#undefined

Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College Student
1:11
नमस्कार वैक्सीनेशन सेंटर पर एक दिन में अधिकतम 100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी सुबह 9:00 से शाम 5:00 बजे तक यह काम आपने 50 दिन सोमवार मंगलवार और शनिवार को सुबह 8:00 से शाम 5:00 बजे तक होगा लेकिन की हर शख्स को दोस्ती दोस्ती दोस्ती जाएगी आने के बाद 12 साधन भूख लगी होगी इनकी पहले दोस्त लगेगी उसी की दूसरी दोस्त की लेनी होगी और फिलहाल किसी भी शख्स को वैक्सिंग करने की आजादी नहीं होगी दुनिया की नहीं कह सकते कि मुझे मूवी चाहिए या या को शादी के बाद का तो सरकार का कहना है कि इन दोनों वैक्सीन के कोई भी गंभीर साइड इफेक्ट्स सामने नहीं आया इसे हल्का बुखार से ज्यादा पद अंदर आदि हो सके स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का कहना है कि लक्ष्य को लगाने पड़ते हैं घबराने की जरूरत नहीं है कुछ तकलीफ हो रही आपको धन्यवाद
Namaskaar vaikseeneshan sentar par ek din mein adhikatam 100 logon ko vaikseen dee jaegee subah 9:00 se shaam 5:00 baje tak yah kaam aapane 50 din somavaar mangalavaar aur shanivaar ko subah 8:00 se shaam 5:00 baje tak hoga lekin kee har shakhs ko dostee dostee dostee jaegee aane ke baad 12 saadhan bhookh lagee hogee inakee pahale dost lagegee usee kee doosaree dost kee lenee hogee aur philahaal kisee bhee shakhs ko vaiksing karane kee aajaadee nahin hogee duniya kee nahin kah sakate ki mujhe moovee chaahie ya ya ko shaadee ke baad ka to sarakaar ka kahana hai ki in donon vaikseen ke koee bhee gambheer said iphekts saamane nahin aaya ise halka bukhaar se jyaada pad andar aadi ho sake svaasthy mantree harshavardhan ka kahana hai ki lakshy ko lagaane padate hain ghabaraane kee jaroorat nahin hai kuchh takaleeph ho rahee aapako dhanyavaad

और जवाब सुनें

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
3:47
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि दक्षिण की कितनी देर लगेगी और एक या उसकी कोई साइड इफेक्ट से इंसान के मन में यह सवाल चल रहा है कि कितने दिन लगेंगे हमारा नंबर कब आएगा आप हमारे स्टेट बैंक अब वह नंबर आएगा हम मतलब हमें कब लगाया जाएगा कितनी दोस्त लगाया जाएगा इसके साइड इफेक्ट क्या है तो देखिए में एक-एक करके जितना मुझे पता है जितना मैंने जानकारियां मतलब प्राप्त की है और मैं उसे सबसे एक-एक करके आपको दूंगी जानकारी तो सबसे पहले प्राइस किया गया है कि जो लोग को रिस्क ज्यादा है कि वह इन फैक्ट हो सकते हैं जैसे कि हॉस्पिटल के जितने भी डॉक्टर स्टाफ या फिर बाहर जितने भी लोग मतलब जो गाड़ी वगैरह जो चलाते हैं जिनका ट्रांसपोर्टेशन का काम होता है तो इस तरह से काटे गए इसकी आ गया फिर जो स्टेट में सबसे ज्यादा कैसे से स्टेट में मतलब लगाया जाएगा उसके बाद वहां पर किया गया है कि किनको किनको पहले दिया जाएगा और जो यंग लोग हैं और जो बच्चे लोग हैं उनको उल्लास प्रायरिटी में रखा गया क्योंकि हमारी म्यूजिक दम काफी स्ट्रांग होते और हम लोगों का इतना मतलब लोगों से मिलना जुलना भी नहीं होता तो हम मतलब कितने रिस्क में नहीं है जितना कि एल्डर्स डॉक्टर से लोग हैं जो पहले स्टेट में जाएगा पेट में जाने के बाद वहां पर जो भी ग्रुप है जो डॉक्टर स्टाफ इन लोगों को लगाया जाएगा जो करते उनको लगाया जाएगा इस तरह से हर स्टेट में लगेगा अभी फिलहाल की बात करें तो दोनों लेना बहुत जरूरी है एक डोस आपका सपोर्ट आज दिया गया है तो दूसरा ढूंढ दो से लेकर 4 वीक के अंदर आपको दूसरा डोज लेना है ऐसा नहीं है कि एक डोज आपने ले लिया दर्द सब ओके है ऐसा नहीं आपको दूसरा ढूंढ भी लेना बहुत जरूरी है क्योंकि जब तक आप कोई भी मेडिसिन पूरा कंपलीट ही नहीं खाते तब तक वह आपके शरीर में गलत काम नहीं करता पूरी तरह से आप ठीक नहीं होते तो यह वैक्सीन भी लेना मतलब दो ढूंढ लेना बहुत जरूरी है दोपहर के 10:30 बजे से शुरू होगा और हरेक लोगों को पहले बोल दिया जाएगा और हेल्पलाइन नंबर भी है अगर आपको कोई भी प्रॉब्लम कोई भी किसी भी तरह का कोई डाउट हुआ तो आपको हेल्पलाइन नंबर में भी कॉल कर सकते हैं जो 24 * 7 हमेशा मतलब वह आपका कॉल उठाएंगे और आपको जो भी चीज जानना है या फिर जो भी चीज पूछना है आप वहां पर पूछ सकते और 1 दिन में 100 लोगों को लगाया जाएगा उसके बाद दूसरों से जैसे मैंने बताया 2 से 4 दिन के अंदर फिर लगाया जाएगा अब आप का सवाल है कि इसके कोई साइड इफेक्ट है या नहीं तो देखना अभी बताएंगे उसके साइड इफैक्ट्स आफ हो गई फीवर सर दर्द बस थोड़ा ऐसा लगे क्योंकि कोई भी व्यक्ति कोई भी दवाई बिना खाते जलेबी वाला या फिर ऐसे भी कोई खाते तो थोड़ा थोड़ा उसका सर आपको आपके शरीर में दिखता तुझे अगर आप घबरा आएंगे फिर जितना आप सोचेंगे वो ज्यादा आती है उसको प्रॉब्लम कर सकता तो नॉर्मल ही आपके थोड़े और बॉडी गर्म होगा थोड़ा फीवर आपको थोड़ा सर दर्द होगा इंसान को थोड़ा मैनेज करना है दूसरे दोस्त जब आप ले लेंगे उसके बाद आपको देखना है क्योंकि एक्टिव है या नहीं अच्छा है या नहीं जितना अभी बताया कि इसके बहुत ही - साइड इफेक्ट्स और यह इफेक्टिव भी है तो ऐसा करते आज से स्टार्ट हुआ है तो सब चीज अच्छा ही हो और ऐसा कुछ हमें डरने की बात नहीं कि हम जितना ज्यादा जब कोरोनावायरस हम सुने थे मुझे इतना ज्यादा डर रहता तो डेथ रेट बहुत बढ़ रहा था अभी लोग बहुत देर हो गया समझ नहीं लगी इसके बारे में जाने हैं अपने आप को भी समझाएं हैं तो काफी हद तक देखें डेथ रेट जो है बहुत ही कम है तो ऐसे ही खुद को भी समझाना वैक्सीन के बाद यह नहीं कि छोटी छोटी चीजों को भी बहुत नोटिस करना मुझे यह हो रहा है मुझे वह बहुत सारे लोग घबरा जाते हैं तो यह घबराना ही नहीं है अगर आपको कोई भी चीज ऐसे दिख रहा जो भी डाउट है तो आप जो नंबर आपको हेल्प लाइन नंबर दिया जाएगा उसमें आप कॉल करके पूछ सकते
Helo evareevan to aaj aap ka savaal hai ki dakshin kee kitanee der lagegee aur ek ya usakee koee said iphekt se insaan ke man mein yah savaal chal raha hai ki kitane din lagenge hamaara nambar kab aaega aap hamaare stet baink ab vah nambar aaega ham matalab hamen kab lagaaya jaega kitanee dost lagaaya jaega isake said iphekt kya hai to dekhie mein ek-ek karake jitana mujhe pata hai jitana mainne jaanakaariyaan matalab praapt kee hai aur main use sabase ek-ek karake aapako doongee jaanakaaree to sabase pahale prais kiya gaya hai ki jo log ko risk jyaada hai ki vah in phaikt ho sakate hain jaise ki hospital ke jitane bhee doktar staaph ya phir baahar jitane bhee log matalab jo gaadee vagairah jo chalaate hain jinaka traansaporteshan ka kaam hota hai to is tarah se kaate gae isakee aa gaya phir jo stet mein sabase jyaada kaise se stet mein matalab lagaaya jaega usake baad vahaan par kiya gaya hai ki kinako kinako pahale diya jaega aur jo yang log hain aur jo bachche log hain unako ullaas praayaritee mein rakha gaya kyonki hamaaree myoojik dam kaaphee straang hote aur ham logon ka itana matalab logon se milana julana bhee nahin hota to ham matalab kitane risk mein nahin hai jitana ki eldars doktar se log hain jo pahale stet mein jaega pet mein jaane ke baad vahaan par jo bhee grup hai jo doktar staaph in logon ko lagaaya jaega jo karate unako lagaaya jaega is tarah se har stet mein lagega abhee philahaal kee baat karen to donon lena bahut jarooree hai ek dos aapaka saport aaj diya gaya hai to doosara dhoondh do se