#जीवन शैली

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:56
नमस्कार आपका प्रश्न है एक महिला जज का तलाक हो गया है हालांकि उसने अपने रिश्ते को बचाने की बहुत कोशिश की लेकिन नहीं बचा पाई तो जो सारा समाज है वह से हीन भावना से देखता है क्या ताली एक हाथ से बजती है या उसी की सारी गलती है तेरे कि नहीं इसमें उनकी सारी गलती नहीं है हो सकता है उनके तो हस्बैंड है उनकी भी बराबर की गलती हो तो अगर समझना है तो ऐसा नहीं है कि से फोन को समझना चाहिए दोनों को समझना चाहिए और जहां तक बात रही समाज की तो समाज को तो आप मतलब समाज की बात तो नहीं करें तो अच्छा रहेगा क्योंकि कुछ तो लोग कहेंगे लोगों का काम है कहना तो लोग तो है जी अगर आप अच्छा करें तो भी बोलेंगे बुरा करें तो भी बोलेंगे तो सामान जो है वह छोड़े अगर जो है आपकी गलती अगर मैं बताऊं कि किसकी है तो दोनों की गलती जो है एक रिश्ते को बचाने में ही खत्म करने में बराबर होती है शुक्रिया
Namaskaar aapaka prashn hai ek mahila jaj ka talaak ho gaya hai haalaanki usane apane rishte ko bachaane kee bahut koshish kee lekin nahin bacha paee to jo saara samaaj hai vah se heen bhaavana se dekhata hai kya taalee ek haath se bajatee hai ya usee kee saaree galatee hai tere ki nahin isamen unakee saaree galatee nahin hai ho sakata hai unake to hasbaind hai unakee bhee baraabar kee galatee ho to agar samajhana hai to aisa nahin hai ki se phon ko samajhana chaahie donon ko samajhana chaahie aur jahaan tak baat rahee samaaj kee to samaaj ko to aap matalab samaaj kee baat to nahin karen to achchha rahega kyonki kuchh to log kahenge logon ka kaam hai kahana to log to hai jee agar aap achchha karen to bhee bolenge bura karen to bhee bolenge to saamaan jo hai vah chhode agar jo hai aapakee galatee agar main bataoon ki kisakee hai to donon kee galatee jo hai ek rishte ko bachaane mein hee khatm karane mein baraabar hotee hai shukriya

और जवाब सुनें

Abhishek Shukla  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Abhishek जी का जवाब
Motivational speaker
2:02
देखिए आपके प्रश्न को हमने बहुत ही गंभीरता से सोचा है और इस पर विचार करके हमें जो लगा है तो देखिए जब कभी भी रिश्ते में खटास होती है और वे बहुत ज्यादा हद तक प्रयास कर चुके होते हैं और यदि समाज उस पर सवाल करता है तो देखिए समाज के बारे में बिल्कुल भी ना सोचे जहां पर आप नहीं है वहां पर आप यह न सोचे कि लोग क्या सोचेंगे कभी भी इस भावना के साथ ना जिए तो कि जब वे लोग जो है यह सोचने लगते हैं कि लोग सोचेगा क्या समाज पूछेगा तो फिर वहां पर बातें करती है दोस्तों और हम अपने अपने आप को कोसते हैं कि क्या वाकई में हमारी गलती थी यहां पर देखे लोग क्या सोचते हैं उस पर डिपेंड नहीं करता हम क्या सोचते हैं यह निर्भर करता है इसलिए हमें यदि लगता है कि उस व्यक्ति विशेष के साथ हमें हमने बहुत प्रयास किया था प्रयास करने के बावजूद जो है तो वह मेरे साथ नहीं रहना चाहता तो आप उससे रिश्ता तोड़ ले उसको दिक्कत नहीं है हां यह है कि समाज से जुड़े लोग जो है थोड़ा बहुत ताना देते हैं तो देने दीजिए कुछ समय बाद जो है तो लोग अपने आप समझेंगे और जवाब जो है तो उस समय उनको वह तोड़ देता है दोस्तों इसलिए जो है तो सही समय का और सही पलका क्षण का जवाब देने के लिए आप जो है तो इंतजार करें बाकी यदि इस सुझाव के लिए मैं यही कहूंगा कि आप जो है यदि आप सही हैं तो आप अपने अनुसार कार्य कीजिए ना कि लोगों के अनुसार तो की जीवन आपका है लोगों का नहीं इसलिए जो भी कीजिए अपनी सोच समझ के अनुसार कीजिए बिना यह सोचे कि लोग क्या कहेंगे क्या सोचेंगे कुछ भी नहीं आपको क्या लगता है आपका दिल क्या कहता है आप उसके बारे में सोचें यह यह रहेगा मेरे हिसाब से बाकी आप जो भी लगता है आप अपना अनुसार कर सकते हैं यह कहूंगा कि बाकी लोगों के अनुसार मत सोचिए अपने अनुसार सोचे सुने तो अपने दिल की अरे तो अपने दिल की दोस्तों धन्यवाद
Dekhie aapake prashn ko hamane bahut hee gambheerata se socha hai aur is par vichaar karake hamen jo laga hai to dekhie jab kabhee bhee rishte mein khataas hotee hai aur ve bahut jyaada had tak prayaas kar chuke hote hain aur yadi samaaj us par savaal karata hai to dekhie samaaj ke baare mein bilkul bhee na soche jahaan par aap nahin hai vahaan par aap yah na soche ki log kya sochenge kabhee bhee is bhaavana ke saath na jie to ki jab ve log jo hai yah sochane lagate hain ki log sochega kya samaaj poochhega to phir vahaan par baaten karatee hai doston aur ham apane apane aap ko kosate hain ki kya vaakee mein hamaaree galatee thee yahaan par dekhe log kya sochate hain us par dipend nahin karata ham kya sochate hain yah nirbhar karata hai isalie hamen yadi lagata hai ki us vyakti vishesh ke saath hamen hamane bahut prayaas kiya tha prayaas karane ke baavajood jo hai to vah mere saath nahin rahana chaahata to aap usase rishta tod le usako dikkat nahin hai haan yah hai ki samaaj se jude log jo hai thoda bahut taana dete hain to dene deejie kuchh samay baad jo hai to log apane aap samajhenge aur javaab jo hai to us samay unako vah tod deta hai doston isalie jo hai to sahee samay ka aur sahee palaka kshan ka javaab dene ke lie aap jo hai to intajaar karen baakee yadi is sujhaav ke lie main yahee kahoonga ki aap jo hai yadi aap sahee hain to aap apane anusaar kaary keejie na ki logon ke anusaar to kee jeevan aapaka hai logon ka nahin isalie jo bhee keejie apanee soch samajh ke anusaar keejie bina yah soche ki log kya kahenge kya sochenge kuchh bhee nahin aapako kya lagata hai aapaka dil kya kahata hai aap usake baare mein sochen yah yah rahega mere hisaab se baakee aap jo bhee lagata hai aap apana anusaar kar sakate hain yah kahoonga ki baakee logon ke anusaar mat sochie apane anusaar soche sune to apane dil kee are to apane dil kee doston dhanyavaad

Sandeep Goyal Chandigarh  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sandeep जी का जवाब
Tabla player artist and music home tutor
1:35
नमस्कार बहुत अच्छा सवाल देखिए जी बिल्कुल सही कहा आपने ताली कभी एक हाथ से नहीं बजती है तो बिल्कुल सही बात है और देखा जाए तो यार कि ना अगर गलती लड़की की फिर भी लड़की को ही समाज ताने मार मार कर उसे जिंदगी को ही मतलब अंदर से उसको तोड़ देते हैं उसको मार देता है क्यों क्योंकि उसने कुछ भी ना किया हो फिर भी उसे मतलब कि मुझे समझ नहीं आता यार कुछ भी गलती हो तो नारी को ही मतलब कि सब कुछ सहना पड़ता है ठीक है तो आपने कहा कि उसका तलाक हो गया तो उसने बहुत कोशिश की तो कहीं ना कहीं जो है मतलब की गलती उन्ही से ही रही होगी ठीक है क्योंकि एक नारी जो कि समझदार होगी तो अपने रिश्ते को संभालने का प्रयास एक बार अवश्य करेगी मगर किया तो मतलब की फिर भी कुछ लाभ नहीं निकला तो कहीं ना कहीं गलती रही मगर लोग को दिखाई नहीं दी ठीक है घर की तरफ से भी गलती हुई होगी मगर समाज को इससे मेरे कोई मतलब नहीं होता और ना ही समाज को वह चीज जो दिखता है वह होता नहीं जो होता है वह दिखता नहीं है तो यही बात अपनी वाणी को विराम देता हूं धन्यवाद
Namaskaar bahut achchha savaal dekhie jee bilkul sahee kaha aapane taalee kabhee ek haath se nahin bajatee hai to bilkul sahee baat hai aur dekha jae to yaar ki na agar galatee ladakee kee phir bhee ladakee ko hee samaaj taane maar maar kar use jindagee ko hee matalab andar se usako tod dete hain usako maar deta hai kyon kyonki usane kuchh bhee na kiya ho phir bhee use matalab ki mujhe samajh nahin aata yaar kuchh bhee galatee ho to naaree ko hee matalab ki sab kuchh sahana padata hai theek hai to aapane kaha ki usaka talaak ho gaya to usane bahut koshish kee to kaheen na kaheen jo hai matalab kee galatee unhee se hee rahee hogee theek hai kyonki ek naaree jo ki samajhadaar hogee to apane rishte ko sambhaalane ka prayaas ek baar avashy karegee magar kiya to matalab kee phir bhee kuchh laabh nahin nikala to kaheen na kaheen galatee rahee magar log ko dikhaee nahin dee theek hai ghar kee taraph se bhee galatee huee hogee magar samaaj ko isase mere koee matalab nahin hota aur na hee samaaj ko vah cheej jo dikhata hai vah hota nahin jo hota hai vah dikhata nahin hai to yahee baat apanee vaanee ko viraam deta hoon dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard