#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?

Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
Vikas Sharma  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vikas जी का जवाब
No
1:00
सर्कस वाले के अधिकार का प्रयोग कहां करते हैं पेंट्स आर्टिकल का प्रयोग उन्नाव नियम पूरा नाम से पहले करते हैं फ्रेंड्स आर्टिकल हम उन्नाव अन्नपूर्णा उनको पहचानने के लिए उपयोग आर्टिकल सा किया जाता है आर्टिकल नाउन प्रोनाउन से आगे लगते हैं फ्रेंड्स आर्टिकल अपने दौरे के होते हैं तो डेफिनेट और एक इंडेफिनिटी आर्टिकल के अंदर आ जाएगा और इंटरनेट कल के अंदर एन आर ए और एन आ जाएगा और अपने जो आर्टिकल से अपने किसी के नाम के आगे मतलब जैसे कि विषय आर्टिकल सकते जैसे ताजमहल के आगे स्टोरीकल प्लेस इसके आगे किसी कांस्टेंट साउंड वाले शब्द क्या गेम किसी संस्था के आगे किसी बुक के नाम के आगे जैसे वह सुपरलेटिव कंप्लीट डिग्री आगे जैसे बेस्ट भ्रष्ट ऐसे इसलिए फ्रेंड सर्कल का उपयोग किया जाता है अगर आपको अच्छा लगा हो तो प्लीज लाइक कर देना जय हिंद जय भारत
Sarkas vaale ke adhikaar ka prayog kahaan karate hain pents aartikal ka prayog unnaav niyam poora naam se pahale karate hain phrends aartikal ham unnaav annapoorna unako pahachaanane ke lie upayog aartikal sa kiya jaata hai aartikal naun pronaun se aage lagate hain phrends aartikal apane daure ke hote hain to dephinet aur ek indephinitee aartikal ke andar aa jaega aur intaranet kal ke andar en aar e aur en aa jaega aur apane jo aartikal se apane kisee ke naam ke aage matalab jaise ki vishay aartikal sakate jaise taajamahal ke aage storeekal ples isake aage kisee kaanstent saund vaale shabd kya gem kisee sanstha ke aage kisee buk ke naam ke aage jaise vah suparaletiv kampleet digree aage jaise best bhrasht aise isalie phrend sarkal ka upayog kiya jaata hai agar aapako achchha laga ho to pleej laik kar dena jay hind jay bhaarat

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
Brahma Prakash Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Brahma जी का जवाब
Asst. Teacher
1:09
नमस्कार मैं ब्रहम प्रकाश मिश्र आपका कॉल करें पर हार्दिक स्वागत करता हूं आपका प्रश्न है आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं तो मित्र आर्टिकल वास शब्द होता है जो नाम यानी संज्ञा के बारे में बताता है या व्याख्या करता है तकनीकी रूप से आर्टिकल एक विशेषण यानी एडजेक्टिव होता है जो ना उनके बारे में बताता है यह ना उनके पहले यह बताने के लिए प्रयोग किया जाता है कि नाउ विशेष है अथवा नहीं आर्टिकल्स को लीटर - भी कहते हैं आर्टिकल दो प्रकार के होते हैं पहला होता है डेफिनिटी आर्टिकल जिसमें ए और एन का प्रयोग किया जाता है यह वह आर्टिकल होते हैं जो किसी निश्चित वस्तु व्यक्ति या स्थान की ओर संकेत नहीं चाहते हैं और दूसरा आर्टिकल होता है इंडेफिनिटी आर्टिकल जिसमें द का प्रयोग किया जाता है यह आर्टिकल होते हैं जो किसी निश्चित वस्तु व्यक्ति स्थान की संकेत करते हैं तो मित्र यह जवाब अच्छा लगा हो तो कृपया सब्सक्राइब लाइक शेयर और कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद
Namaskaar main braham prakaash mishr aapaka kol karen par haardik svaagat karata hoon aapaka prashn hai aartikal ka prayog kahaan karate hain to mitr aartikal vaas shabd hota hai jo naam yaanee sangya ke baare mein bataata hai ya vyaakhya karata hai takaneekee roop se aartikal ek visheshan yaanee edajektiv hota hai jo na unake baare mein bataata hai yah na unake pahale yah bataane ke lie prayog kiya jaata hai ki nau vishesh hai athava nahin aartikals ko leetar - bhee kahate hain aartikal do prakaar ke hote hain pahala hota hai dephinitee aartikal jisamen e aur en ka prayog kiya jaata hai yah vah aartikal hote hain jo kisee nishchit vastu vyakti ya sthaan kee or sanket nahin chaahate hain aur doosara aartikal hota hai indephinitee aartikal jisamen da ka prayog kiya jaata hai yah aartikal hote hain jo kisee nishchit vastu vyakti sthaan kee sanket karate hain to mitr yah javaab achchha laga ho to krpaya sabsakraib laik sheyar aur kament karake jaroor bataen dhanyavaad