lekar 4 veek ke andar aapako doosara doj lena hai aisa nahin hai ki ek doj aapane le liya dard sab oke hai aisa nahin aapako doosara dhoondh bhee lena bahut jarooree hai kyonki jab tak aap koee bhee medisin poora kampaleet hee nahin khaate tab tak vah aapake shareer mein galat kaam nahin karata pooree tarah se aap theek nahin hote to yah vaikseen bhee lena matalab do dhoondh lena bahut jarooree hai dopahar ke 10:30 baje se shuroo hoga aur harek logon ko pahale bol diya jaega aur helpalain nambar bhee hai agar aapako koee bhee problam koee bhee kisee bhee tarah ka koee daut hua to aapako helpalain nambar mein bhee kol kar sakate hain jo 24 * 7 hamesha matalab vah aapaka kol uthaenge aur aapako jo bhee cheej jaanana hai ya phir jo bhee cheej poochhana hai aap vahaan par poochh sakate aur 1 din mein 100 logon ko lagaaya jaega usake baad doosaron se jaise mainne bataaya 2 se 4 din ke andar phir lagaaya jaega ab aap ka savaal hai ki isake koee said iphekt hai ya nahin to dekhana abhee bataenge usake said iphaikts aaph ho gaee pheevar sar dard bas thoda aisa lage kyonki koee bhee vyakti koee bhee davaee bina khaate jalebee vaala ya phir aise bhee koee khaate to thoda thoda usaka sar aapako aapake shareer mein dikhata tujhe agar aap ghabara aaenge phir jitana aap sochenge vo jyaada aatee hai usako problam kar sakata to normal hee aapake thode aur bodee garm hoga thoda pheevar aapako thoda sar dard hoga insaan ko thoda mainej karana hai doosare dost jab aap le lenge usake baad aapako dekhana hai kyonki ektiv hai ya nahin achchha hai ya nahin jitana abhee bataaya ki isake bahut hee - said iphekts aur yah iphektiv bhee hai to aisa karate aaj se staart hua hai to sab cheej achchha hee ho aur aisa kuchh hamen darane kee baat nahin ki ham jitana jyaada jab koronaavaayaras ham sune the mujhe itana jyaada dar rahata to deth ret bahut badh raha tha abhee log bahut der ho gaya samajh nahin lagee isake baare mein jaane hain apane aap ko bhee samajhaen hain to kaaphee had tak dekhen deth ret jo hai bahut hee kam hai to aise hee khud ko bhee samajhaana vaikseen ke baad yah nahin ki chhotee chhotee cheejon ko bhee bahut notis karana mujhe yah ho raha hai mujhe vah bahut saare log ghabara jaate hain to yah ghabaraana hee nahin hai agar aapako koee bhee cheej aise dikh raha jo bhee daut hai to aap jo nambar aapako help lain nambar diya jaega usamen aap kol karake poochh sakate

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:42
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न वैक्सीन की कितनी देर लगेगी और क्या उसके कोई साइड इफेक्ट है तो फ्रेंड सचिन की दो दोस्त लगेंगी दो रोज में वैक्सीनेशन पूरा होगा और इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है यह सब अफवाहें हैं बहुत सारे लोगों को कोरोनावायरस इन विदेशों में भी लग चुकी है और बहुत सारे लोगों को लग रही है तो आप यह दिमाग से बिल्कुल हटा दीजिए कि कोई साइड इफेक्ट होगा यह बहुत अच्छे व्यक्ति हैं और इसे भारत सरकार ने मंजूरी दी है तो कुछ सोच समझ कर ही दी होगी इसलिए वैक्सीन बहुत अच्छी है आप लोगों का जब नंबर आए तो आप अपना डेफिनिशन जरूर करवाइए और वैक्सीन से घबराने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है यह दो दो जो में लगाई जाएगी धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn vaikseen kee kitanee der lagegee aur kya usake koee said iphekt hai to phrend sachin kee do dost lagengee do roj mein vaikseeneshan poora hoga aur isaka koee bhee said iphekt nahin hai yah sab aphavaahen hain bahut saare logon ko koronaavaayaras in videshon mein bhee lag chukee hai aur bahut saare logon ko lag rahee hai to aap yah dimaag se bilkul hata deejie ki koee said iphekt hoga yah bahut achchhe vyakti hain aur ise bhaarat sarakaar ne manjooree dee hai to kuchh soch samajh kar hee dee hogee isalie vaikseen bahut achchhee hai aap logon ka jab nambar aae to aap apana dephinishan jaroor karavaie aur vaikseen se ghabaraane kee bilkul bhee jaroorat nahin hai yah do do jo mein lagaee jaegee dhanyavaad

DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
0:26
वैक्सीन की दोनों जाते हैं ठीक है तो दो रोज लगाने से को फिर से बच सकते हैं और उसका अभी तक तो कोई साइड इफेक्ट से दिखा नहीं है लेकिन हां बक्से लगाने से थोड़ी आपकी बॉडी में सूजन आ सकते थोड़ी आपको तबीयत खराब से हो सकते 123 उल्टी आ सकती है ठीक है फिर थोड़ी देर तक आ सकता है लेकिन उनका कोई बोर्डिंग मेजर इफेक्ट साइड इफेक्ट
Vaikseen kee donon jaate hain theek hai to do roj lagaane se ko phir se bach sakate hain aur usaka abhee tak to koee said iphekt se dikha nahin hai lekin haan bakse lagaane se thodee aapakee bodee mein soojan aa sakate thodee aapako tabeeyat kharaab se ho sakate 123 ultee aa sakatee hai theek hai phir thodee der tak aa sakata hai lekin unaka koee bording mejar iphekt said iphekt

KARTIK MISHRA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए KARTIK जी का जवाब
Student
0:12

Nidhi Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Unknown
3:09
जैसे कि आप एक क्वेश्चन किया है कि वैक्सीन की कितनी डर लगेगी और क्या इसका कोई साइड इफेक्ट है तो आज प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी ने स्पीच दिया है और काफी अच्छे से समझाया कि मतलब क्या है इसका मतलब इतना है और उन्होंने बताया कि पहले हम टारगेट कर रहे हैं कि 3 करोड लोगों को लगेगा और यह फ्रंट वर्कर है जैसे कि जिसमें डॉक्टर आएंगे नर्स जाएंगे फिर पुलिसकर्मी या फिर सफाई कर्मी आएंगे और उन्हें मतलब यह जहां तक मैं नहीं चुना उन्होंने बताया कि कि जो इसका एक पहले तो एक दोस्त लगेगा और फिर 1 महीने के बाद इसका मतलब दूसरा डोस लगेगा व्हाट्सएप लगाना होगा तो फिर मोबाइल पर मैसेज आएगा फिर वह दूसरा डोस लगेगा और उसके बाद उसके बाद जो और वरना ले बना उसके बाद जो बुड्ढे लोग हैं या फिर कोई बीमार पड़ता उनको 30 करोड़ लोगों को उसके बाद टारगेट रहेगा और जैसे कि आप जानते हैं कि हमारा जो इंडिया हैव जनसंख्या में दूसरे नंबर पर है तो यह भी एक बहुत व्यस्त है और पूरे व्यक्तित्व शिव शंकर करना कोई काम नहीं है बस मतलब डिफिकल्ट है लेकिन फिर भी कहते हैं ना कि इतना बड़ा स्ट्रगल सब ने शांत होकर किया है और ऐसे ही धैर्य से काम लेंगे तो बड़ा से बड़ा तकलीफ मुसीबत सब को कोई सब कोई पार करने का और रही बात तो साइड इफेक्ट की तो जहां तक मैं जानती हूं यह साइड इफेक्ट नहीं है और इसमें सब बहुत सारा पॉलिटिक्स भी हो रहा है और जैसे कि इस पर नहीं होना चाहिए क्योंकि एक पेंट डेमिक है और यह हर इंसान को एक साथ लड़ना चाहिए ना कि यहां पर पॉलिटिक्स लेना चाहिए क्योंकि जैसे कि जैसे कि कोरोनावायरस अब में सबका साथ दिया है और बहुत सारे मतलब जिसका जो असली चेहरा था वह सामने आ गया कौन अपना है कौन पराया किस में ऐसे-ऐसे सिचुएशन देखने की मतलब देखने को मिला कि जहां पर हस्बैंड वाइफ को अलग कर दे रही है या फिर बहुत कुछ इसमें बहुत कुछ और ठीक है ऐसे ऐसे लोग आए सामने जिन्होंने बहुत सारे लोगों की हेल्प की बहुत सारी सच्चाई है दिखाइए तो यह है कि इसमें अफवाह नहीं मतलब आप वहां