#भारत की राजनीति

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:31
आज आपके सवाल है कि मोदी सरकार द्वारा मंजूर की गई कोरोनावायरस वैक्सीन पर इतने सवाल क्यों उठा रहे हैं तो मैंने पहले भी बताया कि कोई भी व्यक्ति ने इतनी जल्दी नहीं बनती है और इस साल के अंदर ऐसा नहीं कि हां यही सामग्री हमले और बना रही है उसके प्राइस भी बहुत सारे होते ट्रांस में भी देखना पड़ता जब करना पड़ता है क्या रिजल्ट आया क्योंकि वह सब रिजल्ट दो-चार दिन में आपको देखने के लिए नहीं मिलता महीना महीना लग जाता है तो इस वजह से ही हम लोग मतलब सोच रही थी वैसे वैसे हर एक इंसान चाहता भी है कि उसे व्यक्ति मिले जल्दी से जल्दी सब कुछ ठीक हो जाए लेकिन थोड़ा थोड़ा अपने मतलब के लिए इंसान सोच रहा है कि वैक्सीन इफेक्टिव के साथ-साथ आसिफ और सुरक्षित भी है या नहीं है जिस वजह से इतने सवाल उठ रहे हैं कि पता नहीं हम लगाएंगे तो सही होगा या नहीं या फिर एजुकेटेगर्ल्स किया गया है कि पहले यह इंसान लगाएगा फिर वह इंसान लगाएगा ऐसा क्यों किया जा रहा है यह सब चीजों की वजह से कुछ सवाल उठ रहे हैं इन लोगों को इतना कुछ पता नहीं है जानकारी या नहीं है कि सही है या क्या है नहीं है कब ट्रायल शुरू होंगे कब किसको लगेगा पता नहीं है इससे क्या होगा जिस वजह से लोगों के मन में बहुत सारे सवाल मतलब आ रहे हैं जिससे लोगों को लग रहा है कि कुछ नुकसान तो नहीं हो जाएगा बहुत सारे मैंने डॉक्टर के बीच और वीडियोस वगैरा मैंने देखा है उन्होंने भी यही कहा है कि नहीं है वैक्सीन का ऑफिस एक और सुरक्षित है और अगर जब यह लगेगा कुछ भी जो नॉर्मल से जो माइनर साइड इफेक्ट हो गई है कि सर दर्द थोड़ा होगा थोड़ा बहुत ठीक है आएगा वह भी बहुत कम दो इसमें अभी जितना भी पता चला कुछ नुकसान नहीं है तो मेरे हिसाब से 1 लोगों को अवेयर होना चाहिए किसी की बात सुनकर नहीं मतलब कि हां अपने-अपने सोचने लगे वह इंसान मुझे यह बोला है कि खराब है तो खराब आप जा कर देखिए आप हर जगह से नॉलेज हर जगह से इंफॉर्मेशन निधिवन हम लोग भी गलत होता हमें भी कमेंट करके बताइए हमें भी ऐसे कुछ आंसर दीजिए जहां से जिस जगह से आपको पता चले कि अगर अच्छा है या फिर खराब है तो जितना पबेर रहेंगे जितना आप हर जगह से नॉलेज कलेक्ट करेंगे आप लोगों के मतलब बात सुनेंगे आप आसपास के लोगों के लिए जो भी डॉक्टर के लोगों साइंटिस्ट के लोगों के बाद सुनेंगे तो आपको पता चलेगा कि अच्छा है या फिर बुरा है तब जाकर आप डिसाइड कि जैसे किसी इंसान की बात सुनेंगे तो आपको डर ही लगेगा तो मेरे साथ ही सब कारण इस वजह से इतना मतलब सवाल उठाए सरक्षण को लेकर
Aaj aapake savaal hai ki modee sarakaar dvaara manjoor kee gaee koronaavaayaras vaikseen par itane savaal kyon utha rahe hain to mainne pahale bhee bataaya ki koee bhee vyakti ne itanee jaldee nahin banatee hai aur is saal ke andar aisa nahin ki haan yahee saamagree hamale aur bana rahee hai usake prais bhee bahut saare hote traans mein bhee dekhana padata jab karana padata hai kya rijalt aaya kyonki vah sab rijalt do-chaar din mein aapako dekhane ke lie nahin milata maheena maheena lag jaata hai to is vajah se hee ham log matalab soch rahee thee vaise vaise har ek insaan chaahata bhee hai ki use vyakti mile jaldee se jaldee sab kuchh theek ho jae lekin thoda thoda apane matalab ke lie insaan soch raha hai ki vaikseen iphektiv ke saath-saath aasiph aur surakshit bhee hai ya nahin hai jis vajah se itane savaal uth rahe hain ki pata nahin ham