#धर्म और ज्योतिषी

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:45
हेलो जीवन आपको किसने सावन के महीने में हिंदू रीति रिवाजों के अनुसार दाढ़ी कटवाना क्यों उचित होता है तो फ्रेंड से हिंदू रीति रिवाज में बहुत सारे लोग यह मानते हैं कि हम सावन के महीने में दाढ़ी कटवा एक ही समानता होती है मानने वाली बात होती है फ्रेंड बुजुर्गों से जब यह भी सुनते आते हैं वही मानते हैं तो हम जब पहले से ही सुनते आ रहे हैं तो हम लोग भी मानने वाले लोग यही मानते कि मैं सावन के महीने में दाढ़ी नहीं कटवाते सावन के महीने में शंकर भगवान की पूजा की जाती है तो शंकर भगवान तो वैसे भी जटा जूट दाढ़ी यह सब पसंद थी उनको इसीलिए सब लोग अपनी दाढ़ी नहीं कटवाते हैं और भोले बाबा की आराधना करते हैं तो फ्रेंड जवाब अच्छी लगे तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
Helo jeevan aapako kisane saavan ke maheene mein hindoo reeti rivaajon ke anusaar daadhee katavaana kyon uchit hota hai to phrend se hindoo reeti rivaaj mein bahut saare log yah maanate hain ki ham saavan ke maheene mein daadhee katava ek hee samaanata hotee hai maanane vaalee baat hotee hai phrend bujurgon se jab yah bhee sunate aate hain vahee maanate hain to ham jab pahale se hee sunate aa rahe hain to ham log bhee maanane vaale log yahee maanate ki main saavan ke maheene mein daadhee nahin katavaate saavan ke maheene mein shankar bhagavaan kee pooja kee jaatee hai to shankar bhagavaan to vaise bhee jata joot daadhee yah sab pasand thee unako iseelie sab log apanee daadhee nahin katavaate hain aur bhole baaba kee aaraadhana karate hain to phrend javaab achchhee lage to laik keejiega dhanyavaad

और जवाब सुनें

guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:31

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:26
किया गया सावन के महीने में हिंदू रीति रिवाजों के अनुसार दाढ़ी कटवाना क्यों वर्जित है दोस्तों सावन के महीने में दाढ़ी के बाल कटवाया नहीं जाता है यह बात तो सच है इसके पीछे का रीजन दोस्तों कुछ भी हो परंतु रीति-रिवाजों के अनुसार नहीं मैं वैज्ञानिक तर्क के आधार पर एक बात कहना चाहता है और इस दौरान वैज्ञानिक यह मानते हैं कि यदि इस मौसम के अंदर आपके शरीर को चोट या घाव आता है तो उसको भरने में काफी समय लग जाता है और यही कारण लोग शादी करवाते हैं उनको कटे लग जाता है खून में इन्फेक्शन होने का चांस होते हैं और इस चीज को लेकर वहां पर हाउ आर यू के कारण है एक वैज्ञानिक कारण के अनुसार तो देवी देवताओं के साथ जोड़ करके उसको अंधविश्वास के साथ कनेक्ट कर दिया जाता है हमारे फ्लोर लो पूर्वजों के प्राचीन समय से इस चीज को भलीभांति तरीके से जानती थी इसी वजह से लोगों को इसका असली मकसद को पता नहीं पता नहीं आएगा परंतु यदि इस को अंधविश्वास के साथ जोड़ा जाए तो मेरे साथ चलोगे इसको मानेंगे और यही कारण है कि अंधविश्वास को उन्होंने बढ़ावा देने की वजह से ही आज हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार
Kiya gaya saavan ke maheene mein hindoo reeti rivaajon ke anusaar daadhee katavaana kyon varjit hai doston saavan ke maheene mein daadhee ke baal katavaaya nahin jaata hai yah baat to sach hai isake peechhe ka reejan doston kuchh bhee ho parantu reeti-rivaajon ke anusaar nahin main vaigyaanik tark ke aadhaar par ek baat kahana chaahata hai aur is dauraan vaigyaanik yah maanate hain ki yadi is mausam ke andar aapake shareer ko chot ya ghaav aata hai to usako bharane mein kaaphee samay lag jaata hai aur yahee kaaran log shaadee karavaate hain unako kate lag jaata hai khoon mein inphekshan hone ka chaans hote hain aur is cheej ko lekar vahaan par hau aar yoo ke kaaran hai ek vaigyaanik kaaran ke anusaar to devee devataon ke saath jod karake usako andhavishvaas ke saath kanekt kar diya jaata hai hamaare phlor lo poorvajon ke praacheen samay se is cheej ko bhaleebhaanti tareeke se jaanatee thee isee vajah se logon ko isaka asalee makasad ko pata nahin pata nahin aaega parantu yadi is ko andhavishvaas ke saath joda jae to mere saath chaloge isako maanenge aur yahee kaaran hai ki andhavishvaas ko unhonne badhaava dene kee vajah se hee aaj hindoo reeti-rivaajon ke anusaar

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सावन के महीने में हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार दाढ़ी कटवाना क्यों वर्जित है सावन के महीने में दाढ़ी कटवाना क्यों वर्जित है
URL copied to clipboard