पर ज्यादा ध्यान ना दें और गवर्नमेंट की जो पॉलिसी है उसका साथ दें और हां जिसे क्यों नरेंद्र मोदी जी बोल रहे थे कि अभी भी मतलब बैटरी लगने के बाद भी है ना समझे की साफ-सफाई पर ध्यान रखें और 2 गज की दूरी और मासिक है जरूरी उन्होंने बोला फॉलो करते रहे क्योंकि क्या पता मतलब कोरोनावायरस बीमारी मैक्सिमम सफाई या फिर इन्हीं सब के कारण आती है तो उन्होंने जैसे कि आप भी सुने होंगे न्यूज़ पर तो उन्होंने अच्छे से इसेडिफाइंड किया है और रही बात की यह सब अफवाहें फैल नहीं है जो साइड इफेक्ट मेरे को नहीं लगता कि इसमें कोई साइड इफेक्ट है थैंक यू
Jaise ki aap ek kveshchan kiya hai ki vaikseen kee kitanee dar lagegee aur kya isaka koee said iphekt hai to aaj praim ministar narendr modee ne speech diya hai aur kaaphee achchhe se samajhaaya ki matalab kya hai isaka matalab itana hai aur unhonne bataaya ki pahale ham taaraget kar rahe hain ki 3 karod logon ko lagega aur yah phrant varkar hai jaise ki jisamen doktar aaenge nars jaenge phir pulisakarmee ya phir saphaee karmee aaenge aur unhen matalab yah jahaan tak main nahin chuna unhonne bataaya ki ki jo isaka ek pahale to ek dost lagega aur phir 1 maheene ke baad isaka matalab doosara dos lagega vhaatsep lagaana hoga to phir mobail par maisej aaega phir vah doosara dos lagega aur usake baad usake baad jo aur varana le bana usake baad jo buddhe log hain ya phir koee beemaar padata unako 30 karod logon ko usake baad taaraget rahega aur jaise ki aap jaanate hain ki hamaara jo indiya haiv janasankhya mein doosare nambar par hai to yah bhee ek bahut vyast hai aur poore vyaktitv shiv shankar karana koee kaam nahin hai bas matalab diphikalt hai lekin phir bhee kahate hain na ki itana bada stragal sab ne shaant hokar kiya hai aur aise hee dhairy se kaam lenge to bada se bada takaleeph museebat sab ko koee sab koee paar karane ka aur rahee baat to said iphekt kee to jahaan tak main jaanatee hoon yah said iphekt nahin hai aur isamen sab bahut saara politiks bhee ho raha hai aur jaise ki is par nahin hona chaahie kyonki ek pent demik hai aur yah har insaan ko ek saath ladana chaahie na ki yahaan par politiks lena chaahie kyonki jaise ki jaise ki koronaavaayaras ab mein sabaka saath diya hai aur bahut saare matalab jisaka jo asalee chehara tha vah saamane aa gaya kaun apana hai kaun paraaya kis mein aise-aise sichueshan dekhane kee matalab dekhane ko mila ki jahaan par hasbaind vaiph ko alag kar de rahee hai ya phir bahut kuchh isamen bahut kuchh aur theek hai aise aise log aae saamane jinhonne bahut saare logon kee help kee bahut saaree sachchaee hai dikhaie to yah hai ki isamen aphavaah nahin matalab aap vahaan par jyaada dhyaan na den aur gavarnament kee jo polisee hai usaka saath den aur haan jise kyon narendr modee jee bol rahe the ki abhee bhee matalab baitaree lagane ke baad bhee hai na samajhe kee saaph-saphaee par dhyaan rakhen aur 2 gaj kee dooree aur maasik hai jarooree unhonne bola pholo karate rahe kyonki kya pata matalab koronaavaayaras beemaaree maiksimam saphaee ya phir inheen sab ke kaaran aatee hai to unhonne jaise ki aap bhee sune honge nyooz par to unhonne achchhe se isediphaind kiya hai aur rahee baat kee yah sab aphavaahen phail nahin hai jo said iphekt mere ko nahin lagata ki isamen koee said iphekt hai thaink yoo

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:34
एप्सन की कितनी डर लगेगी और क्या इसके कोई साइड इफेक्ट है दोस्तों वैक्सीन की डोर भारत के अंदर आ चुकी है और लगभग हरेक राज्य के अंदर यह पहुंच चुकी है अब देखते हैं यह कितने लोगों तक पूरी तरीके से जातीयता कितने तक नहीं जाती है और इसके कितने चरणों में क्या यह भी पोलियो की तरह ही हो हमें दो बूंद की जिंदगी की तरह दी जाएगी या कुछ और है तो वैक्सीन तो आ चुकी अब लगाते हैं इसके साइड इफेक्ट होंगे या नहीं होंगे यह तो लगने के बाद यह में पता चलेंगे और वैसे भी इसका जो ट्रायल हुआ था उसमें भी कारगर साबित हुई थी
Epsan kee kitanee dar lagegee aur kya isake koee said iphekt hai doston vaikseen kee dor bhaarat ke andar aa chukee hai aur lagabhag harek raajy ke andar yah pahunch chukee hai ab dekhate hain yah kitane logon tak pooree tareeke se jaateeyata kitane tak nahin jaatee hai aur isake kitane charanon mein kya yah bhee poliyo kee tarah hee ho hamen do boond kee jindagee kee tarah dee jaegee ya kuchh aur hai to vaikseen to aa chukee ab lagaate hain isake said iphekt honge ya nahin honge yah to lagane ke baad yah mein pata chalenge aur vaise bhee isaka jo traayal hua tha usamen bhee kaaragar saabit huee thee

Manju Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Manju जी का जवाब
Unknown
1:51
आपके प्रश्न पूछा है कि व्यक्ति की कितनी दोस्त के लिए लगेगी और क्या उसकी कोई साइड इफेक्ट है तो देखिए वैक्सीन जो है जिसका नाम है को भी सिर्फ भारत में ही बना हुआ वैक्सीन दी जा रही है तो एक बहुत बड़ा एक अभियान का फेस वन का शुरू हो जाएगा मतलब आज 16 जनवरी शुरू हो गया है और 18 को होगा फिर 30 को होगा तो इस तरह से जल से बनाए गए हैं तो 1 फेस वन शुरू हो गया जो हेल्प केयर वर्कर्स के लिए है तो वह तीन करोड़ और लोगों को आज तक सीमित करने का अभियान चालू हो चुका है जब दिया जाता है उसके 4 हफ्ते बाद मतलब 28 दिन के बाद दूसरा दोस्त दिया जाता है वजह से अपने साइड तक की बात पूछी है तो साइड इफेक्ट तो जैसे कमीशन देने पर जो साइड इफेक्ट्स होते हैं जैसे जहां पर सुई लगाते हैं वहां थोड़ा दर्द होगा थोड़ा मसल पेन हो सकता है उस एरिया में थोड़ा पेंट हो सकता है और सर में दर्द हो सकता है बुखार होने की संभावना भी है तो पहले रोशनी ज्यादा आपको लक्षण नजर नहीं आएगा दूसरे फुल डोज देने के बाद हो सकता है बुखार आ जाए तो यह आमतौर पर जो भी वैक्सिंग दी जाती है जैसे कि जब बच्चों को दी जाती है बैठते हैं तो उन जैसे बचपन में वैक्सीनेशन देने के बाद बुखार आ जाता है बिल्कुल उसी तरह इसके भी साइड इफेक्ट है तो अभी तक इस से ज्यादा कुछ पता नहीं है अभी तक एक ही साइड इफेक्ट जाने जा रहे हैं तो अभी जैसे आज एग्जाम चालू हो चुका है तो कुछ ही दिनों में और भी जानकारी आपको न्यूज़ चैनल के द्वारा मिलती रहेगी तो अच्छा करती हूं आपको इस सवाल का जवाब मिल गया है धन्यवाद
Aapake prashn poochha hai ki vyakti kee kitanee dost ke lie lagegee aur kya usakee koee said iphekt hai to dekhie vaikseen jo hai jisaka naam hai ko bhee sirph bhaarat mein hee bana hua vaikseen dee ja rahee hai to ek bahut bada ek abhiyaan ka phes van ka shuroo ho jaega matalab aaj 16 janavaree shuroo ho gaya hai aur 18 ko hoga phir 30 ko hoga to is tarah se jal se banae gae hain to 1 phes van shuroo ho gaya jo help keyar varkars ke lie hai to vah teen karod aur logon ko aaj tak seemit karane ka abhiyaan chaaloo ho chuka hai jab diya jaata hai usake 4 haphte baad matalab 28 din ke baad doosara dost diya jaata hai vajah se apane said tak kee baat poochhee hai to said iphekt to jaise kameeshan dene par jo said iphekts hote hain jaise jahaan par suee lagaate hain vahaan thoda dard hoga thoda