#खेल कूद

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:54
हेलो जी बात तो आज आप का सवाल है कि हमारे देश में अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य उनके क्षेत्र में बनाने से क्या है कि जाते हैं तो देखिए क्या होता है कि जॉब हो या फिर कैरियर हो या फिर भविष्य को लेकर वह लोग ज्यादातर यह सोचते हैं कि जिस चीज में आसानी हूं जल्दी से पैसा कमाया जा सके इतना कुछ खर्च भी ना हो और सबसे अच्छा भी वह लोग तारीफ भी करें इतना मतलब जो चीज हम इतना आईडिया नहीं हो उस लाइन में जाना और सोचने के बारे में थोड़ा इसके बहुत सारे लोगों का शौक हो जा एक्टिंग में जाना स्पोर्ट्स में जाना लेकिन हम न्यूज़ वगैरह देखते हैं कि नहीं वहां पर ऐसा होता है वैसा होता है तो वह सारे लोग सरवाइव नहीं कर पाते हैं स्ट्रेस डिप्रेशन में चले जाते हैं बहुत सारे लोगों को वह भी नहीं मिल पाता है वहां पर जाकर बहुत मेहनत करना पड़ता है सालों साल लग जाता तब तक एक छोटा सा सिम मिलता है तू अगर कोई बच्चा फिर अपने पैरंट्स को आकर ऐसे समय पर बोलता है कि उसे एक्टिंग में जाना है तो किसी के भी पेरेंट्स से बात नहीं मानते क्योंकि वह सोचते हैं कि जब इतना कुछ होता है इतना प्रॉब्लम होता है तो वह कैसे सरवाइव कर पाएगा तो टेंशन लेते तो सोचते कि जॉब अगर नौकरी हो सर्टिफिकेट हो तो कोई भी इंसान बन जा कर आराम से एक सर्टिफिकेट दिखाना है जॉब करना है अच्छे खासे पैसे मिलेंगे यह ईजी प्रोसेस भी होता है ज्यादा कुछ प्रॉब्लम भी नहीं होता तो इसलिए ही लोग मतलब और करियर को लेकर इतना नहीं सोचते हैं या फिर नहीं जाने के बारे में सोचते हैं कि हर एक जगह पता नहीं कितना समय तक आपको स्ट्रगल करना पड़े कब तक करना पड़ेगा कब आपको मतलब मतलब अच्छी टीम में खिलाया जाएगा खिलाया जाएगा या फिर क्या से क्या हो रहा है इतना किसी को कुछ आईडिया नहीं होता जिस वजह से लोग जगह जाना और पेट में जाने में हिचकी चाहते हैं

और जवाब सुनें

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:39
कार आपका प्रश्न हमारे देश में अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य खेल के क्षेत्र में बनाने से क्यों हित चाहते हैं कि मैं आपकी बात से सहमत नहीं हूं क्यों क्योंकि मेरे खुद के घर में मेरे में मेरा खुद का भाई उसने भी अपना खेल के क्षेत्र में ही भविष्य बनाया है मैं कहूंगी बल्कि बना रहा है और मेरी बहन मेरे मेरी कसम है वह भी खेल के क्षेत्र में ही अपना भविष्य बना रही है तो मेरे घर में ऐसा नहीं है कि और जो है खेल के क्षेत्र में भविष्य बनाने से हिचकी चाहता है कोई बस बात यह है कि आपका इंटरेस्ट है वह होना चाहिए शुक्रिया

