#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?

Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:31
दोस्तों आपका स्वागत है जब रसायन बंधन बनता है तो क्या होता है रक्षाबंधन क्या होता है पहले दिए देखिए किसी गांव में दो या दो से अधिक परमाणु पर्पल के द्वारा एक दूसरे बंदे होते हैं उसे रसायन अब अन्य केमिकल बॉन्ड कहते हैं या अमन रासायनिक संयोग के बाद ही बनते और परमाणु अपने सबसे पास वाली निष्क्रिय गैस को इलेक्ट्रॉनिक विन्यास प्राप्त कर लेते हैं
Doston aapaka svaagat hai jab rasaayan bandhan banata hai to kya hota hai rakshaabandhan kya hota hai pahale die dekhie kisee gaanv mein do ya do se adhik paramaanu parpal ke dvaara ek doosare bande hote hain use rasaayan ab any kemikal bond kahate hain ya aman raasaayanik sanyog ke baad hee banate aur paramaanu apane sabase paas vaalee nishkriy gais ko ilektronik vinyaas praapt kar lete hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:30
प्रश्न है जब रासायनिक बंधन बन रही तो क्या होता है कि किसी अनु में उपस्थित अभय भी परमाणु को परस्पर बात कर अनु को विशेष जयंतिया आकार में रखने वाले बाल को रासायनिक बंधन कहते हैं प्रकृति में पाए जाने वाले अक्रिय गैसों की संख्या से हैं परमाणु के महातम कक्षा में इलेक्ट्रॉनों का समूह सर्वाधिक स्थाई होता है आठ इलेक्ट्रॉनिक इस समूह को अस्तक कहते हैं
Prashn hai jab raasaayanik bandhan ban rahee to kya hota hai ki kisee anu mein upasthit abhay bhee paramaanu ko paraspar baat kar anu ko vishesh jayantiya aakaar mein rakhane vaale baal ko raasaayanik bandhan kahate hain prakrti mein pae jaane vaale akriy gaison kee sankhya se hain paramaanu ke mahaatam kaksha mein ilektronon ka samooh sarvaadhik sthaee hota hai aath ilektronik is samooh ko astak kahate hain

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:25
पूछेंगे कि जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है तत्वों के परमाणु पर परस्पर सहयोग से अनु का निर्माण होता है किसी अनु में परमाणुओं को एक साथ बांधकर रखने वाले बल को रासायनिक बंधन कहते हैं जैसे ऑक्सीजन के अणु में ऑक्सीजन के दो परमाणुओं रासायनिक बंधन पर पर जुड़े हैं धन्यवाद
Poochhenge ki jab raasaayanik bandhan banata hai to kya hota hai tatvon ke paramaanu par paraspar sahayog se anu ka nirmaan hota hai kisee anu mein paramaanuon ko ek saath baandhakar rakhane vaale bal ko raasaayanik bandhan kahate hain jaise okseejan ke anu mein okseejan ke do paramaanuon raasaayanik bandhan par par jude hain dhanyavaad

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:25
सवाल है कि चुप रसायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है किसी अनु में दो या दो से अधिक परमाणु जिस पल के द्वारा एक दूसरे से बंधे होते हैं उसे रासायनिक आबंध या केमिकल बॉन्ड कहते हैं यह आबंध रासायनिक संयोग किसी के बाद बनते हैं तथा परमाणु अपने से सबसे पास वाली निष्क्रिय गैस का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास प्राप्त कर लेते
Savaal hai ki chup rasaayanik bandhan banata hai to kya hota hai kisee anu mein do ya do se adhik paramaanu jis pal ke dvaara ek doosare se bandhe hote hain use raasaayanik aabandh ya kemikal bond kahate hain yah aabandh raasaayanik sanyog kisee ke baad banate hain tatha paramaanu apane se sabase paas vaalee nishkriy gais ka ilektronik vinyaas praapt kar lete

