#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:09
आज आप का सवाल है कि स्वाभिमान क्या है जीवन में सफलता के लिए उच्च स्वाभिमान क्यों जरूरी है स्वाभिमान मतलब आपका सेल्फ रिस्पेक्ट इंसान की अपनी खुद की सेल्फी फैक्ट होती है उनके पैसे कमाने और फिर जिंदगी में सफलता के लिए आप अपने सेल्फ रिस्पेक्ट को जीवन में सेल्फ रिस्पेक्ट और स्वाभिमान होना बहुत जरूरी होता है अगर आपको कोई काम दिया जा रहा है आपके साथ गंदा व्यवहार किया जा रहा है गलत काम करवाया जा रहा है तो यहां पर आप अपने सर कृपया अपने आप वह काम करके पैसे तो कमा लेंगे लेकिन लोगों के प्रति आपके लिए कोई इज्जत कोई नहीं बिल्कुल भी नहीं आप ठीक से सही से समाज में नहीं चल सकते ना उस सकते नहीं बैठ सकती क्योंकि लोग आपके साथ नाही बातचीत करेंगे ना ही किसी तरह के रिलेशन जिंदगी में चलने के लिए जीने के लिए आपको अपने self-respect कभी नहीं खोला क्या होता है कि हम बहुत जल्दी करने में खो जाते इंश्योरेंस हो जाते हैं और कोई भी काम कर बैठते हैं और जिससे मैं जिंदगी भर पछताना पड़ता है कि इंसान की नहीं होती है वह खो देता है तो उसे पानी में और फिर से चलाने में बहुत दिक्कत होता ना कि मेरा भी जिंदगी जीने के लिए आपको वह किस करना है जो आपको सही लगता है और सब के लिए भी वह सही होता है ऐसा होता है कि जिंदगी में कोई भी कुछ भी कर लेता था नहीं आप सही काम कीजिए सही तरीके से कीजिए जिसमें किसी का हम कोई नुकसान नहीं हो और किसी के बदौलत ऐसे किसी के नौकर बन के और कोई आपके साथ दुर्व्यवहार कर रहा है तब भी आपके गुलाम बनके तो इस तरह के मतलब नहीं करना चाहिए क्योंकि यहां पर भी आपको self-respect ही अपना खोलें तो इस तरह की चीजों को ध्यान में रखकर अपनी जिंदगी जीनी चाहिए
Aaj aap ka savaal hai ki svaabhimaan kya hai jeevan mein saphalata ke lie uchch svaabhimaan kyon jarooree hai svaabhimaan matalab aapaka selph rispekt insaan kee apanee khud kee selphee phaikt hotee hai unake paise kamaane aur phir jindagee mein saphalata ke lie aap apane selph rispekt ko jeevan mein selph rispekt aur svaabhimaan hona bahut jarooree hota hai agar aapako koee kaam diya ja raha hai aapake saath ganda vyavahaar kiya ja raha hai galat kaam karavaaya ja raha hai to yahaan par aap apane sar krpaya apane aap vah kaam karake paise to kama lenge lekin logon ke prati aapake lie koee ijjat koee nahin bilkul bhee nahin aap theek se sahee se samaaj mein nahin chal sakate na us sakate nahin baith sakatee kyonki log aapake saath naahee baatacheet karenge na hee kisee tarah ke rileshan jindagee mein chalane ke lie jeene ke lie aapako apane sailf-raispaicht kabhee nahin khola kya hota hai ki ham bahut jaldee karane mein kho jaate inshyorens ho jaate hain aur koee bhee kaam kar baithate hain aur jisase main jindagee bhar pachhataana padata hai ki insaan kee nahin hotee hai vah kho deta hai to use paanee mein aur phir se chalaane mein bahut dikkat hota na ki mera bhee jindagee jeene ke lie aapako vah kis karana hai jo aapako sahee lagata hai aur sab ke lie bhee vah sahee hota hai aisa hota hai ki jindagee mein koee bhee kuchh bhee kar leta tha nahin aap sahee kaam keejie sahee tareeke se keejie jisamen kisee ka ham koee nukasaan nahin ho aur kisee ke badaulat aise kisee ke naukar ban ke aur koee aapake saath durvyavahaar kar raha hai tab bhee aapake gulaam banake to is tarah ke matalab nahin karana chaahie kyonki yahaan par bhee aapako sailf-raispaicht hee apana kholen to is tarah kee cheejon ko dhyaan mein rakhakar apanee jindagee jeenee chaahie