lagaenge to sahee hoga ya nahin ya phir ejuketegarls kiya gaya hai ki pahale yah insaan lagaega phir vah insaan lagaega aisa kyon kiya ja raha hai yah sab cheejon kee vajah se kuchh savaal uth rahe hain in logon ko itana kuchh pata nahin hai jaanakaaree ya nahin hai ki sahee hai ya kya hai nahin hai kab traayal shuroo honge kab kisako lagega pata nahin hai isase kya hoga jis vajah se logon ke man mein bahut saare savaal matalab aa rahe hain jisase logon ko lag raha hai ki kuchh nukasaan to nahin ho jaega bahut saare mainne doktar ke beech aur veediyos vagaira mainne dekha hai unhonne bhee yahee kaha hai ki nahin hai vaikseen ka ophis ek aur surakshit hai aur agar jab yah lagega kuchh bhee jo normal se jo mainar said iphekt ho gaee hai ki sar dard thoda hoga thoda bahut theek hai aaega vah bhee bahut kam do isamen abhee jitana bhee pata chala kuchh nukasaan nahin hai to mere hisaab se 1 logon ko aveyar hona chaahie kisee kee baat sunakar nahin matalab ki haan apane-apane sochane lage vah insaan mujhe yah bola hai ki kharaab hai to kharaab aap ja kar dekhie aap har jagah se nolej har jagah se imphormeshan nidhivan ham log bhee galat hota hamen bhee kament karake bataie hamen bhee aise kuchh aansar deejie jahaan se jis jagah se aapako pata chale ki agar achchha hai ya phir kharaab hai to jitana paber rahenge jitana aap har jagah se nolej kalekt karenge aap logon ke matalab baat sunenge aap aasapaas ke logon ke lie jo bhee doktar ke logon saintist ke logon ke baad sunenge to aapako pata chalega ki achchha hai ya phir bura hai tab jaakar aap disaid ki jaise kisee insaan kee baat sunenge to aapako dar hee lagega to mere saath hee sab kaaran is vajah se itana matalab savaal uthae sarakshan ko lekar

और जवाब सुनें

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:32
तो सवाल क्या क्या मोदी सरकार द्वारा मंजूर की गई कोरोनावायरस वैक्सीन पर इतने सवाल क्यों हट रहे हैं दोस्तों आज बिलाल में हमने देखा था कोरोनावायरस और पर हमने पूरे वर्ल्ड के अंदर दिखा भारत और पूरा अमेरिका और चाइना और उस दिन तो नहीं थी परंतु तेरी बात की जाए कि डूबते को तिनके का सहारा भी करती है यही है कि हमने वैक्सीन का नाम तो लिया परंतु क्या वह बेकार नहीं होगी कोई जो है चलना शुरू हो गई और उसमें जो है दीपक तो मोदी सरकार को टारगेट करना है सरकार या जो व्यक्ति बनाने वाली कंपनी है उनकी तरफ से अपने को पर अडिग में रहना चाहिए और यह देखना चाहिए क्योंकि हमें ऐसा लग रहा है कि हमें कुछ दिन का मिल रहा है क्या पता उस दिन के सारे हम ठीक हो जाए
To savaal kya kya modee sarakaar dvaara manjoor kee gaee koronaavaayaras vaikseen par itane savaal kyon hat rahe hain doston aaj bilaal mein hamane dekha tha koronaavaayaras aur par hamane poore varld ke andar dikha bhaarat aur poora amerika aur chaina aur us din to nahin thee parantu teree baat kee jae ki doobate ko tinake ka sahaara bhee karatee hai yahee hai ki hamane vaikseen ka naam to liya parantu kya vah bekaar nahin hogee koee jo hai chalana shuroo ho gaee aur usamen jo hai deepak to modee sarakaar ko taaraget karana hai sarakaar ya jo vyakti banaane vaalee kampanee hai unakee taraph se apane ko par adig mein rahana chaahie aur yah dekhana chaahie kyonki hamen aisa lag raha hai ki hamen kuchh din ka mil raha hai kya pata us din ke saare ham theek ho jae

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:32
मोदी सरकार द्वारा मंजूर की गई कोरोनावायरस वैक्सीन पर सवाल इसलिए उठ रहे हैं क्योंकि वैक्सीन पर भी दोस्तों राजनीति हो रही है राजनीति इस वजह से हो रही है कि इन लोगों की वैक्सीन सही नहीं बनी है कुछ लोगों का दावा यह है पर दोस्तों असल बात क्या है वह अभी तक सामने नहीं आई है इसीलिए अभी जांच चल रही है और धीरे-धीरे काम स्पेस चल रहा है और जल्दी से हमें व्यक्ति लगना शुरू भी हो जाएंगी तो दोस्तों अगर आपको जवाब सही लगा हो तो लाइक के बटन को दबा दीजिएगा धन्यवाद
Modee sarakaar dvaara manjoor kee gaee koronaavaayaras vaikseen par savaal isalie uth rahe hain kyonki vaikseen par bhee doston raajaneeti ho rahee hai raajaneeti is vajah se ho rahee hai ki in logon kee vaikseen sahee nahin banee hai kuchh logon ka daava yah hai par doston asal baat kya hai vah abhee tak saamane nahin aaee hai iseelie abhee jaanch chal rahee hai aur dheere-dheere kaam spes chal raha hai aur jaldee se hamen vyakti lagana shuroo bhee ho jaengee to doston agar aapako javaab sahee laga ho to laik ke batan ko daba deejiega dhanyavaad

Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
0:54
नमस्कार श्रोताओं तो मोदी सरकार ने दो वैक्सीन रूप की है एक है ऑक्सफर्ड की और एक है भारत बायोटेक की हॉस्पिटल जाने का जो वैक्सीन है उसमें तो कोई विवाद नहीं है उसके से ट्रायल हो गए हैं सारे राज हो चुके हैं सब अच्छा रिजल्ट आया है एफिशिएंसी भी सही है तो उसमें कोई दिक्कत नहीं लेकिन दूसरी अब भारत बायोटेक की वैक्सीन जो है उस पर दिक्कत है आ रही हूं उसमें एक सवाल उठ रहे हैं कि अभी इसका आखिरी टाइम पर चल रहा है इसका अभी ट्राई चल रहा है उसका कोड डाटा भी शेयर नहीं किया गया की कितनी पर्सेंट है और इसके क्या साइड इफेक्ट चाहिए क्या होगा कोई डांट शेरनी किया गया है पता भी इसको अप्रूव कर दिया गया है इमरजेंसी उसके लिए तो उस पर सवाल उठ रहे हैं कि अभी तक इसका ट्रायल खत्म नहीं हो कम से कम इसका डाटा जान देते देख लेते इसके क्या साइड इफेक्ट्स अब इसको ऊपर तो यही एक मुद्दा है जो भारत पर एक वैक्सीन पर उठना है धन्यवाद
Namaskaar shrotaon to modee sarakaar ne do vaikseen roop kee hai ek hai oksaphard kee aur ek hai bhaarat baayotek kee hospital jaane ka jo vaikseen hai usamen to koee vivaad nahin hai usake se traayal ho gae hain saare raaj ho chuke hain sab achchha rijalt aaya hai ephishiensee bhee sahee hai to usamen koee dikkat nahin lekin doosaree ab bhaarat baayotek kee vaikseen jo hai us par dikkat hai aa rahee hoon usamen ek savaal uth rahe hain ki abhee isaka aakhiree taim par chal raha hai isaka abhee traee chal raha hai usaka kod daata bhee sheyar nahin kiya gaya kee kitanee parsent hai aur isake kya said iphekt chaahie kya hoga koee daant sheranee kiya gaya hai pata bhee isako aproov kar diya gaya hai imarajensee usake lie to us par savaal uth rahe hain ki abhee tak isaka traayal khatm nahin ho kam se kam isaka daata jaan dete dekh lete isake kya said iphekts ab isako oopar to yahee ek mudda hai jo bhaarat par ek vaikseen par uthana hai dhanyavaad

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:45
देखिए यह वही लोग सवाल उठा रहे हैं जो आपने कुछ दिन पहले देखा होगा सवाल उठा रहे थे कि कोरोना वैक्सीन जब विदेशों में आ गए हमारे यहां क्यों नहीं आ रही है क्या हमारे यहां इसके काम नहीं हो रहा है क्या परेशानी आ रही है उन्होंने चालू कर दी वजह बन गई है अब जब चालू होने वाले ट्रायल तभी तो कह रहे हैं कि अरे यह क्या बना दिया है हम इसे नहीं लाएंगे इसका पहले ही होना चाहिए इसका पहले वह होना चाहिए इतना समय क्यों लगा था अब समय नहीं लगाया उन्होंने निकाल दिया तो थे कि क्या है ना कोई भी व्यक्ति होगा मेरा भी कोई जरिया होगा तो मैं उसका विरोध करूंगा करूंगा परंतु इस चीज में विरोध करना थोड़ा गलत कि क्योंकि यह एक ऐसा इशू है फॉर सेंसिटिव ईश्वर कितने लोग अपनी जान गवां चुके हैं कितने लोग रोजगार खो बैठे हैं तो इसको तो जल्दी से जल्दी करना चाहिए
Dekhie yah vahee log savaal utha rahe hain jo aapane kuchh din pahale dekha hoga savaal utha rahe the ki korona vaikseen jab videshon mein aa gae hamaare yahaan kyon nahin aa rahee hai kya hamaare yahaan isake kaam nahin ho raha hai kya pareshaanee aa rahee hai unhonne chaaloo kar dee vajah ban gaee hai ab jab chaaloo hone vaale traayal tabhee to kah rahe hain ki are yah kya bana diya hai ham ise nahin laenge isaka pahale hee hona chaahie isaka pahale vah hona chaahie itana samay kyon laga tha ab samay nahin lagaaya unhonne nikaal diya to the ki kya hai na koee bhee vyakti hoga mera bhee koee jariya hoga to main usaka virodh karoonga karoonga parantu is cheej mein virodh karana thoda galat ki kyonki yah ek aisa ishoo hai phor sensitiv eeshvar kitane log apanee jaan gavaan chuke hain kitane log rojagaar kho baithe hain to isako to jaldee se jaldee karana chaahie

RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
0:54
उसने बजे कि मुझे सर का तारा मंजूर की गई कोरोनावायरस इन पर इतने सवाल क्यों टाइम देखिए सवाल क्यों उठ रहे हैं यह आजकल जो सोशल मीडिया है एक तो न्यूज़ चैनल का टीवी देखते हैं और एक न्यूज चैनल को यूट्यूब धोनी चालू हो गए इस समय सच्चाई क्या है यह तो किसी को मालूम नहीं अगर बागी बन गए तो फिर उसको बदनाम करें कोशिश भी की जाती आने कंपनी में द्वारा किस को बदनाम करो ताकि कोई लगवाना फिर हमारी कंपनी के पैसे निकाल लेंगे फिर वह लोग उसको रोक लगवा आएंगे पैसा कमाने के लिए तो पैसे के का सफल बिजनेसमैन अपना में रोटी सेक रहे हैं और निजी सरकार ने गब्बर सिंह लाई है तो हमें लगाना चाहिए हमें उस पर सवाल नहीं उठाना चाहिए हम बहुत स्टेट से हो गई वर्जिन आती है बहुत तगड़ी मार कर के हमारे देश के डॉक्टरों ने इस बच्ची को निकाला है
Usane baje ki mujhe sar ka taara manjoor kee gaee koronaavaayaras in par itane savaal kyon taim dekhie savaal kyon uth rahe hain yah aajakal jo soshal meediya hai ek to nyooz chainal ka teevee dekhate hain aur ek nyooj chainal ko yootyoob dhonee chaaloo ho gae is samay sachchaee kya hai yah to kisee ko maaloom nahin agar baagee ban gae to phir usako badanaam karen koshish bhee kee jaatee aane kampanee mein dvaara kis ko badanaam karo taaki koee lagavaana phir hamaaree kampanee ke paise nikaal lenge phir vah log usako rok lagava aaenge paisa kamaane ke lie to paise ke ka saphal bijanesamain apana mein rotee sek rahe hain aur nijee sarakaar ne gabbar sinh laee hai to hamen lagaana chaahie hamen us par savaal nahin uthaana chaahie ham bahut stet se ho gaee varjin aatee hai bahut tagadee maar kar ke hamaare desh ke doktaron ne is bachchee ko nikaala hai

Siya Ram Dubey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Siya जी का जवाब
Youtuber, life coach, spiritual thinker, motivational speaker, social media influencer
1:14
नमस्कार आपका प्रश्न है कि मोदी सरकार द्वारा मंजूर की गई कोरोनावायरस वैक्सीन पर इतने सवाल क्यों उठ रहे हैं देखिए यदि आप खुद भी आगे बढ़ना चालू कर देंगे जब सारे कठिनाइयों को दरकिनार करते हुए अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर होंगे तो आपको चोर लोग मिल जाएंगे आपके पैर खींचने वाले लेकिन आपको उसे घबराने की आवश्यकता नहीं है लोगों का काम है और या बहुत पुरानी बात है कि जब भी कोई आगे बढ़ता है जब भी कोई सफलता प्राप्त करता है तो उसे उनके विपक्षी टांग खींचने में लग जाते हैं और यही कारण है अब इन लोगों को यह बर्दाश्त नहीं हो रहा है जो भी विपक्षी लोग हैं आखिर मोदी ने ऐसा भारतवासी कैसे कर लिया क्यों नहीं करेंगे भाई जो व्यक्ति देश के लिए 24 घंटा में 18 घंटा काम करता है देश के लिए जीता है देश के लिए सोचता है वह तो सफलता प्राप्त करेगा ही और जलने वाले जलेंगे धन्यवाद आपके इस प्रश्न के लिए
Namaskaar aapaka prashn hai ki modee sarakaar dvaara manjoor kee gaee koronaavaayaras vaikseen par itane savaal kyon uth rahe hain dekhie yadi aap khud bhee aage badhana chaaloo kar denge jab saare kathinaiyon ko darakinaar karate hue apane lakshy kee or agrasar honge to aapako chor log mil jaenge aapake pair kheenchane vaale lekin aapako use ghabaraane kee aavashyakata nahin hai logon ka kaam hai aur ya bahut puraanee baat hai ki jab bhee koee aage badhata hai jab bhee koee saphalata praapt karata hai to use unake vipakshee taang kheenchane mein lag jaate hain aur yahee kaaran hai ab in logon ko yah bardaasht nahin ho raha hai jo bhee vipakshee log hain aakhir modee ne aisa bhaaratavaasee kaise kar liya kyon nahin karenge bhaee jo vyakti desh ke lie 24 ghanta mein 18 ghanta kaam karata hai desh ke lie jeeta hai desh ke lie sochata hai vah to saphalata praapt karega hee aur jalane vaale jalenge dhanyavaad aapake is prashn ke lie

jitendra ojha Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए jitendra जी का जवाब
Student
0:08

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
3:25
भारत भारत की जो व्यवस्थाएं हैं वह बड़ी अजीब है क्योंकि भारत में हर व्यक्ति की सुनता तो दी गई है हमारे संविधान द्वारा समानता की शुद्धता दी गई है हमारे मौलिक अधिकारों के अनुसार लेकिन मेरे विचार से शायद भारत में अभिव्यक्ति की क्षमता देना बहुत बड़ा गुनाह है क्योंकि हम लोगों के जो आचरण हैं भारतीयों की आदत आचरण है वह इतने स्वार्थ खुदगर्जी लालची लालची भरे हुए हैं कि हमें देश प्रेम नहीं है हमारी देशभक्ति बिल्कुल लुप्त होती जा रही है हमें तो सिर्फ एकमात्र सत्ता से इतना लगाव हो गया है कि हर पॉलिटिकल पार्टी को दीजिए आप वह किसी भी बात के लिए चाय सरकार जन कल्याण के कार्य कर रही है चैट सरकार जनहित के कार्य कर रही है सरकार अपने देश के बनाने के लिए कार्य कर रही है क्या देश बचाव के कार्य कर रही है लेकिन विपक्ष का विरोध करना है किसी भी हालात तक किसी भी स्तर तक नीचे गिर कर के विरोध करना है इसी स्थिति नहीं आज कोरोनावायरस की वैक्सीन है क्योंकि कौन आप सोचो उनके विश्व के जो देश आज भी कोरोनावायरस वायरस की एकदम सुध वैक्सीन बनाने के लिए जूझ रहे हो संघर्ष कर रहे हो अमरीका इटली जैसे संपन्न देश देश जूझ रहे हो इंग्लैंड जैसे संपन्न देश भी समझ रहे हो उस स्थिति में यदि भारत एक सुंदर वैक्सीन बना लेता है इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है उसका भी विपक्ष वाले विरोध कर रहे हैं सिर्फ इसलिए किस्मत बीजेपी का ब्रांड लग गए हैं जबकि सच्चाई यह है कि देशवासियों के बीजेपी कांग्रेस सब एक थैली के चट्टे बट्टे हैं क्योंकि देशवासी अच्छी तरह जानते हैं कि कि कि भारत की खुदगर्जी की लड़ाई है इनकी सत्ता की लड़ाई है इनकी देशवासियों को तो बचाव चाहिए इस कोरोनावायरस वैक्सीन इस बात को वैज्ञानिक करें इस बात को डॉक्टर कह रहे हैं इस बात को यह भी कह रहे हैं कि वह विदेशों की इतनी डिमांड इस वैक्सीन के लिए हो रही है इसका मतलब यह वैक्सीन हमारी अच्छी मैक्सीने साइड इफेक्ट नहीं है इसके आप सोचो पाकिस्तान जैसा जो दुश्मन देश है वह भी इस वैक्सीन को लेने का इच्छुक है इसका मतलब हमारी वैक्सीन उत्तम है इन विपक्ष के चिल्लाने से जनता को ध्यान नहीं देना चाहिए प्रकृति ने भारत में गांड सपोर्टर ज्यादा है इसलिए मेरे विचार से हमको देशभक्ति दी थोड़ी बहुत भी है तो हमें इन पक्ष विपक्ष पर ध्यान नहीं देना चाहिए ना कांग्रेस बीजेपी सपा बसपा इन पर ध्यान देना चाहिए हमको तो वैक्सीन का प्रयोग करना चाहिए क्योंकि हमारे बचाव के लिए है और इसी में हमारा देश से थे इसी में हमारी राष्ट्रभक्ति है हमको फालतू की बातों में नहीं पड़ना चाहिए कि फलाना विरोध कर रहा है या फलाना इसका समर्थन कर रहा है कि कल पार्टी वाले हैं इनके लिए सत्ता ही माई वहां पर है इसी के लिए यह दौड़ दौड़ करते रहते हैं इसीलिए समर्थन विरोध करते हैं इनकी कोई चर्चा नहीं होती है
Bhaarat bhaarat kee jo vyavasthaen hain vah badee ajeeb hai kyonki bhaarat mein har vyakti kee sunata to dee gaee hai hamaare sanvidhaan dvaara samaanata kee shuddhata dee gaee hai hamaare maulik adhikaaron ke anusaar lekin mere vichaar se shaayad bhaarat mein abhivyakti kee kshamata dena bahut bada gunaah hai kyonki ham logon ke jo aacharan hain bhaarateeyon kee aadat aacharan hai vah itane svaarth khudagarjee laalachee laalachee bhare hue hain ki hamen desh prem nahin hai hamaaree deshabhakti bilkul lupt hotee ja rahee hai hamen to sirph ekamaatr satta se itana lagaav ho gaya hai ki har politikal paartee ko deejie aap vah kisee bhee baat ke lie chaay sarakaar jan kalyaan ke kaary kar rahee hai chait sarakaar janahit ke kaary kar rahee hai sarakaar apane desh ke banaane ke lie kaary kar rahee hai kya desh bachaav ke kaary kar rahee hai lekin vipaksh ka virodh karana hai kisee bhee haalaat tak kisee bhee star tak neeche gir kar ke virodh karana hai isee sthiti nahin aaj koronaavaayaras kee vaikseen hai kyonki kaun aap socho unake vishv ke jo desh aaj bhee koronaavaayaras vaayaras kee ekadam sudh vaikseen banaane ke lie joojh rahe ho sangharsh kar rahe ho amareeka italee jaise sampann desh desh joojh rahe ho inglaind jaise sampann desh bhee samajh rahe ho us sthiti mein yadi bhaarat ek sundar vaikseen bana leta hai isake koee said iphekt nahin hai usaka bhee vipaksh vaale virodh kar rahe hain sirph isalie kismat beejepee ka braand lag gae hain jabaki sachchaee