#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?

Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:56
नमस्ते दी आपका क्वेश्चन के अनुसार एक योद्धा तो बर्बरीक था जिसको युद्ध के पहले ही पांडवों ने और भगवान श्री कृष्ण ने युद्ध से अलग कर दिया था सर से उनका धड़ा अलग करके और एक ऊंचा टीला पर रख मतलब उनको स्थापित कर दिया था जहां से वह युद्ध देख सकें और ऐसा इसलिए उनके साथ किया गया था क्योंकि उनको वरदान था कि एक ही तीर में वह सारे सैनिकों का वध कर सकते हैं अगर बर्बरीक अगर युद्ध में भाग लेता तो तो एक ही तीर में वह या तो पांडवों को जीत जीत जीत दिला दी ठाकुरगंज दिला देता दूसरा महायुद्ध थे आपको भीष्म पितामह एक में जो अगर दो-चार दिन और टिकते महाभारत में जो युद्ध को पूरा खत्म कर देते इसलिए श्री कृष्ण ने अंत में अपना रथ का पहिया उठा लिया था उन को मारने के लिए थैंक यू
Namaste dee aapaka kveshchan ke anusaar ek yoddha to barbareek tha jisako yuddh ke pahale hee paandavon ne aur bhagavaan shree krshn ne yuddh se alag kar diya tha sar se unaka dhada alag karake aur ek ooncha teela par rakh matalab unako sthaapit kar diya tha jahaan se vah yuddh dekh saken aur aisa isalie unake saath kiya gaya tha kyonki unako varadaan tha ki ek hee teer mein vah saare sainikon ka vadh kar sakate hain agar barbareek agar yuddh mein bhaag leta to to ek hee teer mein vah ya to paandavon ko jeet jeet jeet dila dee thaakuraganj dila deta doosara mahaayuddh the aapako bheeshm pitaamah ek mein jo agar do-chaar din aur tikate mahaabhaarat mein jo yuddh ko poora khatm kar dete isalie shree krshn ne ant mein apana rath ka pahiya utha liya tha un ko maarane ke lie thaink yoo

और जवाब सुनें

bolkar speaker
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:32
बाबरी के महाभारत का एक ऐसा योद्धा था जिसने महाभारत में भाग लेते हुए भी पूरे महाभारत में शामिल रहा पूछना महाभारत का पूरा वृतांत अपनी आंखों से देखा और यह भी देखा कि किसी ने नहीं देखा जो किसी ने भी नहीं देखा बकरीद में इतनी शक्ति और सामर्थ्य था कि वह अकेले ही महाभारत के युद्ध को समाप्त कर सकता था
Baabaree ke mahaabhaarat ka ek aisa yoddha tha jisane mahaabhaarat mein bhaag lete hue bhee poore mahaabhaarat mein shaamil raha poochhana mahaabhaarat ka poora vrtaant apanee aankhon se dekha aur yah bhee dekha ki kisee ne nahin dekha jo kisee ne bhee nahin dekha bakareed mein itanee shakti aur saamarthy tha ki vah akele hee mahaabhaarat ke yuddh ko samaapt kar sakata tha

