#भारत की राजनीति

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:34
प्रश्न है कि पूरी सरकार मिलकर किसान भाइयों को श्री सिविल के जो फायदे हैं उन्हें समझा पा रही है क्या हकीकत बात ए है कि कृषि बिल में कोई फायदा है इन्हें जबरदस्ती उसको फायदा बनाकर किसान भाइयों पर थोपा जा रहा है मत अगर देखा जाए तो कुछ भी फायदा नहीं है पहले भी किसान भेजते थे अपनी उन्हें एमएसपी की जो मांगे वो एमएसबीपी मिनिमम सपोर्ट प्राइस मिला चाहिए कि कोई बड़ी कंपनी आ रही है उन्हें चाहेगी हूं बोर है तो गेहूं किस समय कि उसे फिक्स कर ले क्या आपके गेहूं कितने रुपए में मैं ले जाऊंगा चाहे वो आने वाले समय मार्केट डाउन है या मार्केट ऑफ हो वह हमें डिपेंड करता है कि हां मैं आपका अनाज निगम का जिसे की क्या हो गया किसान भाई लोग बहुत खुश रहेंगे क्योंकि हमारा यह जो नाराज है मैं जितना अच्छा होगा लूंगा उतना ही मुझे एक पिक साइज के हिसाब से मुझे मिलेगा मतलब उनके ऊपर उजाला बढ़ाने की कोशिश करेंगे और खेती को अच्छा सुचारु रुप से करने की सोचेंगे तो इस तरह की भीड़ किसान मांग रहे हैं और सबसे बड़ी बात है कि जो भी नया बिल है उसमें कुछ भी संशोधन की बातें उसी देसी देव करें कि मुझे एक कानूनी वापस कर दो मुझे नहीं चाहिए मुझे पुराना जो है वह दे दो बस यही सरकार और किसान भाइयों के बीच में मामला फंसा हुआ है और सबसे बड़ी बात है कि जब अगर कोई चीज अगर फायदा नहीं रहेगा तो आप जबरदस्ती फायदा नहीं बता सकते हैं न किसी को सौंप सकते हैं
Prashn hai ki pooree sarakaar milakar kisaan bhaiyon ko shree sivil ke jo phaayade hain unhen samajha pa rahee hai kya hakeekat baat e hai ki krshi bil mein koee phaayada hai inhen jabaradastee usako phaayada banaakar kisaan bhaiyon par thopa ja raha hai mat agar dekha jae to kuchh bhee phaayada nahin hai pahale bhee kisaan bhejate the apanee unhen emesapee kee jo maange vo emesabeepee minimam saport prais mila chaahie ki koee badee kampanee aa rahee hai unhen chaahegee hoon bor hai to gehoon kis samay ki use phiks kar le kya aapake gehoon kitane rupe mein main le jaoonga chaahe vo aane vaale samay maarket daun hai ya maarket oph ho vah hamen dipend karata hai ki haan main aapaka anaaj nigam ka jise kee kya ho gaya kisaan bhaee log bahut khush rahenge kyonki hamaara yah jo naaraaj hai main jitana achchha hoga loonga utana hee mujhe ek pik saij ke hisaab se mujhe milega matalab unake oopar ujaala badhaane kee koshish karenge aur khetee ko achchha suchaaru rup se karane kee sochenge to is tarah kee bheed kisaan maang rahe hain aur sabase badee baat hai ki jo bhee naya bil hai usamen kuchh bhee sanshodhan kee baaten usee desee dev karen ki mujhe ek kaanoonee vaapas kar do mujhe nahin chaahie mujhe puraana jo hai vah de do bas yahee sarakaar aur kisaan bhaiyon ke beech mein maamala phansa hua hai aur sabase badee baat hai ki jab agar koee cheej agar phaayada nahin rahega to aap jabaradastee phaayada nahin bata sakate hain na kisee ko saump sakate hain

और जवाब सुनें

Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
1:15
नमस्कार होता तो यह काफी अच्छी बात कही आपने कि ऐसा क्यों हो रहा है कि पूरी सरकार उनके पास इतनी सारी चीजें हैं रिसोर्सेज है तब भी वह किसानों को नहीं समझा पा रही और वही जो विपक्ष है आसानी से कैसे समझा पा रहा है या मिस का ऐड कर पा रहा है इसका एक कारण है कि किसानों ने यह बिल अपने आप खुद से पढ़े हैं और जो असली किसान है इनका विरोध करने आ रहे हैं क्योंकि देखे अगर विपक्ष में इतनी ताकत होती थी वह पूरे देश के किसानों को एकजुट कर पा रहे हैं कर सकते हैं तो वह भी इलेक्शन हार नहीं रहे होते ऐसे हर जगह क्योंकि जैसा पहले भी प्रोटेस्ट में शहीन बाग में और हर जगह जहां पर होते रहते हैं हर बार कह दिया जाता है कि विपक्ष की चाल हैं लेकिन अगर विपक्ष में इतना ही पावर है कि नहीं है वह इंश्योरेंस कर सकते हैं लोग को तो वह इलेक्शन में क्यों खा रहे हैं तुम मेरा बंद है कहीं ना कहीं इसमें 90% जो भी लोग करते हैं असली के खाने और उन्हें स्कूल से दिक्कत है इन कानूनों से दिक्कत है इसी कारण वहां पर ध्यान ना दे रखा उन्होंने प्रोटेस्ट कर रहे हैं और ना की किसी भी पक्ष के मिट गए मिस का ऐड होने की वजह से यहां पर बैठे हुए हैं धन्यवाद
Namaskaar hota to yah kaaphee achchhee baat kahee aapane ki aisa kyon ho raha hai ki pooree sarakaar unake paas itanee saaree cheejen hain risorsej hai tab bhee vah kisaanon ko nahin samajha pa rahee aur vahee jo vipaksh hai aasaanee se kaise samajha pa raha hai ya mis ka aid kar pa raha hai isaka ek kaaran hai ki kisaanon ne yah bil apane aap khud se padhe hain aur jo asalee kisaan hai inaka virodh karane aa rahe hain kyonki dekhe agar vipaksh mein itanee taakat hotee thee vah poore desh ke kisaanon ko ekajut kar pa rahe hain kar sakate hain to vah bhee ilekshan haar nahin rahe hote aise har jagah kyonki jaisa pahale bhee protest mein shaheen baag mein aur har jagah jahaan par hote rahate hain har baar kah diya jaata hai ki vipaksh kee chaal hain lekin agar vipaksh mein itana hee paavar hai ki nahin hai vah inshyorens kar sakate hain log ko to vah ilekshan mein kyon kha rahe hain tum mera band hai kaheen na kaheen isamen 90% jo bhee log karate hain asalee ke khaane aur unhen skool se dikkat hai in kaanoonon se dikkat hai isee kaaran vahaan par dhyaan na de rakha unhonne protest kar rahe hain aur na kee kisee bhee paksh ke mit gae mis ka aid hone kee vajah se yahaan par baithe hue hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसानों को कृषि बिल के फायदे किसान विरोधी बिल
URL copied to clipboard