yah hai ki deshavaasiyon ke beejepee kaangres sab ek thailee ke chatte batte hain kyonki deshavaasee achchhee tarah jaanate hain ki ki ki bhaarat kee khudagarjee kee ladaee hai inakee satta kee ladaee hai inakee deshavaasiyon ko to bachaav chaahie is koronaavaayaras vaikseen is baat ko vaigyaanik karen is baat ko doktar kah rahe hain is baat ko yah bhee kah rahe hain ki vah videshon kee itanee dimaand is vaikseen ke lie ho rahee hai isaka matalab yah vaikseen hamaaree achchhee maikseene said iphekt nahin hai isake aap socho paakistaan jaisa jo dushman desh hai vah bhee is vaikseen ko lene ka ichchhuk hai isaka matalab hamaaree vaikseen uttam hai in vipaksh ke chillaane se janata ko dhyaan nahin dena chaahie prakrti ne bhaarat mein gaand saportar jyaada hai isalie mere vichaar se hamako deshabhakti dee thodee bahut bhee hai to hamen in paksh vipaksh par dhyaan nahin dena chaahie na kaangres beejepee sapa basapa in par dhyaan dena chaahie hamako to vaikseen ka prayog karana chaahie kyonki hamaare bachaav ke lie hai aur isee mein hamaara desh se the isee mein hamaaree raashtrabhakti hai hamako phaalatoo kee baaton mein nahin padana chaahie ki phalaana virodh kar raha hai ya phalaana isaka samarthan kar raha hai ki kal paartee vaale hain inake lie satta hee maee vahaan par hai isee ke lie yah daud daud karate rahate hain iseelie samarthan virodh karate hain inakee koee charcha nahin hotee hai

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:54
जब मोदी सरकार देश के लिए कोई अनाप-शनाप कानून बना रही है या ना करना देश के लिए काम कर रही है तो मोदी सरकार के कोरोनावायरस इन पर कैसे कोई विश्वास करेगा सभी सरकारी उद्यमों को देखो बेच रही है निजी कंपनियों को दे रही है निजी हाथों में दे रही है तो बताइए सरकार पर कैसे भरोसा किया जाए सरकार जब उटपटांग काम करेंगी तो आप कोई भी इंसान उस पर भरोसा नहीं करेगा अगर इसी में से हम ना हमारे बीच में से ही कोई इंसान अगर गलत काम करता हूं हमेशा तो उस पर कौन विश्वास करेगा वैसे ही सरकार क्यों नहीं बात है सरकार अगर गलत काम गलत पर गलत काम करते जा रही है तो उस पर कोई विश्वास नहीं करेगा यही नतीजा है यही इसका नतीजा है कि इलेक्ट्रॉनिक्स इन पर विश्वास नहीं कर पा रहे हैं
Jab modee sarakaar desh ke lie koee anaap-shanaap kaanoon bana rahee hai ya na karana desh ke lie kaam kar rahee hai to modee sarakaar ke koronaavaayaras in par kaise koee vishvaas karega sabhee sarakaaree udyamon ko dekho bech rahee hai nijee kampaniyon ko de rahee hai nijee haathon mein de rahee hai to bataie sarakaar par kaise bharosa kiya jae sarakaar jab utapataang kaam karengee to aap koee bhee insaan us par bharosa nahin karega agar isee mein se ham na hamaare beech mein se hee koee insaan agar galat kaam karata hoon hamesha to us par kaun vishvaas karega vaise hee sarakaar kyon nahin baat hai sarakaar agar galat kaam galat par galat kaam karate ja rahee hai to us par koee vishvaas nahin karega yahee nateeja hai yahee isaka nateeja hai ki ilektroniks in par vishvaas nahin kar pa rahe hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • वैक्सीन पर इतने सवाल क्यों उठ रहे हैं कोरोनावायरस वैक्सीन पर सवाल
URL copied to clipboard