Bhupesh Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Bhupesh जी का जवाब
Entrepreneur , Blogger, Influencer
1:01
नमस्कार दोस्तों है गुर्जरों में आपका स्वागत है आपका अपना मित्र बेशुमार मैं आशा करता हूं आप सभी से कुछ लोगे और अपना और अपने परिवार का ख्याल रखेंगे जैसे कि आपको हमारे देश में अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य खेल के चित्र बनाने से आप सभी को बताएं कि किसी भी खेल में विजेता नहीं होते या तो अगर आप किसी टीम प्लेयर है तो आपकी टीम जीत सकती है अगर आप कोई सोनू खेल रहे हैं तब सोनू जी सकते हैं तो एक क्वांटिटी होती है या नहीं कुछ लोगों को यह उपलब्धि प्राप्त होती है जिसकी वजह से हमारे देश के बाप अपने बच्चों का भविष्य खेल के क्षेत्र में बनाने में ही चाहते हैं क्योंकि आपको पता ही हर क्षेत्र में कंपटीशन है और खेल तो एक कंपटीशन में ही बेसिस है इसकी जो सारी रैंकिंग आती है बस यही कारण है कि हर किसी को डर रहता है कि मेरा बच्चा आगे जाकर इस कंपटीशन को पेश कर पाएगा या नहीं कर पाएगा और बच पाएगा या नहीं जीत पाएगा

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:16
अरे देश में अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य खेल के क्षेत्र में बनाने से क्यों हित के साथ हैं दोस्तों का सवाल तो कभी प्रसिद्ध है परंतु को बता दो यदि शहरी क्षेत्र की बात की जाए भारत में तो हर मां बाप अपने बच्चों के भविष्य को लेकर के खेल के क्षेत्र उसके अंदर भी उनको भेजने की इच्छा जाहिर करता है परंतु ग्रामीण इस जगह को यदि आप किस चीज के अंदर देखते हैं तो उसके पीछे का कारण यह है कि वह चीज से डरे हुए होते हैं कि पता नहीं है खेल में आगे जा पाएगा या नहीं जा पाएगा या के पीछे रह जाएगा उनका मकसद होता है कि कल खेल में ना जा पाएगा यही कारण है कि फ्यूचर हमारे बच्चे का कैसा हो गया क्या साले उनको क्या किया जाता है खेल की तरफ भेज करके उनको पढ़ा लिखा करो सरकारी नौकरी लगभग भारत के अंदर 90% अभिभावक अपने बच्चों को खेल के क्षेत्र में भेजने के चुप रहते हैं

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:59
नमस्कार सोता हूं तू कई सारे ऐसे पेरेंट्स है जो नहीं चाहते कि उनका बच्चा खेल के क्षेत्र में आम ज्यादा टाइम स्पेंड करें क्योंकि जो खेल है वह थोड़ा रिस्की होता है जैसे अगर कोई बच्चा क्रिकेट खेलने जा रहा है और क्रिकेट में उसने काफी ज्यादा समय स्पेंड कि आप पढ़ाई में ज्यादा टेंशन नहीं किया तू बाई चांस ऐसा कुछ हो गया जिसमें वह क्रिकेट ना बन पाए ज्यादा अच्छा या रणजी ट्रॉफी पीना पहुंच पाया बहुत ऐसे लेवल पर उसकी इनकम बिना पैसे ही से क्रिकेट की तरफ से तो ऐसे में एक तो सकरकेट गया यानी जिस पर उसके पेरेंट्स भरोसा कर रहे थे वह भरोसा कर रहा था कि आगे जाकर इसमें फ्यूचर हो जाएगा मेरा निकल जाएगा समय क्रिकेट बचा और ना पढ़ाई बचे क्योंकि उसका सारा समय क्रिकेट खेलने में निकल गया तो काफी रिस्की होता है पढ़ाई की बात करें अगर कोई पड़ता है तो एक नौकरी नहीं तो नौकरी मिल जाएगी लेकिन कहीं ना कहीं नौकरी मिल जाएगी किसी भी करते हैं तो कंप्यूटिंग कर लिया इंजीनियरिंग कर ली कहीं ना कहीं आपकी नौकरी लग जाएगी काफी सारे ऑप्शन सोते हैं लेकिन अगर आपको खेल में जा रहे हैं किसी पॉलिटिकल खेल में जाने क्रिकेट फुटबॉल टेबल टेनिस तो आपके पास केवल एक ऑप्शन है कि आपको टेबल टेनिस खेलना पड़ेगा और अच्छा बनना पड़ेगा और बाई चांस अगर आपके बॉडी में कुछ ऐसा चीज हो गई जिस एक्सीडेंट हो गया या कुछ हो गया जैसे आफ टेबल टेनिस खेलने लेकिन आपके हाथ में कुछ हो गया बाय चांस एक्सीडेंट ली तो फिर आपका वह खेल खराब हो जाएगा तो मोटे तौर पर यह की काफी रिस्की होता है लेकिन जितना समझाता रेट क्या है उतना ही ज्यादा इसमें अगेन भी है आप आपको पैसे तो मिलते ही हम बहुत अच्छे वैल्यू में बहुत ज्यादा पैसे मिलते हैं आपको साथ प्रॉपर्टी मिलती आपको रिस्पेक्ट मिलती आपके पैरेंट्स को रिस्पेक्ट मिलती है तो इस रिस्की है लेकिन वह है धन्यवाद

Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:27
हमारे देश में अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य खेल के क्षेत्र में बनाने से क्यों हिचकी चाहते हैं खेल के क्षेत्र में भविष्य बनाना जैसे बहुत सारे डेवलप्ड सिटीज में आम बात है आप ऑस्ट्रेलिया ऑस्ट्रेलिया ने यूरोप में चाइना में अमेरिका यहां चाहिए गा तो मोस्ट ऑफ द बहुत सारे करो के अंदर में उन्होंने अपने बच्चों को किसी न किसी खेल से जुड़ा हुआ रखा है लेकिन मुझे बच्चे को अभी किस खेल से जुड़ा हुआ रखना है तो मैं रास्ता खो खेल का इंफ्रास्ट्रक्चर होना बहुत ज्यादा जरूरी है और ना ही इन्फ्राट्रक्चर ही नहीं उसमें और संधि हो 9 को ऑपरेट करने के लिए बहुत कम होती है और हमारे को पुलिस ने बहुत ज्यादा तो हर एक लड़का उसे सक्सेसफुल नहीं हुआ तो करेगा अपना करें और उसमें बनाएगा और धीरे-धीरे क्या हो जाएगा जो डिमांड है सांसारिक डिमांड हो उसको वह कर एजुकेशन पैसा कमाने के पीछे लग जाएगा तो आप आ रहे तो सब लोग करने देंगे लेकिन यह रियालिटी नहीं है इंडिया में अभी फिलहाल तो अभी क्योंकि इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी है और इनसे बहुत कम बना हुआ है और उस लेवल पर हमने इतना भी देना शुरू किया कि मैं 11 अपने स्टेट लेवल पर डिस्टिक लेवल पर खेलकर मेरा रोज पैसा निकाल पाऊं और मैं अपनी जिंदगी भी चलाता है और मेरा इसके ऊपर मत यह भी है कि एजुकेशन और सब को ले लेकिन खेल खेले हंड्रेड परसेंट खेल खेलना जरूरी कारण है कि खेलते एक पॉजिटिव भावना तैयार होती हमारे इधर एक विनिंग एटीट्यूट तैयार होता है जिसको स्पोर्ट्समैन एटीट्यूट बोलते हैं कि जिसके अंदर आप जिसके तो बहुत अच्छा जीत से नहीं कोट पेंट कभी दुखी नहीं होता है एक प्रतियोगिता हारने का दुख होता जाता है आदत में हार हार के नजर से नहीं देखता है वह जिंदगी में पोस्टमैन शिफ्ट डिवेलप होती है तो जिंदगी भर खेलते रहना चाहिए किस ने किस खेल से जुड़ा होना चाहिए उसका बहुत बड़ा फायदा है लेकिन खेल से जुड़े रहना बहुत ज्यादा आवश्यक है

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:58
हमारे देश में अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य खेल के क्षेत्र में वाराणसी हमारे देश की जनसंख्या बहुत बड़ी है आपसे मिलने के बाद पूरा के पूरा सत्ताधारी होने विदेशी कर्जा लेना मुझे कुछ काम करना और बाकी सब परेशान होता ना अपना और उस उस कार्य को जनता ने वापस करना जनता के पैसों से अब तक की सारी राजनीति चुनाव केंद्रित राजनीति और भटकाने वाला मीडिया तब तक गुड़गांव के हाथों में है यह सब देखकर किसी भी अभिभावक कोई गारंटी नहीं हो सकती हो सकती उसका बच्चा के भविष्य में फिल्में जाकर कूपन पाएगा तुमने तो हर बेटी के लिए आवश्यक है उसे उसमें से पैसा मिलने की गारंटी हो जैसे कुछ साल पहले सरकारी नौकरी में रिजर्वेशन हुआ करता करता था तो मेरा रिजर्वेशन में यह जो केटेगरी sc-st ज्यादा करके उम्मीद गारंटी थी कि हम अगर 27 वी या दसवीं तक उड़ी जाए हमें कम से कम सिपाही की नौकरी तो मिल सकती है तब उस वक्त की मां भी ऐसी कोई ऐसा कहती थी कि मैं ढूंढे विनय पांडे के काम करूंगी लेकिन मेरे बच्चों को पढ़ा होगी क्योंकि पढ़ने के बाद हम को नौकरी मिलने की गारंटी और नौकरी मिलने के बाद हमको पैसा मिलने के लिए एंटी अब वह गारंटी नहीं रही है तो दसवीं पास या ना पास हो जाता है तो अब यह की मां उनकी मां और बाप भी कहने लगी किसी कंपनी में जा और काम को लोग पैसा कमाना शुरू कर दे उसका कोई उपयोग नहीं तो ऐसे समझ परिवर्तन होते हैं आर्थिक परिवर्तन होते हैं खेल में बहुत सारे उपलब्धता और एसिडिटी से लेकिन सरकार गंभीरता से नहीं लेते हैं ओलंपिक में भारत की शर्मनाक हार होती है और वही दिखाता है कि इस देश की तरह संस्कृति का हल की हालत क्या है एक ही खेल क्रिकेट जैसा उसको इतना सब कुछ लिया है और मीडिया ने नहीं दिया उस सरकर मूवी कि लोग हैं अपनी असली समस्या क्रिकेट मैदान में विजय प्राप्त होता है तो अपने सारे दुख भूल जाते हैं और भारत के बीच ऐसा मनाते एक और चीज तपेश्वर उनको हाथ में लगी जैसे धर्मापुर की अफीम की गोली कैसे वर्गों के लिए जो पीड़ित शोषित श्रमिक किसान और महिला वर्ग अपने दुखों से दुकान के बारे में सोचने से रुक कर धर्मा और आत्मा और परमात्मा और पुनर्जन्म और आत्मा को मोक्ष दिव्या भगवान ईश्वर इसमें अपनी समस्याओं का समाधान करने लगे और आज भी ढूंढते तो एक हत्यार हुआ यार बहुत पुराना चल रहे क्रिकेट ने साफ कर दिया कि भारत में आया और उसका इस्तेमाल इस देश के सत्ताधारी ना करेंगे तो आज आश्चर्य लगेगा विश्व कप क्रिकेट और बाकी बाकी जो खेल है उनके बारे में बताया तक नहीं जाता इसको प्रसिद्धि जब तक नहीं दी जाती है बाकी के दिल्ली जट्ट केवल के प्रति वाला चली खिलाड़ी चाहिए उन्होंने क्रिकेट का नाम लेते ही है गाड़ी ली थी क्योंकि उनका खेल रहे हो उनको वह तो नहीं आ गया और वह तो जल्दी लीवर के फ्रेंड से पैसा हो रहा है

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:43
देखिए केवल एक ही वजह है कि जो इसकी जाने की कि उसमें ग्रुप जो होती है वह दिखाई नहीं देती क्योंकि विश्व स्तर पर जो लोग होते हैं जो देश होते हैं वह अपने हर खिलाड़ी को प्रसारित कर दी खिलाड़ी एकमात्र होता है जो अपना जो मेन टाइम है जल्दी का जवानी जिसे कहते हैं वह देता है देश के लिए अपने राज्य के लिए सबके लिए और उसके बाद जब गवर्नमेंट सपोर्ट नहीं करें कोई से सपोर्ट नहीं करेगा तो उसने मेंटेन जब कमाने का था वह तो अपना एक स्पोर्ट्स में दे दिया शुरू से लेकर अब तक का और फिर उसको जब छोड़ दिया जाता है तब दिक्कत होती है तो सेम कंडीशन होती है इसलिए सब लोग हिचकी चाहते हैं कि क्या अगर सक्सेसफुल नहीं हुए तो क्या हुआ

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:11
हमारे देश में अभिभावक अपने बच्चों को भाभी के खेल के चित्र बनाने से चूक जाते हैं सवाल है आपका बता दो कि यहां की सरकार अपने खेतों पर ध्यान नहीं देती तो यहां के लोग कैसे खेल में रुचि लेंगे और उसमें आगे बढ़ेंगे जो खेलने में रुचि लेता भी है खेलने में अच्छा भी है उस पर भी सरकार ने ध्यान देते यहां पर भाई भतीजावाद ज्यादा चलता है रिश्तेदारी ज्यादा चलती है यह खेल को अहमियत नहीं दिया जाता यहां क्यों पैसों को हमें दे जाता है भाई भतीजावाद को हरा दिया जाता है जो भी अच्छा खिलाड़ी रहता है वह बिचारा पीछे रह जाता है और किसी के पास हो तो बात करते या तो किसी भी खिलाड़ी का भाई भतीजा हो जिसके कारण वह आगे निकल जाता है और जब बढ़िया खिलाड़ी कुछ रह जाता है तो कौन सा विवाह के समय बच्चों को राय देना कि वह खेल में आकर निकले जब उनका वहां तक पहुंचना नामुमकिन है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#टेक्नोलॉजी

Mohit Kumar Chaniyal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Mohit जी का जवाब
Programmer , Ethical Hacker , Network Engineer
2:51

#टेक्नोलॉजी

Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:25

#टेक्नोलॉजी

Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:23

#पढ़ाई लिखाई

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:05

#पढ़ाई लिखाई

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
0:42

#टेक्नोलॉजी

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:13

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
डायनोसौर कब विलुप्त हुये?
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:32

#पढ़ाई लिखाई

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
1:42

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
जैव विविधता का अर्थ क्या है?
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:33

#धर्म और ज्योतिषी

Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
1:11

#भारत की राजनीति

Yogendra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogendra जी का जवाब
Mppsc preparation
2:01

#मनोरंजन

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:21

#पढ़ाई लिखाई

Vishal Tiger Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vishal जी का जवाब
कंप्यूटर वर्क/ नेटवर्क मार्केटिंग/लेखक
1:50

