh jo jitane kuchh nahin hai vah sangharsh karake aaya use saphal maana jaata hai lekin jo teevee par dikhata hai ya apratyaksh jo hai logon dvaara bola jaata hai ya bataaya jaata hai ham use saphalata maan lete hain lekin asalee mein use pata hota hai ki main saphal hoon ya nahin to kaee cheejen maayane rakhatee hai saphalata asaphalata mein lekin bahut saaree cheejon ko dhyaan rakhana chaahie jaisa mainne bataaya aapako dhanyavaad

Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:51
नमस्कार साथियों एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थी को अपने विद्यार्थी लक्ष्यों को समझना चाहिए जैसे काक चेष्टा बको ध्यानं श्वान निद्रा तथैव च अल्पाहारी गृहम त्यागी विद्यार्थी पंच लक्षण जो विद्यार्थी के पांच लक्षण हैं उनका पालन करना चाहिए पहली बार सबसे दूसरी और मुख्य बातें हैं कि साथियों अपने लक्ष्य को अपनी गोल को बना के रखिए जो लक्ष होता है वही आपको बड़ा आदमी बना सकता है सभी पांचों लक्षण का पालन करते हैं हम मानते हैं आप 10 घंटे 12 घंटे पढ़ते हुए भी मैं मानता हूं लेकिन आपका लंच नहीं है आपको जाना कहां है तो फिर आप पढ़ते जाइए कोई अंत नहीं है पढ़ाई का साथियों आप कोई एक लक्ष्य बनाइए और लक्ष्य के साथ आप काम कीजिए फिर आपको लक्ष मिलेगा आप जो बनना चाहेंगे वह अवश्य बनेंगे आयोग की जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Namaskaar saathiyon ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthee ko apane vidyaarthee lakshyon ko samajhana chaahie jaise kaak cheshta bako dhyaanan shvaan nidra tathaiv ch alpaahaaree grham tyaagee vidyaarthee panch lakshan jo vidyaarthee ke paanch lakshan hain unaka paalan karana chaahie pahalee baar sabase doosaree aur mukhy baaten hain ki saathiyon apane lakshy ko apanee gol ko bana ke rakhie jo laksh hota hai vahee aapako bada aadamee bana sakata hai sabhee paanchon lakshan ka paalan karate hain ham maanate hain aap 10 ghante 12 ghante padhate hue bhee main maanata hoon lekin aapaka lanch nahin hai aapako jaana kahaan hai to phir aap padhate jaie koee ant nahin hai padhaee ka saathiyon aap koee ek lakshy banaie aur lakshy ke saath aap kaam keejie phir aapako laksh milega aap jo banana chaahenge vah avashy banenge aayog kee javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:51
देखिए विद्यार्थी का एक लक्ष्य होता है वह ज्ञान की प्राप्ति पहले तो जीवन का लक्ष्य ज्ञान की प्राप्ति दूसरा एक लक्ष्य होता है जीवन के लिए धन उपार्जन करना अपना एक मतलब व्यक्तित्व को निखारने व्यक्तित्व को निखारने के लिए उसे ज्ञान की भी आवश्यकता पड़ती है और समाज में अपने मान सम्मान को बढ़ाने के लिए और घर परिवार के लिए धन उपार्जन की व्यवस्था पड़ती है वह धन उपार्जन चयन नौकरी के द्वारा करें चाहे व्यवसाय के द्वारा करें चाहे उद्योग के द्वारा करें समाज सेवा के द्वारा करें यह राजनीति के द्वारा करें तो उस हर एक दर्द का एक उद्देश्य होना चाहिए आप क्या बनना चाहते हैं विद्यार्थी एक अपना एक लक्ष्य निर्धारित नहीं करता है तो फिर वह अपने जीवन में कभी सफल नहीं हो सकता है उसको इलेक्शन निर्धारित करना पड़ेगा जो डॉक्टर बनना चाहता है कि निंदर बनना चाहता है कि राजनीति के बनना चाहता है कि कोई उद्योगी और व्यवसाई बनना चाहता तो उसे एक लक्ष्य निर्धारित करना पड़ेगा उसको पूर्ति करने के लिए शुरू से ही प्रयास करने पड़ेंगे अगर व्यवसाय उद्योग करना चाहे तो विश्व व्यवसाय के लिए कौन सा उसके लिए कितनी कैपिटल है कितनी जगह है उसके लिए संसाधन क्या है कहां से लोन मिल सकेगा अगर नौकरी करना है तो उसको 12 से 14 से 16 घंटे उसको तैयारी करनी पड़ेगी और विद्यार्थी के पांच लक्षण होते हैं क्या काक चेष्टा बको ध्यानं श्वान निद्रा अल्पाहारी और गृहस्थी आदि के पांच लक्षण विद्यार्थी के होते हैं और 5 लक्षणों के साथ जब अपने एक उद्देश्य को प्राप्त करता है तो उसे सफलता मिलती है और सफलता का एक ही मंत्र है कि कड़ी मेहनत दूर दृष्टि पक्का इरादा और अनुशासन इन 4 मंत्रों के साथ जो व्यक्ति सफलता के शिखर पर चढ़ना चाहता हूं जरुर सफल होता है और उसका जीवन सार्थक हो जाता है चाहे वह अधिकारी बने या उद्योगी बने हर चीज में उसको सफलता मिलती लेकिन उसका निश्चय दृढ़ होना चाहिए
