#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?

Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:45
जख्म है क्या खूबसूरती तान में होता है या मन में खूब खूबसूरती तन में नहीं खूबसूरती मन में होनी चाहिए अच्छी मां की भावना से रहेंगे तो कोई चेहरे से काला भी है अगर अच्छा बोलता है शिवानी में अच्छा सोच अच्छे विचार वाला है तो उसे पूरे सोसाइटी में इज्जत होगी और अगर कोई उसी जगह पर को गोरा है और उसे ना बोलने आता है ना किसी से बात करने तो उसे उसकी सोसाइटी में हमेशा बदनामी होती रहेगी इसी की तरह मंच में खूबसूरती लाने के लिए तन्मय नहीं धन्यवाद
Jakhm hai kya khoobasooratee taan mein hota hai ya man mein khoob khoobasooratee tan mein nahin khoobasooratee man mein honee chaahie achchhee maan kee bhaavana se rahenge to koee chehare se kaala bhee hai agar achchha bolata hai shivaanee mein achchha soch achchhe vichaar vaala hai to use poore sosaitee mein ijjat hogee aur agar koee usee jagah par ko gora hai aur use na bolane aata hai na kisee se baat karane to use usakee sosaitee mein hamesha badanaamee hotee rahegee isee kee tarah manch mein khoobasooratee laane ke lie tanmay nahin dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:20
नमस्कार आपका थे वालेकुम कीर्तन में होती है या फिर मंडे होती है खूबसूरती जो होती है वह तन में भी होती है मन में भी होती लेकिन हमारे मन की खूबसूरती असली खूबसूरती होती है ऊपर से कितना भी खूबसूरत क्यों न हो मगर होकर किसी की किसी की मदद करने से घबराते हैं फिर नहीं करते हैं यदि वह एक अच्छे इंसान नहीं है उनके विचार अच्छी नहीं है उनकी खूबसूरती किसी काम की नहीं है अगर इंसान का तला सूरत होने के साथ-साथ उनका मन भी खूबसूरत हो एक बहुत ही अच्छे इंसान होंगे बहुत ही ज्यादा अच्छे इंसान हो और ऐसे इंसान की हमें जरूरत है अगर ऐसे इंसान हो हमारे समाज में हमारा समाज आगे बढ़ेगा और तरीके से एक प्रोग्रेस की तरफ आगे बढ़ेगा और हमारा समाज एक जागरूक समाज बन पाएगा तो हमारे लिए दोनों ही खुश होते ही आवश्यक होती है लेकिन सबसे पहले मलकीत हो समाज की आरती और हमारे लिए भी और अगर हमारे मन में खूबसूरती है तो उनके सामने तरीके से करेंगे और हम भी हम भी खुश रहेंगे और दूसरे भी खुश रहेंगे करते हैं सवाल का जवाब तो जाएगा आप लोगों के साथ को चाहिए दोस्तों को भी खुश रखे धन्यवाद
Namaskaar aapaka the vaalekum keertan mein hotee hai ya phir mande hotee hai khoobasooratee jo hotee hai vah tan mein bhee hotee hai man mein bhee hotee lekin hamaare man kee khoobasooratee asalee khoobasooratee hotee hai oopar se kitana bhee khoobasoorat kyon na ho magar hokar kisee kee kisee kee madad karane se ghabaraate hain phir nahin karate hain yadi vah ek achchhe insaan nahin hai unake vichaar achchhee nahin hai unakee khoobasooratee kisee kaam kee nahin hai agar insaan ka tala soorat hone ke saath-saath unaka man bhee khoobasoorat ho ek bahut hee achchhe insaan honge bahut hee jyaada achchhe insaan ho aur aise insaan kee hamen jaroorat hai agar aise insaan ho hamaare samaaj mein hamaara samaaj aage badhega aur tareeke se ek progres kee taraph aage badhega aur hamaara samaaj ek jaagarook samaaj ban paega to hamaare lie donon hee khush hote hee aavashyak hotee hai lekin sabase pahale malakeet ho samaaj kee aaratee aur hamaare lie bhee aur agar hamaare man mein khoobasooratee hai to unake saamane tareeke se karenge aur ham bhee ham bhee khush rahenge aur doosare bhee khush rahenge karate hain savaal ka javaab to jaega aap logon ke saath ko chaahie doston ko bhee khush rakhe dhanyavaad

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
Dinesh Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Ji
1:23