और जवाब सुनें

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:47
जी आप का सवाल है कि स्वाभिमान क्या होता है जी ने सफलता के लिए उच्च है स्वाभिमान की क्यों जरूरत होता है चौहान साहब आतम गौरव आत्मसम्मान के लिए प्रयुक्त होता है ऐसे यह सा शब्द है जिसे हम जागृत करते हैं कि प्रत्येक प्रत्येक करते हैं और हमें कर्तव्य के प्रति आगे बढ़ने के लिए ललकारा है स्वाभिमान हमारे अपने विश्वास को जागृत करते हैं अगर अपने देश के लिए लड़ेंगे तो वह सबसे उच्च सभी महान होगा इतने लोग आपकी इज्जत करेंगे कभी भूल नहीं पाएंगे धन्यवाद
Jee aap ka savaal hai ki svaabhimaan kya hota hai jee ne saphalata ke lie uchch hai svaabhimaan kee kyon jaroorat hota hai chauhaan saahab aatam gaurav aatmasammaan ke lie prayukt hota hai aise yah sa shabd hai jise ham jaagrt karate hain ki pratyek pratyek karate hain aur hamen kartavy ke prati aage badhane ke lie lalakaara hai svaabhimaan hamaare apane vishvaas ko jaagrt karate hain agar apane desh ke lie ladenge to vah sabase uchch sabhee mahaan hoga itane log aapakee ijjat karenge kabhee bhool nahin paenge dhanyavaad

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:03
अभी आप का सवाल है स्वाभिमान क्या है जीवन में सफलता के लिए मुसलमान क्यों जरूरी है स्वाभिमान का मतलब होता है कि स्वाभिमानी आदमियों की किसी से मार देने की जरूरत नहीं समझता जो अपने बूते पर सब कार्य करना चाहता है जो किसी के आगे हाथ नहीं फैलाता बहुत ही मजबूरी बसु फैलाता है और जब तक उसका बस चलता है तब तक वह अपने पोते लड़का है वही स्वाभिमानी आती है कल आता है उसी को स्वाभिमान करते हैं स्वाभिमानी आदमी किसी के आगे पहले तो बहुत जल्दी फसाने की कोशिश नहीं करता और स्वाभिमान जरूरी भी है जब तक हमारे अंदर स्वाभिमान नहीं चलेगा तब तक हमें कोई भी कार्य करने की ताकत नहीं मिलेगी तो हमारे अंदर जो सामान रहेगा तो हमारे अंदर मनोबल बढ़ेगा हम किसी भी कार्य करने के लिए अपने आप को मजबूत और सुंदर बना सकेंगे स्वाभिमानी हमारे अंदर सब कुछ भरता है और ना हमारे अंदर रहना बहुत जरूरी है
Abhee aap ka savaal hai svaabhimaan kya hai jeevan mein saphalata ke lie musalamaan kyon jarooree hai svaabhimaan ka matalab hota hai ki svaabhimaanee aadamiyon kee kisee se maar dene kee jaroorat nahin samajhata jo apane boote par sab kaary karana chaahata hai jo kisee ke aage haath nahin phailaata bahut hee majabooree basu phailaata hai aur jab tak usaka bas chalata hai tab tak vah apane pote ladaka hai vahee svaabhimaanee aatee hai kal aata hai usee ko svaabhimaan karate hain svaabhimaanee aadamee kisee ke aage pahale to bahut jaldee phasaane kee koshish nahin karata aur svaabhimaan jarooree bhee hai jab tak hamaare andar svaabhimaan nahin chalega tab tak hamen koee bhee kaary karane kee taakat nahin milegee to hamaare andar jo saamaan rahega to hamaare andar manobal badhega ham kisee bhee kaary karane ke lie apane aap ko majaboot aur sundar bana sakenge svaabhimaanee hamaare andar sab kuchh bharata hai aur na hamaare andar rahana bahut jarooree hai

