#भारत की राजनीति

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:39
क्या मोदी सरकार सरकारी स्कूलों का निरीक्षण करने की तैयारी में शिक्षा के क्षेत्र में क्या सुधार होगा भी या नहीं सरकार की नीति आई है कई नए स्पेशल से में बहुत सारी संभावनाएं व्यक्त किया गया है जहां तक निजी करण की बार मोदी सरकार हो या कोई भी देश में शिक्षा व्यवस्था के लिए मात्र 35 वर्ष घर मेंट की योगदान है 65 पर कब प्राइवेट सेक्टर की कार्रवाई और कहे सेकेंडरी हायर सेकेंडरी इंटर कॉलेज हो या हायर एजुकेशन सब में प्राइवेट सेक्टर में और इतनी तेजी से पेंट लिखे इंजीनियरिंग कॉलेज मेडिकल कॉलेज यूनिवर्सिटी कितनी फीस ली जा रही है उनकी फीस देखो तो पता चलेगा कि वहां तो हम बच्चे पढ़ने से गरीबों के लिए प्राइवेट सेक्टर के स्कूलों को उठा लीजिए पूर्व सरकार ने कहीं कोई सरकार नहीं सुना आपने दूर से कहीं संता है वह मोदी कहते हमने आई आई एम की ब्रांच खोल दी है उड़ीसा में एम्स की ब्रांच खोलने जा रहे हैं है सूरत में खोलने जा रहा है और कहीं फुल नेट तो करते हैं लेकिन कुछ चुनिंदा लोगों को शहरों में मान लीजिए पूरी इंडिया में 4:00 a.m. फुल एच आर आई एम खोलो 2 साल का कौन सा तीर मार दी आपने भी तो उसी तरह से जब बेसिक बुनियादी कि जब देखो ना शहरों में पीली पीली गाड़ियां गांव में पीली पीली गाड़ियां पब्लिक स्कूल में 12 बच्चे जिस मोड़ पर जाएगी प्राइवेट यूनिवर्सिटी आगरा B.Ed कॉलेज ऐडेड कॉलेज खुले जा रहा है सरकार की नीतियां हो सकती है

और जवाब सुनें

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:43
मोदी सरकार सरकारी स्कूलों का निजीकरण करने की तैयारी में इस शिक्षा क्षेत्र में क्या विकास होंगे जब शिक्षा का दीप भारत में तो वैसे भी शिक्षा ज्यादातर निजी हाथों में ही है आप इंजीनियरिंग कॉलेज आप देख लीजिए जॉब इन टेक्निकल कॉलेज है या फिर प्राइवेट हाथों में है में शिक्षा के लिए हमारी जो शिक्षा नीति बन रही है उस शिक्षा नीति में क्या बदलाव होते हैं वह सरकार ने कर दिया है उस शिक्षा नियत का अनुपालन प्राइवेट स्कूल करें या नए बदलाव या सरकारी स्कूल करें दोनों में प्रतियोगिता होती है प्रतियोगिता के कारण हमारे यहां तमाम अन्य परीक्षा मोटिवेशन नेट की परीक्षा होती है इसी प्रकार से एमबीबीएस हो गया था की भी होती है जब एक नई शिक्षा नीति सिस्टम बन जाएगा उसका एक नया मंच बिल्कुल हमें जब बन जाता है और उसका सभी का एक प्रोस्पेक्टर होता है तब उसने कंपटीशन समझ में आता है तू जब निजी हाथों में जाएगा और प्राइवेट स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को जो वहां की सुविधाएं मिलेंगी उनके बैठने का तौर तरीका उनके अच्छे टीचर्स के तौर तरीके और सर की सरकारी स्कूलों में लोग बहुत बदमाशी करते हो ठीक से बच्चों को पढ़ा देने तनखा तो बहुत बहुत लेते हैं और उन्हें सब चीजों की बेसिक पहल जो है जिसे वेदांता गया है बाय जूस आ गया है तो ऑनलाइन तो आशीष ने बच्चों को सारी चीजें बताई जा रही हैं तो निजी करना आप किसी को भी समझ लीजिए वेदांत ऊपर हाथ में जा रहा है या मतलब बाईजूस कहां पर मैं जा रहा हूं ऑनलाइन पढ़ाई द्वारा स्कूलों में जो व्यवस्था होगी तो इन्हीं प्रोस्पेक्टर्स के माध्यम से योग्य मेन चीज वहां के बच्चों के लिए सुख सुविधाएं कैसे हैं क्लासेस कैसे हैं बच्चों का मानसिक विकास कैसे हो बच्चों के खेलने की क्या व्यवस्था निजी हाथों नगर चला जाएगा तो उसके लिए बच्चों को ज्यादा फायदा होगा

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:32
प्रश्न है क्या मोदी सरकार सरकारी स्कूलों का निजीकरण करने की तैयारी में है इसे शिक्षा के क्षेत्र में क्या सुधारों का शुद्धीकरण क्या है कि हर क्षेत्र को पब्लिक सेक्टर को सेक्टर को मोदी सरकार क्या करें प्राइवेट कर रही है निजी करण कर रही हो मतलब किसी न किसी पूंजीपति के हाथ में दे रही है अभी सबसे बड़ी बात है कि जो एक प्राइवेट स्कूलों का अगर निजीकरण हो जाएगा मतलब अगर सुना है आपने तो कहीं ना कहीं आते आई होगी मीडिया में तभी बातें चर्चा हुई है अगर ऐसा निजी करण स्कूल होते हैं जो भी प्राइवेट स्कूल है प्राइवेट कॉलेज है तो क्या होगा कि जो गरीब परिवार के जो लोग पढ़ते हैं उनकी जो शिक्षा स्तर होगी एकदम डाउनवार्ड जाएगी मतलब उनकी शिक्षा स्तर एकदम पूरी तरह से बेकार हो जाएगी ऊपर ही नहीं सकते हैं मोदी जी के लिए सबसे अच्छी बात होगी होगी कि जो पढ़ने के इच्छुक लोग थे गरीब परिवार में वह तो पढ़ नहीं पाएंगे और इसका यही है कि वह निजी करण हो जाएगा तो उसमें जो भी एक मापदंड होगा फीस का ऑफिस गरीब गरीब आदमी नहीं दे पाएंगे वह देंगे तो अमीर लोग देंगे और इसमें सबसे बड़ा कारण इसका ही होगा कि जो भी टीचर हो रहे हैं वह भी कहीं ना कहीं इस निजी करण के साथ-साथ वह भी एक निजी कार्ड में ही जाएंगे उनका भी जो अस्तर रहेगा वह प्राइवेट होगा मतलब यह कहा जाए कि संविदा के तौर पर उन्हें रखा जाएगा तो इन दोनों ही क्षेत्र में एक बेरोजगारी देखी जाए और उसके साथ-साथ आप शिक्षा स्तर को एकदम पूरी तरह से धराशाई करें मैं तो जमीनी स्तर पर लाकर खड़ा कर दीजिए ऐसी तैयारी अगर हो रही है तो सरकार पूरी तरह से इसको लागू कर दें क्योंकि तू चाहती है कि गरीब गरीब रहे अमीर अमीर हो तो ही मुझे लगता है फंडा बहुत अच्छा होगा सरकार के लिए क्योंकि अभी शिक्षा नई नीति आई है इसके थ्रू अगर देखा जाए तो एक ऐसी नियम अगर बन रहे हैं तो सरकार के लिए बेनिफिट होगा वही आम जनता को सबसे बड़ा घातक और नुकसान होने वाला है क्योंकि इससे शिक्षा स्तर सुधारने बहुत ही खराब कंडीशन हो जाएगी धनी

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:41
देखिए अगर यह सही बात है तो काफी अच्छा रहेगा यह परंतु गवर्नमेंट को जो चीज है वह अपने हाथ में रखनी होगी क्योंकि इसका ही इंपैक्ट आएगा अब गवर्नमेंट सब्सिडी दे सकती है नॉर्मल के खाते में डायरेक्ट जो भी अभिभावकों उसके खाते में बच्चे के खाते में गार्डन के खाते में जाए उसकी फीस और वह निकाल कर दे स्कूल में परंतु को डायरेक्ट पीसना बढ़ाते हुए फिल्म को निजी स्कूलों के हाथ में ना डालें फिर तो दिक्कत हो जाएगी निजीकरण फैसला तो बहुत अच्छा होगा इससे शिक्षा के क्षेत्र में काफी सुधार होंगे

DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
1:08
कौन सी ऐसी रात नहीं है मोदी का मैच में सरकारी स्कूलों को निजीकरण किया जाएगा इससे कोई प्रस्ताव अभी तक आया नहीं है लेकिन हां अगर व्यतिकरण हो जाता है प्राइवेटाइजेशन हो जाता है कुल कितनी दिक्कत यहां पर आएगा कि जो हमारी निम्न स्तर के दो बच्चे हैं उनकी पढ़ाई में दिक्कत आएगा क्योंकि उनको एजुकेशन शीला फिल्म होता था लेकिन प्राइवेटाइजेशन की वजह से शायद उनको कोई कॉस्ट पर करना पड़ेगा इसके लिए जिसके लिए हमारी भारत की शिक्षा गुणवत्ता में कमी आ जाएगी और काफी मात्रा में विधानसभा निजी करण हो जाता है तो भी कंपटीशन बढ़ जाता है स्कूल में और कंपटीशन के साथ का कॉस्ट भी बढ़ जाता है तो इसीलिए काफी बच्चे एक टिकट होगा सोसाइटी में की खातिर बच्चे स्कूल का अक्स हो पाएंगे और काफी बच्चे होने पाएंगे तो इसके लिए शिक्षा के स्तर में सुधार तो नहीं आएगा क्योंकि भारत में हर एक नागरिक केंद्रित नहीं है प्राइवेट स्कूल में जॉइन करने के लिए धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#undefined

Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
1:41

#रिश्ते और संबंध

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:00

#भारत की राजनीति

Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:41

#पढ़ाई लिखाई

vineet Upadhyay  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vineet जी का जवाब
Unknown
0:44

#जीवन शैली

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
6:59

#जीवन शैली

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
2:15

#धर्म और ज्योतिषी

Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:07

#रिश्ते और संबंध

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:58

#पढ़ाई लिखाई

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:38

#धर्म और ज्योतिषी

Rohit Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Journalism
1:07

#पढ़ाई लिखाई

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:38

#जीवन शैली

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:20

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
4:58
सवाल से गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है 72 में गणतंत्र दिवस पर क्या आप कोई कविता सुना सकते हैं देखिए देश के राष्ट्रीय त्योहारों में से एक गणतंत्र दिवस के दिन देशवासी स्वतंत्रता सेनानियों व वीर योद्धाओं को स्मरण करते हैं देश की आजादी के करीब ढाई साल बाद 1950 में 26 जनवरी को भारत को संविधान मिला था बता दें कि सन 1948 के आरंभ में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने संविधान सभा की पहली बार संविधान की रूपरेखा प्रस्तुत की थी हालांकि इनमें कुछ संशोधनों के बाद नवंबर 1949 में इसे एक्सेप्ट कर लिया गया और 26 जनवरी 1950 को संविधान पारित हुआ तब से हर साल इस दिन भारत में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है इस वर्ष देश अपना 72 वहां रिपब्लिक डे मनाने जा रहा है बता दें कि भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान कहा जाता है 26 जनवरी के दिन हमारे देश में गणतंत्र दिवस का त्यौहार बड़ी ही खुशियों के साथ धूमधाम से मनाया जाता है इस राष्ट्रीय पर्व के अवसर पर अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है भक्ति गीत राष्ट्र गीतों के साथ यह पर्व बड़े धूम-धाम से पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है यही बात कविता सुनाने की तो माह जनवरी 26 को हम सब गणतंत्र मनाते हैं और देखो फिर आकर गीत खुशी के गाते हैं संविधान में आजादी वाला बच्चों इस दिन आया है इसने दुनिया में भारत को नवगढ़ तंत्र बनाया है क्या करना है और नहीं क्या संविधान बतलाता भारत में रहने वालों का सबसे गहरा नाता यह अधिकार हमें देता है उन्नति करने वाला ऊंची नीच का भेद न करता ब्राम्हण हो या लाला हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई भाई भाई सबसे पहले संविधान ने बात यही है बतलाई इसके बाद बताई बातें जन-जन के हित वाली पढ़ने में यह सब लगती है बातें बड़ी निराली लेकर सीता कहीं कभी भी ऊंचे पद पा सकते और बड़ा व्यापार नियम से दुनिया में छा सकते देश हमारा रहे कहीं हम काम सभी कर सकते पंचायत से एमपी तक का हम चुनाव लड़ सकते लेकर सस्ता लेकर सताता विधान से शक्तिमान हो सकते और देश की इस धरती पर जो चाहे कर सकते लेकिन संविधान को पढ़कर मानवता को जानो अधिकारों के साथ जुड़े कर्तव्यों को पहचानो इन्हीं पंक्तियों के साथ इन्हीं शब्दों के साथ पूरे देशवासियों को अपने बोलकर पूरे परिवार को गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं बहुत-बहुत बधाई हो गणतंत्र दिवस की जय हिंद जय भारत जय हिंद जय भारत भारत माता की जय भारत माता की जय वंदे मातरम वंदे मातरम जय हिंद जय भारत

#पढ़ाई लिखाई

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:26
अबकी बार कौन सा गणतंत्र दिवस है गणतंत्र दिवस भारत का एक सबसे बड़ा राष्ट्रीय पर्व जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है इसी दिन सन 1950 को भारत सरकार अधिनियम एक तो 1935 को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था एक स्वतंत्र राज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान को 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया और 26 जनवरी 1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया था 26 जनवरी को इसलिए चुना गया था क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस आईएनसी ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था या भारत के 3 राष्ट्रीय पर्वों में से एक है अन्य दो स्वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती के रूप में मनाई जाती है इस वर्ष 2021 में हम 72 हुआ गणतंत्र दिवस मना रहे हैं गणतंत्र दिवस की पूरे देश को ढेर सारी शुभकामनाएं और अपने पूरे बोलकर परिवार को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत बधाई हो जय हिंद जय भारत

#टेक्नोलॉजी

Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:31
दोस्तों आपका सवाल है भारत में सबसे सुपर फास्ट ट्रेन चलने वाली का नाम बताइए जो सबसे सुपर फास्ट ट्रेन चलने वाली ट्रेन का नाम है गतिमान एक्सप्रेस भारत में सबसे तेज गति से चलने वाली रेलगाड़ी में से एक है जो कि दिल्ली से झांसी के बीच चलती है यह 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गति से चलती है और फिलहाल में भारत से सबसे तेज रेलगाड़ी वर्तमान में चल रही है

#पढ़ाई लिखाई

Abdul_Ahad  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abdul_Ahad जी का जवाब
Unknown
0:44
आकाश आवाज नहीं कहां के लोग सांप को अपनी बीन की धुन पर बचाते हैं तो हमारा भारत के अंदर जैसे सपेरे मौजूद हैं जो सांप पत्नी पिंकी उतरना चाहते हैं और असल में एक फैक्ट्री इसके लिए बोलता है कि सांप सुन नहीं सकता है वह से उसकी आंखों से उसकी तरंगों से महसूस करता है सुनता है तो यहां पर जब कोई चीज उसके सामने घुमाई जाती है तब वह सांप उसके साथ साथ में घूमने लगता है ना कि वो धुन सुन के नाचने लगता है तो आपको जवाब मिल गया होगा उम्मीद शुक्रिया

#पढ़ाई लिखाई

Manju Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Manju जी का जवाब
Unknown
1:21
इंग्लिश में हेलो कहने का स्मार्ट तरीका क्या है तो देखिए एक तो हेलो तभी कहा जाता है जब हम किसी से मिलते हैं अक्सर हम फोन जब उठाते हैं तो पहले हेलो ही कहते हैं तो यह तरीके से ग्रीट करना हुआ जिसे हम बात करना चाहते हैं तो अलग अलग तरीके हैं ग्रेट करने के 12 फॉर्मल में होता है मतलब अच्छे तरीके से अगर आप किसी को ग्रीट करना चाहते हैं जैसे कि हम हिंदी में नमस्कार कहते हैं वैसे ही अगर अंग्रेजी में हेलो के बजे आप कुछ और कहना चाहते हैं तो अगर आप सुबह किसी से मिल रहे हैं और उन्हें ग्रीट करना चाहते तो गुड मॉर्निंग सिगरेट कर सकते हैं अगर दोपहर को मिल रहे हैं तो कह सकते गुड आफ्टरनून और अगर रात को मिल रहे हैं शाम के वक्त को मिल रहे हैं तो गुड इवनिंग कह सकते हैं तो यह अच्छी तरीके से अपग्रेड करना हो गया और इसके अलावा अगर आप किसी हमउम्र व्यक्ति से मिल रहे हैं आपके दोस्त से मिल रहे हैं तो हेलो की वजह आप हाय कैसे हैं या फिर हाय डूड कह सकते हैं या आए हे ब्रो कह सकते हैं यह एक कैजुअल तरीका है और एक फनी तरीका भी होश कह सकते हैं दोस्तों से बात करने का बात किसी बात करने का तो इस तरह से आप साबित करके बात शुरू कर सकते हैं ऐसा करती हो आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा

#पढ़ाई लिखाई

Shiraj khan Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shiraj जी का जवाब
Asst.professor
0:47
जैसे कि आपका प्रश्न इंग्लिश में किसी की तारीफ कैसे करें और देखिए अगर आपको किसी का लुक काफी मनमोहक लग रहा है तो आप अट्रैक्टिव शब्द का इस्तेमाल कर उसकी तारीफ कर सकते हैं उसके अलावा आप स्थानीय नीति और बेहद सुंदर अगर किसी की खूबसूरती आपके होश उड़ा दे दो आप उसके लिए राजस्थानी शब्द का इस्तेमाल कर सकते हैं और उसके बाद डिवाइड बहुत सुंदर इस शब्द का प्रयोग किस सर यह सुंदरता को बढ़ाने के लिए किया जाता है इस शब्द का इस्तेमाल किसी के लिए के गाने पर ऐसा माना जाता है कि उसमें कुछ दिव्या और अलौकिक है प्रकृति की सुंदरता के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है

#टेक्नोलॉजी

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:59
सवाल किए और इन दोनों का उपयोग कहां और कैसे किया जाता है ए और एन का प्रयोग सिंगुलर काउंटेबल नाउन के पहले होता है यदि उठना उनसे किसी अनिश्चित व्यक्ति जानवर या वस्तु का बोध होता है जैसे ही इसे डॉक्टर यदि ना उनसे पहले एडजेक्टिव एडजेक्टिव प्लस नेटवर्क भूत ए एन का प्रयोग अपने सबसे निकट आने वाले शब्द के अनुसार को जैसे ही इस एंड इंटेलिजेंस फॉर ए एन का प्रयोग शब्द के उच्चारण पर निर्भर करता है जिससे पहले उनका प्रयोग होता है ना कि उस शब्द की स्पेलिंग पर या दिवस पर ध्वनि भवरसा उन से प्रारंभ होता है तो एंड कपड़े वह है यदि शब्द व्यंजन ध्वनि कॉन्सोनेंट साउंड से प्रारंभ होता है तो एक का प्रयोग किया जाता है जैसे ही एंड ऑनेस्ट मैन की स्पाइडर मैन पूरी जाति का बोध करने के लिए सिंगल अकाउंट टेबल नाउन के पहले ए एन का प्रयोग किया जाता है
    URL copied to clipboard