#undefined

bolkar speaker

क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?

Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:21
उस वाले की क्या मारते तनाव और डिप्रेशन ही तरह का रोग है जी हां बिल्कुल यही तरीके का रोग है यदि आप उसको बहुत लंबे समय तक एस्ट्रोस्कोप नेपाल के रखेंगे आप अब खुद को उस उस वस्तु पर काम करने की कोशिश नहीं करेंगे नीचे तक डिप्रेशन में चले जाएंगे और यह एक मानसिक रोग है जिसके लिए आपको फ्री ट्रीटमेंट कराना पड़ता है आपका दिन शुभ रहे थे नहीं बात
Us vaale kee kya maarate tanaav aur dipreshan hee tarah ka rog hai jee haan bilkul yahee tareeke ka rog hai yadi aap usako bahut lambe samay tak estroskop nepaal ke rakhenge aap ab khud ko us us vastu par kaam karane kee koshish nahin karenge neeche tak dipreshan mein chale jaenge aur yah ek maanasik rog hai jisake lie aapako phree treetament karaana padata hai aapaka din shubh rahe the nahin baat

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
1:03
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के लोग हैं तो हां दोस्तों मानसिक तनाव और डिप्रेशन दोनों एक ही लोग हैं यानि कहने का मतलब यह है कि मानसिक तनाव से जब व्यक्ति ज्यादा ग्रसित होता है तो डिप्रेशन का शिकार हो जाता है यानी वह उसके ऊपर नहीं पाता उसका दिमाग उसी उधेड़बुन में लगा रहता है और वह उसके ऊपर नहीं पाता हां उसका इलाज संभव है कई प्रकार की ऐसी मेडिसिन है जो दिमाग की उलझन और डिप्रेशन को दूर रखती हैं और मनुष्य को एकदम नॉर्मल कर देती हैं जैसे कि वह ऐसा प्रतीत होता है कि मानसिक तनाव और डिप्रेशन से एकदम दूर हो यानी की मीटिंग दिमाग को एकदम शांत रखती हैं और उसके दिमाग में किसी प्रकार का कोई डिप्रेशन मैं छुट्टी नहीं होता धन्यवाद मित्र
Kya maanasik tanaav aur dipreshan ek tarah ke log hain to haan doston maanasik tanaav aur dipreshan donon ek hee log hain yaani kahane ka matalab yah hai ki maanasik tanaav se jab vyakti jyaada grasit hota hai to dipreshan ka shikaar ho jaata hai yaanee vah usake oopar nahin paata usaka dimaag usee udhedabun mein laga rahata hai aur vah usake oopar nahin paata haan usaka ilaaj sambhav hai kaee prakaar kee aisee medisin hai jo dimaag kee ulajhan aur dipreshan ko door rakhatee hain aur manushy ko ekadam normal kar detee hain jaise ki vah aisa prateet hota hai ki maanasik tanaav aur dipreshan se ekadam door ho yaanee kee meeting dimaag ko ekadam shaant rakhatee hain aur usake dimaag mein kisee prakaar ka koee dipreshan main chhuttee nahin hota dhanyavaad mitr

