#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?

Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:06
तो आज आप का सवाल है कि क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है तो देखी मेरे हिसाब से सिर्फ लड़कियां ही क्यों लड़के हो या फिर लड़कियां किसी के लिए भी अच्छा नहीं है क्योंकि आप जितना इस चीज का इस्तेमाल करते इतना ज्यादा आप एडिक्टेड हो जाते हैं लत लग जाती है आपको और दिन प्रतिदिन आप अपनी ही आयु को कम करते जा रहे हैं और आप अपने ही शरीर खराब कर रहे हैं अपनी हेल्थ को खराब कर रहे हैं तो मेरे हिसाब से यह जिंदगी बहुत ही प्यारा है हम एक जीवन मिली है इसे इस तरह से धूम्रपान गलत शराबी सब चीजों के तरफ नहीं ले जाना चाहिए चाहे वह लड़का हो या लड़की हर एक लोगों को खुश रहना चाहिए अपने काम में अपने लक्ष्य पर ध्यान देना चाहिए अपनी फैमिली के साथ रहना चाहिए अच्छी चीजों को करने में प्रॉब्लम होता है स्ट्रगल करना पड़ता है लेकिन जो आपको आगे चलकर और प्राप्त करके जो खुशी मिलती है वह आपको यह सब लत लग यह सब मैं आपको खुशी नहीं मिलेगी तो मेरे हिसाब से चाहे वह जो भी इंसान हूं किसी को भी धूम्रपान नहीं करना चाहिए
To aaj aap ka savaal hai ki kya aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana sahee hai to dekhee mere hisaab se sirph ladakiyaan hee kyon ladake ho ya phir ladakiyaan kisee ke lie bhee achchha nahin hai kyonki aap jitana is cheej ka istemaal karate itana jyaada aap edikted ho jaate hain lat lag jaatee hai aapako aur din pratidin aap apanee hee aayu ko kam karate ja rahe hain aur aap apane hee shareer kharaab kar rahe hain apanee helth ko kharaab kar rahe hain to mere hisaab se yah jindagee bahut hee pyaara hai ham ek jeevan milee hai ise is tarah se dhoomrapaan galat sharaabee sab cheejon ke taraph nahin le jaana chaahie chaahe vah ladaka ho ya ladakee har ek logon ko khush rahana chaahie apane kaam mein apane lakshy par dhyaan dena chaahie apanee phaimilee ke saath rahana chaahie achchhee cheejon ko karane mein problam hota hai stragal karana padata hai lekin jo aapako aage chalakar aur praapt karake jo khushee milatee hai vah aapako yah sab lat lag yah sab main aapako khushee nahin milegee to mere hisaab se chaahe vah jo bhee insaan hoon kisee ko bhee dhoomrapaan nahin karana chaahie

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:53
पैसे वालों की क्या आज के समय में लड़कियों का समर्थन करना चाहिए तो वैसे दोनों पाना तो सड़कों के लिए सही है और ना ही लड़कियों के लिए यदि इस कांड के रहे हैं कि लड़कियां प्रेग्नेंट होती है अभी वेदों में आएगा किंतु शिशु के स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है तो भाई जो लड़की धूम्रपान करते हैं उसका तो इस प्रेम होता है वह भी तो सही नहीं है इससे भी आने वाले शिष्यों का दुष्प्रभाव पड़ता है कि यदि आप धूम्रपान करते हैं और आप किसी लड़के को कहे कि पेंदु मकान मत किया करो तब आप गलत हैं पर यदि आप तो भगवान नहीं करते हैं और आप किसी लड़की को कह की पहचान मत किया करो तब आप एकदम सही है ना
Paise vaalon kee kya aaj ke samay mein ladakiyon ka samarthan karana chaahie to vaise donon paana to sadakon ke lie sahee hai aur na hee ladakiyon ke lie yadi is kaand ke rahe hain ki ladakiyaan pregnent hotee hai abhee vedon mein aaega kintu shishu ke svaasthy ke lie sahee nahin hai to bhaee jo ladakee dhoomrapaan karate hain usaka to is prem hota hai vah bhee to sahee nahin hai isase bhee aane vaale shishyon ka dushprabhaav padata hai ki yadi aap dhoomrapaan karate hain aur aap kisee ladake ko kahe ki pendu makaan mat kiya karo tab aap galat hain par yadi aap to bhagavaan nahin karate hain aur aap kisee ladakee ko kah kee pahachaan mat kiya karo tab aap ekadam sahee hai na

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:54
सुप्रभात आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना है कितना सही है प्रश्न थोड़ा सा जीव है लड़कियों का क्यों है मैं तो कहता हूं धूम्रपान करना सभी के लिए गलत है चाहे वह लड़की हो लड़का हो स्त्री पुरुष धूम्रपान करने से शारीरिक कमजोरी आती है बीमारियां पैदा होती है करेगी तो लड़कियों को भुगतान करना पड़ेगा लड़के करेंगे तो लड़कों को इसलिए आज के समय में किसी को भी धूम्रपान नहीं करना चाहिए क्योंकि वैसे भी माता बहुत गंदा है चारों तरफ से प्रदूषित हवाएं आती है शहरों में तो हवा की जो उन गुणवत्ता है वह बहुत गिरी हुई है तो फिर आप ऊपर से उम्र पान करेंगे तो आपका स्वास्थ्य बिल्कुल खराब हो जाएगा किसी को भी धूम्रपान नहीं करना चाहिए धन्यवाद