सवाल पूछा गया है कि क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में बहुत ही खूब प्रश्न किया गया है तो सवाल करता को बता दें कि खूबसूरती जो महत्व की होती है वह हमेशा मन की होती है परंतु खूबसूरती तन में भी हो सकती है यह भी किसी को नकारा नहीं इस बात को नकारा नहीं जा सकता क्योंकि अगर आप इंसान की पहचान उसका मन देख कर कर रहे हैं तो आपकी मन की आंखें बहुत ही खूबसूरत हैं जो बहुत ही ज्यादा महत्व की होती है परंतु अगर आप किसी इंसान की पहचान या इंसान के साथ जब तक जोड़ रहे हैं तो वह सिर्फ बाहरी सुंदरता को देखकर ही सिर्फ आप उसे जोड़ रहे हैं तो इससे आपकी आंखें जो है बाहर क्या कर वहीं से सुंदर है मन की आंखें नहीं इसलिए खूबसूरत दिखना तन का भी होता है और मन का भी होता है महत्व यह होता है कि आप किस आंखों से उसको देख रहे हो या किस-किस को ज्यादा महत्व दे रहे हो मन की आंखों को या तन की आंखों को उम्मीद करता हूं कि मेरे सवाल के साथ इस छोटे से जवाब के साथ आप संतुष्ट रहे होंगे अगर हां तो अपने अगले सवाल के साथ मुझसे भी जरूर जुड़िए गा धन्यवाद
Savaal poochha gaya hai ki kya khoobasooratee tan mein hotee hai ya man mein bahut hee khoob prashn kiya gaya hai to savaal karata ko bata den ki khoobasooratee jo mahatv kee hotee hai vah hamesha man kee hotee hai parantu khoobasooratee tan mein bhee ho sakatee hai yah bhee kisee ko nakaara nahin is baat ko nakaara nahin ja sakata kyonki agar aap insaan kee pahachaan usaka man dekh kar kar rahe hain to aapakee man kee aankhen bahut hee khoobasoorat hain jo bahut hee jyaada mahatv kee hotee hai parantu agar aap kisee insaan kee pahachaan ya insaan ke saath jab tak jod rahe hain to vah sirph baaharee sundarata ko dekhakar hee sirph aap use jod rahe hain to isase aapakee aankhen jo hai baahar kya kar vaheen se sundar hai man kee aankhen nahin isalie khoobasoorat dikhana tan ka bhee hota hai aur man ka bhee hota hai mahatv yah hota hai ki aap kis aankhon se usako dekh rahe ho ya kis-kis ko jyaada mahatv de rahe ho man kee aankhon ko ya tan kee aankhon ko ummeed karata hoon ki mere savaal ke saath is chhote se javaab ke saath aap santusht rahe honge agar haan to apane agale savaal ke saath mujhase bhee jaroor judie ga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
0:38
प्रश्न खूबसूरती तन से होती है या मन से तो दोस्तों चेहरा साफ सुथरा और सुंदर होना ही सब कुछ नहीं होता अगर आपने अच्छे गुण नहीं हैं तो आप अच्छे और भले व्यक्ति नहीं कहे जाएंगे यानी कहने का मतलब यह है कि अगर आपका मन खूबसूरत नहीं है खूबसूरत का मतलब अच्छे विचार अच्छी भावना अच्छे कर्तव्य इस प्रकार की चीज अगर आप में नहीं शामिल है तो आप पूर्ण रुप से खूबसूरत नहीं कहे जाएंगे खूबसूरती के साथ-साथ मनुष्य का मन भी स्वच्छ और साफ होना चाहिए धन्यवाद मित्र
Prashn khoobasooratee tan se hotee hai ya man se to doston chehara saaph suthara aur sundar hona hee sab kuchh nahin hota agar aapane achchhe gun nahin hain to aap achchhe aur bhale vyakti nahin kahe jaenge yaanee kahane ka matalab yah hai ki agar aapaka man khoobasoorat nahin hai khoobasoorat ka matalab achchhe vichaar achchhee bhaavana achchhe kartavy is prakaar kee cheej agar aap mein nahin shaamil hai to aap poorn rup se khoobasoorat nahin kahe jaenge khoobasooratee ke saath-saath manushy ka man bhee svachchh aur saaph hona chaahie dhanyavaad mitr

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:29
क्वेश्चन पूछा गया कि क्या खूबसूरती तन में होती हैं या मन में तो खूबसूरती देखा जाए तो वह दोनों में होते हैं क्योंकि कोई व्यक्ति जो होता है तन की खूबसूरती देखकर जो बताए किसी के प्रति जो है मोहित होता है तो कोई जरूरत है मन से उसकी भावनाओं को जो मैं कद्र करता है और मन की खूबसूरती को पहचानता है जिससे क्या होता है कि वह मोहित होता है तो यह जरूरी नहीं है कि हम तुमसे जो है किसी को खूबसूरत समझे या मन से