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:50
यह मानसिक तनाव डिप्रेशन कहीं ना कहीं दोनों का चित्र में शेर होता है किधर में डिफरेंस में है और यह किस प्रकार के लोग तो बोल सकते हैं अकेला मानसिक तनाव तभी आता है जब भी हमारी फैमिली वगैरह नितिन कुछ चीजें होता है उनको तो प्रॉब्लम सागर यीशु आ जाता है उसको कॉल करने में लग जाते हैं लेकिन डिप्रेशन तभी आ जाता है कि हम जब हमें प्रॉब्लम के साथ काफी दिन तक गुजरते रहते हैं काफी दिन तक तो बाद में एक मानसिक तनाव से ही डिप्रेशन के पेज में चले जाते हैं और वह इस प्रकार की मेंटल को मैं बोल सकते हैं ठीक है लाइफस्टाइल को बोल सकते हैं कमेंट में कि हमको ना कोई चीज़ अपनी इंटरेस्ट आता है ना कुछ जोक में इन भवरे ने को अच्छा लगता है हम एक सोच में पड़ जाते हैं तो यह एक प्रकार की रोक दी और इससे बचने के लिए हमेशा मैं चला दूंगा कि मेडिटेशन करिए धन्यवाद
Yah maanasik tanaav dipreshan kaheen na kaheen donon ka chitr mein sher hota hai kidhar mein dipharens mein hai aur yah kis prakaar ke log to bol sakate hain akela maanasik tanaav tabhee aata hai jab bhee hamaaree phaimilee vagairah nitin kuchh cheejen hota hai unako to problam saagar yeeshu aa jaata hai usako kol karane mein lag jaate hain lekin dipreshan tabhee aa jaata hai ki ham jab hamen problam ke saath kaaphee din tak gujarate rahate hain kaaphee din tak to baad mein ek maanasik tanaav se hee dipreshan ke pej mein chale jaate hain aur vah is prakaar kee mental ko main bol sakate hain theek hai laiphastail ko bol sakate hain kament mein ki hamako na koee cheez apanee intarest aata hai na kuchh jok mein in bhavare ne ko achchha lagata hai ham ek soch mein pad jaate hain to yah ek prakaar kee rok dee aur isase bachane ke lie hamesha main chala doonga ki mediteshan karie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
Dollie kashwani Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dollie जी का जवाब
Energy Alchemist & Wellness Designer
1:41
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है पहले तो समझे कि मानसिक तनाव क्या है और डिप्रेशन क्या है कि मानसिक तनाव इंसान को कभी भी किसी भी पल हो सकता है लेकिन मानसिक तनाव और डिप्रेशन में फर्क है मानसिक तनाव हो सकता है कि कभी-कभी थोड़ी देर के लिए हो और डिप्रेशन अवस्था है जिसमें कि आपकी बॉडी में करंट ओनर लेवल जो है डिक्रीज हो जाता है और वह लंबे समय तक रहता है लेकिन यही मानसिक तनाव अगर लगातार होता रहे और ज्यादा देर तक रहे तो यह डिप्रेशन में जाने का कारण बन सकता है और कई बार लगातार मानसिक तनाव के कारण डिप्रेशन में चली जाती है और उससे नहीं निकल पाते उबर नहीं पाते तो डिप्रेशन में जाने से पहले अपने मानसिक तनाव को कम करें अगर ऐसा है तो कोई भी मानसिक तनाव हो रहा है उसको तुरंत सॉल्व करें तुरंत उसके लिए काम करें उसके लिए ज्यादा तो ठहरे नहीं दादा जी फालतू बातों में नाराज तुरंत ही अकाउंट सकता हूं अगर आपको दादा दादा मानसिक तनाव रहा है तू कंडीशन हो जाती कि दादा मानसिक तनाव मिलता है तो हमारी बॉडी जो है उसका बॉडी में सर डिक्रीज हो जाता है जिससे हमारी मानसिक तनाव से लड़ने की क्षमता जो है कम हो जाती है और यही कारण है कि आजकल ज्यादातर जो लोग हैं वह डिप्रेशन में चले जा रहे हैं क्योंकि मानसिक तनाव बहुत हद तक मिल रहा है कई बार लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है या बहुत गलत तरीके की वजह है कई बार लोग खुद ही वजह होते हैं लेकिन मैं उस पर परिचर्चा नहीं करूंगी बात अपने मानसिक तनाव और डिप्रेशन सही है तो यही तो है थोड़ा फर्क होता है आई होप आपको मेरा यंत्र पसंद आया होगा विश यू ऑल द बेस्ट
Kya maanasik tanaav aur dipreshan ek tarah ke rog hai pahale to samajhe ki maanasik tanaav kya hai aur dipreshan kya hai ki maanasik tanaav insaan ko kabhee bhee kisee bhee pal ho sakata hai lekin maanasik tanaav aur dipreshan mein phark hai maanasik tanaav ho sakata hai ki kabhee-kabhee thodee der ke lie ho aur dipreshan avastha hai jisamen ki aapakee bodee mein karant onar leval jo hai dikreej ho jaata hai aur vah lambe samay tak rahata hai lekin yahee maanasik tanaav agar lagaataar hota rahe aur jyaada der tak rahe to yah dipreshan mein jaane ka kaaran ban sakata hai aur kaee baar lagaataar maanasik tanaav ke kaaran dipreshan mein chalee jaatee hai aur usase nahin nikal paate ubar nahin paate to dipreshan mein jaane se pahale apane maanasik tanaav ko kam karen agar aisa hai to koee bhee maanasik tanaav ho raha hai usako turant solv karen turant usake lie kaam karen usake lie jyaada to thahare nahin daada jee phaalatoo baaton mein naaraaj turant hee akaunt sakata hoon agar aapako daada daada maanasik tanaav raha hai too kandeeshan ho jaatee ki daada maanasik tanaav milata hai to hamaaree bodee jo hai usaka bodee mein sar dikreej ho jaata hai jisase hamaaree maanasik tanaav se ladane kee kshamata jo hai kam ho jaatee hai aur yahee kaaran hai ki aajakal jyaadaatar jo log hain vah dipreshan mein chale ja rahe hain kyonki maanasik tanaav bahut had tak mil raha hai kaee baar logon ko rojagaar nahin mil raha hai ya bahut galat tareeke kee vajah hai kaee baar log khud hee vajah hote hain lekin main us par paricharcha nahin karoongee baat apane maanasik tanaav aur dipreshan sahee hai to yahee to hai thoda phark hota hai aaee hop aapako mera yantr pasand aaya hoga vish yoo ol da best

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:03
तनोट तनोट डिप्रेशन यह दिमाग सोचने की जाती है और उसकी बात करनी नहीं आती भूख नहीं लगती अजीब सी बेचैनी होती है घबराहट होती है और किसी ने मांगा बार-बार दिमाग में उसी उसी बात का बोझ ना समझने की शक्ति खत्म होने लगती है तो शिवम डिप्रेशन में चले जाना कहते हैं आती है तो उसकी दवा भी ऐसी बात नहीं है तो यह लेख मिलता-जुलता है मोटिवेशन एक चीज है यह दिमाग से संबंधित परेशानी
Tanot tanot dipreshan yah dimaag sochane kee jaatee hai aur usakee baat karanee nahin aatee bhookh nahin lagatee ajeeb see bechainee hotee hai ghabaraahat hotee hai aur kisee ne maanga baar-baar dimaag mein usee usee baat ka bojh na samajhane kee shakti khatm hone lagatee hai to shivam dipreshan mein chale jaana kahate hain aatee hai to usakee dava bhee aisee baat nahin hai to yah lekh milata-julata hai motiveshan ek cheej hai yah dimaag se sambandhit pareshaanee

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
Dukh kaise mite Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh जी का जवाब
Unknown
2:15
जय श्री कृष्णा आपका कुछ और मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के लोग हैं मानसिकता तनाव को दूर डिफरेंस कलर लगाते हुए 4 को तो वह कर दो डर को दशक का अर्थ एक ही उसका मिटाने के उपाय भी एक ही है ईश्वर की भक्ति करो शायद कोई मुक्ता आत्म देव बातों में भक्ति करो अकेलापन विचार यह हमारी नकाते में चार हरे कृष्ण में अकेला हूं मेरी कोई सहायता करने वाला नहीं है आपके खाते में चार प्रकार के विचार विमर्श नगर विचार जाती 5% आदमी है खान-पान से आती है तो मैंने काफी और अपना जीवन सुखी बनाए खुद तो सुखी होने की समस्या सिम मिल जाएगी आपको उनकी भक्ति करेंगे तो बिष्ट की भक्ति करो से इसे की भक्ति करो भगवान ने राधा भगवान का भक्ति बली भगवान इस सबसे साल हर 32 दिन में शैतानी शक्ति ही नहीं है तो आप तब तक इस राग मदद करते हैं और इसकी भक्ति करें ताकि आप जब आप अपने जैसे कोई बच्चा पैरों में खड़ा नहीं होता तब तक हम उनकी मदद करना फिर वह अपने पैर में खड़ा हो जाता है जब तक भक्तों में सत्य जाकर नहीं होती तब तक इस टॉवर भक्तों की मदद करते रहते थे पप्पू पाली हम लोग जाता है शरीर छोड़कर जाएंगे तब पता लगेगा तुम्हें शुभकामनाएं आपके साथ हैं वहां जाई हो खुलेआम ऑडियो सुनिए और अपना जीवन सफल बनाएं हरिकस नहीं कुछ नहीं कर सकते
Jay shree krshna aapaka kuchh aur maanasik tanaav aur dipreshan ek tarah ke log hain maanasikata tanaav ko door dipharens kalar lagaate hue 4 ko to vah kar do dar ko dashak ka arth ek hee usaka mitaane ke upaay bhee ek hee hai eeshvar kee bhakti karo shaayad koee mukta aatm dev baaton mein bhakti karo akelaapan vichaar yah hamaaree nakaate mein chaar hare krshn mein akela hoon meree koee sahaayata karane vaala nahin hai aapake khaate mein chaar prakaar ke vichaar vimarsh nagar vichaar jaatee 5% aadamee hai khaan-paan se aatee hai to mainne kaaphee aur apana jeevan sukhee banae khud to sukhee hone kee samasya sim mil jaegee aapako unakee bhakti karenge to bisht kee bhakti karo se ise kee bhakti karo bhagavaan ne raadha bhagavaan ka bhakti balee bhagavaan is sabase saal har 32 din mein shaitaanee shakti hee nahin hai to aap tab tak is raag madad karate hain aur isakee bhakti karen taaki aap jab aap apane jaise koee bachcha pairon mein khada nahin hota tab tak ham unakee madad karana phir vah apane pair mein khada ho jaata hai jab tak bhakton mein saty jaakar nahin hotee tab tak is tovar bhakton kee madad karate rahate the pappoo paalee ham log jaata hai shareer chhodakar jaenge tab pata lagega tumhen shubhakaamanaen aapake saath hain vahaan jaee ho khuleaam odiyo sunie aur apana jeevan saphal banaen harikas nahin kuchh nahin kar sakate

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
KARTIK MISHRA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए KARTIK जी का जवाब
Student
0:27

bolkar speaker
क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है?Kya Manasik Tanav Aur Depression Ek Tarah Ke Rog Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:13
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग हैं तो दोस्तों धीरे-धीरे हम लोग मान डिप्रेशन और मानसिक तनाव को मजाक में डाल देते हैं लेकिन जब मानसिक तनाव कुछ समय से लेकर ज्यादा समय तक रहने लग जाता है तो वह डिप्रेशन में रखती चला जाता है वह डेकोरेशन निश्चित रूप से एक बीमारी ही है और यह बीमारी काफी अगर गंभीर हो गई तो यह काफी नुकसान भी हो जाता एक हो जाती है कई बार लोग डिप्रेशन में अपने आप को भी नष्ट करने की कोशिश करते हैं अपने आपको परेशान करने की कोशिश करते तो जाकर कई बार मैं देखा है महिलाएं भी जो घर में अकेलापन में रहती है वह भी डिप्रेशन में चली जाती है तो निश्चित रूप से मानसिक तनाव का चरम सीमा का रूप डिप्रेशन है तू एक प्रकार से रोग है इसका दवाइयों से इलाज भी चला चलता है लेकिन अगर हम लोग साथ रहे लोगों के साथ हंसते खेलते रहे अपनी जो मानसिक स्थिति को लोगों शेयर करें तो उसको खत्म भी डिप्रेशन को और जो क्षणिक दबाव मानसिक दबाव होता है वह क्षणिक रहता है वह एक-दो दिन में समाप्त हो जाता है लेकिन वह मन में कृष्ण रहता है तो डिप्रेशन हो जाएगा उसका फिर डॉक्टर से इलाज कराना आवश्यक हो जाता है धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki kya maanasik tanaav aur dipreshan ek tarah ke rog hain to doston dheere-dheere ham log maan dipreshan aur maanasik tanaav ko majaak mein daal dete hain lekin jab maanasik tanaav kuchh samay se lekar jyaada samay tak rahane lag jaata hai to vah dipreshan mein rakhatee chala jaata hai vah dekoreshan nishchit roop se ek beemaaree hee hai aur yah beemaaree kaaphee agar gambheer ho gaee to yah kaaphee nukasaan bhee ho jaata ek ho jaatee hai kaee baar log dipreshan mein apane aap ko bhee nasht karane kee koshish karate hain apane aapako pareshaan karane kee koshish karate to jaakar kaee baar main dekha hai mahilaen bhee jo ghar mein akelaapan mein rahatee hai vah bhee dipreshan mein chalee jaatee hai to nishchit roop se maanasik tanaav ka charam seema ka roop dipreshan hai too ek prakaar se rog hai isaka davaiyon se ilaaj bhee chala chalata hai lekin agar ham log saath rahe logon ke saath hansate khelate rahe apanee jo maanasik sthiti ko logon sheyar karen to usako khatm bhee dipreshan ko aur jo kshanik dabaav maanasik dabaav hota hai vah kshanik rahata hai vah ek-do din mein samaapt ho jaata hai lekin vah man mein krshn rahata hai to dipreshan ho jaega usaka phir doktar se ilaaj karaana aavashyak ho jaata hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग है मानसिक तनाव और डिप्रेशन एक तरह के रोग
URL copied to clipboard