Suprabhaat aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana hai kitana sahee hai prashn thoda sa jeev hai ladakiyon ka kyon hai main to kahata hoon dhoomrapaan karana sabhee ke lie galat hai chaahe vah ladakee ho ladaka ho stree purush dhoomrapaan karane se shaareerik kamajoree aatee hai beemaariyaan paida hotee hai karegee to ladakiyon ko bhugataan karana padega ladake karenge to ladakon ko isalie aaj ke samay mein kisee ko bhee dhoomrapaan nahin karana chaahie kyonki vaise bhee maata bahut ganda hai chaaron taraph se pradooshit havaen aatee hai shaharon mein to hava kee jo un gunavatta hai vah bahut giree huee hai to phir aap oopar se umr paan karenge to aapaka svaasthy bilkul kharaab ho jaega kisee ko bhee dhoomrapaan nahin karana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
s Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए s जी का जवाब
Unknown
0:04
आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना गलत है

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:33
दोस्तों प्रश्न है कि आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान पान करना सही है तो दोस्तों जैसे जैसे शहरीकरण हो रहा है लड़कियां पुरुष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को बेताब हो रही है यह कोई बुराई वाली बात नहीं है लेकिन जैसे कुछ लड़के आजकल कॉलेज वगैरा समय में ऑफिस में जैसे वह दबाव में रहते हैं वैसे लड़कियां भी रहती हैं कई लोग लड़के पत्नी के चक्कर में सिगरेट पीते हैं और बाद में बात बन जाती है ऐसी ही वह महिला साथी मित्र होते हैं उनको भी खिलाने कोशिश करते हैं बोलते हैं कुछ नहीं होता कुछ नहीं हो जाता और कई जगह ऑफिस में प्रेशर इतना ज्यादा है तो उस प्रेशर को कम करने के लिए जैसे आदमी करता है वैसे स्त्रियां भी करती हैं लेकिन दोस्तों लड़कियों के लिए नुकसानदायक है खासतौर से वैसे तो पुरुषों के लिए भी नुकसानदायक है लेकिन लड़कियां जो एक भगवान ने उन्हें स्थान संतान उत्पत्ति के लिए बनाया गया है उस में बाधक आ सकता है और हमारा संस्कृति में स्वीकार भी नहीं किया जाता है इस केंद्र लेकिन सबकी अपनी अपनी जीवन जीने की आजकल आजादी है इसके अंदर कोई किसी को कुछ कह नहीं सकते लेकिन लड़कियों को खासतौर से सिगरेट पीना है इसको अवार्ड करना चाहिए सिगरेट नहीं पीना चाहिए एक तो संस्कृति गलत दिखाता है भारत की और उनको स्वास्थ्य केंद्र वाले स्वास्थ्य के अनुसार देखा जाए तो पुरुष के जा पुरुष के साथ-साथ स्त्रियों में ज्यादा इसका नुकसान देखने को पाया जाता है धन्यवाद
Doston prashn hai ki aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan paan karana sahee hai to doston jaise jaise shahareekaran ho raha hai ladakiyaan purush ke saath kandhe se kandha milaakar chalane ko betaab ho rahee hai yah koee buraee vaalee baat nahin hai lekin jaise kuchh ladake aajakal kolej vagaira samay mein ophis mein jaise vah dabaav mein rahate hain vaise ladakiyaan bhee rahatee hain kaee log ladake patnee ke chakkar mein sigaret peete hain aur baad mein baat ban jaatee hai aisee hee vah mahila saathee mitr hote hain unako bhee khilaane koshish karate hain bolate hain kuchh nahin hota kuchh nahin ho jaata aur kaee jagah ophis mein preshar itana jyaada hai to us preshar ko kam karane ke lie jaise aadamee karata hai vaise striyaan bhee karatee hain lekin doston ladakiyon ke lie nukasaanadaayak hai khaasataur se vaise to purushon ke lie bhee nukasaanadaayak hai lekin ladakiyaan jo ek bhagavaan ne unhen sthaan santaan utpatti ke lie banaaya gaya hai us mein baadhak aa sakata hai aur hamaara sanskrti mein sveekaar bhee nahin kiya jaata hai is kendr lekin sabakee apanee apanee jeevan jeene kee aajakal aajaadee hai isake andar koee kisee ko kuchh kah nahin sakate lekin ladakiyon ko khaasataur se sigaret peena hai isako avaard karana chaahie sigaret nahin peena chaahie ek to sanskrti galat dikhaata hai bhaarat kee aur unako svaasthy kendr vaale svaasthy ke anusaar dekha jae to purush ke ja purush ke saath-saath striyon mein jyaada isaka nukasaan dekhane ko paaya jaata hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:31
लड़को से पूछा गया कि क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही या गलत है तो आज के समय में हम देखा जाए तो लड़का या लड़की कोई भी हो हमें धूम्रपान स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से जोड़ता है हानिकारक होता है इसलिए कभी भी धूम्रपान नहीं करना चाहिए खासकर लड़कियों की बात है तो लड़की में जो होता है उन्हें समाज में जो होती है एक अलग नजर से देखे जाते हैं और देखा जाए तो लड़की को खासतौर जो है धूम्रपान करना जो है स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से और भी पूरा होता है
Ladako se poochha gaya ki kya aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana sahee ya galat hai to aaj ke samay mein ham dekha jae to ladaka ya ladakee koee bhee ho hamen dhoomrapaan svaasthy ke drshtikon se jodata hai haanikaarak hota hai isalie kabhee bhee dhoomrapaan nahin karana chaahie khaasakar ladakiyon kee baat hai to ladakee mein jo hota hai unhen samaaj mein jo hotee hai ek alag najar se dekhe jaate hain aur dekha jae to ladakee ko khaasataur jo hai dhoomrapaan karana jo hai svaasthy ke drshtikon se aur bhee poora hota hai

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:59
हेलो फ्रेंड नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है क्या आज के समय में लड़कियों को धूम्रपान करना सही है दिखी फ्रेंड लड़कियों को जो है धूम्रपान तो क्या किसी प्रकार की अनैतिक अल चीजों में इंवॉल्व रहना जो है वह खतरे से खाली नहीं होता फ्रेंड्स इन आजकल क्या है हम लड़कियों को जो है उत्साहित करते हैं कि आप लड़कों से कम नहीं है आप हर एक काम कर सकती हैं जो कि सही बात है फ्रेंड लड़कों से आगे लड़कियां हैं भी उन्हें अपना काम करना भी चाहिए लेकिन यह सोच समझकर फ्रेंड की क्या गलत है और क्या हानिकारक है हालांकि मैं इसका समर्थन बिल्कुल नहीं करता कि धूम्रपान जो है वह लड़कों के लिए बना है लड़कियों के लिए नहीं यह मैं बिल्कुल नहीं कहता क्योंकि धूम्रपान एक ऐसी चीज है सेंड कि यह किसी के लिए नहीं बनाया यह जब हमारे पहले आग अगर आप इतिहास उठाकर देखें फ्रेंड तो धूम्रपान की शुरुआत कहां से हुई यह फ्रेंड जो पहले बुड्ढे बुजुर्ग लोग बैठा करते थे खाली समय में बैठा करते थे तो उठ जाते थे और 4 लोग जब एक साथ बैठते थे कुछ बात करते थे तो उनको लगता था कि यार कुछ खाया जाए उसकी आ जाए तू है इस प्रकार से जो है वह धूम्रपान की जो है शुरुआत हुई सबसे पहले सर्वप्रथम जो है जैसे कि चाय की शुरुआत हुई चाय की हिस्ट्री अगर हम देखें तो सबसे पहले फ्रेंड चाय की शुरुआत जो है वह अंग्रेजो के द्वारा हुई थी यह जो है अपनी चाय का बागान में मतलब रहते थे अपनी जो है खेतीबाड़ी करते थे चाय का और चाय की बिक्री फ्रेंड कम थी तो यह हिंदुस्तान है हिंदुस्तान में जो लोग खाली बैठे थे उनको इन हिंदी धीरे-धीरे चाय पिलाया निशुल्क रूप में चाय पिलाया और जब यह आधी हो गए तो उसे जो है पैसे के रूप में कन्वर्ट कर दिया और उसे एक अपना व्यवसाय जो है बना लिया दो तीन चीजें होती हैं फ्रेंड कि हमें चाय का हुआ धूम्रपान का हुआ लत लगाने वाले बहुत सारे मिल जाते हैं तो यह बहुत गलत बात है लड़कियों को के लिए मैसेजेस यही करूंगा जो मेरी बहन ने मेरी बात सुन रही है उनको मैं सजेस्ट करना चाहता हूं अगर आप किसी भी ऐसे दुरुपयोग कार में जो है इंवॉल्व हैं तो आप तुरंत वहां से हट जाए क्योंकि इसमें जो है किसी प्रकार की आपकी लाइफ नहीं है फ्रेंड आपका जो कार है भगवान ने आपको खुद ही दे दिया हुआ है कि आप घर की जो है लक्ष्मी माना गया फ्रेंड लड़कियों को अब अगर सोच लीजिए कि लक्ष्मी ही अगर तू लक्ष्मी का काम करने लगेंगे तू वह घर जो है कितना अच्छा जाएगा इसके आगे मैं अपनी बातों को नहीं कहूंगा फ्रेंड आज शायद जवाब पसंद आया होगा शुक्र
Helo phrend namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai kya aaj ke samay mein ladakiyon ko dhoomrapaan karana sahee hai dikhee phrend ladakiyon ko jo hai dhoomrapaan to kya kisee prakaar kee anaitik al cheejon mein involv rahana jo hai vah khatare se khaalee nahin hota phrends in aajakal kya hai ham ladakiyon ko jo hai utsaahit karate hain ki aap ladakon se kam nahin hai aap har ek kaam kar sakatee hain jo ki sahee baat hai phrend ladakon se aage ladakiyaan hain bhee unhen apana kaam karana bhee chaahie lekin yah soch samajhakar phrend kee kya galat hai aur kya haanikaarak hai haalaanki main isaka samarthan bilkul nahin karata ki dhoomrapaan jo hai vah ladakon ke lie bana hai ladakiyon ke lie nahin yah main bilkul nahin kahata kyonki dhoomrapaan ek aisee cheej hai send ki yah kisee ke lie nahin banaaya yah jab hamaare pahale aag agar aap itihaas uthaakar dekhen phrend to dhoomrapaan kee shuruaat kahaan se huee yah phrend jo pahale buddhe bujurg log baitha karate the khaalee samay mein baitha karate the to uth jaate the aur 4 log jab ek saath baithate the kuchh baat karate the to unako lagata tha ki yaar kuchh khaaya jae usakee aa jae too hai is prakaar se jo hai vah dhoomrapaan kee jo hai shuruaat huee sabase pahale sarvapratham jo hai jaise ki chaay kee shuruaat huee chaay kee histree agar ham dekhen to sabase pahale phrend chaay kee shuruaat jo hai vah angrejo ke dvaara huee thee yah jo hai apanee chaay ka baagaan mein matalab rahate the apanee jo hai kheteebaadee karate the chaay ka aur chaay kee bikree phrend kam thee to yah hindustaan hai hindustaan mein jo log khaalee baithe the unako in hindee dheere-dheere chaay pilaaya nishulk roop mein chaay pilaaya aur jab yah aadhee ho gae to use jo hai paise ke roop mein kanvart kar diya aur use ek apana vyavasaay jo hai bana liya do teen cheejen hotee hain phrend ki hamen chaay ka hua dhoomrapaan ka hua lat lagaane vaale bahut saare mil jaate hain to yah bahut galat baat hai ladakiyon ko ke lie maisejes yahee karoonga jo meree bahan ne meree baat sun rahee hai unako main sajest karana chaahata hoon agar aap kisee bhee aise durupayog kaar mein jo hai involv hain to aap turant vahaan se hat jae kyonki isamen jo hai kisee prakaar kee aapakee laiph nahin hai phrend aapaka jo kaar hai bhagavaan ne aapako khud hee de diya hua hai ki aap ghar kee jo hai lakshmee maana gaya phrend ladakiyon ko ab agar soch leejie ki lakshmee hee agar too lakshmee ka kaam karane lagenge too vah ghar jo hai kitana achchha jaega isake aage main apanee baaton ko nahin kahoonga phrend aaj shaayad javaab pasand aaya hoga shukr

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Porshia Chawla Ban Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Porshia जी का जवाब
मनोवैज्ञानिक, हैप्पीनेस कोच, ट्रेनर (सॉफ्ट स्किल्स/कॉर्पोरेट)
4:03
समस्या कहां पर है उत्पन्न होती है कि जहां आप किसी को सिर्फ उसके लिंग के हिसाब से रोकने की कोशिश करते हो या उकसाने की कोशिश करते हो अब जैसे आप देखोगे कभी भी कि लड़कों का ग्रुप है और लड़के कहते हैं ले ले पी ले पी ले कुछ नहीं होता आदमी नहीं है क्या तुम मर्द नहीं है क्या तो पीने की आदत लग जाती है लड़कियों को पीता देखते हैं तो बोलते हैं किस को शर्म नहीं आती है तो इसको संस्कार नहीं है यह मां बाप ने कुछ खाया नहीं है या गंदी आदतें हैं तो लड़का हो या लड़की सिगरेट पीना छोड़ दे नुकसानदायक है दोनों को ही long-run में यह बेनिफिट नहीं देता है नुकसान ही करता है तो यह एक जैसे जापान में आज क्या हो रहा है पहले बहुत ज्यादा स्मोकिंग का ट्रेन का और बहुत ज्यादा सपोर्ट करते हैं जाती है लेकिन अभी कैसा है वहां पर ले लेते हैं कसम खाते हैं कि हम स्मोक नहीं करेंगे ड्रिंक में करेंगे और यंगस्टर्स जो है जो जो बॉयज हैं गर्ल्स है जो पार्टी करते हैं इस बार घूमने जाते हैं इसमें जाते हैं वह प्लाज लेते हैं कि यह हम इंजॉय तो करेंगे लेकिन हम यह सब फैशन नहीं करेंगे तो यह कुछ ग्रुप से रहते हैं और वह एक्टिविटी फिर इस चीज को अवेयरनेस क्रिएट करते और प्रमोट करते हैं तो आज की डेट में ही होना चाहिए कि दोनों लड़का और लड़की बचपन से ही यह अवेयरनेस जागे कि यह चीज सही नहीं है इसके बड़े नुकसान है याद गंदी है बुरी है और इसको नहीं करना है टेंशन है परेशानी है आप सेट हो तो वह गम गलत करने के लिए इन का सहारा ना देते हुए किसी काउंसलर के पास जाएं तो कल चले को गलत प्रमोट हुआ है कल्चरल फिल्मों के द्वारा हुआ हूं वेब सीरीज के द्वारा हुआ हो या पेरेंट्स के द्वारा हूं कि पैरंट भी कोई जिम्मेदार है अगर फादर चमक करते हैं तो बहुत हाय पॉसिबिलिटी है कि जो कन्हैया डॉटर है वह भी सूट करेगी यह बिटवीन करेगी तो इसीलिए आप देखो की जड़ कहां है और उस जड़ के ऊपर वार करो इस तरह से कमेंट करने से सोसाइटी में यह हो रहा है वह हो रहा है ऐसा नहीं होता है नहीं होता यह होना चाहिए वह होना चाहिए इससे तो समाधान कभी मिलने नहीं वाला है आप की भड़ास बस थोड़ी देर के लिए निकल जाएगी अगर आप वाकई में चाहते हैं कि सोसाइटी में चेंज आए हैं आपकी जो जनरेशन है वह इस चीज से बाहर आए हैं आपके बच्चे जो हैं वह चीज में ना पड़े तो झूठ क्यों है उन पर जाइए और जो आप की नींव है वह मजबूत करें एक घर भी शुरुआत करता है अगर इसकी तो आप देखो रिप्पल इफेक्ट होता है जैसे अगर मान लीजिए कि मैं ड्रिंक नहीं करती हूं स्मोक नहीं करती हूं मुझे बहुत सी चीजें क्लियर है मेरा बहुत स्ट्रांग पढ़ना है प्रिंसिपल है हर चीज को लेकर तो मेरे आस-पास के लोगों को भी मैं फिर अवेयरनेस क्रिएट करती हूं या वह उनके ऊपर भी मेरा इंपैक्ट पड़ेगा ऐसे ही फिर उनका और 10 लोगों पर पड़ेगा ऐसे क्षीण होती है तो कोई एक भी सुधर जाता है या कोई एक भी अगर मैं जान जाता है बदलाव आता है तो हर जगह आता है तो दिमाग से यह चीज निकाल दो कि लड़कियों को नहीं यह सोचो यह क्वेश्चन पूछो कि कैसे हम यह कुछ मॉकिंग और जो ड्रिंकिंग का कल्चर इसको कैसे खत्म करें खत्म कर देंगे वहीं ना क्योंकि अभी मुंबई में एक लड़की को मर्डर कर दिया गया है कि कॉलेज में भी वह शायद ड्रग्स कनफ्लुएंस देगा क्या था और क्या क्या चीज में कर रहे थे वह लोग पार्टी में तो कोई देखने वाला नहीं है बोलने वाला नहीं है जो 20 साल के बच्चे 18 साल के उतना ड्रिंक कर रहे हैं इतना स्मोक कर रहे हैं तो यह कहां गण चहिए स्कूल कहां से है और कहां से यह फैशनेबल अट रंडी है नहीं है ना और जिसने खो दिया अपने बच्चे को उसको तो अब जाग जाना चाहिए कि देखो कैसे भी हो क्या भी हो हम को स्ट्रांग रहना है और और लोग क्या कर रहे हो उस में ना फंसे हुए टीवी में क्या दिखा रहे हैं उससे इंशुरंस ना होते हैं हमको क्या जीवन से चाहिए हम क्या करना चाहते हैं उस पर फोकस करना जरूरी है जैसे हम यह करते हैं तो हम देखेंगे कि यह जो क्लाउड हैंग आउट थे और यह जो सिचुएशन सेडिसी पेट होने लगेंगी 130 मेरी विनती में तो होने लगेगी और यह वाकई में होता है धन्यवाद
Samasya kahaan par hai utpann hotee hai ki jahaan aap kisee ko sirph usake ling ke hisaab se rokane kee koshish karate ho ya ukasaane kee koshish karate ho ab jaise aap dekhoge kabhee bhee ki ladakon ka grup hai aur ladake kahate hain le le pee le pee le kuchh nahin hota aadamee nahin hai kya tum mard nahin hai kya to peene kee aadat lag jaatee hai ladakiyon ko peeta dekhate hain to bolate hain kis ko sharm nahin aatee hai to isako sanskaar nahin hai yah maan baap ne kuchh khaaya nahin hai ya gandee aadaten hain to ladaka ho ya ladakee sigaret peena chhod de nukasaanadaayak hai donon ko hee long-run mein yah beniphit nahin deta hai nukasaan hee karata hai to yah ek jaise jaapaan mein aaj kya ho raha hai pahale bahut jyaada smoking ka tren ka aur bahut jyaada saport karate hain jaatee hai lekin abhee kaisa hai vahaan par le lete hain kasam khaate hain ki ham smok nahin karenge drink mein karenge aur yangastars jo hai jo jo boyaj hain garls hai jo paartee karate hain is baar ghoomane jaate hain isamen jaate hain vah plaaj lete hain ki yah ham injoy to karenge lekin ham yah sab phaishan nahin karenge to yah kuchh grup se rahate hain aur vah ektivitee phir is cheej ko aveyaranes kriet karate aur pramot karate hain to aaj kee det mein hee hona chaahie ki donon ladaka aur ladakee bachapan se hee yah aveyaranes jaage ki yah cheej sahee nahin hai isake bade nukasaan hai yaad gandee hai buree hai aur isako nahin karana hai tenshan hai pareshaanee hai aap set ho to vah gam galat karane ke lie in ka sahaara na dete hue kisee kaunsalar ke paas jaen to kal chale ko galat pramot hua hai kalcharal philmon ke dvaara hua hoon veb seereej ke dvaara hua ho ya perents ke dvaara hoon ki pairant bhee koee jimmedaar hai agar phaadar chamak karate hain to bahut haay posibilitee hai ki jo kanhaiya dotar hai vah bhee soot karegee yah bitaveen karegee to iseelie aap dekho kee jad kahaan hai aur us jad ke oopar vaar karo is tarah se kament karane se sosaitee mein yah ho raha hai vah ho raha hai aisa nahin hota hai nahin hota yah hona chaahie vah hona chaahie isase to samaadhaan kabhee milane nahin vaala hai aap kee bhadaas bas thodee der ke lie nikal jaegee agar aap vaakee mein chaahate hain ki sosaitee mein chenj aae hain aapakee jo janareshan hai vah is cheej se baahar aae hain aapake bachche jo hain vah cheej mein na pade to jhooth kyon hai un par jaie aur jo aap kee neenv hai vah majaboot karen ek ghar bhee shuruaat karata hai agar isakee to aap dekho rippal iphekt hota hai jaise agar maan leejie ki main drink nahin karatee hoon smok nahin karatee hoon mujhe bahut see cheejen kliyar hai mera bahut straang padhana hai prinsipal hai har cheej ko lekar to mere aas-paas ke logon ko bhee main phir aveyaranes kriet karatee hoon ya vah unake oopar bhee mera impaikt padega aise hee phir unaka aur 10 logon par padega aise ksheen hotee hai to koee ek bhee sudhar jaata hai ya koee ek bhee agar main jaan jaata hai badalaav aata hai to har jagah aata hai to dimaag se yah cheej nikaal do ki ladakiyon ko nahin yah socho yah kveshchan poochho ki kaise ham yah kuchh moking aur jo drinking ka kalchar isako kaise khatm karen khatm kar denge vaheen na kyonki abhee mumbee mein ek ladakee ko mardar kar diya gaya hai ki kolej mein bhee vah shaayad drags kanaphluens dega kya tha aur kya kya cheej mein kar rahe the vah log paartee mein to koee dekhane vaala nahin hai bolane vaala nahin hai jo 20 saal ke bachche 18 saal ke utana drink kar rahe hain itana smok kar rahe hain to yah kahaan gan chahie skool kahaan se hai aur kahaan se yah phaishanebal at randee hai nahin hai na aur jisane kho diya apane bachche ko usako to ab jaag jaana chaahie ki dekho kaise bhee ho kya bhee ho ham ko straang rahana hai aur aur log kya kar rahe ho us mein na phanse hue teevee mein kya dikha rahe hain usase inshurans na hote hain hamako kya jeevan se chaahie ham kya karana chaahate hain us par phokas karana jarooree hai jaise ham yah karate hain to ham dekhenge ki yah jo klaud haing aaut the aur yah jo sichueshan sedisee pet hone lagengee 130 meree vinatee mein to hone lagegee aur yah vaakee mein hota hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:34
आज के आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना चाहिए दोस्तों वैसे देखा जाए तो धूम्रपान करने से स्वास्थ्य को हानि कारक है इसका इस्तेमाल किया लड़कियां करती है कि लड़की दोनों के नुकसान तो मैं बिल्कुल भी ऐसा नहीं कहूंगा कि आप धूम्रपान का सेवन कीजिए दोस्तों आज के दौर में दिया अब देखिए तो लड़की हो कि लड़का हर कोई धूम्रपान करता है और जातक बातें लड़कियों की तो देखे जातक के लड़कों को नुकसान करता है तो लड़कियों को कौन सा फायदा करेगा तो मेरे धूम्रपान जूस का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए लड़की होते लड़कियों
Aaj ke aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana chaahie doston vaise dekha jae to dhoomrapaan karane se svaasthy ko haani kaarak hai isaka istemaal kiya ladakiyaan karatee hai ki ladakee donon ke nukasaan to main bilkul bhee aisa nahin kahoonga ki aap dhoomrapaan ka sevan keejie doston aaj ke daur mein diya ab dekhie to ladakee ho ki ladaka har koee dhoomrapaan karata hai aur jaatak baaten ladakiyon kee to dekhe jaatak ke ladakon ko nukasaan karata hai to ladakiyon ko kaun sa phaayada karega to mere dhoomrapaan joos ka sevan bilakul nahin karana chaahie ladakee hote ladakiyon

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:37
चल गया है कि क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है ठीक है समय कोई भी हो और धूम्रपान के अगर हम बात कर रहे हैं तो वह ना तो लड़कियों के लिए सही है ना लड़कों के लिए बहुत कुछ तो हमारी फिल्मों का असर पड़ा है कि लोग धूम्रपान को बहुत स्टाइल स्टेटमेंट के तौर पर लेने लगे हैं लड़के और लड़कियां पर असल में धूम्रपान किसी की भी सेहत के लिए अच्छा नहीं है तो इसमें लड़का लड़की फैक्टर तो बिल्कुल नहीं आता है बल्कि जो भी धूम्रपान करता है वह सरासर गलत है चाहे वह लड़का हो या लड़की उम्मीद करती हो आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Chal gaya hai ki kya aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana sahee hai theek hai samay koee bhee ho aur dhoomrapaan ke agar ham baat kar rahe hain to vah na to ladakiyon ke lie sahee hai na ladakon ke lie bahut kuchh to hamaaree philmon ka asar pada hai ki log dhoomrapaan ko bahut stail stetament ke taur par lene lage hain ladake aur ladakiyaan par asal mein dhoomrapaan kisee kee bhee sehat ke lie achchha nahin hai to isamen ladaka ladakee phaiktar to bilkul nahin aata hai balki jo bhee dhoomrapaan karata hai vah saraasar galat hai chaahe vah ladaka ho ya ladakee ummeed karatee ho aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:06
कृष्ण क्या आज के समय में लड़कियों का जरूर करना सही है तो आज का समय हो जाए पहले का समय है धूम्रपान करना कभी भी सही नहीं होता है यह लड़कों के लिए वह लड़कियों के लिए और समाज में लड़कियों का धंधा करना तो बनती है शोभा नहीं देता है ऐसी लड़कियां अच्छी नहीं होती जो धूम्रपान करती हैं यह सब फैशन को देख देख कर अपना स्टाइल से लड़की लड़कियां और धूम्रपान करते हैं पर आगे चलकर धूम्रपान करने से बहुत सारे नुकसान होते हैं कैंसर हो जाते हैं टीवी हो जाती है वर्षा की बीमारियां पकड़ लेती हैं इसलिए धूम्रपान बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए चाहे लड़का हो या लड़की हो क्या बिल्कुल गलत बात है तुम पान करना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होता है धूम्रपान करने से हमें उसके लत लग जाती है फिर बिना धूम्रपान के हमें चैन नहीं होता है इसलिए तूफान बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए धूम्रपान करने वाले व्यक्ति की हमेशा कोई ना कोई बीमारी से ही मौत होती है गंभीर बीमारी से तो दुश्मन बिल्कुल नहीं करना चाहिए तो फ्रेंड जवाब अच्छा लगे तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
Krshn kya aaj ke samay mein ladakiyon ka jaroor karana sahee hai to aaj ka samay ho jae pahale ka samay hai dhoomrapaan karana kabhee bhee sahee nahin hota hai yah ladakon ke lie vah ladakiyon ke lie aur samaaj mein ladakiyon ka dhandha karana to banatee hai shobha nahin deta hai aisee ladakiyaan achchhee nahin hotee jo dhoomrapaan karatee hain yah sab phaishan ko dekh dekh kar apana stail se ladakee ladakiyaan aur dhoomrapaan karate hain par aage chalakar dhoomrapaan karane se bahut saare nukasaan hote hain kainsar ho jaate hain teevee ho jaatee hai varsha kee beemaariyaan pakad letee hain isalie dhoomrapaan bilkul bhee nahin karana chaahie chaahe ladaka ho ya ladakee ho kya bilkul galat baat hai tum paan karana hamaare svaasthy ke lie bahut haanikaarak hota hai dhoomrapaan karane se hamen usake lat lag jaatee hai phir bina dhoomrapaan ke hamen chain nahin hota hai isalie toophaan bilkul bhee nahin karana chaahie dhoomrapaan karane vaale vyakti kee hamesha koee na koee beemaaree se hee maut hotee hai gambheer beemaaree se to dushman bilkul nahin karana chaahie to phrend javaab achchha lage to laik keejiega dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