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:17
जब देखो अपने ऊपर घमंड आ जाए कि मैं सब कुछ कर सकता हूं मैं ही हूं जो पूछूं उसको स्वाभिमान का क्या अनुमान कहते हैं जो अपने लिए पहले की कोई कुछ गलती हो जाए और आपके बेज्जती कर दिया उस भेज दी के बदले में आप उसका प्रत्युत्तर दो उसको स्वाभिमान कहते हैं और अपने मनुष्य अपने स्वाभिमान के खिलाफ कुछ भी बर्दाश्त नहीं करता अपने सम्मान को बनाए रखने की प्रक्रिया को दूसरे शब्दों में कहा जाए तो उसे स्वास्थ्य मांगते हैं और जब हमको अपने स्वाभिमान के साथ-साथ हम दूसरे को कुछ न समझें और यह समझे कि बगैर मेरे से काम नहीं चलता है उसको अभिमान कहते उसको दूसरे शब्दों में घमंड कहते हैं और जीवन में सफलता प्राप्त करने उच्च स्वाभिमान की जरूरत नहीं होती जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत दूर दृष्टि पक्का इरादा अनुशासन इसके साथ-साथ आपको एक ऐसी रणनीति तैयार करनी पड़ती कि आप अपने लक्ष्य को कैसे पार का पार कर सकते इसके लिए विनम्रता और सहिष्णुता और सामान्य होने की बहुत ज्यादा जरूरत है तो इसलिए उच्च स्वाभिमान कल ताकि कोई मतलब मंत्र नहीं है मंत्र जो मैंने बताया यह है कि कड़ी मेहनत दूर दृष्टि पक्का इरादा अनुशासन के साथ जो कार्य किए जाते हैं उसमें सफलता जरूर मिलती है
Jab dekho apane oopar ghamand aa jae ki main sab kuchh kar sakata hoon main hee hoon jo poochhoon usako svaabhimaan ka kya anumaan kahate hain jo apane lie pahale kee koee kuchh galatee ho jae aur aapake bejjatee kar diya us bhej dee ke badale mein aap usaka pratyuttar do usako svaabhimaan kahate hain aur apane manushy apane svaabhimaan ke khilaaph kuchh bhee bardaasht nahin karata apane sammaan ko banae rakhane kee prakriya ko doosare shabdon mein kaha jae to use svaasthy maangate hain aur jab hamako apane svaabhimaan ke saath-saath ham doosare ko kuchh na samajhen aur yah samajhe ki bagair mere se kaam nahin chalata hai usako abhimaan kahate usako doosare shabdon mein ghamand kahate hain aur jeevan mein saphalata praapt karane uchch svaabhimaan kee jaroorat nahin hotee jeevan mein saphalata praapt karane ke lie kadee mehanat door drshti pakka iraada anushaasan isake saath-saath aapako ek aisee rananeeti taiyaar karanee padatee ki aap apane lakshy ko kaise paar ka paar kar sakate isake lie vinamrata aur sahishnuta aur saamaany hone kee bahut jyaada jaroorat hai to isalie uchch svaabhimaan kal taaki koee matalab mantr nahin hai mantr jo mainne bataaya yah hai ki kadee mehanat door drshti pakka iraada anushaasan ke saath jo kaary kie jaate hain usamen saphalata jaroor milatee hai

 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:31
जैसे कि आपका प्रश्न है स्वाभिमान क्या होता है जीवन में सफलता के लिए उच्च स्वाभिमान क्यों जरूरी है और देखिए स्वाभिमान शब्द आत्म गौरव और आत्म सम्मान के लिए प्रयुक्त होता है यह ऐसा शब्द है जो वह हमें जागृत करता है प्रेरित करता है और हमें कर्तव्य के प्रति आगे बढ़ने के लिए लाल करता है और स्वाभिमान हमारे अपने विश्वास को जागृत करता है
Jaise ki aapaka prashn hai svaabhimaan kya hota hai jeevan mein saphalata ke lie uchch svaabhimaan kyon jarooree hai aur dekhie svaabhimaan shabd aatm gaurav aur aatm sammaan ke lie prayukt hota hai yah aisa shabd hai jo vah hamen jaagrt karata hai prerit karata hai aur hamen kartavy ke prati aage badhane ke lie laal karata hai aur svaabhimaan hamaare apane vishvaas ko jaagrt karata hai

Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:07
स्वाभिमान क्या है जीवन में सफलता के लिए उच्च स्वाभिमान क्यों जरूरी है स्वाभिमान होता है खुद के प्रति जो अभिमान है प्राउड है होता है स्वाभिमान कुत्ते की सिलेक्शन के प्रति अगर मैं आज मेरे खुद के मेहनत से 1000000 रुपए 1 महीने के कमाता हूं मुझे गर्व है उस पर मुझे फ्राइडे मुझे स्वाभिमान में सबसे अपोजिट ऑफ प्राउड फीलिंग होती आफ कॉन्फिडेंस देती है लेकिन यह प्राउड फीलिंग कई बार यह समझना जरूर देखिए स्वाभिमान ही अधूरा भी मालूम क्योंकि कभी-कभी यह स्वाभिमान की लेवल हमें स्वाभिमान लगता है यह लेकिन यह स्वाभिमान ना होते हुए कभी-कभी एक घर में कन्वर्ट हो जाता है तो बड़ी तीन लाइन होगी तो सबसे पहले स्वाभिमानी होता है कि मैंने मेरे मेहनत से या फिर यह मेरा है यह मेरी चीजें कि मुझे आता है कि मैंने मेहनत से कमाई हुई है मुझे गर्व है कि मैं भारतीय हूं हां बिल्कुल कि मुझे इतना बड़ा बीच कल्चर में उसका मुझे बैकग्राउंड मिला हुआ है मुझे इतनी सच्ची संस्कृति मिली हुई है स्वाभिमान यह खोखले वर्ड से नहीं आता के पीछे सही में स्नातक आप और आपके फैमिली में टाइप हो जाता है वह स्वाभिमान है उसको उतना अभिमान है उसको कि हां मैंने मेरे बलबूते पर इतना बड़ा क्लास खड़ा किया मैथमेटिक्स का तो यह स्वाभिमान है यह स्वाभिमान आपको कॉन्फिडेंट की खड़ा करता है आपको लड़ने की ताकत देता है और आपके क्षेत्र में किसी भी टाइप के बड़े चलाने से आते हैं तो भी आप डट के खड़े होते हैं क्योंकि उससे फर्क ही नहीं पड़ता आपको कि आप अभी कंप्लीट हो आप के विषय में क्या आपके उस स्वाभिमान की व्याख्या में क्या आपको पता है कि यह लेकिन कई बार क्या होता है कि यह चेक करना जरूरी कि स्वाभिमान सही में स्वाभिमान है गर्व है याद और अभिमान अगर गर्भ और दौरा भीमानगर है यह तो यह कभी ना कभी टूटेगा हंड्रेड परसेंट टूटेगा जिस दिन में टूटेगा उस दिन आप
Svaabhimaan kya hai jeevan mein saphalata ke lie uchch svaabhimaan kyon jarooree hai svaabhimaan hota hai khud ke prati jo abhimaan hai praud hai hota hai svaabhimaan kutte kee silekshan ke prati agar main aaj mere khud ke mehanat se 1000000 rupe 1 maheene ke kamaata hoon mujhe garv hai us par mujhe phraide mujhe svaabhimaan mein sabase apojit oph praud pheeling hotee aaph konphidens detee hai lekin yah praud pheeling kaee baar yah samajhana jaroor dekhie svaabhimaan hee adhoora bhee maaloom kyonki kabhee-kabhee yah svaabhimaan kee leval hamen svaabhimaan lagata hai yah lekin yah svaabhimaan na hote hue kabhee-kabhee ek ghar mein kanvart ho jaata hai to badee teen lain hogee to sabase pahale svaabhimaanee hota hai ki mainne mere mehanat se ya phir yah mera hai yah meree cheejen ki mujhe aata hai ki mainne mehanat se kamaee huee hai mujhe garv hai ki main bhaarateey hoon haan bilkul ki mujhe itana bada beech kalchar mein usaka mujhe baikagraund mila hua hai mujhe itanee sachchee sanskrti milee huee hai svaabhimaan yah khokhale vard se nahin aata ke peechhe sahee mein snaatak aap aur aapake phaimilee mein taip ho jaata hai vah svaabhimaan hai usako utana abhimaan hai usako ki haan mainne mere balaboote par itana bada klaas