masal pen ho sakata hai us eriya mein thoda pent ho sakata hai aur sar mein dard ho sakata hai bukhaar hone kee sambhaavana bhee hai to pahale roshanee jyaada aapako lakshan najar nahin aaega doosare phul doj dene ke baad ho sakata hai bukhaar aa jae to yah aamataur par jo bhee vaiksing dee jaatee hai jaise ki jab bachchon ko dee jaatee hai baithate hain to un jaise bachapan mein vaikseeneshan dene ke baad bukhaar aa jaata hai bilkul usee tarah isake bhee said iphekt hai to abhee tak is se jyaada kuchh pata nahin hai abhee tak ek hee said iphekt jaane ja rahe hain to abhee jaise aaj egjaam chaaloo ho chuka hai to kuchh hee dinon mein aur bhee jaanakaaree aapako nyooz chainal ke dvaara milatee rahegee to achchha karatee hoon aapako is savaal ka javaab mil gaya hai dhanyavaad

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:33
पूछा गया है वैक्सीन कितनी दूर लगेगी और क्या उसकी कोई साइड इफेक्ट है तो दिखी जैसा कि बताया जा रहा है कि जो कोरोनावायरस का वैक्सीन है वहां से लगना शुरू हुआ है उसके दो दोस्त लगेंगे पहला दूसरा जिस दिन लगेगा उसके 28 दिन बाद दो दूसरा डोर्स है इसका लगेगा और इसके साइड इफेक्ट तो ऐसे जैसे जनरल किसी भी व्यक्ति के झंडे साइड इफेक्ट होते जैसे फीवर गाना थोड़ा बीच में इस तरीके के साइड इफेक्ट्स के भी होंगे उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Poochha gaya hai vaikseen kitanee door lagegee aur kya usakee koee said iphekt hai to dikhee jaisa ki bataaya ja raha hai ki jo koronaavaayaras ka vaikseen hai vahaan se lagana shuroo hua hai usake do dost lagenge pahala doosara jis din lagega usake 28 din baad do doosara dors hai isaka lagega aur isake said iphekt to aise jaise janaral kisee bhee vyakti ke jhande said iphekt hote jaise pheevar gaana thoda beech mein is tareeke ke said iphekts ke bhee honge ummeed karatee hoon aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक, संस्कृतभारती जयपुरमहानगर प्रचारप्रमुख और सन्देशप्रमुख
3:18
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है वैक्सीन की कितनी देर लगेगी और क्या उसके कोई साड़ी साइड इफेक्ट है तो मित्र आपको बता दूं कि वैक्सीन के 2:00 बजे लगेगी क्योंकि यह नियम बनाया गया है कि जब कोरोना की वैक्सीन किसी व्यक्ति को लगाई जाती है तो उसके 22 डोज मुझसे लेनी ही पड़ेगी तभी यह सही तरीके से कारगर साबित होगा दूसरा आपने पूछा कि इसके कोई साइड इफेक्ट तो मित्र अभी तक जितने भी पहले जो उसके फ्री ट्रायल लिए गए थे कल के अंदर ऐसा कुछ लोगों में कोई ऐसे इसके साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिले हैं कि जिसके कारण इसे नाम नहीं लगवाए दूसरी इस केस में अभी भी जब वेस्टिन क्या प्रारंभ हो चुके हैं तो हमें क्वेश्चन लगवाने से पहले जो नियम है बालक को जो सावधानियां बरतनी है वह अगर हम सही तरीके से पूरी कर के चलते हैं तो आपको कोई इसके साइड इफेक्ट कोई नुकसान ऐसा कुछ होने वाला नहीं है जैसे कि मैंने आज ही जब एक्शन का प्रारंभ हुआ है वैक्सीन लगने का तो मैंने अभी शाम को पेपर में पढ़ा कि राजस्थान में 3 लोग अलवर में एक राजस्थान में जिला है अलवर यहां पर 3:00 हेल्थ वर्कर ऐसे हैं जिनकी तबीयत खराब हो गई अब उसका कारण जब पता चला तो कारण यह था कि उन तीनों ने ही खाली पेट में वैक्सीन के डोज ले ली थी जबकि डॉक्टर्स वैज्ञानिक ने यह कहा है कि जवाब करुणा की वेस्टर्न लगवाए जब इसका टीकाकरण करवाते हैं टीका लगाते हैं तो आपको खाली पेट नहीं लगवाना है चाहे आप थोड़ा बहुत ही कुछ खा लीजिए खाना खा लीजिए चाय बिस्किट खा लीजिए और कुछ खा लीजिए मतलब पेट में कुछ अन्य होना चाहिए तो अगर आप ही चीज पूरी