डॉ0 सीता शुक्ला Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए डॉ0 जी का जवाब
Unknown
0:49
नमस्कार मित्र आपका प्रश्न है क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है तो मित्र सही बात तो यह है कि धूम्रपान किसी को भी नहीं करना चाहिए चाहे वह लड़की हो या लड़के इस पर सरकार ने तंबाकू नियंत्रण कानून भी बनाया है कि सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने पर जुर्माना वसूला जाएगा लेकिन फिर भी कई स्थानों पर लोग धुआं उड़ाते हुए दिखाई देते हैं हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है यह उन्हें समझना चाहिए इसमें निकोटीन 8 सैनिक मंजू पायरी नाइट रोमांस और क्रोमियम आदि ऐसे तत्व हैं जिनसे हमारे फेफड़े और मुंह में कैंसर हो सकते हैं हम डिप्रेशन हृदय रोग दमा आदि के मरीज भी बन सकते हैं धन्यवाद
Namaskaar mitr aapaka prashn hai kya aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana sahee hai to mitr sahee baat to yah hai ki dhoomrapaan kisee ko bhee nahin karana chaahie chaahe vah ladakee ho ya ladake is par sarakaar ne tambaakoo niyantran kaanoon bhee banaaya hai ki saarvajanik sthaanon par dhoomrapaan karane par jurmaana vasoola jaega lekin phir bhee kaee sthaanon par log dhuaan udaate hue dikhaee dete hain hamaare svaasthy ke lie kitana haanikaarak hai yah unhen samajhana chaahie isamen nikoteen 8 sainik manjoo paayaree nait romaans aur kromiyam aadi aise tatv hain jinase hamaare phephade aur munh mein kainsar ho sakate hain ham dipreshan hrday rog dama aadi ke mareej bhee ban sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
2:37
आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है आज के समय में या पिछले समय में धूम्रपान तो लड़कियां भी पहले करती रही भैया पुरुष के साथ महिलाएं भी लेकिन माना गया कि महिलाओं के लिए धूम्रपान पुरुषों की तुलना में कहीं ज्यादा हानिकारक होता है प्रेगनेंसी के दौरान जो उनके बच्चे बन रहे होते अंदर में डिस्टर्ब हो सकते हैं अपन गांव सकते विकलांग हो सकते हैं समझे आप तो वह तो पहले भी हुई महिलाएं करती रही हैं और आज भी कर रही हैं अब आया कि लड़कियां तो थोड़ा सा फैशन आगे बढ़ाओ लड़कियों की शर्त में कह रहे हैं आप पहले 14:00 15 साल की लड़की जो होती तो महिला बन जाती थी शादीशुदा और 20 21 साल की उम्र तक तो उसके तुम तो 3:00 3 साल के बच्चे हो जाते थे समझा अपना और 25 26 किए तक आते-आते उसके बच्चे काफी बड़े हो जाते थे ठीक है और प्राय होगा आदित्य करती थी चिलम जिस वो कहते हैं तो आज की लड़कियां इस तरह से फैशन बन चुका है पान खाने की परंपरा मुसलमानों में गिरेगी तंबाकू का हिंदुओं में भी रही है और इसाई यों के बारे में ज्यादा परिचित नहीं थे कह नहीं सकता लेकिन वहां थोड़ा बहुत पीने की आदत रही है कि वह मदिरापान अधिक कर लिया करती थी तो थोड़ा सा एच फैक्टर जो है वह प्रभावी है जिसमें पहले महिलाएं जो है मां बन जाती थी उसी में शादियां कर रही हैं वह समझे अपना तो ऐसे में अब थोड़ा सा लड़कों का मुकाबला करने के लिए उन्हीं की तरह पहनावा अधिक तो थोड़ी सी प्रवृत्ति तो बड़ी है लेकिन बिल्कुल नई नहीं है किसका सामान्य माना जाए धूम्रपान करना गलत तो है लेकिन यह है कि अब पुरुष अगर कर रहा है तो उसकी देखी देखा महिलाएं भी और उसी स्तर बहुत का पैमाना बना रही है तो गलत होते हुए भी हम कह सकते हैं कि एक फैशन बन गया है समझा अपना फैशन जो है उसे रोकना भी बहुत आसान नहीं होता है इस प्रवृत्ति को रोकना है बहुत कठिन है क्योंकि बच्चे तो अपने मां बाप की नहीं सुनते हैं ना दर्शन कहां से उड़ आते हैं भले ही वह आत्मघाती गतिविधियां कर रहे हो लेकिन उस सुनने को तैयार करते हैं तो फिर भी तो उसी दृष्टि से देखिए कि थोड़ा सा संस्कार भी हिंसा या आधुनिकता के नाम पर मॉडर्न बनने की कोशिश और दिखने की कोशिश की है जो धूम्रपान ही नहीं बल्कि मदिरापान और अन्य नशाखोरी के रूप में दिखाई पड़ रही है
Aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana sahee hai aaj ke samay mein ya pichhale samay mein dhoomrapaan to ladakiyaan bhee pahale karatee rahee bhaiya purush ke saath mahilaen bhee lekin maana gaya ki mahilaon ke lie dhoomrapaan purushon kee tulana mein kaheen jyaada haanikaarak hota hai preganensee ke dauraan jo unake bachche ban rahe hote andar mein distarb ho sakate hain apan gaanv sakate vikalaang ho sakate hain samajhe aap to vah to pahale bhee huee mahilaen karatee rahee hain aur aaj bhee kar rahee hain ab aaya ki ladakiyaan to thoda sa phaishan aage badhao ladakiyon kee shart mein kah rahe hain aap pahale 14:00 15 saal kee ladakee jo hotee to mahila ban jaatee thee shaadeeshuda aur 20 21 saal kee umr tak to usake tum to 3:00 3 saal ke bachche ho jaate the samajha apana aur 25 26 kie tak aate-aate usake bachche kaaphee bade ho jaate the theek hai aur praay hoga aadity