Dekhie vidyaarthee ka ek lakshy hota hai vah gyaan kee praapti pahale to jeevan ka lakshy gyaan kee praapti doosara ek lakshy hota hai jeevan ke lie dhan upaarjan karana apana ek matalab vyaktitv ko nikhaarane vyaktitv ko nikhaarane ke lie use gyaan kee bhee aavashyakata padatee hai aur samaaj mein apane maan sammaan ko badhaane ke lie aur ghar parivaar ke lie dhan upaarjan kee vyavastha padatee hai vah dhan upaarjan chayan naukaree ke dvaara karen chaahe vyavasaay ke dvaara karen chaahe udyog ke dvaara karen samaaj seva ke dvaara karen yah raajaneeti ke dvaara karen to us har ek dard ka ek uddeshy hona chaahie aap kya banana chaahate hain vidyaarthee ek apana ek lakshy nirdhaarit nahin karata hai to phir vah apane jeevan mein kabhee saphal nahin ho sakata hai usako ilekshan nirdhaarit karana padega jo doktar banana chaahata hai ki nindar banana chaahata hai ki raajaneeti ke banana chaahata hai ki koee udyogee aur vyavasaee banana chaahata to use ek lakshy nirdhaarit karana padega usako poorti karane ke lie shuroo se hee prayaas karane padenge agar vyavasaay udyog karana chaahe to vishv vyavasaay ke lie kaun sa usake lie kitanee kaipital hai kitanee jagah hai usake lie sansaadhan kya hai kahaan se lon mil sakega agar naukaree karana hai to usako 12 se 14 se 16 ghante usako taiyaaree karanee padegee aur vidyaarthee ke paanch lakshan hote hain kya kaak cheshta bako dhyaanan shvaan nidra alpaahaaree aur grhasthee aadi ke paanch lakshan vidyaarthee ke hote hain aur 5 lakshanon ke saath jab apane ek uddeshy ko praapt karata hai to use saphalata milatee hai aur saphalata ka ek hee mantr hai ki kadee mehanat door drshti pakka iraada aur anushaasan in 4 mantron ke saath jo vyakti saphalata ke shikhar par chadhana chaahata hoon jarur saphal hota hai aur usaka jeevan saarthak ho jaata hai chaahe vah adhikaaree bane ya udyogee bane har cheej mein usako saphalata milatee lekin usaka nishchay drdh hona chaahie

KANHAIYA  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए KANHAIYA जी का जवाब
Student
1:35
नमस्कार मेरा नाम करें तुझे एक बार फिर से स्वागत है आपका हमारे बोलकर तो गायका प्लीज हमसे क्वेश्चन पूछा है कि क्या एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए तो गैस में होता तो आपको लाइफ में सफल रहा तो आप एक स्टूडेंट हो तो आपको कुछ ऐसी चीजें होती हैं तो आपको करनी भी चाहिए और कुछ ऐसी होती जो नहीं करना अगर आप एक स्टूडेंट लेवल पर हो तो आपको अपनी लाइफ में अवश्य ही कुछ न कुछ अपने सपनों को क्लियर करना है कि आप आगे चलकर कि आप बनना पसंद करते हो और आपको उसी के हिसाब से अपने सब्जेक्ट को चूस करना है और उसने पर सबसे ज्यादा मेहनत करनी है जिससे कि आपको आने वाले जो समय होगा उसमें आप जो अपना सपना लेकर बैठे हो कि मुझे यह बंदा अपनी लाइफ में पुलिस ऑफिसर बनना है या फिर आईपीएस ऑफिसर बनना है या फौजी बनना है या फिर पॉलिटिक्स में जान उस हिसाब से आपको अपना सब्जेक्ट यूज करना उठने के हिसाब से अपना टारगेट सेट कीजिए और उसके लिए मेहनत करते रहिए दूसरी जी आपको लाइफ में क्या नहीं करना है आपको बहुत सारे टारगेट को चैट नहीं करना है आपको कोई भी एक टारगेट सेट करना है आप हो जैसे कि हम लाइफ में सोचे कि आप मुझे एक्टिंग करना है मेरा मन मेरा मंदिर जाने का पता ही नहीं करना है आपको आपको तो एक ही टारगेट को रखना है और अपने आपको ज्यादा इधर-उधर की बातों में नहीं पता करना है