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
Brahma Prakash Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Brahma जी का जवाब
Asst. Teacher
1:09
नमस्कार मैं ब्रहम प्रकाश मिश्र आपका कॉल करें पर हार्दिक स्वागत करता हूं आपका प्रश्न है आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं तो मित्र आर्टिकल वास शब्द होता है जो नाम यानी संज्ञा के बारे में बताता है या व्याख्या करता है तकनीकी रूप से आर्टिकल एक विशेषण यानी एडजेक्टिव होता है जो ना उनके बारे में बताता है यह ना उनके पहले यह बताने के लिए प्रयोग किया जाता है कि नाउ विशेष है अथवा नहीं आर्टिकल्स को लीटर - भी कहते हैं आर्टिकल दो प्रकार के होते हैं पहला होता है डेफिनिटी आर्टिकल जिसमें ए और एन का प्रयोग किया जाता है यह वह आर्टिकल होते हैं जो किसी निश्चित वस्तु व्यक्ति या स्थान की ओर संकेत नहीं चाहते हैं और दूसरा आर्टिकल होता है इंडेफिनिटी आर्टिकल जिसमें द का प्रयोग किया जाता है यह आर्टिकल होते हैं जो किसी निश्चित वस्तु व्यक्ति स्थान की संकेत करते हैं तो मित्र यह जवाब अच्छा लगा हो तो कृपया सब्सक्राइब लाइक शेयर और कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद
Namaskaar main braham prakaash mishr aapaka kol karen par haardik svaagat karata hoon aapaka prashn hai aartikal ka prayog kahaan karate hain to mitr aartikal vaas shabd hota hai jo naam yaanee sangya ke baare mein bataata hai ya vyaakhya karata hai takaneekee roop se aartikal ek visheshan yaanee edajektiv hota hai jo na unake baare mein bataata hai yah na unake pahale yah bataane ke lie prayog kiya jaata hai ki nau vishesh hai athava nahin aartikals ko leetar - bhee kahate hain aartikal do prakaar ke hote hain pahala hota hai dephinitee aartikal jisamen e aur en ka prayog kiya jaata hai yah vah aartikal hote hain jo kisee nishchit vastu vyakti ya sthaan kee or sanket nahin chaahate hain aur doosara aartikal hota hai indephinitee aartikal jisamen da ka prayog kiya jaata hai yah aartikal hote hain jo kisee nishchit vastu vyakti sthaan kee sanket karate hain to mitr yah javaab achchha laga ho to krpaya sabsakraib laik sheyar aur kament karake jaroor bataen dhanyavaad

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
pushpendra kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए pushpendra जी का जवाब
Unknown
0:27
आर्टिकल बाय शब्द होता है जो नाम के बारे में बताता है या व्याख्या करता है तकनीकी रूप से आर्टिकल एक विशेषण होता है जो नाम के बारे में बताता है या नाम से पहले यह बताने के लिए प्रयोग होता है कि नाउन विशेष है या नहीं इसे आर्टिकल्स को सेटेलाइट भी कहते हैं

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:20
होम लोगों को अवेयर करने के लिए किया जाता है और काफी सारे ऐसी जानकारी है जो हमें आर्टिकल द्वारा मिलती है तो आर्टिकल बहुत फायदेमंद होते हैं हमारे लिए और यह बहुत ही अच्छे भी होते हैं काफी आर्टिकल ओं में बहुत अच्छी जानकारी दी गई होती है दोस्तों अगर आपको मेरी जानकारी पसंद आई हो तो प्लीज लाइक करें एंड सब्सक्राइब करें
Hom logon ko aveyar karane ke lie kiya jaata hai aur kaaphee saare aisee jaanakaaree hai jo hamen aartikal dvaara milatee hai to aartikal bahut phaayademand hote hain hamaare lie aur yah bahut hee achchhe bhee hote hain kaaphee aartikal on mein bahut achchhee jaanakaaree dee gaee hotee hai doston agar aapako meree jaanakaaree pasand aaee ho to pleej laik karen end sabsakraib karen

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:20
दवा लेकर आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं आर्टिकल वह शुभ होता है जो ना उनके बारे में बताता है क्या व्याख्या करता है तकनीकी रूप से आर्टिकल एक विशेषण होता है जो नाम के बारे में बताता है ना उनसे पहले यह बताने के लिए प्रयोग होता है कि नाम विशेष है या नहीं आर्टिकल स्कूल डिटरमिनेट भी कहते हैं
Dava lekar aartikal ka prayog kahaan karate hain aartikal vah shubh hota hai jo na unake baare mein bataata hai kya vyaakhya karata hai takaneekee roop se aartikal ek visheshan hota hai jo naam ke baare mein bataata hai na unase pahale yah bataane ke lie prayog hota hai ki naam vishesh hai ya nahin aartikal skool ditaraminet bhee kahate hain

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:30

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
2:32
आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं इंग्लिश भाषा में जो नाम होता है नाम होता है का टीका लगाया जाता है आर्टिकल 3 है और दे दीजिए तू नाम अगर सामान्य नाम है तो यह लगाया जाता है जैसे ए ब्वॉय 1 गर्ल करना मगर एआईओयू से शुरू होता है तो उसके पहले एंड लगाया जाता है एन एलीफेंट और किसी कोई विशेष नाम हो किसी का नाम में दोस्तों जो लगाया जाता है कि अच्छी जैसे द ताजमहल ताजमहल विशेष नाम है दृश्य लगता है इस तरह यह इंग्लिश भाषा के आर्टिकल्स के बारे में होता है वैसे तो भारत के संविधान में भी आर्टिकल सोते हैं उनको भी आर्टिकल्स कहा जाता है जो कदम होते हैं जो धाराएं होती है जिसे आर्टिकल 13 14 15 वहां पर देहाती कुछ शब्द का प्रयोग करते हैं लेकिन यहां पर मुझे लगता है कि इंग्लिश के ग्रामर का टिकट के बारे में प्रश्न पूछा गया है अगर मेरा जवाब सही लगे तो इसे लाइक करें धन्यवाद
Aartikal ka prayog kahaan karate hain inglish bhaasha mein jo naam hota hai naam hota hai ka teeka lagaaya jaata hai aartikal 3 hai aur de deejie too naam agar saamaany naam hai to yah lagaaya jaata hai jaise e bvoy 1 garl karana magar eaeeoyoo se shuroo hota hai to usake pahale end lagaaya jaata hai en eleephent aur kisee koee vishesh naam ho kisee ka naam mein doston jo lagaaya jaata hai ki achchhee jaise da taajamahal taajamahal vishesh naam hai drshy lagata hai is tarah yah inglish bhaasha ke aartikals ke baare mein hota hai vaise to bhaarat ke sanvidhaan mein bhee aartikal sote hain unako bhee aartikals kaha jaata hai jo kadam hote hain jo dhaaraen hotee hai jise aartikal 13 14 15 vahaan par dehaatee kuchh shabd ka prayog karate hain lekin yahaan par mujhe lagata hai ki inglish ke graamar ka tikat ke baare mein prashn poochha gaya hai agar mera javaab sahee lage to ise laik karen dhanyavaad