karatee thee chilam jis vo kahate hain to aaj kee ladakiyaan is tarah se phaishan ban chuka hai paan khaane kee parampara musalamaanon mein giregee tambaakoo ka hinduon mein bhee rahee hai aur isaee yon ke baare mein jyaada parichit nahin the kah nahin sakata lekin vahaan thoda bahut peene kee aadat rahee hai ki vah madiraapaan adhik kar liya karatee thee to thoda sa ech phaiktar jo hai vah prabhaavee hai jisamen pahale mahilaen jo hai maan ban jaatee thee usee mein shaadiyaan kar rahee hain vah samajhe apana to aise mein ab thoda sa ladakon ka mukaabala karane ke lie unheen kee tarah pahanaava adhik to thodee see pravrtti to badee hai lekin bilkul naee nahin hai kisaka saamaany maana jae dhoomrapaan karana galat to hai lekin yah hai ki ab purush agar kar raha hai to usakee dekhee dekha mahilaen bhee aur usee star bahut ka paimaana bana rahee hai to galat hote hue bhee ham kah sakate hain ki ek phaishan ban gaya hai samajha apana phaishan jo hai use rokana bhee bahut aasaan nahin hota hai is pravrtti ko rokana hai bahut kathin hai kyonki bachche to apane maan baap kee nahin sunate hain na darshan kahaan se ud aate hain bhale hee vah aatmaghaatee gatividhiyaan kar rahe ho lekin us sunane ko taiyaar karate hain to phir bhee to usee drshti se dekhie ki thoda sa sanskaar bhee hinsa ya aadhunikata ke naam par modarn banane kee koshish aur dikhane kee koshish kee hai jo dhoomrapaan hee nahin balki madiraapaan aur any nashaakhoree ke roop mein dikhaee pad rahee hai

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Aditya Dangayach  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Aditya जी का जवाब
Student
1:10
आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना चाहिए लेकिन आप कई बार धूम्रपान के बाद पर आती है कुछ घंटे भर से भी निकल कर आती है वह इसलिए कि कहीं लोग नशा करके देते हैं कि जैसे कि लड़कों के लिए सिगरेट पीना सेहत के लड़के और लड़कियों के लिए सिगरेट पीना लड़की के लिए ना लड़की के लिए कुछ लिखो कि सिगरेट पीने से काफी ज्यादा लगाकर करो हमारे शरीर को परेशानी हुई है दारु सिगरेट गुटका तंबाकू की वजह से काफी लोगों की गलती हुई है तो मेरा यह मानना है कि धूम्रपान करना किसी के लिए भी सही नहीं है चाहे वह लड़की हो या लड़का हर जगह धूम नो स्मोकिंग के कैंपेन वगैरह चलाना चाहिए और अभी भी लोगों को अगर करते रहना चाहिए ताकि लोग धूम्रपान करना छोड़ दें और अपने जीवन में एक सही हो रही जल्दी लाइफ अपने अश्वगंधा जवाब पसंद है होगा कि 16 सवालों के जवाब पाने के लिए सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Aaj ke samay mein ladakiyon ka dhoomrapaan karana chaahie lekin aap kaee baar dhoomrapaan ke baad par aatee hai kuchh ghante bhar se bhee nikal kar aatee hai vah isalie ki kaheen log nasha karake dete hain ki jaise ki ladakon ke lie sigaret peena sehat ke ladake aur ladakiyon ke lie sigaret peena ladakee ke lie na ladakee ke lie kuchh likho ki sigaret peene se kaaphee jyaada lagaakar karo hamaare shareer ko pareshaanee huee hai daaru sigaret gutaka tambaakoo kee vajah se kaaphee logon kee galatee huee hai to mera yah maanana hai ki dhoomrapaan karana kisee ke lie bhee sahee nahin hai chaahe vah ladakee ho ya ladaka har jagah dhoom no smoking ke kaimpen vagairah chalaana chaahie aur abhee bhee logon ko agar karate rahana chaahie taaki log dhoomrapaan karana chhod den aur apane jeevan mein ek sahee ho rahee jaldee laiph apane ashvagandha javaab pasand hai hoga ki 16 savaalon ke javaab paane ke lie sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:30
बंद करना तो लड़कियों के लिए सुनैना लड़कों के लेते हैं क्योंकि इससे मन से कैंसर होता है आजकल का यह ट्रेंड बन गया है नदिया घूमने फिरने जाते पार्टी वगैरा कॉलेज की फ्रेंड तो सुबह आप यह सब नॉर्मल सी बात हो गई है किसी के लिए बैठा है तो अपना एक बार करके दो बार करते नहीं लास्ट में
Band karana to ladakiyon ke lie sunaina ladakon ke lete hain kyonki isase man se kainsar hota hai aajakal ka yah trend ban gaya hai nadiya ghoomane phirane jaate paartee vagaira kolej kee phrend to subah aap yah sab normal see baat ho gaee hai kisee ke lie baitha hai to apana ek baar karake do baar karate nahin laast mein

bolkar speaker
क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है?Kya Aaj Ke Samay Mein Ladkiyon Ka Dhoomrpan Karna Sahi Hai
Abhinay Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abhinay जी का जवाब
Artist
2:58

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या आज के समय में लड़कियों का धूम्रपान करना सही है, लड़कियों का धूम्रपान करना
URL copied to clipboard