#undefined

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:19
आने वाले की भारत में करुणा की बैटिंग युवाओं से पहले बुजुर्गों को लगाना कहां तक सही है मेरे हिसाब से तो बिल्कुल सही है क्योंकि बुजुर्गों की बेटी वैसे भी कमजोर होती है युवाओं की अपेक्षा तो निश्चित तौर पर यदि पहले बुजुर्गों कोई वैसे लगाई जा रही है तो बिल्कुल ही सही निर्णय है आपका दिन शुभ रहे थे नहीं कहा था
Aane vaale kee bhaarat mein karuna kee baiting yuvaon se pahale bujurgon ko lagaana kahaan tak sahee hai mere hisaab se to bilkul sahee hai kyonki bujurgon kee betee vaise bhee kamajor hotee hai yuvaon kee apeksha to nishchit taur par yadi pahale bujurgon koee vaise lagaee ja rahee hai to bilkul hee sahee nirnay hai aapaka din shubh rahe the nahin kaha tha

और जवाब सुनें

Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक:
2:33
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है भारत में कोरोना की वैक्सीन युवाओं से पहले बुजुर्गों को लगाना कहां तक सही है मित्र देखिए भारत में अगर कोरोना की वैक्सीन हम पहले बुजुर्गों को लगवा रहे हैं मतलब भारत सरकार पहले बुजुर्गों को लगवा रही है तो उसका कोई सृजन भी है यह ऐसा नहीं है क्या भेदभाव किया जा रहा है या यह बिल्कुल गलत है गलत तरीके से हो रहा है ऐसा कुछ नहीं है यह हम युवाओं को भी सोचना चाहिए कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता है वह ज्यादा है और वृद्ध लोग हैं बुजुर्ग है इनमें प्रतिरोधक क्षमता कम होती है इसलिए रोग से लड़ने की क्षमता हमारे में है उसका यूज़ करते हुए हमें थोड़ा इंतजार करना चाहिए कि पहले जो बुजुर्ग है उन्हें सबसे पहले कोरोना की वैक्सीन लगे यह हमारा करता हमें बनता है कि हम पहले उनको आगे करें यह मन में मत सोचिए कि यह बिल्कुल गलत है या कि हमसे हम युवा है हम से पहले बुजुर्गों को लगाई जा रही है जॉन का समय निकट है मृत्यु का ऐसा कुछ नहीं है अगर आपको पता हो तो सबसे ज्यादा कोरोनावायरस बुजुर्गों में ही फैला है और उन्हीं की सबसे ज्यादा मौतें हो रही है इसीलिए जिनको कुछ परेशानी है जिनकी कोई भी बीमारी इनके पहले से है और जो बुजुर्ग है इन लोगों को अगर पहले लग जाती है तो बहुत बढ़िया है मैं तो यही चाहता हूं कि पहले इनको ही लगे चाहे हम युवाओं का सबसे आखरी में नंबर आए तो ज्यादा अच्छा है जो बच्चे हैं बुजुर्ग है गर्भवती महिलाएं हैं इनका कोई बीमार है तो इनका पहले नंबर आ जाए फिर हम सब युवाओं का आखरी में रहे क्योंकि हमारे में योग रोग से लड़ने की क्षमता ज्यादा है हम किसी भी बीमारी से लड़ सकते हैं उनकी हम अभी हमारा खून जो है युवा है मतलब तेज है तो आराम से हमारे जो लड़ाई करने की क्षमता है अंदर शरीर की ताकत जो है वह ज्यादा है इसलिए ऐसा कुछ नहीं है कि अगर हमको देर से लगेगी तो हमें कोई परेशानी हो जाएगी ऐसा कुछ नहीं आराम से पहले उनको लगने दीजिए हमें खुशी होनी चाहिए कि भारत सरकार ने जल्दी से जल्दी इस वैक्सीन को मंजूरी देकर के बाहर करना को खत्म करने के लिए और कदम आगे बढ़ाया है धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai bhaarat mein korona kee vaikseen yuvaon se pahale bujurgon ko lagaana kahaan tak sahee hai mitr dekhie bhaarat mein agar korona kee vaikseen ham pahale bujurgon ko lagava rahe hain matalab bhaarat sarakaar pahale bujurgon ko lagava rahee hai to usaka koee srjan bhee hai yah aisa nahin hai kya bhedabhaav kiya ja raha hai ya yah bilkul galat hai galat tareeke se ho raha hai aisa kuchh nahin hai yah ham yuvaon ko bhee sochana chaahie ki hamaaree rog pratirodhak kshamata hai vah jyaada hai aur vrddh log hain bujurg hai inamen pratirodhak kshamata kam hotee hai isalie rog se ladane kee kshamata hamaare mein hai usaka yooz karate hue hamen thoda intajaar karana chaahie ki pahale jo bujurg hai unhen sabase pahale korona kee vaikseen lage yah hamaara karata hamen banata hai ki ham pahale unako aage karen yah man mein mat sochie ki yah bilkul galat hai ya ki hamase ham yuva hai ham se pahale bujurgon ko lagaee ja rahee hai jon ka samay nikat hai mrtyu ka aisa kuchh nahin hai agar aapako pata ho to sabase jyaada koronaavaayaras bujurgon mein hee phaila hai aur unheen kee sabase jyaada mauten ho rahee hai iseelie jinako kuchh pareshaanee hai jinakee koee bhee beemaaree inake pahale se hai aur jo bujurg hai in logon ko agar pahale lag jaatee hai to bahut badhiya hai main to yahee chaahata hoon ki pahale inako hee lage chaahe ham yuvaon ka sabase aakharee mein nambar aae to jyaada achchha hai jo bachche hain bujurg hai garbhavatee mahilaen hain inaka koee beemaar hai to inaka pahale nambar aa jae phir ham sab yuvaon ka aakharee mein rahe kyonki hamaare mein yog rog se ladane kee kshamata jyaada hai ham kisee bhee beemaaree se lad sakate hain unakee ham abhee hamaara khoon jo hai yuva hai matalab tej hai to aaraam se hamaare jo ladaee karane kee kshamata hai andar shareer kee taakat jo hai vah jyaada hai isalie aisa kuchh nahin hai ki agar hamako der se lagegee to hamen koee pareshaanee ho jaegee aisa kuchh nahin aaraam se pahale unako lagane deejie hamen khushee honee chaahie ki bhaarat sarakaar ne jaldee se jaldee is vaikseen ko manjooree dekar ke baahar karana ko khatm karane ke lie aur kadam aage badhaaya hai dhanyavaad

DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:48
मेरे को लगता है कि बुजुर्गों हम इसलिए देर है क्योंकि वह काफी सस्ता मतलब काफी रिश्तों में फेस में है और वह लोग का कहीं ना कहीं ज्यादा कॉमेडी नाटक होने के चांसेस उनमें ज्यादा है तो हमको हम उनको ज्यादा सेव करा रहे हैं लेकिन मैं मानता हूं कि वह सही नहीं है क्योंकि अभी तो था ट्रायल चल रहा है कॉपी कॉपी टीका जो व्यक्ति का वो कहीं ना कभी भी पूरी तरह साफ नहीं है कहीं जगह पर बहुत ऋषिकेश असम सुन रहे हैं जहां पर कंपलीटली सेफ नहीं तो बुजुर्ग बुजुर्ग लोग के लिए हानिकारक है सबसे पहले हमको देना चाहिए भारत के प्रधानमंत्री हमारी सारी मिनिस्टरीज है जो है जो पहले मैच में बैठे हैं उन सभी को देना चाहिए भारत के राष्ट्रपति को पहले लेना चाहिए उसके बाद है जो एयर स्टाफ थे उनको लेना चाहिए उसके बाद फिर हम जो कमेंट स्टाफ से उनको देना चाहिए फिर उसके बाद हम लोगों को दे सकते हैं धन्यवाद
Mere ko lagata hai ki bujurgon ham isalie der hai kyonki vah kaaphee sasta matalab kaaphee rishton mein phes mein hai aur vah log ka kaheen na kaheen jyaada komedee naatak hone ke chaanses unamen jyaada hai to hamako ham unako jyaada sev kara rahe hain lekin main maanata hoon ki vah sahee nahin hai kyonki abhee to tha traayal chal raha hai kopee kopee teeka jo vyakti ka vo kaheen na kabhee bhee pooree tarah saaph nahin hai kaheen jagah par bahut rshikesh asam sun rahe hain jahaan par kampaleetalee seph nahin to bujurg bujurg log ke lie haanikaarak hai sabase pahale hamako dena chaahie bhaarat ke pradhaanamantree hamaaree saaree ministareej hai jo hai jo pahale maich mein baithe hain un sabhee ko dena chaahie bhaarat ke raashtrapati ko pahale lena chaahie usake baad hai jo eyar staaph the unako lena chaahie usake baad phir ham jo kament staaph se unako dena chaahie phir usake baad ham logon ko de sakate hain dhanyavaad

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:05
ठीक है पहले बुजुर्गों को भी व्यक्ति लगना चाहिए क्योंकि बुजुर्गों में मिलिट्री पावर कम होता है उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है उनका बुढ़ापा होता है इसलिए खत्म होती है वहां के पिक्चर पहले बुजुर्गों को ही वसूल लगना चाहिए तुमको भी लग जाएगी तो उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ जाएगी बाद में फिर युवाओं को लग जाए तो कोई बात नहीं हुआ हूं मैं थोड़ा रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है वह मुझे रूम की अपेक्षा ज्यादा होती है तो उनको बाद में भी वैक्सीन लग जाएगी तो उसमें कोई हर्ज नहीं है इसलिए पहले बुजुर्गों को ही वैक्सीन लग जाना चाहिए क्योंकि ऐसे भी होते हैं जो बहुत सारी बीमारियों से भी ग्रसित होते हैं शुगर और बीपी यह प्रॉब्लम तो बुजुर्गों को पहले व्यक्ति लग जानी चाहिए जिन्हें उसमें उन्हें बीमारी ना होने का जिसमें बीमारी होने का जो खतरा उनको है वह ना हो सा प्ले बुजुर्गों के पहले व्यक्ति लगा देनी चाहिए धन्यवाद
Theek hai pahale bujurgon ko bhee vyakti lagana chaahie kyonki bujurgon mein militree paavar kam hota hai unakee rog pratirodhak kshamata kam ho jaatee hai unaka budhaapa hota hai isalie khatm hotee hai vahaan ke pikchar pahale bujurgon ko hee vasool lagana chaahie tumako bhee lag jaegee to unakee rog pratirodhak kshamata bhee badh jaegee baad mein phir yuvaon ko lag jae to koee baat nahin hua hoon main thoda rog pratirodhak kshamata hotee hai vah mujhe room kee apeksha jyaada hotee hai to unako baad mein bhee vaikseen lag jaegee to usamen koee harj nahin hai isalie pahale bujurgon ko hee vaikseen lag jaana chaahie kyonki aise bhee hote hain jo bahut saaree beemaariyon se bhee grasit hote hain shugar aur beepee yah problam to bujurgon ko pahale vyakti lag jaanee chaahie jinhen usamen unhen beemaaree na hone ka jisamen beemaaree hone ka jo khatara unako hai vah na ho sa ple bujurgon ke pahale vyakti laga denee chaahie dhanyavaad

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:40
भारत में कोरोना की वैक्सीन युवाओं से पहले बुजुर्गों को लगाना इसलिए सही है क्योंकि युवाओं के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती हैं वह बीमारी से लड़ सकते हैं उनको बीमारी बहुत जल्दी नहीं पकड़ती ज करती नहीं है इसलिए उनकी बेड सीन जो बुजुर्ग एवं को लगाएंगे क्योंकि बुजुर्गों के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है वह जल्दी बीमार हो सकते हैं और अगर बीमार हो गए तो वह वापस रिकवर नहीं हो पाते हैं और उनकी मृत्यु होने की संभावना अधिक रहती है इसीलिए कोरोना की वैक्सीन बुजुर्ग लोगों को लगाई जा रही है क्यों नहीं ले जा रही हो रही है सही भी धन्यवाद
Bhaarat mein korona kee vaikseen yuvaon se pahale bujurgon ko lagaana isalie sahee hai kyonki yuvaon ke andar rog pratirodhak kshamata adhik hotee hain vah beemaaree se lad sakate hain unako beemaaree bahut jaldee nahin pakadatee ja karatee nahin hai isalie unakee bed seen jo bujurg evan ko lagaenge kyonki bujurgon ke andar rog pratirodhak kshamata kam hotee hai vah jaldee beemaar ho sakate hain aur agar beemaar ho gae to vah vaapas rikavar nahin ho paate hain aur unakee mrtyu hone kee sambhaavana adhik rahatee hai iseelie korona kee vaikseen bujurg logon ko lagaee ja rahee hai kyon nahin le ja rahee ho rahee hai sahee bhee dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कोरोना की वैक्सीन
URL copied to clipboard