#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है?

Patakhon Se Nikalne Vali Roshni Alag Alag Rangon Ki Kin Kaarnon Se Hoti Hai
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
Unknown
0:52
सवाल है पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है देखिए अक्सर हम देखते हैं कि विभिन्न प्रकार के पटाखे फटने के बाद आसमान में रंग बिरंगी रोशनी बिछड़ते हैं इन पटाखों में रोशनी प्राप्त करने के लिए खास तरह के रसायनों का प्रयोग किया जाता है अलग-अलग रसायनों के हिसाब से ही पटाखों के रंगों की रोशनी अलग-अलग होती है रसायन विज्ञान में मौजूद तरह तरह के रसायनों को यदि किसी और वस्तु के साथ मिलाया जाए तो बार रसायनिक तत्व उसके साथ मिश्रित होने पर अपना रंग बदल लेते हैं पटाखों से हरे रंग की रोशनी निकालने के लिए उसमें बेरियम नाइट्रेट का इस्तेमाल किया जाता है धन्यवाद
Savaal hai pataakhon se nikalane vaalee roshanee alag-alag rangon kee kin kaaranon se hotee hai dekhie aksar ham dekhate hain ki vibhinn prakaar ke pataakhe phatane ke baad aasamaan mein rang birangee roshanee bichhadate hain in pataakhon mein roshanee praapt karane ke lie khaas tarah ke rasaayanon ka prayog kiya jaata hai alag-alag rasaayanon ke hisaab se hee pataakhon ke rangon kee roshanee alag-alag hotee hai rasaayan vigyaan mein maujood tarah tarah ke rasaayanon ko yadi kisee aur vastu ke saath milaaya jae to baar rasaayanik tatv usake saath mishrit hone par apana rang badal lete hain pataakhon se hare rang kee roshanee nikaalane ke lie usamen beriyam naitret ka istemaal kiya jaata hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है?Patakhon Se Nikalne Vali Roshni Alag Alag Rangon Ki Kin Kaarnon Se Hoti Hai
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:23

bolkar speaker
पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है?Patakhon Se Nikalne Vali Roshni Alag Alag Rangon Ki Kin Kaarnon Se Hoti Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:41
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है तो फ्रेंड सब लोग देखते हैं कि जब पटाखे छुड़ाते हम लोग तो फूटने के बाद ऊपर आसमान में जाकर तरह-तरह के रंग बिखेरते हैं और अलग-अलग रंग के दिखते हैं तो यह रंगून में मौजूद रसायनों के कारण होता है उन पटाखों में विभिन्न प्रकार के अलग-अलग रासायनिक मिलाए जाते हैं जिनके कारण उनसे बहुत सारे रंग निकलते हैं इसीलिए हमें भी फूटने के बाद अलग-अलग रहा हूं दिखाए जाते हैं उनकी इन्हीं रासायनिक ओं के कारण तो फ्रेंड अगर आपको जवाब अच्छे लगे तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn pataakhon se nikalane vaalee roshanee alag-alag rangon kee kin kaaranon se hotee hai to phrend sab log dekhate hain ki jab pataakhe chhudaate ham log to phootane ke baad oopar aasamaan mein jaakar tarah-tarah ke rang bikherate hain aur alag-alag rang ke dikhate hain to yah rangoon mein maujood rasaayanon ke kaaran hota hai un pataakhon mein vibhinn prakaar ke alag-alag raasaayanik milae jaate hain jinake kaaran unase bahut saare rang nikalate hain iseelie hamen bhee phootane ke baad alag-alag raha hoon dikhae jaate hain unakee inheen raasaayanik on ke kaaran to phrend agar aapako javaab achchhe lage to laik keejiega dhanyavaad

bolkar speaker
पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है?Patakhon Se Nikalne Vali Roshni Alag Alag Rangon Ki Kin Kaarnon Se Hoti Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
0:53
हेलो शिवांशु आज आपका सवाल है कि पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है पता चला तुम्हारे मन में यह सवाल आता है कि कैसे लाइट और कैसे हैं लाइक अलग-अलग रंग निकल रहे हमें देखने के लिए मिल रहा है छोटा सा केमिकल मिला हुआ है इसी के कारण मतलब बहुत तरह के रंग देखने के लिए मिलता है बारूद और क्या सकते हैं तो यह सब का मिश्रण होता है जैसे कि आपके सोडियम नाइट्रेट हो गए हैं इसलिए नाइट्रेट हो गए तो यह सब मिलाया जाता है कि सब कारणों की वजह से अलग-अलग रंग जवाब पटाखा जलाते हैं तो कमी के लिए अलग-अलग रंग आपको देखने के लिए मिलता है
Helo shivaanshu aaj aapaka savaal hai ki pataakhon se nikalane vaalee roshanee alag-alag rangon kee kin kaaranon se hotee hai pata chala tumhaare man mein yah savaal aata hai ki kaise lait aur kaise hain laik alag-alag rang nikal rahe hamen dekhane ke lie mil raha hai chhota sa kemikal mila hua hai isee ke kaaran matalab bahut tarah ke rang dekhane ke lie milata hai baarood aur kya sakate hain to yah sab ka mishran hota hai jaise ki aapake sodiyam naitret ho gae hain isalie naitret ho gae to yah sab milaaya jaata hai ki sab kaaranon kee vajah se alag-alag rang javaab pataakha jalaate hain to kamee ke lie alag-alag rang aapako dekhane ke lie milata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard