#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:18
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है तो देखिए मानसिक बीमारी बहुत सारी कारणों की वजह से होती है आप कुछ भी चीज बहुत ज्यादा सोच रहे सुरेश मैं आपको बहुत ज्यादा आपके दिमाग में वह चीज चल रहा है अब जितना भी भुलाने की कोशिश करें फिर भी वह जो आपके दिमाग में आ रहा है जैसे कि पैसों को लेकर या फिर रिश्तो को लेकर या फिर कैसे सरवाइव करना है खान-पान को लेकर हेल्थ को लेकर ऐसे बहुत सारी चीजें होती है जिससे हर एक इंसान को टेंशन होता है फ्रेश होता है जो इंसान बहुत ज्यादा सोचने से इंसान दूर खुद ही हो सकता है जितना मुंह मतलब को हर कम करे कंट्रोल करेगी यह सब मुझे नहीं सोचना सोचने से क्या होगा फिर कर्ज है तो अगर आप बहुत ज्यादा सोच रहे तो क्या होगा आपको आपको जो करना खुद को ही करना है पैसे कमाना है आपको कर्ज चुकाना है या फिर हेल्थ को लेकर जो भी प्रॉब्लम आपको ही ठीक करना अगर रिश्ते को लेकर है तो आप को ठीक करना है या फिर रिश्ता मतलब खत्म हो गया तो आपको यह सोचना है कि हां यहां से नई जिंदगी की शुरुआत आपको ही करना तो यह सब चीज जनरल ही अगर आप जितना सोचेंगे और ओवर कम करने की कोशिश करेंगे उतना ही जल्दी आप ठीक होंगे और मुकुल मानसिक बीमारियां फिर तनाव जैसी चीज आपको नहीं होगी

और जवाब सुनें

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:52
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है दोस्तों मानसिक रोगों के सामान्य रूप से विभिन्न अनुवांशिक और पर्यावरणीय कारकों के कारण होने का अनुमान लगाया जाता है इसके कारक कारक निर्मित होते हैं जैसे कि अनुवांशिकता मानसिक रोग उन लोगों में अधिक आम है जिसके जिसके रिश्तेदारों को भी मानसिक बीमारी होती है कुछ आवश्यक कारक आपके मानसिक रोग के विकास के जोखिम को बढ़ा सकते हैं और आपकी जिंदगी की स्थिति की से प्रारंभ कर सकती है दोस्तों दूसरा कारक जन्म से पहले कुछ पर्यावरण कारकों का संपर्क जैसे गर्भ में पर्यावरण या तनाव उत्तेजना तमक स्थितियां विषाक्त पदार्थ शराब और ड्रग्स के संपर्क में हनी सिंह कभी-कभी मानसिक रोग हो जाते हैं अगला कारक दोस्तों मस्तिष्क का कार्य भी हो सकता है न्यूरोट्रांसमीटर स्वाभाविक रूप से मस्तिष्क के रसायनों को आप आपके मस्तिष्क और शरीर के अन्य हिस्सों में ले जाते हैं जब इन रसायनों से जुड़े तंत्रिका तंत्र ठीक से काम नहीं करते तो तंत्रिका रिसेप्टर और तंत्रिका तंत्र में परिवर्तन आते हैं जिसे डिप्रेशन यानी अवसाद होता तो सब कुछ कारक मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के विकास के आप के जोखिम को बढ़ा सकते हैं जैसे माता-पिता का भाई-बहन या किसी अन्य खून के रिश्ते वाले व्यक्ति को मानसिक रोग होना किसी तनावपूर्ण जीवन स्थिति जैसे वित्तीय समस्याएं किसी की मृत्यु या तलाक का अनुभव करना कोई पुरानी चिकित्सा किया है समस्या जैसे कि शुगर की बीमारी गंभीर चोट दर्दनाक मस्तिष्क की चोट के परिणाम स्वरुप मस्तिष्क की क्षति बोला ना या फिर दर्दनाक अनुभव जैसे युद्ध या फिर हमला शराब या ड्रग्स का प्रयोग बचपन में दुर्व्यवहार का अनुभव करना केवल कुछ ही दोस्त या स्वस्थ रिश्ते होना कोई पहले की मानसिक बीमारी हो ना दो तो मानसिक रोग बहुत काम है 5 वयस्कों में से एक व्यक्ति को कभी न कभी कोई बीमारी होती है मानसिक रोग किसी भी उम्र में शुरू हो सकता है लेकिन अधिकांश यह जीवन के शुरू के वर्षों में शुरू हो जाते हैं भारतीयों के प्रभाव अस्थाई या स्थाई हो सकते हैं आपको एक समय में एक से अधिक मानसिक रोग भी हो सकते हैं उदाहरण के लिए आपको डिप्रेशन और लत संबंधी विकार एक ही समय पर हो सकते हैं दोस्तों इस प्रकार से किसी भी मानसिक बीमारी के मुख्य कारण हो सकते हैं धन्यवाद

NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
0:30
सवाल है किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है देखिए नशीले पदार्थों का सेवन करना यदि कोई व्यक्ति नशीले पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करता है तो उसका असर केवल उसकी शारीरिक सेहत पर ही नहीं पड़ता बल्कि या उसकी मानसिक स्वास्थ्य को भी खराब करता है इसके परिणाम स्वरूप उसका दिमाग सही तरीके से काम नहीं कर पाता और जल्द ही मानसिक रोग का शिकार बन जाता है धन्यवाद

Azad Indian  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Azad Indian जी का जवाब
Job .
2:12
आपका सवाल है किसी भी मानसिक बीमारी होने का मुख्य कारण क्या है सबसे पहले वह बता दो इंसान को मानसिक बीमारी होने का सबसे मुख्य कारण है गुस्सा करना क्रोधित होना क्रोधित होकर आदमी एक दूसरे पर गुस्सा करता है उससे जलन रखता है और हमेशा उसका नुकसान पहुंचाने की प्रयत्न करते रहता है दूसरी चीज है कि धार्मिक गुलाम बनना मजहब को या धार्मिक चीजें हमें बाबाओं का गुलाम बनना उनके बातों में आना अंधविश्वास अपने आपके अंदर अंधविश्वास को जगाना और अंधविश्वास के कारण एक दूसरे धर्म को धर्म के प्रति जो है गलत भावना रखना गलत धारणा रखना एबी एक मानसिक बीमारी होता है तीसरी चीज है कि जैसे आप राजनीतिक पॉलिटिक्स जो है उसमें आप उत्सुक है इंटरेस्टेड है तो वहां भी एक तरफ मानसिक बीमार लोग पाए जाते हैं जिसे एक पार्टी को लेकर दूसरे पार्टी को गिरना करना या उनकी हमेशा खिलाफत करना बुराई करना अब बुराई इस कदर करना किसी भी चीज का कि वह उस को नुकसान पहुंचाया हमेशा के लिए उसको खत्म कर दें इस तरह की भावना रखने वाले की भी एक मानसिक बीमारी बन जाता है और मानसिक बीमारी बहुत खतरनाक होता है यह इंसान को जब पुरोहित करता गुस्सा दिलाता है उसका ब्लड प्रेशर ऑटोमेटिक लिए हाई होता है हाई ब्लड प्रेशर होने के कारण अपने बॉडी की संतुलन पर काबू नहीं पा सकता है और अधिक से अधिक बीमारियों का शिकार बन जाता है तो सबसे मुख्य कारण हमारे तरफ से तो यही है कि क्रोधित होना गुस्सा करना जलन करना एक दूसरे के प्रति उसको उसकी अच्छाइयां ना किसी कोई व्यक्ति आगे बढ़ रहा है तो उसको पीछे खींचना है दूसरी तरफ देखा जाए तो अंधविश्वास पालना अपने मन के अंदर यही होता है मानसिक बीमारी का मुख्य कारण धन्यवाद

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana Mishra जी का जवाब
Housewife
0:26
किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण है कि आप बहुत ही ज्यादा तनाव ले रहे हैं और ऐसी जगह पर हैं आप जहां पर बहुत ही गलत काम हो रहा है और आपको वह पसंद नहीं आ रहा है और आप उसको देख देख कर बहुत ही बुरा महसूस कर रहे हैं इसी वजह से आपको तनाव हो रहा है उसी वजह से डिप्रेशन आपको हो रहा है

vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk yadav जी का जवाब
Student
0:38
किसी ने प्रश्न किया जाने वाले प्रश्न को देखते हैं और इसमें किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है लेकिन किसी भी मानसी भिवानी बीमारी का मुख्य मने कर रही हो सकता है कि आप टेंशन ज्यादा करते ज्यादा सोचते हैं भरपूर नींद नहीं लगती लड़ाई झगड़ा करते हैं आपको गुस्सा ज्यादा आता है अब घूमने नहीं जाते तो आप सब करना छोड़िए आप एकदम खुशहाल रही एकदम सॉन्ग सुनिए कॉमेडी देखिए घूमने फिरने जाइए सुबह जल्दी उठी है पहले आइए भरपूर नींद लीजिए शाम को जल्दी सोइए खाना डांस दिखाइए तो आप मानसिक तनाव से बच सकते दोस्तों

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:39
जैसे अखिलेश वीडियो आजाद फोटो देखना और नशीले पदार्थों का सेवन करना और पारिवारिक माहौल का एक ना होना और पर चोट का लगना पौष्टिक भोजन करना वह जन्म जन्म के बाद बचपन में किस-किस चीज से दुर्घटना हो जाना तथा नकारात्मक सोच के कारण भी मानसिक बीमारी का मुख्य कारण है

guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru ji जी का जवाब
Students
0:37

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish Lavania जी का जवाब
Yoga Instructor
0:24
किसी भी मानसिक बीमारी होने के नुस्खे कहां पहले तो अपना नाम ही होता है तनाव के अलावा अगर कोई चोट है फैमिली में कुछ है तो बात अलग है बोलो जनाब सबसे पहले होता है कि आदमी बहुत सोचता है और उससे फिर मन तुझ से किसे कहते हैं इसे कहते हैं कोई प्रॉब्लम होती है तो मानसिक बीमारी का सबसे बड़ा कारण

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit Kumar जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:42
के मानसिक बीमारी होने का मुख्य कारण एक तो टेंशन है घर का खराब माहौल हो ना बात बात पर लड़ाई झगड़ा यह वह सब बच्चों का दिमाग पर बहुत ज्यादा असर डालता है यही बाद में आगे जाकर मानसिक बीमारी का रूप ले लेता डिसऑर्डर दूसरा खाना अच्छा खाना खाने में कॉन्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट होता है ओमेगा-3 और प्रोटीन हो प्रोटीन जो शरीर के लिए बहुत जरूरी है अगर यह सब आप डाइट भी नहीं ले रहे हैं तो मान सिंह वाली आज ना कल होता है तो माहौल अच्छा किसी को भी दीजिए अच्छा लीजिए तो इस प्रॉब्लम नहीं होगा थैंक यू

satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए satish kumar जी का जवाब
Student
1:12
हाय फ्रेंड क्वेश्चन पूछा गया है कि किसी भी मानसिक बीमारी क्यों होने का मुख्य कारण क्या होता है तो जब किसी व्यक्ति को मानसिक बीमारी होती है तो उसका मुख्य करने होता है कि वह व्यक्ति जो है मानसिक रूप से कमजोर हो क्योंकि एक मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति को ही मानसिक बीमारी हो सकती इसका मतलब ये नहीं कि जो है वह मानसिक रूप के साथ-साथ शारीरिक रूप से भी कमजोर हो क्योंकि कई किस्म ऐसा देखा जाता है कि शादी के सिर ग्रुप से जो है हष्ट पुष्ट होते हुए भी जो हैं हम मानसिक रूप से बीमार हो जाते हैं क्योंकि जो होता है मानसिक स्थिति व शारीरिक स्थिति पर प्रभाव नहीं पड़ता है और अगर कोई हमारी बात हो गए हम ज्यादा अगर सोचते हैं MP4 करते हैं उसमें डूब जाते हैं तो हो सकता है कि हम उसको जो है मानसिक रूप से हम उसे अपना बना लेते हैं और उसकी सोच समझ के अंदर जो होता है हम गहराई में चले जाते हैं जिससे क्या होता है कि हमारा मानसिक बताएं बीमारी उत्पन्न होने लगती हैं

Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera khaan जी का जवाब
Unknown
0:16
सेक्सी हिंदी कहने का मतलब है सवाल है कि ज्यादा दुख किया ज्यादा सुख और टेंशन

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit Netam जी का जवाब
Unknown
2:29
बस वाले किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है का जवाब है मानसिक बीमारी है मन से कांटेक्ट करें मन से संबंधित बीमारी है अब मन की मन में खोट क्यों आती हो चाय पी ली मैंने जब आपको देखते हो सुनते हो या फिर पढ़ते हो पढ़े-लिखे तुम्हारी आवाज तो नहीं हो गई थी एक दूसरे में मारिया गेम आंसू आए नींद ना आए ना देखते हुए उनकी सुनते हो फिर भी आप का एक बात बताइए आप दिन रात सुबह शाम आप न्यूज़ देखते हो उनके आगे बढ़ते चले करना रात को सोने के टाइम आप न्यूज़ न्यूज़ टीवी आने के लिए चैनल आप देख ली है टीवी न्यूज़ चैनल देख ले आकर देख लो तो आपके मन में कैसे तक चलेगा पूरे संसार नेगेटिविटी में क्या-क्या डॉक्यूमेंट इकट्ठा होने लग जाएगा फिर मान्यवर आउटलेट आने लगेंगे और ट्वेल्थ क्लास केमिस्ट्री क्वेश्चन क्या करना है समझ देखना है पढ़ना सीखे तो आजकल टीवी देखना बंद करते हो मैं खुद आपको देखते ही नहीं दिनभर आपने लगे रहो सभी भाइयों ने पेपर देखकर करते हो तो फिर आप गलत कह रहे हो भाई आप मन में ऐसी दोस्ती होगी और इससे तो साफ दूर होगी माही मेरे से ज्यादा सोचोगे ज्यादा आपसे वीडियो की जड़ में मीणा समाज की मीटिंग करना जरूरी है

Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn kumar Vajpayee जी का जवाब
Bijneas9369174848
0:52
प्रश्न किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है मानसिक बीमारी होने का मुख्य कारण यह है कि किसी भी बात को लेकर अधिक चिंतन मनन और उसके विषय में सोचना और उसमें इतना खो जाना कि उसके विषय में सोचते हुए उसकी भी टेंशन बनाए रखना यानी कि उसका चिंतन मनन इतना अधिक हो जाता है कि वह दिमाग पर हावी हो जाता है यानी डिप्रेशन का शिकार हो जाता है और इससे मानसिक बीमारी कहा जा सकता है इसके और भी कारण हो सकते हैं जैसे नशे की अधिकता किसी गंभीर बीमारी का हादसा जो भुलाए ना भूलता हो उसका चिंतन मनन भी मानसिक बीमारी का कारण हो सकता है धन्यवाद मित्रों

Trainer Yogi Yogendra Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trainer Yogi Yogendra जी का जवाब
Motivational Speaker | Career Coach | Corporate Trainer | Marketing & Management Expert's. Follow Us YouTube channel : https://www.youtube.com/channel/UCKY3o0Bey-4L8mWF9hyTRdQ
1:13
हेलो फ्रेंड्स आज हम जिस क्यूशन के बारे में बात करने वाले हैं वह है कि किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है लेकिन कोई भी मानसिक बीमारी अगर आपके माइंड में हो जाती है मानसिक रूप से आपको हो जाती है तो उसका सबसे बड़ा जो कारण है वह है आपका सोचना आपके विचार आप किस तरह का सोच रखते हैं किस तरह के विचार रखते हैं क्योंकि आपके सोच और विचार ही आपकी कर्म बनते हैं और आपके कर्म ही माय डियर फ्रेंड आपको जो है किसी भी परिस्थिति में लाने को तैयार हो जाते हैं चाहे वह अच्छा हो या बुरा हो सकता है मानसिक रूप से अगर आप बीमार है तो उसका मुख्य कारण यह है कि आपकी सोच और विचारों को बदलने की कोशिश करें और सोच और विचार कहां से बनते हैं सोच और विचार बाय डियर फ्रेंड आपके बनते हैं अब आपकी सोसाइटी कैसे लोगों के साथ बैठते हैं आप कैसे लोगों के साथ रहते हैं उसी से आपके सोच और विचार बनते हैं इसलिए सबसे पहले अपनी सोसाइटी को अपने आप किन लोगों के साथ रहते हैं उस को बदलने की को उसको बदलेंगे तो आपकी सोच और विचार अच्छे बनने लगेंगे और जब आपकी सोच और विचार अच्छे बनने लगेंगे तो आपके कर्म अच्छे बनने लगेंगे और जब आपके कर्म अच्छे बनने लगेंगे तो आपको निश्चित रूप से सफलता मिलेगी जय हिंद जय भारत

Dukh kaise mite Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh kaise mite जी का जवाब
Unknown
2:20
आपने पूछा किसी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या मुख्य कारण है कि हमारी मस्तिक में नकारात्मक विचार करें जैसे मेरा कोई बुरा हो जाएगा मेरा बुरा कर देगा कोई कोई धमकी देता है जैसा आप स्टूडेंट हैं पढ़ाई करें तो पढ़ाई में अच्छे नंबर आएंगे कि नहीं आएंगे या फिर मुझे अच्छी नौकरी मिलेगी न्यूली कोई तरह का विचार करने से मानसिक बीमारी हो जाती है मानसिक बीमारी होने से क्या रात को ठीक से नींद नहीं आती है आगे बढ़ जाती है इस पेट खराब होने लग जाता है ज्यादा समय तक ना कर दो विचार रहेंगे तो कितनी भी हो जाती है दिमाग खराब हो जाता है मतलब 95% बीमारियां मानसिक की मालिश आ जाती है जिसको मानसिक रोग के दो बीमारी कर दो एक ही बातें हरी और पांच पर्सेंट बीमारी हमारी खानपान से आती है तो मैंने वह को लेकर काफी ऑडियो अपलोड किया वहां से 10 मिनट का समय मिलता है यहां तो सिर्फ 3 मिनट का समय देते हैं तो मैं बोलकर जो मालिक है इनके बारे में सुझाव देना चाहता हूं कि आप 30 मिनट का ऑडियो अपलोड करने को समय दें ताकि लोगों की समस्याएं मिट जाए हमारे ऊपर जो ईश्वर कृपा कि मेरे को ईश्वर कृपा की है तो उसको मैं बताऊंगा कि जो मेरे ऊपर ईश्वर कृपा कर आप को ही करेंगे इस सर को कसने पर एक बात है निराकार की भक्ति करते हैं तो भी अच्छी बात है साकारी भक्ति करते हैं अच्छी बात है निराकार में विद्वान लोग उसे प्रकाश बताते हैं ज्योति बता दे कोई ओम का ध्यान करते हैं और साकार विश्वरी भागवत my11circle एक ना मुस्काते ज्ञानी लोग प्रेम करते हैं योग योग पर बात करते हैं भक्त लोग भोपाल करते हैं तो आप व्हाट्सएप पर सुनिए आप इस समय लगाइए ताकि आपके हर समय समाप्त हो जाए हरे कृष्ण हरे कृष्ण हरी भरी शुभकामनाओं के साथ और भक्ति में आगे बढ़ते रहिए भरतरी भरतरी भरतरी

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam mishra जी का जवाब
Job
2:27
नमस्कार दोस्तों सवाल है किसी भी मान ली बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है तो मानसिक बीमारी होने का मुख्य कारण नहीं है तो मेरे हिसाब से जितना मुझे याद आ रहा है मैं आपको बता रही हूं कि मानसिक बीमारी होने का सबसे मुख्य जो कारण होता है वह मां अकेलापन या मानसिक तरह इंसान जब अकेला होता है तो बहुत सारी चीजें उसके दिमाग में नेगेटिव थॉट आते रहते हैं वह किसी भी चीज को ज्यादा सोचता है उस पर वह सोच उसके दिमाग पर हावी होती जाती है जिससे उसका दिमाग बहुत ज्यादा वर्क करता है उसे मानसिक बीमारी होने की बहुत ज्यादा चांसेस होते हैं या फिर मानसिक तनाव या पारिवारिक क्लेश हुआ चाहे नौकरी या किसी भी चीज को लेकर मानसिक तनाव ग्रस्त के अंदर है या बच्चों को लेकर या फैमिली को लेकर को लेकर मां-बाप को लेकर जिसको वह बहुत ज्यादा सोच रहा हूं बहुत सारा उसके दिमाग पर हावी हो रहा है तू वह सोच उसे मानसिक बीमारी की तरफ ले जाती है तीसरा सबसे मुख्य कारण जो है वह सील पदार्थों का सेवन करना अगर हम किसी भी नशीले पदार्थ का सेवन जरूरत से ज्यादा हद से ज्यादा कर रहे हैं और शराब पीना है या फिर किसी भी चीज का नशीली वस्तुओं का सेवन कर रहे हैं तो वह हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे मन पर भी हमारे दिमाग पर भी उसका बहुत गहरा असर होता है जो धीरे-धीरे मुझे हमें मानसिक बीमारी की तरफ ले जाता है मानसिक रूप से में कमजोर कर देता है और हम मैं ऐसा हमारा दिमाग ऐसा कहता है हम उसके बिना रह नहीं पाएंगे जरूरत से ज्यादा शराब का सेवन करना इंसान का दिमाग फिर उसके पर्स में हो जाता फिर उसे ऐसा लगता है कि वह बिना शराब पिए एक कदम भी नहीं चल सकता कुछ भी नहीं कर सकता है तो यह सारी चीजें बहुत सारी चीजें होती है जो इंसान को मानसिक बीमारी की तरफ ले जाती है लेकिन सबसे मिंजो कारण होता है मानसिक बीमारी का कोई भी उम्मीद का पुराना होना या हमसे जितना उम्मीद करते हैं रिश्तो से या फिर शॉप से या फिर समाज खुद से पढ़ाई से वह सारी उम्मीदें अगर नहीं पूरी होती है तो इंसान इंसान के दिमाग पर वह चीजें हावी हो जाने लगती हैं नेगेटिविटी हावी होने लगती है और वो उस चीज को छुट्टी रहता है और उसमें दिमाग इतना बुरा शर्म नहीं लगता है कि उस मानसिक बीमारी की तरह वह पढ़ने लगता है तो यह सारी चीजें हैं जो इंसान को मानसिक बीमारी की तरफ ले जाती है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#भारत की राजनीती

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:28
नमस्कार दोस्तों भारत बायोटेक के कंसेंट फॉर्म में क्या लिखा है तो जैसे कोरोनावायरस के टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है भारत की दो वैक्सीनस लगाई जा रही है कॉक्सएक्स पर जाने का की वैक्सीन है और एक है भारत बायोटेक की वैक्सीन तो भगवान से पहले कंसेंट फॉर्म पर भी साइन करवाया जा रहा है इस फॉर्म में यह वादा किया गया है कि अगर ठीक है की वजह से किसी तरह का दुष्प्रभाव यह गंभीर प्रभाव पड़ता है तो मुआवजा दिया जाएगा उन्होंने कहा है कि अगर टीका लगवाने के बाद किसी को गंभीर प्रतिकूल प्रभाव होते हैं तो उसे कंपनी मुहावरे देगी सहमति पत्र के अनुसार अगर टीके से कम यह प्रतिकूल प्रभाव होने की बात साबित होती है तो मुआवजा बी बी आई एल द्वारा तय किया जाएगा पीवीआर मतलब भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड सहमति पत्र के फॉर्म में कहा गया है कि क्लीनिकल प्रभावशाली सम क्लिनिक्स भविष्य शीलता संबंधी तथ्य को स्थापित किया जाना अभी बाकी है और इसका अभी भी चरण 3 क्लिनिकल ट्रायल में अध्ययन किया जा रहा है इसमें कहा गया है कि इसलिए यह जान लेना महत्वपूर्ण है कि टीके की खुराक लेने का मतलब यह नहीं है कि कुल 19 से संबंधित अन्य सावधानियों का पालन नहीं किया जाना चाहिए प्रतिकूल प्रभाव के मामले में पीड़ित व्यक्ति को सरकारी अस्पताल में चिकित्सीय रूप से मान्यता प्राप्त देखभाल प्रदान की जाएगी धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:39

#भारत की राजनीती

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:59

#भारत की राजनीती

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana Mishra जी का जवाब
Housewife
0:35
ऐसा कार्य करने के लिए क्या क्या आवश्यकता होती है और आपका कोटा होना चाहिए हेल्थ से संबंधित जानकारी चाहिए के अंदर पता होना चाहिए जानकारियां होना चाहिए तो अब

#स्वास्थ्य और योग

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:38
सर्दी में नाक का बहना क्या जल्दी ठीक कर सकते हैं और कर सकते हैं तो कैसे दोस्तों यदि आपकी नाक बह रही है तो निजी तौर पर यदि आप इसको सही करना चाहते हो दो-तीन इलाज बताऊंगा आपको पहले अब गरम पानी के अंदर जो है तुलसी या नीम के पत्ते डालकर के अपने मुंह उसको चद्दर के अंदर ढक करके ऐसा कर सकते हैं दूसरी बात यह दोस्तों की आप तुलसी काली मिर्च अदरक और इत्यादि का काढ़ा बनाकर पीते हैं या फायदेमंद होगा चाय काली चाय बना कर दिया किसकी पुस्तक है तो मेरे चाचा को सर्दी से भी निजात मिलेगी और आपका भी बंद हो जाएगा

#स्वास्थ्य और योग

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana Mishra जी का जवाब
Housewife
1:15
तुम्हारी बात बिल्कुल लता जैसे हो जाएंगे जैसे आप सारे साधु महात्मा को देखने के बाद बड़े-बड़े चटा जैसे बिल्कुल जाती है वैसे आपके पास आएंगे अच्छा सा बन जाएगा और लेटा बन जाएगी जैसे कि नहीं देंगे तो आप के सर में तरह तरह के लोग आएंगे निकलेंगे करने से हमारे बाल भी अच्छे होते हैं और हमारे से अच्छी रहती है सबसे अच्छी रहती है हमें ठंडक महसूस होती है ऐसे में गंदगी रहेगी दोनों में परिसर में वह सारे रोग हो सकते हैं आपको जो पसंद आए तो

#नौकरी

Deepak Perwani7017127373 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deepak Perwani7017127373 जी का जवाब
Job
1:55

#रिश्ते और संबंध

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
1:22
ब्याव शादी के बाद लड़कियां मोटी क्यों हो जाती है इससे बचने के लिए कौन सी बातों का ध्यान रखना चाहिए दोस्तों अक्सर देखा गया है कि शादी के बाद लड़की हो कि लड़का हो वह मोटे हो जाते हैं उनका मेन रीजन भी होता है क्या होती है उसको अपने माइंड से उस चीज को निकाल देते हैं इससे क्या होता है कि आपका जो शरीर तो पहले कमजोर होता है वह थोड़ा हेल्दी बन जाता है सब कुछ ऐसा ही कुछ लोग मोटे हो जाते हैं फिर दूसरी और किसी भी चीज को कटिंग निजात पा जाती है चुटकुले करते हैं क्या मुझको कोई टेंशन नहीं है जो भी काम करेगा हस्बैंड करेगा जिसकी मनी इत्यादि की परेशानियां होती है बाय द वे लड़कियां जो है वह घर का काम होता है पर इसमें यह बता कि लड़कियों का जो होता है दोस्तों को और को टेंशन दे वह बहुत ज्यादा कम हो जाती है शादियों के बाद दूसरे बाद उनके परिवार नया मिलता है उनके साथ वह घुलमिल जाती है मन अच्छा लगता है प्रसन्न रहते तो उनका तो दोस्तों इस कारण से भी जो है वह बैठ जाता है और यदि आप दोस्तों मोटापे से आप निजात पाना चाहते हैं तो इसका संतुलित भोजन कीजिए और लिमिट काकी जी खुश रहिए और टेंशन तो अब मुफ्त है परंतु खाना जो है वह आपको लिमिट का कर देना चाहिए

#धर्म और ज्योतिषी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
0:52

#भारत की राजनीती

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana Mishra जी का जवाब
Housewife
1:12
हम तो सवाल है कि 26 जनवरी 2021 गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों द्वारा ट्रैक्टर रैली निकालना उचित उचित 1 जनवरी को रैली निकाली जाएगी दिवस परेड होती है जो विकार कम होते हैं तुम पर बहुत सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा अगर दिल्ली में निकालेंगे तो वहां पर परेड करते हैं दिल्ली में कितना किलो वजन होगा और हमारा गणतंत्र दिवस पर नहीं पाएगा उस दिन 26 जनवरी के दिन मनाने का दिन है इस दिन हमें भी करना चाहिए किसानों को उस दिन ट्रैक्टर रैली नहीं निकालना चाहिए समझना चाहिए 15 अगस्त 26 जनवरी हमारे राष्ट्रीय त्योहार है इन्हें अच्छे से मना कर देना चाहिए 9:00 के बीच में कोई परेशानी नहीं करनी चाहिए इसलिए 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली 9 तारीख

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
ऑक्सफोर्ड कॉमा क्या है?
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:32

#स्वास्थ्य और योग

गोविन्द नाथ गोस्वामी Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए गोविन्द नाथ गोस्वामी जी का जवाब
Unknown
0:44
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है हमारे धरती पर कितने प्रतिशत पानी पीने के योग्य है दोस्तों इस प्रश्न का सही जवाब हमारे धरती पर केवल 3% पानी पीने के योग्य है 2.4 प्रतिशत ग्लेशियरों और उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव में जमा हुआ है और केवल 0.6 प्रतिशत पानी नदियों झीलों और तालाबों में है जिसे इस्तेमाल किया जा सकता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Deepak Perwani7017127373 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deepak Perwani7017127373 जी का जवाब
Job
2:53
चाय के साथ क्या हानिकारक है बताइए तो दोस्तों देखी है वैसे तो जो है चाय हमारा एक प्रमुख पेय पदार्थ है चाहे के संग हम कई सारी चीजें लेते जैसे टोस्ट बिस्कुट फाइन कई सारी चीजें हम चाहे के संग लेते हैं लेकिन दोस्तों चाहे किसी भी दोस्त आएंगे बिस्कुट लेना तो जो है नुकसानदायक नहीं है लेकिन कुछ लोग चाय के संग नमकीन लेते क्योंकि नुकसानदायक है क्योंकि चाय पहले तो गैस बनाती आपके शरीर में ठीक है अगर आप उसके संग नमकीन और लोगे तो गैस बनने के बाद जी के साथ कुछ छाती में जलन करेंगे चाय गरम होती होती है ऊपर से आप अगर चाय लेते हो साथ में नमकीन लेते हो तो दोनों मिलाकर छाती में जलन करते यही चलन हॉट हॉट पर आती है तो हार्ट अटैक का कारण भी कभी-कभी बन सकती है इसीलिए चाय के साथ कभी भी नमकीन नहीं लेनी चाहिए नार्मल या टोस्ट फैन या बिस्कुट ले सकते हो और दो कुछ हमारे मजदूर भाई लोग हैं जो काम काज करते हैं वह क्या करते हैं तुरंत गुटका थूक कर तुरंत चाय पीना स्टार्ट कर देते हैं तुरंत चाय का गिलास लेते लेकिन को तो यह बहुत ही ज्यादा खतरनाक है कि गुटके के अंदर पाए जाने वाले और तंबाकू के न पाए जाने वाले निको टॉक्सिन नामक एक तत्व यह इंसान को मुंह का कैंसर और जो है गले के कैंसर का कारण बनता है क्योंकि चाहे के अंदर चाय के अंदर कैफीन पाई जाती है कैफीन जबकि गुटखा और पान मसाले वगैरा होते हैं उसमें निकोटिन होता है यह दोनों आपस में एक दूसरे के शत्रु है यह दोनों जब मिलते हैं तो एक जिनोटॉक्सिक नाम का एसिड बनाते हैं जो आगे चलकर गले का कैंसर का भी कारण बन सकता है और दोस्त लोग चाय पीने के बाद तुरंत कुल्ला करने की सोचते हैं और यह बहुत ही गलत है क्योंकि चाहे गर्म होने पर जब हम गर्म चाय पीते और ठंडे पानी के जब कुल्ला करते हैं तो इससे हमारे जो है दातों पर वह बी नेगेटिव इफेक्ट पड़ता है ऐसे व्यक्ति के दांत जल्दी गिरने लगते हैं और आंखों पर आंखों की रोशनी पर भी असर पड़ता है कुछ लोग चाहे के संग चली बुरी चीज है जैसे पागल हो गया और भी कोई चीज होती है लेते हैं और यह भी खतरनाक है और क्यों की चाय आप जब पी रहे हैं चाय आपके पेट में एसिडिटी बनाती है उसके ऊपर अगर चलिबुनी कोई चीज खाई जाए साथ में तो एसिडिटी ज्यादा हो जाती है यह पेट में आपके दिमाग में भी असर डाल सकती है तो इस तरीके के कुछ चीजें नहीं खाए और सवाल दूसरे की चाय कभी वैसे भी नहीं पीनी चाहिए रोगी भी नहीं पीनी चाहिए क्योंकि क्योंकि चाय पीने से भी पेट में गैस वगैरह एसटीटीटी बनती है तो चाय कैसे में आप नॉर्मल फैंटूश बिस्कुट से वगैरा ले सकते हो जय माता दी जय हिंदुस्तान

#इतिहास

bolkar speaker
सौरमंडल के बारे में बताइए?
rahana khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए rahana khatun जी का जवाब
Student
1:20
आपने पूछा कि सौरमंडल के बारे में बताइए तोरा मंडल सभी ग्रह उपग्रह खगोलीय पिंड उल्कापिंड सब मिलकर प्रमंडल का निर्माण करते हैं अंतर मंडल में कुल वर्तमान में 8 ग्रह है पहले नौ ग्रह थे 2008 में प्लॉट एग्रो का हटा दिया गया था क्योंकि वह हमारे बहुत दूर है और जिसकी वजह से बर्फ से ढक गया है इतने लॉट्रो का हटा दिया गया 2008 में अभी हमारे नवग्रह नवग्रह का नाम का पहला अबोध शुक्र मंगल पृथ्वी पृथ्वी से बृहस्पति अरुण वर्मा यूरेनस नेप्चून और सभी का उपग्रह है लेकिन शुक्रवार और बुध का शायद उपग्रह नहीं है नहीं तो सब सभी ग्रह का उपग्रह है पृथ्वी का उपग्रह चंद्रमा एक ही है और मंगल का 215 है बृहस्पति का शासक पगला है और बृहस्पति और शनि के बीच बहुत सारे उल्कापिंड पाए गए हैं थैंक यू मुझे बस इतना ही पता था थैंक यू

#रिश्ते और संबंध

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
2:04
सवाल पूछा गया है वित्तीय रूप से महिलाओं को आत्मनिर्भर होना कितना जरूरी है तो देखिए आज अब हम बात करते इंडियन फैमिली की इंडियन जो हमारे कल्चर है उसके कोडिंग अगर कोई स्त्री वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर नहीं है तो अगर उसको डोमेस्टिक वायलेंस का भी सामना करना पड़ रहा है या फिर कुछ ऐसी चीज उसके साथ हो रही है जो एक जोतने की मौलिक नहीं है जो एक नैतिक व्यवहार उसके साथ नहीं किया जा रहा है फिर भी उसे वह सब सहना होगा क्योंकि अब वित्तीय आत्मनिर्भर नियमित रूप से अगर बात पर निर्भर होती तो वह अपने आप को पालने में सक्षम होती अपने बच्चों को अपने परिवार वालों अब जो भी है 18 में बीती रात नहीं पड़ता है किसी के लिए बहुत ज्यादा जरूरी था कि वह इस तरीके की चीजों के खिलाफ आवाज उठा सके अगर हम बात करते हैं किसी भी स्त्री के इंडियन मैं तो डोमेस्टिक वायलेंस बहुत ही कमेंट चीज है पति आए दिन अपनी पत्नियों पर हाथ उठा देते को दोष दिया जाता है अब उसके ऊपर भी वह कुछ नहीं कर पाती क्योंकि रूप से आत्मनिर्भर नहीं है अगर वह अपने पति का घर छोड़ कर चली जाएगी तो उसके मायके वाले दो उसको एक्सेप्ट नहीं करेंगे तो फिर वह जाएगी कैसे तो एक लड़की वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर होती है तो उसमें बाइक उसका जो आत्म सम्मान है उसकी रक्षा बसाने से कर सकते इस तरीके के और व्यावहारिक जो कृत्य होते रहते हैं हमारे यहां पर आए दिन लड़कियों के साथ के साथ उसमें काफी हद तक वह अपने आप को अपने तरीके से अपने हिसाब से चीजों को मैनेज करने की कोशिश करेगी और बहुत सारी समस्या उसे आसानी से छुटकारा पा लेगी इसमें बहुत सारे परिवार जरूर टूट जाएंगे पर आखिर कब तक एक औरत को ही हर चीज सहनी पड़ेगी तो मेरा यह मानना है कि कॉलेज में वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर होती है तो वह अपने आत्मसम्मान की रक्षा भी बहुत अच्छी तक कैसे कर सकती है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#जीवन शैली

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:49
पूछा गया है लड़कियों के लिए आत्मनिर्भर होने के बावजूद भी कौन सी चीजें आज भी उनके लिए नहीं बदल पाए तो हमारा कल्चर है जो हमारा यहां परियों से चला आ रहा तुम्हारे हमेशा यही बताया जाता है कि लड़कियों को एडजस्ट करना चाहिए लड़कियों को सहनशील होना चाहिए सामने वाला आप पर गुस्सा भी कर रहा है तो आप को शांत रहना चाहिए क्योंकि आप लड़की हो आप को बच्चों का घर का देखभाल करना पड़ेगा क्योंकि आप लड़कियों भले ही आप इतने रूप से आत्मनिर्भर हो भले ही आप जॉब कर रहे हो भले ही आप कितना भी पैसा कमाए घर संभालना बच्चे संभालना रिश्ते सामान्य सारी जिम्मेदारी की लड़की की शादी होती है तो यह चीज आज भी और जो है हमारे समाज में नहीं बदली है हम आज भी यह नहीं सिखाते कि अगर आप लड़के भी है तो आपको भी घर के कामों में हाथ बटाना चाहिए क्योंकि आज किसी भी चीज में लड़कियां पीछे नहीं आप एक ऐसी लड़की के ऐसे समाज में जी रहे थे पर लड़कियां और लड़के बराबर की पढ़ाई जॉब बराबर होती है सैलरी बराबर होती है तो फिर आपको घर का काम करने में कोई झिझक नहीं होनी चाहिए कि हम अपने लड़कों को नहीं सिखाते और यही जो है उनके दिमाग में बचपन से ही चीज रहती कि लड़की को ही यह सब करना है और यही कारण है कि फिर लड़कियों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है जैसे जॉब करो घर आकर घर संभालो बच्चों को देखभाल करो बड़ों बड़ों की देखभाल करो एक लड़की के लिए काफी ज्यादा मुश्किल हो जाता है और आज भी हमारे समाज में नहीं बदली है कुछ कुछ हद तक मैंने देखा है कि लोग थोड़े लिबरल हो रहे लोग इस चीज को समझ रहे हैं तो यह काफी पॉजिटिव रिस्पांस भी उसका मिल रहा है पर अभी भी हम काफी पीछे हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
0:52
प्रश्न है कि अंग्रेजी में माइक का प्रयोग कब करते हैं देखिए जो माइट है वह मॉडल सीखता एक क्रिया होती है इसे हम अंग्रेजी बोलते वक्त साइकिलिया के रूप में प्रयोग करते हैं माइक्रियम इसको हम हिंदी में कह सकते हैं कि जब किसी चीज की कम संभावना हो तो ऐसे में हम माय शब्द का प्रयोग करते हैं असल में देखा जाए तो माइक का प्रयोग हम कम संभावना वाली चीजों के लिए हम इसका आसानी से प्रयोग कर सकते हैं जैसे किसी जगह पर चोरी हुई है और हमें किसी पर संदेह है तो ऐसे में हम कह सकते हैं कि शायद उसने ऐसी चोरी की होगी जब हम किसी के बारे में भी एक निश्चित रूप से किसी भी चीज को लेकर हम जब पक्की जानकारी नहीं दे सकते तो ऐसे में हमें माइक का प्रयोग करके इस वाक्य को बोल सकते हैं धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
2:03
एसी और डीसी करंट क्या होता है और कैसे काम करता है दोस्तों ऐसी बात करें तो इस का फुल फॉर्म अल्टरनेटिंग करंट और यह करंट एक निश्चित समय के बाद में अपनी जो बेल्ट डायरेक्शन है वह मान और उसका पता है इसलिए इसे अल्टरनेटिंग करंट कहा जाता है आपको बता दें कि हमसे बहुत ज्यादा किया जा सकता है इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि ट्रांसफर की मदद चेक कर लिया ज्यादा भी किया जा सकता है और साथ ही इस करंट को ज्यादा दूरी तक भी आसानी से भेजो ट्रांसफर की मदद से कम या ज्यादा किया जा सकता है और इसी वजह से पहले इसकी वोल्टेज को बढ़ाया जाता है फिर जहां पर भी भेजना है वहां पर भेजकर इसकी वोल्टेज को कम कर दिया जाता है दूसरे की डायरेक्शन वसुरी यानी कि डायरेक्ट करंट जो है यानी कि डायरेक्ट को बिल्कुल भी नहीं बदलता है और आजकल हर जगह जो है इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि किसी भी तरह की बैटरी चार्ज करने के लिए सिर्फ देसी करण का इस्तेमाल किया जा सकता है इस वजह से डीसी करंट स्टोर किया जाता है लेकिन को नहीं किया जा सकता करंट को मापने के यंत्र जैसे कि मल्टीमीटर ट्रैक्टर में डीसी सप्लाई का इस्तेमाल किया जाता है इसके अलावा लैपटॉप लाइटिंग के काम में भी इसी कारण का इस्तेमाल किया जाता है टीवी रेडियो कंप्यूटर और मोबाइल के सभी काम डीसी करंट से होते हैं आशा करता हूं धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:40
प्रश्न है कि क्या मैं लड़का होने के बाद भी लड़कियों के कपड़े पहन सकता हूं क्या यह सही है देखिए अगर आप समाज में रह रहे हो और अपने आसपास के लोगों को देखते हुए उनकी सोच के बारे में जानते हो तो यह शायद आपके लिए थोड़ा शर्मनाक भी हो सकता है आपने अक्सर देखा होगा कि लड़कियां अपनों से ज्यादा लड़कों की तरह दिखने वाले कपड़े ज्यादा पहनना पसंद करती है और वह काफी आक्रोशित भी लगती हैं और उन्हें काफी सराहा भी जाता है और उन पर वह कपड़े खूब पकते भी है लेकिन अगर यही सोच लड़का लड़कियों के कपड़े पहने तो वह बड़ा ही अजीब लगता है क्योंकि यही एक फैशन है जो ट्रेंड है जो कुछ लोगों के समझ में नहीं आता लेकिन सच में यह भी फ्रेंड है कि अगर लड़कियां लड़कों के कपड़े पहनकर बाहर जाएं तो वह काफी आकर्षण का कारण बनती हैं और उन्हें काफी सराहा जाता है लेकिन वहीं दूसरी तरफ अगर कोई लड़कियों के कपड़े पहनकर बाहर जाएगा तो उसका मजाक बनाया जाता है क्योंकि उस जो डिजाइन में कुछ इस तरह की आकृति बनाई होती है कि जिसकी वजह से वह चीजें लड़कों पर शायद एक हंसी का पात्र बन सकते हैं तो अच्छा होगा कि केवल आप जो लड़कों के बनाए हुए कपड़े हैं या फिर जो लड़कों के लिए ही कपड़े हैं आप उन्हीं चीजों को पहने और आप उन्हीं में इतना आकर्षण लग सकते हैं आपको इस चीज की आवश्यकता नहीं है कि आप लड़कियों के कपड़े पहने अगर आप ऐसा करते हैं तो शायद आप हंसी का पात्र बन सकते हैं धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
1:08

#धर्म और ज्योतिषी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:42
पहले क्या भाग्य का लिखा कर्म से मिटाया जा सकता है जी हां दोस्तों बिल्कुल यस क्योंकि भाग्य में क्या लिखा हुआ है यह आपका कर्म के ऊपर ही निर्भर करता है आपकी मेहनत के पर निर्भर करता है कि आपके भाग्य में कुछ चीजें लिखी हुई है वह चीज आपको मिलेंगे या ना मिलेगी वह आपके कर्म के ऊपर निर्भर करेगा क्योंकि आप अच्छे कर्म करते हैं तो आपके भाग्य अच्छा होगा आप मेहनत से करते हैं कर्म अच्छे करते तो भी आपका भाग्य अच्छा होगा तो जो चीज है कर्म और मेहनत यही आपका भाग्य लिखते हैं कि स्पेशली आगे से आपका भाग्य लिख करके नहीं आता है तो आप अपने कर्मों को और मेहनत को ज्यादा महत्व दे ना कि अपने भाग्य को धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:47
आकाश वाले की अंग्रेजी में माइक का प्रयोग किया जाता है तो अंग्रेजी में से बॉस चाहते हैं जिसमें मैं का प्रयोग किया जाता है जिससे यू मे गो होम यू माय चुनाव मे आई कमिंग कमिंग में आई सी यू टुमारो इज़ माय रन टुडे आई आई में ग्रोथ रेट टुडे इन हिंदी वाक्य की क्रिया के अंत में सकता हूं सकते हैं चाहे सकती हैं संभावना इत्यादि हैं इस क्रिया का अनुवाद में में होता है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Trilok Sain जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:34
पुष्कर जी हां बिल्कुल लिख लिख कर पढ़ना अच्छा होता है लिखकर पढ़ने से भी आज बहुत जल्दी होता है इसके पीछे कारण यह है कि आप लिखेंगे तो आप उसको देखेंगे आंखों से और आंखों से देखेंगे और साथ में अगर बोलेंगे तो कानों से सुनेंगे या नहीं लिखना आंखों के द्वारा मस्तिष्क में चला जाता है कानू के द्वार मस्ती स्कूल जाना जाता है इस प्रकार से वह आपके अवचेतन मस्तिष्क में बैठ जाती है वह बातें और वह ज्यादा लंबे समय तक याद रखें धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana Mishra जी का जवाब
Housewife
0:52
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है पढ़ाई करने के बेहतरीन कार्यक्रम क्या है जो फ्रेंड्स आजकल हम लोग देख रहे हैं पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है बहुत कमी बच्चों की क्लास लग पा रही है ज्यादातर पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है तो आजकल यह ऑनलाइन तरीका ही बेहतरीन है जिस समय से पूर्व नमः मारी चलिए तो ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है बच्चे मोबाइल में लैपटॉप में ऐसी पढ़ना है और पढ़ाई करने के लिए आप कोचिंग संस्थानों में भी पढ़ सकते हैं अपने टीचरों से भी मदद ले सकते हैं और अपने दोस्तों से मदद ले सकते हैं ने पढ़ाई करने के बेहतरीन तरीके हैं आप बैठ कर के सपोर्ट से बनिया पढ़ सकते हैं मोबाइल से आप जो आपको नहीं आता यूट्यूब से गूगल से निकाल कर पढ़ सकते हैं तो फ्रेंड जो पसंद आए तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
    URL copied to clipboard