#टेक्नोलॉजी

Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:49

#टेक्नोलॉजी

srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:42

#जीवन शैली

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:54
मछला दोस्तों प्रार्थना की विवाहित दुखी जीवन को खुशहाल कैसे बनाएं तो दोस्तों यह देखने में प्रश्न तो बहुत ही छोटा लग रहा है लेकिन इसका उत्तर काफी लंबा हो सकता है यह उस व्यक्ति की वैवाहिक जीवन दुखी होने के कारणों से पता चल सकता है किस में क्या सुधार किया जाए क्योंकि कारण बहुत सारे हो सकते हैं जो है दुखी वैवाहिक जीवन के ज्यादातर देखा गया है कि वैवाहिक जीवन में दुख का कारण है कि आर्थिक तंगी भी होता है कई बार ऐसा होता है कि वैवाहिक जीवन में पति कुछ कमा नहीं रहता है वह मां बाप पर या पेंशन पर उनके आश्रित रहता है और या कोई नशा करता रहता है जिससे वैवाहिक जीवन काफी दुखी रहता है क्योंकि वह एक रिलैक्स जोन में चला जाता है कोई को काम धंधा बताओ व्यापार बताओ उसमें सारी वह खामियां ही निकालते रहो कार्य नहीं करता है दूसरा कारण यह हो सकता है कि ससुराल वालों का जाते मायके वालों का लड़की की तरफ से ज्यादा हस्तक्षेप भी हो ना अभी एक का कारण होता है आजकल छोटी-छोटी घटनाएं अगर आप 1 लोगों को बताते हैं वह 10 लोगों को जाते जाते हैं वह काफी बड़ी बन जाती है उसका जो कि सबसे ज्यादा जो है कारण यह मोबाइल आ गया है पल पल पर हर वादे खबर दी जाती है उसको बढ़ा चढ़ाकर बताया जाता है कि दुख का कारण जो है मायके वालों का हस्तक्षेप परिवार में वह भी एक दुख का कारण है कई बार तो ऐसा है त्यागी लड़की के माता-पिता हम इतने आ जाते हैं कहते हम लड़कियों खाली बिठा लेंगे लेकिन उसको वहां नहीं भेजेंगे और उसका अपने हाथों द्वारा ही जो है लड़की के जीवन में जो के सुख आना चाहिए था विवाह का उसकी आहुति स्वयं डाल देते हैं इसके अंदर तो और भी कई कारण हो सकते हैं हो सकता है कि ससुराल में भी सास-ससुर कारण सही ना हो बोलचाल सही नाम काफी परेशान करते हो हो सकता है कि लड़का कुछ ना करता हो उसकी मां बाप के वही जिंदा हो उसकी खर्चों से ही चल रहा हो तो सत्ता के दबाव हो तो लेकिन इसका समस्या का समाधान हो सकता है आप अलग रह सकते हैं लेकिन उसके लिए आपको वह आपके पास आर्थिक रूप से सुदृढ़ होना पड़ेगा आपको मेहनत करनी पड़ेगी तो अगर दोनों पक्ष चाहे दोनों पार्टियां चाहे अगर दोनों साथ ही चाहे जो है चाहे पुरुष हो चाहे उसकी पत्नी हो दोनों कर मिलकर चाहे तो उसका सलूशन हो सकता है अगर पति नाराज रहती है तो उसको कहीं एक बार आप गिफ्ट दे सकते हैं उसको कहीं घुमाने ले जा सकते हैं ऐसी पति नाराज है उसके लिए भी आपके अच्छे-अच्छे व्यंजन बना सकती है पत्नी और भी कई कार्य कर सकती है जिससे पति खुश हो सकता है बैठकर समाधान ही इसका सलूशन है बहुत सारे लोग इसको और बात को बढ़ा देते हैं उसको दांपत्य जीवन को सही चलाने के लिए जो है सही सलाह नहीं देते हैं और ज्यादातर मिसगाइड करने लग जाते हैं और वह जो कि यह दंपत्ति का जो दोपहिया चल रहे होते पटरी से उतर जाते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:12
काराकाट वाले चीन से आगे निकलने के लिए भारत को और कितना समय लगेगा अगर बात करें तो बहुत ज्यादा समय लग जाएगा जितना भी नहीं कर सकती भारत इसे कड़ी मेहनत करता है और पूरी नगर से काम करता है फिर भी बहुत समय लग जाएगा क्योंकि चाइना एक विकसित देश है और जबकि भारत एक विकासशील देश है और मुझे लगता है कि आप ही से तो आकर पढ़ रही है बट ऐसा नहीं है कि वहां की टेक्नोलॉजी जो है या फिर तो सारी चीजें उनकी वहां की टेक्नोलॉजी भी अच्छी तरीके से बढ़ रही है तू अभी निकलने के लिए और बहुत सारा समय मेरी बहुत सारी समय का मतलब दर्द बृजलाल जो भी है बहुत ज्यादा समय लग जाएगा और भारत को आगे बढ़ने में अपनी टेक्नोलॉजी को भारत बड़ा आए हर चीज में आगे बढ़े प्रतीक्षा में रोजगार में अपने आगे बढ़ने से मतलब होना चाहिए हमें कंपटीशन नहीं करना है कितनी देर से की थी हमें अपने देश में सुधार करना है अपने देश को आगे बढ़ाना है तुम मेरे सवाल का जवाब पसंद आएगा आपको चाहिए धन्यवाद