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:07
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है रासायनिक बंधन बनने में एटम्स की महत्वपूर्ण भूमिका होती है और आइटम जो है उसमें एक न्यूक्लियस होता है और इसके बाहर गिर घूमने वाले इलेक्ट्रॉन होते हैं जैसे सूरज के चक्कर लगाते हुए होते हैं उसी तरह इलेक्ट्रॉन होते हैं और उनकी भी उनका भी एक प्रमाण होता है कि पहले सर्कल में कितने इलेक्ट्रॉन होते हैं दूसरे सर्कल में अगर हो तो कितने इलेक्ट्रॉन से वह कंप्लीट हो जाता है या तीसरा हो और इसमें ऐसी बात होती है कि कुछ इलेक्ट्रॉन जो है वह कम रहते हैं तो कहीं पर इलेक्ट्रॉन ज्यादा रहते हैं जहां पर कम रहते हैं और जहां पर ज्यादा रहते हैं उसका बंधन बन बन सकता है उसका बंधन बन जाता है उसको हम मॉलिक्यूल कहते हैं एकदम से मालीपुर से बनते हैं तो इस बंद से बनते हैं कि दोनों के आपस में इलेक्ट्रॉन जो होते हैं वह आपस में जुड़ कर दो एटम्स उनके उनके जीवन को जी जो जरूरत होती है जितनी संख्या में लोग परंतु वह पूरी हो जाती है तब वह आपस में जोड़ते हैं और बंधन बन जाता है इसी तरह से सबअटॉमिक पार्टिकल्स से आइटम बन जाते हैं तो हमसे हॉलीवुड बन जाते हैं मॉलिक्यूल से सहयोग बन जाते हैं मालिक उन्हें जब मिलते हैं तो संयोग बन जाते हैं और सहयोग जब मिलते हैं तो पदार्थ बन जाता है इसी तरह पूरे पूरा जो मां से ब्रह्मांड में को इसी तरीके से बना हुआ है और यह माल जो होता है वह एनर्जी में कन्वर्ट हो सकता है और एनर्जी मास में कन्वर्ट हो सकती है तो यह बहुत महत्वपूर्ण चीजें समझने के लिए हमारा शरीर और सब प्राणियों मात्रा मात्रा का सीरियल वैसे भाई वैसे तुम से बना हुआ है और ऐसे रासायनिक बंधनों से बना हुआ है और यह प्रोसेस भी जो है वह करोड़ों साल से चली है युवा लोग हुई है और कब तक जाकर हम आज एक जीवंत प्राणी के रूप में एहसास करते हैं अपने होने का उनके साथ अपना अपना दिमाग भी इस तरीके से युवा लोग हुआ है कि वह भाव भावनाओं के साथ विचार बुद्धिमता की रखता है तो हमारे लिए व्यक्तिगत रूप से इतनी ब्रह्मांड की एक बहुत महत्वपूर्ण घटना है कि हम अपनी चेतना काम कर रहे हैं और हम अपने अंदर की दुनिया और अपने बाहर की जो दुनिया है उसको देख रहे हैं उसको समझ रहे हैं मैं बहुत बड़ा चमत्कार होता है इसलिए यह मनुष्य जीवन है बाकी सब लोग भारत में पुरुषों की सृष्टि पर जीवित चीजें उनकी तुलना में सबसे श्रेष्ठ मानी जाती है इंसान का सोना इंसान का शरीर इंसान की इंसान का जीवन और इंसान की बुद्धि माता भाव भावनाएं और उसका मुहूर्त इन सभी चीजों का मूलभूत फंडामेंटल जो बातें होती है वह सोने का और फिजिक्स के नियमों के आधार पर होती है एस्ट्रोफिजिक्स जुड़ा होता है वह भी उसका हम एक हिस्सा होते हैं और एक टोपी जिसमें हम बहुत सारी चीजें बड़े एक विजन के साथ समझ सकते हैं देख सकते हैं इसलिए हमें ऐसी कई सारी चीजों का अभ्यास करके ज्ञान प्राप्त करके अपना जीवन सार्थक बनाना चाहिए अगर मेरा जवाब सही लगा तो इसे लाइक करें कृपया धन्यवाद
Jab raasaayanik bandhan banata hai to kya hota hai raasaayanik bandhan banane mein etams kee mahatvapoorn bhoomika hotee hai aur aaitam jo hai usamen ek nyookliyas hota hai aur isake baahar gir ghoomane vaale ilektron hote hain jaise sooraj ke chakkar lagaate hue hote hain usee tarah ilektron hote hain aur unakee bhee unaka bhee ek pramaan hota hai ki pahale sarkal mein kitane ilektron hote hain doosare sarkal mein agar ho to kitane ilektron se vah kampleet ho jaata hai ya teesara ho aur isamen aisee baat hotee hai ki kuchh ilektron jo hai vah kam rahate hain to kaheen par ilektron jyaada rahate hain jahaan par kam rahate hain aur jahaan par jyaada rahate hain usaka bandhan ban ban sakata hai usaka bandhan ban jaata hai usako ham molikyool kahate hain ekadam se maaleepur se banate hain to is band se banate hain ki donon ke aapas mein ilektron jo hote hain vah aapas mein jud kar do etams unake unake jeevan ko jee jo jaroorat hotee hai jitanee sankhya mein log parantu vah pooree ho jaatee hai tab vah aapas mein jodate hain aur bandhan ban jaata hai isee tarah se sabatomik paartikals se aaitam ban jaate hain to hamase holeevud ban jaate hain molikyool se sahayog ban jaate hain maalik unhen jab milate hain to sanyog ban jaate hain aur sahayog jab milate hain to padaarth ban jaata hai isee tarah poore poora jo maan se brahmaand mein ko isee tareeke se bana hua hai aur yah maal jo hota hai vah enarjee mein kanvart ho sakata hai aur enarjee maas mein kanvart ho sakatee hai to yah bahut mahatvapoorn cheejen samajhane ke lie hamaara shareer aur sab praaniyon maatra maatra ka seeriyal vaise bhaee vaise tum se bana hua hai aur aise raasaayanik bandhanon se bana hua hai aur yah proses bhee jo hai vah karodon saal se chalee hai yuva log huee hai aur kab tak jaakar ham aaj ek jeevant praanee ke roop mein ehasaas karate hain apane hone ka unake saath apana apana dimaag bhee is tareeke se yuva log hua hai ki vah bhaav bhaavanaon ke saath vichaar buddhimata kee rakhata hai to hamaare lie vyaktigat roop se itanee brahmaand kee ek bahut mahatvapoorn ghatana hai ki ham apanee chetana kaam kar rahe hain aur ham apane andar kee duniya aur apane baahar kee jo duniya hai usako dekh rahe hain usako samajh rahe hain main bahut bada chamatkaar hota hai isalie yah manushy jeevan hai baakee sab log bhaarat mein purushon kee srshti par jeevit cheejen unakee tulana mein sabase shreshth maanee jaatee hai insaan ka sona insaan ka shareer insaan kee insaan ka jeevan aur insaan kee buddhi maata bhaav bhaavanaen aur usaka muhoort in sabhee cheejon ka moolabhoot phandaamental jo baaten hotee hai vah sone ka aur phijiks ke niyamon ke aadhaar par hotee hai estrophijiks juda hota hai vah bhee usaka ham ek hissa hote hain aur ek topee jisamen ham bahut saaree cheejen bade ek vijan ke saath samajh sakate hain dekh sakate hain isalie hamen aisee kaee saaree cheejon ka abhyaas karake gyaan praapt karake apana jeevan saarthak banaana chaahie agar mera javaab sahee laga to ise laik karen krpaya dhanyavaad