Kveshchan poochha gaya ki kya khoobasooratee tan mein hotee hain ya man mein to khoobasooratee dekha jae to vah donon mein hote hain kyonki koee vyakti jo hota hai tan kee khoobasooratee dekhakar jo batae kisee ke prati jo hai mohit hota hai to koee jaroorat hai man se usakee bhaavanaon ko jo main kadr karata hai aur man kee khoobasooratee ko pahachaanata hai jisase kya hota hai ki vah mohit hota hai to yah jarooree nahin hai ki ham tumase jo hai kisee ko khoobasoorat samajhe ya man se

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:21
नमस्कार दोस्तों तो एक दोस्त ने सवाल किया है कि क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में तो मेरे दोस्त खूबसूरती तो हर जगह होती है खूबसूरती तनी भी होती है और मन में भी होती है बट खूबसूरती को ऐसे दो तरह से काटा जा सकता है जिससे एक इंसान होता है इंसानों में कुछ इंसान बहुत खूबसूरत होते हैं बहुत सुंदर देखते ही बिस्तर वह क्या चीज है और कुछ लोग होते हैं जो देखने में इतनी अच्छी नहीं होता है ना तो अच्छा नहीं होता बट उनका मन बहुत ही अच्छा होता है और कुछ लोग ऐसे होते हैं जो तन और मन दोनों से खूबसूरत होते कुछ लोग ऐसे होते हैं जो खूबसूरत बहुत होते हैं पर उनका मन जो होता है वह अच्छा नहीं होता है वह लोगों का बुरा चाहते हैं लोगों से बात नहीं करूं को घमंड हो जाता है कि मैं बहुत खूबसूरत हूं तुम जीवन जीने के लिए समाज में जाने के लिए इंसान का तन खूबसूरत हो या ना हो लेकिन मन खूबसूरत होना चाहिए क्योंकि मन जब खूबसूरत लगता है अब मन से आप अच्छी हो स्वस्थ हो तो आप मन से हो रहे हो तो आप समाज में थोड़े ही दिनों के बाद आपकी एक अच्छी पहचान बन जाती है लोग आपको जिस पे नाचे देने लगते हैं और लेकिन अगर आप हमसे बहुत सुंदर हो तो आप एक नजर में सबको पसंद तो आ जाओगे लेकिन आपको गलत भी भी अभी आपका मन अगर काला है आपका अगर सोच गलत है आप भी अभी अच्छे से नहीं कर रहे हो तो कुछ ही दिनों में आपकी खूबसूरती से कोई मतलब नहीं होता लोग आपकी पीठ पीछे बुराई करने लगेंगे और आपसे कोई बात करना पसंद नहीं करेगा आपके साथ चलना उठना बैठना पसंद नहीं करेगा और जो मन की खूबसूरती है वह इंसान को इज्जत मान सम्मान समाज में एक पहचान दिलाती है तो मेरे हिसाब से और समाज में रहने के लिए तन से ज्यादा खूबसूरती मन की होनी चाहिए खूबसूरत अगर इंसान का है तो कोई इंसान समाज में और लोगों के लिए समय की नजर में बहुत ऊपर उठ जाता है वह रिस्पेक्ट मिलता है उसे और हर जगह चाहे वह ऑफिस में हो कोई आपकी फैमिली में हो या फिर आपके पड़ोस आस-पड़ोस में हो या समाज में हर जगह आपको इज्जत आपके मन की खूबसूरती से मिलती है ना कि तन की खूबसूरती से मिलती है तो इतना मस्त तो दोस्त हो सकता है कि आपको मेरी जवाब मैं आपको अपना जवाब मिल गया होगा और बस यही आशा करती हूं कि आप लोग हमेशा हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए और अपने आसपास स्वच्छता बनाए रखिए धन्यवाद
Namaskaar doston to ek dost ne savaal kiya hai ki kya khoobasooratee tan mein hotee hai ya man mein to mere dost khoobasooratee to har jagah hotee hai khoobasooratee tanee bhee hotee hai aur man mein bhee hotee hai bat khoobasooratee ko aise do tarah se kaata ja sakata hai jisase ek insaan hota hai insaanon mein kuchh insaan bahut khoobasoorat hote hain bahut sundar dekhate hee bistar vah kya cheej hai aur kuchh log hote hain jo dekhane mein itanee achchhee nahin hota hai na to achchha nahin hota bat unaka man bahut hee achchha hota hai aur kuchh log aise hote hain jo tan aur man donon se khoobasoorat hote kuchh log aise hote hain jo khoobasoorat bahut hote hain par unaka man jo hota hai vah achchha nahin hota hai vah logon ka bura chaahate hain logon se baat nahin