#मनोरंजन

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:39
नमस्कार दोस्तों यूज़र ने पूछा तांडव वेब सीरीज में बुरी बात आपको कौन सी लगी कि किसी भी आपको थोड़ी आंखों से सीरियल जैसे हैं बहुत ही सीखी जाती हैं बहुत सी मूवी जैसे हैं जिसमें आपके देवी-देवताओं या आपके धर्म या फिर जाति के बारे में कुछ ऐसे तरह के व्यंग किए जाते हैं जबकि ऐसी चीजें दिखाई जाती है जो कि उनको जो है परेशान करती हैं उनका तिरस्कार करती हैं घर की इज्जत नहीं करती तो उसी प्रकार तांडव वेब सीरीज में जो है बुरी बात यह थी कि मुझे फॉर्म है इसमें है और इसमें मॉडल बनाते समय पर अपने प्रावधान रखा है हाथ में त्रिशूल और मुंह से वह वार्ता प्रक्रिया इस टाइप की बातें कर रहा है जो कि हम हमारे पूजनीय धर्म धर्म में हमारे हिंदू धर्म में शिव जी का सबसे पहला स्थान और देवों के देव दिन को बोला है तो उनके बारे में इस तरह की टिप्पणियां करना मैंने किस तरह की सोच रखना तुम शायद मूवीस उतरेंगे इस चीज का क्योंकि कोई भी मूवीस जो है दूसरे धर्म के बारे में नहीं आ रहे हिंदू धर्म पर आंसर टारगेट करते हर कमियों को हिंदू धर्म में रखती है हिंदू धर्म देवी देवताओं के लिए उनके दिल में कोई भी सम्मान नहीं है यही सबसे बड़ी स्क्रीन बुरी बात है आशा करता हूं आप मेरी बात को समझ गया है कि हर धर्म का सम्मान होना बहुत जरूरी है लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद

#जीवन शैली

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:58
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न ऐसा क्या है जो इंसान की समझ से परे है तो फ्रेंड से ऐसा बहुत सारी चीजें हैं जो इंसान की समझ से परे होती है इस तो किसी का गंदा व्यवहार अगर कोई गंदा व्यवहार करता है तो कभी इंसान समझ नहीं पाता कि ऐसा क्यों कर रहा है और वे उसकी समझ से परे हो जाता है और कभी-कभी समाज में भी तो बीच में भ्रष्टाचार देखने को मिलता है तू समझ में नहीं आता कि यह क्यों ऐसा हो रहा है यह सब बातें इंसान की समझ से परे है और यह जो अभी किसानों का आंदोलन चल रहा है तो सरकार बहुत प्रकार से उन को समझाने की भी कोशिश कर रही है पर बात भी कर रही है तू भी वह अपनी जिद पर अड़े हुए हैं तो यह भी समझ से परे है ऐसी बहुत सारी बातें हमारे समाज में देश में और हमारे आसपास होती रहनी है जो हमारी समझ से परे हो जाती हैं क्योंकि वह बहुत ज्यादा ही अपनी जिद पर अड़े रहते हैं और अपनी ही बात मनवाने की कोशिश करते रहते हैं धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:38
अपने सवाल किया है कि मौसम और जलवायु में से किस में तेजी से परिवर्तन होता है तो मौसम में परिवर्तन अल्प समय में ही हो जाता है और जोधपुर में परिवर्तन एक लंबे समय के दौरान होता है मौसम इसी स्थानीय क्षेत्र विशेष की लघु अवधि की पर्यावरणीय दशाओं को दर्शाता है यह परिवर्तन किसी स्थान विशेष मौसम की प्रकृति बनाता है जबकि जलवायु लंबे समय से किसी बड़े क्षेत्र क्षेत्र हुई मौसमी परिवर्तन वह बताता है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
आपकी नजर में धर्म क्या?
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:34
आपका सवाल है कि आपकी नजर में धर्म क्या है तो मेरी नजर में केवल मैं इसी को धर्म मानता जिसमें माता-पिता की सेवा करना या कोई घर पर आए इस पर सेवा करना है या जलेबी चलाने के लिए किसी को रोजगार के लिए कार्य करने होते हैं वह एक प्रकार का धर्म है पैसा कमाने के लिए जो व्यक्ति काम करने काम करता है वह अपना धर्म कर रहा है धन्यवाद

