#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?

Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:24
विकी बिल्कुल गलत बात है और कि राम जी मांसाहारी थे राम खुद भगवान श्री राम खुद महा विष्णु जी के अवतार थे तो उनका तो काम था पूरे जगत का पालन पोषण करना दोनों खुद मांसाहारी कैसे हो सकते तुम वह मांसाहारी बिल्कुल भी नहीं थे
Vikee bilkul galat baat hai aur ki raam jee maansaahaaree the raam khud bhagavaan shree raam khud maha vishnu jee ke avataar the to unaka to kaam tha poore jagat ka paalan poshan karana donon khud maansaahaaree kaise ho sakate tum vah maansaahaaree bilkul bhee nahin the

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
0:46
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है कि राम जी मांसाहारी थे यह बात सरासर गलत है और इस तरीके की बातें कृपया करके किसी के धर्म के प्रति इस प्रकार की बातें ना करें तो ही ठीक होगा रही बात मानता हरि की तो वह जंगलों में जरूर गए और उन्होंने भयानक राक्षसों का संहार किया ना कि उनका आहार किया उनका हर था कंदमूल फल यह पूरी दुनिया जानती है कि रामचंद जी जब जंगलों में थे तो शिवाय कंदमूल फल के उन्होंने कुछ भी नहीं खाया कृपया करके धर्म के प्रति इस प्रकार की बातें ना करें तो ठीक होगा धन्यवाद
Kya baalmeeki raamaayan mein likha hai ki raam jee maansaahaaree the yah baat saraasar galat hai aur is tareeke kee baaten krpaya karake kisee ke dharm ke prati is prakaar kee baaten na karen to hee theek hoga rahee baat maanata hari kee to vah jangalon mein jaroor gae aur unhonne bhayaanak raakshason ka sanhaar kiya na ki unaka aahaar kiya unaka har tha kandamool phal yah pooree duniya jaanatee hai ki raamachand jee jab jangalon mein the to shivaay kandamool phal ke unhonne kuchh bhee nahin khaaya krpaya karake dharm ke prati is prakaar kee baaten na karen to theek hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:36
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है कि राम जी मांसाहारी थे तो फ्रेंड से बिल्कुल गलत है नाम जी बिल्कुल शाकाहारी थे उनके मांसाहारी होने का कहीं उल्लेख नहीं है नबी मांसाहारी थे और ना होने की कहीं पर भी बात की गई है बल्कि वह तो बहुत ही सादा खाना खाते थे जब भी वनवास को गए थे 14 वर्ष के तो वे सिर्फ कंदमूल फल मतलब वनों में जो फल फूल मिलते थे उन्हें को खाते थे सिर्फ इतना सादा जीवन जीते थे इसलिए वह बिल्कुल शाकाहारी की मांसाहारी होने की बात बिल्कुल गलत है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kya baalmeeki raamaayan mein likha hai ki raam jee maansaahaaree the to phrend se bilkul galat hai naam jee bilkul shaakaahaaree the unake maansaahaaree hone ka kaheen ullekh nahin hai nabee maansaahaaree the aur na hone kee kaheen par bhee baat kee gaee hai balki vah to bahut hee saada khaana khaate the jab bhee vanavaas ko gae the 14 varsh ke to ve sirph kandamool phal matalab vanon mein jo phal phool milate the unhen ko khaate the sirph itana saada jeevan jeete the isalie vah bilkul shaakaahaaree kee maansaahaaree hone kee baat bilkul galat hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:14
आपके सवाल है कि क्या वाल्मीकि रामायण में लिखा में लिखा है कि रामा सारी है तो वाल्मीकि जी ने जो रामायण लिखी थी इसमें या नहीं कहा है कि राम मांसाहारी है धन्यवाद
Aapake savaal hai ki kya vaalmeeki raamaayan mein likha mein likha hai ki raama saaree hai to vaalmeeki jee ne jo raamaayan likhee thee isamen ya nahin kaha hai ki raam maansaahaaree hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:37
रामायण में लिखा है कि राम जी मांसाहारी थे यह आपने किसी के कहने से मान लिया कि आपने खुद पड़ा है अगर पड़ा है तो उसका दृष्टांत हमको भाई इसमें दिखाइए हम भी ज्यादा उसको देखें रामचंद्र जी क्षत्रिय थे लेकिन मांसाहारी नहीं थी क्योंकि वह जीवो की रक्षा करते थे वह मर्यादा पुरुषोत्तम वह ऐसा कि वे अमर्यादित कार्य ऐसा कुछ नहीं उन्होंने किया जिससे कि मतलब समाज में गलत संदेश आ जाए उन्होंने सोने के मरद का भी शिकार किया शिकार करने के लिए तो वह आए थे उनके क्षत्रिय धर्म का पालन करते राक्षसों का विनाश करते थे लेकिन वह किसी अनावश्यक रूप से किसी जीव को मारकर के मांस का भक्षण नहीं करते थे क्योंकि मांस का भक्षण करने के लिए उन्होंने स्वयं ही शराब दिया था जिस समय मनु शतरूपा तपस्या करके आए थे तो ऊपर से आकाशवाणी हुई थी आकाशवाणी में उन्होंने संतो को मांसाहारी भोजन करवा दिया था जिसके बाद आकाशवाणी हुई थी आकाशवाणी में उन संतों ने उनको शराब दे दिया था और उस रात के बाद रामचंद्र जी के पुत्र बालक नाथ शिरोमणि दयानिधि जो वह कहां हो सद्भाव चाहो तो मैं समान सूत्र मौसम अब देखें तो रामचंद्र जी कतई मांसाहारी नहीं थे और बाल्मीकि रामायण उस्ताद को मिलाइए बाल्मीकि ने ऐसा कहीं नहीं लिखा है राजन जी मांसाहारी
Raamaayan mein likha hai ki raam jee maansaahaaree the yah aapane kisee ke kahane se maan liya ki aapane khud pada hai agar pada hai to usaka drshtaant hamako bhaee isamen dikhaie ham bhee jyaada usako dekhen raamachandr jee kshatriy the lekin maansaahaaree nahin thee kyonki vah jeevo kee raksha karate the vah maryaada purushottam vah aisa ki ve amaryaadit kaary aisa kuchh nahin unhonne kiya jisase ki matalab samaaj mein galat sandesh aa jae unhonne sone ke marad ka bhee shikaar kiya shikaar karane ke lie to vah aae the unake kshatriy dharm ka paalan karate raakshason ka vinaash karate the lekin vah kisee anaavashyak roop se kisee jeev ko maarakar ke maans ka bhakshan nahin karate the kyonki maans ka bhakshan karane ke lie unhonne svayan hee sharaab diya tha jis samay manu shataroopa tapasya karake aae the to oopar se aakaashavaanee huee thee aakaashavaanee mein unhonne santo ko maansaahaaree bhojan karava diya tha jisake baad aakaashavaanee huee thee aakaashavaanee mein un santon ne unako sharaab de diya tha aur us raat ke baad raamachandr jee ke putr baalak naath shiromani dayaanidhi jo vah kahaan ho sadbhaav chaaho to main samaan sootr mausam ab dekhen to raamachandr jee katee maansaahaaree nahin the aur baalmeeki raamaayan ustaad ko milaie baalmeeki ne aisa kaheen nahin likha hai raajan jee maansaahaaree

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:32
रामायण में लिखा कि राम जी मासा रहे थे नहीं यह बात सच है या मांसाहारी नहीं थे लेकिन इसके पीछे एक थी रानी की बात बताई जा रही है जिससे कारण यह कहते हैं कि सीता को लाने के लिए राम जी को भेजा था लेकिन मैं सीता को अच्छा लगा इसके लिए राम जी को मैं ही रंग लाने के लिए कहा था
Raamaayan mein likha ki raam jee maasa rahe the nahin yah baat sach hai ya maansaahaaree nahin the lekin isake peechhe ek thee raanee kee baat bataee ja rahee hai jisase kaaran yah kahate hain ki seeta ko laane ke lie raam jee ko bheja tha lekin main seeta ko achchha laga isake lie raam jee ko main hee rang laane ke lie kaha tha

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:32

bolkar speaker
क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है, कि राम जी मांसाहारी थे?Kya Balmiki Ramayan Mein Likha Hai Ki Ram Ji Mansahari The
Ramvriksh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Ramvriksh जी का जवाब
CivilEngineer
2:24
मित्रों नमस्कार बोलकर परिवार के सदस्य भाई-बहन और परिजनों को नमस्कार मित्रों एक प्रश्न है इस तरह के प्रश्न लोग पूछ लेते हैं जिससे भावनाएं आहत होती धार्मिक भावनाएं आहत होती प्रश्न क्या बाल्मीकि रामायण में लिखा है कि राम जी मांसाहारी थे लेकिन इस टाइम ना तो किसी रामायण में नहीं आया बाल्मीकि रामायण मनका रामायण रामचरित मानस योग वशिष्ठ कोई भी रामायण में यह बात नहीं आई है कि मांसाहारी थे भगवान राम भगवान राम जंगल में जरूर गए थे परंतु उन्होंने मांस नहीं खाता तो हर जगह में विवरण आया कंदमूल फल खाते थे मारा था उन्होंने विनाश के लिए तो पैदा हुए थे और धर्म यदा यदा ही धर्मस्य ग्लानि मारता तो अभ्युत्थानम अधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम् धर्म की रक्षा के लिए पृथ्वी को बचाने के लिए उनका अवतरण हुआ था मांस खाने के लिए थोड़ा हुआ था तो उस समय की बात है जंगल में गए लेकिन मांस नहीं खाया उन्होंने कभी क्षत्रिय थे लेकिन हमारा उन्होंने राक्षसों को लेकिन इस तरह का दृष्टांत मित्रों कहीं नहीं आता है इस तरह की बातें की जा ना किया जाना सर्वथा अनुचित है और नई जानकारी है तो नहीं करना चाहिए नहीं पूछना चाहिए धार्मिक भावनाएं लोगों की आदत होती है बहुत गलत बात है भगवान राम के ऊपर इस तरह की टिप्पणी करना अशोक बनी है हम लोग इसको बहुत बुरा मानते हैं और बाहर सुना करते हैं इस तरह की की क्वेश्चन ना पूछना कि रामायण में लिखा है कि राम मांसाहारी थे कतई मांसाहारी नहीं थे भावनाएं जुड़ी हुई है और इसके बाद इस तरह की बात आप लोग करते हैं भौतिक कष्टकारी बात होते हैं भगवान राम के प्रति इस तरह की बातें नहीं आनी चाहिए सोचना भी नहीं चाहिए
Mitron namaskaar bolakar parivaar ke sadasy bhaee-bahan aur parijanon ko namaskaar mitron ek prashn hai is tarah ke prashn log poochh lete hain jisase bhaavanaen aahat hotee dhaarmik bhaavanaen aahat hotee prashn kya baalmeeki raamaayan mein likha hai ki raam jee maansaahaaree the lekin is taim na to kisee raamaayan mein nahin aaya baalmeeki raamaayan manaka raamaayan raamacharit maanas yog vashishth koee bhee raamaayan mein yah baat nahin aaee hai ki maansaahaaree the bhagavaan raam bhagavaan raam jangal mein jaroor gae the parantu unhonne maans nahin khaata to har jagah mein vivaran aaya kandamool phal khaate the maara tha unhonne vinaash ke lie to paida hue the aur dharm yada yada hee dharmasy glaani maarata to abhyutthaanam adharmasy tadaatmaanan srjaamyaham dharm kee raksha ke lie prthvee ko bachaane ke lie unaka avataran hua tha maans khaane ke lie thoda hua tha to us samay kee baat hai jangal mein gae lekin maans nahin khaaya unhonne kabhee kshatriy the lekin hamaara unhonne raakshason ko lekin is tarah ka drshtaant mitron kaheen nahin aata hai is tarah kee baaten kee ja na kiya jaana sarvatha anuchit hai aur naee jaanakaaree hai to nahin karana chaahie nahin poochhana chaahie dhaarmik bhaavanaen logon kee aadat hotee hai bahut galat baat hai bhagavaan raam ke oopar is tarah kee tippanee karana ashok banee hai ham log isako bahut bura maanate hain aur baahar suna karate hain is tarah kee kee kveshchan na poochhana ki raamaayan mein likha hai ki raam maansaahaaree the katee maansaahaaree nahin the bhaavanaen judee huee hai aur isake baad is tarah kee baat aap log karate hain bhautik kashtakaaree baat hote hain bhagavaan raam ke prati is tarah kee baaten nahin aanee chaahie sochana bhee nahin chaahie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बाल्मीकि रामायण
URL copied to clipboard