karoon ko ghamand ho jaata hai ki main bahut khoobasoorat hoon tum jeevan jeene ke lie samaaj mein jaane ke lie insaan ka tan khoobasoorat ho ya na ho lekin man khoobasoorat hona chaahie kyonki man jab khoobasoorat lagata hai ab man se aap achchhee ho svasth ho to aap man se ho rahe ho to aap samaaj mein thode hee dinon ke baad aapakee ek achchhee pahachaan ban jaatee hai log aapako jis pe naache dene lagate hain aur lekin agar aap hamase bahut sundar ho to aap ek najar mein sabako pasand to aa jaoge lekin aapako galat bhee bhee abhee aapaka man agar kaala hai aapaka agar soch galat hai aap bhee abhee achchhe se nahin kar rahe ho to kuchh hee dinon mein aapakee khoobasooratee se koee matalab nahin hota log aapakee peeth peechhe buraee karane lagenge aur aapase koee baat karana pasand nahin karega aapake saath chalana uthana baithana pasand nahin karega aur jo man kee khoobasooratee hai vah insaan ko ijjat maan sammaan samaaj mein ek pahachaan dilaatee hai to mere hisaab se aur samaaj mein rahane ke lie tan se jyaada khoobasooratee man kee honee chaahie khoobasoorat agar insaan ka hai to koee insaan samaaj mein aur logon ke lie samay kee najar mein bahut oopar uth jaata hai vah rispekt milata hai use aur har jagah chaahe vah ophis mein ho koee aapakee phaimilee mein ho ya phir aapake pados aas-pados mein ho ya samaaj mein har jagah aapako ijjat aapake man kee khoobasooratee se milatee hai na ki tan kee khoobasooratee se milatee hai to itana mast to dost ho sakata hai ki aapako meree javaab main aapako apana javaab mil gaya hoga aur bas yahee aasha karatee hoon ki aap log hamesha hansate rahie muskuraate rahie aur apane aasapaas svachchhata banae rakhie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:45
हेलो फ्रेंड्स आप का प्रश्न है क्या खूबसूरती तन्य होती है या मन में होती है तो फ्रेंड्स बहुत ही अच्छा सवाल है यह की खूबसूरती तन में होती है मन में तो खूबसूरती मन में होती है तन की खूबसूरती तो सिर्फ दो-चार दिन ही लोग देते हैं लेकिन मन की खूबसूरती जीवन भर साथ देती है उसके मन में विचार बहुत अच्छे होते हैं तो उसका तन अपने आप खूबसूरत हो जाता है और उसे लोग अच्छी दृष्टि से दमन की खूबसूरती होना बहुत मायने रखता है जब हमारा मन अच्छा होगा हम अच्छे विचार सोचेंगे और लोगों से अच्छी बातें करेंगे झूठ नहीं बोलेंगे किसी को धोखा नहीं देंगे तो यह कहने का मतलब है कि मन की खूबसूरती ज्यादा मायने रखती है तन की खूबसूरती से कुछ नहीं होता है धन्यवाद
Helo phrends aap ka prashn hai kya khoobasooratee tany hotee hai ya man mein hotee hai to phrends bahut hee achchha savaal hai yah kee khoobasooratee tan mein hotee hai man mein to khoobasooratee man mein hotee hai tan kee khoobasooratee to sirph do-chaar din hee log dete hain lekin man kee khoobasooratee jeevan bhar saath detee hai usake man mein vichaar bahut achchhe hote hain to usaka tan apane aap khoobasoorat ho jaata hai aur use log achchhee drshti se daman kee khoobasooratee hona bahut maayane rakhata hai jab hamaara man achchha hoga ham achchhe vichaar sochenge aur logon se achchhee baaten karenge jhooth nahin bolenge kisee ko dhokha nahin denge to yah kahane ka matalab hai ki man kee khoobasooratee jyaada maayane rakhatee hai tan kee khoobasooratee se kuchh nahin hota hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
ravideep singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ravideep जी का जवाब
students
1:03

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
paramveer koshlaindra Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए paramveer जी का जवाब