bolkar speaker
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
4:17
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था बहुत ही इंटरेस्टिंग सवाल पूछा महाभारत में एक से एक महान योद्धा उतरे थे वैसे भीष्माचार्य द्रोणाचार्य अश्वत्थामा कृपाचार्य एकलव्य का भी उल्लेख आता है लेकिन उसका आगे क्या हुआ यह लिखा नहीं है अर्जुन भीम इसके अलावा कई देशों के योद्धा उस वक्त के कई राजाओं के युद्ध कौरव और पांडव की तरफ से लड़ाई लड़ रहे थे पुलिस में सबसे महान योद्धा कौन है यह बताना उतनी आसान बात नहीं है लेकिन तू चल आधार पर हम बता सकते हैं एक तो भगवान श्री कृष्ण भीष्म एक पात्र हैं और वह तो साक्षात परमात्मा थे और उन्होंने अपना विश्वरूप दर्शन जो अर्जुन को दिया लेकिन वह योद्धा के रूप में उतरे नहीं थी एक सारथी के रूप में सारथी की भूमिका में अर्जुन के रथ के महाभारत में आए फिर भी एक बार उन्होंने मैं अपना साथी छोड़कर मैदान में उतरे थे फिर भी उनको महायुद्ध का योद्धा कहना थोड़ा सा ठीक नहीं रहेगा अगर वह परमात्मा है तो बाकी की तुलना में मुझे तो ऐसा लगता है कि गंगा पुत्र के बीच में 26 मई को सबसे महान योद्धा थे एक तो वह सब को जानती थी सबको सरवन क्या है तो हम उनके हाथों हाथों से सीखे थे और उनके पास एक महत्वपूर्ण वर्तमान का जब तक वह अपनी इच्छा नहीं करेंगे हम तो वह मर नहीं सकते तब तक इसके कारण उन्हें तो युद्ध में फसाया गया उनके सामने तुझे तृतीयपंथी एक योद्धा को आगे किया और उसके पीछे से अर्जुन नियम प्रबंधन चलाएं किसी भी क्षत्रिय धर्म के अनुसार किसी भी कृत्य पंथी परिवार नहीं कर सकते उन्होंने वार्ड नहीं किया सैकड़ों बांगो अपने शरीर में जलते रहे बस ऐसा लगता है कि सबसे महान योद्धा तो गंगा पुत्र भीष्म भीष्म आचार्य उनके अलावा दो नंबर पर हम द्रोणाचार्य को कह सकते हैं उनके बाद अर्जुन को कह सकते हैं इनको कह सकते लेकिन बुरे दिन भी होता था धन्यवाद
Mahaabhaarat mein sabase mahaan yoddha kaun tha jo akele poore yuddh ko samaapt kar sakata tha bahut hee intaresting savaal poochha mahaabhaarat mein ek se ek mahaan yoddha utare the vaise bheeshmaachaary dronaachaary ashvatthaama krpaachaary ekalavy ka bhee ullekh aata hai lekin usaka aage kya hua yah likha nahin hai arjun bheem isake alaava kaee deshon ke yoddha us vakt ke kaee raajaon ke yuddh kaurav aur paandav kee taraph se ladaee lad rahe the pulis mein sabase mahaan yoddha kaun hai yah bataana utanee aasaan baat nahin hai lekin too chal aadhaar par ham bata sakate hain ek to bhagavaan shree krshn bheeshm ek paatr hain aur vah to saakshaat paramaatma the aur unhonne apana vishvaroop darshan jo arjun ko diya lekin vah yoddha ke roop mein utare nahin thee ek saarathee ke roop mein saarathee kee bhoomika mein arjun ke rath ke mahaabhaarat mein aae phir bhee ek baar unhonne main apana saathee chhodakar maidaan mein utare the phir bhee unako mahaayuddh ka yoddha kahana thoda sa theek nahin rahega agar vah paramaatma hai to baakee kee tulana mein mujhe to aisa lagata hai ki ganga putr ke beech mein 26 maee ko sabase mahaan yoddha the ek to vah sab ko jaanatee thee sabako saravan kya hai to ham unake haathon haathon se seekhe the aur unake paas ek mahatvapoorn vartamaan ka jab tak vah apanee ichchha nahin karenge ham to vah mar nahin sakate tab tak isake kaaran unhen to yuddh mein phasaaya gaya unake saamane tujhe trteeyapanthee ek yoddha ko aage kiya aur usake peechhe se arjun niyam prabandhan chalaen kisee bhee kshatriy dharm ke anusaar kisee bhee krty panthee parivaar nahin kar sakate unhonne vaard nahin kiya saikadon baango apane shareer mein jalate rahe bas aisa lagata hai ki sabase mahaan yoddha to ganga putr bheeshm bheeshm aachaary unake alaava do nambar par ham dronaachaary ko kah sakate hain unake baad arjun ko kah sakate hain inako kah sakate lekin bure din bhee hota tha dhanyavaad

bolkar speaker
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
0:23
मुझे लगता है महाभारत में सबसे महान योद्धा जो कर्म थे वह ऐसे क्यों जाएं जो कि अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था मुझे लगता है क्योंकि पिता मां वैष्णवी वह भी महान योद्धा थे जो कि पांडवों के एक ही काफी है
Mujhe lagata hai mahaabhaarat mein sabase mahaan yoddha jo karm the vah aise kyon jaen jo ki akele poore yuddh ko samaapt kar sakata tha mujhe lagata hai kyonki pita maan vaishnavee vah bhee mahaan yoddha the jo ki paandavon ke ek hee kaaphee hai