khada kiya maithametiks ka to yah svaabhimaan hai yah svaabhimaan aapako konphident kee khada karata hai aapako ladane kee taakat deta hai aur aapake kshetr mein kisee bhee taip ke bade chalaane se aate hain to bhee aap dat ke khade hote hain kyonki usase phark hee nahin padata aapako ki aap abhee kampleet ho aap ke vishay mein kya aapake us svaabhimaan kee vyaakhya mein kya aapako pata hai ki yah lekin kaee baar kya hota hai ki yah chek karana jarooree ki svaabhimaan sahee mein svaabhimaan hai garv hai yaad aur abhimaan agar garbh aur daura bheemaanagar hai yah to yah kabhee na kabhee tootega handred parasent tootega jis din mein tootega us din aap

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:35
राधा कृष्ण स्वाभिमान क्या है जीवन में सफलता के लिए उठ स्वाभिमान क्यों जरूरी है तो आपको बता दें कि व्यक्ति के अंदर स्वाभिमान के साथ-साथ आत्मसम्मान के भाव भी होनी चाहिए तभी वह व्यक्ति अपने जीवन में ऊंचे से ऊंचे पद को प्राप्त कर सकता है वह अपने कैरियर में बुलंदियों को छू सकता है अगर व्यक्ति के अंदर ना तो स्वाभिमान है और ना ही उसने सर सस्पेक्ट है तो यकीन मानिए कि ऐसा व्यक्ति अपने लिए भी कुछ कार्य नहीं कर पाएगा और ना ही अपनी सोसाइटी के लिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ है धन्यवाद
Raadha krshn svaabhimaan kya hai jeevan mein saphalata ke lie uth svaabhimaan kyon jarooree hai to aapako bata den ki vyakti ke andar svaabhimaan ke saath-saath aatmasammaan ke bhaav bhee honee chaahie tabhee vah vyakti apane jeevan mein oonche se oonche pad ko praapt kar sakata hai vah apane kairiyar mein bulandiyon ko chhoo sakata hai agar vyakti ke andar na to svaabhimaan hai aur na hee usane sar saspekt hai to yakeen maanie ki aisa vyakti apane lie bhee kuchh kaary nahin kar paega aur na hee apanee sosaitee ke lie main shubhakaamanaen aapake saath hai dhanyavaad

mahendra meena Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए mahendra जी का जवाब
Unknown
1:06
आपका सवाल स्वाभिमान क्या है जीवन में सफलता के लिए स्वाभिमान क्यों जरूरी है एक होता स्वाभिमान और एक होता है अभिमान अभिमान हमारे जैसा कोई नहीं हम जिस और को अच्छे से कर सकते हो कोई नहीं कर सकता दुनिया का कोई भी इंसान दुनिया के सबसे अच्छे इंसान हैं यह हमारा अभिमान और स्वाभिमान क्या है अपने आप पर गर्व करना एक खुशी की अनुभूति करना हमारे सपने को पा लिया तो हम अपने आप पर गर्व कर सकते हैं आने की हमें सोच सकते हैं कि हम विनय के इंसानों में से एक आंतरिक अनुभूति होती है
Aapaka savaal svaabhimaan kya hai jeevan mein saphalata ke lie svaabhimaan kyon jarooree hai ek hota svaabhimaan aur ek hota hai abhimaan abhimaan hamaare jaisa koee nahin ham jis aur ko achchhe se kar sakate ho koee nahin kar sakata duniya ka koee bhee insaan duniya ke sabase achchhe insaan hain yah hamaara abhimaan aur svaabhimaan kya hai apane aap par garv karana ek khushee kee anubhooti karana hamaare sapane ko pa liya to ham apane aap par garv kar sakate hain aane kee hamen soch sakate hain ki ham vinay ke insaanon mein se ek aantarik anubhooti hotee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • स्वाभिमान क्या है उच्च स्वाभिमान क्यों जरूरी है
URL copied to clipboard