Unknown
0:03
दोनों में होती है भाई दोनों
Donon mein hotee hai bhaee donon

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
mohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए mohit जी का जवाब
H0tal
0:26
दोस्तों सवाल है क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में वह दोस्तों शरीर साफ सफाई में सब कुछ नहीं होता क्योंकि इसके लिए मंकी साफ होना चाहिए के लिए अच्छे कर्म और कर्तव्य भी करनी चाहिए और खूबसूरती जो है वह मन में होनी चाहिए
Doston savaal hai kya khoobasooratee tan mein hotee hai ya man mein vah doston shareer saaph saphaee mein sab kuchh nahin hota kyonki isake lie mankee saaph hona chaahie ke lie achchhe karm aur kartavy bhee karanee chaahie aur khoobasooratee jo hai vah man mein honee chaahie

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:30
वाले क्या की खूबसूरती तन में होती है मन में देखिए दोस्तों की खूबसूरती है वह बाहरी लोग बहुत होटल में देखते हैं लेकिन मंजिल खूबसूरत होती है उसे लोग हमेशा मिलते नहीं जा पाते हैं लेकिन तन की खूबसूरती बहुत मेंटेन करते हैं तो तन और मन दोनों में खूब सोच अच्छी बात होती है अगर आपका मन खूबसूरत हो तो
Vaale kya kee khoobasooratee tan mein hotee hai man mein dekhie doston kee khoobasooratee hai vah baaharee log bahut hotal mein dekhate hain lekin manjil khoobasoorat hotee hai use log hamesha milate nahin ja paate hain lekin tan kee khoobasooratee bahut menten karate hain to tan aur man donon mein khoob soch achchhee baat hotee hai agar aapaka man khoobasoorat ho to

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
2:00
प्रश्न पूछा गया क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में लेके खूबसूरती की बात करें तो जिसका दिल देखकर अच्छा है उसे सब अच्छा ही लगता है वही जिसका दिल अच्छा नहीं है लेकिन उसके लिए कुछ भी खूबसूरत नहीं है इसलिए शायद यह कहते हैं इस दुनिया में देखकर कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं है सब देखिए अपना अपना नजरिया है बस आप भला तो जग भला हम किसी को दिखे तन की आंख से तो किसी को दुखी मन की आंख से देखते हैं तन की आग रखिए सिर्फ बाहरी खूबसूरती तक सीमित है वह दिखी चीजों को गहराई से नहीं समझती वही देखिए मन की आंख उसे उसके गुणों विशेषताओं और उसके उपयोगिता ओं की गहराई से देखती है इसलिए देखिए मैं यही कहूंगा कि दोनों के निर्णय में फर्क हो सकता है लेकिन सच तो यह है कि बाहरी खूबसूरती सिर्फ बाहर तक ही रहती है जबकि अंदर की खूबसूरती अन्नदाता जाती है ज्यादा स्थाई होती है बाहरी रूप रंग वक्त के साथ देखी बदलते रहते हैं लेकिन जो देखिए अंदर की खूबसूरती है वह वक्त के साथ और निखरती जाती यह हमारे दी के ऊपर है कि हम चीजों को कैसे देखते हैं और समझते हमें पल भर की खुशी चाहिए यह जीवन भर का हनन जैसे हार्दिक चमकती चीज सोना नहीं होती ना वैसे ही हर खूबसूरत चीज अच्छी हो यह भी जरूरी नहीं लेकिन देखिए हर अच्छी चीज खूबसूरत जरूर होती है बाहरी या बनावटी खूबसूरती का दिखे सहारा लेकर अंदर की बुराई को दिखे छुपाया जा सकता है जो इसे नहीं समझते वह दिखे ठगे जाते हैं जिसे देखिए अंदर की खूबसूरती से वास्ता है वह कभी बारिया बनावटी कोफ्तगरी खूबसूरती से लेकर चले नहीं जाती है तो आप इस तरीके से समझ सकते हैं खूबसूरती का जय हिंद जय भारत