करके चलेंगे तो कोई साइड इफेक्ट नहीं है अब जैसे कि उन तीनों ने जब खान वैक्सीन लगवाई उन तीनों नहीं खाना नहीं खाया था इस कारण से खाली पेट लेकर गए और आपको पता है जब अगर किसी चीज पर आपको दवाई ले रहे हैं उसमें यह है कि वह दवाई आपको खाली पेट नहीं लेनी है तो उस गाली जो वह गोली है उस गोली के भी कुछ तो साइड इफेक्ट हुई सकते हैं मतलब कि कुछ पैसा होगा तो आप यह ध्यान रखेगा जब हेल्थ वर्कर्स के बाद में आम जनता का जब नंबर आएगा वैक्सीन लगवाने का तो यही है कि खाली पेट में बिल्कुल भी नहीं जाए और अगर आपकी नजर में कोई हेल्थ वर्कर भी है तो सही भी कहिए कि आप वैसे लगवाने से पहले चाय थोड़ा बहुत कुछ नाश्ता कर लीजिए पर जरूर करिए अगर खाली पेट लगाते हैं तो थोड़ी सी दिक्कत हो सकती है धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai vaikseen kee kitanee der lagegee aur kya usake koee sari said iphekt hai to mitr aapako bata doon ki vaikseen ke 2:00 baje lagegee kyonki yah niyam banaaya gaya hai ki jab korona kee vaikseen kisee vyakti ko lagaee jaatee hai to usake 22 doj mujhase lenee hee padegee tabhee yah sahee tareeke se kaaragar saabit hoga doosara aapane poochha ki isake koee said iphekt to mitr abhee tak jitane bhee pahale jo usake phree traayal lie gae the kal ke andar aisa kuchh logon mein koee aise isake said iphekt dekhane ko nahin mile hain ki jisake kaaran ise naam nahin lagavae doosaree is kes mein abhee bhee jab vestin kya praarambh ho chuke hain to hamen kveshchan lagavaane se pahale jo niyam hai baalak ko jo saavadhaaniyaan baratanee hai vah agar ham sahee tareeke se pooree kar ke chalate hain to aapako koee isake said iphekt koee nukasaan aisa kuchh hone vaala nahin hai jaise ki mainne aaj hee jab ekshan ka praarambh hua hai vaikseen lagane ka to mainne abhee shaam ko pepar mein padha ki raajasthaan mein 3 log alavar mein ek raajasthaan mein jila hai alavar yahaan par 3:00 helth varkar aise hain jinakee tabeeyat kharaab ho gaee ab usaka kaaran jab pata chala to kaaran yah tha ki un teenon ne hee khaalee pet mein vaikseen ke doj le lee thee jabaki doktars vaigyaanik ne yah kaha hai ki javaab karuna kee vestarn lagavae jab isaka teekaakaran karavaate hain teeka lagaate hain to aapako khaalee pet nahin lagavaana hai chaahe aap thoda bahut hee kuchh kha leejie khaana kha leejie chaay biskit kha leejie aur kuchh kha leejie matalab pet mein kuchh any hona chaahie to agar aap hee cheej pooree karake chalenge to koee said iphekt nahin hai ab jaise ki un teenon ne jab khaan vaikseen lagavaee un teenon nahin khaana nahin khaaya tha is kaaran se khaalee pet lekar gae aur aapako pata hai jab agar kisee cheej par aapako davaee le rahe hain usamen yah hai ki vah davaee aapako khaalee pet nahin lenee hai to us gaalee jo vah golee hai us golee ke bhee kuchh to said iphekt huee sakate hain matalab ki kuchh paisa hoga to aap yah dhyaan rakhega jab helth varkars ke baad mein aam janata ka jab nambar aaega vaikseen lagavaane ka to yahee hai ki khaalee pet mein bilkul bhee nahin jae aur agar aapakee najar mein koee helth varkar bhee hai to sahee bhee kahie ki aap vaise lagavaane se pahale chaay thoda bahut kuchh naashta kar leejie par jaroor karie agar khaalee pet lagaate hain to thodee see dikkat ho sakatee hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • वैक्सीन की कितनी डोज़ लगेगी, वैक्सीन लगाने से कोई साइड इफेक्ट हो सकता है
URL copied to clipboard