#जीवन शैली

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:20
नमस्कार आपका थे वालेकुम कीर्तन में होती है या फिर मंडे होती है खूबसूरती जो होती है वह तन में भी होती है मन में भी होती लेकिन हमारे मन की खूबसूरती असली खूबसूरती होती है ऊपर से कितना भी खूबसूरत क्यों न हो मगर होकर किसी की किसी की मदद करने से घबराते हैं फिर नहीं करते हैं यदि वह एक अच्छे इंसान नहीं है उनके विचार अच्छी नहीं है उनकी खूबसूरती किसी काम की नहीं है अगर इंसान का तला सूरत होने के साथ-साथ उनका मन भी खूबसूरत हो एक बहुत ही अच्छे इंसान होंगे बहुत ही ज्यादा अच्छे इंसान हो और ऐसे इंसान की हमें जरूरत है अगर ऐसे इंसान हो हमारे समाज में हमारा समाज आगे बढ़ेगा और तरीके से एक प्रोग्रेस की तरफ आगे बढ़ेगा और हमारा समाज एक जागरूक समाज बन पाएगा तो हमारे लिए दोनों ही खुश होते ही आवश्यक होती है लेकिन सबसे पहले मलकीत हो समाज की आरती और हमारे लिए भी और अगर हमारे मन में खूबसूरती है तो उनके सामने तरीके से करेंगे और हम भी हम भी खुश रहेंगे और दूसरे भी खुश रहेंगे करते हैं सवाल का जवाब तो जाएगा आप लोगों के साथ को चाहिए दोस्तों को भी खुश रखे धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
0:53
सर दोस्तों आपका प्रश्न है धैर्य व कायरता में क्या अंतर है दोस्तों धैर्य का अर्थ होता है धीरज और संतोष रखना किसी वक्त भी कार्य को जल्दबाजी में नहीं करते हुए और धैर्य रखना जबकि कायरता वीरता शब्द का विलोम शब्द होती है जबकि वीरता का विलोम शब्द कायरता होता है और कायदा का अर्थ होता है कमजोर डरा हुआ तो इसलिए इन दोनों में फर्क सीधा-सीधा दिख रहा है यानी कि धीरज संतोष और कायरता यानी कि कमजोर तो इन दोनों का जो अर्थ है वह बिल्कुल ही एक दूसरे से भिन्न है दोनों अलग-अलग सार्थक शब्द है और दोनों ही अलग है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Shiraj khan Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shiraj जी का जवाब
Asst.professor
0:31
क्या आपका प्रश्न है या मनोविज्ञान में क्रोध क्या है देखें मनोविज्ञान में क्रोध एक प्राकृतिक भावना है ईसा पूर्व 2020 से 2000 ईस्वी तक या कल के बीच लिखे गए अन्य शास्त्रों में खुद को एक कर रख दिया है सर जी भाऊ कहां गया है अमेरिका फिजियोलॉजिकल एसोसिएशन ने गुस्से को विपरीत परिस्थितियों के प्रति एक क्या सहज अभिव्यक्ति कहां के हैं

#जीवन शैली

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
HoD NIELIT
0:35
आरा का बस नहीं जब मन में बहुत कुछ करने की इच्छा हो किंतु समय और साधन समिति हो तो क्या करना चाहिए तो आपको बता देंगे देखिए अगर आप बहुत कुछ अपने जीवन में करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको प्रयास ही करने होंगे और अगर आप सच्चे हृदय से प्रयास करेंगे तो यकीन मानिए परिस्थितियां भी आपके अनुकूल हो जाएंगी आपको समय भी आप निकाल पाएंगे साधन भी आपके एकत्रित हो जाएंगे तो आपसे दृढ़ संकल्पित होकर कार्य करें निश्चित रूप से आपको अपने जीवन में सफलता प्राप्त होगी मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
  • अभिभावक अपने बच्चों का भविष्य खेल के क्षेत्र में बनाने से क्यों हिचकिचाते, खेल के क्षेत्र में भविष्य
URL copied to clipboard