Prashn poochha gaya kya khoobasooratee tan mein hotee hai ya man mein leke khoobasooratee kee baat karen to jisaka dil dekhakar achchha hai use sab achchha hee lagata hai vahee jisaka dil achchha nahin hai lekin usake lie kuchh bhee khoobasoorat nahin hai isalie shaayad yah kahate hain is duniya mein dekhakar kuchh bhee achchha ya bura nahin hai sab dekhie apana apana najariya hai bas aap bhala to jag bhala ham kisee ko dikhe tan kee aankh se to kisee ko dukhee man kee aankh se dekhate hain tan kee aag rakhie sirph baaharee khoobasooratee tak seemit hai vah dikhee cheejon ko gaharaee se nahin samajhatee vahee dekhie man kee aankh use usake gunon visheshataon aur usake upayogita on kee gaharaee se dekhatee hai isalie dekhie main yahee kahoonga ki donon ke nirnay mein phark ho sakata hai lekin sach to yah hai ki baaharee khoobasooratee sirph baahar tak hee rahatee hai jabaki andar kee khoobasooratee annadaata jaatee hai jyaada sthaee hotee hai baaharee roop rang vakt ke saath dekhee badalate rahate hain lekin jo dekhie andar kee khoobasooratee hai vah vakt ke saath aur nikharatee jaatee yah hamaare dee ke oopar hai ki ham cheejon ko kaise dekhate hain aur samajhate hamen pal bhar kee khushee chaahie yah jeevan bhar ka hanan jaise haardik chamakatee cheej sona nahin hotee na vaise hee har khoobasoorat cheej achchhee ho yah bhee jarooree nahin lekin dekhie har achchhee cheej khoobasoorat jaroor hotee hai baaharee ya banaavatee khoobasooratee ka dikhe sahaara lekar andar kee buraee ko dikhe chhupaaya ja sakata hai jo ise nahin samajhate vah dikhe thage jaate hain jise dekhie andar kee khoobasooratee se vaasta hai vah kabhee baariya banaavatee kophtagaree khoobasooratee se lekar chale nahin jaatee hai to aap is tareeke se samajh sakate hain khoobasooratee ka jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में?Kya Khubsurti Tan Mein Hoti Hai Ya Man Mein
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:09
नमस्कार दोस्तों प्रश्न बहुत ही अच्छा किया क्या खूबसूरती तन में होती या मन में होती है तो दोस्तों इसका उत्तर तो आप सुनेंगे तो भिन्न-भिन्न होगा लेकिन यह सुंदरता दोनों में ही व्याप्त होती है कई लोगों का तन बहुत सुंदर होता है भगवान ने बहुत अच्छी गधा होता है उसके उसको बहुत ही अच्छा प्रकाशमान उसका चेहरा दिखाई दे रहा होता है रंग गोरा होता है तो उससे लोग निश्चित रूप से आकर्षित होते हैं चाहे पुरुष हो या स्त्री बात कर लेते हैं मन की तो निश्चित रूप से देखिए बहुत सारे लोग तन से बहुत सुंदर होते हैं लेकिन मन से बहुत ही खराब होते हैं मन से लोगों का हित चाहते हैं मन से लोगों की सहायता नहीं करना चाहते तो झूमती हुई है अगर मन से अच्छा है तो निश्चित रूप से वह जो तन से काफी सुंदर देख रहा है उससे श्रेष्ठ कहीं ना कहीं है तो दोनों हमें होना चाहिए भगवान ने अगर संत सुंदर बनाया है तो उसको अभिमान नहीं होना चाहिए उसको मन से भी निश्चित रूप से सुंदर होना चाहिए धन्यवाद
Namaskaar doston prashn bahut hee achchha kiya kya khoobasooratee tan mein hotee ya man mein hotee hai to doston isaka uttar to aap sunenge to bhinn-bhinn hoga lekin yah sundarata donon mein hee vyaapt hotee hai kaee logon ka tan bahut sundar hota hai bhagavaan ne bahut achchhee gadha hota hai usake usako bahut hee achchha prakaashamaan usaka chehara dikhaee de raha hota hai rang gora hota hai to usase log nishchit roop se aakarshit hote hain chaahe purush ho ya stree baat kar lete hain man kee to nishchit roop se dekhie bahut saare log tan se bahut sundar hote hain lekin man se bahut hee kharaab hote hain man se logon ka hit chaahate hain man se logon kee sahaayata nahin karana chaahate to jhoomatee huee hai agar man se achchha hai to nishchit roop se vah jo tan se kaaphee sundar dekh raha hai usase shreshth kaheen na kaheen hai to donon hamen hona chaahie bhagavaan ne agar sant sundar banaaya hai to usako abhimaan nahin hona chaahie usako man se bhee nishchit roop se sundar hona chaahie dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या खूबसूरती तन में होती है या मन में खूबसूरती तन में होती है या मन में
URL copied to clipboard