bolkar speaker
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:34
बस वाले की महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन थे जो एक के लिए पूरे विश्व में पूरी युद्ध को समाप्त कर सकता था तो महाभारत का एकमात्र योद्धा जो अपने तीन वर्णों से पूरे महाभारत के युद्ध को समाप्त कर सकता था वह है बर्बरीक जो कि खाटू श्याम के नाम से भी जाने जाते हैं और वर्तमान में खाटू श्याम जी का एकमात्र मंदिर जो राजस्थान के सीकर जिले में स्थित है
Bas vaale kee mahaabhaarat mein sabase mahaan yoddha kaun the jo ek ke lie poore vishv mein pooree yuddh ko samaapt kar sakata tha to mahaabhaarat ka ekamaatr yoddha jo apane teen varnon se poore mahaabhaarat ke yuddh ko samaapt kar sakata tha vah hai barbareek jo ki khaatoo shyaam ke naam se bhee jaane jaate hain aur vartamaan mein khaatoo shyaam jee ka ekamaatr mandir jo raajasthaan ke seekar jile mein sthit hai

bolkar speaker
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:22
मारुति सबसे महान योद्धा पूछेंगे और श्रीकृष्ण से बड़ा कोई भी युद्ध नहीं था तो अकेले अशुद्ध को तो क्या पूरे संसार को कैशलेस और विनाश करने की क्षमता रखते हैं उनका सुदर्शन चक्र का कोई दिक्कत नहीं है लेकिन श्री कभी विनाश नहीं चाहते शृष्टि रचिता पालनकर्ता पसंद करता है सारी शक्ति उनमें है लेकिन आप जिस किसी से पूछ रहे हैं उसे दृष्टि से उस काल का तपस्या के बल पर इसे तीन भयंकर दिव्यास्त्र को प्राप्त किया था तीन बातों को प्राप्त किया था ऐसा अर्जुन का पुत्र बब्बन बांदा लेकिन उसे श्री कृष्ण युद्ध से पहले ही उसका सिर सुदर्शन चक्र से कलम कर दिया था उस दिन 18 दिन का युद्ध को पूरी तरह देखा था क्योंकि इसकी इच्छा थी कि मुझे दिया जाए
Maaruti sabase mahaan yoddha poochhenge aur shreekrshn se bada koee bhee yuddh nahin tha to akele ashuddh ko to kya poore sansaar ko kaishales aur vinaash karane kee kshamata rakhate hain unaka sudarshan chakr ka koee dikkat nahin hai lekin shree kabhee vinaash nahin chaahate shrshti rachita paalanakarta pasand karata hai saaree shakti unamen hai lekin aap jis kisee se poochh rahe hain use drshti se us kaal ka tapasya ke bal par ise teen bhayankar divyaastr ko praapt kiya tha teen baaton ko praapt kiya tha aisa arjun ka putr babban baanda lekin use shree krshn yuddh se pahale hee usaka sir sudarshan chakr se kalam kar diya tha us din 18 din ka yuddh ko pooree tarah dekha tha kyonki isakee ichchha thee ki mujhe diya jae

bolkar speaker
महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था?Mahabharat Mein Sabse Mahan Yodha Kaun Tha Jo Akele Pure Yudh Ko Samapt Kar Sakta Tha
Ramvriksh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Ramvriksh जी का जवाब
CivilEngineer
3:09
नमस्कार मित्रों एक प्रश्न है मित्रों की महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो कि पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था बाबू जो भी रहा हो युद्ध हुआ हो जाना हुआ हो कपोल कल्पित भी हो सकता है परंतु हमें तो मानना है जो चीज माना जाएगा और एक आस्तिक होने के नाते यह मान्यता है कि महाभारत का युद्ध हुआ था जो भी हुआ तो महाभारत के युद्ध में सबसे महान योद्धा कौन था प्रश्न पूछा गया है जो अकेले पुरूजित को समाप्त कर सकता था वह जोधा था मित्रों बर्बरीक बर्बरीक वरदान प्राप्त था क्यों पूरे जिस पक्ष में लड़ेगा बुक्स पक्ष को विजय दिलाएगा अगर वह कौरव के पक्ष में होता तो पांडवों की सेना को मार गिराता सबको एक तरफ से और अगर पांडवों के पक्ष में होता तो करो मार्ग रहता लेकिन उसका नियम है ताकि जो सेना कमजोर पड़ती थी उसकी तरफ से वह लड़का था लड़ने जा रहा था जब ही जा रहा था तब तक भगवान फिर किसको पता चल गया भगवान भगवान ने तो भगवान ही थे भाई 1 को दूध जीतना ही था युद्ध जीतना नहीं था युद्ध पांडवों को जितवा ना था इसलिए उन्होंने बर्बरीक को मार डाला पहले ही जाने से पहले ही उन्होंने चक्र सुदर्शन से उसका सिर धड़ से अलग कर लिया कर दिया भगवान श्री कृष्ण ने बर्बरीक का बर्बरीक बहुत परेशान हुआ फिर इसके बाद उसने भगवान से प्रार्थना की कि भगवान आपने तो हमें मार दिया हम जो है ऐसा शक्ति दीजिए कि हम मां आंखों देखा हाल मतलब हम आंखों से महाभारत का युद्ध देख सके तब उनके घर को भगवान ने एक ऊंचे टीले पर स्थापित कर दिया था जहां से की महाभारत का युद्ध देखा जा सके कुछ लोग कह रहे थे कुछ लोग कहते हैं कि एक ऊंचे पर्वत पर स्थापित किया था कुछ लोग कहते हैं कि ऊंचे पेड़ पीपल के पेड़ पर उनके दल को वहां स्थापित कर दिया था भगवान से किसने ताकि वो आंखों देखा हाल देख सके हर उसको महाभारत के युद्ध को भरल जो भी रहा हो भरल जो भी घटना गई हो कुछ तो कहा नहीं जा सकता है और यही कि मानती हो दूसरे जोधा थे भगवान भीष्म पितामह
Namaskaar mitron ek prashn hai mitron kee mahaabhaarat mein sabase mahaan yoddha kaun tha jo ki poore yuddh ko samaapt kar sakata tha baaboo jo bhee raha ho yuddh hua ho jaana hua ho kapol kalpit bhee ho sakata hai parantu hamen to maanana hai jo cheej maana jaega aur ek aastik hone ke naate yah maanyata hai ki mahaabhaarat ka yuddh hua tha jo bhee hua to mahaabhaarat ke yuddh mein sabase mahaan yoddha kaun tha prashn poochha gaya hai jo akele puroojit ko samaapt kar sakata tha vah jodha tha mitron barbareek barbareek varadaan praapt tha kyon poore jis paksh mein ladega buks paksh ko vijay dilaega agar vah kaurav ke paksh mein hota to paandavon kee sena ko maar giraata sabako ek taraph se aur agar paandavon ke paksh mein hota to karo maarg rahata lekin usaka niyam hai taaki jo sena kamajor padatee thee usakee taraph se vah ladaka tha ladane ja raha tha jab hee ja raha tha tab tak bhagavaan phir kisako pata chal gaya bhagavaan bhagavaan ne to bhagavaan hee the bhaee 1 ko doodh jeetana hee tha yuddh jeetana nahin tha yuddh paandavon ko jitava na tha isalie unhonne barbareek ko maar daala pahale hee jaane se pahale hee unhonne chakr sudarshan se usaka sir dhad se alag kar liya kar diya bhagavaan shree krshn ne barbareek ka barbareek bahut pareshaan hua phir isake baad usane bhagavaan se praarthana kee ki bhagavaan aapane to hamen maar diya ham jo hai aisa shakti deejie ki ham maan aankhon dekha haal matalab ham aankhon se mahaabhaarat ka yuddh dekh sake tab unake ghar ko bhagavaan ne ek oonche teele par sthaapit kar diya tha jahaan se kee mahaabhaarat ka yuddh dekha ja sake kuchh log kah rahe the kuchh log kahate hain ki ek oonche parvat par sthaapit kiya tha kuchh log kahate hain ki oonche ped peepal ke ped par unake dal ko vahaan sthaapit kar diya tha bhagavaan se kisane taaki vo aankhon dekha haal dekh sake har usako mahaabhaarat ke yuddh ko bharal jo bhee raha ho bharal jo bhee ghatana gaee ho kuchh to kaha nahin ja sakata hai aur yahee ki maanatee ho doosare jodha the bhagavaan bheeshm pitaamah

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था जो अकेले पूरे युद्ध को समाप्त कर सकता था महाभारत में सबसे महान योद्धा कौन था
URL copied to clipboard