#भारत की राजनीति

Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
2:18
खबर आई है कि दिल्ली की संजय झील में जिन बातों को और जल मुर्गियों की चाल अकादमी देखने लोग आते थे उनके संक्रमित होने के शक पर पलक झपकते ही उन्हें मार डाला गया बीते 10 दिनों से देश में कहीं भी किसी भी पक्षी को संक्रमित होने के शक होने पर आसपास के सभी पक्षी निर्माता से मार दिए जा रहे हैं और इस बार पक्षियों को मारने की शुरुआत कब से हुई है जिनकी प्रतिरोधक क्षमता सबसे सशक्त मानी जाती है और मध्यप्रदेश के मालवा के मंदसौर नेम चांद बाबू से सटे राजस्थान के झालावाड़ जिले में हुए मरे मिले हैं जबकि इस क्षेत्र में प्रवासी पक्षी कम ही आते हैं इसके बाद हिमाचल प्रदेश के 5 जिले में प्रवासी पक्षी मारे गए हैं और फिर केरल में पालतू मुर्गी और बत्तख ज्ञात है कि देश में बीते कई वर्षों से इस मौसम में बर्ड फ्लू का शोर मच रहा है पर अब किसी मनुष्य ने इसे मारे जाने का समाचार नहीं मिला है अलबत्ता इसे मुर्गी पालन में लगे लोगों की भारी नुकसान अवश्य होता है इस मौसम में पक्षियों को मारने के कारण हजारों किलोमीटर दूर से जीवन की उम्मीद के साथ आने वाले विपक्षी होते हैं जिनकी कई पोस्ट सदियों से इस मौसम में यहां आती रही है लेकिन इन्ना विचारों की मौत का सिलसिला कुछ दशक पहले से शुरू हुआ है ऐसे में मौत का असली कारण उनके प्राकृतिक पर्यावरण में लगातार हो रही छेड़छाड़ छेड़छाड़ व जलवायु परिवर्तन भी हो सकता है और आठ की छात्रा और उत्तरी ध्रुव में तब तापमान शून्य से 40 डिग्री तक नीचे चला जाता है तब यह पक्षी भारत का रुख करते हैं ऐसा हजारों वर्षों से होता आ रहा है इन पक्षियों के यहां आने का मुख्य उद्देश्य भोजन की तलाश तथा गर्मी और सर्दी से बच ना होता है तो इस तरह के पक्षियों को मारा जा रहा है और भारत में पक्षियों की स्थिति 2020 रिपोर्ट के अनुसार पक्षियों को लगता है संख्या घट रही है जो हमारे लिए चिंता का विषय भी है और बीते 25 वर्षों से हमारे पक्षी भी भेजता पर बड़ा हमला हुआ है सरकार को चाहिए कि इस पर एक जांच बैठा है इसकी जांच पड़ताल करें और अफवाह में और यही पक्षियों को ना मारे
Khabar aaee hai ki dillee kee sanjay jheel mein jin baaton ko aur jal murgiyon kee chaal akaadamee dekhane log aate the unake sankramit hone ke shak par palak jhapakate hee unhen maar daala gaya beete 10 dinon se desh mein kaheen bhee kisee bhee pakshee ko sankramit hone ke shak hone par aasapaas ke sabhee pakshee nirmaata se maar die ja rahe hain aur is baar pakshiyon ko maarane kee shuruaat kab se huee hai jinakee pratirodhak kshamata sabase sashakt maanee jaatee hai aur madhyapradesh ke maalava ke mandasaur nem chaand baaboo se sate raajasthaan ke jhaalaavaad jile mein hue mare mile hain jabaki is kshetr mein pravaasee pakshee kam hee aate hain isake baad himaachal pradesh ke 5 jile mein pravaasee pakshee maare gae hain aur phir keral mein paalatoo murgee aur battakh gyaat hai ki desh mein beete kaee varshon se is mausam mein bard phloo ka shor mach raha hai par ab kisee manushy ne ise maare jaane ka samaachaar nahin mila hai alabatta ise murgee paalan mein lage logon kee bhaaree nukasaan avashy hota hai is mausam mein pakshiyon ko maarane ke kaaran hajaaron kilomeetar door se jeevan kee ummeed ke saath aane vaale vipakshee hote hain jinakee kaee post sadiyon se is mausam mein yahaan aatee rahee hai lekin inna vichaaron kee maut ka silasila kuchh dashak pahale se shuroo hua hai aise mein maut ka asalee kaaran unake praakrtik paryaavaran mein lagaataar ho rahee chhedachhaad chhedachhaad va jalavaayu parivartan bhee ho sakata hai aur aath kee chhaatra aur uttaree dhruv mein tab taapamaan shoony se 40 digree tak neeche chala jaata hai tab yah pakshee bhaarat ka rukh karate hain aisa hajaaron varshon se hota aa raha hai in pakshiyon ke yahaan aane ka mukhy uddeshy bhojan kee talaash tatha garmee aur sardee se bach na hota hai to is tarah ke pakshiyon ko maara ja raha hai aur bhaarat mein pakshiyon kee sthiti 2020 riport ke anusaar pakshiyon ko lagata hai sankhya ghat rahee hai jo hamaare lie chinta ka vishay bhee hai aur beete 25 varshon se hamaare pakshee bhee bhejata par bada hamala hua hai sarakaar ko chaahie ki is par ek jaanch baitha hai isakee jaanch padataal karen aur aphavaah mein aur yahee pakshiyon ko na maare

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:41
हेलो फ्रेंड्स आप का प्रश्न है जिस प्रकार आज कर्मियों की मौत हो रही है क्या मौत की जांच पड़ताल होना नहीं चाहिए तो फ्रेंडशिप की जांच पड़ताल हो रही है और यह बर्ड फ्लू के कारण ही मौत हो रही है फ्रेंडशिप में और कोई जांच-पड़ताल की बात नहीं है बच्चों में बरसों हो गया है जिस तरह इंसानों में बीमारियां हो जाती हैं वैसे पक्षियों में भी बीमारियां होती है और खासकर सर्दियों के मौसम में तो उनमें भी ए बर्ड फ्लू हो गया है जिसमें से जिसमें पक्षियों को की मौत हो रही है बरसों के कारणों की जांच पड़ताल में यही निकला है कि यह बर्ड फ्लू के कारण बच्चे मर रहे हैं धन्यवाद
Helo phrends aap ka prashn hai jis prakaar aaj karmiyon kee maut ho rahee hai kya maut kee jaanch padataal hona nahin chaahie to phrendaship kee jaanch padataal ho rahee hai aur yah bard phloo ke kaaran hee maut ho rahee hai phrendaship mein aur koee jaanch-padataal kee baat nahin hai bachchon mein barason ho gaya hai jis tarah insaanon mein beemaariyaan ho jaatee hain vaise pakshiyon mein bhee beemaariyaan hotee hai aur khaasakar sardiyon ke mausam mein to unamen bhee e bard phloo ho gaya hai jisamen se jisamen pakshiyon ko kee maut ho rahee hai barason ke kaaranon kee jaanch padataal mein yahee nikala hai ki yah bard phloo ke kaaran bachche mar rahe hain dhanyavaad

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
0:49
हेलो अभिमान तो आज आप का सवाल है कि जिस प्रकार आजकल पत्नियों की मौत हो रही है तो क्या मौत की जांच पड़ताल होना नहीं चाहिए तो देखिए हां होना चाहिए मैं आज ही एक बार रिपोर्ट देख रही थी यह तो अपने मतलब की जांच पड़ताल की बात की गई थी क्या क्योंकि अभी मतलब बहुत सारे पक्षियों की मौत हो रही है तो जाना बहुत जरूरी है कि कौन से वायरस किस वजह से आगे की कौन सी पिक अप कितना खतरनाक हो जाता सबके लिए यह हम मतलब जान नहीं सकते पता भी नहीं कर पाते तो अभी से फिलहाल सेटिंग में डाल करना बहुत जरूरी है कि क्योंकि इस कारण की वजह ताकि हम अभी से काम कर सके तो ऐसा नहीं है कि अगर इतने सारे लोग मतलब कितने सारे पक्षियों की मौत हो रही है और फिर भी सब वैसे ही छोड़ दिया गया कैसे नहीं है जांच पड़ताल हो रहा है जल्द से जल्द में पता चल जाएगा क्या
Helo abhimaan to aaj aap ka savaal hai ki jis prakaar aajakal patniyon kee maut ho rahee hai to kya maut kee jaanch padataal hona nahin chaahie to dekhie haan hona chaahie main aaj hee ek baar riport dekh rahee thee yah to apane matalab kee jaanch padataal kee baat kee gaee thee kya kyonki abhee matalab bahut saare pakshiyon kee maut ho rahee hai to jaana bahut jarooree hai ki kaun se vaayaras kis vajah se aage kee kaun see pik ap kitana khataranaak ho jaata sabake lie yah ham matalab jaan nahin sakate pata bhee nahin kar paate to abhee se philahaal seting mein daal karana bahut jarooree hai ki kyonki is kaaran kee vajah taaki ham abhee se kaam kar sake to aisa nahin hai ki agar itane saare log matalab kitane saare pakshiyon kee maut ho rahee hai aur phir bhee sab vaise hee chhod diya gaya kaise nahin hai jaanch padataal ho raha hai jald se jald mein pata chal jaega kya

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:55