Namaskaar mera naam karen tujhe ek baar phir se svaagat hai aapaka hamaare bolakar to gaayaka pleej hamase kveshchan poochha hai ki kya ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie to gais mein hota to aapako laiph mein saphal raha to aap ek stoodent ho to aapako kuchh aisee cheejen hotee hain to aapako karanee bhee chaahie aur kuchh aisee hotee jo nahin karana agar aap ek stoodent leval par ho to aapako apanee laiph mein avashy hee kuchh na kuchh apane sapanon ko kliyar karana hai ki aap aage chalakar ki aap banana pasand karate ho aur aapako usee ke hisaab se apane sabjekt ko choos karana hai aur usane par sabase jyaada mehanat karanee hai jisase ki aapako aane vaale jo samay hoga usamen aap jo apana sapana lekar baithe ho ki mujhe yah banda apanee laiph mein pulis ophisar banana hai ya phir aaeepeees ophisar banana hai ya phaujee banana hai ya phir politiks mein jaan us hisaab se aapako apana sabjekt yooj karana uthane ke hisaab se apana taaraget set keejie aur usake lie mehanat karate rahie doosaree jee aapako laiph mein kya nahin karana hai aapako bahut saare taaraget ko chait nahin karana hai aapako koee bhee ek taaraget set karana hai aap ho jaise ki ham laiph mein soche ki aap mujhe ekting karana hai mera man mera mandir jaane ka pata hee nahin karana hai aapako aapako to ek hee taaraget ko rakhana hai aur apane aapako jyaada idhar-udhar kee baaton mein nahin pata karana hai

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:18
आपका सवाल से एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए मैं बता दूं एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को अपने ऊपर आत्मविश्वास रखकर को काम करना चाहिए हमको शिक्षा में शिक्षा पूरी करने के लिए आत्मविश्वास से किया व्यापार हमेशा पूर्ण होता है और लक्ष्य आपका एक होना चाहिए एक लक्ष्य पर जवाब काम करेंगे तो आप निश्चित है आगे बढ़ेंगे और सफल लक्ष्य का निर्धारण करें मेहनत से पढ़ें इमानदारी से पढ़ें तब भी आप एक सफल व्यक्ति बन सकते हैं अन्यथा कोई गुंजाइश नहीं है आपको सफल होने के लिए क्योंकि पापुलेशन इतनी ज्यादा है कि आप घर चल चलते रहो चलते ही रह जाएंगे कभी आकर ना चल पाए आपको तेजतर्रार खरगोश की तरह बढ़ना होगा जैसे कछुए और खरगोश की दोस्ती मुझे आपको किस तरह खरगोश बढ़ना होगा तभी आप आगे बढ़ पाएंगे
Aapaka savaal se ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie main bata doon ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko apane oopar aatmavishvaas rakhakar ko kaam karana chaahie hamako shiksha mein shiksha pooree karane ke lie aatmavishvaas se kiya vyaapaar hamesha poorn hota hai aur lakshy aapaka ek hona chaahie ek lakshy par javaab kaam karenge to aap nishchit hai aage badhenge aur saphal lakshy ka nirdhaaran karen mehanat se padhen imaanadaaree se padhen tab bhee aap ek saphal vyakti ban sakate hain anyatha koee gunjaish nahin hai aapako saphal hone ke lie kyonki paapuleshan itanee jyaada hai ki aap ghar chal chalate raho chalate hee rah jaenge kabhee aakar na chal pae aapako tejatarraar kharagosh kee tarah badhana hoga jaise kachhue aur kharagosh kee dostee mujhe aapako kis tarah kharagosh badhana hoga tabhee aap aage badh paenge

Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Life coach
2:57