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Ramlal Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ramlal जी का जवाब
Students
0:27

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:29
सैनिक बंधन बनता है तो क्या होता है करने के लिए करते हैं और कहीं नहीं भूल सकते हैं कि आप उठा कर देखेंगे कि कल गूगल एंड वांट होता है कोऑर्डिनेट बॉन्ड होता है और एक होता है जो आयनिक बंध जिसको आप बोलते हैं जो आए उसका पॉजिटिव नेगेटिव तो कहीं न कहीं ईबोन्डिंग से तो फायदा होता ही है और कह सकते हैं कि केमिकल बॉन्डिंग के द्वारा ही है जो है जो सत्य है अपने अपडेट नंबर पूरा करते हैं और मजबूत होते हैं और उनकी विशेषताएं हैं और इस तरह से होता है लिखने जब रासायनिक बंधन होता है क्या होता है इसमें इलेक्ट्रॉन का शेयरिंग भी करते हैं गूगल में इलेक्ट्रॉन को वोट करते हैं यानी कि पॉजिटिव और नेगेटिव हो जाता है जो नई रिलीज करता है पोस्टिंग हो जाता है जो नहीं से मोबाइल एंड हाइड्रोजन आयन के पेट्रोल के बीच मैच टू में बनता है उसी तरह से ट्रिपल बांड है राहुल पांडे इस तरह के होते हैं
Sainik bandhan banata hai to kya hota hai karane ke lie karate hain aur kaheen nahin bhool sakate hain ki aap utha kar dekhenge ki kal googal end vaant hota hai koordinet bond hota hai aur ek hota hai jo aayanik bandh jisako aap bolate hain jo aae usaka pojitiv negetiv to kaheen na kaheen eebonding se to phaayada hota hee hai aur kah sakate hain ki kemikal bonding ke dvaara hee hai jo hai jo saty hai apane apadet nambar poora karate hain aur majaboot hote hain aur unakee visheshataen hain aur is tarah se hota hai likhane jab raasaayanik bandhan hota hai kya hota hai isamen ilektron ka sheyaring bhee karate hain googal mein ilektron ko vot karate hain yaanee ki pojitiv aur negetiv ho jaata hai jo naee rileej karata hai posting ho jaata hai jo nahin se mobail end haidrojan aayan ke petrol ke beech maich too mein banata hai usee tarah se tripal baand hai raahul paande is tarah ke hote hain

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
RAM NIWASH AWASTHI Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAM जी का जवाब
विद्यार्थी
0:38
जैसा कि आप का सवाल है जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है देखिए मैं आपको बताना चाहूंगा कि जब दो परमाणुओं के बीच इलेक्ट्रॉन की साझेदारी के फल स्वरुप रासायनिक बंध बनता है तब उसे संयोजी योग्य कहते हैं अधिकांश संयोजक योगिक साधारण अवस्था में गैस वास्ते तीर्थों सोते हैं द्रव्य एवं उतना कम होते हैं विद्युत कुचालक कहे जाते हैं धन्यवाद
Jaisa ki aap ka savaal hai jab raasaayanik bandhan banata hai to kya hota hai dekhie main aapako bataana chaahoonga ki jab do paramaanuon ke beech ilektron kee saajhedaaree ke phal svarup raasaayanik bandh banata hai tab use sanyojee yogy kahate hain adhikaansh sanyojak yogik saadhaaran avastha mein gais vaaste teerthon sote hain dravy evan utana kam hote hain vidyut kuchaalak kahe jaate hain dhanyavaad

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:22
नमस्ते मित्रों आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि जब किसी अणु में दो या दो से अधिक परमाणु जिस बल के द्वारा एक दूसरे से बंधे होते हैं उसे रासायनिक आबंध या केमिकल बॉन्ड कहते हैं धन्यवाद मित्रों खुश रहो
Namaste mitron aapake prashn ka uttar yah hai ki jab kisee anu mein do ya do se adhik paramaanu jis bal ke dvaara ek doosare se bandhe hote hain use raasaayanik aabandh ya kemikal bond kahate hain dhanyavaad mitron khush raho

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
ravideep singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ravideep जी का जवाब
students
0:44

bolkar speaker
जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है?Jab Rasayanik Bandhan Banta Hai To Kya Hota Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:34
वापस वाले कि जब रासायनिक बंधन बनता है तो क्या होता है तो किसी अनु में दो या दो से अधिक परमाणु जिस बाल के द्वारा ऐसे बंदे होते हैं ऐसे रासायनिक बंधन कहते हैं जिससे केमिकल ब्रांड यह अब बंद रासायनिक संयोग के बाद बनते हैं तथा परमाणु अपने से सबसे पास वाली निष्कर्ष गैस का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास प्राप्त कर लेते हैं
Vaapas vaale ki jab raasaayanik bandhan banata hai to kya hota hai to kisee anu mein do ya do se adhik paramaanu jis baal ke dvaara aise bande hote hain aise raasaayanik bandhan kahate hain jisase kemikal braand yah ab band raasaayanik sanyog ke baad banate hain tatha paramaanu apane se sabase paas vaalee nishkarsh gais ka ilektronik vinyaas praapt kar lete hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • रासायनिक बंध कितने प्रकार के होते हैं,आयनिक बंध किसे कहते हैं,रासायनिक बंध किसे कहते हैं
URL copied to clipboard