#भारत की राजनीति

bolkar speaker

सरकार अनलिमिटेड पैसा क्यों नहीं चाहते?

Sarkar Unlimited Paisa Kyun Nahin Chahte
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:53
सरकार कितना अनलिमिटेड पैसा लेके भैया आप सरकार हर चीज पर तो टाइप लेयर इनकम टैक्स ले रही है जीएसटी ले रही है सेल टैक्स ले रही है हर चीज पर उसने टैक्स लगा दिया है और यह आपका जो गाड़ियां चलती है उस पर टैक्स ले रहे हैं तो कितना टैक्स अनलिमिटेड पैसे कमा क्या मतलब गवर्नमेंट अपने मन से नोट थोड़ी सकती हमारी की स्वास्थ्य व्यवस्था है अर्थव्यवस्था के सारे कारण होते हैं उसका सांकेतिक मुद्रा प्रणाली अपनाई जाती है जितने के नोट छापे जाते हैं उतना सोना हमें अपने रिजर्व बैंक कोष में रखना पड़ता है यह अंतरराष्ट्रीय मुद्रा बाजार के बाजार के हिसाब से उस पर हमें तालमेल बिठाना पड़ता है तब उसमें नोट छापे जाते अनलिमिटेड छापने कभी कोई कारण नहीं होता है केवल युद्ध की स्थित जब बनती है तभी अनलिमिटेड पैसा छापा जाता है ताकि किस देश में कोई आपत्ति ना हो और पैसे की कोई कमी ना हो
Sarakaar kitana analimited paisa leke bhaiya aap sarakaar har cheej par to taip leyar inakam taiks le rahee hai jeeesatee le rahee hai sel taiks le rahee hai har cheej par usane taiks laga diya hai aur yah aapaka jo gaadiyaan chalatee hai us par taiks le rahe hain to kitana taiks analimited paise kama kya matalab gavarnament apane man se not thodee sakatee hamaaree kee svaasthy vyavastha hai arthavyavastha ke saare kaaran hote hain usaka saanketik mudra pranaalee apanaee jaatee hai jitane ke not chhaape jaate hain utana sona hamen apane rijarv baink kosh mein rakhana padata hai yah antararaashtreey mudra baajaar ke baajaar ke hisaab se us par hamen taalamel bithaana padata hai tab usamen not chhaape jaate analimited chhaapane kabhee koee kaaran nahin hota hai keval yuddh kee sthit jab banatee hai tabhee analimited paisa chhaapa jaata hai taaki kis desh mein koee aapatti na ho aur paise kee koee kamee na ho

और जवाब सुनें

bolkar speaker
सरकार अनलिमिटेड पैसा क्यों नहीं चाहते?Sarkar Unlimited Paisa Kyun Nahin Chahte
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
2:15
सरकार अनलिमिटेड पैसा नहीं छापने का कोई वजह होती है जिससे जैसे कि भारत में आरबीआई जाती तो सभी को मां गरीब लोगों को हम अमीर भी बना सकती थी लेकिन सभी को समान मात्रा में ला सकते थे और देश का जो कर्जा है उसको विदेशियों का तार दे तार भी सकती थी लेकिन ऐसा नहीं कर सकती क्योंकि उसके पीछे कुछ कर कई कारण थे तथा नोट छापने का कार्य सिर्फ आरबीआई को ही होता है यदि आरबीआई आशा करती है तो कई लोग मालामाल भी हो जाए हो सकते हैं और कई कर लेने के देने पड़ सकते हैं अर्थात यदि सरकार ऐसा करेगी तो सभी लोग मालामाल हो जाएंगे और लोग अपना कार्य भी नहीं करेंगे और सभी लोग खाए पिए और मौज करेंगे और संसार में हाहाकार मर जाएंगे तथा मेरा वह मेरे रहेगा लेकिन जो गोरेगांव अभी हम अमीर बन जाएगा इसलिए किसी भी लोगों को काम करने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि वह उड़ता ही खाने पीने लग जाएंगे कहीं घूमने चले जाएंगे पैसे को उड़ाई इधर से उधर उधर से इधर आंसू उड़ाते रहेंगे तथा लेकिन कारण तो यह है कि सरकार जब पैसा ज्यादा छापे की तो महंगाई भी हर चीज की बढ़ेगी को ही हम मुद्रा स्फीति कहते हैं जो सुधारणा की कोई भी दुकानदार वाला किसी को पता हो तो साबुन ₹50 की है लेकिन वह अमीर लोगों को ₹500 में देता तो अपने मुनाफे के लिए फायदा करना चाहता आशा करना से भी हो सकता है लेकिन इसीलिए बार ब्याई ने फैसला कर रखा है कि नोट ज्यादा छापने से गरीब लोगों को हानि होगी ना किया मेरे को
Sarakaar analimited paisa nahin chhaapane ka koee vajah hotee hai jisase jaise ki bhaarat mein aarabeeaee jaatee to sabhee ko maan gareeb logon ko ham ameer bhee bana sakatee thee lekin sabhee ko samaan maatra mein la sakate the aur desh ka jo karja hai usako videshiyon ka taar de taar bhee sakatee thee lekin aisa nahin kar sakatee kyonki usake peechhe kuchh kar kaee kaaran the tatha not chhaapane ka kaary sirph aarabeeaee ko hee hota hai yadi aarabeeaee aasha karatee hai to kaee log maalaamaal bhee ho jae ho sakate hain aur kaee kar lene ke dene pad sakate hain arthaat yadi sarakaar aisa karegee to sabhee log maalaamaal ho jaenge aur log apana kaary bhee nahin karenge aur sabhee log khae pie aur mauj karenge aur sansaar mein haahaakaar mar jaenge tatha mera vah mere rahega lekin jo goregaanv abhee ham ameer ban jaega isalie kisee bhee logon ko kaam karane kee koee jaroorat nahin padegee kyonki vah udata hee khaane peene lag jaenge kaheen ghoomane chale jaenge paise ko udaee idhar se udhar udhar se idhar aansoo udaate rahenge tatha lekin kaaran to yah hai ki sarakaar jab paisa jyaada chhaape kee to mahangaee bhee har cheej kee badhegee ko hee ham mudra spheeti kahate hain jo sudhaarana kee koee bhee dukaanadaar vaala kisee ko pata ho to saabun ₹50 kee hai lekin vah ameer logon ko ₹500 mein deta to apane munaaphe ke lie phaayada karana chaahata aasha karana se bhee ho sakata hai lekin iseelie baar byaee ne phaisala kar rakha hai ki not jyaada chhaapane se gareeb logon ko haani hogee na kiya mere ko

bolkar speaker
सरकार अनलिमिटेड पैसा क्यों नहीं चाहते?Sarkar Unlimited Paisa Kyun Nahin Chahte
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:31
रानी की सेकंड मेरिट ऐसे क्यों नहीं चाहते तो सरकार अनलिमिटेड पैसा नहीं छापा नहीं जा सकता है कि भारत में आर्मी तय करती है कि कब किसने और किस कितनी करेंसी प्रिंट करनी है भारत सरकार पहले ₹1 का नोट चाहती थी लेकिन आप सभी नोट आरबीआई छाती है तो अब मत सोचना कि सरकार को पैसा क्यों नहीं कर देती ऐसा हुआ है तो सब को लेने के लिए देने पड़ जाएंगे धन्यवाद
Raanee kee sekand merit aise kyon nahin chaahate to sarakaar analimited paisa nahin chhaapa nahin ja sakata hai ki bhaarat mein aarmee tay karatee hai ki kab kisane aur kis kitanee karensee print karanee hai bhaarat sarakaar pahale ₹1 ka not chaahatee thee lekin aap sabhee not aarabeeaee chhaatee hai to ab mat sochana ki sarakaar ko paisa kyon nahin kar detee aisa hua hai to sab ko lene ke lie dene pad jaenge dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सरकार अनलिमिटेड पैसा क्यों नहीं चाहते अनलिमिटेड पैसा
URL copied to clipboard