सवाल है एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए वैसे तो मैं बात इस टॉपिक भी नहीं करूंगी कि उन्हें ऐसे से करना चाहिए उन्हें इतना बड़ा अधिकारी बनने के लिए यह लक्ष्य है यह गोल बनाना चाहिए सारी बातें मैं नहीं करने वाली आजकल के जितने भी लोग हैं उसे पैसे कमाने के पीछे भाग कंफर्टेबल लाइफ मिलेगी सब मिलेगा लेकिन सबसे पहले खुद को बेहतरीन बनाना होगा हम सब जिसने हमें चीट किया उसने हमें हर्ट किया वह नहीं देखती कि हमने कितनी कमियां भरी इन कमियों को दूर करें और अपने ऊपर फोकस करें अपना ध्यान रखें हम हमेशा डिपेंड होते हैं हम बड़े भी हो जाते हैं तो क्या होती किसी ना किसी पर डिपेंड होने लगते हैं लेकिन अब यह नहीं सोचते कि अगर हम अपनी केयर करो तू भूल सकता है कि हम सब की केयर कर सके उसके बाद आप फाइनैंशल रूप से भी ग्रो करने लगेंगे क्योंकि जब आप अपनी यह सारी चीजें करेंगे तो आपको जो अच्छा लगता है अर्थात आप की हॉबी आपकी क्रिएटिविटी उस चीज में फोकस करेंगे क्योंकि आपका कौन सी स्माइल और सब कौन सा स्माइल दोनों एक होगा और जो आपको अच्छा लगेगा मजा आएगा तो आप उसे 24 घंटे में बिल्कुल 24 घंटे करने में भी अब मजा आएगा और उस चीज के अब करो भी हो सकती है मैं यह नहीं कहती कि आप गोल मत बनाइए बनाइए लेकिन गोल के लिए परेशान मत होइए गोल बनाना जरूरी होता है लेकिन उस घोल तक पहुंचने के लिए सीढ़ियां विचार नहीं पड़ती तो सीढ़ियां हमें सिर्फ और सिर्फ प्रजेंट में चल रही है तू चल के लिए आपने प्रतिबिंब बना लिया कि मुझे यह बनना है लेकिन काम आपको प्रजेंट में करना फास्ट की चीजें जो हो गई है उसे भूलने की जरूरत नहीं है उसे हिल कर ले वह चीज भूल ही नहीं जा सकती अगर आप उसे हिल कर लेंगे तो कभी भी याद आएगा तो आपको तकलीफ नहीं होगी हां वहां से कोई अच्छी इंफॉर्मेशन हमें मिल गई है तो आप उसे यूज कर सकते हैं लेकिन उससे आपको भी नहीं होगा क्योंकि आपने दिल कर लिया भूला नहीं भूलना सब बोल देना भूल जाओ भूल भूले से क्या होता है वह हमारे अंदर कबूल भर जाता है इन्हीं जख्मों बन जाता है कभी भी याद करते तो हम दर्द होता है तीन होता है क्योंकि वह हमने क्या किया से बंद कर दिया है जख्म की तरह बंद कर दिया तो हमें पहले खुद को सुधारने जो भी बुरी चीजें हैं उन्हें ही कर लेना है और जो पसंद है उस पर फोकस करना है जो अच्छा लगता है उस पर फोकस करना है अगर आपको गोल है कि मुझे यह जॉब चाहिए प्रतिबिंब बना लिया और आपने प्रेजेंट में फोकस किया इससे क्या होगा कि विद्यार्थी सफल जीवन अपने लिए जी सकता है थैंक यू सो मच
Savaal hai ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthiyon ko kya karana chaahie aur kya nahin karana chaahie vaise to main baat is topik bhee nahin karoongee ki unhen aise se karana chaahie unhen itana bada adhikaaree banane ke lie yah lakshy hai yah gol banaana chaahie saaree baaten main nahin karane vaalee aajakal ke jitane bhee log hain use paise kamaane ke peechhe bhaag kamphartebal laiph milegee sab milega lekin sabase pahale khud ko behatareen banaana hoga ham sab jisane hamen cheet kiya usane hamen hart kiya vah nahin dekhatee ki hamane kitanee kamiyaan bharee in kamiyon ko door karen aur apane oopar phokas karen apana dhyaan rakhen ham hamesha dipend hote hain ham bade bhee ho jaate hain to kya hotee kisee na kisee par dipend hone lagate hain lekin ab yah nahin sochate ki agar ham apanee keyar karo too bhool sakata hai ki ham sab kee keyar kar sake usake baad aap phainainshal roop se bhee gro karane lagenge kyonki jab aap apanee yah saaree cheejen karenge to aapako jo achchha lagata hai arthaat aap kee hobee aapakee krietivitee us cheej mein phokas karenge kyonki aapaka kaun see smail aur sab kaun sa smail donon ek hoga aur jo aapako achchha lagega maja aaega to aap use 24 ghante mein bilkul 24 ghante karane mein bhee ab maja aaega aur us cheej ke ab karo bhee ho sakatee hai main yah nahin kahatee ki aap gol mat banaie banaie lekin gol ke lie pareshaan mat hoie gol banaana