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:38
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं अधिक से अधिक कहां यूज करना है कहां नहीं है हमें मतलब तुमसे बहुत ही कंफ्यूज करता है सबसे पहले आर्टिकल्स होता क्या आर्टिकल आपकी और हमारी कहते हैं और हमेशा नाम और संज्ञा शब्द से पहले ही लगता है वहां पर यूज होता है वैसे जगह वैसे नाम के पहले यूज़ होता है जहां से आपको कौन सा नाम के मतलब समझाते हैं जैसे कि आपको पता पॉवेल और कमेंट किया था आपकी बबल सो जाते एआईओयू और बाकी जितना भी पता कॉन्सोनेंट हो जाता तो मोबाइल को छोड़कर जितने भी बच्चे अल्फाबेट्स नगर किसाननगर आते हैं ना उनके तो आप वहां पर एक ही यूज करेंगे और अगर वह गलत के साउंड आते हैं ई आई ओ यू टू आप वहां पर एंड का इस्तेमाल करेंगे और दे दो जो इंपॉर्टेंट इंसान को ज्यादा कंफ्यूज करता है तो दो हम वहां पर यूज करते हैं जहां पर कोई भी चीज फिक्स होता है जैसे कि इंडिया इंडिया बहुत सारे एक ही इंडिया न्यू यॉर्क बहुत सारे नहीं है एक ही नहीं है कंट्री है अगर आप किसी को भुलाते आप लड़का बोलते तो लड़के बहुत सारे हो सकते हैं लेकिन जब आप किसी का नाम बोलता तू ए स्पेसिफिक आप उसी के बारे में बोल रहे थे जब हम किसी पार्टिकुलर स्पेसिफिक के बारे में बोलते तो का इस्तेमाल होता तो यही आशीष का इस्तेमाल करते हैं
Helo evareevan to aaj aap ka savaal hai ki aartikal ka prayog kahaan karate hain adhik se adhik kahaan yooj karana hai kahaan nahin hai hamen matalab tumase bahut hee kamphyooj karata hai sabase pahale aartikals hota kya aartikal aapakee aur hamaaree kahate hain aur hamesha naam aur sangya shabd se pahale hee lagata hai vahaan par yooj hota hai vaise jagah vaise naam ke pahale yooz hota hai jahaan se aapako kaun sa naam ke matalab samajhaate hain jaise ki aapako pata povel aur kament kiya tha aapakee babal so jaate eaeeoyoo aur baakee jitana bhee pata konsonent ho jaata to mobail ko chhodakar jitane bhee bachche alphaabets nagar kisaananagar aate hain na unake to aap vahaan par ek hee yooj karenge aur agar vah galat ke saund aate hain ee aaee o yoo too aap vahaan par end ka istemaal karenge aur de do jo importent insaan ko jyaada kamphyooj karata hai to do ham vahaan par yooj karate hain jahaan par koee bhee cheej phiks hota hai jaise ki indiya indiya bahut saare ek hee indiya nyoo york bahut saare nahin hai ek hee nahin hai kantree hai agar aap kisee ko bhulaate aap ladaka bolate to ladake bahut saare ho sakate hain lekin jab aap kisee ka naam bolata too e spesiphik aap usee ke baare mein bol rahe the jab ham kisee paartikular spesiphik ke baare mein bolate to ka istemaal hota to yahee aasheesh ka istemaal karate hain

bolkar speaker
आर्टिकल का प्रयोग कहाँ करते हैं?Article Ka Prayog Kahan Karte Hain
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:29
जैसे कि आपका प्लस में आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं देखें आर्टिकल वह शब्द होता है जो आना उनके बारे में बताता है या व्याख्या करता है तकनीकी रूप से आर्टिकल 111 डिसिशन इनके एडजेक्टिव होता है जो ना उनके बारे में बताता है यह ना उनसे पहले यह बताने के लिए प्रयोग होता है कि नाउन विशेष या नहीं आर्टिकल को डिटरमाइंड भी कहते हैं
Jaise ki aapaka plas mein aartikal ka prayog kahaan karate hain dekhen aartikal vah shabd hota hai jo aana unake baare mein bataata hai ya vyaakhya karata hai takaneekee roop se aartikal 111 disishan inake edajektiv hota hai jo na unake baare mein bataata hai yah na unase pahale yah bataane ke lie prayog hota hai ki naun vishesh ya nahin aartikal ko ditaramaind bhee kahate hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आर्टिकल कितने होते है, आर्टिकल किसे कहते है
URL copied to clipboard