आरा का प्रश्न है जिस प्रकार आजकल पक्षियों की मौत हो रही है तो क्या मौत की जांच पड़ताल होना नहीं चाहिए तो आप बता देंगे बिल्कुल वैसे जो भी मौतें हो रही हैं पक्षियों की बस की चपेट में जांच होनी चाहिए पता चलना चाहिए कि आखिर मौत कैसे हुई है कोई बर्ड फ्लू के लक्षण तो नहीं पाएगा उस पक्ष में और खुद को भी सावधानी बरतनी चाहिए कभी भी इस तरह की अगर पक्षियों की मौत हो रही है तो उनको खुद से जाकर कभी ना उठाएं या उनकी मदद करें उसके लिए पूरी पी पी के पहन कर के ही उनको मदद करने की प्रयास करें और अगर आपके पास apk-dl लफ्ज़ अगर नहीं है तो शायद नहीं है तो फिर आप अथॉरिटीज को सूचित करें ताकि उनका प्रॉपर्टी कमेंट कराने ट्रीटमेंट हो सके या फिर अगर मौत हो गई है तो उसकी जांच करवाई जा सके मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Aara ka prashn hai jis prakaar aajakal pakshiyon kee maut ho rahee hai to kya maut kee jaanch padataal hona nahin chaahie to aap bata denge bilkul vaise jo bhee mauten ho rahee hain pakshiyon kee bas kee chapet mein jaanch honee chaahie pata chalana chaahie ki aakhir maut kaise huee hai koee bard phloo ke lakshan to nahin paega us paksh mein aur khud ko bhee saavadhaanee baratanee chaahie kabhee bhee is tarah kee agar pakshiyon kee maut ho rahee hai to unako khud se jaakar kabhee na uthaen ya unakee madad karen usake lie pooree pee pee ke pahan kar ke hee unako madad karane kee prayaas karen aur agar aapake paas apk-dl laphz agar nahin hai to shaayad nahin hai to phir aap athoriteej ko soochit karen taaki unaka propartee kament karaane treetament ho sake ya phir agar maut ho gaee hai to usakee jaanch karavaee ja sake main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
0:48
नमस्कार दोस्तों प्रश्न किस प्रकार आजकल पक्षियों की मौत हो रही है तो क्या मौत की जांच पड़ताल होनी चाहिए तो अवश्य दोस्तों पड़ताल होनी चाहिए यह केवल बर्ड फ्लू के नाम पर इसे बरगलाने वाली बात है क्योंकि सारे ऐसा नहीं हो सकता पक्षी बर्ड फ्लू की चपेट में आ जाए बहुत सारे पक्षी दूर भी रहते हैं ऐसा तो नहीं वह सभी लोगों को रोना हो गया अचानक इंसानों में ऐसी बर्ड फ्लू में भी ऐसा हो सकता है कई लोगों ने मेरे को बताया हो सकता है खबर झूठ भी हो सकता है कह रहे दीजिए रिलायंस का 5G का ट्रायल शुरू हो रहा है उसकी रेडिएशन से पक्षी मर रहे हैं या कोई अन्य कारण भी हो सकता है हो सकता है पूरी बात झूठ लेकिन इसकी सत्यता के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि ऐसा नहीं हो सकता कि अचानक पर पक्षी इतने सारे एक बार में मरने लग जाए हैं तो यह चिंता का विषय है और जांच का विषय भी है धन्यवाद
Namaskaar doston prashn kis prakaar aajakal pakshiyon kee maut ho rahee hai to kya maut kee jaanch padataal honee chaahie to avashy doston padataal honee chaahie yah keval bard phloo ke naam par ise baragalaane vaalee baat hai kyonki saare aisa nahin ho sakata pakshee bard phloo kee chapet mein aa jae bahut saare pakshee door bhee rahate hain aisa to nahin vah sabhee logon ko rona ho gaya achaanak insaanon mein aisee bard phloo mein bhee aisa ho sakata hai kaee logon ne mere ko bataaya ho sakata hai khabar jhooth bhee ho sakata hai kah rahe deejie rilaayans ka 5g ka traayal shuroo ho raha hai usakee redieshan se pakshee mar rahe hain ya koee any kaaran bhee ho sakata hai ho sakata hai pooree baat jhooth lekin isakee satyata ke baare mein pata hona chaahie kyonki aisa nahin ho sakata ki achaanak par pakshee itane saare ek baar mein marane lag jae hain to yah chinta ka vishay hai aur jaanch ka vishay bhee hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जिस प्रकार आजकल पक्षियों की मौत हो रही है तो क्या मौत की जांच पड़ताल होना नहीं चाहिए पक्षियों की मौत
URL copied to clipboard