jarooree hota hai lekin us ghol tak pahunchane ke lie seedhiyaan vichaar nahin padatee to seedhiyaan hamen sirph aur sirph prajent mein chal rahee hai too chal ke lie aapane pratibimb bana liya ki mujhe yah banana hai lekin kaam aapako prajent mein karana phaast kee cheejen jo ho gaee hai use bhoolane kee jaroorat nahin hai use hil kar le vah cheej bhool hee nahin ja sakatee agar aap use hil kar lenge to kabhee bhee yaad aaega to aapako takaleeph nahin hogee haan vahaan se koee achchhee imphormeshan hamen mil gaee hai to aap use yooj kar sakate hain lekin usase aapako bhee nahin hoga kyonki aapane dil kar liya bhoola nahin bhoolana sab bol dena bhool jao bhool bhoole se kya hota hai vah hamaare andar kabool bhar jaata hai inheen jakhmon ban jaata hai kabhee bhee yaad karate to ham dard hota hai teen hota hai kyonki vah hamane kya kiya se band kar diya hai jakhm kee tarah band kar diya to hamen pahale khud ko sudhaarane jo bhee buree cheejen hain unhen hee kar lena hai aur jo pasand hai us par phokas karana hai jo achchha lagata hai us par phokas karana hai agar aapako gol hai ki mujhe yah job chaahie pratibimb bana liya aur aapane prejent mein phokas kiya isase kya hoga ki vidyaarthee saphal jeevan apane lie jee sakata hai thaink yoo so mach

Krishankant kumawat Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Krishankant जी का जवाब
Unknown
1:25
एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थी को अनेक प्रयास करना होता है वह अपनी मंजिल को पाने के लिए मेरा यही मानना है कि विद्यार्थी अपनी मंजिल को पाने के लिए निरंतर प्रयास करें सबसे ऊंचे स्तर पर वह लोग पहुंचते हैं जो निरंतर प्रयास करते रहते हैं कठिन से कठिन परिस्थितियों के बावजूद भी निरंतर प्रयास करते रहते हैं कितनी भी बड़ी चुनौती आ जाए तू भी निरंतर प्रयास करते रहते हो भाई लोग सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंचे और वही लोग सफल होते हैं बीच रास्ते में अपने मकसद को नहीं छोड़े क्योंकि आप एक बार नहीं दो बार नहीं 3 बार नहीं 4 बार अगर प्रयास कर चुके हैं तो आप अपनी मंजिल के बहुत करीब पहुंच जाएंगे अगर एक बार भी आपने बुरा तो बदल लिया तो फिर आप वापस नीचे के स्तर पर आ जाएंगे एक बार और प्रयास कीजिए आप अपनी मंजिल तक पहुंच जाएंगे क्योंकि प्यार से ही विद्यार्थी सिद्ध बिना ब्याज का कोई नहीं सीखता है इसलिए सफल वही है जो परिस्थितियों से लड़ कर आगे बढ़ा है
Ek saphal vyakti banane ke lie vidyaarthee ko anek prayaas karana hota hai vah apanee manjil ko paane ke lie mera yahee maanana hai ki vidyaarthee apanee manjil ko paane ke lie nirantar prayaas karen sabase oonche star par vah log pahunchate hain jo nirantar prayaas karate rahate hain kathin se kathin paristhitiyon ke baavajood bhee nirantar prayaas karate rahate hain kitanee bhee badee chunautee aa jae too bhee nirantar prayaas karate rahate ho bhaee log sabase oonche star par pahunche aur vahee log saphal hote hain beech raaste mein apane makasad ko nahin chhode kyonki aap ek baar nahin do baar nahin 3 baar nahin 4 baar agar prayaas kar chuke hain to aap apanee manjil ke bahut kareeb pahunch jaenge agar ek baar bhee aapane bura to badal liya to phir aap vaapas neeche ke star par aa jaenge ek baar aur prayaas keejie aap apanee manjil tak pahunch jaenge kyonki pyaar se hee vidyaarthee siddh bina byaaj ka koee nahin seekhata hai isalie saphal vahee hai jo paristhitiyon se lad kar aage badha hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए एक सफल व्यक्ति बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना चाहिए
URL copied to clipboard